मैंने अक्सर लोगों को लम्बे समय तक उदास रहते देखा है।ऐसी उदासी का मुख्य कारण क्या हो सकता है?...


user

डॉ.संजीव कुमार

Psychologist (follow On Yohtube @Sanjeev K Pandya)

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारी उदासी का मुख्य कारण क्या होता है मेरी दृष्टि से मुख्य कारण होते हैं हम हमारी तुलना दूसरों के साथ चलते हैं मेरे पास यह नहीं है और उसके पास वह है हमारी कंपैरिजन हमारी तुलना अगर हम दूसरों के साथ करेंगे तो हम कभी सुखी नहीं हो पाएंगे तुलना करनी है तो हमारी तुलना हम अपने आप को इतना गरीब लोगों के साथ करें ना कि हम अमीर लोगों के साथ अगर मेरे पास बाइक है और मैं सुला करूंगा 4141 वाले के साथ कि मैं सोच लूंगा क्या जिंदगी है कि पास तो कितनी मस्त ऐसी के अंदर बैठने का उसको धूप भी नहीं लगती गर्मी भी नहीं लगती और बाइक में कितना परेशान होता हूं अब मेरा दुख उत्पन्न हुआ मैं उदास हो जाऊंगा कि मेरी क्या जिंदगी है घटिया जिंदगी है मगर साइकिल वाला इतनी मेहनत करके वह आगे बढ़ रहा है और मेरे पास तो बाइक भी कितना इसलिए जा रहा सुरीला हमें दुख उत्पन्न करता से उत्पन्न करते और उसका दूसरा कारण है अपेक्षा ए मेरी अपेक्षा मुझे बहुत ज्यादा दुखी करती है कोई भी व्यक्ति किसी भी व्यक्ति के साथ किसी से भी अपेक्षा मत रखिए अपनी अपेक्षाओं का अंत कर दीजिए बहुत संतुष्ट हो गए बहुत खुश होंगे और कभी उदास नहीं होंगे मेरे दोस्त

hamari udasi ka mukhya karan kya hota hai meri drishti se mukhya karan hote hain hum hamari tulna dusro ke saath chalte hain mere paas yah nahi hai aur uske paas vaah hai hamari kampairijan hamari tulna agar hum dusro ke saath karenge toh hum kabhi sukhi nahi ho payenge tulna karni hai toh hamari tulna hum apne aap ko itna garib logo ke saath kare na ki hum amir logo ke saath agar mere paas bike hai aur main sula karunga 4141 waale ke saath ki main soch lunga kya zindagi hai ki paas toh kitni mast aisi ke andar baithne ka usko dhoop bhi nahi lagti garmi bhi nahi lagti aur bike me kitna pareshan hota hoon ab mera dukh utpann hua main udaas ho jaunga ki meri kya zindagi hai ghatiya zindagi hai magar cycle vala itni mehnat karke vaah aage badh raha hai aur mere paas toh bike bhi kitna isliye ja raha surila hamein dukh utpann karta se utpann karte aur uska doosra karan hai apeksha a meri apeksha mujhe bahut zyada dukhi karti hai koi bhi vyakti kisi bhi vyakti ke saath kisi se bhi apeksha mat rakhiye apni apekshaon ka ant kar dijiye bahut santusht ho gaye bahut khush honge aur kabhi udaas nahi honge mere dost

हमारी उदासी का मुख्य कारण क्या होता है मेरी दृष्टि से मुख्य कारण होते हैं हम हमारी तुलना द

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Psychologist Lovenish Mittal

Psychologist, Motivational Speaker, Psychotherapist, Hypnotherapist.

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उदासी लंबे समय तक अगर चल रही है उसका एक सबसे बड़ा कारण वह खुद है क्योंकि वह चाहता है कि मैं एक आसान तरीके से इन उदासी डिप्रेशन से बाहर आ जाए इसके लिए सिर्फ और सिर्फ मेडिसिन का सहारा लेता है अपने विचारों के अंदर अपने जीवन के अंदर अपने जीवन शैली के अंदर रोजमर्रा के कार्य के अंदर में कोई बदलाव लाना नहीं चाहता मैं यह नहीं देखना चाहता कि जो उसको उदासी है वह किस कारण से है क्या वह पुराने विचारों को नहीं भूल पा रहा या भविष्य की गलत तरीके से चिंता कर रहा है क्या उसके अंदर कोई अपराध बोध है क्या उसके जीवन में कोई ऐसी घटना हो गई है जिससे वह आगे बढ़ नहीं पा रहा उसको भुला नहीं पा रहा इसके अलावा हो सकता है कि उसके अंदर कोई योग्यता हो बहुत अच्छी उपयोगिता को वह पूरा ना कर पाया हो इस तरह से बहुत सारे कारण हो सकते हैं जो उसको उदासी में लेकर आए हैं अब इनमें से किसी भी प्रकार की समस्या है तो उसे के अकॉर्डिंग उसको इसका सलूशन को समझना होगा उसको समझना होगा कि किस तरह से अलग-अलग समस्याओं से बाहर आया जाता है तभी वह उस उदासी से बाहर आ सकते हैं हमारे पास जो ऐसा थे हमने देखा है कि उनको 10 10 साल से डिप्रेशन की शिकायत 5 साल से डिप्रेशन की शिकायत या उधर से किसका इसका कारण यही रहता है कि कोई ऐसी घटना है जिसको उसने बदलने की कोशिश नहीं की वह सिर्फ मेडिसिन का सहारा ले रहे व्यक्ति उदासी से बाहर आना चाहता है तो उसको मेडिसिन के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक सहायता भी लेनी चाहिए जो उसको इस डिप्रेशन या उदासी से बाहर आने का मार्गदर्शन प्रदान कर सके धन्यवाद

udasi lambe samay tak agar chal rahi hai uska ek sabse bada karan vaah khud hai kyonki vaah chahta hai ki main ek aasaan tarike se in udasi depression se bahar aa jaaye iske liye sirf aur sirf medicine ka sahara leta hai apne vicharon ke andar apne jeevan ke andar apne jeevan shaili ke andar rozmarra ke karya ke andar me koi badlav lana nahi chahta main yah nahi dekhna chahta ki jo usko udasi hai vaah kis karan se hai kya vaah purane vicharon ko nahi bhool paa raha ya bhavishya ki galat tarike se chinta kar raha hai kya uske andar koi apradh bodh hai kya uske jeevan me koi aisi ghatna ho gayi hai jisse vaah aage badh nahi paa raha usko bhula nahi paa raha iske alava ho sakta hai ki uske andar koi yogyata ho bahut achi upayogita ko vaah pura na kar paya ho is tarah se bahut saare karan ho sakte hain jo usko udasi me lekar aaye hain ab inmein se kisi bhi prakar ki samasya hai toh use ke according usko iska salution ko samajhna hoga usko samajhna hoga ki kis tarah se alag alag samasyaon se bahar aaya jata hai tabhi vaah us udasi se bahar aa sakte hain hamare paas jo aisa the humne dekha hai ki unko 10 10 saal se depression ki shikayat 5 saal se depression ki shikayat ya udhar se kiska iska karan yahi rehta hai ki koi aisi ghatna hai jisko usne badalne ki koshish nahi ki vaah sirf medicine ka sahara le rahe vyakti udasi se bahar aana chahta hai toh usko medicine ke saath saath manovaigyanik sahayta bhi leni chahiye jo usko is depression ya udasi se bahar aane ka margdarshan pradan kar sake dhanyavad

उदासी लंबे समय तक अगर चल रही है उसका एक सबसे बड़ा कारण वह खुद है क्योंकि वह चाहता है कि मै

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका कहना है कि आपने अक्सर लोगों को लंबे समय तक उदास रहते देखा है ऐसी उदासी का मुख्य कारण क्या होता है देखिए जीवन चलने का नाम है और जीवन कैसा भी रहे कहीं ना कहीं हमें वर्तमान में रहकर आगे बढ़ना होता है जो व्यक्ति भूतकाल की यादों में या भविष्य में ज्यादा खोया रहता है वह अपने जीवन को अच्छे से नहीं बना पाता अपने लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर पाता इसलिए व्यक्ति वही कामयाब है जो वर्तमान में रहे परंतु बहुत से लोग अपने अनुभवों को भुला नहीं पाते पुरानी यादों को पुराने संबंधों को जिनको उन्होंने खोया है या कुछ आर्थिक नुकसान हुआ है तो उसी में फंसे रहते हैं और बहुत लंबे समय तक उसी में रहकर उदास रहते हैं मैं इस चीज को समझ ही नहीं पाते कि जीवन चलने का नाम है कैसी भी घटना जीवन में हो जाए हमें आगे बढ़ना ही पड़ता है परंतु कई लोग समय के साथ आगे नहीं बढ़ते जो उनके लिए उनके परिवार के लिए बहुत दुखदाई होता है और वह डिप्रेशन में चले जाते हैं जब एक भी डिप्रेशन में चला जाता है तो फिर मैं गया ही नहीं कर पाता कि कितना समय उसने इन चीजों में व्यस्त कर दिया धन्यवाद

namaskar aapka kehna hai ki aapne aksar logo ko lambe samay tak udaas rehte dekha hai aisi udasi ka mukhya karan kya hota hai dekhiye jeevan chalne ka naam hai aur jeevan kaisa bhi rahe kahin na kahin hamein vartaman me rahkar aage badhana hota hai jo vyakti bhootkaal ki yaadon me ya bhavishya me zyada khoya rehta hai vaah apne jeevan ko acche se nahi bana pata apne lakshyon ko prapt nahi kar pata isliye vyakti wahi kamyab hai jo vartaman me rahe parantu bahut se log apne anubhavon ko bhula nahi paate purani yaadon ko purane sambandhon ko jinako unhone khoya hai ya kuch aarthik nuksan hua hai toh usi me fanse rehte hain aur bahut lambe samay tak usi me rahkar udaas rehte hain main is cheez ko samajh hi nahi paate ki jeevan chalne ka naam hai kaisi bhi ghatna jeevan me ho jaaye hamein aage badhana hi padta hai parantu kai log samay ke saath aage nahi badhte jo unke liye unke parivar ke liye bahut dukhdai hota hai aur vaah depression me chale jaate hain jab ek bhi depression me chala jata hai toh phir main gaya hi nahi kar pata ki kitna samay usne in chijon me vyast kar diya dhanyavad

नमस्कार आपका कहना है कि आपने अक्सर लोगों को लंबे समय तक उदास रहते देखा है ऐसी उदासी का मुख

