क्या आपको लगता है बॉलीवुड अभिनेता को राजनीति में शामिल होना चाहिए या फिर वो बॉलीवुड में ही ठीक हैं?...


user
0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों नहीं होना चाहिए अभिनेता को राजनीति में शामिल जरूर होना चाहिए बशर्ते कि वह एक ही नाक के ऊपर चर्चित राजनीति है तो राजनीति ही करनी है वह चाहे मैं फिल्मों में भी आऊंगा तो वह यह दो नावों पर पैर 28 नहीं होता है एक्टिंग कर ली अभिनेता का काम खत्म हो गया अभी राजनेता का काम करना है तो एक अच्छा नेता हो सकता है

kyon nahi hona chahiye abhineta ko raajneeti me shaamil zaroor hona chahiye basharte ki vaah ek hi nak ke upar charchit raajneeti hai toh raajneeti hi karni hai vaah chahen main filmo me bhi aaunga toh vaah yah do navon par pair 28 nahi hota hai acting kar li abhineta ka kaam khatam ho gaya abhi raajneta ka kaam karna hai toh ek accha neta ho sakta hai

क्यों नहीं होना चाहिए अभिनेता को राजनीति में शामिल जरूर होना चाहिए बशर्ते कि वह एक ही नाक

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
15 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बॉलीवुड के अभिनेता या अभिनेत्री को राजनीति में शामिल होना चाहिए यह सवाल जो है वह आज के दौर में इसलिए इंपॉर्टेंट है क्या क्योंकि काफी सारे ऐसे कलाकार है जो बॉलीवुड में अपना नाम नहीं बना पाते हैं तो वह राजनीति ज्वाइन कर लेते हैं और राजनीति में कोई पार्टी में आ जाते हैं पर मेरे ख्याल से जहां तक और मैं थोड़ा पीछे जाऊंगी इतिहास में जाऊं तो ऐसे काफी नाम है हमारे पास जा जिन्हें राजनीति ज्वाइन की थी उसने एक बहुत बड़ा नाम भी ले सकता हूं अमिताभ बच्चन का जी हां अमिताभ बच्चन जी ने भी एक फैसला किया था कि वह राजनीति में आएंगे तो उन्होंने इलेक्शन भी आ लड़ा था इलाहाबाद से पर उनका जो अनुभव था राजनीति में वह बहुत ही खराब रहा था और अब कहां कांग्रेस की सीट पर से वह लड़े थे वह बहुत ही खराब था उनका अनुभव रहा था तो और दूसरी बात है कि आप विनोद खन्ना खन्ना की राजनीति में आए थे वह सांसद बने थे फिर अगर हम अभिनेत्रियों की बात करें तो हिमा मालिनी है जया बच्चन है रेखा है जो राज्यसभा के सांसद है आज भी तो अगर राज्य सभा के आप सांसद बनते हो तो उसमें तो कोई ऐसी है नहीं कि आपको इलेक्शन लड़ना पड़ता है सिर्फ आप तो आ सकती हो तो एक को पार्टी आपको 9 मिनट करती है और उस हिसाब से चुनाव होता है और आप लग जाते हो पर मेरे ख्याल से बॉलीवुड हस्ती जो है उनको राजनीति में आने की जरूरत नहीं होती है क्योंकि वह अपने फील्ड में ही इतने अनुभवी होते हैं अपनी फिल में ही वह पॉपुलर होते हैं तो मुझे लगता है कि वह राजनीति में आकर उनको अपना नाम खराब करना चाहिए या तो फिर जिस फिल्म में है उस पैसे को अलविदा कहकर और राजनीति में आ जाए ताकि राजनीति भी उनका नाम हो सके ऐसा बिल्कुल जरूरी नहीं कि वह राजनीति में आएंगे तो उनका नाम और बड़ा हो जाएगा तो मुझे नहीं लगता कि बॉलीवुड के अभिनेता या अभिनेत्री को राजनीति में शामिल होना चाहिए

bollywood ke abhineta ya abhinetri ko raajneeti mein shaamil hona chahiye yah sawaal jo hai vaah aaj ke daur mein isliye important hai kya kyonki kaafi saare aise kalakar hai jo bollywood mein apna naam nahi bana paate hai toh vaah raajneeti join kar lete hai aur raajneeti mein koi party mein aa jaate hai par mere khayal se jaha tak aur main thoda peeche jaungi itihas mein jaaun toh aise kaafi naam hai hamare paas ja jinhen raajneeti join ki thi usne ek bahut bada naam bhi le sakta hoon amitabh bachchan ka ji haan amitabh bachchan ji ne bhi ek faisla kiya tha ki vaah raajneeti mein aayenge toh unhone election bhi aa lada tha allahabad se par unka jo anubhav tha raajneeti mein vaah bahut hi kharab raha tha aur ab kahaan congress ki seat par se vaah lade the vaah bahut hi kharab tha unka anubhav raha tha toh aur dusri baat hai ki aap vinod khanna khanna ki raajneeti mein aaye the vaah saansad bane the phir agar hum abhinetriyon ki baat kare toh hima malini hai jaya bachchan hai rekha hai jo rajya sabha ke saansad hai aaj bhi toh agar rajya sabha ke aap saansad bante ho toh usme toh koi aisi hai nahi ki aapko election ladna padta hai sirf aap toh aa sakti ho toh ek ko party aapko 9 minute karti hai aur us hisab se chunav hota hai aur aap lag jaate ho par mere khayal se bollywood hasti jo hai unko raajneeti mein aane ki zarurat nahi hoti hai kyonki vaah apne field mein hi itne anubhavi hote hai apni fill mein hi vaah popular hote hai toh mujhe lagta hai ki vaah raajneeti mein aakar unko apna naam kharab karna chahiye ya toh phir jis film mein hai us paise ko alvida kehkar aur raajneeti mein aa jaaye taki raajneeti bhi unka naam ho sake aisa bilkul zaroori nahi ki vaah raajneeti mein aayenge toh unka naam aur bada ho jaega toh mujhe nahi lagta ki bollywood ke abhineta ya abhinetri ko raajneeti mein shaamil hona chahiye

