भारत में दलीय व्यवस्था पर निबंध?...


user

विनोद कुमार चौहान

TEACHER , TEACHING EXPERIENCE 30 YEAR'S , ADVISER http://getvokal.com/profile/vinod_74

4:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में दलीय व्यवस्था पर निबंध भारत की जो राजनीतिक व्यवस्था है वह लोकतंत्रात्मक है और यहां पर लोकतंत्रात्मक संसदीय प्रणाली का संविधान के द्वारा अधिकार प्रदत्त है भारत के संविधान में बहुदलीय व्यवस्था को अपनाया गया है भारत में अनेकों दल हैं भारत के मुख्य दल राष्ट्रीय पार्टियां होती है क्षेत्रीय पार्टियां होती है और गैर सूचीबद्ध राजनीतिक दल होते हैं निर्दलीय दल होते हैं तो कई प्रकार की इसमें एक मान्यता प्राप्त होते हैं यह गैर मान्यता प्राप्त दल होते हैं राजनीतिक दलों में अनेक दल होते प्रमुख दलों के नाम भारतीय जनता पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सपा बसपा अकाली दल मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी जनता दल समाजवादी जनता पार्टी अपना दल महाराष्ट्र गोमांतक पार्टी तृणमूल कांग्रेस सीबीआई सीपीआईएम तेलुगू देशम असम गण परिषद आदि अनेकों दल भारत में विद्यमान है सभी दल अपने-अपने दल को सत्ता में लाने के लिए प्रयासरत रहते हैं और जी प्रयास में कभी-कभी यह दल अपने इतने स्तर पर निचले स्तर पर चले जाते हैं कि जो देश के लिए घातक होता है राजनीतिक दल सत्ता पाने के लिए इतने उतावले होते हैं सभी नियमों को भूल जाते हैं वह अपने लिए अलग नियम चाहते हैं जबकि दूसरे दलों के लिए अलग नियम चाहते हैं राजनीतिक दल यह व्यवस्था दिनोंदिन राजनीतिक रूप से पतन के गर्त की ओर जा रही है और उन्हें हर समय सिर्फ सपा की सीडी ही दिखाई देती है और सीढ़ी के लिए कभी-कभी आंदोलन भी कह देते हैं यह दल धार्मिक उन्माद फैलाने में हिचकते नहीं है जातिवाद के रूप में भी ढेर कभी-कभी बोल देते हैं कहने का अभिप्राय यह है कि यह अपने दलों को ऊंचा उठाने और दूसरे दल को नीचा दिखाने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकते हैं तो राजनीतिक दल व्यवस्था जो बहुत अजय के रूप में भारत में अपनाई गई है कभी-कभी वह बहुत अधिक जटिल और अपरिहार्य स्थिति प्रदर्शित करती है धन्यवाद जय हिंद

bharat me daliyaa vyavastha par nibandh bharat ki jo raajnitik vyavastha hai vaah lokatantratmak hai aur yahan par lokatantratmak sansadiya pranali ka samvidhan ke dwara adhikaar pradatt hai bharat ke samvidhan me bahudaliya vyavastha ko apnaya gaya hai bharat me anekon dal hain bharat ke mukhya dal rashtriya partyian hoti hai kshetriya partyian hoti hai aur gair suchibadh raajnitik dal hote hain nirdaliya dal hote hain toh kai prakar ki isme ek manyata prapt hote hain yah gair manyata prapt dal hote hain raajnitik dalon me anek dal hote pramukh dalon ke naam bharatiya janta party bharatiya rashtriya congress sapa BSP akali dal markswadi communist party janta dal samajwadi janta party apna dal maharashtra gomantak party trinmul congress cbi CPIM telugu desham assam gan parishad aadi anekon dal bharat me vidyaman hai sabhi dal apne apne dal ko satta me lane ke liye prayasarat rehte hain aur ji prayas me kabhi kabhi yah dal apne itne sthar par nichle sthar par chale jaate hain ki jo desh ke liye ghatak hota hai raajnitik dal satta paane ke liye itne utavale hote hain sabhi niyamon ko bhool jaate hain vaah apne liye alag niyam chahte hain jabki dusre dalon ke liye alag niyam chahte hain raajnitik dal yah vyavastha dinondin raajnitik roop se patan ke gart ki aur ja rahi hai aur unhe har samay sirf sapa ki CD hi dikhai deti hai aur sidhi ke liye kabhi kabhi andolan bhi keh dete hain yah dal dharmik unmaad felane me hichakate nahi hai jaatiwad ke roop me bhi dher kabhi kabhi bol dete hain kehne ka abhipray yah hai ki yah apne dalon ko uncha uthane aur dusre dal ko nicha dikhane ke liye kisi bhi sthar tak ja sakte hain toh raajnitik dal vyavastha jo bahut ajay ke roop me bharat me apnai gayi hai kabhi kabhi vaah bahut adhik jatil aur apariharya sthiti pradarshit karti hai dhanyavad jai hind

भारत में दलीय व्यवस्था पर निबंध भारत की जो राजनीतिक व्यवस्था है वह लोकतंत्रात्मक है और यह

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  1729
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!