मैं मेडिटेशन करना चाहता हूँ। क्या आप मुझे बता सकते है की मैं मेडिटेशन कैसे शुरू करूँ और इसका हमारे जीवन में क्या महत्व है?...


user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

3:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने जो प्रश्न किया उसका उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि मेडिटेशन वैसे तो आप दिन में कभी भी कर सकते हैं लेकिन अगर आप सवेरे मेडिटेशन कर रहे हैं तो आपके लिए वह बहुत ही लाभदायक होता है यह ध्यान रखना होगा मेडिटेशन करने के लिए बहुत जरूरी होता है कि आप नित्य क्रिया करने के बाद में किसी शांत जगह पर अब बैठ जाएं यह ध्यान रखना होगा डिप्रेशन में कोई विशेष प्रयास की जरूरत नहीं होती है बस आपको अपने दिमाग मुझे बहुत सारे विचार आ रहे थॉट आ रहे हैं उनको रोक ना होता है यह ध्यान रखना होगा जब आप इसकी शुरुआत करेंगे तो आपके दिमाग में बहुत सारे विचार आएंगे लेकिन आप अपने आप को शांत रखने की कोशिश करिए धीरे-धीरे आप पाएंगे कि अगर आप उसको प्रतिन कर रहे हैं तो वह आने वाली जो विचार हैं वह धीरे धीरे कम होते चले जाते हैं और जिस तरीके से आप का मेडिटेशन स्ट्रांग होता चला जाता है आपके अंदर जो आने वाले विचार हैं अपने आप कमजोर होते चले जाते हैं और कम होते चले जाते हैं ध्यान रखना होगा कि मेडिटेशन का जो प्रभाव है वह तुरंत नहीं उसका लाभ दिखाई देता है उसका लाभ जवाब कुछ दिन तक लगातार करते हैं तभी दिखाई देता है यह ध्यान रखना होगा कि मेडिटेशन को किसी एक जगह पर एक पार्टी कूलर जगह पर और एक पार्टिकुलर समय पर ही करने की कोशिश करें अगर आप सवेरे जल्दी उठ पा रहे हैं जल्दी कर ले रहे हैं तो उस ज्यादा लाभदायक होता है यह ध्यान रखना होगा सवेरे का माहौल शांत होता है जितनी ही शांत जगह पर आप उसको करेंगे आपके दिमाग में जो बहुत सारा डायवर्जन होता है या बहुत सारी दिमाग इधर-उधर भागता है वह कम होता है क्योंकि सवेरे आवाज या सूरज कम होता है इसलिए बहुत जरूरी है कि आप एक जगह पर शांत होकर बैठने की कोशिश करें यह ध्यान रखना है कि आपके दिमाग में बहुत सारे विचार है रहे थॉट आ रहे हैं उन को नियंत्रित करने को ही मेडिटेशन करते हैं जितना ही आपके अंदर जो आने वाले विचार हैं हुकम होते चले जाएंगे आपका मेडिटेशन उतना ही स्ट्रांग होता चला जाता है जब आप शुरुआत करते हैं तो हो सकता है कि आपको थोड़े ही समय में दिक्कत होने लगे लेकिन धीरे-धीरे अगर आप कोशिश करेंगे तो 2 मिनट 5 मिनट से बढ़कर क्या आप उसको 10 मिनट 15 मिनट 20 मिनट भी कर सकते हैं अगर आप इसको लगातार करते हैं तो उससे आपका आत्म नियंत्रण बढ़ता है आपका दिमाग शांत रहता है आपकी क्रिएटिविटी बढ़ती है आपके अंदर जो एक जो अविश्वास से मजबूत होता है आपके अंदर पहुंच टिविटी आती है यह ध्यान रखना होगा कि मेडिटेशन क्या है जो सबसे ज्यादा बेनिफिट होता है कि आपको self-realization ज्यादा होता है आप अपने ग्रुप को पहचानती अपनी अच्छाइयों को पहचानने में आपको मदद मिलती है और जितना आप अपनी अच्छाइयों को अपने गुणों को जानते हैं उतना ही आपका सेल्फ रिस्पेक्ट आता है आप अपने आप को इज्जत दे पाते सम्मान दे पाते हैं और आपका विश्वास मजबूत होने लगता है यह ध्यान रखना होगा कि अगर किसी भी व्यक्ति का आत्मविश्वास मजबूत होता है उसकी सोच सकारात्मक होती है उसकी अपने बारे में सर्वश्रेष्ठ होता है निश्चित और सेवर जीवन में कामयाबी जरूर हासिल करता है इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप अपने जीवन का हिसाब से जरूर बनाएं इसमें थोड़ा सा आपको प्रयास करने की जरूरत हो सकती है लेकिन जब आप 10 से 15 दिन करेंगे तो आपके लिए चीजें आसान लगने लगेगी और वहीं से जब उसका बेनिफिट आपको दिखाई देगा तो अपने आप आप उसको कर पाएंगे इसके लिए बहुत जरूरी है आप करते रहिए फिर भी अगर कभी किसी और मार्गदर्शन की जरूरत होगी तो बिल्कुल कांटेक्ट करिए मैं और चीजें बता सकता हूं मेरी शुभकामनाएं आपके लिए धन्यवाद

aapne jo prashna kiya uska uttar me main yahi kehna chahta hoon ki meditation waise toh aap din me kabhi bhi kar sakte hain lekin agar aap savere meditation kar rahe hain toh aapke liye vaah bahut hi labhdayak hota hai yah dhyan rakhna hoga meditation karne ke liye bahut zaroori hota hai ki aap nitya kriya karne ke baad me kisi shaant jagah par ab baith jayen yah dhyan rakhna hoga depression me koi vishesh prayas ki zarurat nahi hoti hai bus aapko apne dimag mujhe bahut saare vichar aa rahe thought aa rahe hain unko rok na hota hai yah dhyan rakhna hoga jab aap iski shuruat karenge toh aapke dimag me bahut saare vichar aayenge lekin aap apne aap ko shaant rakhne ki koshish kariye dhire dhire aap payenge ki agar aap usko pratin kar rahe hain toh vaah aane wali jo vichar hain vaah dhire dhire kam hote chale jaate hain aur jis tarike se aap ka meditation strong hota chala jata hai aapke andar jo aane waale vichar hain apne aap kamjor hote chale jaate hain aur kam hote chale jaate hain dhyan rakhna hoga ki meditation ka jo prabhav hai vaah turant nahi uska labh dikhai deta hai uska labh jawab kuch din tak lagatar karte hain tabhi dikhai deta hai yah dhyan rakhna hoga ki meditation ko kisi ek jagah par ek party cooler jagah par aur ek particular samay par hi karne ki koshish kare agar aap savere jaldi uth paa rahe hain jaldi kar le rahe hain toh us zyada labhdayak hota hai yah dhyan rakhna hoga savere ka maahaul shaant hota hai jitni hi shaant jagah par aap usko karenge aapke dimag me jo bahut saara dayavarjan hota hai ya bahut saari dimag idhar udhar bhagta hai vaah kam hota hai kyonki savere awaaz ya suraj kam hota hai isliye bahut zaroori hai ki aap ek jagah par shaant hokar baithne ki koshish kare yah dhyan rakhna hai ki aapke dimag me bahut saare vichar hai rahe thought aa rahe hain un ko niyantrit karne ko hi meditation karte hain jitna hi aapke andar jo aane waale vichar hain huqam hote chale jaenge aapka meditation utana hi strong hota chala jata hai jab aap shuruat karte hain toh ho sakta hai ki aapko thode hi samay me dikkat hone lage lekin dhire dhire agar aap koshish karenge toh 2 minute 5 minute se badhkar kya aap usko 10 minute 15 minute 20 minute bhi kar sakte hain agar aap isko lagatar karte hain toh usse aapka aatm niyantran badhta hai aapka dimag shaant rehta hai aapki creativity badhti hai aapke andar jo ek jo avishvaas se majboot hota hai aapke andar pohch TVT aati hai yah dhyan rakhna hoga ki meditation kya hai jo sabse zyada benefit hota hai ki aapko self realization zyada hota hai aap apne group ko pahachaanati apni acchhaiyon ko pahachanne me aapko madad milti hai aur jitna aap apni acchhaiyon ko apne gunon ko jante hain utana hi aapka self respect aata hai aap apne aap ko izzat de paate sammaan de paate hain aur aapka vishwas majboot hone lagta hai yah dhyan rakhna hoga ki agar kisi bhi vyakti ka aatmvishvaas majboot hota hai uski soch sakaratmak hoti hai uski apne bare me sarvashreshtha hota hai nishchit aur sevar jeevan me kamyabi zaroor hasil karta hai isliye yah bahut zaroori hai ki aap apne jeevan ka hisab se zaroor banaye isme thoda sa aapko prayas karne ki zarurat ho sakti hai lekin jab aap 10 se 15 din karenge toh aapke liye cheezen aasaan lagne lagegi aur wahi se jab uska benefit aapko dikhai dega toh apne aap aap usko kar payenge iske liye bahut zaroori hai aap karte rahiye phir bhi agar kabhi kisi aur margdarshan ki zarurat hogi toh bilkul Contact kariye main aur cheezen bata sakta hoon meri subhkamnaayain aapke liye dhanyavad

आपने जो प्रश्न किया उसका उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि मेडिटेशन वैसे तो आप दिन में क

Romanized Version
Likes  236  Dislikes    views  2684
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

अशोक गुप्ता

Founder of Vision Commercial Services.

3:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निर्देशन क्यों करना है पहले यह समझना होगा भोजन हम क्यों ग्रहण करें यह भी समझना होगा कि भोजन से हमें ऊर्जा मिलती है मेडिटेशन भारत की अपनी खोज और इसके प्रणेता भगवान शंकर हैं यहीं से हिंदू जीवन दर्शन की शुरुआत हुई है इसलिए उन्हें हम आदिदेव कहते हैं चुके हमारे शरीर में जो हमारा नर्वस सिस्टम है जो सभी सिस्टम का कंट्रोलर है नर्वस सिस्टम सभी सिस्टम का कंट्रोलर है और आपकी जानकारी नर्वस सिस्टम में एक व्यक्ति के शरीर में जितनी भी नशे हैं पतली मोटी जो भी है अगर उनको निकाल कर जोड़ दिया जाए तो फिर 16 चक्कर लग जाएगा आप शायद मुझे झूठा मान लेंगे विज्ञान से उसमें चली जाइए और देख लीजिए जो नर्वस सिस्टम इतना कॉन्प्लिकेटेड हो वह हमारे पूरे सिस्टम का कंट्रोलर है कंट्रोल रूम है दिन भर उस पर हम बाहर से अपने ऊपर बौछार सुनते सहते अपने जीवन को दिनभर गुजार देते हैं बाहर ही सब कुछ देखते हैं खोजते हैं पानी का भ्रम भी पालते हैं पर हम कहते हैं बहुत टेंशन है टेंशन इसलिए कि आप लगातार एक बौछार करते हैं अपने ऊपर बाहर के सूचनाओं की शोर का जो आपको थका देता है और जब नर्वस सिस्टम थका रहेगा तो आपके किसी सिस्टम को वह प्रॉपर्ली कंट्रोल नहीं कर पाएगा थका हुआ आदमी पूरी उर्जा से काम नहीं करता है तो मैं नर्वस सिस्टम में जो तनाव उत्पन्न होता है जो दवा बनो करता है वह उस से मुक्त होने का एक साधन है ध्यान और एक साधन है प्रेम पर सीधी ट्रेन में उतरना उतना संभव नहीं है ध्यान में उतरना सहज है क्योंकि आपको कुछ करना नहीं है सिर्फ अपने पूरे शरीर को बेड पर आप निकाल दीजिए हाथ-पांव को भेजा छोड़ दीजिए और सहज रूप से जो भी ध्वनि आ रही है चारों ओर से बस यही सुनना है आपको एक और भी दी है आप अपने स्वास को गहरा कर लीजिए गहरी गहरी सांस लेने से नर्वस सिस्टम का जो तनाव कम हो जाता है और प्रेम बहुत व्यापक और बहुत गुलशन शब्द है अपने जीवन में थोड़ा मैत्री भाव सबसे पहली मैथिली स्वयं से करिए अपनी जिंदगी से जो प्यार करेगा वही किसी और को प्यार कर पाएगा मित्र शुरुआत करिए कब तक प्रश्न पूछते रहेंगे अपने जीवन से प्यार के लिए 10 मिनट 5 मिनट से शुरू करिए सुबह सूर्योदय के समय बैठ जाइए सूर्य निकलता है उसका स्वागत करिए गहरी सांसे लीजिए आपका पूरा तंत्र धीरे-धीरे स्वस्थ होने लगेगा और नर्वस सिस्टम जब आपको स्वस्थ होगा तो आपके भीतर देख सहजानंद प्रगट होने लगेगा फिर बाहर का तनाव आपको इतना परेशान भी नहीं करेगा और आपके सारे सिस्टम की क्षमता बढ़ती चली जाएगी तो आप जीवन के सभी क्षेत्रों में जहां आप सुखी रहना चाहते हैं आप सफल हो जाएंगे आशा है आपको थोड़ा मेरे उत्तर सी इशारा मिला होगा बहुत-बहुत प्यार धन्यवाद आपको

nirdeshan kyon karna hai pehle yah samajhna hoga bhojan hum kyon grahan kare yah bhi samajhna hoga ki bhojan se hamein urja milti hai meditation bharat ki apni khoj aur iske praneta bhagwan shankar hain yahin se hindu jeevan darshan ki shuruat hui hai isliye unhe hum adidev kehte hain chuke hamare sharir me jo hamara nervous system hai jo sabhi system ka controller hai nervous system sabhi system ka controller hai aur aapki jaankari nervous system me ek vyakti ke sharir me jitni bhi nashe hain patli moti jo bhi hai agar unko nikaal kar jod diya jaaye toh phir 16 chakkar lag jaega aap shayad mujhe jhutha maan lenge vigyan se usme chali jaiye aur dekh lijiye jo nervous system itna kanpliketed ho vaah hamare poore system ka controller hai control room hai din bhar us par hum bahar se apne upar bauchar sunte sahate apne jeevan ko dinbhar gujar dete hain bahar hi sab kuch dekhte hain khojate hain paani ka bharam bhi palate hain par hum kehte hain bahut tension hai tension isliye ki aap lagatar ek bauchar karte hain apne upar bahar ke suchanaon ki shor ka jo aapko thaka deta hai aur jab nervous system thaka rahega toh aapke kisi system ko vaah properly control nahi kar payega thaka hua aadmi puri urja se kaam nahi karta hai toh main nervous system me jo tanaav utpann hota hai jo dawa bano karta hai vaah us se mukt hone ka ek sadhan hai dhyan aur ek sadhan hai prem par seedhi train me utarna utana sambhav nahi hai dhyan me utarna sehaz hai kyonki aapko kuch karna nahi hai sirf apne poore sharir ko bed par aap nikaal dijiye hath paav ko bheja chhod dijiye aur sehaz roop se jo bhi dhwani aa rahi hai charo aur se bus yahi sunana hai aapko ek aur bhi di hai aap apne swas ko gehra kar lijiye gehri gehri saans lene se nervous system ka jo tanaav kam ho jata hai aur prem bahut vyapak aur bahut gulshan shabd hai apne jeevan me thoda maitri bhav sabse pehli maithali swayam se kariye apni zindagi se jo pyar karega wahi kisi aur ko pyar kar payega mitra shuruat kariye kab tak prashna poochhte rahenge apne jeevan se pyar ke liye 10 minute 5 minute se shuru kariye subah suryoday ke samay baith jaiye surya nikalta hai uska swaagat kariye gehri sanse lijiye aapka pura tantra dhire dhire swasth hone lagega aur nervous system jab aapko swasth hoga toh aapke bheetar dekh sahajanand pragat hone lagega phir bahar ka tanaav aapko itna pareshan bhi nahi karega aur aapke saare system ki kshamta badhti chali jayegi toh aap jeevan ke sabhi kshetro me jaha aap sukhi rehna chahte hain aap safal ho jaenge asha hai aapko thoda mere uttar si ishara mila hoga bahut bahut pyar dhanyavad aapko