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  2841
WhatsApp_icon
user

Meenaxi Yadav

Wellness Coach

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लंबे समय तक उदास रहने का कारण प्रेम हो सकता है लंबे समय तक उठा उदास रहने का कारण उनके कम आमदनी हो सकती है लंबे समय तक उदास रहने का कारण उनका खालीपन हो सकता है अकेलापन हो सकता है उसके बहुत सारे कारण हो सकते हैं इसलिए ऐसे लोगों को अपनी लाइफ को थोड़ा सा बिजी कर देना चाहिए ताकि उनको उदासी से मन हट जाए वह अकेलेपन से मन हट जाए उदासी से जब वह लोगों के दूसरे लोगों के बीच में रहना शुरू कर देंगे उनकी उदासी अपने आप चली जाएगी

lambe samay tak udaas rehne ka karan prem ho sakta hai lambe samay tak utha udaas rehne ka karan unke kam aamdani ho sakti hai lambe samay tak udaas rehne ka karan unka khalipan ho sakta hai akelapan ho sakta hai uske bahut saare karan ho sakte hain isliye aise logo ko apni life ko thoda sa busy kar dena chahiye taki unko udasi se man hut jaaye vaah akelepan se man hut jaaye udasi se jab vaah logo ke dusre logo ke beech me rehna shuru kar denge unki udasi apne aap chali jayegi

लंबे समय तक उदास रहने का कारण प्रेम हो सकता है लंबे समय तक उठा उदास रहने का कारण उनके कम आ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user

Nikita D'Souza

Clinical Psychologist

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उदासी और डिप्रेशन यह दो अलग अलग चीज है उदासी ऐसी चीज है जो हम सब अक्सर महसूस करते हैं जैसे अगर हमारा कुछ सामान खो गया है हमारे हिसाब से चीजें नहीं जाती है तो डिप्रेशन में से बिल्कुल अलग है पॉइंट नंबर वन यदि आप लगातार दो हफ्तों से उदास है वॉइस नंबर दो आपके पसंदीदा काम आपको अभी पसंद नहीं आते हैं या वह काम या एक्टिविटीज या हॉबीस आपको खाने का मन नहीं करता है थॉट पॉइंट है आपके खाने पीने में या भूख लगने में बदलाव आए पॉइंट है अगर आपकी नींद में यात्री पाटन में कुछ बदलाव आए सिर्फ पॉइंट है आपको ज्यादातर थकावट महसूस होती है यदि इनमें से कोई 2 पॉइंट या अधिक पॉइंट या फिर लक्षण आपको महसूस होते हैं पर याद रखें यह लगाता दो हफ्तों से महसूस होना अनिवार्य है तो आप साइकिल या मनोचिकित्सक या फिर साइकोलॉजिस्ट या मनोवैज्ञानिक से कंसल्ट कर सकते हैं

udasi aur depression yah do alag alag cheez hai udasi aisi cheez hai jo hum sab aksar mahsus karte hain jaise agar hamara kuch saamaan kho gaya hai hamare hisab se cheezen nahi jaati hai toh depression mein se bilkul alag hai point number van yadi aap lagatar do hafton se udaas hai voice number do aapke pasandida kaam aapko abhi pasand nahi aate hain ya vaah kaam ya activities ya habis aapko khane ka man nahi karta hai thought point hai aapke khane peene mein ya bhukh lagne mein badlav aaye point hai agar aapki neend mein yatri patan mein kuch badlav aaye sirf point hai aapko jyadatar thakawat mahsus hoti hai yadi inmein se koi 2 point ya adhik point ya phir lakshan aapko mahsus hote hain par yaad rakhen yah lagaata do hafton se mahsus hona anivarya hai toh aap cycle ya manochikitsak ya phir psychologist ya manovaigyanik se Consult kar sakte hain

उदासी और डिप्रेशन यह दो अलग अलग चीज है उदासी ऐसी चीज है जो हम सब अक्सर महसूस करते हैं जैसे

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
user

Jyoti Gupta

Clinical, Counseling & Rehabilitation Psychologist, Mindfulness Teacher, Compassion Teacher, Meditation Teacher, Psychotherapist

2:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा टच आजकल आपस में एक दूसरे से खत्म होता जा रहा है सबसे बड़ी चीज है जो लव 54381 रिजोनेट मैंने कितना खेला है शाम में बोलते आप के पार्क में जाकर अपने दोस्तों के घर जाकर वह मेरे घर आते थे दोस्त है आप छोटे बच्चों को देखें वह कोई भी एक्टिविटी एक लोड करते हैं पेरेंट्स उनको कैसे भी एक्टिविटी में डालते हैं कई बारी अपेरेंट हम बच्चों को वेदर नहीं देते भी जिसकी फुटेज बनाकर बीपीएल से चीजें बनाने का तरीका और उन चीजों का एक्सप्रेशन उन चीजों का वेंट आउट होना बहुत जरूरी है और सूट बूट बूट अपने अंदर रखते रहेंगे उतना ही आपके अंदर के जो क्वेश्चन है आपके माइंड में जो क्वेश्चन आते हैं वह उतनी ज्यादा भरते रहते हैं और उनको कोई काम करने वाला है नहीं बिकॉज आफ सिचुएशंस कन्वेंट स्कूल टीचर कोई भी हो सकता है ऑनलाइन फॉर्म इन लव एंड विच हमने लव को इजाजत में सबकी उठ कर दिया है महंगी चीजों में सबसे उठ कर दिया है बड़े घरों में बड़ी गाड़ियों में सब सेव कर दिया महंगे होटल कर दिया गोइंग फॉर लोंग वेकेशन ऑफ इंडिया विथ पैदा होता है क्या मैं घुमा मैंने देखा बस ठीक है जेसीबी के पास वहां पर भी मम्मी पापा अपने में बिजी थे भाई बहन अपने बिजी थे तो दे विष्णु वांट टू टॉक के घर में कोई चीज देख रही हूं तुम्हें उसके बारे में अपना एक्सपीरियंस शेयर करूं मेरे अंदर क्या चल रहा है मुझे कोई चीज अच्छी लग रही है कोई चीज सुंदर लग रही है उसको किस तरीके से एक्सप्लेन करो होती रहती हैं बैलेंस होता है व्हाट इज आल्सो रेस्पॉन्सिव अल्बर्ट केमिकल इंबैलेंस अलसो ड्यू टो ऑल रेसिंग कि हम आपस में इतना हमारा कनेक्शन इतनी हमारी बॉन्डिंग नहीं हो पाता इस विधि से धर्म और उपासना टू सी 14 14 14 b21 300000 दोस्त

hamara touch aajkal aapas mein ek dusre se khatam hota ja raha hai sabse badi cheez hai jo love 54381 rijonet maine kitna khela hai shaam mein bolte aap ke park mein jaakar apne doston ke ghar jaakar vaah mere ghar aate the dost hai aap chhote bacchon ko dekhen vaah koi bhi activity ek load karte hain parents unko kaise bhi activity mein daalte hain kai baari aperent hum bacchon ko Weather nahi dete bhi jiski footage banakar BPL se cheezen banaane ka tarika aur un chijon ka expression un chijon ka went out hona bahut zaroori hai aur suit boot boot apne andar rakhte rahenge utana hi aapke andar ke jo question hai aapke mind mein jo question aate hain vaah utani zyada bharte rehte hain aur unko koi kaam karne vala hai nahi because of sichueshans kanwent school teacher koi bhi ho sakta hai online form in love and which humne love ko ijajat mein sabki uth kar diya hai mehengi chijon mein sabse uth kar diya hai bade gharon mein badi gadiyon mein sab save kar diya mahange hotel kar diya going for long vacation of india with paida hota hai kya main ghuma maine dekha bus theek hai JCB ke paas wahan par bhi mummy papa apne mein busy the bhai behen apne busy the toh de vishnu want to talk ke ghar mein koi cheez dekh rahi hoon tumhe uske bare mein apna experience share karun mere andar kya chal raha hai mujhe koi cheez achi lag rahi hai koi cheez sundar lag rahi hai usko kis tarike se explain karo hoti rehti hain balance hota hai what is aalso respansiv albert chemical imbailens alaso due toe all racing ki hum aapas mein itna hamara connection itni hamari bonding nahi ho pata is vidhi se dharam aur upasana to si 14 14 14 b21 300000 dost

हमारा टच आजकल आपस में एक दूसरे से खत्म होता जा रहा है सबसे बड़ी चीज है जो लव 54381 रिजोनेट

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Anil Maniya

Clinical Psychologist

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन के मेन 3 रिजल्ट्स होती है डिप्रेशन फर्स्ट सेटिंग हो सकता अगर फैमिली में किसी को हो तो दूसरा के डिप्रेशन हमारे मन में जो केमिकल सेरोटोनिन का बढ़ता हुआ किसी के साथ लड़ाई झगड़ा या फिर कोई छोटी बात थी उसको चिंता हो तो फिर भी डिप्रेशन में आ सकता है टेंशन है

depression ke main 3 results hoti hai depression first setting ho sakta agar family mein kisi ko ho toh doosra ke depression hamare man mein jo chemical serotonin ka badhta hua kisi ke saath ladai jhagda ya phir koi choti baat thi usko chinta ho toh phir bhi depression mein aa sakta hai tension hai

डिप्रेशन के मेन 3 रिजल्ट्स होती है डिप्रेशन फर्स्ट सेटिंग हो सकता अगर फैमिली में किसी को ह

