क्या यह सही है कि भगवान शिव भी भगवान राम से उनके भक्त रावण को नहीं बचा सकते थे?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो भाई इसमें एक बात याद रखनी है भगवान शिव हो जय भगवान राम से अन्य कोई भगवान हूं आपकी किए हुए कर्म से आपको कोई नहीं बचा सकता है यह दीगर बात है कि आप अपने इष्ट देव का ध्यान करते हैं आप के चक्कर में हैं और कोई बुरा कर्म आपसे अनजाने में हो गया है तो आपका उसे थोड़ा हल्का बना देगा उसका पनिशमेंट पनिशमेंट को हल्का कर देंगे लेकिन वह परसेंट भुगतना होगा ठीक इसी प्रकार रावण को ना भगवान राम ने मारा था ना किसी और ने मारा था रावण को उसके अभिमान ने उसके दुष्कर्म होने मारा था रावण एक दुराचारी एक पत्रिका में और एक अनीति अन्याय अधर्म पर चलने वाला राजा था इसलिए भगवान शिव भी उसे नहीं बचा सकते थे क्योंकि भगवान शिव के साथ में ही उसने अपनी मान पूर्ण व्यवहार किया था एक बार अपनी तपस्या पर अत्यंत घमंड करने के कारण उसने कैलाश पर्वत को उठा लिया था तब भगवान शिव ने अपने पैर से दबा कर के उसे भेज दिया था जिस उसका हाथ कैलाश पर्वत के नीचे दब गया था तो चिल्लाने लगा तो उसने जो यह सब तांडव वाला जो है वह श्री स्त्रोत का पाठ किया था तब भगवान शिव ने उसे छोड़ा था तो कहने का तात्पर्य रावण का अभिमान रावण की तरह चार रावत जी पाप कर्म अन्याय अधर्म सबने मिल कर के उसे मारा था इसलिए और अन्याई अधर्मी के पक्ष में कोई से भी नहीं होता है ना सब होते हैं ना श्रीराम होते हैं ना सच में होते हैं वे सभी यह चाहते हैं कि मानव सच्चाई ईमानदारी सत्य न्याय धर्म पर चल चल चले आपको याद होगा श्री कृष्ण ने अन्याय अधर्म और असत्य के पक्ष में ही पांडवों का साथ दिया था कौरवों का साथ नहीं दिया था क्योंकि गौरव असत्य अधर्म और अन्याय पर आधारित थे तब की पांडव धर्म और न्याय पर चल रहे थे इसलिए भगवान श्री कृष्ण ने पांडवों का साथ दिया था

dekho bhai isme ek baat yaad rakhni hai bhagwan shiv ho jai bhagwan ram se anya koi bhagwan hoon aapki kiye hue karm se aapko koi nahi bacha sakta hai yah digar baat hai ki aap apne isht dev ka dhyan karte hain aap ke chakkar me hain aur koi bura karm aapse anjaane me ho gaya hai toh aapka use thoda halka bana dega uska punishment punishment ko halka kar denge lekin vaah percent bhugatna hoga theek isi prakar ravan ko na bhagwan ram ne mara tha na kisi aur ne mara tha ravan ko uske abhimaan ne uske dushkarm hone mara tha ravan ek durachari ek patrika me aur ek aniti anyay adharma par chalne vala raja tha isliye bhagwan shiv bhi use nahi bacha sakte the kyonki bhagwan shiv ke saath me hi usne apni maan purn vyavhar kiya tha ek baar apni tapasya par atyant ghamand karne ke karan usne kailash parvat ko utha liya tha tab bhagwan shiv ne apne pair se daba kar ke use bhej diya tha jis uska hath kailash parvat ke niche dab gaya tha toh chillane laga toh usne jo yah sab tandav vala jo hai vaah shri satrot ka path kiya tha tab bhagwan shiv ne use choda tha toh kehne ka tatparya ravan ka abhimaan ravan ki tarah char rawat ji paap karm anyay adharma sabane mil kar ke use mara tha isliye aur anyai adharmee ke paksh me koi se bhi nahi hota hai na sab hote hain na shriram hote hain na sach me hote hain ve sabhi yah chahte hain ki manav sacchai imaandaari satya nyay dharm par chal chal chale aapko yaad hoga shri krishna ne anyay adharma aur asatya ke paksh me hi pandavon ka saath diya tha kauravon ka saath nahi diya tha kyonki gaurav asatya adharma aur anyay par aadharit the tab ki pandav dharm aur nyay par chal rahe the isliye bhagwan shri krishna ne pandavon ka saath diya tha

