TGT HTET की तैयारी कैसे करूँ?...


play
user
1:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षा के क्षेत्र में नए अवसरों ने ना केवल स्टूडेंट्स के लिए ज्ञान के दरवाजे खोलें बल्कि टीचरों को भी कई तरह के अवसर मुहैया कराए हैं भारत में टीचिंग बेहद गरीब मां में प्रोफेशन है और टीचरों का स्थान हमेशा ही ऊंचा रहा है यही कारण है कि भारत में ज्यादातर युवा टीचर बनना चाहते हैं आर्थिक आर्थिक उदारीकरण के बाद से सरकारी स्कूलों के अतिरिक्त प्राइवेट स्कूलों में भी ढेरों वैकेंसी मौजूद है देश के दूरदराज इलाकों में भी अब स्कूल कॉलेज और यूनिवर्सिटी स्कूल रही है और इसमें बड़ी पूंजी का निवेश किया जा रहा है जा रही है कि इन स्कूल कॉलेज में पढ़ने के लिए योग्य ट्रेंड और प्रोफेशनल टीचर्स की मांग भी बढ़ती जा रही है तो टीजीटी और परीक्षा तिथि एवं पीजीटी परीक्षा के लिए विषय जो जरूरी है वह है B.ed आप B.ed बैचलर ऑफ एजुकेशन इन टीचिंग चित्र बनाने के लिए युवाओं के बीच यह कोर्स काफी लोकप्रिय है पहले एक और से 1 साल का था जिसे 2015 से बढ़ाकर 2 साल का कर दिया गया है

shiksha ke kshetra mein naye avasaron ne na keval students ke liye gyaan ke darwaze kholen balki ticharon ko bhi kai tarah ke avsar muhaiya karae hain bharat mein teaching behad garib maa mein profession hai aur ticharon ka sthan hamesha hi uncha raha hai yahi karan hai ki bharat mein jyadatar yuva teacher bana chahte hain aarthik aarthik udaarikaran ke baad se sarkari schoolon ke atirikt private schoolon mein bhi dheron vacancy maujud hai desh ke durdaraj ilako mein bhi ab school college aur university school rahi hai aur isme badi punji ka nivesh kiya ja raha hai ja rahi hai ki in school college mein padhne ke liye yogya trend aur professional teachers ki maang bhi badhti ja rahi hai toh tgt aur pariksha tithi evam pgt pariksha ke liye vishay jo zaroori hai vaah hai B ed aap B ed bachelor of education in teaching chitra banne liye yuvaon ke beech yah course kaafi lokpriya hai pehle ek aur se 1 saal ka tha jise 2015 se badhakar 2 saal ka kar diya gaya hai

शिक्षा के क्षेत्र में नए अवसरों ने ना केवल स्टूडेंट्स के लिए ज्ञान के दरवाजे खोलें बल्कि ट

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  291
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!