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user

Manisha

Psychologist and Career Counsellor

3:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन के सबसे ज्यादा सबसे पहले कारण हैं एक तो है कि कौन सी डी दूसरा चीज है कि सेल्फ कॉन्फिडेंस नहीं है मैं अभी जो बोला कि आत्मा विश्वास नहीं होना दूसरा है कि हम अपने आप को एक कंपटीशन में ही लगाकर रखते हैं हमेशा कि मुझे दूसरों से हमेशा बेहतर रहना है मुझे दूसरों से हमेशा आगे जाना है तो अगर हम अपना कंपटीशन दूसरों के साथ करते हैं तो हम हमेशा अलग ही दिखेंगे मैंने यह नहीं बोला कि कम दिखेंगे मैं यह बोल रही थी हम लोग अलग दिखेंगे क्योंकि हम अलग ही है दूसरों से हम दूसरों की तरह नहीं बन सकते हैं क्योंकि आप अलग हो दूसरे अलग है आपने जो खूबियां हैं वह दूसरों में नहीं है और अब दूसरों की खूबियां आप में ढूंढना तो देखोगे तो नहीं हो सकता आप अपने अंदर पैदा कर सकते हो उसको डेवलप कर सकते हो लेकिन आप दूसरों की तरह बनने का मत सोचिए जब भी दिया पक्का कॉन्स्टिट्यूशन दूसरों के करते हैं तब आप अपने आपको हमेशा कम देखोगे कम देखोगे तो आपको डिप्रेशन आएगा तो अननेसेसरी ए कंपटीशन में आप मत जाइएगा ऑल नेसेसरी बहुत बड़ी अपेक्षा मत कीजिएगा अपना बोल या अपना एक डेस्टिनेशन डिसाइड कीजिएगा आप और क्यों उसकी तरफ नहीं जा सकते आप स्टेप बाय स्टेप उसको जाइएगा धीरे धीरे धीरे अगर आप एक गोल की तरफ जाएंगे तो आपने डेफिनेटली वह बोल तक पहुंचेंगे अगर आप उड़ के जाना चाहोगे तो देखने के लिए आप कहीं ना कहीं तो थक के गिर जाओगे और तब आपको लगेगा कि मैं पैसा नहीं करना चाहिए गोल्ड को स्टेप बाय स्टेप आप आगे जाएगा दूसरा है कि अब मैसेज पर एक अपने आप से बहुत ज्यादा एक्टिवेशन साफ करते हो नहीं मैं खुद से टेंशन मत करो रखो कि मैं क्या हूं अपने देखने जाना ऊपर लाने का कोशिश करो अगर आप लाइफ में कभी भी फेल होते हो तो इसका मतलब यह नहीं कि आप सीनियर हो हमेशा जब अपने आपको क्लियर मिलता है ना तो हम यह सोचते कि मैं फेसबुक नहीं आप यह हमेशा याद रखेगा कि आपका वह कार्य करने का आपका वह अटेंड आपका वह एक मास्टर फेल हो गया है ना कि आप सो गए हो जब आप खुद को लेबल लगाओ कि मैं सीनियर हूं तब आप डिप्रेशन में जाओगे तब आपको बहुत बुरा लगेगा और वही आपको नकारात्मक भावना में लेकर जाता है तो यह कुछ रीजन है जो जनरल डिप्रेशन के कारण है उससे ज्यादा भी पोस्ट मनीष उसके लिए कोई पर्सनल इश्यूज को लेकर भी हम लोग बहुत डिप्रेशन में जाते हैं क्योंकि हमारे दूसरों के प्रत्येक व्यक्ति जो हम बहुत रखते हैं तो अगर आप दूसरों के स्टेशन फुल सिंह नहीं कर सकते हो तो दूसरे आपके 123 फुल फील करेंगे यह तो कोई जरूरी तो हमेशा हर व्यक्ति अपने हिसाब से चलता है तो आप यह कोशिश कीजिएगा कि आप अपने हिसाब से कैसे चल सकते हैं दूसरों से एक्सपेक्टेशन कम से कम रखेंगे तो आपको दुख कम से कम होगा दुख के लिए यही सबसे बड़े कारण होते हैं आप अपने आप को नकारात्मक भावना में लेकर जाते अपने आप को बहुत कम करते हैं हमेशा सकारात्मक दृष्टि से कोई भी चीज अगर आप फेल भी होते हो तो उसमें से आपने क्या सीखा यह देखकर मैं इसको आगे कैसे इंप्रूव कर सकता हूं अगर ऐसे सोच के आगे चलोगे तो आपको कोई भी फेलियर में डिप्रेशन नहीं आएगा थैंक यू सो मच

depression ke sabse zyada sabse pehle karan hain ek toh hai ki kaun si d doosra cheez hai ki self confidence nahi hai main abhi jo bola ki aatma vishwas nahi hona doosra hai ki hum apne aap ko ek competition mein hi lagakar rakhte hain hamesha ki mujhe dusron se hamesha behtar rehna hai mujhe dusron se hamesha aage jana hai toh agar hum apna competition dusron ke saath karte hain toh hum hamesha alag hi dikhenge maine yah nahi bola ki kam dikhenge main yah bol rahi thi hum log alag dikhenge kyonki hum alag hi hai dusron se hum dusron ki tarah nahi ban sakte hain kyonki aap alag ho dusre alag hai aapne jo khubiya hain vaah dusron mein nahi hai aur ab dusron ki khubiya aap mein dhundhana toh dekhoge toh nahi ho sakta aap apne andar paida kar sakte ho usko develop kar sakte ho lekin aap dusron ki tarah banne ka mat sochiye jab bhi diya pakka Constitution dusron ke karte hain tab aap apne aapko hamesha kam dekhoge kam dekhoge toh aapko depression aayega toh unnecessary a competition mein aap mat jaiega all necessary bahut badi apeksha mat kijiega apna bol ya apna ek destination decide kijiega aap aur kyon uski taraf nahi ja sakte aap step bye step usko jaiega dhire dhire dhire agar aap ek gol ki taraf jaenge toh aapne definetli vaah bol tak pahunchenge agar aap ud ke jana chahoge toh dekhne ke liye aap kahin na kahin toh thak ke gir jaoge aur tab aapko lagega ki main paisa nahi karna chahiye gold ko step bye step aap aage jaega doosra hai ki ab massage par ek apne aap se bahut zyada activation saaf karte ho nahi main khud se tension mat karo rakho ki main kya hoon apne dekhne jana upar lane ka koshish karo agar aap life mein kabhi bhi fail hote ho toh iska matlab yah nahi ki aap senior ho hamesha jab apne aapko clear milta hai na toh hum yah sochte ki main facebook nahi aap yah hamesha yaad rakhega ki aapka vaah karya karne ka aapka vaah attend aapka vaah ek master fail ho gaya hai na ki aap so gaye ho jab aap khud ko lebal lagao ki main senior hoon tab aap depression mein jaoge tab aapko bahut bura lagega aur wahi aapko nakaratmak bhavna mein lekar jata hai toh yah kuch reason hai jo general depression ke karan hai usse zyada bhi post manish uske liye koi personal issues ko lekar bhi hum log bahut depression mein jaate hain kyonki hamare dusron ke pratyek vyakti jo hum bahut rakhte hain toh agar aap dusron ke station full Singh nahi kar sakte ho toh dusre aapke 123 full feel karenge yah toh koi zaroori toh hamesha har vyakti apne hisab se chalta hai toh aap yah koshish kijiega ki aap apne hisab se kaise chal sakte hain dusron se expectation kam se kam rakhenge toh aapko dukh kam se kam hoga dukh ke liye yahi sabse bade karan hote hain aap apne aap ko nakaratmak bhavna mein lekar jaate apne aap ko bahut kam karte hain hamesha sakaratmak drishti se koi bhi cheez agar aap fail bhi hote ho toh usmein se aapne kya seekha yah dekhkar main isko aage kaise improve kar sakta hoon agar aise soch ke aage chaloge toh aapko koi bhi failure mein depression nahi aayega thank you so match

डिप्रेशन के सबसे ज्यादा सबसे पहले कारण हैं एक तो है कि कौन सी डी दूसरा चीज है कि सेल्फ कॉन

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
play
user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

1:44

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कैसा हो सकता है कि या तो किसी फैमिली मेंबर की मृत्यु हो गई हो और उस बच्चियों के गम से वह बाहर नहीं आ पा रहे हो जिसको हम इंग्लिश में ग्रीस कहते हैं हो सकता है कि उनका बचपन से ही नहा रहा हूं और उसे काफी उनके अब रिंगिंग में प्रॉब्लम हुआ है उनकी परवरिश में काफी प्रॉब्लम हुई है और इससे उनके साइकिल आने के दिमाग पर काफी असर पड़ा है और इसकी वजह से वह दुखी रहते हैं और हो सकता है कि उनके एडजस्टमेंट प्रॉब्लम्स है जहां पर लोगों के साथ एडजस्ट नहीं हो पाते जिसके वजह से काफी प्रॉब्लम्स आ रहे होंगे उनके इंटरपर्सनल रिश्तो में अपने संबंधों में यह हो सकता है या फिर कुछ लोग होते हैं जिन्हें लगता है कि जिंदगी का जो मकसद है जो वापस है उसको ढूंढने निकल पड़ते हैं कई लोग धोखा खाने के बाद यह नंबर जिंदगी जीना नहीं चाहते और उस और बढ़ते हैं जहां पर वह अपनी लाइफ का मीनिंग निकाले उसका वापस निकाले तो ऐसे लोग भी अकेले रहना चाहते हैं और काफी सोचते रहते हैं कि ने क्या करना चाहिए इसको उदासी और अकेलापन दोनों को हम जोड़ नहीं सकते उदास अलग होता है अकेले रहकर काम करना अलग होता है अकेले रहकर सोचना इंटरेक्ट करना कि दोनों अलग चीजें हैं तो आपको यह पता लगाना है अगर आप इंटरेस्टेड है तो अलग-अलग तक लोगों के बारे में पता लगाइए अलग-अलग प्रॉब्लम के बारे में तो आप अलग अलग टाइप अलग सॉल्यूशंस मिलेंगे आपको आपको कैसा पसंद है तो प्लीज साइकॉलजी चूस कीजिए आप की हॉबी की तरह का तो फैशन की तरह नहीं है कॉलेज ऑल सब्जेक्ट है जहां पर आप दूसरों के बिहेवियर के बारे में उनके थॉट के बारे में और उनके कॉपिंग स्किल्स और प्रॉब्लम्स के बारे में पूछ सकते हैं और उनके सॉल्यूशंस कैसे निकालने वह सीख सकते हैं दूसरों की मदद भी कर सकते हैं अगर आपको इस फिल्म में इंटरेस्टेड देखने के लिए आपको साइकोलॉजिकली से कॉफी की तरह करना चाहिए कोई कोर्स ताकि आप अपना और दूसरों का मदद कर सके

dekhiye kaisa ho sakta hai ki ya toh kisi family member ki mrityu ho gayi ho aur us bachiyo ke gum se vaah bahar nahi aa paa rahe ho jisko hum english mein grease kehte hain ho sakta hai ki unka bachpan se hi naha raha hoon aur use kafi unke ab ringing mein problem hua hai unki parvarish mein kafi problem hui hai aur isse unke cycle aane ke dimag par kafi asar pada hai aur iski wajah se vaah dukhi rehte hain aur ho sakta hai ki unke adjustment problems hai jahan par logon ke saath adjust nahi ho paate jiske wajah se kafi problems aa rahe honge unke interpersonal rishto mein apne sambandhon mein yah ho sakta hai ya phir kuch log hote hain jinhen lagta hai ki zindagi ka jo maksad hai jo wapas hai usko dhundhne nikal padate hain kai log dhokha khane ke baad yah number zindagi jeena nahi chahte aur us aur badhte hain jahan par vaah apni life ka meaning nikale uska wapas nikale toh aise log bhi akele rehna chahte hain aur kafi sochte rehte hain ki ne kya karna chahiye isko udasi aur akelapan dono ko hum jod nahi sakte udaas alag hota hai akele rahkar kaam karna alag hota hai akele rahkar sochna intarekt karna ki dono alag cheezen hain toh aapko yah pata lagana hai agar aap interested hai toh alag alag tak logon ke bare mein pata lagaaiye alag alag problem ke bare mein toh aap alag alag type alag solution milenge aapko aapko kaisa pasand hai toh please psychology chus kijiye aap ki hobby ki tarah ka toh fashion ki tarah nahi hai college all subject hai jahan par aap dusron ke behaviour ke bare mein unke thought ke bare mein aur unke copying skills aur problems ke bare mein poochh sakte hain aur unke solution kaise nikalne vaah seekh sakte hain dusron ki madad bhi kar sakte hain agar aapko is film mein interested dekhne ke liye aapko saikolajikli se coffee ki tarah karna chahiye koi course taki aap apna aur dusron ka madad kar sake