बॉलीवुड के अभिनेता या अभिनेत्री को राजनीति में शामिल होना चाहिए यह सवाल जो है वह आज के दौर

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  1340
WhatsApp_icon
user

Manish Soni

Former Creative/Reality Producer

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं यार नहीं करे तो अच्छा है शक्ल दिखा कर देख लेना उसके बाद कभी काम नहीं करना क्या चलाना संभालना अपने एरिया में विरोध करना इन नहीं होगा उनसे ज्यादा अच्छा

nahi yaar nahi kare toh accha hai shakl dikha kar dekh lena uske baad kabhi kaam nahi karna kya chalana sambhaalna apne area mein virodh karna in nahi hoga unse zyada accha

नहीं यार नहीं करे तो अच्छा है शक्ल दिखा कर देख लेना उसके बाद कभी काम नहीं करना क्या चलाना

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  229
WhatsApp_icon
user

Md Shahbaz Alam

Filmmaker | Creative Director

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जॉइंट करना है उनका एक इंटरव्यू जो अपने चॉइस है और तब उसको आप नहीं कर सकते अगर आप मुझसे पूछते हैं तो जाहिर सी बात है मैं कहूंगा कि जो भी बॉलीवुड अभिनेता है उनको पॉलिटिक्स ज्वाइन नहीं करना चाहिए उसकी बहुत सिंपल से हो जाएगी उनकी जो पॉपुलर की होती है वह उनकी जो ऑडियंस होती है वह किसी पार्टी से डिलीवरी नहीं होती है जब आप किसी पार्टी को करते हैं जॉइन उसकी वजह से उनका जो अपना सकते हैं किंतु आपका फॉलोइंग करने क्या वजह है वह भी उनके पास नहीं पचता है क्योंकि एक आदमी जो नॉन पॉलिटिकल बैकग्राउंड से होगा जिसको पॉलीटिकल इंटरेस्ट नहीं है और आपको उसी चीज को जवाब को सिर्फ इसलिए लाइक करता है कि आपके एक्टिंग स्किल्स को देखकर आए या फिर आपको अपना फॉलो करता है तो व्हाट्सएप पॉलिटिक्स में जाकर आप उसका कहीं ना कहीं जो 15 लोग करने का एक रीजन है वह उसको नहीं दे पाते खत्म करता

joint karna hai unka ek interview jo apne choice hai aur tab usko aap nahi kar sakte agar aap mujhse poochhte hai toh jaahir si baat hai kahunga ki jo bhi bollywood abhineta hai unko politics join nahi karna chahiye uski bahut simple se ho jayegi unki jo popular ki hoti hai wah unki jo odience hoti hai wah kisi party se delivery nahi hoti hai jab aap kisi party ko karte hai join uski wajah se unka jo apna sakte hai kintu aapka following karne kya wajah hai wah bhi unke paas nahi pachta hai kyonki ek aadmi jo non political background se hoga jisko political interest nahi hai aur aapko usi cheez ko jawab ko sirf isliye like karta hai ki aapke acting Skills ko dekhkar aaye ya phir aapko apna follow karta hai toh whatsapp politics mein jaakar aap uska kahin na kahin jo 15 log karne ka ek reason hai wah usko nahi de paate khatam karta

जॉइंट करना है उनका एक इंटरव्यू जो अपने चॉइस है और तब उसको आप नहीं कर सकते अगर आप मुझसे पूछ

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  1472
WhatsApp_icon
user
0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा कोई ऑपिनियन तो बताएं में एक इंसान की अपनी प्रथम जल्दी होती है जिसमें वह दिखाइए ताकि उस को आकर्षित करता है

mera koi opinion toh bataye mein ek insaan ki apni pratham jaldi hoti hai jisme wah dikhaaiye taki us ko aakarshit karta hai

मेरा कोई ऑपिनियन तो बताएं में एक इंसान की अपनी प्रथम जल्दी होती है जिसमें वह दिखाइए ताकि उ

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  748
WhatsApp_icon
user

Satyam Agarwal

Sr. Graphic Designer/Creative Designer

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी सबसे बिल्कुल ही नहीं क्योंकि अगर वह बॉलीवुड इंडस्ट्री में है और उसे उसके पास बहुत सारे मैन पावर है उसके पास बहुत पहले जो उनके लिए वोट कर सकते हैं ठीक है लेकिन जब बोलो नॉट इन इंडिया बाय गॉड गवर्नमेंट विद्यापति ब्लॉक चलता है कि तुम मेरे दिल में आ जाओ तुम मेरा पार्क लीडर बन जाओ और तुम को समा लूंगा

meri sabse bilkul hi nahi kyonki agar wah bollywood industry mein hai aur use uske paas bahut saare man power hai uske paas bahut pehle jo unke liye vote kar sakte hain theek hai lekin jab bolo not in india by god government vidhyapati block chalta hai ki tum mere dil mein aa jao tum mera park leader ban jao aur tum ko sama lunga

मेरी सबसे बिल्कुल ही नहीं क्योंकि अगर वह बॉलीवुड इंडस्ट्री में है और उसे उसके पास बहुत सार

