रामायण और महाभारत काल में घूंघट प्रथा नहीं थी, यह घूंघट प्रथा मुस्लिम राजाओं के भारत में आने पर शुरू हुई थी, क्योंकि ये लोग हिंदू औरतों को उठवा लेते थे, और उनका जबरन बलात्कार करते थे, इसलिए मुस्लिम बलात्कारियों से बचने के लिए भारत में घूंघट प्रथा शुरू हुई, क्या ये सत्य है?...


user

Chand Mohd

Teacher, Social Worker, Love Expert & Islamic Thinker

4:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी आपका सवाल यह है भारत में जो पर्दा प्रथा है वह इसलिए आई क्योंकि यहां जो मुस्लिम शासक आए वह औरतों की इज्जत लूट लिया करते थे तो उनसे बचने के लिए ऑटो ने आपदा करना शुरू कर दिया थोड़ा इतिहास पढ़ेंगे सर्च कीजिए आंकड़ा गूगल पर आपको मालूम पड़ेगा कि जिस दौर में यहां मुस्लिम शासक आए राजा महाराजा बने यहां पर आकर उस दौर में भारत का यह हाल था कि यहां जो दलित वर्ग के लोग थे उनकी औरतों को अपने जिस्म के ऊपर के हिस्से को खुला रखना पड़ता था उन्हें यह अधिकार प्राप्त नहीं था कि वह अपनी छातियों को ढक सकें उनके दलित होने का यह पहचान थी उनको यह कलर किसी ने दिया है तो मुस्लिम राजाओं ने दिया है मुस्लिम शासकों ने दिया है इस पर तक आकर खत्म किया एक बार तो अगर वह इतने ही बुरे थे क्या जरूरत थी उन्हें ऐसा यह सब करने की बंद कर नहीं वह तो उधर चाहते यह खुला रहे और मालूम पड़े कौन और कितनी अच्छी लगती अंदर से एक बात दूसरी बात यह है कि क्या किसी राज को ही राजा और महाराजा किसी औरत की इज्जत लूटने के लिए इस बात का मोहताज है कि अगर वह और पता कर लेगी तो वह चीज अपने लूटेगा आपको क्या लगता है कि क्या राजा और महाराजा को सिर्फ यही काम रहता था चुटकी और ढूंढ रहे हैं और कौन सी अच्छी है कौन से खराब है और जब नहीं दिख रही तो इसकी आप दिख नहीं रहे उनको पता कर लिया तो इसलिए अब लूटेंगे अगर किसी राजा को किसी महाराजा को इज्जत लूटने है जुल्म करना है तो पर्दा प्रथा जो है उसके दिल को रोक नहीं सकती राजा कभी जाकर कुंडी ढूंढता यह कौन सी अच्छी है कौन से खराब है राजा के नौकर चाकर और राजा के जो नाम है या राजा के लिए काम करने वाले हैं वह लोग कहते हैं यह काम अब कभी भी आप पड़े तो आपको मालूम पड़ेगा कि राजाओं के लिए महाराजाओं के लिए गुप्त चर का जो काम किया का था वह वह लोग जो है गुप्त सूचनाएं लाकर दे दे तू क्या वह गुप्ता मर गए थे कि भाई आप ऑटो से परदा करना क्यों कर दिया तो इसलिए जो है राधा को पता ही चल रहा है कि आप कौन से और खूबसूरत है तू छोड़ दे रहे हैं यह सब चीजें जो हैं यह पापा गंदे हैं और पापा कंडा करके जो है भारत के अंदर मुस्लिम शासकों के खिलाफ एक माहौल बनाकर आज की जो मुसलमान है उनके खिलाफ उनके उनके प्रति लोगों के दिलों में नफरत पैदा करना करने का एक यह पकड़ा है थोड़ा सोच में बैठकर बार करें आपको मालूम पड़ेगा कि इसमें कोई सच्चाई नहीं है जहां तक आपके सवाल सवाल का जवाब है तू इसमें यकीनन कोई भी सच्चाई नहीं है ऐसा कभी नहीं हुआ करता था भारत में भारत के धर्म ग्रंथ में भारतीय धर्म ग्रंथों में अगर हम सबसे बड़े ग्रंथ की बात करते हैं तो वेद का नाम आता है और वेदों के अंदर इस तरह के श्लोक मिलते हैं जहां पर वेद जो है नारी को नारी के पूरे जिस्म को ढक लेने की बात करते हैं नारी को पता करने की तालीम देते हैं तू जो प्रदा है वह वेद से वेद के द्वार से हैं और आपको पता होना चाहिए कि हिस्टोरियन जो है वह महाभारत और रामायण हिस्टोरियन महाभारत और रामायण रामायण को कहानी सब कुछ नहीं मानते तू वेद को जबकि एक हाथी का तस्लीम की जाती है कि वीर हकीकत में कुछ ऐसे धर्म ग्रंथ हैं जो पुराने जमाने चले आ रहे हैं उनकी एक मान्यता आज भी है कहा जाता है कि भारत में जो हिंदू धर्म है वह असल में वैदिक धर्म ग्रंथ का नाम तो यह मैंने आपको जवाब दिया आपका सवाल का आप से थोड़ी थी और स्टडी कर सकते हैं और अगर आप को ही मिलता है ऐसा कि नहीं मुस्लिम शासन करते थे तो सबूत के साथ में आप बात कीजिए ताकि हमें हमारा भी जो है जो है

