एक दुर्घटना के बाद से मैं मानसिक रूप से काफ़ी टूट गया था। अभी तक उभर नहीं पाया हूँ।मेरे मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?...


play
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सोच की बात है लेकिन जहां चली इसमें भी खुशी की बात है कि अब आप चुनाव में आप जो भी परेशानी आपको आएगी दिक्कत हुई थी अब उम्र हो गई है अब आप अपनी गाड़ी को दोबारा से चला सकते हैं यहां से तो हमें इसका संतोष होना चाहिए शुक्रगुजार होना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए लेकिन हर एक इंसान का अलग अलग अलग अलग को चलते हैं किसी को कभी कुछ मिलता है किसी को किसी रूप में कुछ और मिलता है राइट जरूरी नहीं है कि हर आदमी की लाइट एक जैसी ही चले एक ही समान समुद्र हमेशा अगर आज लाइफ में ब्रेक लग गया है तो कोई बात नहीं दोबारा से गाड़ी सेट करेंगे दोबारा चीज को रोड पर डालेंगे और दाढ़ी बढ़ाएंगे कोई फर्क नहीं पड़ता क्या होता है कि मैं बहुत अच्छे से जा रहा था तेरे से ज्यादा कंप्यूटर में जा रहा था अचानक से बहुत सॉलिड देख लग गया अब हुआ क्या मेरे साथ वाले आगे निकल गए हो जाती है मालिनी करा था वह करा था आज वो सब कुछ चला गया तो चला गया चला गया कि मुझे को कैसे डाउन ट्रैक लाने दो उसके लिए आप देखिए क्या जो चीज़ चली गई उसको दोबारा से हासिल कर सकते हैं कर सकते हैं तो शुरू कीजिए उसका कुछ भी नहीं हो सकता कुछ और करना पड़ेगा तो आप दूसरा रास्ता ढूंढिए और एक मुंह साफ करने के लिए सबसे पहले मेंटली आप अपने आप को प्रिपेयर कीजिए और हौसला बनाए बढ़ाइए कि आप मुझे यह शुरू करना है दोबारा से पहल करनी है और दोबारा से उसी जगह पर पहुंचे हैं जहां पर में पहले था क्या हुआ अगर बीच में एक ब्रेक लग गया तो पी ले कर आ गया और मुझे स्पीड स्लो करनी पड़े कोई बात को दोबारा से हासिल करने की कोशिश करूंगा संतोष के साथ आगे बढ़िए और आज नहीं तो कल आप कहीं ना कहीं तो पहुंचेंगे और गाड़ी आगे जाएगी जाएगी

yah soch ki baat hai lekin jaha chali isme bhi khushi ki baat hai ki ab aap chunav mein aap jo bhi pareshani aapko aayegi dikkat hui thi ab umr ho gayi hai ab aap apni gaadi ko dobara se chala sakte hain yahan se toh hamein iska santosh hona chahiye shukragujar hona chahiye aur aage badhana chahiye lekin har ek insaan ka alag alag alag alag ko chalte hain kisi ko kabhi kuch milta hai kisi ko kisi roop mein kuch aur milta hai right zaroori nahi hai ki har aadmi ki light ek jaisi hi chale ek hi saman samudra hamesha agar aaj life mein break lag gaya hai toh koi baat nahi dobara se gaadi set karenge dobara cheez ko road par daalenge aur dadhi badhaenge koi fark nahi padta kya hota hai ki main bahut acche se ja raha tha tere se zyada computer mein ja raha tha achanak se bahut solid dekh lag gaya ab hua kya mere saath waale aage nikal gaye ho jaati hai malini kara tha vaah kara tha aaj vo sab kuch chala gaya toh chala gaya chala gaya ki mujhe ko kaise down track lane do uske liye aap dekhiye kya jo cheez chali gayi usko dobara se hasil kar sakte hain kar sakte hain toh shuru kijiye uska kuch bhi nahi ho sakta kuch aur karna padega toh aap doosra rasta dhundhiye aur ek mooh saaf karne ke liye sabse pehle mentally aap apne aap ko prepare kijiye aur hausla banaye badhaiye ki aap mujhe yah shuru karna hai dobara se pahal karni hai aur dobara se usi jagah par pahuche hain jaha par mein pehle tha kya hua agar beech mein ek break lag gaya toh p le kar aa gaya aur mujhe speed slow karni pade koi baat ko dobara se hasil karne ki koshish karunga santosh ke saath aage badhiye aur aaj nahi toh kal aap kahin na kahin toh pahunchenge aur gaadi aage jayegi jayegi

यह सोच की बात है लेकिन जहां चली इसमें भी खुशी की बात है कि अब आप चुनाव में आप जो भी परेशान

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  321
WhatsApp_icon
18 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Asha Kundu

Clinical Psychologist

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह एक तरह से हम बोल सकते हैं कि पीटीएस इन post-traumatic स्ट्रेस डिसऑर्डर हो सकता है आपको तो सबसे बड़ी बात है कि और दुर्घटना क्या है क्या हुआ है किस वजह से आप इतना परेशान हैं मानसिक रूप से भी परेशान हो गए हैं तो सबसे पहले बात यह है कि मैं आपको सजेशन देना चाहूंगी आप किसी मनोवैज्ञानिक से बात करें और आपको काउंसलिंग की जरूरत है उसके बाद यह बता सकते हैं कि आप क्या आपको ट्रीटमेंट की जरूरत है या नहीं है यह सिम की जरूरत है जिसे आप अपने मानसिक स्वास्थ्य है उसको सुधार सकते हैं

dekhiye yah ek tarah se hum bol sakte hain ki PTS in post traumatic stress disorder ho sakta hai aapko toh sabse badi baat hai ki aur durghatna kya hai kya hua hai kis wajah se aap itna pareshan hain mansik roop se bhi pareshan ho gaye hain toh sabse pehle baat yah hai ki main aapko suggestion dena chahungi aap kisi manovaigyanik se baat kare aur aapko kaunsaling ki zarurat hai uske baad yah bata sakte hain ki aap kya aapko treatment ki zarurat hai ya nahi hai yah sim ki zarurat hai jise aap apne mansik swasthya hai usko sudhaar sakte hain

देखिए यह एक तरह से हम बोल सकते हैं कि पीटीएस इन post-traumatic स्ट्रेस डिसऑर्डर हो सकता है

