फिल्म इंडस्ट्री में एक्टिंग का कोर्स कैसे करें?...


user

Gaurav Srivastava

Director & Producer

1:52
Play

Likes  55  Dislikes    views  713
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ramgopal Mali

Film And Tv Director

2:09
Play

Likes  83  Dislikes    views  2079
WhatsApp_icon
user

Abhilash Shah

Osho Sannyasi, Actor, Acting Trainer, Filmmaker, Life Coach, Yogi - Meditator

6:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप मेरा कांटेक्ट कर सकते हैं और मेरा नाम अभिलाषा है और फेसबुक पर मैं अवेलेबल हूं आप वहां पर मुझे मैसेज कर सकते हैं मैं एक्टिंग सिखाता हूं और मैं खुद एक एक्टर अर्जुन एक्टर काम कर रहा हूं अभी तो आप मेरा प्रोफाइल देख सकते हैं आप फेसबुक में और अगर आपको सबसे पहले आप कौन से सिटी से बिलॉन्ग करते हैं वह आपने जानकारी नहीं दी है तो आप जहां से बिलॉन्ग करते हैं वहां से आप शुरू करें तो वह ज्यादा बेहतर रहेगा नॉर्मल ही लोग ऐसा करते हैं कि सब छोड़-छाड़ के मुंबई आ जाते हैं वहां कोर्स ज्वाइन करते हैं फिर इंस्टॉल करते हैं फिर देखते हैं इंडस्ट्री का असली रूप और फिर वापस आ जाते हैं और फिर first-rate रहते हैं पूरी लाइफ में तो यह नॉर्मल ही सबके साथ ऐसा होता है सबका ज्यादातर एक्सपीरियंस है इसीलिए मैं आपको सजेस्ट करूंगा कि आप जहां हैं वहां से शुरू कीजिए क्योंकि मुंबई में मौका है बट एक्टिंग तो जिंदगी से ही सीखे सीखने को मिलती है हां जो कोर्स करो उसमें आपको गाइडेंस मिलेगा कि जो भी हमने जीवन से जो अनुभव लिया है उसको कैमरे के सामने कैसे एक्सप्रेस करें उसका गाइडेंस मिलेगा लेकिन अनुभव तो हमारा खुद का होना ही पड़ेगा अगर अनुभव नहीं है तो कैसे होगा एक्टिंग का एक फिल्म दो फिल्म बस दो फिल्में ही सब खाली हो जाता है उसके बाद तो हमारा जो अनुभव है वही काम आता है जीवन का अनुभव तो वह जीवन का अनुभव आपको मिलेगा आप जहां पर रहते हो वहां पर दूसरा मैं आपको सजेस्ट करूंगा कि फुल टाइम यह काम शुरू में मत कीजिए आपकी पर मंथ इनकम होना जरूरी है फिक्सिंग कम होना जरूरी है क्योंकि अगर आपकी पिक सिम काम है तो आप एक्टिविटी पर नहीं करोगे और आप एक्टिंग में ज्यादा सरवाइव कर पाओगे क्योंकि एक्टिंग में रोज काम मिलता है नहीं मिलता है कुछ भी नहीं होता है और हमारा पर मंथ एक्सपेंस फिक्स होता है तो अगर आपको कम नहीं भी मिला तो अभी वह एक्सपेंस तो होना ही होना है तो इसीलिए आपकी जो लाइफस्टाइल का जो एक्सपेक्टशंस है वह कितना है वह आप देखो