देखो भाई इसमें एक बात याद रखनी है भगवान शिव हो जय भगवान राम से अन्य कोई भगवान हूं आपकी किए

Romanized Version
Likes  573  Dislikes    views  5495
WhatsApp_icon
16 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ashok Bajpai

Rtd. Additional Collector P.C.S. Adhikari

3:58
Play

Likes  152  Dislikes    views  2672
WhatsApp_icon
user

S K Srivastava

Accountant Retired

1:35
Play

Likes  11  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user

Amit Kumar

Spiritual Counselor, Motivational Speaker, Life Coach, Religious Speaker & Youth Counselor

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्रिश्चन है क्या यह सही है कि भगवान शिव भी भगवान राम से उनके भक्त रावण को नहीं बचा सकते तो उसका जवाब है हां शिवजी भी अपने बैकग्राउंड को भगवान श्रीराम से नहीं बचा सकते क्योंकि तब तक भक्तों जब तू अपराधी की अनुसरण कर रहा है भगवान के अंतर्गत उसके अंदर आपको सेवा करनी होती है जो भी आप भी सुने जैसे कुछ लोग सिर्फ जी को विष्णु को राम जी को कृष्ण जी को हर कोई होता है जब जो जिसके आगे करता है आराधना करता है अपने आराध्य के उन नियमों को भी वह फॉलो करता है उसे अनुसरण करते हैं इतना दिन हो गया था कि उसने रावण के साथ देती है धर्म धर्म तो सब से बहुत कुछ नहीं दिया

christian hai kya yah sahi hai ki bhagwan shiv bhi bhagwan ram se unke bhakt ravan ko nahi bacha sakte toh uska jawab hai haan shivaji bhi apne background ko bhagwan shriram se nahi bacha sakte kyonki tab tak bhakton jab tu apradhi ki anusaran kar raha hai bhagwan ke antargat uske andar aapko seva karni hoti hai jo bhi aap bhi sune jaise kuch log sirf ji ko vishnu ko ram ji ko krishna ji ko har koi hota hai jab jo jiske aage karta hai aradhana karta hai apne aradhya ke un niyamon ko bhi vaah follow karta hai use anusaran karte hain itna din ho gaya tha ki usne ravan ke saath deti hai dharm dharm toh sab se bahut kuch nahi diya

