क्या डॉक्टर्स के हड़ताल पे जाने को आपराधिक बना देना चाहिए, क्यूँकि इसके वजह से मरीज़ों को काफी परेशानी होती है?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेशनल मेडिकल कमीशन बनाने की सरकार के इस नए प्रस्ताव पर के खिलाफ आज इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े देश में करीब 3 से 3:30 लाख डॉक्टर हड़ताल पर रहेंगे प्राइवेट या सरकारी अस्पताल की सारी ओपीडी जो है वह बंद रहेंगे ठप रहेंगे तब इसमें क्या है कि वह अपना सा डॉक्टर को हड़ताल पर जाने के लिए आपराधिक मामला बनाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि जिन लोगों को करना हमको यह खुद से जो लोग स्ट्राइक पर गए हैं उन लोगों को डिसिशन लेना है कि उनके लिए क्या इंपॉर्टेंट है आपने कुछ फैसले बनवाने के लिए आपने कुछ बात रखने के लिए और भी तरीके हो सकते हैं आप Skype पर जाकर लोगों की जिम्मेदारियों को आप लोगों की जिंदगी उसी खेल कर अपनी बात अगर आप ने मन भाई भेज दो कितना पाप आपने अपने सर पर लिया तो मैं सनी से नहीं दूंगी क्या अपराध है बनाने की जगह अपराधिक तो नहीं कहती मैं क्योंकि लोगों को बात मनाने का हक है आप सलूशन देते हैं कि वह अपनी बात मनाने के लिए यह तरीका अपनाएं जिस से कि गवर्मेंट और जो बाकी लोग उनकी बात को सुनो और बाकी का काम भी हम पर ना हो

national medical commision banane ki sarkar ke is naye prastaav par ke khilaf aaj indian medical association se jude desh mein kareeb 3 se 3 30 lakh doctor hartal par rahenge private ya sarkari aspatal ki saree OPD jo hai vaah band rahenge thap rahenge tab isme kya hai ki vaah apna sa doctor ko hartal par jaane ke liye apradhik maamla banane se koi fark nahi padega kyonki jin logo ko karna hamko yah khud se jo log strike par gaye hain un logo ko decision lena hai ki unke liye kya important hai aapne kuch faisle banwane ke liye aapne kuch baat rakhne ke liye aur bhi tarike ho sakte hain aap Skype par jaakar logo ki jimmedariyon ko aap logo ki zindagi usi khel kar apni baat agar aap ne man bhai bhej do kitna paap aapne apne sir par liya toh main sunny se nahi dungi kya apradh hai banane ki jagah apradhik toh nahi kehti main kyonki logo ko baat manane ka haq hai aap salution dete hain ki vaah apni baat manane ke liye yah tarika apanaen jis se ki government aur jo baki log unki baat ko suno aur baki ka kaam bhi hum par na ho

नेशनल मेडिकल कमीशन बनाने की सरकार के इस नए प्रस्ताव पर के खिलाफ आज इंडियन मेडिकल एसोसिएशन

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  180
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!