क्या ये सम्भव है की एक लड़का और एक लड़की बिना प्यार में पड़े अच्छे दोस्त बन सकते है?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस मतलबी जिस्म से इसका कौन करे शहर के आवाम में अब कातिलों की कमी ना रही दोस्तों यह जो 2 लाइंस है इसे गौर करना कि जहां पर यह जिस्म की भूख आ जाती है और हमारा जो आत्मीयता का और यह रूह का जो सिलसिला है प्यार करने का यह जहां पर कमजोर पड़ता है हमारी जिस्म की नियत जहां पर हावी हो जाती है वहां पर यह जो तकरार है जो यह प्रश्न है कि क्या यह संभव है कि एक लड़का और एक लड़की बिना प्यार में पड़े अच्छे दोस्त बन सकते हैं दोस्तों नीयत और नीति की बात है क्योंकि इश्क इश्क है और इसी वजह सेक्स बदनाम हुआ है इसका मतलब जिस्म की उस सीमा से है जहां पर रूह का परिंदा केवल रूह कोई पर मरता है जहां बात रूह से रूह की हो या नहीं आत्मा से आत्मा की हो वहां पर जिस्म बिल्कुल भी नहीं ठहरता उसे जब बोलते हैं कि सात जन्मों का जो रास्ता होता है नाता होता है तो हम यहां पर दुनिया में आते हैं तो जन्म लेकर सांसद दाल निकाल लेते लेकिन जन्म जन्मांतर क्या होता है वह वाला रिश्ता होता है बताते हैं कि शास्त्रों में बताया गया है कि आत्मा होते हैं तो एक शरीर से दूसरी बीवी को शरीर को छोड़ देती है लेकिन वही चाहता हूं मैं मैं बताना नहीं चाहता हूं कि जब आप किसी व्यक्ति से एक आत्मीयता के साथ संबंध निखार एक दूसरी केयर करें और अपनी सीमाएं अपने नियत और नीति को आगे रखें अपने कर्तव्यों से विमुख ना रहे हैं और दूसरी चीज आप अपनी नजरों में जहां पर अच्छा बनने की कोशिश करेंगे वहां पर वाकई जो प्रश्न है प्रश्न में जो खूबसूरत ही एक रिश्ते हो कि जो पवित्रता है वह हमेशा बनी रहेगी क्योंकि ईद प्रश्न किया गया है किसी एक अच्छे से एक निर्दोष प्रश्न है यह निर्दोष प्रश्न एक निर्दोष रिश्ता का एक प्रश्न है जो दोस्ती को अपनी एक अलग पहचान देता है जो दोस्ती होती है वह वह अपने आप में एक अलग है दोस्ती किसी दूसरे व्यक्ति में अटैच अगर हो जाते हैं किसी दूसरे नाम से तो आ दोस्ती नहीं रहती दोस्ती का अपना ही अलग रिश्ता है दोस्ती चाहिए भाई भाई क्यों भाई बहन की हो या एक लड़का एक लड़की की हो पिता पुत्र में भी दोस्ती हो सकती है मां बेटे में भी दो दोस्ती हो सकती है लेकिन एक लड़का और लड़की की बात यहां पर है तो आपकी नियति आप की नीति आपकी आपकी खुद की जिम्मेदारी रिस्पांसिबिलिटी बहुत जरूरी है यदि यह रिश्ता पालना है यह रिश्ता निभाना है कि जहां पर हमारी रिस्पांसिबिलिटी की सीमाएं हम नहीं जानते हमारी मर्यादा जहां पर हम पीछे हो जाते हैं वहां पर यह रिश्ता फीका पड़ जाता है और आए दिन यह घटनाएं घटने लगती हैं कि की आवाम में इस शहर में कातिलों की कमी नहीं है आज का हमारा जो माहौल खराब हो गया हमारा माहौल इतना खराब हो गया है कि सोच तक आदि पहुंची नहीं पाता वहां तो इंतजार रहता है कोई लड़की है इंतजार रहता है कोई लड़का मिले तो और जैसे लड़की लड़का खाली मिला गई या फिर मिला तो वहां पर चिपक जाते और पीयूष जो अपने जैविक भावनाएं होती हैं उन जैविक भावनाओं को एक दूसरे का सरोकार कर देते हैं तो रोज तो मेरी बात का बुरा ना लगे दोस्ती एक बहुत ही प्रश्न बहुत संजीदा है बहुत ही एक पवित्र प्रश्न है बहुत ही सुखद प्रश्न है और इस सुखद अनुभव को बहुत कम लोग झेल पाते हैं या अपनी सीमाओं में रह पाते हैं कि इस सीमा में बने रहना एक बहुत ही सुखद अनुभव है एक दूसरे में सब कुछ न्योछावर करने के बावजूद भी उस दोस्ती का मान रखना है असली दोस्ती है ढकने के लिए यह काम बहुत कठिन जरूर है लेकिन नामुमकिन नहीं या समय पर अपनी जिम्मेदारी और हमारी खुद की एक दृष्टिकोण हमारा नजरिया हमारा निभाने का तरीका हमारा हमारा जो का हमारा एक हमारे एक महान हमारे कर्म की निष्ठा कभी ना श्रद्धा और निष्ठा के यह काम बिल्कुल असंभव है कहता हूं तो दोस्तों अर्थिंग का कोई प्रश्न का जवाब मिले और थैंक यू सो मच गुड गुड डे

