सरकार को एयर इंडिया के निजीकरण न करने का सुझाव दिया गया है, सरकार को क्या करना चाहिए? क्यों?...


play
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी की एयर इंडिया के ऊपर 51890 करोड रुपए का कर्ज है इसका प्राइवेटाइजेशन नहीं करा गया किया गया तो यह लोन चुकाना उनके लिए किसी भी हालत में पॉसिबल नहीं है तुम मुझे लगता है कि अब समय आ चुका है कि एयर इंडिया का प्राइवेटाइजेशन किया जाना चाहिए के पूरे विश्व में ऐसी बहुत सारी बड़ी बड़ी है लाइन से जिनमें गवर्नमेंट को कोई इंटरफेरेंस है ही नहीं हो सारी प्राइवेट एयरलाइंस से लुफ्थांसा को ले लीजिए ब्रिटिश ब्रिटिश Reliance 3G यह सारी प्राइवेट एयरलाइंस और प्राइवेट कंपनी सीने ऑपरेट करती है और वैसे भी दिखे प्राइवेट सेक्टर ज्यादा ऑर्गनाइज होता है सरकारी सेक्टर से मेरे हिसाब से तो प्राइवेटाइजेशन होने के बाद मेरी नहीं हो सकता है कि और आगे बढ़ सके और उसमें और इंप्रूवमेंट जा सके क्योंकि सरकारी में तू दिखे ऐसा हम लोग करप्शन इतना हमारे सरकारी सेक्टर में की सूची से जनता के लिए होनी चाहिए वह सारा पैसा तो बीच में रोका जाता जी नहीं पाता जनता तक तू तो प्राइवेटाइजेशन के अलावा किसी की सरकार के पास कोई ऑप्शन ही नहीं क्योंकि 51890 करो रुपए का कर्ज चुकाना जिस पर 5000 करोड़ का इंटरेस्ट लग चुका है वह आप ही तो है कार के लिए पॉसिबल है नहीं तूने प्राइवेटाइजेशन करवा देना चाहिए

hindi ki air india ke upar 51890 crore rupaye ka karj hai iska privatisation nahi kara gaya kiya gaya toh yah loan chukaana unke liye kisi bhi halat mein possible nahi hai tum mujhe lagta hai ki ab samay aa chuka hai ki air india ka privatisation kiya jana chahiye ke poore vishwa mein aisi bahut saree badi badi hai line se jinmein government ko koi interference hai hi nahi ho saree private airlines se lufthansa ko le lijiye british british Reliance 3G yah saree private airlines aur private company seene operate karti hai aur waise bhi dikhe private sector zyada arganaij hota hai sarkari sector se mere hisab se toh privatisation hone ke baad meri nahi ho sakta hai ki aur aage badh sake aur usme aur improvement ja sake kyonki sarkari mein tu dikhe aisa hum log corruption itna hamare sarkari sector mein ki suchi se janta ke liye honi chahiye vaah saara paisa toh beech mein roka jata ji nahi pata janta tak tu toh privatisation ke alava kisi ki sarkar ke paas koi option hi nahi kyonki 51890 karo rupaye ka karj chukaana jis par 5000 crore ka interest lag chuka hai vaah aap hi toh hai car ke liye possible hai nahi tune privatisation karva dena chahiye

हिंदी की एयर इंडिया के ऊपर 51890 करोड रुपए का कर्ज है इसका प्राइवेटाइजेशन नहीं करा गया किय

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:00
Play

Likes  1  Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
nkarne ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!