और उस हिसाब से आप एक मैनेजमेंट रखो फाइनेंस फाइनेंस का एक मैनेजमेंट रखो कि हां हर महीने इतना पैसा आपको कमाना है तो उसके लिए कोई एक्टिविटी आप देख लो और पार्ट टाइम में यह काम करो फिर धीरे धीरे धीरे धीरे अगर आपको इसमें ज्यादा काम मिलने लगे और इनकम बढ़ने लगे उसके बाद फिर आती है फुल टाइम कर सकते हो ऐसा मेरा सजेशन है तो यह पहले बात अब क्लियर रख लो आप क्या कर सकते हो कि आप जहां जॉब कर रहे हो जैसे मैंने बोला क्या फुल टाइम यह मत कीजिए कहीं पर जॉब कीजिए तो उसी को अपना मंच बना दो क्योंकि हम फिल्मों में करते क्या है एक्टिंग में करते क्या है कि हमको कोई कैरेक्टर दिया गया उसको हम प्ले करते हैं तो उसमें हम एक लाइफ क्रिएट करते हैं तो अगर मैं लाइफ देखी नहीं है तुम क्रिएट क्या करेंगे तो यह आपके पास मौका है आपकी स्ट्रगल आप का मौका है जीवन को देखने का अनुभव करने का तो उसको इस तरह से ले कि यही आपकी ट्रेनिंग बिगड़े तो आप कहां पर काम कर रहे हो वहां पर जाओ मैक्सिमम कांटेक्ट बनो क्योंकि जब आपको फिल्म में मौका मिलेगा ना आपको ऑडियो चाहिए की तो कोई भी बंदा आपको देखने क्यों जाएगा इसीलिए आपको आपकी खुद की ऑडियंस बनानी है तो ऑडियंस भी आपकी वही से मिलेगी और जिंदगी का अनुभव भी आपको वहीं से मिलेगा तुझे दो काम आपको करना है तो आपकी जैसे जैसे ऑडियंस बनेगी लोग आपका कांटेक्ट नेटवर्किंग बढ़ेगा तो जो भी आपकी फिल्म आएगी ब्लैक छोटी सही तो वह लोग देखेंगे क्योंकि उनके साथ आपका पर्सनल कांटेक्ट है पर तलब कर रहे उनके साथ 1 रन से पर्सनल जाएंगे यार अपना बंदा है इस पिक टेबल 1 सेकंड का रोल क्यों ना हो तो यह फर्क पड़ता है तो आप यह किसकी जी आपका नेटवर्किंग बढ़ाइए और अब जिंदगी को देखिए अलग अलग तरीके से जैसे कि आप एंप्लोई हो तो आप अगर एंप्लोई देखो एक दिन आप सबके पॉइंट ऑफ यू समझने की कोशिश करो आपके बॉस का पॉइंट ऑफ यू आपके कली का पॉइंट ऑफ यू आपका खुद का पॉइंट ऑफ यू आप घर में जाते हो आप जॉब कर रहे हो तो किस तरह से पांडव की होता है जॉब नहीं होता तो कैसे होता है सबकी बातें सुनो आप सबकी लाइफ को समझो दूसरा कि अपना दिल खोल ना होता है तब को तो यह ज्यादातर नहीं करते हैं ज्यादातर एक्टर बहुत पॉलिटिकल और डरपोक होते हैं पर्सनल लाइफ में ऐसा मैंने देखा है तो ऐसे लोग अच्छी ऐक्टिंग नहीं कर पाते थोड़ा बहुत कर लेते टेक्निकली क्राफ्ट क्राफ्ट क्राफ्ट से बेवकूफ़ बना सकते हैं लेकिन दिल को छू जाने वाली एक्टिंग है ना वह तो वही कर पाते हैं जिसका भी बड़ा होता है तो वह एक कोशिश करनी है आपको