Romanized Version
Likes  141  Dislikes    views  2665
WhatsApp_icon
user

Kavita Sharma

Clinical Hypnotherapist, Counselling Psychologist

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर इंसान का जीवन हमेशा मौत नहीं रहता है कोई ना कोई ऐसी सिचुएशन आती है जो हमें तोड़ने की कोशिश करती है हमें कमजोर बना देती है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम हार मान जाए हार मान जाते हैं ना तो हमारी लाइफ और सफल हो जाती है और ज्यादा अपने आप को सोचने लग जाते हैं अपने आप पर ट्रस्ट करना छोड़ देते हैं कुछ भी अच्छा करना छोड़ देते हैं अब आपको यह फ़िक्र आउट करना पड़ेगा कि क्या आप चीन चाहते हो अपनी लाइफ में और अगर आप चेंज चाहते हो आपको अपनी लाइफ में चेंज खुद लाने पड़ेंगे ऐसी चीजें खोजो ऐसी चीजें करना थोड़ा थोड़ा करके शुरु करो जहां आपको खुशी मिलती है मैं यह नहीं कह रही कि एक बार से अब वापस से अपनी नार्मल लाइफ में वापस सिंह के जम कर के आ जाओ और यह सब पॉसिबल भी नहीं है लेकिन स्टेप बाय स्टेप आपको कोशिश करनी पड़ेगी कोशिश करो कि ऐसा क्या है जो मुझे अच्छा लगता है जो मैं करूं तो मुझे बैटर फील हूं फैमिली के साथ टाइम स्पेंड करो अपनी फ्रेंड के साथ यह मान लो अगर आपको म्यूजिक पसंद है आपको डांस पसंद है आपको सॉन्ग पसंद है कुछ भी सुनो किसी भी चीज में इंगेज रहो एक बुक पसंद है तो बुक्स पढ़ो ऐसी चीज करो कंस्ट्रक्टिवली आपके माइंड को आपको पॉजिटिविटी दें क्योंकि लाइफ में हमेशा हर इंसान के अंदर टेंशन होता है अपनी प्रॉब्लम से बाहर आने का खोज कोशिश करने की देरी होती है कि हम कैसे वापस से कोशिश करें और कैसे उसे स्टेशन से बाहर है अभी आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप क्या करोगे जिससे आप उस स्टेशन से बाहर आ सकते हो इन वेरी शॉर्ट अगर आप कोशिश करोगे तो अब जरूर बाहर आ सकते हो अगर आपको वापस से कोई डाउट हो तो आप जो पूछ सकते हो थैंक यू

har insaan ka jeevan hamesha maut nahi rehta hai koi na koi aisi situation aati hai jo hamein todne ki koshish karti hai hamein kamjor bana deti hai lekin iska matlab yah nahi hai ki hum haar maan jaaye haar maan jaate hain na toh hamari life aur safal ho jaati hai aur zyada apne aap ko sochne lag jaate hain apne aap par trust karna chod dete hain kuch bhi accha karna chod dete hain ab aapko yah fikra out karna padega ki kya aap china chahte ho apni life mein aur agar aap change chahte ho aapko apni life mein change khud lane padenge aisi cheezen khojo aisi cheezen karna thoda thoda karke shuru karo jaha aapko khushi milti hai yah nahi keh rahi ki ek baar se ab wapas se apni normal life mein wapas Singh ke jam kar ke aa jao aur yah sab possible bhi nahi hai lekin step bye step aapko koshish karni padegi koshish karo ki aisa kya hai jo mujhe accha lagta hai jo main karu toh mujhe better feel hoon family ke saath time spend karo apni friend ke saath yah maan lo agar aapko music pasand hai aapko dance pasand hai aapko song pasand hai kuch bhi suno kisi bhi cheez mein engage raho ek book pasand hai toh books padho aisi cheez karo kanstraktivali aapke mind ko aapko positivity de kyonki life mein hamesha har insaan ke andar tension hota hai apni problem se bahar aane ka khoj koshish karne ki deri hoti hai ki hum kaise wapas se koshish kare aur kaise use station se bahar hai abhi aapke upar depend karta hai ki aap kya karoge jisse aap us station se bahar aa sakte ho in very short agar aap koshish karoge toh ab zaroor bahar aa sakte ho agar aapko wapas se koi doubt ho toh aap jo puch sakte ho thank you

हर इंसान का जीवन हमेशा मौत नहीं रहता है कोई ना कोई ऐसी सिचुएशन आती है जो हमें तोड़ने की को

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  362
WhatsApp_icon
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे जीवन में भी दो-तीन ऐसी दुर्घटनाएं हुई है जिन्होंने मुझे बिल्कुल मानसिक रूप से तोड़ दिया था और उस समय में जिस बात ने मुझे सबसे ज्यादा सपोर्ट किया वही बात ने आपके साथ शेयर करना चाहती हूं और वह बात यह है जब मैंने ऐसा सोचा कि चाहे कुछ भी हो जाए कितने ही बड़ा सा बड़ा नुकसान ना हो गया वह हमारा तो घटना में चाहे वह किसी इंसान का हो चाहे पैसों का हो जाए हमारे किसी शारीरिक पाठ का हो जो भी हो जीना तो हमें फिर भी है ही मौत हमारे बस में नहीं है ऐसा मैं मानती हूं करने वाले लोग सुसाइड भी करते हैं पर मुझे नहीं पता वह कैसा एक्सपीरियंस होता है तुम्हें यह सोचती हूं जब जीना है तो अब यह हमारी चॉइस है कि हम एक दुर्घटना या एक नुकसान को लेकर बैठे रहे और उसी का शोक मनाते रहे कब तक मनाएंगे अपने आप से ही आप यह सवाल करो कि मैं कब तक इस बात का शोक मना लूंगा जो भी मेरा साथ जीना तो मुझे है सांसे तो मेरी चल रही है खाना मुझे खाना ही है तू जब मुझे जीना है तो आप मुझे चूस करना है कि मैं अब सोच करके रोता रहूं अपने आसपास के लोगों जो भी मुझसे परेशान हो जाए इस तरीके से भेजूं या फिर से उन लोगों के लिए एक शब्द भी इस तरीके से जो कि जो मुझे देखे उनको भी आश्चर्य हो कि वाह यह इंसान की तकलीफों को छीलकर कि आज मुस्कुरा रहा है तो उसे दूसरों को भी मोटिवेशन मिलेगा तो जब मैंने इस तरीके से सोचा तो मुझे फिर से शक्ति मिली या फिर से मैं उठकर अपने काम को करता है अगर आपको यह बात मदद कर सके

mere jeevan mein bhi do teen aisi durghatanaen hui hai jinhone mujhe bilkul mansik roop se tod diya tha aur us samay mein jis baat ne mujhe sabse zyada support kiya wahi baat ne aapke saath share karna chahti hoon aur vaah baat yah hai jab maine aisa socha ki chahen kuch bhi ho jaaye kitne hi bada sa bada nuksan na ho gaya vaah hamara toh ghatna mein chahen vaah kisi insaan ka ho chahen paison ka ho jaaye hamare kisi sharirik path ka ho jo bhi ho jeena toh hamein phir bhi hai hi maut hamare bus mein nahi hai aisa main maanati hoon karne waale log suicide bhi karte hain par mujhe nahi pata vaah kaisa experience hota hai tumhe yah sochti hoon jab jeena hai toh ab yah hamari choice hai ki hum ek durghatna ya ek nuksan ko lekar baithe rahe aur usi ka shok manate rahe kab tak manayenge apne aap se hi aap yah sawaal karo ki main kab tak is baat ka shok mana lunga jo bhi mera saath jeena toh mujhe hai sanse toh meri chal rahi hai khana mujhe khana hi hai tu jab mujhe jeena hai toh aap mujhe chus karna hai ki main ab soch karke rota rahun apne aaspass ke logo jo bhi mujhse pareshan ho jaaye is tarike se bheju ya phir se un logo ke liye ek shabd bhi is tarike se jo ki jo mujhe dekhe unko bhi aashcharya ho ki wah yah insaan ki takaleephon ko chilakar ki aaj muskura raha hai toh use dusro ko bhi motivation milega toh jab maine is tarike se socha toh mujhe phir se shakti mili ya phir se main uthakar apne kaam ko karta hai agar aapko yah baat madad kar sake

मेरे जीवन में भी दो-तीन ऐसी दुर्घटनाएं हुई है जिन्होंने मुझे बिल्कुल मानसिक रूप से तोड़ दि