निर्देशन क्यों करना है पहले यह समझना होगा भोजन हम क्यों ग्रहण करें यह भी समझना होगा कि भोज

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:44
Play

Likes  155  Dislikes    views  5158
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिससे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नहाने जा सकता होते साबुन लगाते हैं ना वैसे शरीर के अंदर की प्रक्रिया उस को स्वच्छ रखने के लिए मेडिटेशन की आवश्यकता होती है मन को शांत रखने के लिए मेडिटेशन में आपका सकते हैं अनुलोम विलोम प्राणायाम भस्त्रिका कपालभाति यह सब चीजें जो है एक से एक अच्छे योगाभ्यासी गुरु के पास थोड़ा सा बैठकर तुमसे सीखे और अपने जीवन को सुखमय बनाने के लिए अपने आज्ञा चक्र को मस्तिष्क में समाहित करके उसने वेद प्रकाश दे करके ईश्वर की आराधना विसर के सदस्य दर्शन कीजिए उसमें एक निमित्त को अपने जीवन पर निबंध बनाइए तभी जीवन आपका स्वस्थ रहेगा थोड़ा सा गीता का पाठ भी कीजिए उसमें अच्छी-अच्छी बातें और अनुभवी लोगों के पास बैठी है आपका जीवन सार्थक हो जाएगा

jisse sharir ko swasth rakhne ke liye nahane ja sakta hote sabun lagate hain na waise sharir ke andar ki prakriya us ko swachh rakhne ke liye meditation ki avashyakta hoti hai man ko shaant rakhne ke liye meditation me aapka sakte hain anulom vilom pranayaam bhastrika kapalbhati yah sab cheezen jo hai ek se ek acche yogabhyasi guru ke paas thoda sa baithkar tumse sikhe aur apne jeevan ko sukhmay banane ke liye apne aagya chakra ko mastishk me samahit karke usne ved prakash de karke ishwar ki aradhana visara ke sadasya darshan kijiye usme ek nimitt ko apne jeevan par nibandh banaiye tabhi jeevan aapka swasth rahega thoda sa geeta ka path bhi kijiye usme achi achi batein aur anubhavi logo ke paas baithi hai aapka jeevan sarthak ho jaega

जिससे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नहाने जा सकता होते साबुन लगाते हैं ना वैसे शरीर के अंदर क

Romanized Version
Likes  184  Dislikes    views  1763
WhatsApp_icon
user

राज "जिज्ञासु"

Hotel Management Professor /karate Coach/motivational Speaker

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है कि आप मेडिटेशन करना चाहते हैं और आप इस जानना चाहते हैं कि आप से किस प्रकार प्रारंभ करें सर पता बताना चाहूंगा मैं स्टेशन अर्थात ध्यान अर्थात अपने को प्रभु से जोड़ना स्वयं को खोजना कितनी ही बातें इस प्रकार की आप यूट्यूब या जो भी गुरु और लोग आपसे मिलेंगे उसे सुनने को मिलेंगे मेरा मन प्रत्येक व्यक्ति का मेडिटेशन भिन्न होता है क्योंकि उसकी मानसिक क्षमता एक दूसरे से भिन्न होती है तो जो अनुभव मुझे मेडिटेशन में होते हैं संभव नहीं कि वह आपको भी हो तो जब आपको वह अनुभव नहीं होंगे तो आप का एक्सपीरियंस अलग होगा मेडिटेशन को लेकर मेरा क्षीरसाला होगा बात यह है आप जानना चाह रहे हैं क्या मैं स्टेशन शुरू कैसे करेंगे लेकिन उसके लिए ज्यादा झमेले में पढ़ने की जरूरत है नहीं आप एक काम करेंगे एक ऐसी जगह जाए एक ऐसी जगह जाए जहां पर कि आप खाली हो अर्थात वह जगह सुनसान हो सुनसान से मेरा तात्पर्य है सुनसान से मेरा तात्पर्य है कि वह अकेला वह जगह और कोई दूसरा ना हो और आप मानसिक रूप से भी शांत हो उसके बाद आप आंखें बंद करें और लंबी सांस लें और उसके बाद आप आंखें बंद करके एक बिंदु जो आपकी भावनाओं के बीच में है केंद्र बिंदु उस पर ध्यान संचित करें निश्चय ही शुरू में 2 मिनट और 3 मिनट आपने ही प्रयास करना है जैसे जैसे आप आगे बढ़ते जाएंगे आप उस प्रयास को टाइम को बढ़ाते रहेंगे धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai ki aap meditation karna chahte hain aur aap is janana chahte hain ki aap se kis prakar prarambh kare sir pata batana chahunga main station arthat dhyan arthat apne ko prabhu se jodna swayam ko khojana kitni hi batein is prakar ki aap youtube ya jo bhi guru aur log aapse milenge use sunne ko milenge mera man pratyek vyakti ka meditation bhinn hota hai kyonki uski mansik kshamta ek dusre se bhinn hoti hai toh jo anubhav mujhe meditation me hote hain sambhav nahi ki vaah aapko bhi ho toh jab aapko vaah anubhav nahi honge toh aap ka experience alag hoga meditation ko lekar mera kshirasala hoga baat yah hai aap janana chah rahe hain kya main station shuru kaise karenge lekin uske liye zyada jhamele me padhne ki zarurat hai nahi aap ek kaam karenge ek aisi jagah jaaye ek aisi jagah jaaye jaha par ki aap khaali ho arthat vaah jagah sunsaan ho sunsaan se mera tatparya hai sunsaan se mera tatparya hai ki vaah akela vaah jagah aur koi doosra na ho aur aap mansik roop se bhi shaant ho uske baad aap aankhen band kare aur lambi saans le aur uske baad aap aankhen band karke ek bindu jo aapki bhavnao ke beech me hai kendra bindu us par dhyan sanchit kare nishchay hi shuru me 2 minute aur 3 minute aapne hi prayas karna hai jaise jaise aap aage badhte jaenge aap us prayas ko time ko badhate rahenge dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है कि आप मेडिटेशन करना चाहते हैं और आप इस जानना चाहते हैं कि आप से किस

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  432
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  74  Dislikes    views  1879
WhatsApp_icon
user

Bk Arun Kaushik

Youth Counselor Motivational Speaker

6:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार प्रश्न है मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मैं मेडिटेशन कैसे शुरू करो ऑफिस का हमारे जीवन में क्या महत्व है वर्तमान समय में मैं किशन जीवन को जीने का एक ही सरल और प्रभावशाली तरीका है आज जो भी समस्या पेश कर रहे हैं उनके ऊपर नियंत्रण पाने का एक सरल उपाय या कोई भी व्यक्ति स्त्री पुरुष बच्चा बूढ़ा किसी भी वर्ग से संबंधित हो बड़ी आसानी से कर सकता है सबसे बड़ी हमारी कल्पनाओं की समस्या है ज्वैल्स के चिंतन की समस्या है नकारात्मक आलू से परेशान हैं शरीर रोगों से परेशान है स्टूडेंट लाइफ में कंसंट्रेशन की कमी सेल्फ कॉन्फिडेंस की कमी और आज का हमारे संबंधों में टकराव का वातावरण बनता जा रहा है किसी को नशों की भी जांच हो तुम भाई टेशन उसमें एक सरल उपाय हैं इन सबके ऊपर नियंत्रण पाने के लिए आजकल मेडिटेशन के भी आपको कई रूप दिखाई देंगे जिनका दो भागों से संबंध है एक है हमारी बाहर की सैलरी क्रियाओं द्वारा जिसे हम लोग का कैसे शादी करते हैं समाचार आना आदि आदि प्राणायाम आदि की शक्तियों से संबंधित होता है जिसको मेडिसिन कैपिटेशन का प्राइस की है कि ऐसा मेडिटेशन जो हमारे माइंड से कनेक्ट हो तीनों को सॉन्ग बनाए आंतरिक स्वास्थ्य क्योंकि अक्सर देखा गया है यदि शरीर से तो अच्छा है लगता है परंतु उसकी इधर है उसके संस्कार कमजोर होते हैं गुस्सा आना तनाव में आना आधी आधी उसके लिए मेडिटेशन एक बहुत ही सरल उपाय कहने का भाव क्या है केमिस्ट्री योगा करते हैं परंतु उसमें भी हमें नई टेशन बहुत आवश्यक होता है जो मैं किचन में करता हूं उसका नाम है राज्यों का मेट्रिक एग्जामिनेशन है जो हमें सेल्फ कंट्रोल करना सिखाता 58 पर राज करना किसे कहा जाता है राज्यों की हमारी जो कर्म इंद्रियां है जिनके द्वारा हम दिन भर कार्य करते हैं आंखें हैं हमारे कान है मैडम मुख है जिनके द्वारा हम प्रतिदिन गलतियां भी करते हैं परेशान भी होते हैं तो उस को कंट्रोल करने के लिए इसे डायरियो के अंदर की जो हमारी आंतरिक शक्ति हैं उस पावरफुल बन जाती है तो इनको वो ऐसी कर्म करने से रोकती है इसको कभी भी कर सकते हैं यदि हम मॉर्निंग में इसका कुछ समय अभ्यास कर लेते हैं तो हमारी आत्मा तथा आंतरिक शक्तियां जहाज होने लग जाती है दिनभर जब भी कोई समस्या आती है तो वह हमें उस पर विजय पाने की शक्ति प्रदान कर देती है जैसे कि रोजाना तनाव आना चिरचिरापन आदि जैसे मोबाइल को चार्ज कर लेते हैं तो वह दिन पर काम आता है ऐसी मेडिटेशन की शक्ति से जब हम चार्ज हो जाते हैं तो दिन में जब भी कोई समस्या आती है उसमें उसको प्रयोग में लाया जाता है जैसे आपको स्कूटी ड्राइव कर रहे हैं कार ड्राइव कर रहे हैं अगर कुछ सामने आ जाता ब्रेक लगा देते तो मेडिटेशन ऐसे दिन भर हमें ब्रेक का काम करता है इसके अंतर्गत हमें क्लेम का चिंतन करना होता है एकांत और स्थान पर बैठकर अपने आप से पॉजिटिव बातें करते हैं स्वयं के बारे में चिंतन करते हैं कि मैं कौन कहां से आया हूं मैं क्या करने के लिए आया था और मैं क्या कर रहा हूं क्योंकि शरीर से तुमसे हम को जानते हैं तू अंदर जो एलर्जी है आसमान धोलका जाता है उसका ज्ञान हमें बहुत कम होता है उस शक्ति को जब चार्ज करते हैं तो वह हमारी नई के सिंह की नदी बन जाती है तभी तो व्यक्ति जबकि रहा होता है जीवित होता है तू जब तक एनर्जी हमारे अंदर तब तक हम देख रहे हैं सुन रही है बोल रही है काम करने के तांत्रिक शक्ति से संबंधित जो एलर्जी होती है उसको मेडिटेशन के कारण चार्ज करते हैं उसमें मेरी सोर्स आफ एनर्जी कौन सी है कि वह शक्ति कहां से मिलती है उससे मुझे चाय होना है इस प्रकाशित काफी डिटेल में मनन चिंतन चलता है अपने बारे में पॉजिटिव सोचते हैं आत्मा पॉजिटिव एनर्जी से चार्ज हो जाती है इससे सकारात्मक शक्ति और हमारा दृष्टिकोण पॉजिटिव होने लगता है इस प्रकार मेडिसिन का उस समय अभ्यास करके रिलैक्स होते जाते हैं और दिन में जब भी कोई ऐसी प्रेशर वाली बात आती है टेंशन की बात आती है तो वह पॉजिटिव इन ए वैसा करने से रोक देती है तो इस प्रकार से इसके कुछ लाइसेंस होते हैं जो कि हमें अभ्यास करने पड़ते हैं और धीरे-धीरे हम उसका अभ्यास करके अपने लक्ष्य को पाने की ओर अपने कदम पढ़ाने लगते हैं इन्हीं शुभकामनाओं के साथ कि आप अवश्य हित नई के शैक्षिक अपने जीवन की समस्याओं का समाधान अवश्य करेंगे धन्यवाद

namaskar prashna hai main meditation karna chahta hoon kya aap mujhe bata sakte hain ki main meditation kaise shuru karo office ka hamare jeevan me kya mahatva hai vartaman samay me main kishan jeevan ko jeene ka ek hi saral aur prabhavshali tarika hai aaj jo bhi samasya pesh kar rahe hain unke upar niyantran paane ka ek saral upay ya koi bhi vyakti stree purush baccha budha kisi bhi varg se sambandhit ho badi aasani se kar sakta hai sabse badi hamari kalpanaaon ki samasya hai jwails ke chintan ki samasya hai nakaratmak aalu se pareshan hain sharir rogo se pareshan hai student life me kansantreshan ki kami self confidence ki kami aur aaj ka hamare sambandhon me takraav ka vatavaran banta ja raha hai kisi ko nashon ki bhi jaanch ho tum bhai teshan usme ek saral upay hain in sabke upar niyantran paane ke liye aajkal meditation ke bhi aapko kai roop dikhai denge jinka do bhaagon se sambandh hai ek hai hamari bahar ki salary kriyaon dwara jise hum log ka kaise shaadi karte hain samachar aana aadi aadi pranayaam aadi ki shaktiyon se sambandhit hota hai jisko medicine kaipiteshan ka price ki hai ki aisa meditation jo hamare mind se connect ho tatvo ko song banaye aantarik swasthya kyonki aksar dekha gaya hai yadi sharir se toh accha hai lagta hai parantu uski idhar hai uske sanskar kamjor hote hain gussa aana tanaav me aana aadhi aadhi uske liye meditation ek bahut hi saral upay kehne ka bhav kya hai chemistry yoga karte hain parantu usme bhi hamein nayi teshan bahut aavashyak hota hai jo main kitchen me karta hoon uska naam hai rajyo ka matric examination hai jo hamein self control karna sikhata 58 par raj karna kise kaha jata hai rajyo ki hamari jo karm indriya hai jinke dwara hum din bhar karya karte hain aankhen hain hamare kaan hai madam mukh hai jinke dwara hum pratidin galtiya bhi karte hain pareshan bhi hote hain toh us ko control karne ke liye ise dario ke andar ki jo hamari aantarik shakti hain us powerful ban jaati hai toh inko vo aisi karm karne se rokti hai isko kabhi bhi kar sakte hain yadi hum morning me iska kuch samay abhyas kar lete hain toh hamari aatma tatha aantarik shaktiyan jahaj hone lag jaati hai dinbhar jab bhi koi samasya aati hai toh vaah hamein us par vijay paane ki shakti pradan kar deti hai jaise ki rojana tanaav aana chirchirapan aadi jaise mobile ko charge kar lete hain toh vaah din par kaam aata hai aisi meditation ki shakti se jab hum charge ho jaate hain toh din me jab bhi koi samasya aati hai usme usko prayog me laya jata hai jaise aapko scooty drive kar rahe hain car drive kar rahe hain agar kuch saamne aa jata break laga dete toh meditation aise din bhar hamein break ka kaam karta hai iske antargat hamein claim ka chintan karna hota hai ekant aur sthan par baithkar apne aap se positive batein karte hain swayam ke bare me chintan karte hain ki main kaun kaha se aaya hoon main kya karne ke liye aaya tha aur main kya kar raha hoon kyonki sharir se tumse hum ko jante hain tu andar jo allergy hai aasman dholka jata hai uska gyaan hamein bahut kam hota hai us shakti ko jab charge karte hain toh vaah hamari nayi ke Singh ki nadi ban jaati hai tabhi toh vyakti jabki raha hota hai jeevit hota hai tu jab tak energy hamare andar tab tak hum dekh rahe hain sun rahi hai bol rahi hai kaam karne ke tantrika shakti se sambandhit jo allergy hoti hai usko meditation ke karan charge karte hain usme meri source of energy kaun si hai ki vaah shakti kaha se milti hai usse mujhe chai hona hai is prakashit kaafi detail me manan chintan chalta hai apne bare me positive sochte hain aatma positive energy se charge ho jaati hai isse sakaratmak shakti aur hamara drishtikon positive hone lagta hai is prakar medicine ka us samay abhyas karke relax hote jaate hain aur din me jab bhi koi aisi pressure wali baat aati hai tension ki baat aati hai toh vaah positive in a waisa karne se rok deti hai toh is prakar se iske kuch license hote hain jo ki hamein abhyas karne padate hain aur dhire dhire hum uska abhyas karke apne lakshya ko paane ki aur apne kadam padhane lagte hain inhin shubhkamnaon ke saath ki aap avashya hit nayi ke shaikshik apne jeevan ki samasyaon ka samadhan avashya karenge dhanyavad