क्रिश्चन है क्या यह सही है कि भगवान शिव भी भगवान राम से उनके भक्त रावण को नहीं बचा सकते तो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का सवाल है क्या यह सही है कि भगवान शिव जी भगवान राम से उनके भक्त रावण को नहीं बचा सकते थे रावण ने बहुत मेहनत किया था शिव तांडव स्त्रोत का उसने निर्माण किया था और उसने भगवान शिव को प्रसन्न किया था और भगवान शिव ने उसे आशीर्वाद दिया था अमर होने का आशीर्वाद दिया था लेकिन भगवान राम से क्या भगवान शिव उसे बचा सकते थे कोई नहीं बचा सकता है भगवान राम मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम कोई साधारण आदमी नहीं थे वह स्वयं अवतरित भगवान नारायण के अवतार थे उन्हें धरती पर आना पड़ा रावण का मतलब होता है अहंकार गलत भ्रष्टाचार वही हालत आज कांग्रेस पार्टी में है जिसके अंदर अहंकार हैं भ्रष्टाचार की भावना है तो कांग्रेस रूपी रावण को मारने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का अवतार हुआ है प्रधानमंत्री मोदी जी ने जन्म लिया है भगवान ने स्वयं जन्म लिया है मोदी जी के रूप में कांग्रेस पार्टी नाम के रावण को मारने के लिए कांग्रेस पार्टी नाम के अहंकार को खत्म करने के लिए भारतीय जनता पार्टी का उदय हुआ है तो आइए हम सभी लोग मिलजुलकर इस अहंकार को खत्म करें इस भ्रष्टाचार को खत्म करें कांग्रेस पार्टी एक हमारे देश में कूड़ेदान की तरह रावण नाम की एक भ्रष्टाचारी पार्टी है इसको खत्म करने के लिए हम लोगों को मिलजुल कर कार्य करना होगा नहीं तो आने वाले टाइम में कांग्रेस पार्टी पूरे देश में पूरे घर में भ्रष्टाचारियों को जन्म देगी जिससे देश का नुकसान होगा हमारे राष्ट्र का नुकसान होगा तो आइए मिलजुल कर अपना महत्वपूर्ण वोट भारतीय जनता पार्टी को दें ताकि कांग्रेस नाम की उड़ान को हमेशा के लिए खत्म किया जा सके आ जा सके साथ किया जा सके धन्यवाद

aap ka sawaal hai kya yah sahi hai ki bhagwan shiv ji bhagwan ram se unke bhakt ravan ko nahi bacha sakte the ravan ne bahut mehnat kiya tha shiv tandav satrot ka usne nirmaan kiya tha aur usne bhagwan shiv ko prasann kiya tha aur bhagwan shiv ne use ashirvaad diya tha amar hone ka ashirvaad diya tha lekin bhagwan ram se kya bhagwan shiv use bacha sakte the koi nahi bacha sakta hai bhagwan ram maryada purushottam bhagwan ram koi sadhaaran aadmi nahi the vaah swayam avtarit bhagwan narayan ke avatar the unhe dharti par aana pada ravan ka matlab hota hai ahankar galat bhrashtachar wahi halat aaj congress party mein hai jiske andar ahankar hain bhrashtachar ki bhavna hai toh congress rupee ravan ko maarne ke liye pradhanmantri modi ka avatar hua hai pradhanmantri modi ji ne janam liya hai bhagwan ne swayam janam liya hai modi ji ke roop mein congress party naam ke ravan ko maarne ke liye congress party naam ke ahankar ko khatam karne ke liye bharatiya janta party ka uday hua hai toh aaiye hum sabhi log miljulakar is ahankar ko khatam kare is bhrashtachar ko khatam kare congress party ek hamare desh mein koodedaan ki tarah ravan naam ki ek bhrashtachaari party hai isko khatam karne ke liye hum logo ko miljul kar karya karna hoga nahi toh aane waale time mein congress party poore desh mein poore ghar mein bharashtachariyo ko janam degi jisse desh ka nuksan hoga hamare rashtra ka nuksan hoga toh aaiye miljul kar apna mahatvapurna vote bharatiya janta party ko de taki congress naam ki udaan ko hamesha ke liye khatam kiya ja sake aa ja sake saath kiya ja sake dhanyavad

आप का सवाल है क्या यह सही है कि भगवान शिव जी भगवान राम से उनके भक्त रावण को नहीं बचा सकते