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  676
WhatsApp_icon
user

Dr ARVIND BARAD

Psychiatrist

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साइकैटरिस्ट इन कोटा सिटी को इंप्रूव करें नंबर 1 न्यूजीलैंड की को डेवलप करें हाउ टू हाउ टू को पिक एडवर्सिटी नंबर 3 पर एप्लीकेशन डेवलपर नंबर 4 अच्छा साइकिल रेगुलेटर उनका खान पान में वह व्यक्ति प्राइम योगा मेडिटेशन करते रहें योग एक्सरसाइज करने के प्रति उत्तम भूख और उसका बिहेवियर कंट्रोल चलता है फीलिंग आती है घूमने का प्लान बना को को बढ़िया चुटकुले होते टो डिवेलप कुकिंग कैपेसिटी गुड शॉपिंग कैपेसिटी फॉर सीटिंग कैपेसिटी नंबर सेकंड एजेंसी नंबर एप्लीकेशन नंबर पोर्ट इन योगा एंड मेडिटेशन

saikaitrist in quota city ko improve kare number 1 new zealand ki ko develop kare how to how to ko pic edavarsiti number 3 par application Developer number 4 accha cycle regulator unka khan pan mein vaah vyakti prime yoga meditation karte rahein yog exercise karne ke prati uttam bhukh aur uska behaviour control chalta hai feeling aati hai ghoomne ka plan bana ko ko badhiya chutkule hote toe develop coocking capacity good shopping capacity for Seating capacity number second agency number application number port in yoga and meditation

साइकैटरिस्ट इन कोटा सिटी को इंप्रूव करें नंबर 1 न्यूजीलैंड की को डेवलप करें हाउ टू हाउ टू

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  472
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

2:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे जैसा आपका प्रश्न है कि एक दुर्घटना के बाद से आप मानसिक रूप से काफी टूट गए हैं और अभी तक उबर नहीं पाए हैं मेरे मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने के लिए सबसे अच्छा तरीका क्या है आप जाना चाहते हैं कि किस तरह से आप मानसिक रूप से मजबूत हो पाए तो सबसे बड़ी चीज कि आपका जो खराब नहीं था जो एक दुर्घटना आपके साथ हुई है उस दुर्घटना वह खत्म हो चुकी है और अब आप उसे रिकवर कर चुके हैं आपको सिर्फ मेंटली उसे रिकवर होने की जरूरत है तो मेंटली रिकवर होने के लिए सबसे पहले आप मान के चली कि 50 क्वेश्चन तो रिकवर हो ही गए क्योंकि आपने उस दिशा में सोचना शुरू कर दिया है लेकिन जब तक आप खुद पहला कदम नहीं बढ़ाते तब तक कोई भी आपको आपकी मंजिल तक नहीं पहुंचा सकता यहां पर हम आपको कितनी भी एडवाइज कर दें कितने भी गार्डन दे दे जब तक आप खुद से तैयार नहीं होंगे तब तक आ गए आप नहीं बढ़ पाएंगे यहां सबसे अची चीजे क्या खुद से तैयार है आगे बढ़ने के लिए पोस्ट ईवीटी के लिए अब आपको क्या करना है पुरानी बातों को भूल जाना है इस बात से बिल्कुल हरि आई है कि जो हुआ उसमें उसकी वजह से क्या-क्या इंपैक्ट आया कहां क्या प्रॉब्लम आई आपके कैरियर पर क्या उसका असर आया उन सब बातों को एक तरह दरकिनार करके अब आप अपने फ्यूचर के बारे में सोचिए कि आप अपने फ्यूचर को किस तरह से इंप्रूव कर सकते हैं प्रोवाइड कर सकते हैं और बैटल कर सकते हैं जो टाइम चला गया वह लौट के नहीं आने वाला लेकिन जो टाइम आने वाला है हम उसको खूबसूरत बना सकते हैं इस पोस्ट ईवीटी के साथ इस सोच के साथ अगर आप आगे बढ़ेंगे तो ही आप सफल होती हो पाएंगे और मानसिक रूप से और मजबूत भी हो पाएंगे और एक चीज जरूर मैं कहना चाहूंगा आप ने कहा कि यह दुर्घटना के बाद से आप कुछ मानसिक रूप से आप काफी टूट गए हैं अब आप एक चीज और ध्यान अगर अपने पेनलाइज करें तो आप मानसिक रूप से बल की और मजबूत हो गए हैं कभी फ्यूचर में अगर उस तरह की सिचुएशन में अगर आप दोबारा आते हैं तो आपको पता है किस तरह से उससे उबरना है कैसे आपको आगे बढ़ना है तो जो भी यह समस्याएं होती हैं वह एक एक्सपीरियंस की तरह आती है कई बार sbl100 अच्छे होते हैं लाइफ में नहीं पूरे होते हैं हमें भूत एक्सपीरियंस से भी लाइफ में सीखना चाहिए और उसको अनुभव के उसमें लिस्ट में ऐड करके आगे बढ़ते रहना चाहिए मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

dekhe jaisa aapka prashna hai ki ek durghatna ke baad se aap mansik roop se kaafi toot gaye hain aur abhi tak ubar nahi paye hain mere mansik swasthya ko sudhaarne ke liye sabse accha tarika kya hai aap jana chahte hain ki kis tarah se aap mansik roop se majboot ho paye toh sabse badi cheez ki aapka jo kharab nahi tha jo ek durghatna aapke saath hui hai us durghatna vaah khatam ho chuki hai aur ab aap use recover kar chuke hain aapko sirf mentally use recover hone ki zarurat hai toh mentally recover hone ke liye sabse pehle aap maan ke chali ki 50 question toh recover ho hi gaye kyonki aapne us disha mein sochna shuru kar diya hai lekin jab tak aap khud pehla kadam nahi badhate tab tak koi bhi aapko aapki manjil tak nahi pohcha sakta yahan par hum aapko kitni bhi edavaij kar de kitne bhi garden de de jab tak aap khud se taiyar nahi honge tab tak aa gaye aap nahi badh payenge yahan sabse Achi chije kya khud se taiyar hai aage badhne ke liye post EVT ke liye ab aapko kya karna hai purani baaton ko bhool jana hai is baat se bilkul hari I hai ki jo hua usme uski wajah se kya kya impact aaya kahaan kya problem I aapke carrier par kya uska asar aaya un sab baaton ko ek tarah darakinar karke ab aap apne future ke bare mein sochiye ki aap apne future ko kis tarah se improve kar sakte hain provide kar sakte hain aur battle kar sakte hain jo time chala gaya vaah lot ke nahi aane vala lekin jo time aane vala hai hum usko khoobsurat bana sakte hain is post EVT ke saath is soch ke saath agar aap aage badhenge toh hi aap safal hoti ho payenge aur mansik roop se aur majboot bhi ho payenge aur ek cheez zaroor main kehna chahunga aap ne kaha ki yah durghatna ke baad se aap kuch mansik roop se aap kaafi toot gaye hain ab aap ek cheez aur dhyan agar apne penalize kare toh aap mansik roop se bal ki aur majboot ho gaye hain kabhi future mein agar us tarah ki situation mein agar aap dobara aate hain toh aapko pata hai kis tarah se usse ubarana hai kaise aapko aage badhana hai toh jo bhi yah samasyaen hoti hain vaah ek experience ki tarah aati hai kai baar sbl100 acche hote hain life mein nahi poore hote hain hamein bhoot experience se bhi life mein sikhna chahiye aur usko anubhav ke usme list mein aid karke aage badhte rehna chahiye meri subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

देखे जैसा आपका प्रश्न है कि एक दुर्घटना के बाद से आप मानसिक रूप से काफी टूट गए हैं और अभी

