क्यों बॉलीवुड अभिनेत्रीयों को उनके पुरुष समकक्षों की तुलना में कम भुगतान दिया जाता है?...


user

Pratikksha Kukreti

Digital Journalist

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखी डेफिनिटी बॉलीवुड में एक टाइम ऐसा था कि जब जो फीमेल एक्टर्स है उनको कंपैटिबल काम पेमेंट दी जाती थी मेला ट्रस्ट कि हमारी सोसाइटी जो है वह बिल्डिंग सोसायटी थी हालांकि अभी भी ऐसा है लेकिन अब कई हद तक जो है महिलाएं आगे आई अपना ड्राई अपनी राइट को जानती हैं उनके भी डिमांड है अब मैं बॉलीवुड की बात करूं तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि जो मेल को स्टार जमील चार्ज है उन्हीं को सदा पेमेंट ही जाती है इंसान अब जो है अब इन ह्यूमन बॉडी फीमेल एक्ट्रेस आर कमिंग फॉरवार्ड एंड डेफिनटली उनको भी उसी को ही पर किया जा रहा है अब वह यूज्ड इन दोनों के पेमेंट में डेफिनटली कम हो चुका है क्वालिटी की तरह इन उन्नाव ऑल स्कूल खासतौर पर दिखी दीपिका पदुकोण अभी आपने देखा फोर्ब्स लिस्ट 2018 में और वह आई डॉक्टर्स है एंड प्रियंका चोपड़ा व्हाट रूल इन द बॉलीवुड करीना कपूर खान वार्निंग मच मच बेटर सुनाओ अब तो टाइम है वह जमाना बिल्कुल जा चुका है आप देखिए ना अगर बात करें क्वीन ऑफ बॉलीवुड कंगना रनौत को तो अपनी फिल्म में हीरो की जरूरत ही नहीं पड़ती है तो पूछो एक का डिफरेंस आना दोनों की पेमेंट में या डिमांड्स में अब बिल्कुल भी नहीं है ना बहुत टैलेंटेड एक्टर सुलग राधिका आप्टे जो अपनी बॉलीवुड में कुछ जगह बना रही है डेरा मच मच मोर इन्वेंटरी टर्नओवर डूइंग सो सो वेल तो आपको टाइम नहीं है अब डेफिनिटी ऐसा नहीं है एक टाइम था जो ऐसा होता था लेकिन आप जो है दिल नोटबंदी पेमेंट इन हिंदी कैप्टन एयरप्लेन बिटवीन मेल एंड फीमेल स्टार्स

likhi definiti bollywood mein ek time aisa tha ki jab jo female actors hai unko kampaitibal kaam payment di jaati thi mela trust ki hamari society jo hai vaah building sociaty thi halanki abhi bhi aisa hai lekin ab kai had tak jo hai mahilaen aage I apna dry apni right ko jaanti hain unke bhi demand hai ab main bollywood ki baat karun toh aisa bilkul bhi nahi hai ki jo male ko star jameel charge hai unhin ko sada payment hi jaati hai insaan ab jo hai ab in human body female actress rss coming farvard and definatali unko bhi usi ko hi par kiya ja raha hai ab vaah used in dono ke payment mein definatali kam ho chuka hai quality ki tarah in unnaav all school khaasataur par dikhi deepika padukon abhi aapne dekha forbes list 2018 mein aur vaah I doctors hai and priyanka chopra what rule in the bollywood kareena kapur khan warning match match better sunao ab toh time hai vaah jamana bilkul ja chuka hai aap dekhiye na agar baat karen queen of bollywood kangana ranaut ko toh apni film mein hero ki zaroorat hi nahi padti hai toh pucho ek ka difference aana dono ki payment mein ya demands mein ab bilkul bhi nahi hai na bahut talented actor sulag radhika apte jo apni bollywood mein kuch jagah bana rahi hai dera match match mor inventory turnover doing so so well toh aapko time nahi hai ab definiti aisa nahi hai ek time tha jo aisa hota tha lekin aap jo hai dil notebandi payment in hindi captain airplane between male and female stars