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  485
WhatsApp_icon
user
0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई भी ईश्वर किसी दूसरे स्वर के कार्य में लौड़ा नहीं बनता है और जब भी भगवान किसी कसूर को वोट देते थे सोच में यह स्पष्ट कर दे देते कि अगर तुम इस प्रकार की कोई किसी भी प्रकार की कोई गलती करोगे तो तुम्हारा व्रत होगा इसी प्रकार से रावण शिव मंदिर था लेकिन वह जब उसने भक्ति मार्ग छोड़ कर दुराचार का धर्म का मार्ग अपनाया जब-जब भी जो भी जितने राक्षस से क्या जिसमें महाबली हुए जिन्होंने भगवान और तपस्या कर इस प्रकार के पाए लेकिन पर आ जाओ ना

koi bhi ishwar kisi dusre swar ke karya mein laura nahi banta hai aur jab bhi bhagwan kisi kasoor ko vote dete the soch mein yah spasht kar de dete ki agar tum is prakar ki koi kisi bhi prakar ki koi galti karoge toh tumhara vrat hoga isi prakar se ravan shiv mandir tha lekin vaah jab usne bhakti marg chod kar durachar ka dharm ka marg apnaya jab jab bhi jo bhi jitne rakshas se kya jisme mahabali hue jinhone bhagwan aur tapasya kar is prakar ke paye lekin par aa jao na

कोई भी ईश्वर किसी दूसरे स्वर के कार्य में लौड़ा नहीं बनता है और जब भी भगवान किसी कसूर को व

Romanized Version
Likes  49  Dislikes    views  2004
WhatsApp_icon
user

Mk Agrawal

Business Owner, Motivational Speaker, Creative Idea Creater,Passive Income Coach,Sub Conscious Mind Trainer, Ancient Scriptures Guide,Veda Mantra Trainer..Yet Many More

3:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत सुंदर प्रश्न पूछा अपने भगवान से भी भगवान राम से उनके बराबर को नहीं बचा सकते तो क्यों नहीं बचा सकते तो बचा सकते हो लेकिन उन्होंने नहीं बताया क्यों नहीं बचाया उसका उत्तर भी है समझना पड़ेगा क्या शिव जी के भक्त हो गए तो सारे पाप करने का अधिकार हमको मिल गया क्या शिवजी नहीं सिखाया था कि किसी स्त्री को ओपन करके आप लिया और अपने पत्नी बनाकर कोशिश करो तो भगवान का अगर फक्त हम हो गए तो हमको लाइसेंस नहीं मिल जाता था लेकिन नहीं मिला तो हम सारे गलत काम करें तब भी हम को क्षमा मिल जाएगी यह नहीं हो सकता हम भगवान पति-पत्नी के बदले भगवान जो हमको वरदान दे सकते हैं हमको कृपा कर सकते हैं लेकिन पुण्य का काम जो तपस्या करते हैं उसका फल तो कर्म करते उसका भी फल भोगना पड़ता है ऐसा नहीं कि आप अच्छे कर्म की ओर भवानी भक्ति की हो वह पुण्य आपके पास को काट दे ऐसा नहीं है कि यह कोई बैंक सिस्टम नहीं के हजारों का बैग जमा किया फिर भी तो कर ली हजार ऊपर तो आपको जीरो हो गया आपका पुनिया जो भी आप करेंगे वह आपको पूर्णिया हजार रुपए का मिलेगा आपने पापा जो हजारों पर क्या के 2000 में पापा को बोलना पड़े इसको ऐसे समझ ना पड़े बात करेंगे तो आपको बोलेंगे पुण्य करेंगे तो पुण्य तो बोलेंगे पाप और पुण्य में प्लस माइनस करके नहीं आता कि हजारों पर अपने पुण्य किया ₹500 का ₹600 का अपने पटियाला से ₹600 कट गया ₹400 का पुण्य मिलेगा ऐसा नहीं होता है कोई भी साथी भी यह लोग जैसे राम अवतार में राम जी ने बाली को मारा बाली ने एक सवाल किया कि मैं तो आमेर आप से कोई दुश्मनी नहीं है आपने मुझे क्यों मारा तो सबसे पहले भगवान राम ने बोला कि क्योंकि आप अपने जो हरिया बहू को अपने बंदी बनाकर रखा है अपने में रखा है वह सबसे बड़ा पाप है इसलिए मैंने आपका बात किया फिर भी उसे पहले नहीं माना तो बोले इस जन्म में राम जी बोले कि मैंने आपको मारे अगले जन्म में आप मुझे मार देंगे देखिए भगवान राम और पुरुष मोटर यह शब्द बोले हैं और बोला जाता है कुछ ना भतार में जब कुछ ना जी का अंतिम समय आया कुछ ना जी कोई पेड़ के ऊपर बैठे थे तो एक जंगली सब जो है तीन मारता है उनका उनको लगता है हिरण का काम है भगवान का जो उंगली को देखकर मारता है तो वह सफल कर दिया है तो बहुत रोता है वह सबर तो बोलते हैं कि तुम रो क्यों रहे हो पिछले जन्म ली थी मैंने तुम्हें मतलब बिना दुश्मनी का मारा था सुग्रीव से दोस्ती के लिए मैंने मारा था इस जन्म में तुम ने मुझे मारा हिसाब बराबर भगवान राम को कोई नहीं था क्या अनेकों पुण्य राम भगवान राम ने किया था लेकिन एक चीज का जो फल है उन्होंने अगले जन्म में उन्हें तो इस बात को ऐसे समझना पड़ेगा कि पुण्य का फल हमको पुण्य मिलेगा पास तो कल पास मिलेगा और रावण में सबसे बड़ा पुल नेता को शिवजी के प्रति लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि वह कोई पुण्य पाप करेंगे उसके फल भागी ना बनेंगे धन्यवाद