Romanized Version
Likes  462  Dislikes    views  5677
WhatsApp_icon
user

Kaartik Gupta

Clinical Psychologist

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेसिक सबसे जरूरी है कि आप एंड रूटिंग रेगुलर रहना जरूरी है आपका पहले से 4 घंटे का नहीं होना जरूरी आप का प्रॉपर डायट होना जरूरी है खाना पीना जरूरी है साथ में आपका काम का क्या उसके साथ में शिविर के लास्ट मीटिंग के लिए रहना जरूरी है उसके अलावा आपको अपने बारे में जानना अपने मौसम के साथ कनेक्ट ए कहना उन बातों को शेयर करना चाहे आपके दोस्त हैं आपकी फैमिली है वह सब बहुत जरूरी है किसी भी तरीके का नशीले पदार्थों से दूर रहना सबसे ज्यादा जरूरी है कि वह हमेशा प्रॉब्लम्स बढ़ा देते हैं और इसके अलावा कुछ भी अगर रहता है अपने आप को डिवेलप करने का कोशिश करते रहिए नई-नई चीजें पिक्चर है या नहीं उसकी बहन नहीं नहीं स्केल सूची है कुछ भी हो सकता है आप जो बचपन में शायद करना चाहते थे पर किसी वजह से नहीं करता है कोशिश कीजिए आप इस चीज को दोबारा खींचने का और एक ही चीज में ऐसा ही नजरिया लाइफ कि वक्त में साथ में काम करते रहें अपना ऐसा लगता है कि मुश्किल हो रही है मैनेज करना है ठीक से नहीं हो पाएगा ना कोई भी ऐसा बात नहीं है कि आप हम ठीक हैं आप समझ नहीं सकते कॉलेज से ऐसा कुछ नहीं मानेगी तुमको समझता ना देखता ना खाने साइकोलॉजी कि नहीं हमारे मन में हमारे दिमाग में चल तेरे समझ नहीं आता गलत काम किया है इसके बारे में आज तक में बना हुआ सोसाइटी में

basic sabse zaroori hai ki aap and routing regular rehna zaroori hai aapka pehle se 4 ghante ka nahi hona zaroori aap ka proper diet hona zaroori hai khana peena zaroori hai saath mein aapka kaam ka kya uske saath mein shivir ke last meeting ke liye rehna zaroori hai uske alava aapko apne bare mein janana apne mausam ke saath connect a kehna un baaton ko share karna chahen aapke dost hain aapki family hai vaah sab bahut zaroori hai kisi bhi tarike ka nasheele padarthon se dur rehna sabse zyada zaroori hai ki vaah hamesha problems badha dete hain aur iske alava kuch bhi agar rehta hai apne aap ko develop karne ka koshish karte rahiye nayi nayi cheezen picture hai ya nahi uski behen nahi nahi scale suchi hai kuch bhi ho sakta hai aap jo bachpan mein shayad karna chahte the par kisi wajah se nahi karta hai koshish kijiye aap is cheez ko dobara kheenchne ka aur ek hi cheez mein aisa hi najariya life ki waqt mein saath mein kaam karte rahein apna aisa lagta hai ki mushkil ho rahi hai manage karna hai theek se nahi ho payega na koi bhi aisa baat nahi hai ki aap hum theek hain aap samajh nahi sakte college se aisa kuch nahi manegi tumko samajhata na dekhta na khane psychology ki nahi hamare man mein hamare dimag mein chal tere samajh nahi aata galat kaam kiya hai iske bare mein aaj tak mein bana hua society mein

बेसिक सबसे जरूरी है कि आप एंड रूटिंग रेगुलर रहना जरूरी है आपका पहले से 4 घंटे का नहीं होना

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  515
WhatsApp_icon
user

Dr. Preeti Bhatt Tiwari

Life Coach and Psychologist

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न पूछा है इसका भी है उसको थोड़ा सा दुर्घटना का चित्र करना चाहिए कि किस प्रकार की दुर्घटना है क्या किसी की डेथ हुई है क्या ब्रेकअप हुआ है क्या एक्सीडेंट हुआ है या किसी की किसी बहुत ही नजदीकी व्यक्ति को गया हो जिसका उनको क्या बोलते उनको की एकदम शौक लगा हो तो लिखना चाहिए किस तरह की दुर्घटना मान चुका है क्या उनको उनको बार-बार आत्महत्या करने का विचार आता है उसके कोडिंग हमको बता सकते कि आप क्या करिए अगर कैसे ने पूछा देता मैं मैसेज कर पा रही हूं अगर उनके मानसिक स्वास्थ्य में गड़बड़ी इतनी है कि इनका मूड स्विंग होता है या तो इनको डिक्टेशन है या इनको बार-बार मरने के ख्याल आते हैं या उसको भूल नहीं पा रहे हैं बार-बार याद करते हैं इसके लिए बेहतर होगा कि आप मेडिटेशन तो करें ही साथ में आप उनकी जो अच्छी बातें उनको याद करके उसको शांत स्वभाव रखने का सोचिए बात कर रहे हैं तो आपको भूलने की कोशिश करें दूसरी चीजों में अपना मन लगाएं जो काम मन को अच्छा लगता है जो काम थोड़ा कठिन है अगर वह जॉब कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने अपनी उम्र भी लिखिए कितनी उम्र के तुम एक अंदाजा लगा तुमको जो काम अच्छा लगता होगा जो काम करने में थोड़ा सा जोर पड़ता है दिमाग पर दिमाग को करके करना पड़ता वह काम करेगा माइंड डाइवर्ट हो धन्यवाद मैडम

prashna poocha hai iska bhi hai usko thoda sa durghatna ka chitra karna chahiye ki kis prakar ki durghatna hai kya kisi ki death hui hai kya breakup hua hai kya accident hua hai ya kisi ki kisi bahut hi najdiki vyakti ko gaya ho jiska unko kya bolte unko ki ekdam shauk laga ho toh likhna chahiye kis tarah ki durghatna maan chuka hai kya unko unko baar baar atmahatya karne ka vichar aata hai uske coding hamko bata sakte ki aap kya kariye agar kaise ne poocha deta main massage kar paa rahi hoon agar unke mansik swasthya mein gadbadi itni hai ki inka mood swing hota hai ya toh inko detention hai ya inko baar baar marne ke khayal aate hain ya usko bhool nahi paa rahe hain baar baar yaad karte hain iske liye behtar hoga ki aap meditation toh kare hi saath mein aap unki jo achi batein unko yaad karke usko shaant swabhav rakhne ka sochiye baat kar rahe hain toh aapko bhulne ki koshish kare dusri chijon mein apna man lagaye jo kaam man ko accha lagta hai jo kaam thoda kathin hai agar vaah job kar rahe hain kyonki unhone apni umr bhi likhiye kitni umr ke tum ek andaja laga tumko jo kaam accha lagta hoga jo kaam karne mein thoda sa jor padta hai dimag par dimag ko karke karna padta vaah kaam karega mind Divert ho dhanyavad madam

प्रश्न पूछा है इसका भी है उसको थोड़ा सा दुर्घटना का चित्र करना चाहिए कि किस प्रकार की दुर्

Romanized Version
Likes  166  Dislikes    views  2079
WhatsApp_icon
user
0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर आप एक दुर्घटना ग्रस्त हो गए थे और अभी तक आप सही नहीं हुए हैं तो आपको मैं बता दूं आपको अपने अंदर नकारात्मक सोच को दूर करना हो पॉजिटिव सोच रखना होगा और सभी से प्रेम भरी बातें करना होगा जो भी मित्र हैं उनसे अच्छी तरह बातें करने होंगे और आपको हर दिन इस तरह व्यतीत करना हो करना होगा कि जैसे आपको लगे कि आप किसी साथी के फंक्शन में गए होंगे सर आपको हर एक दिन अपना अच्छा गुजारना होगा जिससे आपका और दो बातों को भूलने की कोशिश करें जो बात आपको कष्ट देती है तो ऑटोमेटिक ही आपका दिमाग सही हो जाएगा तो आप कोई दिक्कत नहीं है

dekhiye agar aap ek durghatna grast ho gaye the aur abhi tak aap sahi nahi hue hain toh aapko main bata doon aapko apne andar nakaratmak soch ko dur karna ho positive soch rakhna hoga aur sabhi se prem bhari batein karna hoga jo bhi mitra hain unse achi tarah batein karne honge aur aapko har din is tarah vyatit karna ho karna hoga ki jaise aapko lage ki aap kisi sathi ke function mein gaye honge sir aapko har ek din apna accha gujarana hoga jisse aapka aur do baaton ko bhulne ki koshish kare jo baat aapko kasht deti hai toh Automatic hi aapka dimag sahi ho jaega toh aap koi dikkat nahi hai