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  1534
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड अभिनेताओं को राजनीति में शामिल होना चाहिए या फिर बॉलीवुड में ठीक है मैं मानता हूं कि वह यह फैसला उन्हीं का है कि वह किस में क्या करना चाहते हैं एक बार वह फिल्में करना बंद कर देते हैं फिर कम कर दें उसके बाद उनकी मर्जी अगर उनको राजनीति अच्छी लगती है कि राजनीति में भी जाएं मैं क्या बुराई है और वैसे भी बहुत सारे लोग रिटायर होने के बाद अलग-अलग काम पकड़ते हैं तो जब भी इनको भी फिल्म का मिलने लगती हैं तो यह लोग चले जाते हैं राजनीति में कोई बुराई नहीं है मैं उसको गलत नहीं मानता क्योंकि सबको अधिकार होना चाहिए अपने हिसाब से अपना शिव चर्चा करने का थैंक्यू

kya aapko lagta hai ki bollywood abhinetaon ko raajneeti mein shaamil hona chahiye ya phir bollywood mein theek hai manata hoon ki vaah yah faisla unhi ka hai ki vaah kis mein kya karna chahte hain ek baar vaah filme karna band kar dete hain phir kam kar de uske baad unki marji agar unko raajneeti achi lagti hai ki raajneeti mein bhi jayen main kya burayi hai aur waise bhi bahut saare log retire hone ke baad alag alag kaam pakadten hain toh jab bhi inko bhi film ka milne lagti hain toh yah log chale jaate hain raajneeti mein koi burayi nahi hai usko galat nahi manata kyonki sabko adhikaar hona chahiye apne hisab se apna shiv charcha karne ka thainkyu

क्या आपको लगता है कि बॉलीवुड अभिनेताओं को राजनीति में शामिल होना चाहिए या फिर बॉलीवुड में

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  2254
WhatsApp_icon
user

Sanjay Satpathy

Film Maker

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजस्थान

rajasthan

राजस्थान

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  665
WhatsApp_icon
user

Vishwajit Kumar

Director/Video Editor

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फिल्मी क्या बॉलीवुड एक्ट्रेस को तो नहीं करना चाहिए क्योंकि अध्याय 88 एंड इंटरकॉम कुछ और बेटे की खेती में ज्यादा बाइक सेल किए हुए पॉलिटिक्स एंड पॉलिटिक्स जो ज्यादा अच्छे से जानते हो

filmy kya bollywood actress ko toh nahi karna chahiye kyonki adhyay 88 end intercom kuch aur bete ki kheti mein zyada bike cell kiye hue politics end politics jo zyada acche se jante ho

फिल्मी क्या बॉलीवुड एक्ट्रेस को तो नहीं करना चाहिए क्योंकि अध्याय 88 एंड इंटरकॉम कुछ और बे