नमस्कार प्रश्न है मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मैं मेडिटेशन कै

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप मेडिटेशन करना चाहते हैं तो यह जीवन में बात में परिवर्तन है जिसमें आपके मन और आपके आपके शरीर को और आप खुद को बहुत ज्यादा शांत पाओगे ऐसे हालात में सबसे अच्छी बात यह है कि आप कौन सेंट्रेशन और स्टोरेज कैपेबिलिटी पड़ जाएगी

agar aap meditation karna chahte hain toh yah jeevan me baat me parivartan hai jisme aapke man aur aapke aapke sharir ko aur aap khud ko bahut zyada shaant paoge aise haalaat me sabse achi baat yah hai ki aap kaun sentreshan aur storage capability pad jayegi

अगर आप मेडिटेशन करना चाहते हैं तो यह जीवन में बात में परिवर्तन है जिसमें आपके मन और आपके आ

Romanized Version
Likes  246  Dislikes    views  2853
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

7:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने सवाल पूछा है मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मैं मेडिटेशन कैसे शुरू करूं और इसका हमारे जीवन में क्या महत्व है आपने बहुत अच्छा सोचा है मेडिटेशन करने से आपका पूरा जीवन बदल जाएगा मेडिटेशन से आप अपने आप को जान लेंगे अपने शरीर को जान लेंगे बहुत सरल मेडिटेशन करना मेडिटेशन की विधि एकदम सरल है सर्वप्रथम आपको करना यह है कि आपको एक साफ-सुथरे स्थान पर एक आसन लगाना है आसन किसी भी प्रकार का हो सकता है चटाई या मैं जो कुछ ऐसा जिस पर आप बैठ सके जो वह प्रक्रिया होती है जो धरती होती है धरती पर ना बैठे धरती के ऊपर चढ़ाई बिछाए और मेट लगाएं उसके ऊपर बैठे उसके बाद आपको करना यह है कि आपको एक मध्यम सा म्यूजिक चला लेना है म्यूजिक पर मेडिटेशन अगर आप यूट्यूब पर डालेंगे तो बहुत सारे म्यूजिक आ जाएंगे ऐसा म्यूजिक सुनना है जिसमें ऐड ना हो ऐसा म्यूजिक चुनिए और लगा लीजिए म्यूजिक आप जब ध्यान मुद्रा में बैठेंगे तो आप अपना सारा ध्यान केंद्रित करेंगे आपकी आती-जाती स्वास्थ्य पर धीरे धीरे धीरे धीरे अब आपके मन में थॉट्स आना शुरू हो जाएंगे कुछ बाहर की बातें चलना शुरू हो जाएगी आपको उन सबसे हटके सिर्फ अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना है और आज्ञा चक्र पर ध्यान रखना है अग्नि चक्र कहां है आपके मस्तिष्क पर आपकी जो दोनों आंखें इसके बीच में वहां ध्यान होना चाहिए और धीरे-धीरे जब आपकी स्वास पूरी स्वास्थ्ंत्र पर आपका ध्यान रहेगा आपने आपकी स्वास्थ्य कहां से आ रही है कहां तक जा रही है इस पर आप कंसंट्रेट करेंगे इसके बाद आपकी आंखों के बीच में जो आज्ञा चक्र हैं वहां कंसंट्रेट करना है उसके बाद धीरे-धीरे अब म्यूजिक के साथ बहना शुरू हो जाएंगे और म्यूजिक आपको कहीं और ले जाएगा तू यह एक पद्धति है दूसरी पद्धति यह है कि आप जब ध्यान लगाकर बैठे तो अपने शरीर में ही देखने की कोशिश करें आपकी आंखों के अंदर आपको क्या नजर आ रहा है आपकी बॉडी में कहां अलग-अलग पार्ट होते हैं जो इधर पार्ट्स होते हैं कहां-कहां से ब्रिज जनरेट होती है कहां तक जाती है कहां तक आती है आपकी आप आपके अंदर ही ध्यान लगाना है आपके मस्तिष्क में ही ध्यान लगाना है शुरुआती दौर में कुछ दिनों तक रहेगा ऐसा कि आपका ध्यान इधर-उधर जाएगा जब आप बैठेंगे तो अब बाहर की चीजें सोचेंगे बाहर की बातें सोचेंगे आप लोगों के बारे में सोचेंगे लेकिन धीरे-धीरे धीरे-धीरे एक समय ऐसा आ जाएगा जब आप अपने अंदर ध्यान लगाना शुरु कर देंगे अपने खुद के अंदर ध्यान लगाना शुरु कर देंगे और यह प्रक्रिया आपको 10 दिन तक करना होगी 10 दिन के बाद आपको बाहर के थॉट्स आना बंद हो जाएंगे फिर आपको एक अच्छा मेडिटेशन कर सकते हैं और इससे आपके जीवन में बदलाव यह आ जाएगा कि आप एक मन की एकाग्रता एकाग्र चित्त हो जाएंगे आप किसी चीज पर ध्यान लगाना शुरु कर देंगे आपका विल पावर बढ़ जाएगा आप की सोचने समझने की क्षमता बढ़ जाएगी आपको चीजों का देखने का नजरिया अलग हो जाएगा अब गंभीरता से सोचने लगेंगे किसी भी विषय के बारे में और जिस विषय में आप अध्ययन कर रहे हैं पढ़ाई कर रहे हैं उस विषय के बारे में भी आपकी जानकारियां बढ़ाने की चेष्टा करें आप आप उनके बारे में जानने की कोशिश करेंगे और जो चीजें अब पड़ेंगे वह ज्यादातर आपको याद रह जाएगी क्योंकि मेडिटेशन आपको एकाग्र चित्त करता है पढ़ने के लिए आपके चित्त को एकाग्र करना बहुत जरूरी होता है तो जो आप नॉलेज लेना चाहते तो आप पढ़ाई करना चाहते हैं आप जो शास्त्र की पढ़ाई कर रहे हैं आप उसने निकुम हो जाएंगे उन चीजों के बारे में आप जितना जान लेंगे और माध्यम यही रहेगा मेडिटेशन करना है आपको आप एक समय चुन लीजिए सुबह का तो होता है उसी समय में आपको मेडिटेशन करना है और ऐसा स्थान चुनना है जहां पर आपको कोई डिस्टर्ब ना करें किसी तरह की हलचल ना हो लोग कम हो अगर आपको इस तरह का माहौल आपको नहीं मिल रहा है तो आप कोई जंगल में एक जगह चुन ले जहां पर एकांत मिले आप को शांति मिले आपको समुद्र के किनारे भी बैठ सकते हैं अगर कोई नदी है आपके गांव या शहर में तो नदी के किनारे भी जाकर आप मेडिटेशन कर सकते हैं आपको एक उपयुक्त स्थान चुनना पड़ेगा अगर आप प्रकृति में मेडिटेशन करते हैं तो आपको म्यूजिक की बिल्कुल भी जरूरत नहीं पड़ेगी आपको जो प्रकृति में कलरव करते पक्षी पानी की आवाज हवा की आवाज और जो आवाज भी वहां आसपास आ रही हो उन्हीं पर अगर आप अपना ध्यान केंद्रित करेंगे तो वह एक बहुत अच्छा मेडिटेशन कहलाता है कि वह प्रकृति के बीच में होता है और वहां आपको बहुत अच्छा और बहुत बेहतर मिलेगा जो आप अपने अंदर कुछ जानने की कोशिश करते हैं खोजने की कोशिश करते हैं वह धीरे धीरे धीरे धीरे आपको मिलना शुरू हो जाएगा तो यह तरीका है और आप मेडिटेशन शुरू करना चाहते हैं आपका स्टार्टिंग में सवाल यह था कि अब मेडिटेशन शुरू करना चाहते लेकिन नहीं कर पाते तो आपको थोड़ा सा समय देना होगा आपको यह समय वैसा ही होगा जिसे अपने शुरुआत की किसी म्यूजिक को सुनने की तो आपको जो चीज अच्छी लगती है जो म्यूजिक अच्छा लगता है वह म्यूजिक का लगा कर एक ध्यान मुद्रा में बैठ जाइए और उस म्यूजिक पर ध्यान लगाइए धीरे-धीरे आपकी आदत हो जाएगी अब घंटों बैठे रहेंगे आपको पता भी नहीं चलेगा तो आप ऐसे स्लोली स्लोली स्टार्ट कर सकते हैं और आपको एक समय देना ही होगा शुरुआत में अपने 5 मिनट दिए फिर 10 मिनट दिए फिर 15 मिनट दिए 20 मिनट दिए आधा घंटा दिया एक घंटा दिया फिर धीरे-धीरे कब टाइम बढ़ जाएगा आपको पता भी नहीं चलेगा तो यह कुछ चिट्ठी बीए है मैंने जो अगर आप ध्यान लगाकर सुनेंगे और समझेंगे तो आप बेहतर तरीके से सारी चीजें कर पाएंगे धन्यवाद

aap ne sawaal poocha hai main meditation karna chahta hoon kya aap mujhe bata sakte hain ki main meditation kaise shuru karu aur iska hamare jeevan me kya mahatva hai aapne bahut accha socha hai meditation karne se aapka pura jeevan badal jaega meditation se aap apne aap ko jaan lenge apne sharir ko jaan lenge bahut saral meditation karna meditation ki vidhi ekdam saral hai sarvapratham aapko karna yah hai ki aapko ek saaf suthre sthan par ek aasan lagana hai aasan kisi bhi prakar ka ho sakta hai chatai ya main jo kuch aisa jis par aap baith sake jo vaah prakriya hoti hai jo dharti hoti hai dharti par na baithe dharti ke upar chadhai bichaye aur mate lagaye uske upar baithe uske baad aapko karna yah hai ki aapko ek madhyam sa music chala lena hai music par meditation agar aap youtube par daalenge toh bahut saare music aa jaenge aisa music sunana hai jisme aid na ho aisa music chuniye aur laga lijiye music aap jab dhyan mudra me baitheange toh aap apna saara dhyan kendrit karenge aapki aati jaati swasthya par dhire dhire dhire dhire ab aapke man me thoughts aana shuru ho jaenge kuch bahar ki batein chalna shuru ho jayegi aapko un sabse hatake sirf apne swasthya par dhyan dena hai aur aagya chakra par dhyan rakhna hai agni chakra kaha hai aapke mastishk par aapki jo dono aankhen iske beech me wahan dhyan hona chahiye aur dhire dhire jab aapki swas puri swasthntra par aapka dhyan rahega aapne aapki swasthya kaha se aa rahi hai kaha tak ja rahi hai is par aap concentrate karenge iske baad aapki aakhon ke beech me jo aagya chakra hain wahan concentrate karna hai uske baad dhire dhire ab music ke saath bahna shuru ho jaenge aur music aapko kahin aur le jaega tu yah ek paddhatee hai dusri paddhatee yah hai ki aap jab dhyan lagakar baithe toh apne sharir me hi dekhne ki koshish kare aapki aakhon ke andar aapko kya nazar aa raha hai aapki body me kaha alag alag part hote hain jo idhar parts hote hain kaha kaha se bridge generate hoti hai kaha tak jaati hai kaha tak aati hai aapki aap aapke andar hi dhyan lagana hai aapke mastishk me hi dhyan lagana hai shuruati daur me kuch dino tak rahega aisa ki aapka dhyan idhar udhar jaega jab aap baitheange toh ab bahar ki cheezen sochenge bahar ki batein sochenge aap logo ke bare me sochenge lekin dhire dhire dhire dhire ek samay aisa aa jaega jab aap apne andar dhyan lagana shuru kar denge apne khud ke andar dhyan lagana shuru kar denge aur yah prakriya aapko 10 din tak karna hogi 10 din ke baad aapko bahar ke thoughts aana band ho jaenge phir aapko ek accha meditation kar sakte hain aur isse aapke jeevan me badlav yah aa jaega ki aap ek man ki ekagrata ekagra chitt ho jaenge aap kisi cheez par dhyan lagana shuru kar denge aapka will power badh jaega aap ki sochne samjhne ki kshamta badh jayegi aapko chijon ka dekhne ka najariya alag ho jaega ab gambhirta se sochne lagenge kisi bhi vishay ke bare me aur jis vishay me aap adhyayan kar rahe hain padhai kar rahe hain us vishay ke bare me bhi aapki jankariyan badhane ki cheshta kare aap aap unke bare me jaanne ki koshish karenge aur jo cheezen ab padenge vaah jyadatar aapko yaad reh jayegi kyonki meditation aapko ekagra chitt karta hai padhne ke liye aapke chitt ko ekagra karna bahut zaroori hota hai toh jo aap knowledge lena chahte toh aap padhai karna chahte hain aap jo shastra ki padhai kar rahe hain aap usne nikum ho jaenge un chijon ke bare me aap jitna jaan lenge aur madhyam yahi rahega meditation karna hai aapko aap ek samay chun lijiye subah ka toh hota hai usi samay me aapko meditation karna hai aur aisa sthan chunana hai jaha par aapko koi disturb na kare kisi tarah ki hulchul na ho log kam ho agar aapko is tarah ka maahaul aapko nahi mil raha hai toh aap koi jungle me ek jagah chun le jaha par ekant mile aap ko shanti mile aapko samudra ke kinare bhi baith sakte hain agar koi nadi hai aapke gaon ya shehar me toh nadi ke kinare bhi jaakar aap meditation kar sakte hain aapko ek upyukt sthan chunana padega agar aap prakriti me meditation karte hain toh aapko music ki bilkul bhi zarurat nahi padegi aapko jo prakriti me kalrav karte pakshi paani ki awaaz hawa ki awaaz aur jo awaaz bhi wahan aaspass aa rahi ho unhi par agar aap apna dhyan kendrit karenge toh vaah ek bahut accha meditation kehlata hai ki vaah prakriti ke beech me hota hai aur wahan aapko bahut accha aur bahut behtar milega jo aap apne andar kuch jaanne ki koshish karte hain khojne ki koshish karte hain vaah dhire dhire dhire dhire aapko milna shuru ho jaega toh yah tarika hai aur aap meditation shuru karna chahte hain aapka starting me sawaal yah tha ki ab meditation shuru karna chahte lekin nahi kar paate toh aapko thoda sa samay dena hoga aapko yah samay waisa hi hoga jise apne shuruat ki kisi music ko sunne ki toh aapko jo cheez achi lagti hai jo music accha lagta hai vaah music ka laga kar ek dhyan mudra me baith jaiye aur us music par dhyan lagaaiye dhire dhire aapki aadat ho jayegi ab ghanto baithe rahenge aapko pata bhi nahi chalega toh aap aise slowly slowly start kar sakte hain aur aapko ek samay dena hi hoga shuruat me apne 5 minute diye phir 10 minute diye phir 15 minute diye 20 minute diye aadha ghanta diya ek ghanta diya phir dhire dhire kab time badh jaega aapko pata bhi nahi chalega toh yah kuch chitthi BA hai maine jo agar aap dhyan lagakar sunenge aur samjhenge toh aap behtar tarike se saari cheezen kar payenge dhanyavad

आप ने सवाल पूछा है मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मैं मेडिटेशन