bahut sundar prashna poocha apne bhagwan se bhi bhagwan ram se unke barabar ko nahi bacha sakte toh kyon nahi bacha sakte toh bacha sakte ho lekin unhone nahi bataya kyon nahi bachaya uska uttar bhi hai samajhna padega kya shiv ji ke bhakt ho gaye toh saare paap karne ka adhikaar hamko mil gaya kya shivaji nahi sikhaya tha ki kisi stree ko open karke aap liya aur apne patni banakar koshish karo toh bhagwan ka agar fakt hum ho gaye toh hamko license nahi mil jata tha lekin nahi mila toh hum saare galat kaam kare tab bhi hum ko kshama mil jayegi yah nahi ho sakta hum bhagwan pati patni ke badle bhagwan jo hamko vardaan de sakte hain hamko kripa kar sakte hain lekin punya ka kaam jo tapasya karte hain uska fal toh karm karte uska bhi fal bhogna padta hai aisa nahi ki aap acche karm ki aur bhawani bhakti ki ho vaah punya aapke paas ko kaat de aisa nahi hai ki yah koi bank system nahi ke hazaro ka bag jama kiya phir bhi toh kar li hazaar upar toh aapko zero ho gaya aapka punia jo bhi aap karenge vaah aapko purniya hazaar rupaye ka milega aapne papa jo hazaro par kya ke 2000 me papa ko bolna pade isko aise samajh na pade baat karenge toh aapko bolenge punya karenge toh punya toh bolenge paap aur punya me plus minus karke nahi aata ki hazaro par apne punya kiya Rs ka Rs ka apne patiala se Rs cut gaya Rs ka punya milega aisa nahi hota hai koi bhi sathi bhi yah log jaise ram avatar me ram ji ne baali ko mara baali ne ek sawaal kiya ki main toh amer aap se koi dushmani nahi hai aapne mujhe kyon mara toh sabse pehle bhagwan ram ne bola ki kyonki aap apne jo hariya bahu ko apne bandi banakar rakha hai apne me rakha hai vaah sabse bada paap hai isliye maine aapka baat kiya phir bhi use pehle nahi mana toh bole is janam me ram ji bole ki maine aapko maare agle janam me aap mujhe maar denge dekhiye bhagwan ram aur purush motor yah shabd bole hain aur bola jata hai kuch na bhatar me jab kuch na ji ka antim samay aaya kuch na ji koi ped ke upar baithe the toh ek jungli sab jo hai teen maarta hai unka unko lagta hai hiran ka kaam hai bhagwan ka jo ungli ko dekhkar maarta hai toh vaah safal kar diya hai toh bahut rota hai vaah sabar toh bolte hain ki tum ro kyon rahe ho pichle janam li thi maine tumhe matlab bina dushmani ka mara tha sugreev se dosti ke liye maine mara tha is janam me tum ne mujhe mara hisab barabar bhagwan ram ko koi nahi tha kya anekon punya ram bhagwan ram ne kiya tha lekin ek cheez ka jo fal hai unhone agle janam me unhe toh is baat ko aise samajhna padega ki punya ka fal hamko punya milega paas toh kal paas milega aur ravan me sabse bada pool neta ko shivaji ke prati lekin iska yah matlab nahi ki vaah koi punya paap karenge uske fal bhaagi na banenge dhanyavad

