BJP के MLA बनवारी लाल सिंघल ने कहा की "मुसलमान अधिक बच्चे पैदा करते हैं ताकि भविष्य में भारत का नियंत्रण ले सके, क्या अपने बयान को वो सही ठहरा सकते हैं?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब यह कहना गलत होगा कि भारत को नियंत्रण में ले सकें लेकिन हां यह जरूर है कि मुस्लिम अधिक बच्चे पैदा करते हैं और वह जानबूझकर करते हैं और जहां भी इन साथ में घटनाएं होती है अधिकांश में देखा गया है मुस्लिम ज्यादातर होते हैं उदाहरण के लिए आप हाल फिलहाल में मरकज वाली घटना को ही देख लीजिए कितना कंट्रोल में था हमारे यहां कोरोनावायरस कुछ चंद मुसलमानों के कारण कितनी ब्यावर स्थिति हो गई है कहीं ना कहीं मुसलमान या दुबलेपन की नीति वाली बात करते हैं इसलिए काफी हद तक इनका कहना सही भैया

ab yah kehna galat hoga ki bharat ko niyantran me le sake lekin haan yah zaroor hai ki muslim adhik bacche paida karte hain aur vaah janbujhkar karte hain aur jaha bhi in saath me ghatnaye hoti hai adhikaansh me dekha gaya hai muslim jyadatar hote hain udaharan ke liye aap haal filhal me markaj wali ghatna ko hi dekh lijiye kitna control me tha hamare yahan coronavirus kuch chand musalmanon ke karan kitni byavar sthiti ho gayi hai kahin na kahin musalman ya dublepan ki niti wali baat karte hain isliye kaafi had tak inka kehna sahi bhaiya

अब यह कहना गलत होगा कि भारत को नियंत्रण में ले सकें लेकिन हां यह जरूर है कि मुस्लिम अधिक ब

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  476
WhatsApp_icon
17 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये, फैक्ट की बात करते हैं डाटा की, बात करते हैं जब देश आजाद हुआ था उस में मुस्लिम पापुलेशन जो है देश की जनसंख्या का करीब ९.८ परसेंट,९-८ परसेंट थी जो आज बढ़कर १४% से ज्यादा हो गई है तो मुस्लिम जनसंख्या बड़ी है परसेंटेज टर्म्स में इसमें तो कोई डाउट नहीं है l लेकिन यह कहना यह इसलिए बड़ी है क्योंकि यह लोग देश पर कब्जा करने वाले हैं l यह केवल उन लोगों की सोच है जो लोग वोट बैंक की राजनीति करते हैं l कुछ एस्टीमेट बोलते हैं कि २०५० तक मुस्लिम जनसंख्या बढ़ के १८ परसेंट हो जाएगी l लेकिन २०५० तक विश्व में सैम एस्टीमेट बोलते हैं की हिंदू जनसंख्या देश में ७७% रहेगी l यानि के अगर इस रेट से भी बढ़ता रहा तो मुझे लगता है अगले ५०० साल लग जाएंगे कि मुस्लिम पापुलेशन देश में हिंदू पापुलेशन से ज्यादा हो पाएगी, आय थिंक ५०० या १००० साल में भी ना हो पाए l तो कहा से यह देश में कब्जा करने वाली बात आ गई l यह केवल वोट बैंक की राजनीति है जबकि कारण क्या है कि हिंदुओं में भी खूब बच्चे पैदा होते थे अगर आप आज से ५० साल या उससे पहले के परिवारों को देखिए तो की १-१ फैमिली में ८-८-१०-१० भाई बहन होते थे लेकिन यह हिंदुओं को अवेयरनेस आई और उन्होंने देखा कि एक इकनोमिक प्रोग्रेस के लिए यह जरूरी है कि हम फैमिली प्लानिंग करें, कम बच्चे होंगे तो उनको हम ज्यादा अच्छे से पढ़ा सकते हैं, उनको ज्यादा अच्छे स्कूल में भेज सकते हैं और उनके स्वास्थ्य का भी ज्यादा ध्यान रख सकते हैं जिसमें देश की और अपने परिवार की आर्थिक प्रोग्रेस होती है l वह चीज आज जो जागृत मुसलमान हैं उनमें भी है l जागृत मुसलमानों में आपको नहीं दिखेंगे की उनके दो से ज्यादा बच्चे हैं l धीरे-धीरे अवेयरनेस बढ़ने से, एजुकेशन बढ़ने से वह बाकी मुस्लिमों में भी हो रही है l और आने वाले २०-३०-५० सालों में वह भी यह चीज़ समझ जाएंगे कि उनके परिवार की खुशहाली के लिए यह जरूरी है कि वह फैमिली प्लानिंग करें और परिवार में उतने ही बच्चे पैदा करें जितने का अच्छे तरीके से पालन- पोषण हो सकता है तो यह प्रॉब्लम अपने आप सोल्व हो जाएगी l देश में कंट्रोल करने वाली बात केवल राजनीति है l

dekhiye fact ki baat karte hain data ki baat karte hain jab desh azad hua tha us mein muslim population jo hai desh ki jansankhya ka kareeb 9 8 percent 9 8 percent thi jo aaj badhkar 14 se zyada ho gayi hai toh muslim jansankhya badi hai percentage terms mein isme toh koi doubt nahi hai l lekin yah kehna yah isliye badi hai kyonki yah log desh par kabza karne waale hain l yah keval un logo ki soch hai jo log vote bank ki raajneeti karte hain l kuch estimet bolte hain ki 2050 tak muslim jansankhya badh ke 18 percent ho jayegi l lekin 2050 tak vishwa mein sam estimet bolte hain ki hindu jansankhya desh mein 77 rahegi l yani ke agar is rate se bhi badhta raha toh mujhe lagta hai agle 500 saal lag jaenge ki muslim population desh mein hindu population se zyada ho payegi aay think 500 ya 1000 saal mein bhi na ho paye l toh kaha se yah desh mein kabza karne wali baat aa gayi l yah keval vote bank ki raajneeti hai jabki karan kya hai ki hinduon mein bhi khoob bacche paida hote the agar aap aaj se 50 saal ya usse pehle ke parivaron ko dekhiye toh ki 1 1 family mein 8 8 10 10 bhai behen hote the lekin yah hinduon ko awareness I aur unhone dekha ki ek economic progress ke liye yah zaroori hai ki hum family planning kare kam bacche honge toh unko hum zyada acche se padha sakte hain unko zyada acche school mein bhej sakte hain aur unke swasthya ka bhi zyada dhyan rakh sakte hain jisme desh ki aur apne parivar ki aarthik progress hoti hai l vaah cheez aaj jo jagrit muslim hain unmen bhi hai l jagrit musalmanon mein aapko nahi dikhenge ki unke do se zyada bacche hain l dhire dhire awareness badhne se education badhne se vaah baki muslimo mein bhi ho rahi hai l aur aane waale 20 30 50 salon mein vaah bhi yah cheez samajh jaenge ki unke parivar ki khushahali ke liye yah zaroori hai ki vaah family planning kare aur parivar mein utne hi bacche paida kare jitne ka acche tarike se palan poshan ho sakta hai toh yah problem apne aap solve ho jayegi l desh mein control karne wali baat keval raajneeti hai l