देखिए कैसा हो सकता है कि या तो किसी फैमिली मेंबर की मृत्यु हो गई हो और उस बच्चियों के गम स

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  1609
WhatsApp_icon
user

Anuj Yadav

Consulting Clinical Psychologist & Clinical Hypnotherapist

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो अक्षर डिप्रेशन में यह होता है कि डिप्रेशन दोनों तरफ से डाउनलोड किया जाता है साइकोलॉजी कली और मेडिकल मेडिकल की डिसबैलेंस महसूस करते हैं इसमें आपको नींद कम आती है भूख ज्यादा लगता है उसके बाद आपको अक्सर यह महसूस होता है कि आपके बॉडी वाइब्रेशन के दिन का रीजन अक्षर के निकल इन बैलेंस भी होता है साथ-साथ कई बार साइक्लोजिकल भी होता है यानी कि कोई रीसेंट फ्रेंड आपके लाइफ में हुआ हो आपका जाना किसी के पास जाकर मेडिसिन सेकेंडरी आजकल की स्टेज पर है लाइफ में सारी चीजें मैनेज करना किसी इंसान से काफी मुश्किल होता जा रहा है

toh akshar depression mein yah hota hai ki depression dono taraf se download kiya jata hai psychology kalee aur medical medical ki disbalance mahsus karte hain isme aapko neend kam aati hai bhukh zyada lagta hai uske baad aapko aksar yah mahsus hota hai ki aapke body vibration ke din ka reason akshar ke nikal in balance bhi hota hai saath saath kai baar saiklojikal bhi hota hai yani ki koi recent friend aapke life mein hua ho aapka jana kisi ke paas jaakar medicine secondary aajkal ki stage par hai life mein saree cheezen manage karna kisi insaan se kafi mushkil hota ja raha hai

तो अक्षर डिप्रेशन में यह होता है कि डिप्रेशन दोनों तरफ से डाउनलोड किया जाता है साइकोलॉजी क

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
user

Dr. Keerti Sachdeva

Counselling Psychologist

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन की वसूली रीजन होते हैं पहला रिजल्ट जो है वह जेनेटिक होता है मतलब आपकी जींस में है कोई ऐसी जाती है इसे फाइब्रिस्टल से जिसको आपकी वजह से आप डिप्रेशन में जा सकते हैं क्योंकि छोटे बच्चों को भी डिप्रेशन आ जाता है जैसा नहीं होता है इसी वजह से हम कैसे कहें कि उसे डिप्रेशन आया है जो कि आपकी ब्रेन सीखनी है उसको चेंज कर देती है वह ब्रेन से क्रिएशंस कई सारे होते हैं जैसे कि खेत में ऑक्सीटोसिन डोपामाइन एंड और फेल होने से भी इंसान को डिप्रेशन आ जाता है और वह चेंज होने की वजह से मैंने आपको बताया कि कोई घटना हो ना कोई ड्रामा कोशिश करना या फिर जॉब छूट जाना है ऐसी कोई चीज है पिंकू हम हाथ से खेल सकते हैं कोई घटना कह सकते हैं उनकी वजह से भी इंसान को डिप्रेशन हो सकता है तीसरा कारण यह होता है कि आपकी बॉडी में कई विटामिंस होते हैं जिनको ध्यान से आप अपनी फूडबैंक लोग नहीं करते हैं जैसे वर्तमान tb12 और थायराइड में यह तीन स्थान पर नहीं है कभी इंसान को डिप्रेशन हो सकता है तू ही सब यह तीन मेन रीजन होते हैं जिनकी वजह से इंसान डिप्रेशन में जा सकता है

depression ki vasuli reason hote hain pehla result jo hai vaah genetic hota hai matlab aapki jeans mein hai koi aisi jaati hai ise faibristal se jisko aapki wajah se aap depression mein ja sakte hain kyonki chhote bacchon ko bhi depression aa jata hai jaisa nahi hota hai isi wajah se hum kaise kahein ki use depression aaya hai jo ki aapki brain seekhni hai usko change kar deti hai vaah brain se krieshans kai saare hote hain jaise ki khet mein oxytocin dopamine and aur fail hone se bhi insaan ko depression aa jata hai aur vaah change hone ki wajah se maine aapko bataya ki koi ghatna ho na koi drama koshish karna ya phir job chhut jana hai aisi koi cheez hai pinku hum hath se khel sakte hain koi ghatna keh sakte hain unki wajah se bhi insaan ko depression ho sakta hai teesra karan yah hota hai ki aapki body mein kai vitamins hote hain jinako dhyan se aap apni fudbaink log nahi karte hain jaise vartmaan tb12 aur thyroid mein yah teen sthan par nahi hai kabhi insaan ko depression ho sakta hai tu hi sab yah teen main reason hote hain jinki wajah se insaan depression mein ja sakta hai

डिप्रेशन की वसूली रीजन होते हैं पहला रिजल्ट जो है वह जेनेटिक होता है मतलब आपकी जींस में है

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
user

Dr. Mili Singh

Psychologist and Soft Skills Trainer.

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आमिर समाचार जो मैंने देखा हूं कि आज कल में हम लोग कहीं ना कहीं अपने आप में सिर्फ बढ़ते जा रहे हैं और सोशलाइट हमारी और एक्शन लोगों से मिलकर केवल हो चुकी है यह डिप्रेशन का सबसे बड़ा कारण है दूसरी चीज है कि हम अपनी महत्वाकांक्षाओं को तो बढ़ा रहे हैं उसके अनुसार क्षमताओं से काम नहीं कर रहे हैं जो एक बार क्लियर कर रहा है इंसान को जो हासिल हो रहा है और जो चाह रहा हमको क्रिएट करता है और इसके अलावा कुछ और रिलेशनशिप को लेकर कुछ ज्यादा ही दिया जा रहा है रिकॉर्डिंग एक्शन न ले पाना डिप्रेशन का सबसे बड़ा कारण देखा जा रहा है

aamir samachar jo maine dekha hoon ki aaj kal mein hum log kahin na kahin apne aap mein sirf badhte ja rahe hain aur socialite hamari aur action logon se milkar keval ho chuki hai yah depression ka sabse bada karan hai dusri cheez hai ki hum apni mahatwakankshaon ko toh badha rahe hain uske anusaar kshamataon se kaam nahi kar rahe hain jo ek baar clear kar raha hai insaan ko jo hasil ho raha hai aur jo chah raha hamko create karta hai aur iske alava kuch aur Relationship ko lekar kuch zyada hi diya ja raha hai recording action na le paana depression ka sabse bada karan dekha ja raha hai

आमिर समाचार जो मैंने देखा हूं कि आज कल में हम लोग कहीं ना कहीं अपने आप में सिर्फ बढ़ते जा

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Dr. Ritu Kela visit YouTube channel /https://www.youtube.com/channel/UCrZ-ECXw6PsX4EUy5_-TdDw

Psychologist Psycho healer Counsellor Motivational Speaker Corporate Trainer Follow My You Tube Channel https://www.youtube.com/channel/UCrZ-ECXw6PsX4EUy5_-TdDw

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन बहुत ही कम इन प्रॉब्लम है आज की डेट में और अमीर जोड़ी आज की डेट में हम देख रहे हैं डिप्रेशन का वह लाइफस्टाइल ओरिएंटेड है अब हम लोग बहुत ज्यादा सेल्फी लेते हैं हम बहुत ज्यादा ग्रुप में नहीं होते काफी अकेलापन है थैंक्स टू ऑल द मॉडर्न गेजेट्स थैंक्स टू ऑल द इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जो हम वर्ल्ड में लगे हैं जहां हमारा पर्सनल लोगों के साथ काम हो गया है बहुत ज्यादा लगती है और किसी लायक नहीं है हम मगर चले भी जाएंगे तो कोई फर्क नहीं पड़ता हमारे घर वालों को हमारी कोई खास जरूरत नहीं है तो करीबन 15 दिन तक रह जाए तो कितने की जरूरत है आप को समझने की जरूरत है कि कहीं ना कहीं कोई ना कोई प्रॉब्लम है और उसका एसोसिएशन आपकी कोई ना कोई एपिसोड से ऐसा कुछ हो तो आप जरूर कांटेक्ट करें अपने फ्रेंड से या फिर नहीं हो तो जरूर मैं दुनिया में अकेला थैंक यू

depression bahut hi kam in problem hai aaj ki date mein aur amir jodi aaj ki date mein hum dekh rahe hain depression ka vaah lifestyle oriented hai ab hum log bahut zyada selfie lete hain hum bahut zyada group mein nahi hote kafi akelapan hai thanks to all the modern gejets thanks to all the electronic media jo hum world mein lage hain jahan hamara personal logon ke saath kaam ho gaya hai bahut zyada lagti hai aur kisi layak nahi hai hum magar chale bhi jaenge toh koi fark nahi padta hamare ghar walon ko hamari koi khas zaroorat nahi hai toh kariban 15 din tak reh jaaye toh kitne ki zaroorat hai aap ko samjhne ki zaroorat hai ki kahin na kahin koi na koi problem hai aur uska association aapki koi na koi episode se aisa kuch ho toh aap zaroor Contact karen apne friend se ya phir nahi ho toh zaroor main duniya mein akela thank you

डिप्रेशन बहुत ही कम इन प्रॉब्लम है आज की डेट में और अमीर जोड़ी आज की डेट में हम देख रहे है

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Adv. Bhavna Tripathi

Motivational Speaker and Life Coach

2:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैंने जो बताया ना कि हमारी जो एक्सपेक्टेशन होती है आजादी जानने और भी बहुत सारे अगर हम डिप्रेशन से दूर होने की बात करेंगे तो मैंने आपसे कहा कि जो मैं बात करूं क्या बात करूं जॉब इन आईटी कंपनी पुणे बनना चाहेंगे वैसा वैसा मरीज होते हैं

maine jo bataya na ki hamari jo expectation hoti hai azadi jaanne aur bhi bahut saare agar hum depression se dur hone ki baat karenge toh maine aapse kaha ki jo main baat karun kya baat karun job in it company pune banna chahenge waisa waisa marij hote hain

मैंने जो बताया ना कि हमारी जो एक्सपेक्टेशन होती है आजादी जानने और भी बहुत सारे अगर हम डिप्