is matlabi jism se iska kaun kare shehar ke avam me ab katilon ki kami na rahi doston yah jo 2 lines hai ise gaur karna ki jaha par yah jism ki bhukh aa jaati hai aur hamara jo atmiyata ka aur yah ruh ka jo silsila hai pyar karne ka yah jaha par kamjor padta hai hamari jism ki niyat jaha par haavi ho jaati hai wahan par yah jo takrar hai jo yah prashna hai ki kya yah sambhav hai ki ek ladka aur ek ladki bina pyar me pade acche dost ban sakte hain doston niyat aur niti ki baat hai kyonki ishq ishq hai aur isi wajah sex badnaam hua hai iska matlab jism ki us seema se hai jaha par ruh ka parinda keval ruh koi par marta hai jaha baat ruh se ruh ki ho ya nahi aatma se aatma ki ho wahan par jism bilkul bhi nahi thahrata use jab bolte hain ki saat janmon ka jo rasta hota hai nataa hota hai toh hum yahan par duniya me aate hain toh janam lekar saansad daal nikaal lete lekin janam janmantar kya hota hai vaah vala rishta hota hai batatey hain ki shastron me bataya gaya hai ki aatma hote hain toh ek sharir se dusri biwi ko sharir ko chhod deti hai lekin wahi chahta hoon main main batana nahi chahta hoon ki jab aap kisi vyakti se ek atmiyata ke saath sambandh nikhaar ek dusri care kare aur apni simaye apne niyat aur niti ko aage rakhen apne kartavyon se vimukh na rahe hain aur dusri cheez aap apni nazro me jaha par accha banne ki koshish karenge wahan par vaakai jo prashna hai prashna me jo khoobsurat hi ek rishte ho ki jo pavitrata hai vaah hamesha bani rahegi kyonki eid prashna kiya gaya hai kisi ek acche se ek nirdosh prashna hai yah nirdosh prashna ek nirdosh rishta ka ek prashna hai jo dosti ko apni ek alag pehchaan deta hai jo dosti hoti hai vaah vaah apne aap me ek alag hai dosti kisi dusre vyakti me attach agar ho jaate hain kisi dusre naam se toh aa dosti nahi rehti dosti ka apna hi alag rishta hai dosti chahiye bhai bhai kyon bhai behen ki ho ya ek ladka ek ladki ki ho pita putra me bhi dosti ho sakti hai maa bete me bhi do dosti ho sakti hai lekin ek ladka aur ladki ki baat yahan par hai toh aapki niyati aap ki niti aapki aapki khud ki jimmedari responsibility bahut zaroori hai yadi yah rishta paalna hai yah rishta nibhana hai ki jaha par hamari responsibility ki simaye hum nahi jante hamari maryada jaha par hum peeche ho jaate hain wahan par yah rishta fika pad jata hai aur aaye din yah ghatnaye ghatane lagti hain ki ki avam me is shehar me katilon ki kami nahi hai aaj ka hamara jo maahaul kharab ho gaya hamara maahaul itna kharab ho gaya hai ki soch tak aadi pahuchi nahi pata wahan toh intejar rehta hai koi ladki hai intejar rehta hai koi ladka mile toh aur jaise ladki ladka khaali mila gayi ya phir mila toh wahan par chipak jaate aur piyush jo apne Jaivik bhaavnaye hoti hain un Jaivik bhavnao ko ek dusre ka sarokar kar dete hain toh roj toh meri baat ka bura na lage dosti ek bahut hi prashna bahut sanjida hai bahut hi ek pavitra prashna hai bahut hi sukhad prashna hai aur is sukhad anubhav ko bahut kam log jhel paate hain ya apni seemaon me reh paate hain ki is seema me bane rehna ek bahut hi sukhad anubhav hai ek dusre me sab kuch nyochavar karne ke bawajud bhi us dosti ka maan rakhna hai asli dosti hai dhakane ke liye yah kaam bahut kathin zaroor hai lekin namumkin nahi ya samay par apni jimmedari aur hamari khud ki ek drishtikon hamara najariya hamara nibhane ka tarika hamara hamara jo ka hamara ek hamare ek mahaan hamare karm ki nishtha kabhi na shraddha aur nishtha ke yah kaam bilkul asambhav hai kahata hoon toh doston earthing ka koi prashna ka jawab mile aur thank you so match good good day