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  576
WhatsApp_icon
user

Baadesha sikander Sultan Kazmi

Choreographer | Actor | Modal | Speaker

9:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब आप का सवाल है कि आप बॉलीवुड अभिनेता को राजनीति में शामिल होना चाहिए या फिर बॉलीवुड में ठीक है मेरे हिसाब से बॉलीवुड अभिनेता को राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए वह बॉलीवुड में ही ठीक है क्योंकि पोल्टिक्स एक बहुत गंदी बहुत गंदी बहुत मजाक कीचड़ है ना जो एक बार इस कीचड़ में ही चला जाता है और सब्सिडी बात आजकल की पॉलिटिक्स इतनी गंदी हो गई है कि जो बॉलीवुड का भी नेता है जिसका पिक जो वहां पर अपनी पहचान बना रखी है जो नजरों पब्लिक नजरों में अच्छा केदार है उसमें करके और सब से बात है आजकल की जो पॉलिटिक्स पहले पुराने वाले पॉलिटिक्स नहीं लगे पुराने वाले पॉलिटिक में बहुत अच्छे लगते हैं आजकल क्या है हर गुनाहगार को पॉलिटिक्स में जगह दी जा रही है तो मेरे हिसाब से पॉलिटिक्स में बहुत कम ऐसे लोग मिलेंगे जो अच्छे हैं 100 में से 10 परसेंडी पंद्रह पर्सेंट जो अच्छे हैं मेरे हिसाब से तो पॉलिटिक्स लाइन बहुत बेकार है इसमें नहीं उतर जाता बॉलीवुड के अभिनेता को बॉलीवुड में ही रहना ठीक है कहते है ना पब्लिक के दिल में जगह आराम से नहीं बनाई जा सकती और अगर एक बात दिल में जगह बन जाए और उसके बाद कोई काम ऐसे हो जाए तो फिर वह दोबारा जगह नहीं बनती जाने जाना है याद मुझे बहुत सारी दुनिया सो जाते हैं इज्जत बनाना आसान है इज्जत गवाना तो आसान है अब बनाने में उसे सालों लग जाते हैं वही सा भेजो बॉलीवुड के अभिनेता की पहचान है उसे पहचान बनाने में अपना कैरियर सेट करने में काफी टाइम लग जाता है स्ट्रगल कर देगा तो उस मुकाम पर पहुंचा था कि वह अपने पब्लिक की नजरों का तारा बन जाता है अब वह बदला पॉलिटिक्स ना करें उसको बॉलीवुड की नॉलेज है तो सेटिंग कैसे करनी है डांस कैसे करना है वह कहां पर करना है उसके लिए नहीं होती है ठीक है ना ठीक है मानते हैं कि पॉलिटिक्स भी अच्छी है पॉलिटिक्स में बंद हो जाना चाहिए बट बंद पॉलिटिक्स में और भी थे आजकल के नौजवान हैं पढ़े लिखे हैं उनको आना चाहिए ना जो आजकल फोल्ड स्काई कॉश कर रहे हैं बहुत सारे लड़के लड़के हैं जो पढ़ाई कर ले जो ईमानदार भी है जो कॉलेज में अपनी पढ़ाई कर ले तो ऐसे बच्चों को पॉलिटिक्स में आना चाहिए जो ओल्ड इसके लायक हैं जो पॉलिटिक्स जिनके पर सूट करती है बॉलीवुड के अभिनेता को बॉलीवुड की एक्टिंग जो बंदा एक्टिंग करने वाला बंदा उसको पॉलिटिक्स दे दी जाएगी तो वह एक्टिंग कर गए पॉलिटिक्स ओल्ड का मतलब होता है जो हमारे दो लीटर है यह मदद से लाते हैं अध्यक्ष को चलाने के लिए पढ़े लिखे और समझदार व्यक्ति रोती है मानते बॉलीवुड के पॉलिटिक्स में जमीन आसमान का फर्क है दूसरी चीज की अगर हमारे जो देश के कॉलेज के बच्चे हैं यह लड़के लड़के हैं जो भी हमारे बच्चे हैं जो कॉलेज में पढ़ाई करने आई एम हमारे पहले हमारे भाई हमारे सर जो हो नहाने तो कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है जो जो जो सोचते हैं कि नमक मिलाकर यह करूंगा इतना बड़ा करूंगा जो देश को आगे बढ़ा सकते हैं क्या खोजा जाए बच्चों को निकाला जाए जो पुलिस के लिए बने हैं जो देश के लिए कुछ कर सकते हैं जो भारत देश को आगे बढ़ा ले सकते हैं ऐसे नहीं कि कुछ लोग पॉलिटिक्स में ऐसे हैं जिन्हें यह तो पता नहीं दिन कैसे बजाने है बिचारे पॉलिश चलाने में बहुत सारे पुलिस में इसका मतलब होता है कि राजनीतिक देश का विकास करना जो बॉलीवुड के अभिनेता है वह पॉलिसी लेने आएंगे तो पहले तो ने पुलिस समझने में काफी टाइम हो जाता है जब तक वह इस समय काफी देर हो जाती जब वह उस चीज को समझते हैं ना तो बहुत आगे निकल जाते जाते उसने को समझेंगे तो फिर ऑनलाइन आ जाता है तो आदमी एक सीट पर चलेगा तब तक के 2 सीरियल आगे निकल जाती है वह दोनों से भी आगे निकल जाती है एक काम करने जा रहे हो और दुख हमारे आगे निकल चुके अब मैं फिर आप दूसरे काम करोगे तो हमारे पास काम आगे निकल चुके हमारे देश को ऐसे नौजवान ऐसे बच्चे चाहिए जो पुलिस के लिए बने हैं जो पॉलिटिक्स में ही रुचि रखते हैं अर्जेंट पर पॉलिटिक्स अच्छी लगती है जो हमारे देश को आगे बढ़ा सकते हैं जो हिंदुस्तान को वहां पहुंचा सकते हैं जहां हिंदुस्तान बजे चाहिए आज की डेट में अमेरिका सुपर पावर है चाइना भी आगे बढ़ रहा है तो क्या हम हिंदुस्तानी सुपर पावर नहीं बन सकता विदेशों में हमारे बच्चे बड़े बच्चे ऐसे हैं जो वहां पर क्या कर उन लोगों के लिए काम कर रहे हैं चाइना में भी है अमरीका में भी है इंग्लैंड में भी बहुत सी ऐसी कंट्री है जो उन्हें अच्छा पैसे दे रही हमारे काम करें और उन लोगों के लिए काम करें जो जो चीज वहां पर बन रही है वह ज्यादा यहां के पढ़े-लिखे स्प्लेंडर इंडियन से जुदा तो वहां पर कर रहे हैं जो हक वह चीज दे रहे यहां होनी चाहिए वहां पर दे रहे हैं तो मेरे हिसाब से जो पैसा बाकी कंट्री देर बच्चों को वोट दे सकता है अगर यह फालतू जगह इन्वेस्ट करने के बजाय या गलत है तो हमारा देश एक सुपर पावर है और आगे बढ़ सकता है अब पॉलिटिक्स में ऐसे बच्चों को अभी आना जरूरी है जो पुलिस के लिए बने हैं जिन पर पॉलिटिक्स अच्छी लगती है जिनके दिल में कोई ऐसी चीज ही चीजें हैं जो देश को आगे बढ़ा सकती हैं जैसे हमारे मोदी जी हैं वह भी काम करने हैं लेकिन पहले हमारे अटल बिहारी वाजपेई जी दे मैं किसी भी नहीं बताना लूंगा लेकिन देखो मैं किसी पार्टी की तरफ से किसी पार्टी को सपोर्ट करता हूं मैं बीजेपी ना कहना चाहता हूं और कोल्ड स्किन के लिए उन बच्चों का आना चाहिए या उन नौजवानों को उन बुजुर्गो को जिनके पर पॉलिटिक्स अच्छी लगती है जो ईमानदार हैं जिनका कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है जो कुछ कह सकते हैं कि हमारे फौजी भाई हमारे फौजी भाई हमारे सिपाही भाई हमारे आर्मी हमारी महिला शक्ति उनका भरोसा होता है वह सच है कि ना हमारे कोई ऐसे लीडर होगा जो हमारे लिए काम करेगा जिस तरह हमारे देश के जवान सरहद पर जाकर दीक्षा करते हैं उस दर हमारे पुलिस ने तो होना चाहिए जो इमानदारी से देश को आगे बढ़ाएं जिस का एक पब्लिक भरोसा करें ऐसा बंदा जो पब्लिक हितों के बारे में सोचें ऐसा नहीं कि मीडिया लाइन से आएगा बंदा बॉलीवुड लाइट से आया बंदा उसको एकदम पॉलिसी ली जाए तो उसको समझने में काफी टाइम हो जाएगा किधर बेरोजगारी भुखमरी भी है बहुत सारी चीजें हैं लड़ाई झगड़े सोच होती है वह बंदा उसको सोचेगा या उसका पहले ध्यान दें जो बॉलीवुड चाहे वह बंदा होता है उसको अपना बॉलीवुड से हटाने में एक और इसमें सेंड करने में काफी टाइम हो गया था इसलिए मैं बोलता हूं बॉलीवुड के उनके बल्ले को बॉलीवुड में रहना ठीक है और पुलिस के बंदे ओल्ड इसके बदले को पॉलिसी करना चाहिए अब बॉलीवुड बॉलीवुड में देना चाहिए मेघा से आपको होली की हार्दिक शुभकामनाएं जय हिंद जय भारत भारत माता की जय