बहुत सुंदर प्रश्न पूछा अपने भगवान से भी भगवान राम से उनके बराबर को नहीं बचा सकते तो क्यों

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Ayush kumar dubey

Actor, Singer, Artist and C E O of (A S S G) Motiviational Speker Lover Of Nation INDIA

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो आई एम आयुष कुमार दुबे आपका प्रश्न है कि क्या यह सही है कि भगवान शिव भी भगवान राम से अपने भक्त रावण को नहीं बचा सकते थे देखिए रामायण भगवान सिंह का एकलौता है सा भाग है जो आज तक हुए नहीं वैसा कोई भक्त आज तक हुआ नहीं और ना ही होगा भविष्य में लेकिन भगवान ने भले ही रावण ने भगवान शिव के भक्त थे लेकिन उन्होंने कुछ गलतियां की और आप कुछ भी करो अगर आप धर्म कर रहे हो कि धर्म के साथ ही भगवान है काश होता अगर मेरे साथ नहीं रावन भले ही धर्म करते तो उन्हें भगवान शिव मचाते लेकिन वह धनी थे वह अधर्म कर रहे थे उन्होंने भगवान श्री राम की पत्नी का हरण किया था और कई गलतियां उनकी जीवन में और कई ऐड किया था उन्होंने कई ब्राह्मणों की हत्या की थी खुद भी ब्राह्मण थे लेकिन यह ब्राह्मणों की हत्या करवाते राक्षसों द्वारा आतंक फैल गया था धरती पर तब श्री राम को धरती पर आकर उसका वन का वध करना पड़ा यही मुख्य कारण है जय हिंद जय श्री राम

hello I M ayush kumar dubey aapka prashna hai ki kya yah sahi hai ki bhagwan shiv bhi bhagwan ram se apne bhakt ravan ko nahi bacha sakte the dekhiye ramayana bhagwan Singh ka eklauta hai sa bhag hai jo aaj tak hue nahi waisa koi bhakt aaj tak hua nahi aur na hi hoga bhavishya mein lekin bhagwan ne bhale hi ravan ne bhagwan shiv ke bhakt the lekin unhone kuch galtiya ki aur aap kuch bhi karo agar aap dharm kar rahe ho ki dharm ke saath hi bhagwan hai kash hota agar mere saath nahi raavan bhale hi dharm karte toh unhe bhagwan shiv machate lekin vaah dhani the vaah adharma kar rahe the unhone bhagwan shri ram ki patni ka haran kiya tha aur kai galtiya unki jeevan mein aur kai aid kiya tha unhone kai brahmanon ki hatya ki thi khud bhi brahman the lekin yah brahmanon ki hatya karwaate rakshason dwara aatank fail gaya tha dharti par tab shri ram ko dharti par aakar uska van ka vadh karna pada yahi mukhya karan hai jai hind jai shri ram

हेलो आई एम आयुष कुमार दुबे आपका प्रश्न है कि क्या यह सही है कि भगवान शिव भी भगवान राम से अ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
user
2:36
Play

