आधार कार्ड का सारा डेटा 500 रुपये में उपलब्ध है, क्या हमारा डेटा वास्तव में सुरक्षित है?...


play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भैया हमने कहा कि आधार कार्ड का सारा डाटा ₹500 में अवेलेबल है तो मुझे लगता है कि इस तरह की बात है तो मुझे लगता है कि सरकार को बहुत बड़ा एक्शन लेना चाहिए क्योंकि जिस तरह से पहले सरकार ने कहा था कि जो भी डाटा उसको कॉन्फिडेंस रखा जाएगा किसी की इंफॉर्मेशन को लिख नहीं किया जाएगा इस तरीके गरबा तो तूफान ₹500 में डाटा लीक हो रहा है तो मुझे लगता है सरकार को ध्यान देना चाहिए वहां के यहां से इस तरह की बात हो रहे हो के एडमिन स्टेशन को उस पर ध्यान देना चाहिए

bhaiya humne kaha ki aadhaar card ka saara data Rs mein available hai toh mujhe lagta hai ki is tarah ki baat hai toh mujhe lagta hai ki sarkar ko bahut bada action lena chahiye kyonki jis tarah se pehle sarkar ne kaha tha ki jo bhi data usko confidence rakha jaega kisi ki information ko likh nahi kiya jaega is tarike garba toh toofan Rs mein data leak ho raha hai toh mujhe lagta hai sarkar ko dhyan dena chahiye wahan ke yahan se is tarah ki baat ho rahe ho ke admin station ko us par dhyan dena chahiye

भैया हमने कहा कि आधार कार्ड का सारा डाटा ₹500 में अवेलेबल है तो मुझे लगता है कि इस तरह की

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  250
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए और दक्षिण ब्यूनस बाढ़ ने एक रिपोर्ट जाएगी थी उन्होंने तक चली एक पर कॉल किया था जो यह डाटा प्रोवाइड करवा दो उनको और उन्होंने सिर्फ ₹500 में जो ट्रिब्यून की फोटोस थे उनको साडा दे दिया था अब यह तो नहीं पता क्यों Tata सही था कि गलत था लेकिन जो एक स्पोर्ट्स है जो लीगल और टेक्निकल एक्सपर्ट से वह कहते हैं कि जो इंडिया है वह भी आधार कार्ड के मामले को लेकर इक्वल कहना पर बैठा हुआ है जो भी कभी भी पलट सकता है साइबर लॉ एक्सपोर्ट पवन दुग्गल ने कहा कि जो यह आधार का जो प्रेम करिए सरकार किस से फिर से जोड़ है हो सकता है लेकिन यह भी पॉसिबल है कि जो जो यह रोज की रोशनी बढ़ रहा है साइबर क्राइम साइबर सिक्योरिटी की कोई स्टोरी नहीं है यह सारी की सारी डाटा को सच में हाथ भी कर सत्य है कि उनके अकॉर्डिंग आधार नंबर से अब हर किसी की एक पोस्टर एक आइडेंटिटी बन चुके हैं लेकिन जो सरकार है यह इतना कुछ नहीं कर रही है उतना ज्यादा उन्होंने कोई भी साइबर सिक्योरिटी को लेकर इतना कोई स्ट्रिक्ट हार्ड एंड फास्ट कोई रूल से ऐसा कुछ नहीं किया कि ऐसा हो कि डेटा चोरी ना हो पाए जो यूआईडीएआई है उन्होंने कहा है कि जो यह रिपोर्ट से वह गलत है उन्होंने बोला कि ₹500 देकर कोई भी सैलरी इतनी सारी डिटेल्स नहीं मंगवा सकता और उन्होंने बोला कि और कोई भी महसूस होगा तो वह ट्रेस कर पाएंगे और जो डांटा है आधार कार्ड आटा वह एक दम से है तो अब रियलिटी क्या है यह तो फिर धीरे-धीरे आ गई पता चलेगी पर अभी के लिए दोनों तरफ से एक वलित पर्वत है