ab aap ka sawaal hai ki aap bollywood abhineta ko raajneeti mein shaamil hona chahiye ya phir bollywood mein theek hai mere hisab se bollywood abhineta ko raajneeti mein shaamil nahi hona chahiye vaah bollywood mein hi theek hai kyonki poltiks ek bahut gandi bahut gandi bahut mazak kichad hai na jo ek baar is kichad mein hi chala jata hai aur subsidy baat aajkal ki politics itni gandi ho gayi hai ki jo bollywood ka bhi neta hai jiska pic jo wahan par apni pehchaan bana rakhi hai jo nazro public nazro mein accha kedar hai usme karke aur sab se baat hai aajkal ki jo politics pehle purane waale politics nahi lage purane waale politic mein bahut acche lagte hain aajkal kya hai har gunahgar ko politics mein jagah di ja rahi hai toh mere hisab se politics mein bahut kam aise log milenge jo acche hain 100 mein se 10 parsendi pandrah percent jo acche hain mere hisab se toh politics line bahut bekar hai isme nahi utar jata bollywood ke abhineta ko bollywood mein hi rehna theek hai kehte hai na public ke dil mein jagah aaram se nahi banai ja sakti aur agar ek baat dil mein jagah ban jaaye aur uske baad koi kaam aise ho jaaye toh phir vaah dobara jagah nahi banti jaane jana hai yaad mujhe bahut saari duniya so jaate hain izzat banana aasaan hai izzat gavana toh aasaan hai ab banane mein use salon lag jaate hain wahi sa bhejo bollywood ke abhineta ki pehchaan hai use pehchaan banane mein apna carrier set karne mein kaafi time lag jata hai struggle kar dega toh us mukam par pohcha tha ki vaah apne public ki nazro ka tara ban jata hai ab vaah badla politics na kare usko bollywood ki knowledge hai toh setting kaise karni hai dance kaise karna hai vaah kaha par karna hai uske liye nahi hoti hai theek hai na theek hai maante hain ki politics bhi achi hai politics mein band ho jana chahiye but band politics mein aur bhi the aajkal ke naujawan hain padhe likhe hain unko aana chahiye na jo aajkal fold sky kash kar rahe hain bahut saare ladke ladke hain jo padhai kar le jo imaandaar bhi hai jo college mein apni padhai kar le toh aise baccho ko politics mein aana chahiye jo old iske layak hain jo politics jinke par suit karti hai bollywood ke abhineta ko bollywood ki acting jo banda acting karne vala banda usko politics de di jayegi toh vaah acting kar gaye politics old ka matlab hota hai jo hamare do litre hai yah madad se laate hain adhyaksh ko chalane ke liye padhe likhe aur samajhdar vyakti roti hai maante bollywood ke politics mein jameen aasman ka fark hai dusri cheez ki agar hamare jo desh ke college ke bacche hain yah ladke ladke hain jo bhi hamare bacche hain jo college mein padhai karne I M hamare pehle hamare bhai hamare sir jo ho nahane toh kaun si padhai karni padti hai jo jo jo sochte hain ki namak milakar yah karunga itna bada karunga jo desh ko aage badha sakte kya khoja jaaye baccho ko nikaala jaaye jo police ke liye bane hain jo desh ke liye kuch kar sakte hain jo bharat desh ko aage badha le sakte hain aise nahi ki kuch log politics mein aise hain jinhen yah toh pata nahi din kaise bajane hai bichare polish chalane mein bahut saare police mein iska matlab hota hai ki raajnitik desh ka vikas karna jo bollywood ke abhineta hai vaah policy lene aayenge toh pehle toh ne police samjhne mein kaafi time ho jata hai jab tak vaah is samay kaafi der ho jaati jab vaah us cheez ko samajhte hain na toh bahut aage nikal jaate jaate usne ko samjhenge toh phir online aa jata hai toh aadmi ek seat par chalega tab tak ke 2 serial aage nikal jaati hai vaah dono se bhi aage nikal jaati hai ek kaam karne ja rahe ho aur dukh hamare aage nikal chuke ab main phir aap dusre kaam karoge toh hamare paas kaam aage nikal chuke hamare desh ko aise naujawan aise bacche chahiye jo police ke liye bane hain jo politics mein hi ruchi rakhte hain urgent par politics achi lagti hai jo hamare desh ko aage badha sakte hain jo Hindustan ko wahan pohcha sakte hain jaha Hindustan baje chahiye aaj ki date mein america super power hai china bhi aage badh raha hai toh kya hum hindustani super power nahi ban sakta videshon mein hamare bacche bade bacche aise hain jo wahan par kya kar un logo ke liye kaam kar rahe hain china mein bhi hai america mein bhi hai england mein bhi bahut si aisi country hai jo unhe accha paise de rahi hamare kaam kare aur un logo ke liye kaam kare jo jo cheez wahan par ban rahi hai vaah zyada yahan ke padhe likhe splendor indian se juda toh wahan par kar rahe hain jo haq vaah cheez de rahe yahan honi chahiye wahan par de rahe hain toh mere hisab se jo paisa baki country der baccho ko vote de sakta hai agar yah faltu jagah invest karne ke bajay ya galat hai toh hamara desh ek super power hai aur aage badh sakta hai ab politics mein aise baccho ko abhi aana zaroori hai jo police ke liye bane hain jin par politics achi lagti hai jinke dil mein koi aisi cheez hi cheezen hain jo desh ko aage badha sakti hain jaise hamare modi ji hain vaah bhi kaam karne hain lekin pehle hamare atal bihari vajpayee ji de main kisi bhi nahi batana lunga lekin dekho main kisi party ki taraf se kisi party ko support karta hoon main bjp na kehna chahta hoon aur cold skin ke liye un baccho ka aana chahiye ya un naujavanon ko un bujurgo ko jinke par politics achi lagti hai jo imaandaar hain jinka koi apradhik record nahi hai jo kuch keh sakte hain ki hamare fauji bhai hamare fauji bhai hamare sipahi bhai hamare army hamari mahila shakti unka bharosa hota hai vaah sach hai ki na hamare koi aise leader hoga jo hamare liye kaam karega jis tarah hamare desh ke jawaan sarahad par jaakar diksha karte hain us dar hamare police ne toh hona chahiye jo imaandari se desh ko aage badhaye jis ka ek public bharosa kare aisa banda jo public hiton ke bare mein sochen aisa nahi ki media line se aayega banda bollywood light se aaya banda usko ekdam policy li jaaye toh usko samjhne mein kaafi time ho jaega kidhar berojgari bhukhmari bhi hai bahut saari cheezen hain ladai jhagde soch hoti hai vaah banda usko sochega ya uska pehle dhyan de jo bollywood chahen vaah banda hota hai usko apna bollywood se hatane mein ek aur isme send karne mein kaafi time ho gaya tha isliye main bolta hoon bollywood ke unke balle ko bollywood mein rehna theek hai aur police ke bande old iske badle ko policy karna chahiye ab bollywood bollywood mein dena chahiye megha se aapko holi ki hardik subhkamnaayain jai hind jai bharat bharat mata ki jai