Likes  22  Dislikes    views  221
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या यह सही है कि भगवान शिव भी भगवान राम से उनके भक्त रावण को नहीं बचा सके देखिए यह तो सब मीठे मीठे ले ले नीला है और मीठा मीठा लीला दिखाकर काल भगवान अपना इस संसार वासियों को अपने वश में रखना चाहते हैं और वह यही कहना यही सोचता है कि मेरे जाल से बाहर कोई भी बाहर ना जाए सच ईश्वर के पास ना जाए अगर चला जाएगा तो वहां से कभी दोबारा लौट कर नहीं आते इसलिए मैं 84 लाख योनि में इनको भट्ट का तारा हूं और मैं मैं अपना पेट भरता रहूं ऐसे सोचते हैं काल भगवान क्योंकि उनको सत ईश्वर परमात्मा का श्राप लगा है कि तू एक लाख हनसा का मैल को रोज खाएगा और सवा लाख हनसा को पैदा करेगा इसलिए कॉल भगवान ने काल भगवान ने कई प्रकार के लीला दिखाते रहते हैं काल भगवान इस तीनों लोकों का स्वामी है और ब्रह्मा विष्णु शंकर का पिता है और वह यही अपना वश में रखना चाहता है कि किसी ना किसी बहाने से वह जन्म ले लेता है और इंसान को मोहित करके मीठे-मीठे लीला दिखाकर मोहित करके अपना वश में करके वह चले जाते हैं मेन मुद्दा तो यही है आप लोग समझ कर देखो ब्रह्मा विष्णु शंकर के द्वारा जितना भी कार्य होते हैं वह मेरे ही द्वारा कार्य करती हैं मैं ही कर रहा हूं ऐसा बोलते हैं काल भगवान

kya yah sahi hai ki bhagwan shiv bhi bhagwan ram se unke bhakt ravan ko nahi bacha sake dekhiye yah toh sab meethe meethe le le neela hai aur meetha meetha leela dikhakar kaal bhagwan apna is sansar vasiyo ko apne vash me rakhna chahte hain aur vaah yahi kehna yahi sochta hai ki mere jaal se bahar koi bhi bahar na jaaye sach ishwar ke paas na jaaye agar chala jaega toh wahan se kabhi dobara lot kar nahi aate isliye main 84 lakh yoni me inko bhatt ka tara hoon aur main main apna pet bharta rahun aise sochte hain kaal bhagwan kyonki unko sat ishwar paramatma ka shraap laga hai ki tu ek lakh hanasa ka mail ko roj khaega aur sava lakh hanasa ko paida karega isliye call bhagwan ne kaal bhagwan ne kai prakar ke leela dikhate rehte hain kaal bhagwan is tatvo lokon ka swami hai aur brahma vishnu shankar ka pita hai aur vaah yahi apna vash me rakhna chahta hai ki kisi na kisi bahaane se vaah janam le leta hai aur insaan ko mohit karke meethe meethe leela dikhakar mohit karke apna vash me karke vaah chale jaate hain main mudda toh yahi hai aap log samajh kar dekho brahma vishnu shankar ke dwara jitna bhi karya hote hain vaah mere hi dwara karya karti hain main hi kar raha hoon aisa bolte hain kaal bhagwan

क्या यह सही है कि भगवान शिव भी भगवान राम से उनके भक्त रावण को नहीं बचा सके देखिए यह तो सब

