मैं हमेशा देखता हूँ की लोग अपने जन्मदिन के दिन बहुत ख़ुश रहते है, यह जानते हुए की उनके जिंदिगी का एक साल कम हो गया है, तो फिर वो कैसे ख़ुश हो सकते है?...


user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

1:45
Play

Likes  195  Dislikes    views  3901
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जन्मदिन के दिन हमें यह तो नहीं पता होता है ना कि हमारी जिंदगी के कितना समय बचा है जिसमें से 1 साल कम हो जाए लेकिन हमें यह पता होता है कि आज के दिन पैदा हुए 1 साल में हमने चलना सीखा अगले साल में हम ने बोलना सीखा एक और साल में हमने कुछ और करना सिखा 1 साल में हमने पढ़ना सीखा तो ऐसे जब हम अपने अचीवमेंट को देखते हैं कि फिर से हम जन्मदिन को एक माइलस्टोन समझ कर हर 1 साल में हमने क्या सीखा कहां हम आगे बढ़े वह चीजें हमें नजर आती है इसलिए उस दिन को हर इंसान सेलिब्रेट करना चाहता है

janamdin ke din hamein yah toh nahi pata hota hai na ki hamari zindagi ke kitna samay bacha hai jisme se 1 saal kam ho jaaye lekin hamein yah pata hota hai ki aaj ke din paida hue 1 saal mein humne chalna seekha agle saal mein hum ne bolna seekha ek aur saal mein humne kuch aur karna sikha 1 saal mein humne padhna seekha toh aise jab hum apne achievement ko dekhte hain ki phir se hum janamdin ko ek milestone samajh kar har 1 saal mein humne kya seekha kahaan hum aage badhe vaah cheezen hamein nazar aati hai isliye us din ko har insaan celebrate karna chahta hai

जन्मदिन के दिन हमें यह तो नहीं पता होता है ना कि हमारी जिंदगी के कितना समय बचा है जिसमें स

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  1122
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जन्मदिन कैसा दिन होता है जहां में पैदा हुए हुए जिस दिन हम पैदा होते हैं या नहीं 1 साल हमने और कंप्लीट कर लिया तो कुछ लोग मानते हैं जो नेगेटिव सोच के लोग होते हैं कि हमारी जिंदगी का कम हो गए तो हमें खुशी नहीं मनानी चाहिए सुनने की ड्यूटी वाली चीज है हम अपनी जिंदगी में जितनी पॉजिटिविटी लाएंगे हम उतना ही खुश रह पाएंगे रोजमर्रा की जिंदगी में भी केवल इसी सवाल के उत्तर में नहीं तो यदि हम इस रुप में देखे कि हमने 1 साल अपना खूब खुशी से बिता लिया 1 साल अपना जिंदगी का सफलतापूर्वक कंप्लीट कर लिया तो हमें ज्यादा खुशी होगी और हम यदि उस चीज को उस पल को सेलिब्रेट करेंगे तो हमें ज्यादा खुशी महसूस होगी बजाय कि हम इस नेगेटिव सोच रहे हैं कि 1 साल खत्म हो गया संदेश तरीके से तो हर चीज में जो नेगेटिव सोचते हैं उनका केवल केवल कुछ नहीं हो सकता निराशा हाथ लगती है हर जगह

janamdin kaisa din hota hai jaha mein paida hue hue jis din hum paida hote hain ya nahi 1 saal humne aur complete kar liya toh kuch log maante hain jo Negative soch ke log hote hain ki hamari zindagi ka kam ho gaye toh hamein khushi nahi manani chahiye sunne ki duty wali cheez hai hum apni zindagi mein jitni positivity layenge hum utana hi khush reh payenge rozmarra ki zindagi mein bhi keval isi sawaal ke uttar mein nahi toh yadi hum is roop mein dekhe ki humne 1 saal apna khoob khushi se bita liya 1 saal apna zindagi ka safaltaapurvak complete kar liya toh hamein zyada khushi hogi aur hum yadi us cheez ko us pal ko celebrate karenge toh hamein zyada khushi mehsus hogi bajay ki hum is Negative soch rahe hain ki 1 saal khatam ho gaya sandesh tarike se toh har cheez mein jo Negative sochte hain unka keval keval kuch nahi ho sakta nirasha hath lagti hai har jagah

जन्मदिन कैसा दिन होता है जहां में पैदा हुए हुए जिस दिन हम पैदा होते हैं या नहीं 1 साल हमने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
user

gurpreet singh

Computer graduate

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जन्मदिन मेरे हिसाब से तो नींद आना चाहिए इससे अच्छा अब किसी जरूरतमंद को कोई गरीब है उसको पैसे दे दीजिए उसको कुछ का दीजिए पैसे नहीं दीजिए कुछ खिला दीजिए खाना वगैरा खिला दीजिए किसी को जरूरतमंद को कुछ चीज दे दीजिए यह उससे बेस्ट ऑप्शन मत बनाना अगर आपकी मर्जी हो तो बना भी सकते हो मगर आपकी मर्जी है मगर यह करोगे यह भी भाषा

janamdin mere hisab se toh neend aana chahiye isse accha ab kisi jaruratmand ko koi garib hai usko paise de dijiye usko kuch ka dijiye paise nahi dijiye kuch khila dijiye khana vagera khila dijiye kisi ko jaruratmand ko kuch cheez de dijiye yah usse best option mat banana agar aapki marji ho toh bana bhi sakte ho magar aapki marji hai magar yah karoge yah bhi bhasha

जन्मदिन मेरे हिसाब से तो नींद आना चाहिए इससे अच्छा अब किसी जरूरतमंद को कोई गरीब है उसको पै

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  199
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!