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  372
WhatsApp_icon
user

Harsh Goyal

Chemical Engineer

0:53
Play

Likes  76  Dislikes    views  1086
WhatsApp_icon
user

Krishna Singh

Motivational Speaker

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मैं मेडिटेशन कैसे शुरू करूं और इसका हमारे जीवन में क्या महत्व है मेडिटेशन आपको अंतर के दर्शन कराता है आपको आपकी सत्यता से रू-ब-रू कराता है मेडिटेशन से आप अपने सत्य स्वरूप को पहचान पाते हैं जान पाते हैं और उससे आपके संकल्पों की गति भी धीमी हो जाती है आपके जीवन में सुख आनंद चयन सभी चीजों का प्रवाह होने लगता है मैं यह नहीं कह रहा कि परिस्थितियां सुधर जाती हैं परिस्थितियां तो आती रहेंगी कर्मों के अनुसार लेकिन आप उसको अच्छे से बखूबी झेल सकते हैं कि आपकी आत्मा मेडिटेशन द्वारा सशक्त हो जाती है लेकिन निर्भर करता है कि आप किस प्रकार के मेडिटेशन की बात करते हैं एक होता है हट योग प्राणायाम आदि जो शरीर को खुश रखता है होता है बुद्धि हो मैं आपको एक सलाह देना चाहूंगा अगर आपके इर्द-गिर्द कोई ब्रह्मा कुमारिस का सेंटर है वहां पर आप जाइए और उन्हें कहीं के मुझे मेडिटेशन सिखाइए वहां वे लोग सात दिवसीय कोर्स कराते हैं और निशुल्क मेडिटेशन सिखाते हैं अशोक बाकी की बात यह है कि वहां पर उनके सेंटर पर बैठकर केक मेडिटेशन हॉल होता है वहां आप कभी भी मिर्धा हो जा करके बैठ कर के योग अभ्यास कर सकते हैं जो घर पर शायद ना कर पाए कोई ना कोई डिस्टरबेंस की वजह से और दूसरी बात आपको वो ट्रेन भी करते हैं तो आप ऐसा करिए आपको स्वयं अच्छा लगेगा

main meditation karna chahta hoon kya aap mujhe bata sakte hain ki main meditation kaise shuru karu aur iska hamare jeevan me kya mahatva hai meditation aapko antar ke darshan karata hai aapko aapki satyata se rue bsp rue karata hai meditation se aap apne satya swaroop ko pehchaan paate hain jaan paate hain aur usse aapke sankalpon ki gati bhi dheemi ho jaati hai aapke jeevan me sukh anand chayan sabhi chijon ka pravah hone lagta hai main yah nahi keh raha ki paristhiyaann sudhar jaati hain paristhiyaann toh aati rahegi karmon ke anusaar lekin aap usko acche se bakhubi jhel sakte hain ki aapki aatma meditation dwara sashakt ho jaati hai lekin nirbhar karta hai ki aap kis prakar ke meditation ki baat karte hain ek hota hai hut yog pranayaam aadi jo sharir ko khush rakhta hai hota hai buddhi ho main aapko ek salah dena chahunga agar aapke ird gird koi brahma kumaris ka center hai wahan par aap jaiye aur unhe kahin ke mujhe meditation sikhaiye wahan ve log saat divasiya course karate hain aur nishulk meditation sikhaate hain ashok baki ki baat yah hai ki wahan par unke center par baithkar cake meditation hall hota hai wahan aap kabhi bhi mirdha ho ja karke baith kar ke yog abhyas kar sakte hain jo ghar par shayad na kar paye koi na koi distarabens ki wajah se aur dusri baat aapko vo train bhi karte hain toh aap aisa kariye aapko swayam accha lagega

मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मैं मेडिटेशन कैसे शुरू करूं और इस

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  357
WhatsApp_icon
user

Naresh Kumar Chaudhary

Mix Martial Art Trainer

0:43
Play

Likes  60  Dislikes    views  775
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या मुझे बता सकते हैं कि मैं बैठे संजय से शुरू बनारस का भाग जाएगी सुबह के समय है या शाम को जब भी आपको समय मिले आप अपने मन को शांति ओम का उच्चारण शुरू कर दीजिए धीरे-धीरे करके लंबी लंबी सांसे लूं सांसों के माध्यम से आप थोड़ा सा तंत्र को ठीक करो किसी बिंदु पर बैठकर वैसे ओंकारा ओम का उच्चारण करते हुए मन को स्थिर करते हुए नीचे से ऊपर तक ले जाओ और उनको अपने दिमाग में सर्वाधिक जगह कहीं पर भी कंट्री इंद्र करो अपने दिमाग को पूरे हर तरह से उस पर केंद्रित करो जब तक आंखों में आंसू नहीं आने लगते हैं उसी पर एकाग्र चित्त करो पहले कुछ सेकंड करो पर मिनट करो एक-दो मिनट होता है और हमें इस कदर बैठे लोग कर लेते हैं तो निश्चित तौर पर हमें पढ़ने लिखने में याद करने में हमारी याददाश्त मजबूत होगी समझने में किसी चीज को मजबूती मिलती तो ऐसा कर सकते हो आप

meditation karna chahta hoon kya mujhe bata sakte hain ki main baithe sanjay se shuru banaras ka bhag jayegi subah ke samay hai ya shaam ko jab bhi aapko samay mile aap apne man ko shanti om ka ucharan shuru kar dijiye dhire dhire karke lambi lambi sanse loon shanson ke madhyam se aap thoda sa tantra ko theek karo kisi bindu par baithkar waise onkara om ka ucharan karte hue man ko sthir karte hue niche se upar tak le jao aur unko apne dimag me sarvadhik jagah kahin par bhi country indra karo apne dimag ko poore har tarah se us par kendrit karo jab tak aakhon me aasu nahi aane lagte hain usi par ekagra chitt karo pehle kuch second karo par minute karo ek do minute hota hai aur hamein is kadar baithe log kar lete hain toh nishchit taur par hamein padhne likhne me yaad karne me hamari yadadasht majboot hogi samjhne me kisi cheez ko majbuti milti toh aisa kar sakte ho aap

मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या मुझे बता सकते हैं कि मैं बैठे संजय से शुरू बनारस का भाग जाएगी

Romanized Version
Likes  343  Dislikes    views  3342
WhatsApp_icon
play
user

Ragini Kshatriya

Lifecoach@Lifezhonour

1:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले तुम मुझे यह सुनकर बहुत ज्यादा खुशी हुई कि आप मेडिटेशन करना चाहते हैं आज के जीवन में अलोक से जिम करना चाहते हैं मतलब सिर्फ अपनी आउटर बॉडी अपनी फिजिकल बॉडी को फिट बनाना और रिंगटोन बनाने में इंटरेस्टेड हैं मेडिटेशन उससे बहुत ज्यादा ऊपर है मेडिटेशन में आपका माइंड बॉडी सौल इन तीनों का एक कनेक्ट होता है इन तीनों के बीच में एक सिंह होता है जो बेहद जरूरी है अगर आप मेडिटेशन करना चाहते हैं और आप सोचते हैं कि आप किस तरीके का मेडिटेशन कर सकते हैं तो शायद 2 मिनट का वीडियो बहुत छोटा होगा बताना बट मैं आपको सजेस्ट करुंगी कि ऑनलाइन आपको काफी गुरु केतु का no1 गाइडेंस मिल जाएगा और अच्छे-अच्छे प्रसिद्ध गुरु जो इन चीजों में बहुत अच्छा कर रहे हैं उनसे आपको गाइडेंस मिल सकता है मेडिटेशन सभी प्रकार के होते हैं आप यू नो साउंड से आप एक मेडिटेशन कर सकते हैं कुछ लोग विदाउट साउंड मेडिटेशन करना पसंद करते हैं कुछ लोग कुछ मंत्र चांटिंग के थ्रू मेडिटेशन करना पसंद करते हैं कुछ लोग सिर्फ कुछ वाइब्रेशंस के थ्रू मेडिटेशन करना पसंद करते हैं तो 800 न्यू कि आप किस चीज से ज्यादा कनेक्ट करते हैं बट आई एम सो सॉरी जवाब मेडिटेशन करेंगे और उसके बाद जो आप अपना माइंड बॉडी और फूल के बीच में जो एक सिर्फ महसूस करेंगे वह फिटनेस से बहुत ऊपर और बहुत महत्वपूर्ण है

pehle tum mujhe yah sunkar bahut zyada khushi hui ki aap meditation karna chahte hain aaj ke jeevan mein alok se gym karna chahte hain matlab sirf apni outer body apni physical body ko fit banana aur ringtone banane mein interested hain meditation usse bahut zyada upar hai meditation mein aapka mind body saul in tatvo ka ek connect hota hai in tatvo ke beech mein ek Singh hota hai jo behad zaroori hai agar aap meditation karna chahte hain aur aap sochte hain ki aap kis tarike ka meditation kar sakte hain toh shayad 2 minute ka video bahut chota hoga bataana but main aapko suggest karungi ki online aapko kaafi guru Ketu ka no1 guidance mil jaega aur acche acche prasiddh guru jo in chijon mein bahut accha kar rahe hain unse aapko guidance mil sakta hai meditation sabhi prakar ke hote hain aap you no sound se aap ek meditation kar sakte hain kuch log without sound meditation karna pasand karte hain kuch log kuch mantra chanting ke through meditation karna pasand karte hain kuch log sirf kuch vaibreshans ke through meditation karna pasand karte hain toh 800 new ki aap kis cheez se zyada connect karte hain but I M so sorry jawab meditation karenge aur uske baad jo aap apna mind body aur fool ke beech mein jo ek sirf mehsus karenge vaah fitness se bahut upar aur bahut mahatvapurna hai

पहले तुम मुझे यह सुनकर बहुत ज्यादा खुशी हुई कि आप मेडिटेशन करना चाहते हैं आज के जीवन में अ

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  365
WhatsApp_icon
user

Maruti Makwana

Performance Strategist

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बड़ी ही खुशी की बात है कि आप मेडिटेशन करना चाहते हो क्योंकि मेरा मानना है कि इंसान जो चाहता है वह कभी ना कभी वफा ही लेता है तो अगर आप मेडिटेशन करना चाहते हो तो यकीनन आप यह करोगे मेरे हिसाब से मेडिटेशन करने का सबसे बड़ा फायदा एक ही है कि जिन लोगों के दिमाग बहुत ही चंचल होते हैं जिसे हम कहते हैं चंचल मन वाले उनको यह अपना दिमाग को स्थिर करने में या फिर किसी एक जगह पर फोकस करने में हेल्प करता है दूसरा इससे आपको अपने काम में या फिर अपनी रोज ब रोज की जिंदगी में बहुत सारी चीजें करने में भी आसानी से मदद मिलती हैं क्योंकि जब दिमाग आपका एक जगह पर फोकस होगा या फिर आपका मन शांत होगा तो आप किसी भी काम को सरलता से कर सकते हो मेरी ने शंकर ने बहुत ही इजी है इसको करने के लिए आपको सबसे पहले किसी क्लास में जाकर इरिटेशन सीखने की जरूरत नहीं है अगर आप सुबह सुबह किसी गार्डन में जाकर किसी भी पेड़ के नीचे अगर आंख बंद करके 15 मिनट बस आप किसी एक चीज के बारे में सोचते हो तो मेरे हिसाब से यह भी एक तरह का मेडिटेशन ही है हो सके तो ऐसी सिंपल सिंपल चीजों से अपने दिमाग को स्थिर करने की और किसी एक चीज पर फोकस करने की कोशिश करो जब आप इसमें कामयाब हो जाओगे तो आपको खुशी भी मिलेगी और आपको आसानी से और भी रास्ते दिखेंगे जो आपको बेहतरीन मेडिटेशन करने के लिए जरूरी होगी

yah badi hi khushi ki baat hai ki aap meditation karna chahte ho kyonki mera manana hai ki insaan jo chahta hai vaah kabhi na kabhi wafa hi leta hai toh agar aap meditation karna chahte ho toh yakinan aap yah karoge mere hisab se meditation karne ka sabse bada fayda ek hi hai ki jin logo ke dimag bahut hi chanchal hote hain jise hum kehte hain chanchal man waale unko yah apna dimag ko sthir karne mein ya phir kisi ek jagah par focus karne mein help karta hai doosra isse aapko apne kaam mein ya phir apni roj bsp roj ki zindagi mein bahut saree cheezen karne mein bhi aasani se madad milti hain kyonki jab dimag aapka ek jagah par focus hoga ya phir aapka man shaant hoga toh aap kisi bhi kaam ko saralata se kar sakte ho meri ne shankar ne bahut hi easy hai isko karne ke liye aapko sabse pehle kisi class mein jaakar irritation sikhne ki zarurat nahi hai agar aap subah subah kisi garden mein jaakar kisi bhi ped ke niche agar aankh band karke 15 minute bus aap kisi ek cheez ke bare mein sochte ho toh mere hisab se yah bhi ek tarah ka meditation hi hai ho sake toh aisi simple simple chijon se apne dimag ko sthir karne ki aur kisi ek cheez par focus karne ki koshish karo jab aap isme kamyab ho jaoge toh aapko khushi bhi milegi aur aapko aasani se aur bhi raste dikhenge jo aapko behtareen meditation karne ke liye zaroori hogi

यह बड़ी ही खुशी की बात है कि आप मेडिटेशन करना चाहते हो क्योंकि मेरा मानना है कि इंसान जो च

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  354
WhatsApp_icon
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही अच्छी बात है बहुत ही अच्छे विचार हैं आपके क्या आप मेडिटेशन करना चाहते हो मेडिटेशन का सबसे पहले मैं आपको महत्व बता दूं कि मेडिटेशन का महत्व हमारे जीवन में उतना ही है जितना एक रास्ते चलते हुए आदमी के लिए उसकी आंखों की आंखों का महत्व है कि उसे किधर जाना है क्या करना है कैसे चलना है कहां गए हैं कहां उबर खाबर है वह चीजें आंखें उसे बताती है वैसे ही हमारे जीवन में जब हम मेडिटेशन करते हैं तो हमारे अंदर की जो शक्ति है जो हमारे पांचों सेंसस के परी की सच्चाई को देख सकती है उस शक्ति का जागरण होता है जब हम मेडिटेशन करते हैं और मेडिटेशन और सही में लेते हैं यह भी बहुत इंपॉर्टेंट है बताना क्योंकि आजकल हर हर कोई मेडिटेशन दिखाना शुरू कर देता है भले ही उन्हें खुद अपनी नॉलेज होगी या नहीं तो शुरुआती तौर पर आपको मेडिटेशन स्टार्ट करना है तो आप सुबह शाम पन्या पन्या में बैठना शुरू करें और सिर्फ अपनी सांस के ऊपर ध्यान दें कि मेरी सांस चल रही है अभी इतनी तेज चल रही है अभी इधर से आ रही है लेफ्ट या राइट साइड से आ रही है इस तरीके से काम करना शुरू करें और अगर आप देखना चाहते हैं तो बहुत सारे मेडिटेशन सेंटर भाभी आप गूगल पर सर्च करें आपके आसपास जो भी सेंटर है ना वहां जाकर 10 दिन बोलो वहां उनका रेजिडेंशियल को सोता है जिसमें वह आपको पूरा मेडिटेशन करना अच्छे से सिखा देते हैं आपके साथ बहुत-बहुत शुभकामनाएं

bahut hi achi baat hai bahut hi acche vichar hain aapke kya aap meditation karna chahte ho meditation ka sabse pehle main aapko mahatva bata doon ki meditation ka mahatva hamare jeevan mein utana hi hai jitna ek raste chalte hue aadmi ke liye uski aankho ki aankho ka mahatva hai ki use kidhar jana hai kya karna hai kaise chalna hai kahaan gaye hain kahaan ubar khabar hai vaah cheezen aankhen use batati hai waise hi hamare jeevan mein jab hum meditation karte hain toh hamare andar ki jo shakti hai jo hamare panchon sensas ke pari ki sacchai ko dekh sakti hai us shakti ka jagran hota hai jab hum meditation karte hain aur meditation aur sahi mein lete hain yah bhi bahut important hai bataana kyonki aajkal har har koi meditation dikhana shuru kar deta hai bhale hi unhe khud apni knowledge hogi ya nahi toh shuruati taur par aapko meditation start karna hai toh aap subah shaam panya panya mein baithana shuru kare aur sirf apni saans ke upar dhyan de ki meri saans chal rahi hai abhi itni tez chal rahi hai abhi idhar se aa rahi hai left ya right side se aa rahi hai is tarike se kaam karna shuru kare aur agar aap dekhna chahte hain toh bahut saare meditation center bhabhi aap google par search kare aapke aaspass jo bhi center hai na wahan jaakar 10 din bolo wahan unka residential ko sota hai jisme vaah aapko pura meditation karna acche se sikha dete hain aapke saath bahut bahut subhkamnaayain