देखिये, फैक्ट की बात करते हैं डाटा की, बात करते हैं जब देश आजाद हुआ था उस में मुस्लिम पापु

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1324
WhatsApp_icon
user

S.R.PARDESHI

History spoken specialist | Motivational Speaker

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो सवाल है यह मुसलमानों के अधिक बच्चे पैदा करती है देखो ताकि भविष्य में भारत नियंत्रण कर ले ऐसा ही सुहानी लेकिन मुस्लिमों का एक धार्मिक फायदा है कि उनमें मतलब अब अपनी भाषा में बोले तो नसबंदी यह करना गुनाह है उनके धर्मानुसार मुन्ने बच्चे पैदा ज्यादा होते हैं और दूसरी बात हिंदुओं के ऐसे नहीं कि हिंदुओं के हिंदू लोगों को भी पहले बच्चे तादाद में पैदा होने दे और मुस्लिम लोग हैं ना वह पैदा होते थे हिंदुओं की तादाद में भी कम हुआ कि भी हिंदू लोग शिक्षित होते गए एजुकेशन देते और उन्हें इस बात की बात पता चलती गई कि कम परिवार और हिंदू लोगों में बहुत लेट शादी होती है मुस्लिमों में ना 88 20 21 लेटे जल्दी शादी हो जाती है उससे उनके जो बच्चों की तादाद ज्यादा ही नहीं कि समझो अभी एवरेज अनुसार आज भी एवरेज देखेंगे तो मुस्लिमों के चार बच्चे दूध की जाएंगी भारत पर यह बात करना यह जो राजनीति की बात है और कब जा कर लेंगे कब जा कोई नहीं कर सकता एक बात याद रखना दुनिया में तुम कभी कहो मैंने पूरी दुनिया पर कब्जा कर लूंगा उन्हें 400 साल भारत पर कब्जा किया था मुगलों ने उसे मुस्लिम थे पूरे 400 साल कब्जा किया था वह पूरे हिंदुओं को मुसलमान बना कर लेंगे बात की बात है अरुण भावनाओं से बाहर निकाला कि तुम ऐसी बातें करोगे तो और और ज्यादा पैदा करेंगे तो मैंने डराओ मत नहीं तो मैं अपना समझो जय हिंद

jo sawaal hai yah musalmanon ke adhik bacche paida karti hai dekho taki bhavishya mein bharat niyantran kar le aisa hi suhani lekin muslimo ka ek dharmik fayda hai ki unmen matlab ab apni bhasha mein bole toh nasbandi yah karna gunah hai unke dharmanusar munne bacche paida zyada hote hain aur dusri baat hinduon ke aise nahi ki hinduon ke hindu logo ko bhi pehle bacche tadad mein paida hone de aur muslim log hain na vaah paida hote the hinduon ki tadad mein bhi kam hua ki bhi hindu log shikshit hote gaye education dete aur unhe is baat ki baat pata chalti gayi ki kam parivar aur hindu logo mein bahut late shadi hoti hai muslimo mein na 88 20 21 lete jaldi shadi ho jaati hai usse unke jo baccho ki tadad zyada hi nahi ki samjho abhi average anusaar aaj bhi average dekhenge toh muslimo ke char bacche doodh ki jayegi bharat par yah baat karna yah jo raajneeti ki baat hai aur kab ja kar lenge kab ja koi nahi kar sakta ek baat yaad rakhna duniya mein tum kabhi kaho maine puri duniya par kabza kar lunga unhe 400 saal bharat par kabza kiya tha mugalon ne use muslim the poore 400 saal kabza kiya tha vaah poore hinduon ko muslim bana kar lenge baat ki baat hai arun bhavnao se bahar nikaala ki tum aisi batein karoge toh aur aur zyada paida karenge toh maine darao mat nahi toh main apna samjho jai hind

जो सवाल है यह मुसलमानों के अधिक बच्चे पैदा करती है देखो ताकि भविष्य में भारत नियंत्रण कर ल

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  322
WhatsApp_icon
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीजेपी के एमएलए बनवारीलाल सिंघम की बात को अधिक चोट से सही ही समझना चाहिए जिस तरह से अल्पसंख्यकों का रवैया है वह यह करने जैसे ही विचारों से ग्रसित है अतः बनवारीलाल सिंघम सही है

bjp ke mla banavarilal singham ki baat ko adhik chot se sahi hi samajhna chahiye jis tarah se alpsankhyako ka ravaiya hai vaah yah karne jaise hi vicharon se grasit hai atah banavarilal singham sahi hai

बीजेपी के एमएलए बनवारीलाल सिंघम की बात को अधिक चोट से सही ही समझना चाहिए जिस तरह से अल्पसं

Romanized Version
Likes  108  Dislikes    views  580
WhatsApp_icon
user

Saaim Israr

Journalist , Digital Marketer, Lawyer, Social Activist ,Political Campaign Strategist ,Poet, Author ,MotivationalSpeaker

3:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस तरह के बयान भारतीय राजनीति को संप्रदायिकता की तरफ ले जाते हैं जिस बयानों में हिंदू और मुस्लिम का जिक्र होता है वह बयान ज्यादातर वोट बैंक के लिए दिए जाते हैं बनवारी सिंह या बनवारी लाल सिंघल की अगर बात की जाए तो उनका यह बयान सीधे-सीधे सांप्रदायिक है क्योंकि देश की एकता अखंडता को तोड़ने वाला है हम इस देश के अंदर स्वतंत्र हैं संविधान हमें इजाजत देता है कि आप कितने ही बच्चे करें यह आपकी अपनी पसंद है इसमें ना तो कोई राजनीतिक तौर पर आप उसके ऊपर टिप्पणी कर सकते हैं और ना ही आप उसको गलत ठहरा सकते हैं या तो इस देश के अंदर नया जनसंख्या नियंत्रण कानून होता और बनवारी सिंह या फिर बनवारीलाल यह बयान देते तो उनके बयान को जायज ठहराया जा सकता था लेकिन अभी ना तो कोई जनसंख्या नियंत्रण कानून है इस तरीके की कोई ऐसी चीज है क्या आपके दूसरे की स्वतंत्रता पर रोक लगा सके क्योंकि फ्रीडम आपको संविधान ने दिया है आजादी है आपको आप अपने बारे में अच्छा और बुरा सोच सकते हैं तो यह आपकी अपनी निजी पसंद है क्या आपके कितने बच्चे होने चाहिए इसके पीछे ना तो कोई षड्यंत्र है और ना ही इसको षड्यंत्र के तौर पर देखा जा सकता है बनवारी लाल का जो यह बयान है वह सीधे-सीधे हिंदू लोगों को भड़काना या फिर उनको चाहना या फिर भारतीय जनता पार्टी या अन्य पार्टियों की तरह जो कह सकते हैं उनके सांप्रदायिक रंग देते हुए इस बयान को दिया गया है इसमें उनकी ना तो कोई देश हित में उनकी सोच थी और ना ही इस बयान के बारे में वह देश के हित के बारे में सोच रहे थे बल्कि सीधे तौर पर हम अगर बात करें तो वह इस बयान के जरिए एक समुदाय को दूसरे समुदाय के खिलाफ दिमाग में से बोलना चाहते थे उनके खिलाफ खड़ा करना चाहते थे इसलिए इस तरह के बयान देते रहते हैं अक्सर आप उनके अगर पुराने बयानों को सिलसिलेवार तरीके से गौर से देखें तो आपको कुछ समझ में आ जाएगा वह किस तरीके के नेता हैं या उनकी आईडियोलॉजी क्या बताती है इस देश के अंदर राजनीति करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप एक धर्म की जगह दूसरे धर्म को गाली दीजिए दूसरे धर्म को गाली देने से यह धर्म के लोगों को खुश करने की कोशिश कीजिए और संप्रदायिक बनाइए जब-जब सुनाओ संप्रदायिक हुए हैं तब तब असल मुद्दों से हटकर अन्य मुद्दों पर वोट दिए गए हैं हाल ही में दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप देखिए किस तरह से संप्रदायिक करण करने की कोशिश की गई लेकिन मैं अकल मंद कहूंगा उन लोगों को जिन्होंने संप्रदाय पर ना जाते हुए मुद्दों पर वोट किया जब भी किसी नेता के पास किसी मुद्दे की कमी होती है या वह किसी गलत काम में फंसता नजर आता है या वह मरा हुआ नजर आता है और जब उसे लगता है कि उसकी राजनीतिक जमीन नीचे से चिपकने वाली है इस तरह के नेता अक्सर बयानबाजी करते रहते हैं तो इन बयानों को आप किस तरीके से ले सकते हैं कि आपकी अपनी सोच है लेकिन मेरे मुताबिक यह बयान मुद्दों से भटकाने के लिए हैं जन्नत एक संप्रदाय को दूसरे संप्रदाय के खिलाफ खड़ा करने के लिए हैं बस सीधे सीधे यही कहा जा सकता है और कुछ भी नहीं

is tarah ke bayan bharatiya raajneeti ko sampradayikta ki taraf le jaate hai jis bayanon mein hindu aur muslim ka jikarr hota hai vaah bayan jyadatar vote bank ke liye diye jaate hai banwari Singh ya banwari laal singhal ki agar baat ki jaaye toh unka yah bayan sidhe seedhe sampradayik hai kyonki desh ki ekta akhandata ko todne vala hai hum is desh ke andar swatantra hai samvidhan hamein ijajat deta hai ki aap kitne hi bacche kare yah aapki apni pasand hai isme na toh koi raajnitik taur par aap uske upar tippani kar sakte hai aur na hi aap usko galat thahara sakte hai ya toh is desh ke andar naya jansankhya niyantran kanoon hota aur banwari Singh ya phir banavarilal yah bayan dete toh unke bayan ko jayaj thehraya ja sakta tha lekin abhi na toh koi jansankhya niyantran kanoon hai is tarike ki koi aisi cheez hai kya aapke dusre ki swatantrata par rok laga sake kyonki freedom aapko samvidhan ne diya hai azadi hai aapko aap apne bare mein accha aur bura soch sakte hai toh yah aapki apni niji pasand hai kya aapke kitne bacche hone chahiye iske peeche na toh koi shadyantra hai aur na hi isko shadyantra ke taur par dekha ja sakta hai banwari laal ka jo yah bayan hai vaah sidhe seedhe hindu logo ko bhadkaana ya phir unko chaahana ya phir bharatiya janta party ya anya partiyon ki tarah jo keh sakte hai unke sampradayik rang dete hue is bayan ko diya gaya hai isme unki na toh koi desh hit mein unki soch thi aur na hi is bayan ke bare mein vaah desh ke hit ke bare mein soch rahe the balki sidhe taur par hum agar baat kare toh vaah is bayan ke jariye ek samuday ko dusre samuday ke khilaf dimag mein se bolna chahte the unke khilaf khada karna chahte the isliye is tarah ke bayan dete rehte hai aksar aap unke agar purane bayanon ko silsilewar tarike se gaur se dekhen toh aapko kuch samajh mein aa jaega vaah kis tarike ke neta hai ya unki aidiyolaji kya batati hai is desh ke andar raajneeti karne ka sabse accha tarika yah hai ki aap ek dharm ki jagah dusre dharm ko gaali dijiye dusre dharm ko gaali dene se yah dharm ke logo ko khush karne ki koshish kijiye aur sampradaayik banaiye jab jab sunao sampradaayik hue hai tab tab asal muddon se hatakar anya muddon par vote diye gaye hai haal hi mein delhi vidhan sabha chunav mein aap dekhiye kis tarah se sampradaayik karan karne ki koshish ki gayi lekin main akal mand kahunga un logo ko jinhone sampraday par na jaate hue muddon par vote kiya jab bhi kisi neta ke paas kisi mudde ki kami hoti hai ya vaah kisi galat kaam mein fansata nazar aata hai ya vaah mara hua nazar aata hai aur jab use lagta hai ki uski raajnitik jameen niche se chipakane wali hai is tarah ke neta aksar bayanbazi karte rehte hai toh in bayanon ko aap kis tarike se le sakte hai ki aapki apni soch hai lekin mere mutabik yah bayan muddon se bhatkane ke liye hai jannat ek sampraday ko dusre sampraday ke khilaf khada karne ke liye hai bus sidhe seedhe yahi kaha ja sakta hai aur kuch bhi nahi