लिखी डेफिनिटी बॉलीवुड में एक टाइम ऐसा था कि जब जो फीमेल एक्टर्स है उनको कंपैटिबल काम पेमें

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  1872
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जो सवाल है कि बॉलीवुड में अभिनेत्रियों को उनके पुरुषों की तुलना में कम भुगतान दिया जाता है मैं बताना चाहता हूं कि यह सिर्फ बॉलीवुड में नहीं होता है पर हर एक फील्ड में हर एक जगह पर एक कंपनी में ऐसा होता है कि कहीं ना कहीं अगर आप फीमेल बॉस होती है तो जो मिल जाए प्लीज है उनको अच्छा नहीं लगता है क्यों क्योंकि फीमेल कोडोमिनेंट करती है तो मिल्स को अच्छा नहीं लगता है और इसी तरह जैसे यह पूछा गया कि बॉलीवुड अभिनेत्रियों को कम आप भुगतान होता है आप तो यह बात तो कहीं ना कहीं सच है क्योंकि प्रोडूसर डेज होते हैं तो ऐसा लगता है कि आज मेरे हीरो हैं आप वही हमको आगे चलाने में मुझे मदद करेंगे और हीरोइन जो है वह सिर्फ उसमें ग्लैमर डालने के लिए हम उनको यूज करते हैं तो इसलिए जो स्टोरी होती है फिर उनकी उसको मूवी एकदम मेल सेंट्रिक होती है और एक पुरुष को उसमें ज्यादा काम करने का मौका मिल रहा होता है तो कहीं ना कहीं यह सारी बात है और ना सिर्फ बॉलीवुड फिल्मों में ही आ पर हर जगह पर पुरुष की सैलेरी आफ रिस्क ज्यादा होती है यह कम होती तो ऐसा लगता है कि यह डेफिनेशन है हमारे साथ पर अगर ज्यादा है तो कुछ बोलते नहीं है और घर में भी ऐसा होता है कि अगर हस्बेंड की सैलरी वाइफ की सैलरी से कम है तुमको ऐसा लगता है कि मैं जो कर रहा हूं वह ठीक नहीं है फिर वाइफ जॉब करें वह हमको पसंद नहीं होता है तो ना तो यह सिर्फ बॉलीवुड में होता है पर बॉलीवुड में एक कप पुरूष हम कह सकते कि मिल सेंट्रल सोसाइटी है तो वहां पर भी ऐसा है कि अभिनेत्रियों को उनके पुरुष संभोग सुख की तुलना में कम भुगतान किया जाता है

yeh jo sawal hai ki bollywood mein abhinetriyon ko unke purushon ki tulna mein kam bhugtan diya jata hai main batana chahta hoon ki yeh sirf bollywood mein nahi hota hai par har ek field mein har ek jagah par ek company mein aisa hota hai ki kahin na kahin agar aap female boss hoti hai toh jo mil jaye please hai unko accha nahi lagta hai kyon kyonki female kodominent karti hai toh mills ko accha nahi lagta hai aur isi tarah jaise yeh puchha gaya ki bollywood abhinetriyon ko kam aap bhugtan hota hai aap toh yeh baat toh kahin na kahin sach hai kyonki producer days hote hain toh aisa lagta hai ki aaj mere hero hain aap wahi hamko aage chalane mein mujhe madad karenge aur heroine jo hai wah sirf usmein Glamour dalne ke liye hum unko use karte hain toh isliye jo story hoti hai phir unki usko movie ekdam male centric hoti hai aur ek purush ko usmein zyada kaam karne ka mauka mil raha hota hai toh kahin na kahin yeh saree baat hai aur na sirf bollywood filmo mein hi aa par har jagah par purush ki salary of risk zyada hoti hai yeh kam hoti toh aisa lagta hai ki yeh definition hai hamare saath par agar zyada hai toh kuch bolte nahi hai aur ghar mein bhi aisa hota hai ki agar husband ki salary wife ki salary se kam hai tumko aisa lagta hai ki main jo kar raha hoon wah theek nahi hai phir wife job karein wah hamko pasand nahi hota hai toh na toh yeh sirf bollywood mein hota hai par bollywood mein ek cup purush hum keh sakte ki mil central society hai toh wahan par bhi aisa hai ki abhinetriyon ko unke purush sambhog sukh ki tulna mein kam bhugtan kiya jata hai