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Dr ARVIND BARAD

Psychiatrist

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेसिकली सोशल मीडिया एडिक्शन बहुत होता है कि कंपल्शन होता है और उस काम को करने से एक वेल्डिंग की फीलिंग आती है पर मुकाम रिपीट होता है फिर उस पर ड्यूरेशन बढ़ जाता है और धीरे-धीरे धीरे-धीरे सब कुछ करते हैं तो इनकी पिंकी करने के राइटर इन डिफरेंट एक्टिविटी को अल्टरनेटिव एक्टिविटी को इग्नोर करते हैं यह इंडिपेंडेंस बन जाता है जो आजकल काफी है प्रदीप पंचोली से इंटरनेट एडिक्शन होने के तरीके की डिप्रेशन की फीलिंग आती ऑनलाइन एंड नॉट रेस्पॉन्डिंग 841211 लगा आप टाइपिंग कर रहे हैं और करते करते आप की बैटरी चली जाती है और वहां पर बैटरी से छोटे अवेलेबल नहीं होगी आप एकदम मीडियम पर हिंदी मीनिंग

basically social media addiction bahut hota hai ki compulsion hota hai aur us kaam ko karne se ek Welding ki feeling aati hai par mukam repeat hota hai phir us par duration badh jata hai aur dhire dhire dhire dhire sab kuch karte hain toh inki pinki karne ke writer in different activity ko Alternative activity ko ignore karte hain yah Independence ban jata hai jo aajkal kafi hai pradeep pancholi se internet addiction hone ke tarike ki depression ki feeling aati online and not respanding 841211 laga aap typing kar rahe hain aur karte karte aap ki battery chali jaati hai aur wahan par battery se chhote available nahi hogi aap ekdam medium par hindi meaning

बेसिकली सोशल मीडिया एडिक्शन बहुत होता है कि कंपल्शन होता है और उस काम को करने से एक वेल्डि

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  605
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखे अलग-अलग लोगों के आने के कारण हो सकते हैं जिस कारण से वह आज उदास है शरीर से संबंधित कोई इंसान शरीर से दुखी है रोग है कोई प्रॉब्लम है चोट है कट गया गांव है यह हो गया वह हो गया जो शारीरिक तकलीफ परेशानी पीड़ा होती दूसरा होते हैं मानसिक अब क्या होता है जो शादी होता है वह ध्यान से देखें तो वह कुछ टाइम में ठीक हो जाता है अगर ठीक नहीं भी होता अच्छी तरह से तो हमारे जेहन में नहीं रहता वह धीरे धीरे धीरे धीरे कर के निकल जाते हैं और घर जाने के बाद भी बहुत देर कोई दाग छोड़ जाता है ऐसा कुछ होता है या कभी कभी किसी केस में मान लीजिए कोई अपने हाथ पावर दवा देता है खो देता है उसका जो तकलीफ है ना वह नहीं रहता तो होता क्या है कि शरीर से हुई या जुड़ी हुई कोई भी बात ना ज्यादा देर तक हम को तकलीफ नहीं है नहीं देती जो दिमाग से जुड़ी हुई चीजें हैं वह हमको तकलीफ देती हैं अब होता क्या है शरीर में कोई चोट लगा हो तो भाव तो भर गया लेकिन दिमाग पर असर करता है ना वह थोड़ा दिक्कत होता है अगर मान लीजिए नॉरमल किसी को कोई चोट वोट वाली प्रॉब्लम नहीं है लेकिन किसी कारण से चाहे कुछ भी हो सकता है उस कारण से अगर वह व्यक्ति को चिंता होती है अधिक होती है परेशानी होती है तो बहुत टाइम पर करें सकती है अब हर इंसान को हर रिश्ते से बाहर निकलना और नहीं आता होगा क्या करें परेशान रहता है उसके बारे में सोचता रहता है चिंतन करता रहता है तो क्या होता है वह कांस्टेंट असली उसी उदासी वाले फेस में घूमता रहता है और उसे निकल नहीं पाता हमें तो यह देखना चाहिए कि निकलना कैसे हैं

dikhen alag alag logon ke aane ke karan ho sakte hain jis karan se vaah aaj udaas hai sharir se sambandhit koi insaan sharir se dukhi hai rog hai koi problem hai chot hai cut gaya gaon hai yah ho gaya vaah ho gaya jo sharirik takleef pareshani peeda hoti doosra hote hain mansik ab kya hota hai jo shadi hota hai vaah dhyan se dekhen toh vaah kuch time mein theek ho jata hai agar theek nahi bhi hota achi tarah se toh hamare jehan mein nahi rehta vaah dhire dhire dhire dhire kar ke nikal jaate hain aur ghar jaane ke baad bhi bahut der koi daag chhod jata hai aisa kuch hota hai ya kabhi kabhi kisi case mein maan lijiye koi apne hath power dawa deta hai kho deta hai uska jo takleef hai na vaah nahi rehta toh hota kya hai ki sharir se hui ya judi hui koi bhi baat na zyada der tak hum ko takleef nahi hai nahi deti jo dimag se judi hui cheezen hain vaah hamko takleef deti hain ab hota kya hai sharir mein koi chot laga ho toh bhav toh bhar gaya lekin dimag par asar karta hai na vaah thoda dikkat hota hai agar maan lijiye normal kisi ko koi chot vote waali problem nahi hai lekin kisi karan se chahen kuch bhi ho sakta hai us karan se agar vaah vyakti ko chinta hoti hai adhik hoti hai pareshani hoti hai toh bahut time par karen sakti hai ab har insaan ko har rishte se bahar nikalna aur nahi aata hoga kya karen pareshan rehta hai uske bare mein sochta rehta hai chintan karta rehta hai toh kya hota hai vaah constant asli usi udasi waale face mein ghoomta rehta hai aur use nikal nahi pata hamein toh yah dekhna chahiye ki nikalna kaise hain

दिखे अलग-अलग लोगों के आने के कारण हो सकते हैं जिस कारण से वह आज उदास है शरीर से संबंधित को

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  585
WhatsApp_icon
user

Pallavi Shimpi

(Founder and Chief Psychologist) Moving Minds India

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन के कई कारण हो सकता है और डिप्रेशन आपको आपके पिछले मतलब जो भी चाइल्डहुड में आपके साथ हुआ है उसकी वजह से भी हो सकता है या फिर अभी आपकी लाइफ में जो जो चीजें हो रही है और वह अगर बहुत ही ज्यादा स्ट्रेसफुल है उसकी वजह से ही आपको डिप्रेशन हो सकता है या फिर डिप्रेशन अपने ब्रेन में कोई केमिकल इंबैलेंस हो जाए जैसे कि और से रिटर्न इन ऑटो कमेंट करके जो वह हारमोंस होते हैं जिन्हें लेमान के लैंग्वेज में हम हाथी और मन कह सकते हैं जिनकी वजह से आपने थोड़ी होता है वह अगर वर्मा प्रड्यूस होना बंद हो जाए तो भी आपको रिपेयरिंग हो सकता है तो यह कुछ छोटे-छोटे मतलब बहुत ही साधारण कारण हो सकते हैं डिप्रेशन के और हर एक के लिए डिप्रेशन का कारण बहुत अलग अलग होता है तो हर एक के सिम्टम्स बता सकते हैं पर कारण बहुत ही विविध हो

depression ke kai karan ho sakta hai aur depression aapko aapke pichhle matlab jo bhi childhood mein aapke saath hua hai uski wajah se bhi ho sakta hai ya phir abhi aapki life mein jo jo cheezen ho rahi hai aur vaah agar bahut hi zyada stressful hai uski wajah se hi aapko depression ho sakta hai ya phir depression apne brain mein koi chemical imbailens ho jaaye jaise ki aur se return in auto comment karke jo vaah hormones hote hain jinhen leman ke language mein hum haathi aur man keh sakte hain jinki wajah se aapne thodi hota hai vaah agar verma pradyus hona band ho jaaye toh bhi aapko repairing ho sakta hai toh yah kuch chhote chhote matlab bahut hi sadhaaran karan ho sakte hain depression ke aur har ek ke liye depression ka karan bahut alag alag hota hai toh har ek ke Symptoms bata sakte hain par karan bahut hi vividh ho

डिप्रेशन के कई कारण हो सकता है और डिप्रेशन आपको आपके पिछले मतलब जो भी चाइल्डहुड में आपके स

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर कोई लंबे समय तक उदास जाता है तो उसका शारीरिक और मानसिक दोनों कारण हो सकते हैं शारीरिक कारण चित्र साभार दूर के हो सकते हैं और मानसिक कारण ज्ञानात्मक भावात्मक और प्रेरणात्मक होते हैं उसका उपाय मनोचिकित्सा दौरा किया जा सकता है ऐसा लगता है कि लंबे समय तक उदास रहना सासाराम इंटरसिटी निकलती है या डिप्रेशन मनोविदलता अगर आप हमें समर्थन करते हैं तो इसका किसी को चल मनोवैज्ञानिक से विधायक विष्णु खत्री और साइको सेटिंग दोनों मदद कर सकते हैं

agar koi lambe samay tak udaas jata hai toh uska sharirik aur mansik dono karan ho sakte hain sharirik karan chitra sabhar dur ke ho sakte hain aur mansik karan gyanatmak bhavatmak aur prernatmak hote hain uska upay manochikitsa daura kiya ja sakta hai aisa lagta hai ki lambe samay tak udaas rehna sasaram intercity nikalti hai ya depression manovidlata agar aap hamein samarthan karte hain toh iska kisi ko chal manovaigyanik se vidhayak vishnu khatri aur psycho setting dono madad kar sakte hain

अगर कोई लंबे समय तक उदास जाता है तो उसका शारीरिक और मानसिक दोनों कारण हो सकते हैं शारीरि

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1343
WhatsApp_icon
user

Krishna Kumar Nair

Program Director at Indian School of Counselling and Healing Studies (ISCHS), Psychologist, Counselling Skill Trainer, Career Counselor, Senior Vice President of International Career Counsellor’s Club, Founder of Mind Healing, Meditations Coach and Emotional Intelligence Trainer

3:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन अर्थात किनारा आज की दुनिया में बहुत सारे व्यक्तियों के अंदर फैला हुआ यह बीमारी का कारण क्या है अगर हम देखेंगे तो हर 10 व्यक्तियों में 5 से लेकर 7 लोगों के अंदर ही आजकल फाइल रहा है इसका कारण देखते हैं तो तीन कारण सबसे ज्यादा असर देते हैं यह डिप्रेशन के ऊपर पहला है बायो लॉजिकल अर्थात जैविक दूसरा है सोशियोलॉजिकल अर्थात सामूहिक और तीसरा है साइकोलॉजिकल जो मरे शास्त्र संबंधी होता है यह तीनों कारणों की वजह से हमारे दिमाग के अंदर के तांत्रिक परिपथ इसमें परिवर्तन हो जाता है न्यूरल नेटवर्क का चेंज इसके वजह से हमारे सोच एक्शन और विचार सब कुछ बदल जाता है कोई भी अच्छी चीजों से हमें खुशी भी नहीं मिल सकता है कभी-कभी जितना भी चीज से मिलेगा तो भी हम खुश नहीं हो जाते हैं या बिना कारण के बैठकर लोग रोते हैं बिना बातें करके बैठे हैं कोई छोटे-मोटे कारणों की वजह से लोग दुखी हो जाते हैं यह सारी की सारी स्टेज में लोग चले जाते हैं इसमें से कोई भी कारण की वजह से डिप्रेशन के पेपर में जवाब जाते हैं तो पहले यह देखना पड़ेगा कि कारण क्या है कारण जानने के बिना अगर ट्रीटमेंट देते हैं तो रिजल्ट भी मिलने का चांस बहुत कम है माली जी की किसी के लिए साइकोलॉजी के लिए शिव है और ऐसे केस में अगर उसको कुछ सोशल ट्रीटमेंट दे रहे हैं तो शायद उसका डिप्रेशन ठीक नहीं होगा किसी व्यक्ति का जैविक संबंध रीजन है मतलब माली जी की किसी भी चीज की वजह से किसी बीमारी की वजह से डिप्रेशन शुरू हो गया है तो इसके लिए बड़ी ट्यूशन देने से डिप्रेशन ठीक नहीं होगा या किसी के लिए साइकोलॉजिकल इशू है और उसको अच्छी तरह खाना खिलाएंगे तो भी डिप्रेशन ठीक नहीं होगा पहले हमें कारण समझना चाहिए फिर उसके बाद उसके हिसाब से हमें देना पड़ेगा यह सबसे जरूरी है बहुत सारे लोगों को एक चीज पता नहीं है और इसी वजह से वह कोई भी ट्रीटमेंट बोल देते कोई बोलते हैं गिफ्ट मेडिटेशन ले जा सकते कोई बोलते हैं दवाई खाना पड़ता है कोई बोलते हैं कि अच्छी तरह सो जाओ और खाना खाओ खेलो कूदो ऐसी चीजों से लोगों को कभी-कभी इसका इलाज नहीं मिलता है क्योंकि रीसन या इसके कारण पहले समझना चाहिए कारण की हिसाब देखकर उसके अनुसार हमें इलाज देना पड़ेगा थैंक यू सो मच

depression arthat kinara aaj ki duniya mein bahut saare vyaktiyon ke andar faila hua yah bimari ka karan kya hai agar hum dekhenge toh har 10 vyaktiyon mein 5 se lekar 7 logon ke andar hi aajkal file raha hai iska karan dekhte hain toh teen karan sabse zyada asar dete hain yah depression ke upar pehla hai bio logical arthat Jaivik doosra hai soshiyolajikal arthat samuhik aur teesra hai saikolajikal jo mare shastra sambandhi hota hai yah teenon karanon ki wajah se hamare dimag ke andar ke tantrika paripath isme parivartan ho jata hai neural network ka change iske wajah se hamare soch action aur vichar sab kuch badal jata hai koi bhi achi chijon se hamein khushi bhi nahi mil sakta hai kabhi kabhi jitna bhi cheez se milega toh bhi hum khush nahi ho jaate hain ya bina karan ke baithkar log rothe hain bina batein karke baithe hain koi chhote mote karanon ki wajah se log dukhi ho jaate hain yah saree ki saree stage mein log chale jaate hain isme se koi bhi karan ki wajah se depression ke paper mein jawab jaate hain toh pehle yah dekhna padega ki karan kya hai karan jaanne ke bina agar treatment dete hain toh result bhi milne ka chance bahut kam hai maali ji ki kisi ke liye psychology ke liye shiv hai aur aise case mein agar usko kuch social treatment de rahe hain toh shayad uska depression theek nahi hoga kisi vyakti ka Jaivik sambandh reason hai matlab maali ji ki kisi bhi cheez ki wajah se kisi bimari ki wajah se depression shuru ho gaya hai toh iske liye badi tuition dene se depression theek nahi hoga ya kisi ke liye saikolajikal issue hai aur usko achi tarah khana khilaenge toh bhi depression theek nahi hoga pehle hamein karan samajhna chahiye phir uske baad uske hisab se hamein dena padega yah sabse zaroori hai bahut saare logon ko ek cheez pata nahi hai aur isi wajah se vaah koi bhi treatment bol dete koi bolte hain gift meditation le ja sakte koi bolte hain dawai khana padta hai koi bolte hain ki achi tarah so jao aur khana khao khelo kudo aisi chijon se logon ko kabhi kabhi iska ilaj nahi milta hai kyonki risan ya iske karan pehle samajhna chahiye karan ki hisab dekhkar uske anusaar hamein ilaj dena padega thank you so match

डिप्रेशन अर्थात किनारा आज की दुनिया में बहुत सारे व्यक्तियों के अंदर फैला हुआ यह बीमारी क

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Dr. Ajit Onawale

Psychologist

3:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो डिप्रेशन है उदासी एक शब्द है बट शब्द को डिप्रेशन से ज्यादा अच्छे से समझते हैं इसके मुख्य कारण हैं हो सकते हैं एक तो बालाजी के लिए खुल सकता है और दूसरा जो है वह कॉलेज हो सकता है जब आप कोई मेडिसिंस ले रहे हैं या कोई ऐसी बीमारी से जूझ रहे हैं जिसमें कि काफी कुछ मेडिकेशन होता है या कोई ऐसी चीज है जो एक्सटर्नली आप ले रहे हैं उससे चांस है कि आप डिप्रेशन जो है जो कारण है उसके काफी अन्य कारण हो सकते हैं मुख्य कारण डिप्रेशन में जा रहे हैं सीधा तालुका एक्सपेक्टेशन सितारे को नहीं मिल रही है उसे हो सकता है बहुत बार उसका यह भी कारण होता है कि सुशील स्ट्रक्चरिंग में अगर कोई एक्सपेक्टेशन मीट नहीं हो रहे हैं आपके पैरेंट्स हाउस और हो सकता है कि आप जो है के ऑपरेशन हो सकता है बहुत कम लोग कर पाते हैं या उसको एक मूड स्विंग समझ कर छोड़ देते हैं या एक डेली रूटीन टाइप समझ कर छोड़ देते हैं जो बागी आगे चलकर बढ़ सकता है और फिर उसके बाद जब वह आपके 1 डे टुडे लाइफ में इंटरफेयर करता है तो हमको पता चलता है कि आप सो लो सो अर्ली डिटेक्शन इलाज जल्दी उठ नहीं करते हैं और रिपोर्ट नहीं करते हैं उसके ऊपर इलाज नहीं करते उसे हो सकता है कि बाद में करता है सराउंडिंग है सोशल क्लाइमेटिक कंडीशन है सोशल स्ट्रक्चर इन है कंट्रीब्यूट टुवर्ड्स तो यह के मुख्य कारण है एक शब्द में या 1 लक्षण में को बताना काफी मुश्किल है क्योंकि डिप्रेशन में हाउ डिफरेंट रूट हर एक्सप्रेशन का अलग रूट हो सकता है या किसी और चीज कम कम हो सकता है तो बेहतर होगा कि इसको एक्सपोर्ट है जो उसको टच करके आपको बताएं कल क्या है ग्रेविटी क्या है और इसका इलाज क्या है

jo depression hai udasi ek shabd hai but shabd ko depression se zyada acche se samajhte hain iske mukhya karan hain ho sakte hain ek toh balaji ke liye khul sakta hai aur doosra jo hai vaah college ho sakta hai jab aap koi medisins le rahe hain ya koi aisi bimari se joojh rahe hain jisme ki kafi kuch medication hota hai ya koi aisi cheez hai jo eksatarnali aap le rahe hain usse chance hai ki aap depression jo hai jo karan hai uske kafi anya karan ho sakte hain mukhya karan depression mein ja rahe hain seedha Taluka expectation sitare ko nahi mil rahi hai use ho sakta hai bahut baar uska yah bhi karan hota hai ki sushil structuring mein agar koi expectation meat nahi ho rahe hain aapke pairents house aur ho sakta hai ki aap jo hai ke operation ho sakta hai bahut kam log kar paate hain ya usko ek mood swing samajh kar chhod dete hain ya ek daily routine type samajh kar chhod dete hain jo baagi aage chalkar badh sakta hai aur phir uske baad jab vaah aapke 1 day today life mein intarafeyar karta hai toh hamko pata chalta hai ki aap so lo so early detection ilaj jaldi uth nahi karte hain aur report nahi karte hain uske upar ilaj nahi karte use ho sakta hai ki baad mein karta hai surrounding hai social klaimetik condition hai social structure in hai kantribyut tuvards toh yah ke mukhya karan hai ek shabd mein ya 1 lakshan mein ko bataana kafi mushkil hai kyonki depression mein how different root har expression ka alag root ho sakta hai ya kisi aur cheez kam kam ho sakta hai toh behtar hoga ki isko export hai jo usko touch karke aapko batayen kal kya hai gravity kya hai aur iska ilaj kya hai

जो डिप्रेशन है उदासी एक शब्द है बट शब्द को डिप्रेशन से ज्यादा अच्छे से समझते हैं इसके मुख्

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Renu Rawat

Consultant Clinical Psychologist

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पशु की कोई नजर रीजन अभी तक ऐसा नहीं है कि एक बार इज माय कंट्री मैं तुम्हें बता सकती आपको बता सकते हैं लेकिन मुझे जहां तक मेरे पास जाते हैं उसके कोडिंग में अगर आपको बताऊं तो रिलेशनशिप ऑफ ऑक्सीजन जिसके कारण इनविटेशन में आ रहे हैं और चिकन बिरयानी नहीं कर पा रहे हैं तुमको चीज करना है आते हैं उनके अंदर आपको देखने को मिलेगा कैसा है 89 बातें हैं

pashu ki koi nazar reason abhi tak aisa nahi hai ki ek baar is my country main tumhe bata sakti aapko bata sakte hain lekin mujhe jahan tak mere paas jaate hain uske coding mein agar aapko bataun toh Relationship of oxygen jiske karan invitation mein aa rahe hain aur chicken biryani nahi kar paa rahe hain tumko cheez karna hai aate hain unke andar aapko dekhne ko milega kaisa hai 89 batein hain

पशु की कोई नजर रीजन अभी तक ऐसा नहीं है कि एक बार इज माय कंट्री मैं तुम्हें बता सकती आपको ब