इस तरह के बयान भारतीय राजनीति को संप्रदायिकता की तरफ ले जाते हैं जिस बयानों में हिंदू और म

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात हिंदू और मुसलमान हमेशा से एक थे एक हैं और एक रहेंगे उसके अलावा दूसरी बात जो सबसे ज्यादा जरूरी है वह है कि मुस्लिमों की अधिक बच्चे पैदा करने पर अगर वह भारत का नेत्र कर भी लेते हैं तो बुलाएंगे तो हिंदुस्तानी ना तो आप यह बात समझ कर देखिए यह कोई भी एक ऐसा चना हवा में तीर चलाना उस तरह का बयान है यह केवल वोट बैंक की राजनीति करने का तरीका है हम इतने 2018 में इतने एजुकेटेड लोग हैं जब नज़र करते थे तब हम लाल बहादुर शास्त्री के ऐसे नेता को वोट देते थे तो अब तुम्हारे अंदर इतनी और समझदारी आ गई है कि हम सही गलत को समझते हैं तो हमें स्तर के नेताओं के बयान पर ज्यादा भाव नहीं देना चाहिए उनको इग्नोर करना चाहिए हमें आप देखें अपनी अपनी जगह कार्यस्थल पर कार्य करते होंगे आपने स्कूल में जाते होंगे कॉलेज में जाते होंगे आपने देखा होगा आप किसी का नाम पूछकर से मित्रता नहीं करते पहले मित्रता करते उसके बाद पूछते हैं यहां पर किसी को संभाल कर दो सेना उसके बाद उसका नाम पूछते हैं और किसी का नंबर फैज़ल है या किसी का नाम जोसफ है तो उसका मतलब यह नहीं कि मुझ से मित्रता नहीं करेंगे यह व्यवहारिक होती है मित्रता हम पर नहीं होती मैं तेरा व्यवहार से होती है तो इस तरह के जो बयान हिंदू-मुस्लिम लड़वाने वाली है कोई बेतुके बयान है और सही बात तो यह है कि सही व्यक्ति यह सही एक समाज जो सिर्फ सदन समाज होगा वह कभी भी धर्म के नाम पर नहीं लड़ेगा धन्यवाद

pehli baat hindu aur muslim hamesha se ek the ek hain aur ek rahenge uske alava dusri baat jo sabse zyada zaroori hai vaah hai ki muslimo ki adhik bacche paida karne par agar vaah bharat ka netra kar bhi lete hain toh bulaayenge toh hindustani na toh aap yah baat samajh kar dekhiye yah koi bhi ek aisa chana hawa mein teer chalana us tarah ka bayan hai yah keval vote bank ki raajneeti karne ka tarika hai hum itne 2018 mein itne educated log hain jab nazar karte the tab hum laal bahadur shastri ke aise neta ko vote dete the toh ab tumhare andar itni aur samajhdari aa gayi hai ki hum sahi galat ko samajhte hain toh hamein sthar ke netaon ke bayan par zyada bhav nahi dena chahiye unko ignore karna chahiye hamein aap dekhen apni apni jagah karyasthal par karya karte honge aapne school mein jaate honge college mein jaate honge aapne dekha hoga aap kisi ka naam puchkar se mitrata nahi karte pehle mitrata karte uske baad poochhte hain yahan par kisi ko sambhaal kar do sena uske baad uska naam poochhte hain aur kisi ka number faizal hai ya kisi ka naam joseph hai toh uska matlab yah nahi ki mujhse se mitrata nahi karenge yah vyavaharik hoti hai mitrata hum par nahi hoti main tera vyavhar se hoti hai toh is tarah ke jo bayan hindu muslim ladvane wali hai koi betuke bayan hai aur sahi baat toh yah hai ki sahi vyakti yah sahi ek samaj jo sirf sadan samaj hoga vaah kabhi bhi dharm ke naam par nahi ladega dhanyavad

पहली बात हिंदू और मुसलमान हमेशा से एक थे एक हैं और एक रहेंगे उसके अलावा दूसरी बात जो सबसे

