आपतित और निर्गत किरण की दिशाएं अलग अलग क्यों होती है?...


user
1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है आप अतीत और निर्गत किरणों की दिशाएं अलग-अलग क्यों होते हैं तो जैसा कि आपको पता है हर माध्यम में करो कि धूप बीच की दूरी अलग-अलग होते हैं द्रव और ठोस ठोस में करण पास पास होते हैं दरों में थोड़ी दूर दूर होते हैं और गैस में सबसे दूर दूर होते हैं जब एक माध्यम से प्रकाश की किरण दूसरे माध्यम में जाती है तो यह निश्चित है कि दूसरा माध्यम पहले माध्यम की तुलना में हल्का भी हो सकता है गाना भी हो सकता है तो उसकी वजह से प्रकाश की किरणों का वेट कम या अधिक हो जाता है अगर नीचे वाला माध्यम ज्यादा घना है तो बिगड़ जाएगा और अगर नीचे वाला माध्यम अविरल है यानी जहां पर कंठ दूर दूर है तो वहां पर भी बढ़ जाएगा इसी कारण से प्रकाश की निर्गत और आपके चरणों काव्य की दिशा अलग अलग हो जाती है

aapka prashna hai aap ateet aur nirgat kirano ki dishaen alag alag kyon hote hain toh jaisa ki aapko pata hai har madhyam me karo ki dhoop beech ki doori alag alag hote hain drav aur thos thos me karan paas paas hote hain daro me thodi dur dur hote hain aur gas me sabse dur dur hote hain jab ek madhyam se prakash ki kiran dusre madhyam me jaati hai toh yah nishchit hai ki doosra madhyam pehle madhyam ki tulna me halka bhi ho sakta hai gaana bhi ho sakta hai toh uski wajah se prakash ki kirano ka wait kam ya adhik ho jata hai agar niche vala madhyam zyada ghana hai toh bigad jaega aur agar niche vala madhyam aviral hai yani jaha par kanth dur dur hai toh wahan par bhi badh jaega isi karan se prakash ki nirgat aur aapke charno kavya ki disha alag alag ho jaati hai

आपका प्रश्न है आप अतीत और निर्गत किरणों की दिशाएं अलग-अलग क्यों होते हैं तो जैसा कि आपको प

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  641
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
आपतित और निर्गत किरण की दिशाएं अलग अलग क्यों है ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!