अब आप का सवाल है कि आप बॉलीवुड अभिनेता को राजनीति में शामिल होना चाहिए या फिर बॉलीवुड में

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user
5:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा कहना यह है कि बॉलीवुड में जितने भी लोग अभिनेता हैं या भोजपुरी में लोग अभिनेता हैं यार जहां भी लो फिल्म लाइन से जुड़े हुए हैं जो भी अभिनेता हैं उनको नेतागिरी में आना तो नहीं चाहिए नेतागिरी में आने से क्या होता है कि उनका अभिनेता का मान्यता खत्म हो जाता है और समाज के नजर में वह धीरे-धीरे धीरे-धीरे खत्म हो जाते हैं तो उनको डिसाइड अपने दिमाग और अपने जहां से करना होता है कि मैं क्या करूं मगर अच्छा अभिनेता हैं या बॉलीवुड में हैं या भोजपुरी में है तो उनको नेतागिरी में नहीं आना चाहिए अगर वह नेतागिरी में आते हैं तो फिल्म लाइन से उनका जो भी है पब्लिक के अंदर जो भी दिमाग में रहता है वह धीरे-धीरे खत्म हो जाता है किया रहेगा जबकि ने तो कभी फिल्म लाइन में अभिनेता बन के आता है कभी चुनाव जब आता है तो नेता बन कर चुनाव में आ जाता है चेक कोई भी पार्टी हो यह नहीं कि 12 प्रत्यय किसी भी पार्टी के बाद में कर रहा हूं कभी तू यह सब चीजें जो है ना गलत है अभिनेता को तो मेरा कहना यही है मेरे मेरे दिमाग मेरा दिमाग और मेरा सोचा ही कहता है कि एक बार जो भी नेता बन गया फिर उसको नेता में आना नहीं चाहिए क्योंकि उसका अभिनेता काली जो जब नेता में आता है ना अभिनेता होकर जब नेता में बनता है ना नेता में आता है तो उसका वही वह फिल्म लाइन का पब्लिक ग्राफ सिस्टम पूरी खत्म हो जाता है तो इससे थोड़ा सा अभिनेता लोगों को ध्यान देना चाहिए चाहे बॉलीवुड फिल्म चाहिए भोजपुरी को ध्यान देना चाहिए इस तरह से काम फील्ड वर्क में नहीं करना चाहिए अगर हां अगर नेता बन गए चाय बॉलीवुड के हो चाय भोजपुरी केहू अगर उन नेता में आ गए हैं किसी पार्टी में आ गए हैं तो फिर उनको अभिनेता बनने की जरूरत नहीं है अगर वह भी नेता बन के आते हैं तो अपने ऊपर वह खुद कुल्हाड़ी मारते हैं तू सब सिस्टम है हालांकि यह कि मेरा सोच है करता है आगे आप लोगों की क्या राय है आप लोग बताइए अगर अच्छा लगे तो आप लोगों से इसके बारे में बताइए क्योंकि पब्लिक समाज एक बार अगर अभिनेता को भी नेता के रूप में देख लिया तो उसको अभिनेता के रूप में ही उसका दर्जा मिलता है और समाज लोग उसका इज्जत करते हैं अगर नेता का नेता का अगर किसी पार्टी से अगर किसी पार्टी में जा कर के अगर नेता बन गए तो नेता का दर्जा आपको मिलेगा समाज हो या चाहे घर हो चाहे बाहर हो उस हिसाब से आपको मिलेगा सुन नेता और अभिनेता में बहुत फर्क होता है नेता क्या उन्हें ता क्या होता है पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स होता है उसमें प्रोडक्ट होता है कि उसने नेता बनने के लिए लोग क्या-क्या नहीं करते हैं और अभिनेता बनने के लिए भी बहुत कुछ करना पड़ता सभी नेता बनने के लिए उसमें बहुत मिस करते हैं तो नेता और अभिनेता में बहुत फर्क होता है इस बारे में मैं यही कहूंगा कि अगर अभिनेता लोग हैं तो नेता ना बने और नेता बनना है तो फिर अभिनेता नाम तो फिर से मैं बात दोहरा रहा हूं अगर नेता बनना है तो अभिनेता ना बोलिए अभिनेता बनना है तो नेता तभी आपका इज्जत बरकरार रहेगा और समाज में आपका नाम रहेगा अगर दोनों लेकर चलेंगे तो धीरे-धीरे उनका नाम पब्लिक समाज से उनका श्रेष्ठ धीरे-धीरे कम होता चला जाता है धीरे-धीरे लोग कम पसंद करना चालू करते हैं समाज में लुगाई बोलते हैं या कभी यह नेता बन जाता है कभी अभिनेता बन जाता है क्योंकि मैं किसी का नाम नहीं ले रहा हूं मैं एक राय दे रहा हूं समझ जो हमारे समझ से बाहर है जो मैं सोचता हूं मैं उसे बता रहा हूं इस बात को लेकर के कोई बुरा ना माने कि मैं किसी को कह रहा हूं या किसी को समझा रहा हूं पर मेरा दिमाग का और यह नहीं कहता है कि गलत है एक रास्ता चुनिए उस पर चलिए दो रास्ता चुनेंगे तो उसमें क्या होता है आपका थोड़ा सा मान मर्यादा समाज के अंदर दिल से खत्म होता धीरे-धीरे खत्म होने का तगार पर आ जाता है तो अपना इज्जत अपने हाथ में है यह बॉलीवुड भी सोच सकते हैं लोग नेता भी लोग सोच सकते हैं और समाज के लोग भी यह चीज को निर्धारित अपने जीवन से दिमाग में दिमाग से हर बात को अपेक्षा में रख सकते हैं अगर यह बात आपको अच्छा लगे तो कमेंट या मेरी बात को आप लोग जवाब दीजिए