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  294
WhatsApp_icon
user
0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह बिल्कुल सत्य नहीं बचा सके लेकिन आप इसके पीछे का कारण तो जानिए मैंने कामचोर में बताया था कि हम घमंड जब अत्यधिक बढ़ जाता है चाहे वह कोई भी हो राजा हो महाराजा हो उसका पतन उसका नष्ट होना निश्चित है प्रकृति तय कर देती है कि ज्यादा घमंड करने वाले व्यक्ति का पतन होने वाला है इसलिए यह बात बिल्कुल सही है इसलिए भगवान शिव राम को नहीं बचा पाए हालांकि वह उनका भक्त था जो कि रावण के अंदर अत्याधिक अहम भाव घमंड की ताकत का अपने आप में बहुत ज्यादा हो गया था और उसने कुछ ऐसे कर्म भी कर दिए थे सीता हरण आती क्या दी जिसके कारण उसका विनाश का रास्ता लगभग तय हो गया था

haan yah bilkul satya nahi bacha sake lekin aap iske peeche ka karan toh janiye maine kaamchor mein bataya tha ki hum ghamand jab atyadhik badh jata hai chahen vaah koi bhi ho raja ho maharaja ho uska patan uska nasht hona nishchit hai prakriti tay kar deti hai ki zyada ghamand karne waale vyakti ka patan hone vala hai isliye yah baat bilkul sahi hai isliye bhagwan shiv ram ko nahi bacha paye halaki vaah unka bhakt tha jo ki ravan ke andar atyadhik aham bhav ghamand ki takat ka apne aap mein bahut zyada ho gaya tha aur usne kuch aise karm bhi kar diye the sita haran aati kya di jiske karan uska vinash ka rasta lagbhag tay ho gaya tha

हां यह बिल्कुल सत्य नहीं बचा सके लेकिन आप इसके पीछे का कारण तो जानिए मैंने कामचोर में बताय

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  152
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह बात सही तो नहीं है लेकिन उनका जन्म ही रावण को मारने के लिए हुआ था क्योंकि जो जय और विजय नाम के दो उनके स्वर्ग में पहरेदार पर चौकीदारी जो करते थे वही आग आगे जाकर रावण हुए और एक उन का छोटा भाई कुंभकर्ण होगा

haan yah baat sahi toh nahi hai lekin unka janam hi ravan ko maarne ke liye hua tha kyonki jo jai aur vijay naam ke do unke swarg me pehredar par chaukidari jo karte the wahi aag aage jaakar ravan hue aur ek un ka chota bhai kumbhakarn hoga

हां यह बात सही तो नहीं है लेकिन उनका जन्म ही रावण को मारने के लिए हुआ था क्योंकि जो जय और

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

Praful Thakur

Secretarial & Tender Manager

3:43
Play

Likes  3  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
play
user

TS Bhanot

Teacher

1:07

Likes    Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
play
user

Aahil

Storyteller

0:46

Likes    Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user

Sanchi Sharma

Journalist, Photographer

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई भी भगवान का भक्त जबलपुर का रूप धारण कर लेता है तो उसको नहीं बताते हैं ऐसा बिल्कुल नहीं है कि उनके विचार नहीं सकते थे उन्होंने ऐसा बिल्कुल नहीं करते अगर भगत भगत अपने भगवान के लिए बच्चे किधर है रास्ता भटक जाए उसको उसको हर मुश्किल से बताते नहीं रहेंगे उसको हम जरूर करेंगे चेतावनी देंगे जो रावण को भी किसी ना किसी रूप में मिली अंत में कोई नहीं जाता कि मेरा बेटा बिगड़ जाए उदारता है

koi bhi bhagwan ka bhakt jabalpur ka roop dharan kar leta hai toh usko nahi batatey hain aisa bilkul nahi hai ki unke vichar nahi sakte the unhone aisa bilkul nahi karte agar bhagat bhagat apne bhagwan ke liye bacche kidhar hai rasta bhatak jaaye usko usko har mushkil se batatey nahi rahenge usko hum zaroor karenge chetavani denge jo ravan ko bhi kisi na kisi roop mein mili ant mein koi nahi jata ki mera beta bigad jaaye udarata hai

कोई भी भगवान का भक्त जबलपुर का रूप धारण कर लेता है तो उसको नहीं बताते हैं ऐसा बिल्कुल नहीं

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!