अगर हमें मरना है तो हम क्या करें?...


user

Bk Arun Kaushik

Youth Counselor Motivational Speaker

4:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार अगर हमें मरना है तो हम क्या करें साथियों यह आप क्या बोल रहे हो मरने के बारे में मानव जीवन बहुमूल्य है दुनिया की कोई भी शक्ति इंसान को मार नहीं सकती यह तो दे है जिसके लिए तुम कह रहे हो यह तो नाच बाने वैसे ही परंतु इसकी जैसी कीमत कोई दे भी नहीं सकता जो जीते मिली है जिसके लिए तुम कह रहे हो ऐसी इसकी कीमत कोई नहीं दे सकता मानव जीवन ही रेतूल है उसकी कोई कीमत नहीं होती किसी कैंसर की पेशेंट या किसी हार्ट के पेशेंट या जो पेशेंट वेंटीलेटर पर पड़ा है उससे जरा जाकर बात करो पूछो तो सही क्या कह रहे हो डॉक्टर से डॉक्टर से अब जितना भी पैसा हो लगा दो बचपन मुझे बचा लो ऐसे सोच रहे हैं वो जीने के लिए और अब मरने की सोच रहे हो कोई ऐसी समस्या का समाधान ना मिलना मतलब की मृत्यु हो जाए याद रखना अगले जन्म में इससे भी भयंकर सजा मिलेगी अगर इस तरह हम जाएंगे किसी भी रूप में मिल सकती है सजा क्योंकि आप परमात्मा की अनुपम उपहार हो उसकी संतान हो मानव जीवन को नष्ट करने से सोच रहे हो माना परमात्मा के गिफ्ट को तुम नष्ट कर रहे हो किसी कमी के कारण किसी दुख के कारण किसी परेशानी के कारण हार मान रहे हो नहीं यहीं से तो नया जीवन शुरू होता है आप भी सोच लो कि आप मर गए कल से एक नया जीवन आपका हुआ है इस सोच लीजिए और नए उमंग से नए उत्साह से नई सोच से बोलना शुरू करो जीवन जीना शुरु करो एक नया नजरिया बना लो तो यह जीवन बहुमूल्य है भाई इससे भगवान का अमानत समझो इसे गवाना नहीं इसकी जैसी कीमत कोई भी नहीं दे सकता अरे मानव तरसते हैं मानव जीवन के लिए और आप ऐसी बात कर रहे हो क्या करना है अपनी वैल्यू को पहचानो आपको कितने लोगों से मैं मिलवा सकता हूं जिन्होंने आप जैसा सोचा था कभी और आज वह इतने आनंद से जीवन जी रहे हैं और क्या बोलते हैं कि हमने बहुत गलत सोचा था मानव जीवन इतना वैल्युएबल है हमने एक पल के लिए थोड़े समय के दुख के नारियल पानी के कर ऐसा सोचा इसलिए भविष्य ऐसा कभी भी नहीं सोचना ऐसा कभी भी आपको नहीं बोलना कि मरना तो है ही पंचू एक हुसैन नेचुरल मरना इको तक खुद जीव हत्या अर्थात यह महापाप है इसकी बहुत नुकसान होता है इंसान को अपना नुकसान होते हैं क्योंकि ना वह इस जन्म में संतुष्ट रहा और ना ही वह अगले जन्म में भी संतुष्ट नहीं होगा क्योंकि परमात्मा के गिफ्ट को हम अपने हाथों से नष्ट कर रहे हैं उसकी वैल्यू नहीं रखे इसलिए आज के बाद कभी मत सोचना कि हमें मरना है नहीं हमें जीना है मरकज यह समझ लो मेरा मृत्यु हो गई समझ लीजिए कल से एक नई उमंग के साथ नई उत्साह के साथ नई एक शक्ति के साथ एक नई सोच के साथ जीना शुरु करो यह जीवन gul-o-gulzar हो जाएगा इन्हीं शुभकामनाओं के साथ कि आप भविष्य में ऐसा एक बार भी नहीं सोचेंगे धन्यवाद

namaskar agar hamein marna hai toh hum kya kare sathiyo yah aap kya bol rahe ho marne ke bare me manav jeevan bahumulya hai duniya ki koi bhi shakti insaan ko maar nahi sakti yah toh de hai jiske liye tum keh rahe ho yah toh nach bane waise hi parantu iski jaisi kimat koi de bhi nahi sakta jo jeete mili hai jiske liye tum keh rahe ho aisi iski kimat koi nahi de sakta manav jeevan hi retul hai uski koi kimat nahi hoti kisi cancer ki patient ya kisi heart ke patient ya jo patient ventilator par pada hai usse zara jaakar baat karo pucho toh sahi kya keh rahe ho doctor se doctor se ab jitna bhi paisa ho laga do bachpan mujhe bacha lo aise soch rahe hain vo jeene ke liye aur ab marne ki soch rahe ho koi aisi samasya ka samadhan na milna matlab ki mrityu ho jaaye yaad rakhna agle janam me isse bhi bhayankar saza milegi agar is tarah hum jaenge kisi bhi roop me mil sakti hai saza kyonki aap paramatma ki anupam upahar ho uski santan ho manav jeevan ko nasht karne se soch rahe ho mana paramatma ke gift ko tum nasht kar rahe ho kisi kami ke karan kisi dukh ke karan kisi pareshani ke karan haar maan rahe ho nahi yahin se toh naya jeevan shuru hota hai aap bhi soch lo ki aap mar gaye kal se ek naya jeevan aapka hua hai is soch lijiye aur naye umang se naye utsaah se nayi soch se bolna shuru karo jeevan jeena shuru karo ek naya najariya bana lo toh yah jeevan bahumulya hai bhai isse bhagwan ka amanat samjho ise gavana nahi iski jaisi kimat koi bhi nahi de sakta are manav taraste hain manav jeevan ke liye aur aap aisi baat kar rahe ho kya karna hai apni value ko pehchano aapko kitne logo se main milva sakta hoon jinhone aap jaisa socha tha kabhi aur aaj vaah itne anand se jeevan ji rahe hain aur kya bolte hain ki humne bahut galat socha tha manav jeevan itna vailyuebal hai humne ek pal ke liye thode samay ke dukh ke nariyal paani ke kar aisa socha isliye bhavishya aisa kabhi bhi nahi sochna aisa kabhi bhi aapko nahi bolna ki marna toh hai hi panchu ek hussain natural marna iko tak khud jeev hatya arthat yah mahapap hai iski bahut nuksan hota hai insaan ko apna nuksan hote hain kyonki na vaah is janam me santusht raha aur na hi vaah agle janam me bhi santusht nahi hoga kyonki paramatma ke gift ko hum apne hathon se nasht kar rahe hain uski value nahi rakhe isliye aaj ke baad kabhi mat sochna ki hamein marna hai nahi hamein jeena hai markaj yah samajh lo mera mrityu ho gayi samajh lijiye kal se ek nayi umang ke saath nayi utsaah ke saath nayi ek shakti ke saath ek nayi soch ke saath jeena shuru karo yah jeevan gul o gulzar ho jaega inhin shubhkamnaon ke saath ki aap bhavishya me aisa ek baar bhi nahi sochenge dhanyavad

नमस्कार अगर हमें मरना है तो हम क्या करें साथियों यह आप क्या बोल रहे हो मरने के बारे में मा

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  665
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!