पंडित होकर लड़की की तरफ आकर्षित हो गए। ये कैसे हो गया?...


play
user

Mayank Bidawatka

Co-founder Vokal

1:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठाकरा पंडित है और लड़की की तरफ आकर्षित हो गए इस पर ज्यादा चिंतित होने की बात नहीं है मेरे हिसाब से आप शायद पंडित गलत समय पर बन चुके हैं पंडित किसी को तभी बनना चाहिए जब वह काफी एक्सपीरियंस के शुरू गुजर चुके हैं और उन्हें अंदर से लगता है कि अभी उनको सब कुछ त्याग देना चाहिए अगर कोई जल्दबाजी में पंडित बन जाता है किसी के दबाव पर दबाव से पंडित बन जाते हैं तब जाकर उनको ऐसी घटनाएं होने लगती है कि जो उनके मन में है वह बात है वह कार्य वह उनके उनको काटता रहता है वह उनको लगता है कि मुझे यह करना चाहिए तो अंडा चावल हो जाता है अगर कोई सच में समझ जाए कि शरीर और आत्मा अलग चीज है और शरीर भी टेंपरेरी है तो उनको लड़की की तरफ आकर्षित होने का चार्ट अगर पंडित जी आकर्षित हो गए उनकी गलती नहीं है क्योंकि बहुत ही ना चल चीज है बहुत ह्यूमन चीज है

thakra pandit hai aur ladki ki taraf aakarshit ho gaye is par zyada chintit hone ki baat nahi hai mere hisab se aap shayad pandit galat samay par ban chuke hain pandit kisi ko tabhi banna chahiye jab vaah kaafi experience ke shuru gujar chuke hain aur unhe andar se lagta hai ki abhi unko sab kuch tyag dena chahiye agar koi jaldabaji mein pandit ban jata hai kisi ke dabaav par dabaav se pandit ban jaate hain tab jaakar unko aisi ghatnaye hone lagti hai ki jo unke man mein hai vaah baat hai vaah karya vaah unke unko katata rehta hai vaah unko lagta hai ki mujhe yah karna chahiye toh anda chawal ho jata hai agar koi sach mein samajh jaaye ki sharir aur aatma alag cheez hai aur sharir bhi tempareri hai toh unko ladki ki taraf aakarshit hone ka chart agar pandit ji aakarshit ho gaye unki galti nahi hai kyonki bahut hi na chal cheez hai bahut human cheez hai

ठाकरा पंडित है और लड़की की तरफ आकर्षित हो गए इस पर ज्यादा चिंतित होने की बात नहीं है मेरे

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दी पंडित होकर अगर आप लड़की की तरफ आकर्षित हो गया है तो कोई फर्क नहीं पड़ता हम तो वैसे भी इंसान हैं मानव है और इंसान का नेचर होता है कि वह अपने से अपना जो ऑपोजिट सेक्स है उसकी तरफ अट्रेक्ट होते ही होता है नाटक की और हमारी टीम से हमारे खुद के वश में है रावण महा पंडित जी से कहा जाता है कि रावण से ज्ञानी कोई नहीं था उसे महापंडित कहा जाता है और रावण जब महापंडित होने की बात नहीं सिर्फ आकर्षित हो सकता है लेकिन उसकी बुद्धि इतनी भ्रष्ट हो सकते कि उन्हें खुद आ चूकी चारों जगत के पालनहार भगवान विष्णु उनकी पत्नी को वह जब अपहरण करके ला सकते हैं तो हम तो सिर्फ मानव अधिक संतान है हमसे गलती बिल्कुल हो सकती है

di pandit hokar agar aap ladki ki taraf aakarshit ho gaya hai toh koi fark nahi padta hum toh waise bhi insaan hain manav hai aur insaan ka nature hota hai ki vaah apne se apna jo opposite sex hai uski taraf atrekt hote hi hota hai natak ki aur hamari team se hamare khud ke vash mein hai ravan maha pandit ji se kaha jata hai ki ravan se gyani koi nahi tha use mahapandit kaha jata hai aur ravan jab mahapandit hone ki baat nahi sirf aakarshit ho sakta hai lekin uski buddhi itni bhrasht ho sakte ki unhe khud aa chuki charo jagat ke palanahar bhagwan vishnu unki patni ko vaah jab apahran karke la sakte hain toh hum toh sirf manav adhik santan hai humse galti bilkul ho sakti hai

दी पंडित होकर अगर आप लड़की की तरफ आकर्षित हो गया है तो कोई फर्क नहीं पड़ता हम तो वैसे भी इ