देखिए अगर आप एक दुर्घटना ग्रस्त हो गए थे और अभी तक आप सही नहीं हुए हैं तो आपको मैं बता दूं

Romanized Version
Likes  104  Dislikes    views  1045
WhatsApp_icon
user

Dr. Alpana Rastogi

Psychologist

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जस्ट कीप इन टच विद सेल्फ अपनी पोस्ट रिक्वायरमेंट ऑफ इंप्रूविंग ऑफ मेंटल हेल्थ अपने मानसिक स्थिति के बारे में अपनी रुचि उनके बारे में और खुद की कोई एक क्रिएटिव हाथी मेंटेन करने किसी व्यक्ति को एक ऐसा व्यक्ति जिसके साथ आप अपने जीवन की बहुत सारी चीजें शेयर कर सकते हैं एक वर्क रूटीन रूटीन तरीके हैं जिनसे मेंटल है उसको अच्छे से बात कर सकते हैं

just keep in touch with self apni post requirement of impruving of mental health apne mansik sthiti ke bare mein apni ruchi unke bare mein aur khud ki koi ek creative haathi maintain karne kisi vyakti ko ek aisa vyakti jiske saath aap apne jeevan ki bahut saree cheezen share kar sakte hain ek work routine routine tarike hain jinse mental hai usko acche se baat kar sakte hain

जस्ट कीप इन टच विद सेल्फ अपनी पोस्ट रिक्वायरमेंट ऑफ इंप्रूविंग ऑफ मेंटल हेल्थ अपने मानसिक

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  250
WhatsApp_icon
user

Shipra Ranjan

Life Coach

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने मन से टूट गया था अभी तक उबर नहीं पाया हूं मेरे मन से स्वस्थ को सुधारने के लिए सबसे अच्छा तरीका क्या है तुम्हें सबसे अच्छा तरीका यही रहेगा कि आपको जो काम ज्यादा पसंद है उस काम में करना शुरू कर दीजिए अपने को बिजी रखना शुरू करिए वह चीज जिससे आपको करना चाहते साथ भी होता हो आप खुद को रिलैक्स फील करती हो ऐसे कामों में अपना ध्यान लगाइए अपने बाहर घूमने फिरने जा सकते हैं चेक कर सकते हैं कोई भी ऐसा काम कर सकते हैं जो प्रोडक्ट पर हो जिससे आपको फ्यूचर या फोकस कर रहा हो आपने सोचा कि ने सोच रखो या फिर से रिलेटेड रिलेटेड के कामों को करने से आपका ध्यान भी बटेगा पुरानी बातों को भूल पाएंगे और साथ ही साथ अपने समय का सदुपयोग कर पाएंगे आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद

apne man se toot gaya tha abhi tak ubar nahi paya hoon mere man se swasth ko sudhaarne ke liye sabse accha tarika kya hai tumhe sabse accha tarika yahi rahega ki aapko jo kaam zyada pasand hai us kaam mein karna shuru kar dijiye apne ko busy rakhna shuru kariye vaah cheez jisse aapko karna chahte saath bhi hota ho aap khud ko relax feel karti ho aise kaamo mein apna dhyan lagaaiye apne bahar ghoomne phirne ja sakte hai check kar sakte hai koi bhi aisa kaam kar sakte hai jo product par ho jisse aapko future ya focus kar raha ho aapne socha ki ne soch rakho ya phir se related related ke kaamo ko karne se aapka dhyan bhi batega purani baaton ko bhool payenge aur saath hi saath apne samay ka sadupyog kar payenge aapka din shubha rahe dhanyavad

अपने मन से टूट गया था अभी तक उबर नहीं पाया हूं मेरे मन से स्वस्थ को सुधारने के लिए सबसे अच

Romanized Version
Likes  588  Dislikes    views  4336
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओशो संधानी की घटना घट जाती है जो घटना घट गई है उसके निश्चिंत आने के लिए भविष्य बचा है उसके लिए सोचे आपको टूटे की जरूरत नहीं बस एग्जांपल हैं जो एक्सीडेंट में अपने पैर खो दिया हाथ को दी और जीवन में सफलता पाई इसलिए और सफलता से नहीं हो रहा है आप अपने टूटे हुए मन को मजबूत करें हिम्मत करके आगे बढ़े और अपने लक्ष्य को निर्धारित करके उसे प्राप्त करने में लगन शील हो जाए आप निश्चित लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे अपना आप अपना लक्ष्य पूरा करके दुनिया में पहचान बनाई है छप्पन छुरी एक समाज में अपनी एक अलग पहचान बताइए

osho sandhani ki ghatna ghat jaati hai jo ghatna ghat gayi hai uske nishchint aane ke liye bhavishya bacha hai uske liye soche aapko tute ki zarurat nahi bus example hain jo accident mein apne pair kho diya hath ko di aur jeevan mein safalta payi isliye aur safalta se nahi ho raha hai aap apne tute hue man ko majboot kare himmat karke aage badhe aur apne lakshya ko nirdharit karke use prapt karne mein lagan sheela ho jaaye aap nishchit lakshya prapt kar lenge apna aap apna lakshya pura karke duniya mein pehchaan banai hai chappan chhuri ek samaj mein apni ek alag pehchaan bataiye

ओशो संधानी की घटना घट जाती है जो घटना घट गई है उसके निश्चिंत आने के लिए भविष्य बचा है उसके

Romanized Version
Likes  204  Dislikes    views  1776
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

2:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने जो प्रश्न किया उसको उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि जब भी हमारे जीवन में कोई दुर्घटना होती है तो बार-बार को हमारे सामने आती हमारे दिमाग में आती है और हम उसके बारे में सोचते रहते हैं इसलिए कहीं ना कहीं उससे हम परेशान होते हैं और उससे हमें मानसिक कष्ट पहुंचता है उससे निकलने का बहुत सिंपल तरीका यही होता है कि आप उन चीजों को बार बार सोचे नहीं आप उन घटनाओं को बार-बार याद ना करें अपनी दिमाग को कुछ अच्छी चीजों में लगाएं सकारात्मक चीजों में लगाएं जितना अधिक आप अपने ध्यान को वहां से हटा करके किसी दूसरी चीजों में लगा पाएंगे अपने आप आपको जो मानसिक स्वास्थ्य सुधार का चला जाएगा यह ध्यान रखना होगा कि जीवन में हमें कोई भी दुर्घटना या कोई भी जो कष्टकारी घटना होती है कभी भी उतना दुख नहीं देता है जितना उस घटना को हम सोच सोच कर के हम को दुख मिलता है इसलिए उससे निकलने का सिर्फ यह तरीका होता है कि आप उस घटना को भूलने की कोशिश करें क्योंकि ध्यान रहे आप उस घटना को चाहे जितना सोचा चाहे जितना उसके बारे में विचार करें उस घटना में कोई भी परिवर्तन नहीं कर सकते क्योंकि वह पास तुम्हें हो चुका है इसलिए वहां से उस घटना से जो सीख लेनी है उसको लीजिए और उसको एक बुरा सपना समझकर जीवन में आगे बढ़ जाइए जीवन में जो कुछ अच्छा हो रहा है उसके बारे में सोचिए अपना दिमाग कुछ अच्छी चीजों में लगाए कुछ अच्छे कार्यों में लगाए जब आपका ध्यान उस घटना से हटकर के दूसरी चीजों में व्यस्त होगा तो अपने आप आपको उससे होने वाला जो कष्ट है परेशानी है बिल्कुल खत्म हो जाएगा और ध्यान रहे इससे निकलने का सिर्फ यही तरीका है कि अपने दिमाग को कुछ रचनात्मक कार्यों में लगा है अच्छे कार्यों में लगाएं ऐसे कार्यों में लगाएं जहां से आपको खुशी मिलती हो संतुष्टि मिलती हो उन कार्यों को करने की कोशिश करें अपने आप मुझे दुर्घटना है उससे होने वाला जो मानसिक कष्ट है और बिल्कुल कम हो जाएगा और आपको उससे होने वाली परेशानी भी कम होती चली जाएगी ध्यान रखना है क्या आपको अपना ध्यान हटाना है अपने कार्यों को अपने दिमाग को कुछ अच्छे कार्य में लगाना है जिन कार्यों को आप पसंद करते हैं जो आपकी नजर में बहुत अच्छे कार हैं उनमें लगाइए आपको जरूर लाभ होगा मेरी शुभकामनाएं आपके लिए धन्यवाद

aapne jo prashna kiya usko uttar me main yahi kehna chahta hoon ki jab bhi hamare jeevan me koi durghatna hoti hai toh baar baar ko hamare saamne aati hamare dimag me aati hai aur hum uske bare me sochte rehte hain isliye kahin na kahin usse hum pareshan hote hain aur usse hamein mansik kasht pahuchta hai usse nikalne ka bahut simple tarika yahi hota hai ki aap un chijon ko baar baar soche nahi aap un ghatnaon ko baar baar yaad na kare apni dimag ko kuch achi chijon me lagaye sakaratmak chijon me lagaye jitna adhik aap apne dhyan ko wahan se hata karke kisi dusri chijon me laga payenge apne aap aapko jo mansik swasthya sudhaar ka chala jaega yah dhyan rakhna hoga ki jeevan me hamein koi bhi durghatna ya koi bhi jo kashtakari ghatna hoti hai kabhi bhi utana dukh nahi deta hai jitna us ghatna ko hum soch soch kar ke hum ko dukh milta hai isliye usse nikalne ka sirf yah tarika hota hai ki aap us ghatna ko bhulne ki koshish kare kyonki dhyan rahe aap us ghatna ko chahen jitna socha chahen jitna uske bare me vichar kare us ghatna me koi bhi parivartan nahi kar sakte kyonki vaah paas tumhe ho chuka hai isliye wahan se us ghatna se jo seekh leni hai usko lijiye aur usko ek bura sapna samajhkar jeevan me aage badh jaiye jeevan me jo kuch accha ho raha hai uske bare me sochiye apna dimag kuch achi chijon me lagaye kuch acche karyo me lagaye jab aapka dhyan us ghatna se hatakar ke dusri chijon me vyast hoga toh apne aap aapko usse hone vala jo kasht hai pareshani hai bilkul khatam ho jaega aur dhyan rahe isse nikalne ka sirf yahi tarika hai ki apne dimag ko kuch rachnatmak karyo me laga hai acche karyo me lagaye aise karyo me lagaye jaha se aapko khushi milti ho santushti milti ho un karyo ko karne ki koshish kare apne aap mujhe durghatna hai usse hone vala jo mansik kasht hai aur bilkul kam ho jaega aur aapko usse hone wali pareshani bhi kam hoti chali jayegi dhyan rakhna hai kya aapko apna dhyan hatana hai apne karyo ko apne dimag ko kuch acche karya me lagana hai jin karyo ko aap pasand karte hain jo aapki nazar me bahut acche car hain unmen lagaaiye aapko zaroor labh hoga meri subhkamnaayain aapke liye dhanyavad

आपने जो प्रश्न किया उसको उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि जब भी हमारे जीवन में कोई दुर्

Romanized Version
Likes  180  Dislikes    views  1286
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न एक दुर्घटना के बाद में मानसिक रूप से काफी टूट गया था अभी तक घर नहीं पाया मेरे मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने का सबसे अच्छा तरीका क्या है सत्यम जी बापू यही इसका तात्पर्य है जिससे कि आप कुछ महत्वपूर्ण काम अपने जीवन में जो शेर हैं वह आपके माध्यम से हो सके जिसका कमी रही हो लापरवाही रही हो या वाहन या जो गाड़ी था उसने गति याद आ रही है सामने का मन था उस पर ध्यान दिया नहीं हो क्या दुर्घटना का कारण था यह भी शिक्षा इस घटना से मिली कहने का तात्पर्य है जीवन यात्रा शुरू करते हैं चुनौतियां दुर्घटनाएं घट सकती हैं बहुत लोग बहुत विजेता के रूप में सामने आ सकते हैं आपके पास युवराज सिंह के उदाहरण कैंसर है ना वसीम अकरम को पिछले साल से डायबिटीज है आपकी बचेंद्री पाल उसके पैर नहीं है आपकी मानसिक दृढ़ता और मानसिक संकल्प होता है मानसिक संकल्प हार्मोन किसे आप भूले जीवन को आगे बढ़ाएं आप देखेंगे कि हजारों दुर्घटनाएं होती हैं किसी क्षेत्र में इसी में जीवन व्यतीत करते हैं उनसे प्रेरणा लेकर आप भी अपने जीवन को आगे बढ़ाएं मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं थैंक यू

aapka prashna ek durghatna ke baad me mansik roop se kaafi toot gaya tha abhi tak ghar nahi paya mere mansik swasthya ko sudhaarne ka sabse accha tarika kya hai satyam ji bapu yahi iska tatparya hai jisse ki aap kuch mahatvapurna kaam apne jeevan me jo sher hain vaah aapke madhyam se ho sake jiska kami rahi ho laparwahi rahi ho ya vaahan ya jo gaadi tha usne gati yaad aa rahi hai saamne ka man tha us par dhyan diya nahi ho kya durghatna ka karan tha yah bhi shiksha is ghatna se mili kehne ka tatparya hai jeevan yatra shuru karte hain chunautiyaan durghatanaen ghat sakti hain bahut log bahut vijeta ke roop me saamne aa sakte hain aapke paas yuvraj Singh ke udaharan cancer hai na wasim akram ko pichle saal se diabetes hai aapki bachendri pal uske pair nahi hai aapki mansik dridhta aur mansik sankalp hota hai mansik sankalp hormone kise aap bhule jeevan ko aage badhaye aap dekhenge ki hazaro durghatanaen hoti hain kisi kshetra me isi me jeevan vyatit karte hain unse prerna lekar aap bhi apne jeevan ko aage badhaye meri subhkamnaayain aapke saath hain thank you

आपका प्रश्न एक दुर्घटना के बाद में मानसिक रूप से काफी टूट गया था अभी तक घर नहीं पाया मेरे

