क्या यह बात सत्य है 2014 की बाद में सैनिकों ने रिजाइन ज़्यादा दी है?...


play
user

Vatsal

Engineering Student

1:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तेरी ऐसी कोई भी चीज नहीं है ऐसी कोई भी पैक नहीं है कि 2014 के बाद से ज्यादा सैनिकों ने डिजाइन दिया है 2014 साल था जिसमें सरकार बनी थी और बीजेपी की सरकार आई थी तो यदि हम इस चीज से डिलीट करके चीज सोचा कि उस सरकार से नाखुश ओके ज्यादा सैनिकों ने डिजाइन किया है 2014 से लेकर 17 तक तू यह बिल्कुल गलत चीज़ होगी क्योंकि स्पेनिस जो होते हैं वह जो होते हैं वह देश की सेवा के लिए हैं उन्हें चीज़ से मतलब नहीं होता है बेशक वह देश की सेवा कर रहे हैं तो बदले में उन्हें सुविधाएं चाहिए लेकिन जो एक आम सैनिक होता है उसमें धारणा नहीं होती है कि उसे किसी भी प्रकार का रवैया मिल रहा हूं देश के प्रति समर्पित होता है और वह इस तरीके से अपनी नौकरी छोड़कर नहीं भागता है और दूसरी चीज है यह भी है कि bjp की चोकी में सरकार है उसने कोई भी पॉलिसी इंप्लीमेंट नहीं करी है जिससे कि सैनिकों ने दिक्कत को महसूस किए एक चीज जरूर है वन रैंक वन पेंशन वाला एक जरूरी केस आया था जिसमें कि यह अंगूठी की सब जो भी एक रहेंगे हैं उन्हें एक सी पेंशन हो गया मिलनी चाहिए लेकिन वह उनके लिए जो रिटायर हो गए हैं तो कुल मिलाकर ऐसी कोई भी फर्क नहीं है यह केवल कुछ रेसिग्नेशन उसके बेसिस पर एक अगेंस्ट में बात ले जाने की सरकार के अगेंस्ट बात न जाने का एक पैकेट बनाया गया है मेनू प्लेट किया गया दवाई जैसा कुछ भी

teri aisi koi bhi cheez nahi hai aisi koi bhi pack nahi hai ki 2014 ke baad se zyada sainikon ne design diya hai 2014 saal tha jisme sarkar bani thi aur bjp ki sarkar I thi toh yadi hum is cheez se delete karke cheez socha ki us sarkar se nakhush ok zyada sainikon ne design kiya hai 2014 se lekar 17 tak tu yah bilkul galat cheez hogi kyonki spenis jo hote hain vaah jo hote hain vaah desh ki seva ke liye hain unhe cheez se matlab nahi hota hai beshak vaah desh ki seva kar rahe hain toh badle mein unhe suvidhaen chahiye lekin jo ek aam sainik hota hai usme dharana nahi hoti hai ki use kisi bhi prakar ka ravaiya mil raha hoon desh ke prati samarpit hota hai aur vaah is tarike se apni naukri chhodkar nahi bhagta hai aur dusri cheez hai yah bhi hai ki bjp ki choki mein sarkar hai usne koi bhi policy implement nahi kari hai jisse ki sainikon ne dikkat ko mehsus kiye ek cheez zaroor hai van rank van pension vala ek zaroori case aaya tha jisme ki yah anguthi ki sab jo bhi ek rahenge hain unhe ek si pension ho gaya milani chahiye lekin vaah unke liye jo retire ho gaye hain toh kul milakar aisi koi bhi fark nahi hai yah keval kuch resigneshan uske basis par ek against mein baat le jaane ki sarkar ke against baat na jaane ka ek packet banaya gaya hai menu plate kiya gaya dawai jaisa kuch bhi

तेरी ऐसी कोई भी चीज नहीं है ऐसी कोई भी पैक नहीं है कि 2014 के बाद से ज्यादा सैनिकों ने डिज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!