बहुत ही अच्छी बात है बहुत ही अच्छे विचार हैं आपके क्या आप मेडिटेशन करना चाहते हो मेडिटेशन

Romanized Version
Likes  269  Dislikes    views  4829
WhatsApp_icon
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

4:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि आप मेडिटेशन करना चाहते हैं और अब यह जानना चाहते हो कि मेडिटेशन कैसे शुरू करें और इसका आपके जीवन में क्या महत्व है देखिए मेडिटेशन के बारे में जानने के लिए मैं आपको बताऊंगी तो कहते करीब है मेडिटेशन कि आज कल धूप बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है बहुत से लोग इसको सीख रहे हैं व्यस्त में तो यह कई बिलियन की इंडस्ट्री बन चुके इसे कहते हैं माइंडफुल मेडिटेशन यह एक तरह का ऐसा मेडिटेशन है जो कोई भी कहीं भी कर सकता है यह थोड़ा धार्मिक नहीं है दूसरा कैटेगरी मेडिटेशन की होती है जो थोड़ा धर्म से जुड़ी होती है ध्यान जिसे कहते हैं जो तपस्वी ऋषि मुनि करते थे और वैसे भी जनरल अगर आप एक अलग धर्म से भी है और आप मेडिटेशन सीखना चाहते हो तब भी ध्यान में बैठना कुछ हद तक कुछ जॉब भी करते लोग मन में तुझे थोड़ा धार्मिक है इसका महत्व आप दो तरह से लैस एक रिलीजस पैंटोफिक्स सैया ने धार्मिक नजरिए से यह तरह की साधना एक व्हाट्सएप है तो एक तरह से मन में क्रोध नहीं रहता एक अजीब सी शांति मिलती है और बहुत से लोग ध्यान करने को ईश्वर तक पहुंचने का एक साधन समझते हैं तो यह एक इसका महत्व है लेकिन अगर आप एक न्यूट्रल इसको एक एक्टिविटी एक तकनीक की तरह देखना चाहोगे तो साइंटिफिक रिसर्च यह भी कहता है कि मेडिटेशन से जो हमारे ब्रेन का सामने का हिस्सा होता है मारेमा था जिसे आप कहते हैं उसे अपनी फ्रंटल कॉर्टेक्स हाउस के पीछे वाले हिस्से को जो ब्रेन का हिसाब से अपनी फ्रंटल कांटेक्ट किया था यह जागृत होता है मतलब इसमें जवाब ध्यान करते हैं डीप ब्रीथिंग आहिस्ता से सांस लेते हैं और एक मेडिटेशन ध्यान लगा कर बैठते हैं भले आपको धार्मिक चीज का जाप ना करते हो लेकिन एक माइंडफुल मेडिटेशन कर रहे हैं या खाली ब्रीफ कर रहे हैं तो यह चीज आपके न्यूरोट्रांसमीटर्स न्यूरो एक्टिविटी को टिप करती है दिमाग के सेल्स को और एक तरह से जितनी भी हमारी नर्वस सिस्टम जो पूरी बॉडी में ब्रेन से कनेक्ट होता है इसमें यह एनर्जी देता है और यह क्योंकि ब्रेन हमारा मैन ऑर्गन है जिससे पूरा शरीर पूरा मन माइंड सारा कुछ रेगुलेट होता है कंट्रोल होता है तो अगर या एक्टिविटी से आपके ब्रेन में नए सेल्स बनते ही न्यूरोट्रांसमीटर्स एक्टिविटी आती है पर्सनल कांटेक्ट एक्टिव होता है तो इससे आपको बहुत हद तक हेल्थ बेनिफिट्स में बहुत ज्यादा एंजाइटीज और आजकल के जीवन में जनता एक्सप्रेस है लोगों के लिए बहुत ज्यादा लाभदायक इसका महत्व हेल्थ पॉइंट ऑफ यू से साइंटिफिकली भी है धार्मिक भी उससे भी है अब रही बात आपके इस को सीखने की तो मैं आपको बोलोगी कि यह पढ़ कि नहीं सीखा जा सकता बल्कि इसको आप क्या करो अगर आपके लोकेशन में कोई आयु का टीचर है या फिर कहीं कोई मेडिटेशन योगा में भी एंड में जब हम क्लोज करते हैं तो आप नाम के कुछ ऐसे भी मतलब धीरे-धीरे सांस लेने की टेक्निक से जिसमें आप थोड़ा बहुत मेडिटेटिव स्टेट में जाते हैं तो वहां से आप किसी अच्छे से टीचर के अंडर स्कोर सीखे बहुत मुश्किल नहीं है डिबरी दिन करना मुश्किल नहीं आप इसे यूट्यूब वीडियोस भी देख सकते हो गूगल पर आप गूगल करोगे हिंदी में भी तो आपको मिल जाएगा कि मेडिटेशन बेसिकली कैसे करते हैं लेकिन एक अच्छे सुपरवाइजर टीचर से योगा के साथ आगरा पर सीखो गे तो आपको बहुत ज्यादा यह लाभ देगा आपके सेहत के लिए भी फिजिकली मेंटली और ऐसे जैसे हम योगा में कहते हैं कि चक्रास होते हैं हमारे बॉडी में तो यह बहुत हद तक सारे चक्रास को रेगुलेट भी करता है तो एक अच्छे टीचर से सीखे ऐसे खाली टीवी में देखकर या यूट्यूब में देखकर अगर आप पाते हो तो ठीक है लेकिन मेरी सलाह पर है कि टीचर से सीखे धन्यवाद

aapka sawaal hai ki aap meditation karna chahte hain aur ab yah janana chahte ho ki meditation kaise shuru kare aur iska aapke jeevan mein kya mahatva hai dekhiye meditation ke bare mein jaanne ke liye main aapko bataungi toh kehte kareeb hai meditation ki aaj kal dhoop bahut zyada prasiddh hai bahut se log isko seekh rahe hain vyast mein toh yah kai billion ki industry ban chuke ise kehte hain mindful meditation yah ek tarah ka aisa meditation hai jo koi bhi kahin bhi kar sakta hai yah thoda dharmik nahi hai doosra category meditation ki hoti hai jo thoda dharm se judi hoti hai dhyan jise kehte hain jo tapaswi rishi muni karte the aur waise bhi general agar aap ek alag dharm se bhi hai aur aap meditation sikhna chahte ho tab bhi dhyan mein baithana kuch had tak kuch job bhi karte log man mein tujhe thoda dharmik hai iska mahatva aap do tarah se lase ek rilijas paintofiks saiya ne dharmik nazariye se yah tarah ki sadhna ek whatsapp hai toh ek tarah se man mein krodh nahi rehta ek ajib si shanti milti hai aur bahut se log dhyan karne ko ishwar tak pahuchne ka ek sadhan samajhte hain toh yah ek iska mahatva hai lekin agar aap ek neutral isko ek activity ek taknik ki tarah dekhna chahoge toh scientific research yah bhi kahata hai ki meditation se jo hamare brain ka saamne ka hissa hota hai marema tha jise aap kehte hain use apni frontal cortex house ke peeche waale hisse ko jo brain ka hisab se apni frontal Contact kiya tha yah jagrit hota hai matlab isme jawab dhyan karte hain deep breathing ahista se saans lete hain aur ek meditation dhyan laga kar baithate hain bhale aapko dharmik cheez ka jaap na karte ho lekin ek mindful meditation kar rahe hain ya khaali brief kar rahe hain toh yah cheez aapke nyurotransamitars neuro activity ko tip karti hai dimag ke sales ko aur ek tarah se jitni bhi hamari nervous system jo puri body mein brain se connect hota hai isme yah energy deta hai aur yah kyonki brain hamara man organ hai jisse pura sharir pura man mind saara kuch regulate hota hai control hota hai toh agar ya activity se aapke brain mein naye sales bante hi nyurotransamitars activity aati hai personal Contact active hota hai toh isse aapko bahut had tak health benefits mein bahut zyada enjaitij aur aajkal ke jeevan mein janta express hai logo ke liye bahut zyada labhdayak iska mahatva health point of you se scientifically bhi hai dharmik bhi usse bhi hai ab rahi baat aapke is ko sikhne ki toh main aapko bologi ki yah padh ki nahi seekha ja sakta balki isko aap kya karo agar aapke location mein koi aayu ka teacher hai ya phir kahin koi meditation yoga mein bhi and mein jab hum close karte hain toh aap naam ke kuch aise bhi matlab dhire dhire saans lene ki technique se jisme aap thoda bahut meditative state mein jaate hain toh wahan se aap kisi acche se teacher ke under score sikhe bahut mushkil nahi hai dibri din karna mushkil nahi aap ise youtube videos bhi dekh sakte ho google par aap google karoge hindi mein bhi toh aapko mil jaega ki meditation basically kaise karte hain lekin ek acche supervisor teacher se yoga ke saath agra par sikho gay toh aapko bahut zyada yah labh dega aapke sehat ke liye bhi physically mentally aur aise jaise hum yoga mein kehte hain ki chakras hote hain hamare body mein toh yah bahut had tak saare chakras ko regulate bhi karta hai toh ek acche teacher se sikhe aise khaali TV mein dekhkar ya youtube mein dekhkar agar aap paate ho toh theek hai lekin meri salah par hai ki teacher se sikhe dhanyavad

आपका सवाल है कि आप मेडिटेशन करना चाहते हैं और अब यह जानना चाहते हो कि मेडिटेशन कैसे शुरू क

Romanized Version
Likes  266  Dislikes    views  4430
WhatsApp_icon
user

Mr.NARESH TRIVEDI

PSYCHOLOGIST

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वेरी गुड बहुत अच्छा मैडिटेशन ध्यान यह इंसान के लिए इतना इंपॉर्टेंट इंपॉर्टेंट आयोग के बारे में नहीं बताया जिसको ध्यान के बारे में नहीं करता है उसके लिए सामान्य अंतर यह होता है कि क्लिप हमारे लाइफ में कितना इंपॉर्टेंट रखती हो जाते हैं तो हमारा ब्रेन सोचना बंद करता है दिन में हमारी क्लॉक को इस्कीम आओ हमारे मस्ती में जीता मरता है विक्रांत में सो जाते हैं तो माइंड रिलैक्स रहता है और इसे शेयर कर सकता है अपने विचारों को एक जगह बांध के हम ध्यान मेडिटेशन योग करते हैं तो उस समय हमारा माइंड बहुत ही लेकर रहता है और अगर माइंड रिलैक्स रहा है वह बोस जनरेट कर रहा है तो उसका इफेक्ट बॉडी पर आएगा और बॉडी पर आएगा तो उसका छोड़कर फिर से लेकर ऑल थिंग पर डिपेंड ऑन मेडिटेशन योग यह संयमित जीवन जीने के लिए और विचारों को और स्टेशन में यही था कि डिप्रेशन में आगे बढ़ रहा है तो बस यही चीज है जो है उसको कि जो आ रहा है उसको रोकने के लिए और उसको पढ़ने के लिए जीवन के लिए ध्यान मेडिटेशन योग यह सब चीजें बहुत ही इंपॉर्टेंट है और वर्तमान युवाओं के लिए यह बहुत ही जरूरी है जो मेंटल हेल्थ अपनी मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखना चाहते हैं उनके लिए यह बहुत ही जरूरी है सब लोगों को टाइम निकालकर इन चीजों का उपयोग करना चाहिए

very good bahut accha meditation dhyan yah insaan ke liye itna important important aayog ke bare mein nahi bataya jisko dhyan ke bare mein nahi karta hai uske liye samanya antar yah hota hai ki clip hamare life mein kitna important rakhti ho jaate hain toh hamara brain sochna band karta hai din mein hamari clock ko iskim aao hamare masti mein jita marta hai vikrant mein so jaate hain toh mind relax rehta hai aur ise share kar sakta hai apne vicharon ko ek jagah bandh ke hum dhyan meditation yog karte hain toh us samay hamara mind bahut hi lekar rehta hai aur agar mind relax raha hai vaah bose generate kar raha hai toh uska effect body par aayega aur body par aayega toh uska chhodkar phir se lekar all thing par depend on meditation yog yah sanyamit jeevan jeene ke liye aur vicharon ko aur station mein yahi tha ki depression mein aage badh raha hai toh bus yahi cheez hai jo hai usko ki jo aa raha hai usko rokne ke liye aur usko padhne ke liye jeevan ke liye dhyan meditation yog yah sab cheezen bahut hi important hai aur vartaman yuvaon ke liye yah bahut hi zaroori hai jo mental health apni mansik swasthya ko banaye rakhna chahte hain unke liye yah bahut hi zaroori hai sab logo ko time nikalakar in chijon ka upyog karna chahiye

वेरी गुड बहुत अच्छा मैडिटेशन ध्यान यह इंसान के लिए इतना इंपॉर्टेंट इंपॉर्टेंट आयोग के बारे

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  448
WhatsApp_icon
user

Dr. Mohan Pawar

Counselor | Hypnotherapist

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या होता है हमारी पूरी हो जाती है हमारी रहता है मेमोरी साफ हो जाती है हमारी जितनी तकलीफ है फिर भी है मेंटल है कि दूर दूर चली जाती है वह जिंदगी कैसे की पहचान विनीता साफ करते हैं या साबुन से नहाते हैं उसी तरह से मिलकर हमारे मन को हमारे दिमाग को अंदर से भी तरसे महिला का है उसको साफ कर देता है इसलिए मेडिसन वेरी वेरी इंपॉर्टेंट इन अवर लाइफ

kya hota hai hamari puri ho jaati hai hamari rehta hai memory saaf ho jaati hai hamari jitni takleef hai phir bhi hai mental hai ki dur dur chali jaati hai vaah zindagi kaise ki pehchaan vinita saaf karte hain ya sabun se nahaate hain usi tarah se milkar hamare man ko hamare dimag ko andar se bhi tarse mahila ka hai usko saaf kar deta hai isliye medicine very very important in avar life

क्या होता है हमारी पूरी हो जाती है हमारी रहता है मेमोरी साफ हो जाती है हमारी जितनी तकलीफ ह

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  2466
WhatsApp_icon
user

ASHOKBHAI METALIYA

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

करना चाहिए ₹10 से निकल सकते या किसी की मन की बात नहीं कर सकते तो उसकी कोई जरूरत नहीं है

karna chahiye Rs se nikal sakte ya kisi ki man ki baat nahi kar sakte toh uski koi zarurat nahi hai

करना चाहिए ₹10 से निकल सकते या किसी की मन की बात नहीं कर सकते तो उसकी कोई जरूरत नहीं है

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  427
WhatsApp_icon
user

YACHANA KADIYA

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जान करो मन ध्यान करने से काफी अच्छे फायदे होते हुए तापमान में शांत शांत रहते हो आपको जो भी प्रॉब्लम आ रही है मतलब 507 या 10 मिनट तक आप शांति से बैठ जाओ तो मन मतलब काफी सारी चीजे है जो हम बोलना चाहते तो बुझाते पर एक जान से करो तू

jaan karo man dhyan karne se kaafi acche fayde hote hue taapman mein shaant shaant rehte ho aapko jo bhi problem aa rahi hai matlab 507 ya 10 minute tak aap shanti se baith jao toh man matlab kaafi saree chije hai jo hum bolna chahte toh bujhate par ek jaan se karo tu

जान करो मन ध्यान करने से काफी अच्छे फायदे होते हुए तापमान में शांत शांत रहते हो आपको जो भी