Romanized Version
Likes  266  Dislikes    views  1661
WhatsApp_icon
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि एक दुर्घटना के कारण के बाद में आप मानसिक रूप से काफी टूट गए हैं अभी तक उबर नहीं पाए हैं मक मेरे मानसिक स्वास्थ्य को सुधारने का सबसे अच्छा तरीका क्या है लेकिन आपने स्पष्ट तौर पर यह नहीं बताया कि आप काव्या ने जो मानसिक तनाव था या जो भी दुर्घटना आपके जीवन में हुई इससे आप पहले तो दुर्घटना क्या हुई और दूसरा यह कि आपको किस तरह का मानसिक तनाव हुआ क्योंकि उससे उबरने के लिए आपको एक मानसिक हेल्थ एक्सपोर्ट की जरूरत है इसे मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल्स कहते हैं जो इसमें एक्सपोर्ट होते हैं यह कोई काम सोलर भी हो सकता है कोई थैरेपिस्ट भी हो सकता है कुछ सा का कुछ भी हो सकता है तो क्योंकि मैं यह नहीं जानती क्या आपका प्रॉब्लम क्या था तो मैं आपको बता नहीं पाऊंगी ढंग से कि आपको कहां जाना चाहिए लेकिन अगर आप अपना प्रॉब्लम जानते हैं तो आप किसी इन तीनों में से किसी एक जगह चले जाएं किसी थैरेपिस्ट के किसी सायकार्टिस्ट के या फिर किसी काउंसलर के जो आपको आपके इस मानसिक तनाव से बाहर आने में आपकी हेल्प करें थेरेपी बहुत ज्यादा काम आती है साइकोथैरेपिस्ट होता है सीबीटी थेरेपी से आरआरटी थैरेपीज होती हैं साथ में ऐसा क्या चीज है जो डॉक्टर भी होते हैं मानसिक का मतलब मेंटल हेल्थ के और यह बहुत हद तक अच्छी दवाइयां या सप्लीमेंट्स या डायट ऐसी दवाइयां आपको लिखेंगे जिससे कि आपका काफी बेहतर फील करोगे तो यह लोग आपकी मदद कर सकते हैं इनसे संपर्क कीजिए धन्यवाद

aapka sawaal hai ki ek durghatna ke karan ke baad me aap mansik roop se kaafi toot gaye hain abhi tak ubar nahi paye hain muck mere mansik swasthya ko sudhaarne ka sabse accha tarika kya hai lekin aapne spasht taur par yah nahi bataya ki aap kavya ne jo mansik tanaav tha ya jo bhi durghatna aapke jeevan me hui isse aap pehle toh durghatna kya hui aur doosra yah ki aapko kis tarah ka mansik tanaav hua kyonki usse ubarane ke liye aapko ek mansik health export ki zarurat hai ise mental health professionals kehte hain jo isme export hote hain yah koi kaam solar bhi ho sakta hai koi thairepist bhi ho sakta hai kuch sa ka kuch bhi ho sakta hai toh kyonki main yah nahi jaanti kya aapka problem kya tha toh main aapko bata nahi paungi dhang se ki aapko kaha jana chahiye lekin agar aap apna problem jante hain toh aap kisi in tatvo me se kisi ek jagah chale jayen kisi thairepist ke kisi saykartist ke ya phir kisi counselor ke jo aapko aapke is mansik tanaav se bahar aane me aapki help kare therapy bahut zyada kaam aati hai saikothairepist hota hai cbt therapy se RRT thairepij hoti hain saath me aisa kya cheez hai jo doctor bhi hote hain mansik ka matlab mental health ke aur yah bahut had tak achi davaiyan ya suppliments ya diet aisi davaiyan aapko likhenge jisse ki aapka kaafi behtar feel karoge toh yah log aapki madad kar sakte hain inse sampark kijiye dhanyavad

आपका सवाल है कि एक दुर्घटना के कारण के बाद में आप मानसिक रूप से काफी टूट गए हैं अभी तक उबर

Romanized Version
Likes  378  Dislikes    views  3187
WhatsApp_icon
user

Debabrata Maity

Business Owner | Motivational Speaker

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुर्घटना से कुछ लोग हार जाते हैं और कुछ लोग जीत जाते हैं दुर्घटना हमारी लाइफ में एक अचीवमेंट की तरफ बहुत सारे आदमी की तरह आदमी मशीन को गले से चेन छीनने का बाद 4 लोगों ने मिलकर उसको ट्रेन से चलती ट्रेन से बाहर फेंक दिया था जिनका पैर काट चुका था उन्होंने एवरेस्ट क्लाइंबर बने उसके बाद दूध पर रहते हुए भी हम लोग को उसके बारे में सोच भी नहीं सकते थे जिसके बारे में लेकिन उन्होंने वह करके दिखाया एक जीत अगर उनका यह दुर्घटना नहीं घटती उनके साथ दुर्घटना नहीं करता तो उन्होंने यह बात नहीं कर पाता जिनको तालिबान ने गोली मार दी थी कब बचने का कोई उम्मीद ही नहीं था उन्होंने सबसे यंग नोबेल पुरस्कार विजेता बने और यह दुर्घटना उनके साथ अगर तालिबान नहीं होता तालिबान ने गोली नहीं मारता तो उन्होंने कभी भी उचित नहीं करवाता नोबेल पुरस्कर एसिड नहीं कर पाता लाइफ में दुर्घटना से कुछ सीख लेना चाहिए दुर्घटना से हारने का नहीं उसके कोई लुहार जाते हैं और कोई लोग एक्टिव कर लेते हैं तो आप किस में जाना चाहेंगे

durghatna se kuch log haar jaate hain aur kuch log jeet jaate hain durghatna hamari life me ek achievement ki taraf bahut saare aadmi ki tarah aadmi machine ko gale se chain chhinne ka baad 4 logo ne milkar usko train se chalti train se bahar fenk diya tha jinka pair kaat chuka tha unhone EVEREST climber bane uske baad doodh par rehte hue bhi hum log ko uske bare me soch bhi nahi sakte the jiske bare me lekin unhone vaah karke dikhaya ek jeet agar unka yah durghatna nahi ghatati unke saath durghatna nahi karta toh unhone yah baat nahi kar pata jinako taliban ne goli maar di thi kab bachne ka koi ummid hi nahi tha unhone sabse young nobel puraskar vijeta bane aur yah durghatna unke saath agar taliban nahi hota taliban ne goli nahi maarta toh unhone kabhi bhi uchit nahi karwata nobel puraskar acid nahi kar pata life me durghatna se kuch seekh lena chahiye durghatna se haarne ka nahi uske koi luhar jaate hain aur koi log active kar lete hain toh aap kis me jana chahenge

दुर्घटना से कुछ लोग हार जाते हैं और कुछ लोग जीत जाते हैं दुर्घटना हमारी लाइफ में एक अचीवमे

