क्या लालू यादव चारा घोटाले मामले की फैसले को खरीदने की कोशिश कर र है हैं? क्यों?...


play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए लालू प्रसाद यादव को 3 जनवरी को सजा सुनाई जाती थी लेकिन वह फिर पोस्टपोन हो गई ऑफिस में चार कुछ नहीं जानती तो फिर पोस्टपोन हो गई लिखी लालू प्रसाद यादव की गज़ल भेजो जज है उन्होंने बोला कि उनके पास बहुत सारे फोन खुल जा रहे हैं आज सिटी की चीज जो यानी कि जो लालू प्रसाद यादव है उनके परिवेश उसके गाने की उंर को धमकी दी जा रही है कि पैसा लालू के पक्ष में ले या फिर सजा सुनाई जिसे लालू यादव का तकलीफ ना हो तो जज की बातों से तो यही लग रही थी लोगों ने धमकी दे रहे हैं अगर ऐसा हो रहा है तो शायद लालू प्रसाद यादव किस किस को खरीदना चाहते हो यह फैसला अपने हित में करवाना चाहते हो तो क्यों पॉलिटिकल ही तो बहुत सॉन्ग है तू चाहे जैसा कर सकते हैं और अब यह सर्च के ऊपर डिपेंड करेगा कि वह कैसी सजा लेकिन यह बहुत गलत है आप फ्री उन्होंने गलती की है उन्हें सजा मिलनी ही चाहिए और जज को डरना नहीं चाहिए और जज को पुलिस पर टैक्सी प्रोवाइड करवानी चाहिए अगर ऐसी धमकियां मिल रहे हो न फोन आ रहे हैं तू और हालचाल तो लालू प्रसाद यादव बेतुकी बातें कर रहे हैं क्यों नहीं जेल में ठंड लग रही है लोगों से मिलने नहीं दिया जा रहा है पर जज काफी समझदार सिंह साहब का जवाब दे रहे हैं तोते की कब तक जाता है और क्या फैसला आता है यह तो समय आने के बाद ही पता चलेगा

dekhiye lalu prasad yadav ko 3 january ko saza sunayi jaati thi lekin vaah phir postpone ho gayi office mein char kuch nahi jaanti toh phir postpone ho gayi likhi lalu prasad yadav ki Ghazal bhejo judge hai unhone bola ki unke paas bahut saare phone khul ja rahe hain aaj city ki cheez jo yani ki jo lalu prasad yadav hai unke parivesh uske gaane ki unr ko dhamki di ja rahi hai ki paisa lalu ke paksh mein le ya phir saza sunayi jise lalu yadav ka takleef na ho toh judge ki baaton se toh yahi lag rahi thi logo ne dhamki de rahe hain agar aisa ho raha hai toh shayad lalu prasad yadav kis kis ko kharidna chahte ho yah faisla apne hit mein karwana chahte ho toh kyon political hi toh bahut song hai tu chahen jaisa kar sakte hain aur ab yah search ke upar depend karega ki vaah kaisi saza lekin yah bahut galat hai aap free unhone galti ki hai unhe saza milani hi chahiye aur judge ko darna nahi chahiye aur judge ko police par taxi provide karvani chahiye agar aisi dhamkiyan mil rahe ho na phone aa rahe hain tu aur halchal toh lalu prasad yadav betuki batein kar rahe hain kyon nahi jail mein thand lag rahi hai logo se milne nahi diya ja raha hai par judge kaafi samajhdar Singh saheb ka jawab de rahe hain tote ki kab tak jata hai aur kya faisla aata hai yah toh samay aane ke baad hi pata chalega

देखिए लालू प्रसाद यादव को 3 जनवरी को सजा सुनाई जाती थी लेकिन वह फिर पोस्टपोन हो गई ऑफिस मे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:00
Play

Likes    Dislikes    views  21
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
lalu yadav ka gana ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!