यह जो सवाल है कि बॉलीवुड में अभिनेत्रियों को उनके पुरुषों की तुलना में कम भुगतान दिया जाता

Romanized Version
Likes  75  Dislikes    views  2514
WhatsApp_icon
user

Sanjay Satpathy

Film Maker

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे ऐसा लगता है कि आज के कलाकार और निकले ज्यादातर जनता का होता है मिलकर कौन है जो होता है कम होता है टाटा डोकोमो

mujhe aisa lagta hai ki aaj ke kalakar aur nikle jyadatar janta ka hota hai milkar kaun hai jo hota hai kam hota hai tata docomo

मुझे ऐसा लगता है कि आज के कलाकार और निकले ज्यादातर जनता का होता है मिलकर कौन है जो होता है

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  669
WhatsApp_icon
user

@satyam.20

Student

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है क्यों बॉलीवुड अंग्रेजों को उनके पुरुष समय बच्चों की तुलना में कम भुगतान किया जाता है मुक्तांजलि रहता है क्योंकि उनको ज्यादा एक्शन नहीं देखा था सिर्फ दो-तीन सॉन्ग में एक्टिंग करते हैं और थोड़ा बहुत सुंदर है लेकिन जो हीरो रहता है उसको हर चीज में एक्टिंग करने देते हैं एक्शन पहले करना रहता है बाद में रोमांटिक सीन तो देना ही पड़ेगा और कॉमेडी भी नहीं पड़ते हैं और बॉलीवुड मिनट रुको न्यूज़ बॉलीवुड

good morning friends aap ka question hai kyon bollywood angrejo ko unke purush samay baccho ki tulna me kam bhugtan kiya jata hai muktanjali rehta hai kyonki unko zyada action nahi dekha tha sirf do teen song me acting karte hain aur thoda bahut sundar hai lekin jo hero rehta hai usko har cheez me acting karne dete hain action pehle karna rehta hai baad me romantic seen toh dena hi padega aur comedy bhi nahi padate hain aur bollywood minute ruko news bollywood

गुड मॉर्निंग फ्रेंड्स आप का क्वेश्चन है क्यों बॉलीवुड अंग्रेजों को उनके पुरुष समय बच्चों क

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  5  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या बालवीर अब नेटवर्क उनके पड़ोसन बच्चों की तुलना में कम ध्यान दिया जाता है जी हां क्योंकि उनका जो शुभ टाइम होता है एक्टर का ज्यादा होता और एक्ट्रेस का काम होता है अगर आप एक मूवी को ध्यान से देखें तो समझो एक्ट्रेस होती है उनके कुछ इसेंस होते हैं जबकि ज्यादातर मूवी में हीरो और विलेन का रोल होता है

kya balavir ab network unke padosan baccho ki tulna me kam dhyan diya jata hai ji haan kyonki unka jo shubha time hota hai actor ka zyada hota aur actress ka kaam hota hai agar aap ek movie ko dhyan se dekhen toh samjho actress hoti hai unke kuch isens hote hain jabki jyadatar movie me hero aur villain ka roll hota hai

क्या बालवीर अब नेटवर्क उनके पड़ोसन बच्चों की तुलना में कम ध्यान दिया जाता है जी हां क्योंक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
play
user

Kavita

Writer

1:51

Likes  10  Dislikes    views  334
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!