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Dr. K. C. Bhagat

Psychologist

1:32
Play

Likes  9  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user

Mahendra Joshi

Motivational Speaker www.mahendrajoshi.com

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन के काफी सारे कारण हैं एक तो सबसे बड़ा रीजन है मैं कल स्टूडेंट एजुकेशन कंपटीशन कंपटीशन से मैच नहीं कर पा रहे हैं बहुत सारे मल्टीपल बिजनेस हो सकते हैं जिसे एक रीजन है कि वह शूटिंग जो है कंप्लीट नहीं कर पा रहा है जितना कंप्यूटर उनको करना चाहिए चाहे वह एयरपोर्ट वाली बात हो सकती है या टेक्नोलॉजी के अवेलेबिलिटी होने की बात हो सकती है अगर कोई ट्रैक्टर की तरह बात करें सेकंड चीज खुद से बहुत ज्यादा एक्सपेक्टेशन और जो एक्सपेक्टेशन हैं और स्टेशन के पीछे एक निवेदन है कि बंदा बहुत तेज करो करना चाहता है जिसे हम कुकर में लाइट को बुक करने के लिए कर रखा है तो तीन बिल्कुल कम से कम चाहिए तो राइट पत्रिका पर यहां पर यह कि बंदा जो काम रहता है वह चाहता है कि बहुत जल्दी तो हर चीज का अपना एक पीरियड होता है पार्टी अपना टाइम होता है अब मुझे अगर कोई काम का रिजल्ट जल्दी चाहिए यह बात अलग है मगर उसको होने में तो आज क्या यूज़ सक्सेस बहुत जल्दी पाना चाहता है और उसके लिए रिक्वायर्ड फॉर कहीं मुझे ऐसा लगता है कि उसके लिए वोट डालता नहीं है और बहुत ज्यादा करता है दूसरों से मैं इस बात से परेशान नहीं हूं कि मेरे पास तो एम आई का फोन है मैं इस बार से ज्यादा परेशान हूं कि मेरा जो साथ ही है वह एप्पल का लेटेस्ट सरासर जुल्म यूज़ कर रहा है मैं बाकी सब चीजें कंपेयर नहीं कर रहा हूं मैं केवल वही संपर्क कर रहा हूं जो मेरे मिशन का हिस्सा है

depression ke kafi saare karan hain ek toh sabse bada reason hai main kal student education competition competition se match nahi kar paa rahe hain bahut saare multiple business ho sakte hain jise ek reason hai ki vaah shooting jo hai complete nahi kar paa raha hai jitna computer unko karna chahiye chahen vaah airport waali baat ho sakti hai ya technology ke avelebiliti hone ki baat ho sakti hai agar koi tractor ki tarah baat karen second cheez khud se bahut zyada expectation aur jo expectation hain aur station ke peeche ek nivedan hai ki banda bahut tez karo karna chahta hai jise hum cooker mein light ko book karne ke liye kar rakha hai toh teen bilkul kam se kam chahiye toh right patrika par yahan par yah ki banda jo kaam rehta hai vaah chahta hai ki bahut jaldi toh har cheez ka apna ek period hota hai party apna time hota hai ab mujhe agar koi kaam ka result jaldi chahiye yah baat alag hai magar usko hone mein toh aaj kya use success bahut jaldi paana chahta hai aur uske liye required for kahin mujhe aisa lagta hai ki uske liye vote dalta nahi hai aur bahut zyada karta hai dusron se main is baat se pareshan nahi hoon ki mere paas toh imei I ka phone hai main is baar se zyada pareshan hoon ki mera jo saath hi hai vaah apple ka latest sarasar zulm use kar raha hai main baki sab cheezen compare nahi kar raha hoon main keval wahi sampark kar raha hoon jo mere mission ka hissa hai

डिप्रेशन के काफी सारे कारण हैं एक तो सबसे बड़ा रीजन है मैं कल स्टूडेंट एजुकेशन कंपटीशन कंप

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

sadhak vijay

Yoga Teacher

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उदासी का मुख्य कारण है किसी के प्रति ज्यादा मत बन कर लेना ज्यादा प्याज उत्पन्न कर लेना वह दासी का मुख्य कारण है क्योंकि जब आप किसी के प्रति अपनी अपेक्षाएं उससे बना लेते हैं कि यह मेरा यह काम कर देगा या मैं उसको बहुत प्यार करता हूं लेकिन जब आपको वह छूटता है तब आपको बहुत दुख होता है जब आप सोचते हो कि यह किसने गलत नहीं किया क्योंकि सबकी अपनी अपनी लाइफ है वह आपको छोड़ दे सकता है लेकिन जब आप उसे ज्यादा मोह करोगे तो सीधा सलूशन त्याग की भावना कोई आपको छोड़कर जा रहा है तो बिना किसी झिझक के जाओ मुकेश के लिए एक शेयर में ज्यादा गया भागती फिरती थी दुनिया जब तलब करता था मैं मनु तनु कमरे जब मैं उनको चाहता था भागती फिरती थी दुनिया जब तलब करता था मैं अब बेवफाई हमने कि वह बेकरार आने को है तो जिंदगी में कभी निराश नहीं होंगे कभी का मुख्य कारण है वो कर लेना धन्यवाद

udasi ka mukhya karan hai kisi ke prati zyada mat ban kar lena zyada pyaaz utpann kar lena vaah dasi ka mukhya karan hai kyonki jab aap kisi ke prati apni apekshayen usse bana lete hain ki yah mera yah kaam kar dega ya main usko bahut pyar karta hoon lekin jab aapko vaah chhutataa hai tab aapko bahut dukh hota hai jab aap sochte ho ki yah kisne galat nahi kiya kyonki sabki apni apni life hai vaah aapko chhod de sakta hai lekin jab aap use zyada moh karoge toh seedha salution tyag ki bhavna koi aapko chhodkar ja raha hai toh bina kisi jhijhak ke jao mukesh ke liye ek share mein zyada gaya bhaagti firti thi duniya jab talab karta tha main manu tanu kamre jab main unko chahta tha bhaagti firti thi duniya jab talab karta tha main ab bewafai humne ki vaah bekarar aane ko hai toh zindagi mein kabhi nirash nahi honge kabhi ka mukhya karan hai vo kar lena dhanyavad

उदासी का मुख्य कारण है किसी के प्रति ज्यादा मत बन कर लेना ज्यादा प्याज उत्पन्न कर लेना वह

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  500
WhatsApp_icon
user

Dr.Monika Jhamb

Counselling Psychologist

1:51
Play

Likes  8  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

Yogita Madan

RE-CBT Psychotherapist , Child Psychotherapist

2:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन है ग्रुप में अलग-अलग कारणों की वजह से हो सकता है और जो मिली हम डिप्रेशन यूथ में आज के डेट पर देख रहे हैं उसके बेसिक कारण है बहुत बच्चों में लाइफ ऑफ सेल्फ एस्टीम है तू जो इमेज बच्चे अपने बारे में फील करते हैं द काइंड ऑफ पर्सन उनको सोशल एनवायरमेंट में मिलता है इस वेरी थ्रेटनिंग फॉर द self-image दूसरे को बहुत फील करके खुद को रेस्ट करते हैं एंड उसके बाद कोई भी काइंड ऑफ फॉसिल ईयर कोई भी टाइम सेट बाय कोई भी करते हैं उसको खुद को तो टेंशन होता है उसका इतना नेगेटिव हो जाता है जिस वजह से खुद के बारे में बहुत मैजिक्टूब लिखी करने लगते हैं होटल सेल्फी वैल्यूएशन को नेगेटिव बनाकर उसका इंपैक्ट वेरी लार्ज के लेते हैं व्हिच कैन वी वन ऑफ द मेजर जिसने रहते हैं जो इंडिया बहुत ही गिल प्रोन्नति बहुत बार हमारे आज हमारा चॉइस व्हील्स बहुत ही गिल्ट के कांटेक्ट मिली है वहीं रहते हैं जैन रिलीज एंड यह सब के बाद में जब वह अपने लेटर युसूफ लाइफ में देखते हैं तो उन्होंने अपनी लाइफ में खुद के लिए बहुत कम हासिल किया है तो वह उनके सामने एक बात पर क्वेश्चन कराता है कि फिर मेरी सेल्स बर्थ क्या है व्हाट इज फर्मेंटेशन इन एडल्ट्स यदि तू 4 मीटर रेस

depression hai group mein alag alag karanon ki wajah se ho sakta hai aur jo mili hum depression youth mein aaj ke date par dekh rahe hain uske basic karan hai bahut bacchon mein life of self esteem hai tu jo image bacche apne bare mein feel karte hain the chahinde of person unko social environment mein milta hai is very threatening for the self image dusre ko bahut feel karke khud ko rest karte hain and uske baad koi bhi chahinde of fossil year koi bhi time set bye koi bhi karte hain usko khud ko toh tension hota hai uska itna Negative ho jata hai jis wajah se khud ke bare mein bahut maijiktub likhi karne lagte hain hotel selfie vailyueshan ko Negative banakar uska impact very large ke lete hain which can v van of the major jisne rehte hain jo india bahut hi gil pronnati bahut baar hamare aaj hamara choice wheels bahut hi gilt ke Contact mili hai wahin rehte hain jain release and yah sab ke baad mein jab vaah apne letter yusuf life mein dekhte hain toh unhone apni life mein khud ke liye bahut kam hasil kiya hai toh vaah unke saamne ek baat par question karata hai ki phir meri sales birth kya hai what is fermentation in edalts yadi tu 4 meter race

डिप्रेशन है ग्रुप में अलग-अलग कारणों की वजह से हो सकता है और जो मिली हम डिप्रेशन यूथ में आ

