नोटबंदी के बाद भ्रष्टाचार बढ़ा है या नहीं?...


play
user

Ravi Sharma

Advocate

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नोटबंदी भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की पहली सीढी थी उसकी दूसरी सीढ़ी सीजीएसटी जिसके माध्यम से केवल मध्यवर्गीय करदाताओं को राहत प्रदान करने के लिए जोकर का जवाब था वह अन्य वर्ग पर भी स्थानांतरित किया गया अकस्मात थी करदाताओं की संख्या पूरे भारतवर्ष में पढ़ती चली गई और आज के समय में अगर हम देखें तो मैं आ पाएंगे करदाता ना केवल मध्यमवर्ग अथवा निम्न आय वर्ग से आते हैं बल्कि कुछ स्वर्ग से भी लोग कर देने के लिए बाध्य हो चुके हैं इस की तीसरी और सबसे महत्वपूर्ण CD ज्योति बात चली नोटबंदी के पश्चात जबकि आपको हर चीज आधार से अपना हर प्रकार की जो आर्थिक क्रियाकलाप थे वह आधार कार्ड से जोड़ना अनिवार्य कर दिया क्या जिससे कि आप जो बड़े करदाता थे अथवा वह लोग जो कर नहीं देते थे उनको BF कर देने के लिए बाध्य होना पड़ेगा तो मैं मानता हूं कि यह सारी चीजें आपस में जुड़ी है जीएसटी हो जइबा आधार से अपने आर्थिक क्रियाकलापों को जोड़ना हो चाहे वह नोटबंदी हो उससे भ्रष्टाचार पर कुल मिलाकर के अंकुश लगा है वह आने वाले समय में बहुत ही प्रभावी ढंग से इसको जो है हम लागू कर पाएंगे तथा भ्रष्टाचार में आमूलचूल परिवर्तन आएंगे भ्रष्टाचार के लिए जिस प्रकार की कानून बने बने सख्ती से लागू नहीं किया जा सका इन छोटे-छोटे माध्यमों के द्वारा हम ना केवल यह सुनिश्चित करेंगे Kick करदाताओं को कुछ राहत मिले उनके ऊपर से कोई जवाब कम हो साथ ही साथ अनैतिक तरह से करना देने वाले जो व्यवसाई भरते व्यापारी वक्त है उन पर भी दबाव बढ़ेगा तो था वह चीज के लिए बाध्य होंगे कि वह जिस प्रकार का आर्थिक भ्रष्टाचार भारतीय अर्थव्यवस्था में फैला रहे थे उस से भारतीय अर्थव्यवस्था को निजात मिलेगी तथा भारत की विकास दर आने वाले समय में इन सभी कदमों के माध्यम से भरने की अपेक्षा है धन्यवाद

notebandi bhrashtachar par ankush lagane ki pehli sidhi thi uski dusri sidhi CGST jiske madhyam se keval madhyawargiya kardataon ko rahat pradan karne ke liye joker ka jawab tha vaah anya varg par bhi sthanantarit kiya gaya akasmat thi kardataon ki sankhya poore bharatvarsh mein padhati chali gayi aur aaj ke samay mein agar hum dekhen toh main aa payenge kardata na keval madhyamavarg athva nimn aay varg se aate hain balki kuch swarg se bhi log kar dene ke liye badhya ho chuke hain is ki teesri aur sabse mahatvapurna CD jyoti baat chali notebandi ke pashchat jabki aapko har cheez aadhaar se apna har prakar ki jo aarthik kriyakalap the vaah aadhaar card se jodna anivarya kar diya kya jisse ki aap jo bade kardata the athva vaah log jo kar nahi dete the unko BF kar dene ke liye badhya hona padega toh main manata hoon ki yah saree cheezen aapas mein judi hai gst ho jaiba aadhaar se apne aarthik kriyaklapon ko jodna ho chahen vaah notebandi ho usse bhrashtachar par kul milakar ke ankush laga hai vaah aane waale samay mein bahut hi prabhavi dhang se isko jo hai hum laagu kar payenge tatha bhrashtachar mein amulchul parivartan aayenge bhrashtachar ke liye jis prakar ki kanoon bane bane sakhti se laagu nahi kiya ja saka in chhote chhote maadhyamon ke dwara hum na keval yah sunishchit karenge Kick kardataon ko kuch rahat mile unke upar se koi jawab kam ho saath hi saath anaitik tarah se karna dene waale jo vyavasai bharte vyapaari waqt hai un par bhi dabaav badhega toh tha vaah cheez ke liye badhya honge ki vaah jis prakar ka aarthik bhrashtachar bharatiya arthavyavastha mein faila rahe the us se bharatiya arthavyavastha ko nijat milegi tatha bharat ki vikas dar aane waale samay mein in sabhi kadmon ke madhyam se bharne ki apeksha hai dhanyavad

नोटबंदी भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की पहली सीढी थी उसकी दूसरी सीढ़ी सीजीएसटी जिसके माध्यम स

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  233
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
notebandi kis din hui thi ; भारत में नोटबंदी कब हुआ था ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!