शेयरिंग करना है अनकंडीशनल शेयरिंग शेयरिंग का मतलब यह नहीं कि पैसे देने हैं हम प्रेम भी दे सकते हैं किसी को सुनाई दे सकते हैं किसी के साथ बैठ सकते हैं किसी की बात सुन सकते हैं किसी को एक अच्छा गार्डन पी सकते हमारे पास जो भी है वह शेयर कर सकते हैं किसी को खाना खिला सकते हैं कितना कुछ कर सकते हैं कितना कुछ है लाइफ में करने को करने का भावुक होना चाहिए शेयर करने का एक भाव होना चाहिए तो अगर यह चीज एक्टर में है तो उसका दिल धीरे-धीरे खुलेगा और दिल खुलने से क्या होगा कि जब आपको स्क्रिप्ट दी जाएगी कर लिया जाएगा तो वह सीधा आपके अंदर उतर जाएगा यह जो नाटक कर देना मेथड मेथड एक्टिंग के नाम पर जो यह सब नाटक चल रहा है अभी पूरे वह सब नहीं करना पड़ेगा वह करना पड़ता है क्यों क्योंकि उन लोगों का दिल खुला हुआ नहीं इसीलिए उनको यह सारे ड्रामेबाजी करनी पड़ती है इसीलिए सबसे पहले दिल खोलना पड़ता है क्योंकि अगर आपका इमोशन खुला हुआ नहीं है तो एक्टिंग नहीं निकलेगी और इमोशन खोलने का यही तरीका है कि हमारा मैक्सिमम लोगों के साथ इन ट्रैक करो और सबके लिए एक-एक प्रेमभाव रखो सब के लिए करुणा रखो तो यह भाव अगर आपके भीतर जागेगा तो एक्टिंग तो उसका शैडो है एक्टिंग तो यह सारे भाव का शैडो शैडो की तरह आपको ढूंढती हुई आएगी तो यह थोड़ा है थोड़ा अलग लगेगा बात आपको बट यह सही बात है यह पर्सनल एक्सपीरियंस मैं आपको बता रहा हूं मैंने तो एक्टिंग कोर्स भी किया हुआ है मैं खुद भी खाता भी हूं और यह भी एक्सपीरियंस करने के बाद मैं आपको बताता हूं सबसे असरकारक जो चीज देना वह यह है और दूसरा एक ऑब्जर्वेशन होना चाहिए आपका साथ ऑब्जरवेशन होना चाहिए कि लोग लोग के किस तरह लोग अपना मूड बदल देते हैं किस तरह से अपना काम निकालने के लिए लोग एक एक तरीका बदल लेते हैं बात करने का और एक दूसरा एक गेम होता है स्टेटस गेम कि अगर किसी को पता नहीं है कि आप क्या हो तो कैसे बोलते हैं और पता चलता है क्या हो तो कैसे बोलते तो यह सारे एलिमेंट में ही पता चलेगा और यह और यह कोशिश करूंगा कि आप जहां पर काम कर रहे हैं जहां पर जो जो भी कर रहे हैं आप तो उसी को अपना मंच बना लीजिए और अगर आपको उसमें कुछ डिफिकल्टी है वह कुछ समझने में डिफिकल्टी है या तो टेक्निकल क्राफ्ट समझने में कुछ डिफिकल्टी है इनका तो आप मेरा कांटेक्ट कर सकते हो फेसबुक में और मुझे मैसेज कर सकते हो अभिलाष आप सर्च करिएगा तो मैं आ जाऊंगा फेसबुक में और विल बी इंटर और आप मुझे राइफल्स के लिए बताइएगा कि आप गूगल में से आपने मुझे कांटेक्ट