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
user

Dr Girish Patel

Psychologist

3:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तुम्हें बताना चाहता हूं कि आम लोगों के लिए हर बीमारी डिप्रेशन एक्स साइकोलॉजी में लिस्ट मिनिमम भी देखें जो मेजर बीमारियां है वहीं करीब 10 12 बीमारियां है लेकिन आम व्यक्ति को डिप्रेशन जिसको एक्चुली कहा जाता है मतलब कि व्यक्ति को निराशा गई टूट गया उसको हम डिप्रेशन कहेंगे कि कुछ अच्छा नहीं लगता है और इसके कारण पर विचार करना हो तो मीन कारण तो यह है कि जब कोई भी समस्या आती है तो व्यक्ति कोशिश करता है लेकिन जब उसे लगता है कि भी यह मेरी कैपेसिटी के बाहर की बात है तो उसे भी माफ कर देता है जब उसके सामने प्रॉब्लम हो सकता है पारिवारिक समस्या हो सकती है हो सकती है हैंडल नहीं कर पाता है तो टूट जाता है और उड़ी परेशान है न्यूक्लियर फैमिली में वह सपोर्ट नहीं मिलता है वह भी एक डिप्रेशन का कारण है और इस डिप्रेशन का कारण नहीं कि हमारा जो माइंड कंट्रोल है वरना पहले वह इंटरनल था तो इसके कारण भी डिप्रेशन काम होता था अब बाहर ही बातों पर हम डिपेंड करते हैं कि मेरा घर कितना बड़ा है मेरी गाड़ी कितनी बड़ी है हम घूमने कहां जा रहे हैं इन सब बातों का इंपॉर्टेंट देते हैं वह बाहरी चीजें अप एंड डाउन होनी है उससे भी हमारा डिप्रेशन बज रहा है और एक कारण है कंपैरिजन सभी लोग अपने आपको दूसरों के साथ संपर्क करते हैं पहले भी गांव में रहते थे करीब करीब था अभी तो बहुत कुछ संपर्क करने को एक पेशेंट को इसलिए डिप्रेशन हुआ कि उनका पड़ोसी है उस इंदापुर घूमने के लिए गया और हमारे पास इंदापुर घूमने के पैसे नहीं है वह सोच क्यों डिप्रेस्ड हो गया तो यह भी एक महत्वपूर्ण कारण है कि हम ज्यादा ही कंपेयर कर रहे हैं और एक कारण है कि आज ना डिजिटल भी आ गया जहां पर भी मोबाइल की स्क्रीन जो है वह भी ब्लू लाइट रेडिएट करती है उसके कारण भी प्रॉब्लम होगा तो नहीं होगी और इस कारण पूर्वी है कि जो जंक फूड आ गया उससे भी जो प्रॉपर न्यूट्रिएंट्स मिलने चाहिए और ठीक से नहीं मिल रहे हैं और वह भी थैंक यू

tumhe bataana chahta hoon ki aam logon ke liye har bimari depression x psychology mein list minimum bhi dekhen jo major bimariyan hai wahin kareeb 10 12 bimariyan hai lekin aam vyakti ko depression jisko ekchuli kaha jata hai matlab ki vyakti ko nirasha gayi toot gaya usko hum depression kahenge ki kuch accha nahi lagta hai aur iske karan par vichar karna ho toh meen karan toh yah hai ki jab koi bhi samasya aati hai toh vyakti koshish karta hai lekin jab use lagta hai ki bhi yah meri capacity ke bahar ki baat hai toh use bhi maaf kar deta hai jab uske saamne problem ho sakta hai parivarik samasya ho sakti hai ho sakti hai handle nahi kar pata hai toh toot jata hai aur udi pareshan hai nuclear family mein vaah support nahi milta hai vaah bhi ek depression ka karan hai aur is depression ka karan nahi ki hamara jo mind control hai varana pehle vaah internal tha toh iske karan bhi depression kaam hota tha ab bahar hi baaton par hum depend karte hain ki mera ghar kitna bada hai meri gaadi kitni badi hai hum ghoomne kahaan ja rahe hain in sab baaton ka important dete hain vaah baahri cheezen up and down honi hai usse bhi hamara depression baj raha hai aur ek karan hai kampairijan sabhi log apne aapko dusron ke saath sampark karte hain pehle bhi gaon mein rehte the kareeb kareeb tha abhi toh bahut kuch sampark karne ko ek patient ko isliye depression hua ki unka padosi hai us indapur ghoomne ke liye gaya aur hamare paas indapur ghoomne ke paise nahi hai vaah soch kyon depressed ho gaya toh yah bhi ek mahatvapurna karan hai ki hum zyada hi compare kar rahe hain aur ek karan hai ki aaj na digital bhi aa gaya jahan par bhi mobile ki screen jo hai vaah bhi blue light rediet karti hai uske karan bhi problem hoga toh nahi hogi aur is karan purvi hai ki jo junk food aa gaya usse bhi jo proper nyutrients milne chahiye aur theek se nahi mil rahe hain aur vaah bhi thank you

तुम्हें बताना चाहता हूं कि आम लोगों के लिए हर बीमारी डिप्रेशन एक्स साइकोलॉजी में लिस्ट मिन

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user

Jignesh Sonani

Counselling Psychologist

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन व नुकसान हो सकते हैं जो भी होता है टोटल मीडिया सकता है इंटरनेशनल के कम हो जाते हो सकता है पढ़ाई को लेकर प्रॉब्लम

depression v nuksan ho sakte hain jo bhi hota hai total media sakta hai international ke kam ho jaate ho sakta hai padhai ko lekar problem

डिप्रेशन व नुकसान हो सकते हैं जो भी होता है टोटल मीडिया सकता है इंटरनेशनल के कम हो जाते हो

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
user

Sujatha Sharma

Psychologist & Social Worker

2:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए डिप्रेशन जो है तू कारणों से हो सकता है या तो जेनेटिक है तो उसके लिए हमें क्योंकि केमिकल चेंज कुछ इस तरह से होती हैं हमारी बॉडी के अंदर जो लोगों को नहीं पता होता बहुत तुमको अपनी सिम्टम्स भी समझ में नहीं आता कि क्यों हमारे शरीर के अंदर यहां हमारे व्यवहार में इस तरह के चेंज हो रहे हो इसलिए सबसे पहले तो यह जानना जरूरी है कि जेनेटिक रीजन से भी हमें डिप्रेशन हो सकता है तो हम यह देखें कि क्या हमारे परिवार में इस तरह के कुछ लोग कभी रहे हैं जिनको कि डिप्रेशन रहा है अगर हमें पता चलता है कि ऐसा कुछ है अगर हमें डिप्रेशन नहीं भी है तो वह भी हमें इसके लिए काम करना चाहिए अभी से यह नहीं सोचना चाहिए कि अगर डिप्रेशन होगा तो ही हम कुछ करेंगे जीवन में और तभी हम कुछ इसका इलाज कर लेंगे तो इसलिए अगर हमें पता चलता है कि अगर परिवार में कुछ ऐसा है तो हमें उसकी पहले से ही अलर्ट होना चाहिए क्योंकि इस तरह के हार्मोन चेंज होते हैं हमारी बॉडी के अंदर वह भी हमारा डिप्रेशन का कारण हो सकते हैं जो कि ए टीनएज में अक्सर तेरा 14 साल की एज में बच्चों में इस तरह के डिप्रेशन के सिम्टम्स देखने को मिले हैं क्योंकि हार्मोन अल चेंज होते हैं पेरेंट्स को नहीं पता होता बच्चों के अंदर कुछ इस तरह के व्यवहार में उनके चेंज की जाती हैं तो वह हमारे पास लेकर आते हैं बताते हैं कि अब हम क्या करें यह बच्चे बहुत अग्रेसिव हो गए हैं तो अगर हम समझ पाएंगे यह हार्मोन की वजह से है और उसके लिए हम कुछ कर पाए तो बच्चे आगे जाकर डिप्रेशन का शिकार नहीं होंगे और कुछ पिज़्ज़ा डिप्रेशन है कुछ हमारे जीवन में कुछ इस तरह की घटनाएं होती हैं वह भी डिप्रेशन का कारण हो सकती हैं तो यह सारा इसके लिए हमें या तो सेक्रेट्स के पास या फिर कॉलेज के पास जा सबसे पहले इसका डांस करवाना बहुत जरूरी है तो उसके बाद ही हम उसके ऊपर थेरेपी हम क्या चाहते हैं साइकोथेरेपी चाहते हैं या काउंसलिंग चाहते हैं या हमें कुछ मेडिसिन की जरूरत है बहुत सारे लोग यह नहीं जानते कि मेडिसन लेने से ही ठीक होगा या काउंसलिंग से ठीक होगा तो इसका फैसला जो है करेंगे तो सबसे पहले अगर आपको लगता है कि हमारे अंदर कोई इस तरह की तीन चीज है जो कि हमें लगता है हमारे नॉर्मल व्यवहार से अलग हैं तो हमें डायग्नोज के लिए सेक्रेटरी यहां से कॉलेज के पास जाना चाहिए थैंक यू

dekhiye depression jo hai tu karanon se ho sakta hai ya toh genetic hai toh uske liye hamein kyonki chemical change kuch is tarah se hoti hain hamari body ke andar jo logon ko nahi pata hota bahut tumko apni Symptoms bhi samajh mein nahi aata ki kyon hamare sharir ke andar yahan hamare vyavhar mein is tarah ke change ho rahe ho isliye sabse pehle toh yah janana zaroori hai ki genetic reason se bhi hamein depression ho sakta hai toh hum yah dekhen ki kya hamare parivar mein is tarah ke kuch log kabhi rahe hain jinako ki depression raha hai agar hamein pata chalta hai ki aisa kuch hai agar hamein depression nahi bhi hai toh vaah bhi hamein iske liye kaam karna chahiye abhi se yah nahi sochna chahiye ki agar depression hoga toh hi hum kuch karenge jeevan mein aur tabhi hum kuch iska ilaj kar lenge toh isliye agar hamein pata chalta hai ki agar parivar mein kuch aisa hai toh hamein uski pehle se hi alert hona chahiye kyonki is tarah ke hormone change hote hain hamari body ke andar vaah bhi hamara depression ka karan ho sakte hain jo ki a teenage mein aksar tera 14 saal ki age mein bacchon mein is tarah ke depression ke Symptoms dekhne ko mile hain kyonki hormone al change hote hain parents ko nahi pata hota bacchon ke andar kuch is tarah ke vyavhar mein unke change ki jaati hain toh vaah hamare paas lekar aate hain batatey hain ki ab hum kya karen yah bacche bahut aggressive ho gaye hain toh agar hum samajh payenge yah hormone ki wajah se hai aur uske liye hum kuch kar paye toh bacche aage jaakar depression ka shikaar nahi honge aur kuch pizza depression hai kuch hamare jeevan mein kuch is tarah ki ghatnayen hoti hain vaah bhi depression ka karan ho sakti hain toh yah saara iske liye hamein ya toh sekrets ke paas ya phir college ke paas ja sabse pehle iska dance karwana bahut zaroori hai toh uske baad hi hum uske upar therapy hum kya chahte hain psychotherapy chahte hain ya kaunsaling chahte hain ya hamein kuch medicine ki zaroorat hai bahut saare log yah nahi jante ki medicine lene se hi theek hoga ya kaunsaling se theek hoga toh iska faisla jo hai karenge toh sabse pehle agar aapko lagta hai ki hamare andar koi is tarah ki teen cheez hai jo ki hamein lagta hai hamare normal vyavhar se alag hain toh hamein dayagnoj ke liye secretary yahan se college ke paas jana chahiye thank you

देखिए डिप्रेशन जो है तू कारणों से हो सकता है या तो जेनेटिक है तो उसके लिए हमें क्योंकि केम

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Dr. Vidhi Gupta

Psychologist, Counselling Psychologist

3:46
Play

Likes  9  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!