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  501
WhatsApp_icon
user

PARESHKUMAR PARMAR

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वह आपको एक भी स्कूल लाइफ देता है क्योंकि हमारे शास्त्र के हिसाब से हमारे मेडिटेशन होता है वह हमारे माइंड और सॉरी के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है क्योंकि मेडिटेशन है वह हमें इश्क कहीं ना कहीं हमारी लाइफ से जुड़ा हुआ कुछ यह जो पहलू है वह हमें यह दिखाता है कि हमें कैसे शांत रहना है और हमें हमारी लाइफ में कैसे फोकस करना है कि हमारे कर्मचारी को क्वेश्चन हमारे मन में रहते हैं क्योंकि हमारी लाइफ आजकल बहुत फास्ट हो गई है टेक्नोलॉजी का जमाना है सब लोग टेक्निकल बातें करते हैं टेक्नोलॉजी के पीछे ज्यादा बढ़ गया है कहीं ना कहीं हमारी अपनी पर्सनल लाइफ कहीं गुम हो गई है कहीं खो गई है इस वजह से हम अपनी लाइफ में मेडिटेशन करते तो हमें कहीं ना कहीं मिलता हमारे विचार हमारे दिमाग में चलता रहता है थोड़ा शांत चाहिए लाइक तो बनती है उसको कैसे हैंडल करना चाहिए और हमें अपने दिमाग को शांत रखना चाहिए और मैं दोनों ही तरह की बातें अगर आप कहीं बहुत प्यारे लग रहे हो बहुत टेंशन में लग रहे हो या आपकी लाइफ से आप बोर हो चुके हो या ऐसा लग रहा है कि थोड़ा बहुत कहीं ना कहीं मुझे लग रहा है कि खराब चाहिए टीवी पैक कर सकता है और आपके लिए हेल्दी भी हैं

vaah aapko ek bhi school life deta hai kyonki hamare shastra ke hisab se hamare meditation hota hai vaah hamare mind aur sorry ke liye bahut hi accha mana jata hai kyonki meditation hai vaah hamein ishq kahin na kahin hamari life se juda hua kuch yah jo pahaloo hai vaah hamein yah dikhaata hai ki hamein kaise shaant rehna hai aur hamein hamari life mein kaise focus karna hai ki hamare karmchari ko question hamare man mein rehte hain kyonki hamari life aajkal bahut fast ho gayi hai technology ka jamana hai sab log technical batein karte hain technology ke peeche zyada badh gaya hai kahin na kahin hamari apni personal life kahin gum ho gayi hai kahin kho gayi hai is wajah se hum apni life mein meditation karte toh hamein kahin na kahin milta hamare vichar hamare dimag mein chalta rehta hai thoda shaant chahiye like toh banti hai usko kaise handle karna chahiye aur hamein apne dimag ko shaant rakhna chahiye aur main dono hi tarah ki batein agar aap kahin bahut pyare lag rahe ho bahut tension mein lag rahe ho ya aapki life se aap bore ho chuke ho ya aisa lag raha hai ki thoda bahut kahin na kahin mujhe lag raha hai ki kharab chahiye TV pack kar sakta hai aur aapke liye healthy bhi hain

वह आपको एक भी स्कूल लाइफ देता है क्योंकि हमारे शास्त्र के हिसाब से हमारे मेडिटेशन होता है

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  524
WhatsApp_icon
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

6:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विपश्यना रहा है कि मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं कैसे शुरू करूंगा विद्यार्थी परेशान आ रहा है इसकी प्रयुक्ति में मैं यही कह सकता हूं कि अगर मेडिटेशन करना चाह रहा है तो सबसे पहले भी अविनाश विन्यास का ज्ञान होना चाहिए ताकि मेडिटेशन में एक मॉडिफिकेशन करने का स्वरूप निर्धारित रहता है कि बदला में निर्माण करना पड़ता है और मेडिटेशन का मतलब है ध्यान इस की 3 शाखाएं बनाए गए ध्यान धारणा और समाधि तो जो ध्यान करता है उसको लक्षित किया जाता है और उसको धारण कर याद करने की जो विधि मंत्र जाप राजा ने उसका भावना स्मरण होता है और उसमें जो पूर्णता में प्रवेश हो जाता है वह समाज इस अवस्था भी है और समाधि अवस्था में ही आप संपूर्ण ज्ञान हो जाता उस तक लक्ष्य के प्रति जहां मेडिटेशन करते हैं और उसका प्रयोजन भी होता है कि यह मेडिटेशन मैं किस के लिए किस प्रयोजन के लिए कर रहा हूं तो यह लक्षित जरूर बनाना पड़ता है मेडिटेशन के कई रूप हो सकते हैं सत आतम ज्ञान के लिए होता है या किसी कार्य प्रक्रिया के लिए होता है या हम कोई भी चीज अपने दिव्यता को जलाने के लिए इत्यादि बहुत सारी चीजें हैं जिसमें कोई ना कोई एक भावना के अनुरूप हम मेडिटेशन की लाइन में चलते हैं लेकिन जहां तक आरंभ करने की बात है तो सबसे पहले शुद्धिकरण होता है अर्थात संशोधन किया जाता है कि जो अगर मेडिटेशन प्लेटफार्म में हम बैठे रहे हैं तो उसमें आसन मंत्र होता है इत्यादि कई चीजों की सैलरी मिलती है फिर भी मैं तो आपको जो सर्वप्रथम ता है वो यही है कि पहले आप शोधन के लिए चिंतन करें अर्थात परिषद की भावना रखें कि मैं दिमाग के अंदर जो संकल्प विकल्प की चीजें आती हैं वह अलग होनी चाहिए उसके बाद उन संकल्प को लाना चाहिए जिसको हम आधारित करना चाह रहे हैं तुम्हें जब खुदाई होती है तो उसके बाद जो निर्देश में चलने की गतिविधियां अर्थात जो ग्रुप है यानी परंपरागत पर उस सिद्धांत के माहिर सिद्ध हो उसी में शाश्वत उसकी उपलब्धि की गई है तो ऐसी परंपरा तक को भी अपने आज्ञा ग्रुप चेक करके जान करा जाता है और संपूर्ण जो धरा पर आया नेकी चेतन अवचेतन मन के मध्य के बीच में जो हमारे स्तरीकरण योगदान है उस तत्व में गणपति का ध्यान करते हैं यह भी एक दूसरा लॉजिक है जिसके अंदर मिला नहीं पड़ता है तो फिर उसके बाद जो हमारा लक्ष्य है हमारे इस संबंधित तत्व में निरूपित किया जाता है कि ताकि वह वही लड़का होता है तो वही हमारी जो मेडिटेशन के भावनाओं में इस काम साक्षात्कार करना चाहते हैं वही चीज उपलब्ध कराती है देश में भेदभाव ना में चलता है और मेडिटेशन करने में सांसो का ध्यान किया जाता है हर कैसे जाने दिमाग के अंदर महुआ वरण बनाई जाता है कि उसमें दूसरी विषय वस्तु भावनाएं उत्पन्न ही ना हो जिस एक विषय के लिए हम टारगेट करते हैं उसी में एकाध होता है तो ऐसा रूप लक्षण मंडल का व्यवहार गठित किया जाता है और वह जो विचार भी उसी के अंतर्गत जो बेटा गिर जाती है जो मेडिटेशन का परीक्षण होता है तो यही साधना के मार्ग में प्रयोग होता है लेकिन शुरुआत में हम आकांक्षा और अपनी जिज्ञासा लासा बस उसको एवं क्रियात्मक अनुभवों से महसूस करते हैं कि कुछ चीज हुआ है लेकिन और गहराई में जाएंगे तो यह सब चीज अपने से उत्पन्न शुरू में आती है जब वास्तविकता शब्द ज्ञान के ऊपर हम अति सुख इंतिहान व्यवस्थित होते हैं तो हर चीज अपने आप से दलों को अपने अंदर से ही हो रही है बी जागृति आ जाती है और दूसरी बात यह है कि तीन बिंदु का ध्यान करना चाहिए अवश्य एक जीवन कुंडली दूसरा परम तत्व शिव तो शिव हमें है जो इतना हमें ज्ञान है या हम किसी क्रिया का बोध में हम पाकोला करके स्वयं को जाना जा रहा है और शाम के बेटी का पता है लेकिन दूसरी कुंडली शक्ति है जिसकी वजह से हमारा मेंटेनेंस बना रहता है कि जो हमको भी प्रपोज कराने की जो सकती है कुंडली सकती है और जो मेडिटेशन के जो केंद्र चक्र है उनका व्यवहार मंडल नियोजित किया जाता है जो दिव्य परिकल्पना उसे परिपथ होता है और उसमें विन्यास होता है कि यह गुण सामा कब जागरण होगा तो इस ज्ञान से हम करते हुए उसमें मिलाते युक्ति के अंदर तो समाहित होने में समाज एकता जाता है तब उसकी दिव्य अनुभूति का हमारे अंदर स्मरण होने लग जाता है और हम होते हैं धन्यवाद मैं जेपी होगी आपके प्रिय में

vipashyana raha hai ki main meditation karna chahta hoon kaise shuru karunga vidyarthi pareshan aa raha hai iski prayukti mein main yahi keh sakta hoon ki agar meditation karna chah raha hai toh sabse pehle bhi avinash vinyas ka gyaan hona chahiye taki meditation mein ek modification karne ka swaroop nirdharit rehta hai ki badla mein nirmaan karna padta hai aur meditation ka matlab hai dhyan is ki 3 sakhayen banaye gaye dhyan dharana aur samadhi toh jo dhyan karta hai usko lakshit kiya jata hai aur usko dharan kar yaad karne ki jo vidhi mantra jaap raja ne uska bhavna smaran hota hai aur usme jo purnata mein pravesh ho jata hai vaah samaj is avastha bhi hai aur samadhi avastha mein hi aap sampurna gyaan ho jata us tak lakshya ke prati jaha meditation karte hain aur uska prayojan bhi hota hai ki yah meditation main kis ke liye kis prayojan ke liye kar raha hoon toh yah lakshit zaroor banana padta hai meditation ke kai roop ho sakte hain sat atam gyaan ke liye hota hai ya kisi karya prakriya ke liye hota hai ya hum koi bhi cheez apne divyata ko jalane ke liye ityadi bahut saari cheezen hain jisme koi na koi ek bhavna ke anurup hum meditation ki line mein chalte hain lekin jaha tak aarambh karne ki baat hai toh sabse pehle shuddhikaran hota hai arthat sanshodhan kiya jata hai ki jo agar meditation platform mein hum baithe rahe hain toh usme aasan mantra hota hai ityadi kai chijon ki salary milti hai phir bhi main toh aapko jo sarvapratham ta hai vo yahi hai ki pehle aap sodhan ke liye chintan kare arthat parishad ki bhavna rakhen ki main dimag ke andar jo sankalp vikalp ki cheezen aati hain vaah alag honi chahiye uske baad un sankalp ko lana chahiye jisko hum aadharit karna chah rahe hain tumhe jab khudai hoti hai toh uske baad jo nirdesh mein chalne ki gatividhiyan arthat jo group hai yani paramparagat par us siddhant ke maahir siddh ho usi mein shashvat uski upalabdhi ki gayi hai toh aisi parampara tak ko bhi apne aagya group check karke jaan kara jata hai aur sampurna jo dhara par aaya neki chetan avachetan man ke madhya ke beech mein jo hamare starikaran yogdan hai us tatva mein ganapati ka dhyan karte hain yah bhi ek doosra logic hai jiske andar mila nahi padta hai toh phir uske baad jo hamara lakshya hai hamare is sambandhit tatva mein nirupit kiya jata hai ki taki vaah wahi ladka hota hai toh wahi hamari jo meditation ke bhavnao mein is kaam sakshatkar karna chahte hain wahi cheez uplabdh karati hai desh mein bhedbhav na mein chalta hai aur meditation karne mein saanso ka dhyan kiya jata hai har kaise jaane dimag ke andar mahua varan banai jata hai ki usme dusri vishay vastu bhaavnaye utpann hi na ho jis ek vishay ke liye hum target karte hain usi mein ekadh hota hai toh aisa roop lakshan mandal ka vyavhar gathit kiya jata hai aur vaah jo vichar bhi usi ke antargat jo beta gir jaati hai jo meditation ka parikshan hota hai toh yahi sadhna ke marg mein prayog hota hai lekin shuruat mein hum aakansha aur apni jigyasa lasa bus usko evam kriyatmak anubhavon se mehsus karte hain ki kuch cheez hua hai lekin aur gehrai mein jaenge toh yah sab cheez apne se utpann shuru mein aati hai jab vastavikta shabd gyaan ke upar hum ati sukh intihan vyavasthit hote hain toh har cheez apne aap se dalon ko apne andar se hi ho rahi hai be jagriti aa jaati hai aur dusri baat yah hai ki teen bindu ka dhyan karna chahiye avashya ek jeevan kundali doosra param tatva shiv toh shiv hamein hai jo itna hamein gyaan hai ya hum kisi kriya ka bodh mein hum pakola karke swayam ko jana ja raha hai aur shaam ke beti ka pata hai lekin dusri kundali shakti hai jiski wajah se hamara Maintenance bana rehta hai ki jo hamko bhi propose karane ki jo sakti hai kundali sakti hai aur jo meditation ke jo kendra chakra hai unka vyavhar mandal niyojit kiya jata hai jo divya parikalpana use paripath hota hai aur usme vinyas hota hai ki yah gun sama kab jagran hoga toh is gyaan se hum karte hue usme milaate yukti ke andar toh samahit hone mein samaj ekta jata hai tab uski divya anubhuti ka hamare andar smaran hone lag jata hai aur hum hote hain dhanyavad main jp hogi aapke priya mein

विपश्यना रहा है कि मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं कैसे शुरू करूंगा विद्यार्थी परेशान आ रहा है

Romanized Version
Likes  183  Dislikes    views  2264
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा क्या करें कि मेडिटेशन करना चाहिए मेडिटेशन करना है तो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा है मेडिटेशन करें आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा या किसी योग्य मेरी जैसी किया को समझने मेडिटेशन के लिए हमें आप आप अपने दोनों पैर को पार्टी बनाकर मौत बैठे हैं अपना ध्यान कनेक्ट कर दो और कुछ समय तक उस अवस्था में बैठे हैं आपके मन को खुशी मिलेगी पसंद आनी है हजारों जब याद करने से आपको मेडिटेशन कितनी अच्छी हो जाएगी और आपका स्वास्थ्य अच्छा नहीं लगेगा और जान दिक्कत आ रही हो तो किसी अच्छे एक्सपर्ट से मेडिटेशन की जीएसटी के लिए समझने और उसे पढ़ते हैं हम इसे जीवन का अभिन्न अंग बना यह सभी जगह काम देगा आपको जिंदगी में भी परिस्थिति में भी यह आपको सहायता करते हैं

aisa kya kare ki meditation karna chahiye meditation karna hai toh swasthya ke liye bahut hi accha hai meditation kare aapka swasthya accha rahega ya kisi yogya meri jaisi kiya ko samjhne meditation ke liye hamein aap aap apne dono pair ko party banakar maut baithe hain apna dhyan connect kar do aur kuch samay tak us avastha mein baithe hain aapke man ko khushi milegi pasand aani hai hazaro jab yaad karne se aapko meditation kitni achi ho jayegi aur aapka swasthya accha nahi lagega aur jaan dikkat aa rahi ho toh kisi acche expert se meditation ki gst ke liye samjhne aur use padhte hain hum ise jeevan ka abhinn ang bana yah sabhi jagah kaam dega aapko zindagi mein bhi paristithi mein bhi yah aapko sahayta karte hain

ऐसा क्या करें कि मेडिटेशन करना चाहिए मेडिटेशन करना है तो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा है

Romanized Version
Likes  192  Dislikes    views  697
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

4:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां कंप्रेशन है मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मेडिटेशन कैसे करें और इस का हमारे जीवन में क्या महत्व इलेक्शन इन इंपॉर्टेंट इंस्ट्रूमेंट एंड मेडिटेशन एंड कंसंट्रेशन पावर के माध्यम से मानसिक क्षमता और होने की क्षमता आपकी मानसिकता को और ताकत देता है और धारदार राधिका है आज के परिवेश में संसाधनों के अंधाधुंध दौड़ चल रही है राधे नाम ले से लगातार प्रयास करते ऐसे हेक्टिक लाइफ में हमारे पास समय ही नहीं होता यह अपने बारे में विचार करें कि वास्तव में यदि हम जा रहे हैं वह दिशा हमारे लिए मोदी है या नहीं है हमारे काम की है या नहीं हमारे मन में स्पेशल का है छोटी-छोटी बातों में हम टेंशन में आ जाते हैं मन तनाव व्यस्त हो जाता है और ध्यान मेडिटेशन मेंटल एबिलिटी के लिए विशेष दिन इंपॉर्टेंट इंस्ट्रूमेंट स्टेबलाइजर स्टेबलाइजर फॉर स्टेबिलिटी ऑफ माइंड एंड स्टेबिलिटी ऑफ व्हाट इज वेरी वेरी इंपॉर्टेंट 20 मीटर हाइट एंड अलाइव अगर आपको जीवन में ऊंची सफलता प्राप्त करना है उनकी सफलता प्राप्त करने के लिए आपके अंदर मेडिटेशन ध्यान करें की बत्ती प्रगति और आदत आपके अंदर होना चाहिए ध्यान करने का सबसे बढ़िया सरल तरीका है इस शरीर सूर्य का भाव सोने का और विचार सुनीता के उचित का नाम ध्यान है जिस पोजीशन में आप शारीरिक रूप से कंफर्टेबल रहे उस शरीर में उस शरीर को देखकर किसी विशेष शासन में जिसने आप आरामदायक महसूस करें आप बैठ जाएं अब जमीन पर बैठ जाएं दैनिक जमीन पर नहीं करीब 4 इंच का 5 इंच का अगर कोई पेड़ है या मेट्रो से उसमें बैठ जा गाड़ी में बैठते तो आप कंफर्टेबल पोजीशन में आप कांग्रेस में स्टेट में आप बिना बॉडी के मूवमेंट क्या बैठे रह सकते हो ऐसा पोस्टर चुन लीजिए पोस्ट करने के बाद कुछ प्राणायाम की गतिविधियां द डिफरेंट मैथर्ड सेंटर जॉब प्राणायाम कपालभाती और अनुलोम विलोम प्राणायाम है जो शादी की मानसिक रूप से आपको पूरी तरह से स्वस्थ कर देंगे और जिससे आप मेडिटेशन के लिए बैठे तो आप ही भूल जाए कि आपकी पोस्ट भीम क्या है आप की वास्तविकता क्या है आपके जिले में चुनाव किया क्या है इस सब को भूल जाना है माइंड को रिलैक्स और खाली रखना है और माइंड कभी खाली होता है जब वह विचारों से खाली हो माइंड डिवाइडर हॉटस्पॉट स्टैटिक एंड स्टेबल माइंड जिसमें विचारों की आवृत्ति हमारे मस्तिष्क में कम रहती है तो हम कह सकते हैं कि हमारा माइंड स्टेबल है और ध्यान की अवस्था में जा रहे हैं और धीरे-धीरे हम हम भी प्राणायाम प्रणव प्राणायाम करना करते हुए हम आंख बंद करके अपना फोकस अपने आज्ञा चक्र दोनों भौहों के बीच में रख के शुरू से आती जाती सांसों को हम उसको अनुभव करने की कोशिश करें और इस बीच में जहां भी विचार मंच इसको जाने दीजिए उसको जबरदस्ती रोकने का प्रयास मत करिए उसको देने का प्रयास मत करें जमा करेंगे तो धीरे-धीरे आपका माइंड होगा और एक मॉल की स्थिति में जिसमें आप दिल बिछा के स्थिति आपको धीरे-धीरे महसूस करनी है और निर्विचार होने की निर्विकल्प समाधि है थैंक यू

haan compression hai main meditation karna chahta hoon kya aap mujhe bata sakte hain ki meditation kaise kare aur is ka hamare jeevan me kya mahatva election in important instrument and meditation and kansantreshan power ke madhyam se mansik kshamta aur hone ki kshamta aapki mansikta ko aur takat deta hai aur dhardar radhika hai aaj ke parivesh me sansadhano ke andhadhundh daudh chal rahi hai radhe naam le se lagatar prayas karte aise hectic life me hamare paas samay hi nahi hota yah apne bare me vichar kare ki vaastav me yadi hum ja rahe hain vaah disha hamare liye modi hai ya nahi hai hamare kaam ki hai ya nahi hamare man me special ka hai choti choti baaton me hum tension me aa jaate hain man tanaav vyast ho jata hai aur dhyan meditation mental ability ke liye vishesh din important instrument Stabilizer Stabilizer for stability of mind and stability of what is very very important 20 meter height and alive agar aapko jeevan me unchi safalta prapt karna hai unki safalta prapt karne ke liye aapke andar meditation dhyan kare ki batti pragati aur aadat aapke andar hona chahiye dhyan karne ka sabse badhiya saral tarika hai is sharir surya ka bhav sone ka aur vichar sunita ke uchit ka naam dhyan hai jis position me aap sharirik roop se Comfortable rahe us sharir me us sharir ko dekhkar kisi vishesh shasan me jisne aap aaramadayak mehsus kare aap baith jayen ab jameen par baith jayen dainik jameen par nahi kareeb 4 inch ka 5 inch ka agar koi ped hai ya metro se usme baith ja gaadi me baithate toh aap Comfortable position me aap congress me state me aap bina body ke movement kya baithe reh sakte ho aisa poster chun lijiye post karne ke baad kuch pranayaam ki gatividhiyan the different maithard center job pranayaam kapalbhati aur anulom vilom pranayaam hai jo shaadi ki mansik roop se aapko puri tarah se swasth kar denge aur jisse aap meditation ke liye baithe toh aap hi bhool jaaye ki aapki post bhim kya hai aap ki vastavikta kya hai aapke jile me chunav kiya kya hai is sab ko bhool jana hai mind ko relax aur khaali rakhna hai aur mind kabhi khaali hota hai jab vaah vicharon se khaali ho mind divider hotspot Static and stable mind jisme vicharon ki aavritti hamare mastishk me kam rehti hai toh hum keh sakte hain ki hamara mind stable hai aur dhyan ki avastha me ja rahe hain aur dhire dhire hum hum bhi pranayaam pranav pranayaam karna karte hue hum aankh band karke apna focus apne aagya chakra dono bhauhon ke beech me rakh ke shuru se aati jaati shanson ko hum usko anubhav karne ki koshish kare aur is beech me jaha bhi vichar manch isko jaane dijiye usko jabardasti rokne ka prayas mat kariye usko dene ka prayas mat kare jama karenge toh dhire dhire aapka mind hoga aur ek mall ki sthiti me jisme aap dil bicha ke sthiti aapko dhire dhire mehsus karni hai aur nirvichar hone ki nirvikalp samadhi hai thank you

हां कंप्रेशन है मैं मेडिटेशन करना चाहता हूं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मेडिटेशन कैसे करे

Romanized Version
Likes  220  Dislikes    views  1820
WhatsApp_icon
user

Debabrata Maity

Business Owner | Motivational Speaker

8:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब मेडिटेशन करना चाहते हैं बहुत अच्छी बातें हैं अभी इन मेडिटेशन आप क्यों करेंगे मेडिटेशन से क्या फायदा मिलने वाला है जैसे मान लीजिए अभी कंप्यूटर चलाते हैं कंप्यूटर अपडेट कंप्यूटर में बहुत सारे फोल्डर ओपन में खुले हुए हैं पवन जी मोर है और कंप्यूटर को शटडाउन नहीं करते कंटीन्यूसली चलाते हैं तो उसका पावर कितना रहेगा और कितना दिन तक थी करेगा कितना लास्टिंग करेगा उसका काम करने की जो स्थिति है वह धीरे-धीरे डिग्री सो गए क्या इनक्रीस होगा अगर आप उसको षडंगी पूरी फोल्डर को बंद कर देंगे उस कर देंगे पूजा कर यह इसका जो पावन है वह पर्फेक्ट रहेगा नहीं तो अगर कंटीन्यूअसली चलाते रहेंगे तो उसके पावर 2 डाउन हो जाएगा सिंह मेडिटेशन ही होता है मेडिटेशन में हमारे बहुत सारे फोल्डर सोते रहते हैं धीरे-धीरे हौंडा ओपन हो जाते हैं दिन भर में और सभी फोल्डर इफाल्कन जिम करता है उसका एक पावर कंज्यूमर होता है तो बहुत पावर खींच लेता है तो बॉडी के माइंड पावर है ऑफिस लेट है 4:00 बजे देता है तो हम क्या कर सकते हैं वह फोल्डर को क्लोज कर सकते हैं सभी फोल्डर क्रॉस हो जाते हैं मतलब मेरा माइंड कुछ शट डाउन करना है इसको बोला जाता है अगर इस को शटडाउन करेंगे तो सिर्फ दूध नेक्स्ट जब स्टार्ट करेंगे हम तब जो फोल्डर हम चाहेंगे वह फोल्डर को स्टार्ट कर सकते हैं उसमें क्या है पूरी तरह से पावर सप्लाई मिलेगा तभी जैसे हमारे जो काम करेंगे करना चाहेंगे तो वह हंड्रेड परसेंट कंपनसेशन के साथ हम कर सकते हैं हमको बेनिफिट मिलेगा मेडिटेशन से क्या है मेडिटेशन क्या होता है हमको खुदकुशी कर लेना और एक बातों से आपको समझाना चाहूंगा तू ही रिलेशन क्या है हमको खुद को अपने अंदर सिकुड़ लेना है अगर मेरा हाथ बॉडी से ज्यादा दूर की डिस्टेंस में रहे और कुछ कुछ चीजें हमको उठाने कहेंगे तो हमको बहुत सारी दिक्कत का सामना करना पड़ेगा बहुत कष्ट होगा अगर उठा भी उठा पाएंगे और नहीं भी उठा सकते हैं उठा पा सकते हैं लेकिन अगर मेरा बॉडी के सामने में रहेगा बॉडी के पास पास रहेगा तो हम कोई भी चीजें उठाने में सक्षम होंगे जो चीज में दूर से उठा नहीं पाता था लेकिन वह बॉडी के सामने में हाथ रहने से उचित को हम उठा सकते हैं तो यही होता है मेडिटेशन का काम हमारा पावर को इनक्रीस कर देता है हमारा माइंड का पावर को इनक्रीस कर देता है हमारे कोई भी काम में कंसंट्रेशन को बढ़ा देता है ऐसी मेडिटेशन का काम है अभी मेडिटेशन कैसे करना चाहेंगे तो सबसे अच्छा तरीका है आप कैसे भी बैठ सकते हैं ऐसा नहीं है पहले पहले आप करना चाहेंगे तो भी आप कैसे भी बैठ सकते हैं लेकिन उसके पहले एक बार कॉल में आपको ज्यादा जल्दी से अगर मेडिटेशन के अंदर जा जाना हो तो आपको ही काम करना पड़ेगा आप कोई भी बुक पढ़ सकते हैं उसके पहले आपको जो लगे जो मन में आए ऐसी book4you मोटिवेशन के लिए बुक पढ़ सकते हैं या तो आपका कोई उपन्यास पढ़ सकते हैं या तो आपका कोई सब्जेक्ट जो अच्छा लगे बुक्स पढ़िए बुक पढ़ने से क्या होता है जब झूल सिर्फ पढ़ते हैं और उसमें क्या है आपका आपका माइंड का मतलब आप जो पढ़ रहे हैं तो आपका मुंह सब कुछ काम करते रहते हैं तू माइंड क्या है काउंसिल प्रिंट हो जाता है जब आप पढ़ते हैं तो माइंड काउंसिल फ्रेश हो जाता है एक जगह में आ जाता है तो अगर 10:15 मिनट या तो आधा घंटा एक घंटा पढ़ लेंगे उसके बाद करने जाएंगे तो मेरे ख्याल से बहुत जल्दी आपको फायदा मिलेगा सन में बैठेंगे तो आपको क्या करना है आप बगैर कंसंट्रेट नहीं कर पा रहे हैं तो आप हेडफोन लगा लीजिए कोई भी बहुत सारे यूट्यूब में ऐसे मेडिटेशन म्यूजिक है जो मेल लगा क्या कान में लगाकर सुन सकते हैं म्यूजिक को या तो आप यह कर सकते हैं सब म्यूजिक सुन सकते हैं या तो आपका पसंदीदा गाना हो सॉन्ग हो लगाकर सुन सकते हैं कि पहले से पहले फिर मैं आपको कंसंट्रेशन को थोड़ा सा वेट करना है उसके बाद हम एजुकेशन के गहराई तक जा पाएंगे इसको करने से आपको कह थोड़ी देर में माइंड कंसंट्रेशन हो जाएगा आप जैसे गाना सुन रही है तो कोई म्यूजिक सुन रहा है तो उसको म्यूजिक का साउंड को सुनिए कैसे बज रहा है कौन-कौन सी चीजें बाजरा और कहां तक बज रहा है आपका माइंड में कहां साउंड इफेक्ट हो रहा है यह सब को ज्यादा अच्छे से ऑब्जरवेशन कीजिएगा ना या तो पूरी अच्छी तरह से सुनें इसको करने से आपका कंसंट्रेशन पावर 2 है थोड़ी सी इनक्रीस हो जाएगी उसके बाद आपके के लिए फिर फोन कान में लगा हुआ रहने दीजिए म्यूजिक को स्टॉप कर दीजिए तो कोई भी सॉन्ग सुन पोस्ट ऑफ कर दीजिए उसको साफ करने के बाद आप आराम से बैठ जाइए आपको बैठने का टाइम आपका जॉब बैकबोन्स है उसको पूरी तरह से फिट रखना पड़ेगा सीधी रखने पर उसको सीधा सीधा रखना है गर्दन को भी सीधा रखना है किधर है आपका आंख को बंद कर लेना है क्यों क्या आखिर क्यों देखता है तो हमारा माइंड चूहे ऑटो सेंसर कंप्यूटर है अगर हमसे कुछ चीजें देख रहे हैं तो उस चेंज करके हमारा फोल्डर को ओपन करेंगे मान लीजिए आप रसगुल्ला को देख रहे हैं तो 7:30 आपका माइंड में उल्टा ठीक हो जाएगा और तो सिर्फ कंप्यूटर ऑटोमेटिक हो जाएगा जो अब रसगुल्ला कम खाए थे कैसे टेस्ट लगा था उस टाइम कौन सा पार्टी चल रहा था कौन सा मोबाइल में आए थे यह सब चीजें आपको फोल्डर भेजें ओपन होते जाएगा आपको दूसरी तरफ खींच कर ले कर जाएगा इसीलिए आंख बंद करके रखना बहुत जरूरी है आप आंख बंद करके आराम से बैठ जा बैठ जाने के बाद आप एक काम कीजिए आपका माइंड में जो हॉट चल रहा है 2 पॉइंट बताऊंगा जो थॉट पर है जो आप सोच रहे हैं तो आप खुद देखिए जो आप क्या सोचते हैं अब पूजन के लिए मैं क्या सोच रहा हूं इस टाइम है अब जब कैलकुलेट कर रहे हैं तब आप कुछ सोच ही नहीं पाएंगे एक बताएं ऐसे करते थे कंटिन्यूटी बैठे रहिए आराम से फ्री होकर बैठी रही आंख बंद करके और कुछ अगर कि नहीं कर पाते हैं तो आप भी काम कर सकते हैं अब जब सांस के लिए रहे हैं सो रहे हैं इसका जो साउन इन सुनने का कोशिश कीजिए कितना दूर तक जाना है शरीर की कितना अंदर तक जा रहे हैं आपको पता चल रहा है इसको ऊपर जॉनसन सेंड कीजिए तो आप 5 मिनट 10 मिनट 15 मिनट पहले पहले तो बैठने में दिक्कत होगा आपका बैकबोन साहब को सपोर्ट नहीं करेगा आपको बोलेगा कंफर्टेबल पोजीशन में आ जाओ थोड़ा सा रुक जाओ लेकिन आप कुछ नहीं है प्रॉब्लम आपको ही रहना है थोड़ा सा तकलीफ जरूर होगा आपको लगेगा जो नहीं मेरे को जोक जाना है कंप्यूटर प्रीपोजीशन पर बैठना है कंपटीशन मत लीजिए इसको कुछ देर तक करेंगे 10 मिनट 15 मिनट ऐसे करते जाएंगे जाएगा ताकि खिलते रहेंगे तो ऐसे ही टाइम आयेगा हवेलियों तकलीफ जो है जो कष्ट लग रहा था आप को झुकने का झुकने के लिए मजबूर कर रहा था वह एहसास नहीं जाएगा आपको तब कंफर्टेबल चीज होने एक जैसे चमत्कार सी हो गई है ऐसे लगने लगेगा मेरी बात को अब मिला लीजिए अगर मेडिटेशन करना है तो ऐसे आप साइलेंट मोड में बैठे रहिए पहली-पहली 5 मिनट 10 मिनट जैसे आपको अच्छा लगे उतना बैटरी को बढ़ा दे दीजिए बड़े उसके बाद आपको देखने को मिलेगा बहुत सारे चेंजर साथ में आने लगेंगे आपको बहुत सारी चीजें दे सकता है बहुत सारे जेएसजिप करवा सकता है वह अब मेडिसिन मेडिटेशन करने के बाद ही आपको पता चलेगा