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  338
WhatsApp_icon
user
1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पंडित होकर किसी लड़की की तरफ आकर्षित हो गया है तो इसमें कोई गलत बात नहीं है देखिए जो हमारे पंडित होते हैं पंडित भले ही पंडित हो या कोई और भी हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता को एक लड़का हो सकता है या एक आदमी हो सकता है तो पंडित जो होता है वह लड़के भी हो सकता है जरूरी नहीं है वह बड़ी इसका कोई आदमी हो या थोड़ा बड़ा हो तो पंडित जी जो है वह भी आकर्षक लड़की लड़कियों की तरफ हो सकते हैं क्योंकि जो हम लड़के होते हैं को सबसे बड़ी लड़कियों का फिगर देखते हैं और जब मैं उसे इंप्रेस हो गए तब वह लड़की से बात करना शुरू कर देते हैं तो यह जरूरी नहीं है कि एक लड़का किसी लड़की की और बुरी नजर से ही देखता है एक महिला जो कहरी लाल साड़ी में स्टाइलिश दिख रही होगी वह भी पुरुषों हो यानी कि लड़कों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने में पूरी कामयाब हो जाएगी तो यह बिल्कुल भी जरूरी नहीं है क्योंकि पंडित भी इंसान ही होता है उसमें भी लड़के वाले गुण होते हैं तो यह प्यार की पहली सीढ़ी होती है कि जब लड़के का अपनी पसंद की लड़की की ओर झुकाव पैदा होने लग जाता है तो उन्हें उस लड़की कहीं भी हर बात अच्छी लगती है क्योंकि उस टाइम जो यह आकर्षण होता है वह बढ़ जाता है कि वह उनके लड़कों का हम लड़कों का मन भरना भी बंद हो जाता है या कंचन इतना गहरा होता है कि लड़का उस लड़की का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के लिए कुछ भी कर सकता है यदि उसका यह प्रयास सफल हो रहा है तो वह भी सीडी पर बढ़ने का जो कह कोशिश करता है और मैं रुकता नहीं है एक बार जब लड़की किसी लड़की को पसंद करने लगती है तो वे अपना सारा ध्यान लड़की को इंप्रेस करने में ही लगा देता है तो इसलिए यही होता है कि हम जो भी है पंडित जी हैं या आईएस ऑफिसर है या आर्मी ऑफिसर है कोई भी है तो लड़कियों से बात सब करते हैं तो इसमें कोई भी बुरी बात नहीं है

pandit hokar kisi ladki ki taraf aakarshit ho gaya hai toh isme koi galat baat nahi hai dekhiye jo hamare pandit hote hain pandit bhale hi pandit ho ya koi aur bhi ho isse koi fark nahi padta ko ek ladka ho sakta hai ya ek aadmi ho sakta hai toh pandit jo hota hai vaah ladke bhi ho sakta hai zaroori nahi hai vaah badi iska koi aadmi ho ya thoda bada ho toh pandit ji jo hai vaah bhi aakarshak ladki ladkiyon ki taraf ho sakte hain kyonki jo hum ladke hote hain ko sabse badi ladkiyon ka figure dekhte hain aur jab main use impress ho gaye tab vaah ladki se baat karna shuru kar dete hain toh yah zaroori nahi hai ki ek ladka kisi ladki ki aur buri nazar se hi dekhta hai ek mahila jo kahari laal saree mein stylish dikh rahi hogi vaah bhi purushon ho yani ki ladko ka dhyan apni aur aakarshit karne mein puri kamyab ho jayegi toh yah bilkul bhi zaroori nahi hai kyonki pandit bhi insaan hi hota hai usme bhi ladke waale gun hote hain toh yah pyar ki pehli sidhi hoti hai ki jab ladke ka apni pasand ki ladki ki aur jhukaav paida hone lag jata hai toh unhe us ladki kahin bhi har baat achi lagti hai kyonki us time jo yah aakarshan hota hai vaah badh jata hai ki vaah unke ladko ka hum ladko ka man bharna bhi band ho jata hai ya kanchan itna gehra hota hai ki ladka us ladki ka dhyan apni aur aakarshit karne ke liye kuch bhi kar sakta hai yadi uska yah prayas safal ho raha hai toh vaah bhi CD par badhne ka jo keh koshish karta hai aur main rukata nahi hai ek baar jab ladki kisi ladki ko pasand karne lagti hai toh ve apna saara dhyan ladki ko impress karne mein hi laga deta hai toh isliye yahi hota hai ki hum jo bhi hai pandit ji hain ya ias officer hai ya army officer hai koi bhi hai toh ladkiyon se baat sab karte hain toh isme koi bhi buri baat nahi hai

पंडित होकर किसी लड़की की तरफ आकर्षित हो गया है तो इसमें कोई गलत बात नहीं है देखिए जो हमारे

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  329
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!