dekhiye aur dakshin byunas baadh ne ek report jayegi thi unhone tak chali ek par call kiya tha jo yah data provide karva do unko aur unhone sirf Rs mein jo tribune ki photoss the unko sada de diya tha ab yah toh nahi pata kyon Tata sahi tha ki galat tha lekin jo ek sports hai jo legal aur technical expert se vaah kehte hain ki jo india hai vaah bhi aadhaar card ke mamle ko lekar equal kehna par baitha hua hai jo bhi kabhi bhi palat sakta hai cyber law export pawan duggal ne kaha ki jo yah aadhaar ka jo prem kariye sarkar kis se phir se jod hai ho sakta hai lekin yah bhi possible hai ki jo jo yah roj ki roshni badh raha hai cyber crime cyber Security ki koi story nahi hai yah saree ki saree data ko sach mein hath bhi kar satya hai ki unke according aadhaar number se ab har kisi ki ek poster ek identity ban chuke hain lekin jo sarkar hai yah itna kuch nahi kar rahi hai utana zyada unhone koi bhi cyber Security ko lekar itna koi strict hard and fast koi rule se aisa kuch nahi kiya ki aisa ho ki data chori na ho paye jo UIDAI hai unhone kaha hai ki jo yah report se vaah galat hai unhone bola ki Rs dekar koi bhi salary itni saree details nahi mangwa sakta aur unhone bola ki aur koi bhi mehsus hoga toh vaah trays kar payenge aur jo danta hai aadhaar card atta vaah ek dum se hai toh ab reality kya hai yah toh phir dhire dhire aa gayi pata chalegi par abhi ke liye dono taraf se ek walit parvat hai

देखिए और दक्षिण ब्यूनस बाढ़ ने एक रिपोर्ट जाएगी थी उन्होंने तक चली एक पर कॉल किया था जो यह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

0:56
Play

Likes    Dislikes    views  26
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह काफी बड़ा क्वेश्चन है जिस तरह से हमारा डेटा गवर्मेंट ले रही है हर चीज को आधार कार्ड से लिंक करवा रही है ताकि हर एक इंसान की अच्छी सी डिटेल उनके पास हो अध्यक्षता डाटा उनके पास हो और सुरक्षित है कि नहीं वह बोला मुश्किल है क्योंकि आजकल मतलब ट्रेन चल रहा है न्यूज़ पर न्यूज़ का या फेक न्यूज का बोल सकते हैं अगर यह सवाल है आधार कार्ड की डिटेल्स ₹500 में मिल रहे हैं तो यह काफी टेंशन वाली बात है काफी खतरनाक बात है क्योंकि अगर ऐसी ऐसी डिटेल जगह मिलते रहिए से डाटा घर मिलता रहा तो धीरे-धीरे जो क्राइम है जो आतंकवाद है वह धीरे-धीरे बढ़ सकता है तो अगर गवर्मेंट पे जरा थोड़ा सोचे और समझे और उसे थोड़ा Aashiqui और रखे तो बेहतर रहेगा

yah kaafi bada question hai jis tarah se hamara data government le rahi hai har cheez ko aadhaar card se link karva rahi hai taki har ek insaan ki achi si detail unke paas ho adhyakshata data unke paas ho aur surakshit hai ki nahi vaah bola mushkil hai kyonki aajkal matlab train chal raha hai news par news ka ya fake news ka bol sakte hain agar yah sawaal hai aadhaar card ki details Rs mein mil rahe hain toh yah kaafi tension wali baat hai kaafi khataranaak baat hai kyonki agar aisi aisi detail jagah milte rahiye se data ghar milta raha toh dhire dhire jo crime hai jo aatankwad hai vaah dhire dhire badh sakta hai toh agar government pe zara thoda soche aur samjhe aur use thoda Aashiqui aur rakhe toh behtar rahega

यह काफी बड़ा क्वेश्चन है जिस तरह से हमारा डेटा गवर्मेंट ले रही है हर चीज को आधार कार्ड से