इस मतलबी जिस्म से इसका कौन करे शहर के आवाम में अब कातिलों की कमी ना रही दोस्तों यह जो 2 ला

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

RJ Rashi

RJ, singer, engineer

1:53

Likes  10  Dislikes    views  305
WhatsApp_icon
play
user

Kavita

Writer

1:20

Likes  10  Dislikes    views  298
WhatsApp_icon
user

Roshan Prasad Jaiswal

Junior Volunteer

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भैया सैनिक एक लड़का लड़की से बातचीत हो सकते हैं और समय के साथ-साथ वह अपनी भावनाओं को भी एक दूसरे से डरता सकते हैं इसके लिए जो होता है वह भी आपस में आरती लड़के-लड़की की बीच में देखकर अंडरस्टैंडिंग होनी चाहिए जिससे उनकी दोस्ती बनी रहे और वह हर सुख दुख में एक दूसरे का साथ दें और सिचुएशन में एक दूसरे के लिए खड़े हैं

bhaiya sainik ek ladka ladki se batchit ho sakte hain aur samay ke saath saath vaah apni bhavnao ko bhi ek dusre se darta sakte hain iske liye jo hota hai vaah bhi aapas mein aarti ladke ladki ki beech mein dekhkar understanding honi chahiye jisse unki dosti bani rahe aur vaah har sukh dukh mein ek dusre ka saath de aur situation mein ek dusre ke liye khade hain

भैया सैनिक एक लड़का लड़की से बातचीत हो सकते हैं और समय के साथ-साथ वह अपनी भावनाओं को भी एक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
play
user

Aradhya Gupta

Life Coach

1:30

Likes  2  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
play
user

Akshansh Tripathy

Bachelor's of Mass Media

1:19

Likes  12  Dislikes    views  320
WhatsApp_icon
play
user

Dilsh Sheikh

Journalist

1:15

Likes  14  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!