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
play
user

Mehmood Alum

Law Student

0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत की बढ़ती आबादी का दोस्त केवल मुसलमानों को देना ठीक नहीं होगा हमारे देश की आबादी प्रतिवर्ष दो करोड़ बढ़ रही है और अगर यह कहा जाए कि दो करोड़ आबादी मुसलमानों की बढ़ रही है तो यह बिल्कुल हास्यास्पद होगा देश की बड़ी आबादी में सभी धर्मों की आबादी बढ़ रही है किसी भी धर्म की आबादी घट नहीं रही है अतः कुछ हिंदूवादी तक ने मुसलमानों को टॉर्चर करने के लिए देश की बढ़ती आबादी का आरोप सिर्फ मुसलमानों पर लगाते हैं जो की पूरी तरह निराधार है और ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की जरूरत है

dekhie bharat ki badhti aabadi ka dost keval musalmanon ko dena theek nahi hoga hamare desh ki aabadi prativarsh do crore badh rahi hai aur agar yeh kaha jaye ki do crore aabadi musalmanon ki badh rahi hai toh yeh bilkul hasyaspad hoga desh ki badi aabadi mein sabhi dharmon ki aabadi badh rahi hai kisi bhi dharm ki aabadi ghat nahi rahi hai atah kuch hinduvaadi tak ne musalmanon ko torture karne ke liye desh ki badhti aabadi ka aarop sirf musalmanon par lagate hain jo ki puri tarah niradhar hai aur aise logo ke khilaf sakht karyawahi kiye jaane ki zarurat hai

देखिए भारत की बढ़ती आबादी का दोस्त केवल मुसलमानों को देना ठीक नहीं होगा हमारे देश की आबादी

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  260
WhatsApp_icon
user

MD HAROON

Teacher

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों आप ने सवाल किया है बीजेपी के एमएलए बनवारी लाल सिंघल ने कहा कि मुसलमान अधिक बच्चा पैदा करते हैं ताकि भविष्य में भारत का नियंत्रण यह सच है क्या आपने बयान को सही ठहरा सकते हैं यह बिल्कुल बयान गलत है बच्चा पैदा करने से कोई भारत में हुकूमत नहीं हो जाती है इनका वह ज्ञान गलत है ज्ञान को बदलना चाहिए और उसका यह सही नहीं है

doston aap ne sawaal kiya hai bjp ke mla banwari laal singhal ne kaha ki musalman adhik baccha paida karte hain taki bhavishya me bharat ka niyantran yah sach hai kya aapne bayan ko sahi thahara sakte hain yah bilkul bayan galat hai baccha paida karne se koi bharat me hukumat nahi ho jaati hai inka vaah gyaan galat hai gyaan ko badalna chahiye aur uska yah sahi nahi hai

दोस्तों आप ने सवाल किया है बीजेपी के एमएलए बनवारी लाल सिंघल ने कहा कि मुसलमान अधिक बच्चा प

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  2047
WhatsApp_icon
user

shubham dadheech

Motivational counsellor

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह तो सिर्फ एक वोट बैंक की राजनीति वाला बयान है और इसकी तो घोर निंदा होनी चाहिए भारत विविधताओं का देश है भारत धर्मनिरपेक्ष देश है भारत सभी के योगदान से मिलकर बना है तो हमें बात इस पर नहीं होनी चाहिए कि हमें कितने बच्चे पैदा करने चाहिए बात इस पर होनी चाहिए कि हमें विकास कितना करना चाहिए वह कौन सी समस्याएं हैं जिन्हें हम मिलकर सुलझा सकते हैं अगर आप कुछ देशों का उदाहरण देखोगे चाय जापान हो ब्रिटेन हो सिंगापुर हो तो विश्व युद्ध के बाद इन देशों की हालत काफी खराब थी लेकिन उन्होंने अपनी विल पावर और अपनी आपसी एकता से अपने आप को एक शक्तिशाली देश बनाया है तो भारत भी अपने आप को बदल सकता है लेकिन इस तरह के बयान देशवासियों को मनोबल तोड़ते हैं कट्टरता वाजपेई नहीं हमें इंसानियत पर ही जोर देना होगा लोगों को मोटिवेट करना होगा लोगों के विचारों का सम्मान करना होगा उनके अंदर के टैलेंट को पहचान कर ही हम भारत देश को आगे बढ़ा सकते हैं तो राजनीतिक पार्टियों से मेरा यही प्रार्थना है कि आप विवादित बयान देने के बजाय जो भी आपका अनुभव है वह देश की सेवा में लगा है आप जनता के हीरो वैसे ही बन जाएंगे और बयान बाजी ना करें प्रैक्टिकल रूप से विकास करके दिखाएं आप को जनता ने जो वह चुनकर नेता बनाया विधायक बने सांसद बनाया उसका दुरूपयोग ना करें क्योंकि अगर जनता वोट भी देना जानती है तो जनता राजनेता को एक आम आदमी बना भी सकती है तो मैं नहीं जाऊंगा

haan yah toh sirf ek vote bank ki raajneeti vala bayan hai aur iski toh ghor ninda honi chahiye bharat vividhtaon ka desh hai bharat dharmanirapeksh desh hai bharat sabhi ke yogdan se milkar bana hai toh hamein baat is par nahi honi chahiye ki hamein kitne bacche paida karne chahiye baat is par honi chahiye ki hamein vikas kitna karna chahiye vaah kaun si samasyaen hain jinhen hum milkar suljha sakte hain agar aap kuch deshon ka udaharan dekhoge chai japan ho britain ho singapore ho toh vishwa yudh ke baad in deshon ki halat kaafi kharab thi lekin unhone apni will power aur apni aapasi ekta se apne aap ko ek shaktishali desh banaya hai toh bharat bhi apne aap ko badal sakta hai lekin is tarah ke bayan deshvasiyon ko manobal todte hain kattartaa vajpayee nahi hamein insaniyat par hi jor dena hoga logo ko motivate karna hoga logo ke vicharon ka sammaan karna hoga unke andar ke talent ko pehchaan kar hi hum bharat desh ko aage badha sakte hain toh raajnitik partiyon se mera yahi prarthna hai ki aap vivaadit bayan dene ke bajay jo bhi aapka anubhav hai vaah desh ki seva mein laga hai aap janta ke hero waise hi ban jaenge aur bayan baazi na kare practical roop se vikas karke dikhaen aap ko janta ne jo vaah chunkar neta banaya vidhayak bane saansad banaya uska duroopayog na kare kyonki agar janta vote bhi dena jaanti hai toh janta raajneta ko ek aam aadmi bana bhi sakti hai toh main nahi jaunga

हां यह तो सिर्फ एक वोट बैंक की राजनीति वाला बयान है और इसकी तो घोर निंदा होनी चाहिए भारत व