mera kehna yah hai ki bollywood mein jitne bhi log abhineta hain ya bhojpuri mein log abhineta hain yaar jaha bhi lo film line se jude hue hain jo bhi abhineta hain unko netagiri mein aana toh nahi chahiye netagiri mein aane se kya hota hai ki unka abhineta ka manyata khatam ho jata hai aur samaj ke nazar mein vaah dhire dhire dhire dhire khatam ho jaate hain toh unko decide apne dimag aur apne jaha se karna hota hai ki main kya karu magar accha abhineta hain ya bollywood mein hain ya bhojpuri mein hai toh unko netagiri mein nahi aana chahiye agar vaah netagiri mein aate hain toh film line se unka jo bhi hai public ke andar jo bhi dimag mein rehta hai vaah dhire dhire khatam ho jata hai kiya rahega jabki ne toh kabhi film line mein abhineta ban ke aata hai kabhi chunav jab aata hai toh neta ban kar chunav mein aa jata hai check koi bhi party ho yah nahi ki 12 pratyay kisi bhi party ke baad mein kar raha hoon kabhi tu yah sab cheezen jo hai na galat hai abhineta ko toh mera kehna yahi hai mere mere dimag mera dimag aur mera socha hi kahata hai ki ek baar jo bhi neta ban gaya phir usko neta mein aana nahi chahiye kyonki uska abhineta kali jo jab neta mein aata hai na abhineta hokar jab neta mein baata hai na neta mein aata hai toh uska wahi vaah film line ka public graph system puri khatam ho jata hai toh isse thoda sa abhineta logo ko dhyan dena chahiye chahen bollywood film chahiye bhojpuri ko dhyan dena chahiye is tarah se kaam field work mein nahi karna chahiye agar haan agar neta ban gaye chai bollywood ke ho chai bhojpuri kehu agar un neta mein aa gaye hain kisi party mein aa gaye hain toh phir unko abhineta banne ki zarurat nahi hai agar vaah bhi neta ban ke aate hain toh apne upar vaah khud kulhadi marte hain tu sab system hai halaki yah ki mera soch hai karta hai aage aap logo ki kya rai hai aap log bataye agar accha lage toh aap logo se iske bare mein bataye kyonki public samaj ek baar agar abhineta ko bhi neta ke roop mein dekh liya toh usko abhineta ke roop mein hi uska darja milta hai aur samaj log uska izzat karte hain agar neta ka neta ka agar kisi party se agar kisi party mein ja kar ke agar neta ban gaye toh neta ka darja aapko milega samaj ho ya chahen ghar ho chahen bahar ho us hisab se aapko milega sun neta aur abhineta mein bahut fark hota hai neta kya unhe ta kya hota hai politics politics hota hai usme product hota hai ki usne neta banne ke liye log kya kya nahi karte hain aur abhineta banne ke liye bhi bahut kuch karna padta sabhi neta banne ke liye usme bahut miss karte hain toh neta aur abhineta mein bahut fark hota hai is bare mein main yahi kahunga ki agar abhineta log hain toh neta na bane aur neta bana hai toh phir abhineta naam toh phir se main baat dohra raha hoon agar neta bana hai toh abhineta na bolie abhineta bana hai toh neta tabhi aapka izzat barkaraar rahega aur samaj mein aapka naam rahega agar dono lekar chalenge toh dhire dhire unka naam public samaj se unka shreshtha dhire dhire kam hota chala jata hai dhire dhire log kam pasand karna chaalu karte hain samaj mein lugai bolte hain ya kabhi yah neta ban jata hai kabhi abhineta ban jata hai kyonki main kisi ka naam nahi le raha hoon main ek rai de raha hoon samajh jo hamare samajh se bahar hai jo main sochta hoon main use bata raha hoon is baat ko lekar ke koi bura na maane ki main kisi ko keh raha hoon ya kisi ko samjha raha hoon par mera dimag ka aur yah nahi kahata hai ki galat hai ek rasta chuniye us par chaliye do rasta chunenge toh usme kya hota hai aapka thoda sa maan maryada samaj ke andar dil se khatam hota dhire dhire khatam hone ka tagar par aa jata hai toh apna izzat apne hath mein hai yah bollywood bhi soch sakte hain log neta bhi log soch sakte hain aur samaj ke log bhi yah cheez ko nirdharit apne jeevan se dimag mein dimag se har baat ko apeksha mein rakh sakte hain agar yah baat aapko accha lage toh comment ya meri baat ko aap log jawab dijiye