ji aapka sawaal yah hai bharat me jo parda pratha hai vaah isliye I kyonki yahan jo muslim shasak aaye vaah auraton ki izzat loot liya karte the toh unse bachne ke liye auto ne aapda karna shuru kar diya thoda itihas padhenge search kijiye akanda google par aapko maloom padega ki jis daur me yahan muslim shasak aaye raja maharaja bane yahan par aakar us daur me bharat ka yah haal tha ki yahan jo dalit varg ke log the unki auraton ko apne jism ke upar ke hisse ko khula rakhna padta tha unhe yah adhikaar prapt nahi tha ki vaah apni chatiyon ko dhak sake unke dalit hone ka yah pehchaan thi unko yah color kisi ne diya hai toh muslim rajaon ne diya hai muslim shaasakon ne diya hai is par tak aakar khatam kiya ek baar toh agar vaah itne hi bure the kya zarurat thi unhe aisa yah sab karne ki band kar nahi vaah toh udhar chahte yah khula rahe aur maloom pade kaun aur kitni achi lagti andar se ek baat dusri baat yah hai ki kya kisi raj ko hi raja aur maharaja kisi aurat ki izzat lutane ke liye is baat ka mohtaaz hai ki agar vaah aur pata kar legi toh vaah cheez apne lutega aapko kya lagta hai ki kya raja aur maharaja ko sirf yahi kaam rehta tha chutakee aur dhundh rahe hain aur kaun si achi hai kaun se kharab hai aur jab nahi dikh rahi toh iski aap dikh nahi rahe unko pata kar liya toh isliye ab lutenge agar kisi raja ko kisi maharaja ko izzat lutane hai zulm karna hai toh parda pratha jo hai uske dil ko rok nahi sakti raja kabhi jaakar kundi dhundhta yah kaun si achi hai kaun se kharab hai raja ke naukar chakar aur raja ke jo naam hai ya raja ke liye kaam karne waale hain vaah log kehte hain yah kaam ab kabhi bhi aap pade toh aapko maloom padega ki rajaon ke liye maharajaon ke liye gupt char ka jo kaam kiya ka tha vaah vaah log jo hai gupt suchnaen lakar de de tu kya vaah gupta mar gaye the ki bhai aap auto se parda karna kyon kar diya toh isliye jo hai radha ko pata hi chal raha hai ki aap kaun se aur khoobsurat hai tu chhod de rahe hain yah sab cheezen jo hain yah papa gande hain aur papa kanda karke jo hai bharat ke andar muslim shaasakon ke khilaf ek maahaul banakar aaj ki jo musalman hai unke khilaf unke unke prati logo ke dilon me nafrat paida karna karne ka ek yah pakada hai thoda soch me baithkar baar kare aapko maloom padega ki isme koi sacchai nahi hai jaha tak aapke sawaal sawaal ka jawab hai tu isme yakinan koi bhi sacchai nahi hai aisa kabhi nahi hua karta tha bharat me bharat ke dharm granth me bharatiya dharm granthon me agar hum sabse bade granth ki baat karte hain toh ved ka naam aata hai aur vedo ke andar is tarah ke shlok milte hain jaha par ved jo hai nari ko nari ke poore jism ko dhak lene ki baat karte hain nari ko pata karne ki talim dete hain tu jo prada hai vaah ved se ved ke dwar se hain aur aapko pata hona chahiye ki historian jo hai vaah mahabharat aur ramayana historian mahabharat aur ramayana ramayana ko kahani sab kuch nahi maante tu ved ko jabki ek haathi ka taslim ki jaati hai ki veer haqiqat me kuch aise dharm granth hain jo purane jamane chale aa rahe hain unki ek manyata aaj bhi hai kaha jata hai ki bharat me jo hindu dharm hai vaah asal me vaidik dharm granth ka naam toh yah maine aapko jawab diya aapka sawaal ka aap se thodi thi aur study kar sakte hain aur agar aap ko hi milta hai aisa ki nahi muslim shasan karte the toh sabut ke saath me aap baat kijiye taki hamein hamara bhi jo hai jo hai

जी आपका सवाल यह है भारत में जो पर्दा प्रथा है वह इसलिए आई क्योंकि यहां जो मुस्लिम शासक आ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  81
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!