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजस्थान के अलवर से बीजेपी विधायक जिनका नाम बनवारी लाल सिंघल है इन दिनों काफी सुर्खियों में चल रहे हैं और इन सुर्ख़ियों की वजह है उनका एक विवादित फेसबुक पोस्ट जो कि उन्होंने मुस्लिम लोगों के बारे में डाला है इस पोस्ट में उन्होंने बोला है कि मुसलमान अधिक बच्चे इसलिए पैदा करते हैं ताकि भविष्य में भारत का नियंत्रण अपने हाथों में ले सके लेकिन मेरे मुताबिक इस बयान को वह किसी भी तरह से सही नहीं ठहरा सकते हैं क्योंकि अभी भारत में ऐसा कोई कानून नहीं है जिसके मुताबिक किया जाए कि एक व्यक्ति कितने बच्चे पैदा करें उन्होंने यह भी बोला है कि हिंदू एक और दो बच्चे पैदा कर रहे हैं उन्हें उन को शिक्षित करने की चिंता है लेकिन मुस्लिम लोगों को बस इस बात की चिंता है कि देश पर राज कैसे किया जाए इसीलिए वह ज्यादा बच्चे पैदा कर रहे हैं और मुस्लिम लोगों को यह चिंता नहीं है कि उनके जो ज्यादा बच्चे हो रहे हैं तो उनको वह शिक्षित के करेंगे उनके पढ़ाई के लिए उनके अच्छे भविष्य के लिए पैसे कहां से जुटाएंगे लेकिन मेरे हिसाब से इस तरह का गैर जिम्मेदाराना बयान देना ठीक नहीं है क्योंकि यह किसी भी धर्म के लोगों को या फिर किसी खास व्यक्ति को ठेस पहुंचा सकता है

rajasthan ke alwar se bjp vidhayak jinka naam banwari laal singhal hai in dino kaafi surkhiyon mein chal rahe hain aur in surkhiyon ki wajah hai unka ek vivaadit facebook post jo ki unhone muslim logo ke bare mein dala hai is post mein unhone bola hai ki musalman adhik bacche isliye paida karte hain taki bhavishya mein bharat ka niyantran apne hathon mein le sake lekin mere mutabik is bayan ko vaah kisi bhi tarah se sahi nahi thahara sakte hain kyonki abhi bharat mein aisa koi kanoon nahi hai jiske mutabik kiya jaaye ki ek vyakti kitne bacche paida kare unhone yah bhi bola hai ki hindu ek aur do bacche paida kar rahe hain unhe un ko shikshit karne ki chinta hai lekin muslim logo ko bus is baat ki chinta hai ki desh par raj kaise kiya jaaye isliye vaah zyada bacche paida kar rahe hain aur muslim logo ko yah chinta nahi hai ki unke jo zyada bacche ho rahe hain toh unko vaah shikshit ke karenge unke padhai ke liye unke acche bhavishya ke liye paise kahaan se jutaenge lekin mere hisab se is tarah ka gair jimmedarana bayan dena theek nahi hai kyonki yah kisi bhi dharm ke logo ko ya phir kisi khaas vyakti ko thes pohcha sakta hai

राजस्थान के अलवर से बीजेपी विधायक जिनका नाम बनवारी लाल सिंघल है इन दिनों काफी सुर्खियों मे

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  237
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी इस विषय के बारे में मैं बस इतना ही कहना चाहूंगा एक जिम्मेदार राजनीतिक पार्टी के राजनेता होते हुए उनको इस तरह की बात नहीं करनी चाहिए हमको मालूम है एक पॉलिटिशन लीडर एक बड़े पॉलिटिशियन डिटेल उनकी बात को मीडिया में तुरंत लिया जाता है तो मुझे नहीं पता इस तरह के बेहूदा बयानों को देने की किसी भी तरह की कोई आवश्यकता है और एक जिम्मेदार पॉलिटिशन से तो कभी ऐसा एक पत्नी की आदत अब इस तरह के बयान दे तो मैं इस बात को एक भी नहीं करता हूं जिस तरह से bjp bjp के MLA बनवारीलाल सिंह ने जिस तरह का बयान दिया वह बेहूदा वाहियात

vicky is vishay ke bare mein main bus itna hi kehna chahunga ek zimmedar raajnitik party ke raajneta hote hue unko is tarah ki baat nahi karni chahiye hamko maloom hai ek politician leader ek bade politician detail unki baat ko media mein turant liya jata hai toh mujhe nahi pata is tarah ke behuda bayanon ko dene ki kisi bhi tarah ki koi avashyakta hai aur ek zimmedar politician se toh kabhi aisa ek patni ki aadat ab is tarah ke bayan de toh main is baat ko ek bhi nahi karta hoon jis tarah se bjp bjp ke MLA banavarilal Singh ne jis tarah ka bayan diya vaah behuda vahiyat

विकी इस विषय के बारे में मैं बस इतना ही कहना चाहूंगा एक जिम्मेदार राजनीतिक पार्टी के राजने

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन बनवारी लाल जी एक देश के कैपिटल पोस्ट पर हैं MLA हैं और वह बहुत इंपॉर्टेंट देश की बुकिंग के लिए ऐसे अगर एक ऑनरेबल इंसान से ऐसा बयान आता है तो वह बहुत ही गलत है यह कहना कि मुसलमान अधिक बच्चे पैदा करते हैं ताकि वह भारत पर कब्जा कर सके भारत पर कंट्रोल + सके तो यह बिल्कुल ही गलत है और किसी भी तरीके से वह इस बयान को जस्टिफाई कर ही नहीं सकते लेकिन हमारा देश जो है वह एक सेकुलर कंट्री है यानी की धर्मनिरपेक्ष आ जाने की हर धर्म के लिए वह उतना ही ओपन है उतना ही वह खड़ा है जितना कि दूसरे धर्म के लिए और मुस्लिमों के हित के लिए यह तीन तलाक वाला विल बी पास किया गया है ऐसे समय में बनवारी लाल का यह कहना कि मुस्लिम ऐसा इसलिए कर रहे हैं ताकि वह देश पर क कर सकती है मुस्लिम समाज के दिल को बहुत ठेस पहुंचा सकता है कि मुस्लिम लोग भी हमारे देश का एक हिस्सा ही हैं कोई गैर नहीं है उन्होंने ऐसे बहुत सारे मुस्लिम लोग हुए हैं जिन्होंने हमारे देश की स्वतंत्रता के लिए भी बढ़ चढ़कर भाग लिया है बहुत सारे ऐसे मुस्लिम व्यक्ति हैं जो आज भी देश की हमारे भारत देश की उनके भारत देश के लिए बहुत कुछ काम कर रहे हैं तो किसी की भी पर्सनल फिलिंग्स को किसी भी पॉलिटिकल इश्यूज से जोड़ना वह बहुत ही गलत है और MLA जी को बिल्कुल शोभा नहीं देता