aap mera Contact kar sakte hain aur mera naam abhilasha hai aur facebook par main available hoon aap wahan par mujhe massage kar sakte hain main acting sikhata hoon aur main khud ek actor arjun actor kaam kar raha hoon abhi toh aap mera profile dekh sakte hain aap facebook me aur agar aapko sabse pehle aap kaun se city se Belong karte hain vaah aapne jaankari nahi di hai toh aap jaha se Belong karte hain wahan se aap shuru kare toh vaah zyada behtar rahega normal hi log aisa karte hain ki sab chhod chad ke mumbai aa jaate hain wahan course join karte hain phir install karte hain phir dekhte hain industry ka asli roop aur phir wapas aa jaate hain aur phir first rate rehte hain puri life me toh yah normal hi sabke saath aisa hota hai sabka jyadatar experience hai isliye main aapko suggest karunga ki aap jaha hain wahan se shuru kijiye kyonki mumbai me mauka hai but acting toh zindagi se hi sikhe sikhne ko milti hai haan jo course karo usme aapko guidance milega ki jo bhi humne jeevan se jo anubhav liya hai usko camera ke saamne kaise express kare uska guidance milega lekin anubhav toh hamara khud ka hona hi padega agar anubhav nahi hai toh kaise hoga acting ka ek film do film bus do filme hi sab khaali ho jata hai uske baad toh hamara jo anubhav hai wahi kaam aata hai jeevan ka anubhav toh vaah jeevan ka anubhav aapko milega aap jaha par rehte ho wahan par doosra main aapko suggest karunga ki full time yah kaam shuru me mat kijiye aapki par month income hona zaroori hai fixing kam hona zaroori hai kyonki agar aapki pic sim kaam hai toh aap activity par nahi karoge aur aap acting me zyada survive kar paoge kyonki acting me roj kaam milta hai nahi milta hai kuch bhi nahi hota hai aur hamara par month expense fix hota hai toh agar aapko kam nahi bhi mila toh abhi vaah expense toh hona hi hona hai toh isliye aapki jo lifestyle ka jo eksapektashans hai vaah kitna hai vaah aap dekho aur us hisab se aap ek management rakho finance finance ka ek management rakho ki haan har mahine itna paisa aapko kamana hai toh uske liye koi activity aap dekh lo aur part time me yah kaam karo phir dhire dhire dhire dhire agar aapko isme zyada kaam milne lage aur income badhne lage uske baad phir aati hai full time kar sakte ho aisa mera suggestion hai toh yah pehle baat ab clear rakh lo aap kya kar sakte ho ki aap jaha job kar rahe ho jaise maine bola kya full time yah mat kijiye kahin par job kijiye toh usi ko apna manch bana do kyonki hum filmo me karte kya hai acting me karte kya hai ki hamko koi character diya gaya usko hum play karte hain toh usme hum ek life create karte hain toh agar main life dekhi nahi hai tum create kya karenge toh yah aapke paas mauka hai aapki struggle aap ka mauka hai jeevan ko dekhne ka anubhav karne ka toh usko is tarah se le ki yahi aapki training bigade toh aap kaha par kaam kar rahe ho wahan par jao maximum Contact bano kyonki jab aapko film me mauka milega na aapko audio chahiye ki toh koi bhi banda aapko dekhne kyon jaega isliye aapko aapki khud ki adiyans banani hai toh adiyans bhi aapki wahi se milegi aur zindagi ka anubhav bhi aapko wahi se milega tujhe do kaam aapko karna hai toh aapki jaise jaise adiyans banegi log aapka Contact networking badhega toh jo bhi aapki film aayegi black choti sahi toh vaah log dekhenge kyonki unke saath aapka personal Contact hai par talab kar rahe unke saath 1 run se personal jaenge yaar apna banda hai is pic table 1 second ka roll kyon na ho toh yah fark padta hai toh aap yah kiski ji aapka networking badhaiye aur ab zindagi ko dekhiye alag alag tarike se jaise ki aap employee ho toh aap agar employee dekho ek din aap sabke point of you samjhne ki koshish karo aapke boss ka point of you aapke kalee ka point of you aapka khud ka point of you aap ghar me jaate ho aap job kar rahe ho toh kis tarah se pandav ki hota hai job nahi hota toh kaise hota hai sabki batein suno aap sabki