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आपकी इस बात से बिल्कुल सहमत हूं कि अगर हम चाहे तो हमारा डाटा ₹500 में हम कहीं से भी खरीद के ले सकता है ऐसे भी निकलवा सकते हैं आधार कार्ड और हमारे तो पर्सनल डाटा उस पर कोई भी रोक टोक नहीं लगा लगी हुई है क्या आप इस डाटा को नहीं छू सकते इसके बारे में नहीं पता कर सकते और जैसा कि अगर हम 2 साल या 3 साल पहले की बात करें जब हमारे आधार कार्ड बने थे तो हम सभी को याद है कि वह आधार कार्ड किसी छोटे से कमरे में किसी अंधेरे वाले किसी स्कूल में या किसी ऐसी जगह पर बनाए गए थे और ऐसे लोगों को आधार कार्ड बनाने का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था जो की कंपनियां रिलाएबल नहीं थी उन पर विश्वास नहीं किया जा सकता उनको कोई भी रजिस्टर नहीं थी अथॉरिटी नहीं थी कि वह हमारे डाटा को सुरक्षित रखेंगे तो यह बात सच है कि हमारा डेटा ऐसे ही बाहर घूम रहा है और कोई भी उसको कहीं से भी एक्सेस कर सकता है थोड़ी सी अपनी अकल लगा कर तो मेरा यह मानना जरूरी है कि हमारे गवर्नमेंट ऑफ इंडिया को उसके लिए कुछ करना चाहिए ऐसे हमारा डेट अगर बाहर घूमेगा और उनसे कहा जा रहा है क्या आप आधार को हर चीज से लिंक करें अगर महर्षि से आधार को लिंक कर देंगे और इसकी और आधार का डाटा ही सुरक्षित नहीं है तो कोई भी हमारा आधार कि तू हमारे किसी भी अकाउंट बैंक अकाउंट LPG अकाउंट है किसी भी LIC पॉलिसी है किसी भी तरह की पॉलिसी से छेड़छाड़ कर सकता है हमारा बैंक से पैसे जा सकते हैं और भी कोई पांच चीजें हो सकती है तो इंडिया की कॉमेंट्स जरुर जल्दी ही बहुत ही कुछ प्रदान करने चाहिए उसके लिए के हमारा डेटा सुरक्षित रह सके और कोई भी इस सक्सेस नहा कर सकें

ji haan aapki is baat se bilkul sahmat hoon ki agar hum chahen toh hamara data Rs mein hum kahin se bhi kharid ke le sakta hai aise bhi nikalava sakte hain aadhaar card aur hamare toh personal data us par koi bhi rok tok nahi laga lagi hui hai kya aap is data ko nahi chu sakte iske bare mein nahi pata kar sakte aur jaisa ki agar hum 2 saal ya 3 saal pehle ki baat kare jab hamare aadhaar card bane the toh hum sabhi ko yaad hai ki vaah aadhaar card kisi chote se kamre mein kisi andhere waale kisi school mein ya kisi aisi jagah par banaye gaye the aur aise logo ko aadhaar card banane ka contracts diya gaya tha jo ki companiya reliable nahi thi un par vishwas nahi kiya ja sakta unko koi bhi register nahi thi authority nahi thi ki vaah hamare data ko surakshit rakhenge toh yah baat sach hai ki hamara data aise hi bahar ghum raha hai aur koi bhi usko kahin se bhi access kar sakta hai thodi si apni akal laga kar toh mera yah manana zaroori hai ki hamare government of india ko uske liye kuch karna chahiye aise hamara date agar bahar ghumega aur unse kaha ja raha hai kya aap aadhaar ko har cheez se link kare agar maharshi se aadhaar ko link kar denge aur iski aur aadhaar ka data hi surakshit nahi hai toh koi bhi hamara aadhaar ki tu hamare kisi bhi account bank account LPG account hai kisi bhi LIC policy hai kisi bhi tarah ki policy se chedchad kar sakta hai hamara bank se paise ja sakte hain aur bhi koi paanch cheezen ho sakti hai toh india ki comments zaroor jaldi hi bahut hi kuch pradan karne chahiye uske liye ke hamara data surakshit reh sake aur koi bhi is success naha kar sakein

जी हां आपकी इस बात से बिल्कुल सहमत हूं कि अगर हम चाहे तो हमारा डाटा ₹500 में हम कहीं से भी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!