lekin banwari laal ji ek desh ke capital post par hain MLA hain aur vaah bahut important desh ki booking ke liye aise agar ek honorable insaan se aisa bayan aata hai toh vaah bahut hi galat hai yah kehna ki musalman adhik bacche paida karte hain taki vaah bharat par kabza kar sake bharat par control sake toh yah bilkul hi galat hai aur kisi bhi tarike se vaah is bayan ko justify kar hi nahi sakte lekin hamara desh jo hai vaah ek secular country hai yani ki dharmanirapeksh aa jaane ki har dharm ke liye vaah utana hi open hai utana hi vaah khada hai jitna ki dusre dharm ke liye aur muslimo ke hit ke liye yah teen talak vala will be paas kiya gaya hai aise samay mein banwari laal ka yah kehna ki muslim aisa isliye kar rahe hain taki vaah desh par k kar sakti hai muslim samaj ke dil ko bahut thes pohcha sakta hai ki muslim log bhi hamare desh ka ek hissa hi hain koi gair nahi hai unhone aise bahut saare muslim log hue hain jinhone hamare desh ki swatantrata ke liye bhi badh chadhakar bhag liya hai bahut saare aise muslim vyakti hain jo aaj bhi desh ki hamare bharat desh ki unke bharat desh ke liye bahut kuch kaam kar rahe hain toh kisi ki bhi personal feelings ko kisi bhi political issues se jodna vaah bahut hi galat hai aur MLA ji ko bilkul shobha nahi deta

लेकिन बनवारी लाल जी एक देश के कैपिटल पोस्ट पर हैं MLA हैं और वह बहुत इंपॉर्टेंट देश की बुक

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  182
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीरे के में बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं जो स्टेटमेंट बीजेपी के MLA बनवारी लाल सिंघल ने कहा है कि मुसलमान अधिक बच्चे पैदा करते हैं ताकि भविष्य में हूं भारत का नियंत्रण ले सके तो ऐसा नहीं है कि कम बच्चे पैदा करें या ज्यादा बच्चे पैदा करें तो उसे भारत का नियंत्रण लिया जा सकता है वह स्थान जो है वह हिंदी में छोटी कंट्री है और मुस्लिमों की तादाद जो है वह आधे से भी कम है हिंदुओं के कंपटीशन में तो जान तक बातें भारत का नियंत्रण लेने का तो ऐसा नहीं है कि जो ज्यादा बच्चे पैदा होंगे तो वफा कौन करेगा वैसा बिलकुल भी नहीं है और कुछ पॉलिटिशन जो है हमारे देश में वह धर्म के नाम पर झगड़ा फैलाना चाहते हैं ताकि उनको आपने जो है वह पॉलिटिकल फायदा हो और अपनी सरकार बना सके तो ऐसे सेट में समाचार लोगों को भड़काने के लिए बिल्कुल भी नहीं देना चाहिए

jeere ke mein bilkul bhi sahmat nahi hoon jo statement bjp ke MLA banwari laal singhal ne kaha hai ki musalman adhik bacche paida karte hain taki bhavishya mein hoon bharat ka niyantran le sake toh aisa nahi hai ki kam bacche paida kare ya zyada bacche paida kare toh use bharat ka niyantran liya ja sakta hai vaah sthan jo hai vaah hindi mein choti country hai aur muslimo ki tadad jo hai vaah aadhe se bhi kam hai hinduon ke competition mein toh jaan tak batein bharat ka niyantran lene ka toh aisa nahi hai ki jo zyada bacche paida honge toh wafa kaun karega waisa bilkul bhi nahi hai aur kuch politician jo hai hamare desh mein vaah dharm ke naam par jhagda faillana chahte hain taki unko aapne jo hai vaah political fayda ho aur apni sarkar bana sake toh aise set mein samachar logo ko bhadkaane ke liye bilkul bhi nahi dena chahiye

जीरे के में बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं जो स्टेटमेंट बीजेपी के MLA बनवारी लाल सिंघल ने कहा है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

0:53
Play

Likes    Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं जो भी बयान एमएलऐ जी ने दिया है क्योंकि कोई भी अब मां बाप बच्चे इसलिए नहीं पैदा करेंगे ताकि वह किसी और दूसरी कंट्री के प्रति उनमें कोई भावना हो l यह बहुत पर्सनल फीलिंग होती है और एक बहुत पर्सनल चॉइस होती है l तो मेरे हिसाब से तो यह बिल्कुल ही गलत उन्होंने कहा है और ऐसी ऐसी चीज बोल कर हो सकता है, वह किसी के दिल को भी सेट पहोचाये और उनको भी दुख हो यह चीज सुनकर तो उन्हें ऐसा ध्यान नहीं देना चाहिए था l वह अपने बयान को किसी भी तरीके से सही नहीं ठहरा पाएंगे क्योंकि यह कहना बिल्कुल ही गलत है आप किसी के मां बाप की फीलिंग्स पर आप नहीं क्वेश्चन कर सकते हैं और जहां तक की बात रही इसकी तो यह चीज मुमकिन में नहीं किसी भारत की जो पॉपुलेशन है जो लोग हैं यहां पर बहुत ज्यादा तादाद में है पाकिस्तान से और लोग ज्यादा होने से मेरे को नहीं लगता है कि कोई भी देश दूसरे देश में नियंत्रण पा सकता है या वे ज्यादा स्ट्रांग हो सकता हैl तो इसीलिए जितने भी यह जो बयान है इसको मैं बिल्कुल भी सही नहीं मानती हूं और अगर मुसलमान ज्यादा भी हो जाते हैं हिंदुओं से तो भारत को इस चीज़ से कोई दिक्कत नहीं होगी l हम लोग मुसलमानों को भी ऐसा नहीं कहते कि वे पाकिस्तान के हैं l मुसलमान भी भारत के हैं हिंदू भी भारत के हैं और बाकी भी जो लोग यहां पर रह रहे हैं वोह भारतवासी हैं l