Romanized Version
Likes  110  Dislikes    views  799
WhatsApp_icon
user

Chaina Karmakar

Spiritual Healer & Life Coach

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुर्घटना हर किसी के जीवन में होता है उस दुर्घटना को अब किस तरीके से लेते ही बहुत इंपॉर्टेंट है जैसे आपने मेंशन किया है क्या आप मानसिक रूप से काफी टूट चुके हैं और अभी तक उबर नहीं पा रहे हैं तो आप जब तक मानसिक स्वास्थ्य को नहीं सुधरेंगे फिजिकली इमोशनली नीचे की तरफ से जाएंगे तो सबसे पहले उस दुर्घटना को स्वीकार कीजिए और उससे आपको क्या सीख मिल रही है इसके बारे में इंटरेस्ट कीजिए भी नहीं में आप बहुत जल्दी इस दुर्घटना से उभर पाए इस दुर्घटना को एड्रेस कीजिए सबसे पहले एड्रेस करना जरूरी है क्योंकि हम अक्सर जो है या तो डिनायल मोड में रहते हैं या फिर इसको अवॉइड सोने की कोशिश करते हैं इस को ऐड में रहने से आपकी साइकिल से नहीं निकल जाएगा पेट के नीचे स्कोर अंदर घुस आते जाएंगे अंदर डालते जाएंगे उतना ही आपको तकलीफ आप की तकलीफ बढ़ती जाएगी शुरू में कारपेट के नीचे से आप इसको जब निकालेंगे तो हो दूर इतने सालों से दबा पड़ा हुआ था वह आपको थोड़ा तकलीफ देगा जैसे एलर्जी होती है कहां पर हो आप जब झाड़ते हैं या उसके नीचे से सब गंदगी निकालते हैं वैसे ही इन्हें आपको तकलीफ होगा धीरे-धीरे यह जब धूल मिट्टी सब हट जाएंगे तब आपको जो है राहत महसूस होगी तो सबसे पहले मास्टर योर करेज साहस लाइए इस दुर्घटना को एड्रेस कीजिए और उससे आपको क्या सीख मिलती है और क्या आप सीखते हैं इसको बढ़ आगे

durghatna har kisi ke jeevan mein hota hai us durghatna ko ab kis tarike se lete hi bahut important hai jaise aapne mention kiya hai kya aap mansik roop se kaafi toot chuke hain aur abhi tak ubar nahi paa rahe hain toh aap jab tak mansik swasthya ko nahi sudhrenge physically emotionally niche ki taraf se jaenge toh sabse pehle us durghatna ko sweekar kijiye aur usse aapko kya seekh mil rahi hai iske bare mein interest kijiye bhi nahi mein aap bahut jaldi is durghatna se ubhar paye is durghatna ko address kijiye sabse pehle address karna zaroori hai kyonki hum aksar jo hai ya toh denial mode mein rehte hain ya phir isko avoid sone ki koshish karte hain is ko aid mein rehne se aapki cycle se nahi nikal jaega pet ke niche score andar ghus aate jaenge andar daalte jaenge utana hi aapko takleef aap ki takleef badhti jayegi shuru mein carpet ke niche se aap isko jab nikalenge toh ho dur itne salon se daba pada hua tha vaah aapko thoda takleef dega jaise allergy hoti hai kahaan par ho aap jab jhadte hain ya uske niche se sab gandagi nikalate hain waise hi inhen aapko takleef hoga dhire dhire yah jab dhul mitti sab hut jaenge tab aapko jo hai rahat mehsus hogi toh sabse pehle master your courage saahas laiye is durghatna ko address kijiye aur usse aapko kya seekh milti hai aur kya aap sikhate hain isko badh aage

दुर्घटना हर किसी के जीवन में होता है उस दुर्घटना को अब किस तरीके से लेते ही बहुत इंपॉर्टें

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  431
WhatsApp_icon
user

Gyaani Woman lekhika 📚👩

Lekhika Hoon Suchai Likhti Hoo

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हर किसी के साथ कोई ना कोई दुर्घटना होती है होती ही रहती है फर्क इतना है कि कुछ लोग भूल जाते हैं अपनी आगे की जिंदगी से तो कुछ लोग हैं जो अपने मन में दिल में दिमाग में यह बात भी खा लेते हैं कि उनके साथ यह दुर्घटना हुई है यही वजह है कि जो लोग अपनी मतलब जो भी बीते कल में हुआ होता है जो भी दुर्घटना हुई होती है उसे भुला नहीं पाते और मानसिक रुप से कहीं ना कहीं बीमार पड़ने लगते हैं कहीं ना कहीं उनकी सोचने समझने की शक्ति कम होने लगती है मैंने समझ नहीं आता कि वह क्या करें मेरे साथी बहुत सारी ऐसी दुर्घटनाएं हुई है बचपन में हुई है और आज भी मैं उन्हें याद करती हूं तो मैं क्या बताऊं कि मुझे पता है कि मेरे बीते कल में जो भी हुआ है वह बदल नहीं सकता इसलिए मैं अपने आने वाली फ्यूचर के बारे में सोचूंगी अपने कल के बारे में सोचूंगी तो आपके सवालों का जवाब भी यही है कि आपके बीते कल में जो भी हुआ है जो भी दुर्घटना हुई है खुजली से कोई फायदा नहीं आप अपने दिमाग में यह बताइए कि जो भी दुर्घटना आपके साथ हुई है वह बदल नहीं सकती है आप अपने आने वाले कल के बारे में सोचिए अपने आज के बारे में सोच कर के बारे में मत सोचिए जिसमें आपको बहुत तकलीफ हुई हो बहुत आपको दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ा हो और 50 अगर आपको अचानक से ऐसी दुर्घटना याद आ जाती है या किसी के जरिए याद आ जाती है आप उसे इग्नोर करने की कोशिश कीजिए में भी ऐसे ही करती हूं और जब मैं ऐसे करती हूं ऐसा लगता जैसे मन से कितना बड़ा बोझ उतर के सूट सिंपल सी बात है कि आपके साथ जो कुछ दूंगा उसको भूल जाइए और वह याद रखिए आपके साथ होगा जो आप करना चाहते हैं वह याद मत रखिए जिसमें कुछ नहीं रखा है और अगर आप जितनी अपने साथ जो भी है आपके साथ जो भी दुर्घटना घटी जितना याद करेंगे आप इतने कमजोर पढ़ते रहेंगे

dekhiye har kisi ke saath koi na koi durghatna hoti hai hoti hi rehti hai fark itna hai ki kuch log bhool jaate hain apni aage ki zindagi se toh kuch log hain jo apne man mein dil mein dimag mein yah baat bhi kha lete hain ki unke saath yah durghatna hui hai yahi wajah hai ki jo log apni matlab jo bhi bite kal mein hua hota hai jo bhi durghatna hui hoti hai use bhula nahi paate aur mansik roop se kahin na kahin bimar padane lagte hain kahin na kahin unki sochne samjhne ki shakti kam hone lagti hai maine samajh nahi aata ki vaah kya kare mere sathi bahut saree aisi durghatanaen hui hai bachpan mein hui hai aur aaj bhi main unhe yaad karti hoon toh main kya bataun ki mujhe pata hai ki mere bite kal mein jo bhi hua hai vaah badal nahi sakta isliye main apne aane wali future ke bare mein sochungi apne kal ke bare mein sochungi toh aapke sawalon ka jawab bhi yahi hai ki aapke bite kal mein jo bhi hua hai jo bhi durghatna hui hai khujli se koi fayda nahi aap apne dimag mein yah bataye ki jo bhi durghatna aapke saath hui hai vaah badal nahi sakti hai aap apne aane waale kal ke bare mein sochiye apne aaj ke bare mein soch kar ke bare mein mat sochiye jisme aapko bahut takleef hui ho bahut aapko durghatnaon ka samana karna pada ho aur 50 agar aapko achanak se aisi durghatna yaad aa jaati hai ya kisi ke jariye yaad aa jaati hai aap use ignore karne ki koshish kijiye mein bhi aise hi karti hoon aur jab main aise karti hoon aisa lagta jaise man se kitna bada bojh utar ke suit simple si baat hai ki aapke saath jo kuch dunga usko bhool jaiye aur vaah yaad rakhiye aapke saath hoga jo aap karna chahte hain vaah yaad mat rakhiye jisme kuch nahi rakha hai aur agar aap jitni apne saath jo bhi hai aapke saath jo bhi durghatna ghati jitna yaad karenge aap itne kamjor padhte rahenge

देखिए हर किसी के साथ कोई ना कोई दुर्घटना होती है होती ही रहती है फर्क इतना है कि कुछ लोग भ

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  426
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!