life ko samjho doosra ki apna dil khol na hota hai tab ko toh yah jyadatar nahi karte hain jyadatar actor bahut political aur darpok hote hain personal life me aisa maine dekha hai toh aise log achi acting nahi kar paate thoda bahut kar lete technically craft craft craft se bevakuf bana sakte hain lekin dil ko chu jaane wali acting hai na vaah toh wahi kar paate hain jiska bhi bada hota hai toh vaah ek koshish karni hai aapko sharing karna hai unconditional sharing sharing ka matlab yah nahi ki paise dene hain hum prem bhi de sakte hain kisi ko sunayi de sakte hain kisi ke saath baith sakte hain kisi ki baat sun sakte hain kisi ko ek accha garden p sakte hamare paas jo bhi hai vaah share kar sakte hain kisi ko khana khila sakte hain kitna kuch kar sakte hain kitna kuch hai life me karne ko karne ka bhavuk hona chahiye share karne ka ek bhav hona chahiye toh agar yah cheez actor me hai toh uska dil dhire dhire khulega aur dil khulne se kya hoga ki jab aapko script di jayegi kar liya jaega toh vaah seedha aapke andar utar jaega yah jo natak kar dena method method acting ke naam par jo yah sab natak chal raha hai abhi poore vaah sab nahi karna padega vaah karna padta hai kyon kyonki un logo ka dil khula hua nahi isliye unko yah saare dramebaji karni padti hai isliye sabse pehle dil kholna padta hai kyonki agar aapka emotion khula hua nahi hai toh acting nahi nikalegi aur emotion kholne ka yahi tarika hai ki hamara maximum logo ke saath in track karo aur sabke liye ek ek premabhav rakho sab ke liye karuna rakho toh yah bhav agar aapke bheetar jaagegaa toh acting toh uska shadow hai acting toh yah saare bhav ka shadow shadow ki tarah aapko dhundhti hui aayegi toh yah thoda hai thoda alag lagega baat aapko but yah sahi baat hai yah personal experience main aapko bata raha hoon maine toh acting course bhi kiya hua hai main khud bhi khaata bhi hoon aur yah bhi experience karne ke baad main aapko batata hoon sabse asarakarak jo cheez dena vaah yah hai aur doosra ek observation hona chahiye aapka saath abjaraveshan hona chahiye ki log log ke kis tarah log apna mood badal dete hain kis tarah se apna kaam nikalne ke liye log ek ek tarika badal lete hain baat karne ka aur ek doosra ek game hota hai status game ki agar kisi ko pata nahi hai ki aap kya ho toh kaise bolte hain aur pata chalta hai kya ho toh kaise bolte toh yah saare element me hi pata chalega aur yah aur yah koshish karunga ki aap jaha par kaam kar rahe hain jaha par jo jo bhi kar rahe hain aap toh usi ko apna manch bana lijiye aur agar aapko usme kuch difficulty hai vaah kuch samjhne me difficulty hai ya toh technical craft samjhne me kuch difficulty hai inka toh aap mera Contact kar sakte ho facebook me aur mujhe massage kar sakte ho abhilash aap search kariega toh main aa jaunga facebook me aur will be inter aur aap mujhe rifles ke liye bataiega ki aap google me se aapne mujhe Contact

आप मेरा कांटेक्ट कर सकते हैं और मेरा नाम अभिलाषा है और फेसबुक पर मैं अवेलेबल हूं आप वहां प

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
user

@satyam.20

Student

0:51
Play

Likes  10  Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:10

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी बिल्कुल फिल्म एचडी इमेज हैप्पी का कोर्स होता है बहुत सारे एक्टिंग स्कूल है अगर आप गूगल पर एक्टिंग स्कूल सच करेंगे तो आपको बहुत सारे जगह मिल जाएंगे जिससे आप एक्टिंग कोर्स कर सकते हैं

vicky bilkul film hd image happy ka course hota hai bahut saare acting school hai agar aap google par acting school sach karenge toh aapko bahut saare jagah mil jaenge jisse aap acting course kar sakte hain

विकी बिल्कुल फिल्म एचडी इमेज हैप्पी का कोर्स होता है बहुत सारे एक्टिंग स्कूल है अगर आप गूग

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  317
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
बिल्कुल एचडी ; fccm course ; बिल्कुल फिल्में ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!