main bilkul bhi sahmat nahi hoon jo bhi bayan emaelaai ji ne diya hai kyonki koi bhi ab maa baap bacche isliye nahi paida karenge taki vaah kisi aur dusri country ke prati unmen koi bhavna ho l yah bahut personal feeling hoti hai aur ek bahut personal choice hoti hai l toh mere hisab se toh yah bilkul hi galat unhone kaha hai aur aisi aisi cheez bol kar ho sakta hai vaah kisi ke dil ko bhi set pahochaye aur unko bhi dukh ho yah cheez sunkar toh unhe aisa dhyan nahi dena chahiye tha l vaah apne bayan ko kisi bhi tarike se sahi nahi thahara payenge kyonki yah kehna bilkul hi galat hai aap kisi ke maa baap ki feelings par aap nahi question kar sakte hain aur jaha tak ki baat rahi iski toh yah cheez mumkin mein nahi kisi bharat ki jo population hai jo log hain yahan par bahut zyada tadad mein hai pakistan se aur log zyada hone se mere ko nahi lagta hai ki koi bhi desh dusre desh mein niyantran paa sakta hai ya ve zyada strong ho sakta hai toh isliye jitne bhi yah jo bayan hai isko main bilkul bhi sahi nahi maanati hoon aur agar musalman zyada bhi ho jaate hain hinduon se toh bharat ko is cheez se koi dikkat nahi hogi l hum log musalmanon ko bhi aisa nahi kehte ki ve pakistan ke hain l musalman bhi bharat ke hain hindu bhi bharat ke hain aur baki bhi jo log yahan par reh rahe hain woh bharatvasi hain l

मैं बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं जो भी बयान एमएलऐ जी ने दिया है क्योंकि कोई भी अब मां बाप बच्च

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  227
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जो बयान आया है बनवारी लाल सिंधल से कि मुसलमान अधिक बच्चे पैदा करते हैं ताकि भविष्य में भारत का नियंत्रण ले सके | ये जो बयान है, वो बहुत गलत है ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि कोई भी पहली बात तो किसी रिलीजन पर टारगेट नहीं करना चाहिए कि वो रिलिजन के लोग एक स्पेसिफिक माइंड सेट लेके कर रहे हैं ऐसा बिल्कुल भी नहीं है | वो उनकी पर्सनल चॉइस है वह क्या करना चाहते है, कितने बच्चे पैदा करना चाहते है, क्यों करना चाहते है, ये उनका कॉल है उनका फैसला है वह उस पे किसी को भी मेरे हिसाब से उंगली उठाने का कोई अधिकार नहीं है | और अगर ऐसा कोई करता भी है तो यह बहुत गलत चीज है जो वो कर रहे हैं | उनके रिलिजन के ऊपर से बिल्कुल क्वेश्चन नहीं उठाना चाहिए | तो यह जो पूरा स्टेटमेंट आया है वह ही बहुत गलत आया है कि कोई भी मां बाप अपने बच्चे इसलिए उन्हें पैदा नहीं करेगा कि वह किसी और किसी स्पेसिफिक हैट्रेड रीज़न में उनको डालने के लिए या फिर नफरत के जरिए में डालने के लिए वह कभी भी नहीं करेगा मेरे हिसाब से तों हां ये काफी गलत स्टेटमेंट आया है!

yah jo bayan aaya hai banwari laal sindhal se ki muslim adhik bacche paida karte hain taki bhavishya mein bharat ka niyantran le sake ye jo bayan hai vo bahut galat hai aisa bilkul bhi nahi hai ki koi bhi pehli baat toh kisi religion par target nahi karna chahiye ki vo religion ke log ek specific mind set leke kar rahe hain aisa bilkul bhi nahi hai vo unki personal choice hai vaah kya karna chahte hai kitne bacche paida karna chahte hai kyon karna chahte hai ye unka call hai unka faisla hai vaah us pe kisi ko bhi mere hisab se ungli uthane ka koi adhikaar nahi hai aur agar aisa koi karta bhi hai toh yah bahut galat cheez hai jo vo kar rahe hain unke religion ke upar se bilkul question nahi uthana chahiye toh yah jo pura statement aaya hai vaah hi bahut galat aaya hai ki koi bhi maa baap apne bacche isliye unhe paida nahi karega ki vaah kisi aur kisi specific haitred reason mein unko dalne ke liye ya phir nafrat ke jariye mein dalne ke liye vaah kabhi bhi nahi karega mere hisab se to haan ye kaafi galat statement aaya hai

यह जो बयान आया है बनवारी लाल सिंधल से कि मुसलमान अधिक बच्चे पैदा करते हैं ताकि भविष्य में

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  236
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह जो बयान आया है मेरे ख्याल से वह डिफेक्ट करता है वह इस तरह से बताता है कि उस इंसान की अहमियत कैसी है तो जैसा आप बोलते है वह उससे पता चलता है कि आपके माइंड सेट और किस जगह से बिलॉन्ग करते हैं तो ऐसे सारी बातें साफ़ हो जाती हैं कि जैसा आपने सीखा आज तक वैसे ही आपको गर्ल

dekhiye yah jo bayan aaya hai mere khayal se vaah defect karta hai vaah is tarah se batata hai ki us insaan ki ahamiyat kaisi hai toh jaisa aap bolte hai vaah usse pata chalta hai ki aapke mind set aur kis jagah se Belong karte hain toh aise saree batein saaf ho jaati hain ki jaisa aapne seekha aaj tak waise hi aapko girl

देखिए यह जो बयान आया है मेरे ख्याल से वह डिफेक्ट करता है वह इस तरह से बताता है कि उस इंसान

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  219
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!