क्या देश में कभी अच्छे दिन आएंगे या फिर बीजेपी का यह जुमला ही रहेगा?...


play
user

Ravi Sharma

Advocate

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सभी लोगों के लिए अच्छे दिनों के मायने अलग अलग हो सकते हैं काम कर दाता या नागरिक होने के नाते मेरे लिए अच्छे दिन वह है जो मुझे दो वक्त की रोटी मिले शांति से हम अपना जीवन व्यतीत करता हूं सर ढकने के लिए अच्छा तो हार पहनने के लिए कपड़े हो परंतु एक उद्योगपति के लिए अच्छे दिन वाह होंगे जब उसका मुनाफा दिन दूनी रात चौगुनी गति से बढ़कर एक शिक्षक के अच्छे दिन वह होंगे जब वह स्थाई होगा उसकी नौकरी स्थाई होगी ना कि टेंप्रेरी एक डॉक्टर के लिए अच्छे दिन वह होंगे जब उसके ऊपर कोई आक्रमण नहीं करेगा किसी मरीज की मृत्यु होने के बाद क्योंकि उसने उसकी सेवा सुचारु रुप से करी थी एक राजनेता के लिए अच्छे दिन आएंगे जब उसकी एक स्थाई सरकार होगी उसके पास अपने राज्य में बहुमत होगा तो अच्छे दिनों की परिभाषा हर किसी के लिए अलग अलग होती है अगर कुल मिलाकर हम भारत के अच्छे दिनों की बात करें तो भारत के लिए अच्छे दिन रोओगे या वो विश्व मंच पर धीरे-धीरे आगे बढ़ेगा लेकिन उसके लिए एक दम से कुछ आविष्कार हो जाएगा चमत्कार हो जाए इसकी संभावना बहुत ही कम है पूरा विश्व में आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहा है करेंसी की कीमत दिन पर दिन बढ़ती जा रही है चाहे वह भारतीय करंसी हो जाए व अन्य करेंसी हो कुछ गिने चुने देश इस समय पूरे विश्व पर आर्थिक व कूटनीतिक तौर पर राज कर रहे हैं जब तक उनसे उनके अतिक्रमण से उनके जो कूटनीतिक अतिक्रमण से हमें मुक्ति नहीं मिलेगी अच्छे दिन ना केवल भारत के लिए बल्कि किसी भी विकासशील देश के लिए नहीं आ सकते हैं तो यह राष्ट्रीय से अधिक अंतर्राष्ट्रीय मामला है क्योंकि जिस प्रकार की अर्थव्यवस्था में उलटफेर पिछले कुछ अच्छे वचन में लिखा जा रहा है वह अभी तक विश्व के इतिहास में किसी ने नहीं देखा और यह आवश्यक है कि अंतरराष्ट्रीय मानव पर चीजें बदले इसके बाद ही भारतीय पैमाने पर चीजें बदलने की अपेक्षा की जा सकती है धन्यवाद

sabhi logo ke liye acche dino ke maayne alag alag ho sakte hain kaam kar data ya nagarik hone ke naate mere liye acche din vaah hai jo mujhe do waqt ki roti mile shanti se hum apna jeevan vyatit karta hoon sir dhakane ke liye accha toh haar pahanne ke liye kapde ho parantu ek udyogpati ke liye acche din wah honge jab uska munafa din duni raat chauguni gati se badhkar ek shikshak ke acche din vaah honge jab vaah sthai hoga uski naukri sthai hogi na ki tempreri ek doctor ke liye acche din vaah honge jab uske upar koi aakraman nahi karega kisi marij ki mrityu hone ke baad kyonki usne uski seva suruchi roop se kari thi ek raajneta ke liye acche din aayenge jab uski ek sthai sarkar hogi uske paas apne rajya mein bahumat hoga toh acche dino ki paribhasha har kisi ke liye alag alag hoti hai agar kul milakar hum bharat ke acche dino ki baat kare toh bharat ke liye acche din rooge ya vo vishwa manch par dhire dhire aage badhega lekin uske liye ek dum se kuch avishkar ho jaega chamatkar ho jaaye iski sambhavna bahut hi kam hai pura vishwa mein aarthik mandi ke daur se gujar raha hai currency ki kimat din par din badhti ja rahi hai chahen vaah bharatiya currency ho jaaye va anya currency ho kuch gine chune desh is samay poore vishwa par aarthik va kutanitik taur par raj kar rahe hain jab tak unse unke atikraman se unke jo kutanitik atikraman se hamein mukti nahi milegi acche din na keval bharat ke liye balki kisi bhi vikasshil desh ke liye nahi aa sakte hain toh yah rashtriya se adhik antarrashtriya maamla hai kyonki jis prakar ki arthavyavastha mein ulatafer pichle kuch acche vachan mein likha ja raha hai vaah abhi tak vishwa ke itihas mein kisi ne nahi dekha aur yah aavashyak hai ki antararashtriya manav par cheezen badle iske baad hi bharatiya paimane par cheezen badalne ki apeksha ki ja sakti hai dhanyavad

सभी लोगों के लिए अच्छे दिनों के मायने अलग अलग हो सकते हैं काम कर दाता या नागरिक होने के ना

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  265
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!