ab meditation karna chahte hain bahut achi batein hain abhi in meditation aap kyon karenge meditation se kya fayda milne vala hai jaise maan lijiye abhi computer chalte hain computer update computer me bahut saare folder open me khule hue hain pawan ji mor hai aur computer ko shutdown nahi karte kantinyusali chalte hain toh uska power kitna rahega aur kitna din tak thi karega kitna lasting karega uska kaam karne ki jo sthiti hai vaah dhire dhire degree so gaye kya increase hoga agar aap usko shadangi puri folder ko band kar denge us kar denge puja kar yah iska jo paavan hai vaah perfect rahega nahi toh agar kantinyuasali chalte rahenge toh uske power 2 down ho jaega Singh meditation hi hota hai meditation me hamare bahut saare folder sote rehte hain dhire dhire honda open ho jaate hain din bhar me aur sabhi folder ifalkan gym karta hai uska ek power consumer hota hai toh bahut power khinch leta hai toh body ke mind power hai office late hai 4 00 baje deta hai toh hum kya kar sakte hain vaah folder ko close kar sakte hain sabhi folder cross ho jaate hain matlab mera mind kuch Shut down karna hai isko bola jata hai agar is ko shutdown karenge toh sirf doodh next jab start karenge hum tab jo folder hum chahenge vaah folder ko start kar sakte hain usme kya hai puri tarah se power supply milega tabhi jaise hamare jo kaam karenge karna chahenge toh vaah hundred percent kampanaseshan ke saath hum kar sakte hain hamko benefit milega meditation se kya hai meditation kya hota hai hamko khudkhushi kar lena aur ek baaton se aapko samajhana chahunga tu hi relation kya hai hamko khud ko apne andar sikud lena hai agar mera hath body se zyada dur ki distance me rahe aur kuch kuch cheezen hamko uthane kahenge toh hamko bahut saari dikkat ka samana karna padega bahut kasht hoga agar utha bhi utha payenge aur nahi bhi utha sakte hain utha paa sakte hain lekin agar mera body ke saamne me rahega body ke paas paas rahega toh hum koi bhi cheezen uthane me saksham honge jo cheez me dur se utha nahi pata tha lekin vaah body ke saamne me hath rehne se uchit ko hum utha sakte hain toh yahi hota hai meditation ka kaam hamara power ko increase kar deta hai hamara mind ka power ko increase kar deta hai hamare koi bhi kaam me kansantreshan ko badha deta hai aisi meditation ka kaam hai abhi meditation kaise karna chahenge toh sabse accha tarika hai aap kaise bhi baith sakte hain aisa nahi hai pehle pehle aap karna chahenge toh bhi aap kaise bhi baith sakte hain lekin uske pehle ek baar call me aapko zyada jaldi se agar meditation ke andar ja jana ho toh aapko hi kaam karna padega aap koi bhi book padh sakte hain uske pehle aapko jo lage jo man me aaye aisi book4you motivation ke liye book padh sakte hain ya toh aapka koi upanyas padh sakte hain ya toh aapka koi subject jo accha lage books padhiye book padhne se kya hota hai jab jhul sirf padhte hain aur usme kya hai aapka aapka mind ka matlab aap jo padh rahe hain toh aapka mooh sab kuch kaam karte rehte hain tu mind kya hai council print ho jata hai jab aap padhte hain toh mind council fresh ho jata hai ek jagah me aa jata hai toh agar 10 15 minute ya toh aadha ghanta ek ghanta padh lenge uske baad karne jaenge toh mere khayal se bahut jaldi aapko fayda milega san me baitheange toh aapko kya karna hai aap bagair concentrate nahi kar paa rahe hain toh aap headphone laga lijiye koi bhi bahut saare youtube me aise meditation music hai jo male laga kya kaan me lagakar sun sakte hain music ko ya toh aap yah kar sakte hain sab music sun sakte hain ya toh aapka pasandida gaana ho song ho lagakar sun sakte hain ki pehle se pehle phir main aapko kansantreshan ko thoda sa wait karna hai uske baad hum education ke gehrai tak ja payenge isko karne se aapko keh thodi der me mind kansantreshan ho jaega aap jaise gaana sun rahi hai toh koi music sun raha hai toh usko music ka sound ko suniye kaise baj raha hai kaun kaun si cheezen bajra aur kaha tak baj raha hai aapka mind me kaha sound effect ho raha hai yah sab ko zyada acche se abjaraveshan kijiega na ya toh puri achi tarah se sunen isko karne se aapka kansantreshan power 2 hai thodi si increase ho jayegi uske baad aapke ke liye phir phone kaan me laga hua rehne dijiye music ko stop kar dijiye toh koi bhi song sun post of kar dijiye usko saaf karne ke baad aap aaram se baith jaiye aapko baithne ka time aapka job baikbons hai usko puri tarah se fit rakhna padega seedhi rakhne par usko seedha seedha rakhna hai gardan ko bhi seedha rakhna hai kidhar hai aapka aankh ko band kar lena hai kyon kya aakhir kyon dekhta hai toh hamara mind chuhe auto censor computer hai agar humse kuch cheezen dekh rahe hain toh us change karke hamara folder ko open karenge maan lijiye aap rasgulla ko dekh rahe hain toh 7 30 aapka mind me ulta theek ho jaega aur toh sirf computer Automatic ho jaega jo ab rasgulla kam khaye the kaise test laga tha us time kaun sa party chal raha tha kaun sa mobile me aaye the yah sab cheezen aapko folder bheje open hote jaega aapko dusri taraf khinch kar le kar jaega isliye aankh band karke rakhna bahut zaroori hai aap aankh band karke aaram se baith ja baith jaane ke baad aap ek kaam kijiye aapka mind me jo hot chal raha hai 2 point bataunga jo thought par hai jo aap soch rahe hain toh aap khud dekhiye jo aap kya sochte hain ab pujan ke liye main kya soch raha hoon is time hai ab jab calculate kar rahe hain tab aap kuch soch hi nahi payenge ek bataye aise karte the kantinyuti baithe rahiye aaram se free hokar baithi rahi aankh band karke aur kuch agar ki nahi kar paate hain toh aap bhi kaam kar sakte hain ab jab saans ke liye rahe hain so rahe hain iska jo saun in sunne ka koshish kijiye kitna dur tak jana hai sharir ki kitna andar tak ja rahe hain aapko pata chal raha hai isko upar johnson send kijiye toh aap 5 minute 10 minute 15 minute pehle pehle toh baithne me dikkat hoga aapka backbone saheb ko support nahi karega aapko bolega Comfortable position me aa jao thoda sa ruk jao lekin aap kuch nahi hai problem aapko hi rehna hai thoda sa takleef zaroor hoga aapko lagega jo nahi mere ko joke jana hai computer preposition par baithana hai competition mat lijiye isko kuch der tak karenge 10 minute 15 minute aise karte jaenge jaega taki khilate rahenge toh aise hi time ayega haveliyon takleef jo hai jo kasht lag raha tha aap ko jhukane ka jhukane ke liye majboor kar raha tha vaah ehsaas nahi jaega aapko tab Comfortable cheez hone ek jaise chamatkar si ho gayi hai aise lagne lagega meri baat ko ab mila lijiye agar meditation karna hai toh aise aap silent mode me baithe rahiye pehli pehli 5 minute 10 minute jaise aapko accha lage utana battery ko badha de dijiye bade uske baad aapko dekhne ko milega bahut saare Changer saath me aane lagenge aapko bahut saari cheezen de sakta hai bahut saare jeesajip karva sakta hai vaah ab medicine meditation karne ke baad hi aapko pata chalega

अब मेडिटेशन करना चाहते हैं बहुत अच्छी बातें हैं अभी इन मेडिटेशन आप क्यों करेंगे मेडिटेशन स

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  1091
WhatsApp_icon
user

santosh Kumar santosh

College Chairman

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छी बात है म्यूजिक टेशन करना बहुत जरूरी है लाइफ में और इंजेक्शन करना इसलिए जरूरी है क्योंकि हम जीवन को उनको लेकर के कभी नहीं सोचते और निर्देशन करने से बहुत सी आती है और हम सही रास्ते पर चल सकते हैं सही चीजों को चुन सकते हैं लाइफ में मेडिटेशन करना बहुत जरूरी

bahut achi baat hai music teshan karna bahut zaroori hai life me aur injection karna isliye zaroori hai kyonki hum jeevan ko unko lekar ke kabhi nahi sochte aur nirdeshan karne se bahut si aati hai aur hum sahi raste par chal sakte hain sahi chijon ko chun sakte hain life me meditation karna bahut zaroori

बहुत अच्छी बात है म्यूजिक टेशन करना बहुत जरूरी है लाइफ में और इंजेक्शन करना इसलिए जरूरी है

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
user

Dr.Sachin Pathak

Dietician And Reiki GrandMaster

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप यदि मेडिटेशन करने जाएंगे तो संभवतः आप मेडिटेशन कभी नहीं कर पाएंगे सबसे पहले आप अपने आपको सचेत अवस्था में रखने का प्रयत्न करिए सचेत अवस्था का मतलब यह होता है कि आपके आसपास होने वाली छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी प्रति जागरूक रहें जैसे कि आप चल रहे हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आप चल रहे हैं अब आप कहेंगे कि यह तो कैसे हो सकता है यह तो मुझे पता है आपको पता होना चल रहे हो और आपका स्वाभाविक से चलते रहना दोनों में बहुत फर्क होता है यदि आप अपने हर स्टेट के प्रति औलाद है तो आप सच था में है और यदि आपके पास नहीं है तो आप सचेत अवस्था में नहीं है स्वाभाविक प्रक्रिया है जो प्रेम आपके पैरों के माध्यम से कर रहा है यदि आपके पैरों के माध्यम से सारी एक्टिविटी कर रहा है तो एक्सीडेंट होने के चांसेस बढ़ जाते हैं यदि ब्रेन आपके पैरों के साथ तालमेल बिठाकर काम कर रहा है तो आप की दुर्घटना कभी नहीं हो सकती दुर्घटना तो छोड़िए आप कभी किसी पत्थर से टकरा कर डिसबैलेंस भी नहीं हो सकते और यही मेडिटेशन की सबसे पहली शुरुआत है यदि आप खा रहे हैं तो आप हर एक और का सचेत रहिए हर एक और के प्रति सचेत रहे कि हां अब मैंने यह कौन खाया है उसे बड़े चबा चबा कर खाए उसका स्वाद भी प्रकार का टेस्ट है हर एक प्रकार का स्वाद लीजिए जब पानी पी रहे हो तो आप जानिए कि आप पानी पी रहे बस खाने के बाद पानी पीने का रिवाज और आपने खाना खत्म किया पानी पर आपको पता ही नहीं चला कि आपने कब पानी पी लिया तो मेडिटेशन ऑटोमेटिक मेडिटेशन स्टेट में पहुंच जाएंगे आशा करता हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा मैं देखी ग्रैंड मास्टर सचिन पाठक

aap yadi meditation karne jaenge toh sanbhavatah aap meditation kabhi nahi kar payenge sabse pehle aap apne aapko sachet avastha me rakhne ka prayatn kariye sachet avastha ka matlab yah hota hai ki aapke aaspass hone wali choti se choti aur badi se badi prati jagruk rahein jaise ki aap chal rahe hain toh aapko pata hona chahiye ki aap chal rahe hain ab aap kahenge ki yah toh kaise ho sakta hai yah toh mujhe pata hai aapko pata hona chal rahe ho aur aapka swabhavik se chalte rehna dono me bahut fark hota hai yadi aap apne har state ke prati aulad hai toh aap sach tha me hai aur yadi aapke paas nahi hai toh aap sachet avastha me nahi hai swabhavik prakriya hai jo prem aapke pairon ke madhyam se kar raha hai yadi aapke pairon ke madhyam se saari activity kar raha hai toh accident hone ke chances badh jaate hain yadi brain aapke pairon ke saath talmel bithakar kaam kar raha hai toh aap ki durghatna kabhi nahi ho sakti durghatna toh chodiye aap kabhi kisi patthar se takara kar disbalance bhi nahi ho sakte aur yahi meditation ki sabse pehli shuruat hai yadi aap kha rahe hain toh aap har ek aur ka sachet rahiye har ek aur ke prati sachet rahe ki haan ab maine yah kaun khaya hai use bade chaba chaba kar khaye uska swaad bhi prakar ka test hai har ek prakar ka swaad lijiye jab paani p rahe ho toh aap janiye ki aap paani p rahe bus khane ke baad paani peene ka rivaaj aur aapne khana khatam kiya paani par aapko pata hi nahi chala ki aapne kab paani p liya toh meditation Automatic meditation state me pohch jaenge asha karta hoon aapko mera jawab pasand aaya hoga main dekhi grand master sachin pathak

आप यदि मेडिटेशन करने जाएंगे तो संभवतः आप मेडिटेशन कभी नहीं कर पाएंगे सबसे पहले आप अपने आप

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Abdullah Qureshi

Assistant Professor

1:00
Play

Likes  14  Dislikes    views  216
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपनी शारीरिक और मानसिक पावर बढ़ाने का सबसे आसान तरीका मेडिटेशन ही है आप मेडिटेशन की शुरुआत बड़ी आसानी से कह सकते हैं इसके लिए आप सुबह अपना सामान्य कार्य दैनिक कार्य करने के उपरांत 1 आसन पर बैठिए कमल सीधी रखिए और आंखें बंद अपने दोनों हाथ ज्ञान मुद्रा में अपने घुटनों पर रखिए ओम का उच्चारण करिए इस तरह ऐसा आप लगातार कहिए कम से कम 10 मिनट आप करें और अपना अभ्यास 1 घंटे तक ले जाएं धीरे-धीरे आपका अंतर्मन में विचार शून्यता की स्थिति आ जाएगी आपके मन में नकारात्मक विचार आने बंद हो आ जाएंगे आप सकारात्मकता की तरफ बढ़े में

apni sharirik aur mansik power badhane ka sabse aasaan tarika meditation hi hai aap meditation ki shuruat badi aasani se keh sakte hain iske liye aap subah apna samanya karya dainik karya karne ke uprant 1 aasan par baithiye kamal seedhi rakhiye aur aankhen band apne dono hath gyaan mudra me apne ghutno par rakhiye om ka ucharan kariye is tarah aisa aap lagatar kahiye kam se kam 10 minute aap kare aur apna abhyas 1 ghante tak le jayen dhire dhire aapka antarman me vichar shunyata ki sthiti aa jayegi aapke man me nakaratmak vichar aane band ho aa jaenge aap sakaraatmakata ki taraf badhe me

अपनी शारीरिक और मानसिक पावर बढ़ाने का सबसे आसान तरीका मेडिटेशन ही है आप मेडिटेशन की शुरुआत

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  180
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!