मेरा कहना यह है कि बॉलीवुड में जितने भी लोग अभिनेता हैं या भोजपुरी में लोग अभिनेता हैं या

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  109
WhatsApp_icon
user

@satyam.20

Student

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गुड मॉर्निंग फ्रेंड्स एंड परमिशन है क्या आपको लगता है बॉलीवुड अमिता को राजनीति में शामिल होना चाहिए या फिर वह बॉलीवुड नहीं ठीक है बॉलीवुड में नेताओं को राजनीति में शामिल होना नहीं चाहिए वह बॉलीवुड में देखें क्योंकि अगर वह राजनीति में आ गए तो अपने डायलॉग मारते रहेंगे लेकिन कोई काम नहीं करेंगे उनका काम एक्शन करना लेकिन वहां सिर्फ बोलेंगे करेंगे कुछ नहीं कुछ बॉलीवुड अभिनेता है इनको राजनीति में शामिल होना चाहिए और वहां से काम भी कर सकते हैं जैसे कि सनी देओल भी बहुत अच्छे हैं अभिनेता हैं वह बॉलीवुड में भेजें ऐसे में भी अच्छे ही रहेंगे और बहुत सब नेता हैं जिनको बॉलीवुड में बॉलीवुड के नेताओं को राजनीति में शामिल होना चाहिए लेकिन सभी को नहीं एक-दो शामिल हुए ठीक है लेकिन सभी जब हो जाएंगे तो राजनीति बॉलीवुड बन जाएगा इसलिए हॉलीवुड में डाउनलोड राजनीति में शामिल होना नहीं चाहिए

good morning friends and permission hai kya aapko lagta hai bollywood Amita ko raajneeti me shaamil hona chahiye ya phir vaah bollywood nahi theek hai bollywood me netaon ko raajneeti me shaamil hona nahi chahiye vaah bollywood me dekhen kyonki agar vaah raajneeti me aa gaye toh apne dialogue marte rahenge lekin koi kaam nahi karenge unka kaam action karna lekin wahan sirf bolenge karenge kuch nahi kuch bollywood abhineta hai inko raajneeti me shaamil hona chahiye aur wahan se kaam bhi kar sakte hain jaise ki sunny deol bhi bahut acche hain abhineta hain vaah bollywood me bheje aise me bhi acche hi rahenge aur bahut sab neta hain jinako bollywood me bollywood ke netaon ko raajneeti me shaamil hona chahiye lekin sabhi ko nahi ek do shaamil hue theek hai lekin sabhi jab ho jaenge toh raajneeti bollywood ban jaega isliye hollywood me download raajneeti me shaamil hona nahi chahiye

गुड मॉर्निंग फ्रेंड्स एंड परमिशन है क्या आपको लगता है बॉलीवुड अमिता को राजनीति में शामिल ह

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  243
WhatsApp_icon
user

Ritesh Panchbhai

Self Employed

0:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर कोई अच्छी भावना से काम करना चाहता है तो जरूर शामिल होना चाहिए

agar koi achi bhavna se kaam karna chahta hai toh zaroor shaamil hona chahiye

अगर कोई अच्छी भावना से काम करना चाहता है तो जरूर शामिल होना चाहिए

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि यह बॉलीवुड जो जो इंडस्ट्री का अभिनेता है वह बिल्कुल पॉलिटिक्स में है या राजनीति में नहीं आना चाहिए क्योंकि उन लोगों माइंड चेंज हो जाता है तो अगर वह लोग बॉलीवुड में रहा है या कोई कोटेश्वर बन जाए कोई डायरेक्ट बनता है वह भी ज्यादा बेटा थैंक यू

mujhe lagta hai ki yah bollywood jo jo industry ka abhineta hai vaah bilkul politics mein hai ya raajneeti mein nahi aana chahiye kyonki un logo mind change ho jata hai toh agar vaah log bollywood mein raha hai ya koi koteshwar ban jaaye koi direct banta hai vaah bhi zyada beta thank you

मुझे लगता है कि यह बॉलीवुड जो जो इंडस्ट्री का अभिनेता है वह बिल्कुल पॉलिटिक्स में है या रा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
play
user

Kavita

Writer

1:59

Likes  11  Dislikes    views  304
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!