स्वतंत्रता के बाद भारत के समक्ष कौन सी मुख्य चुनौतियां थी?...


user

Hari R Ahir

Business Owner

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वतंत्रता के बाद भारत के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती थी कि भारतीय लोगों में श्रेष्ठता की कमी थी इसलिए सुभाष चंद्र बोस ने पहले 20 साल भारत के ऊपर राष्ट्रपति शासन की हिमायत की थी ताकि भारत के लोग 87k और देश के प्रति अपना कर्तव्य निभाने में सक्षम बनें लेकिन ऐसा नहीं हुआ हालांकि इसके बावजूद भी बहुत सारे प्रश्न थे भारत रत्न धारण करना दूसरे देशों के समकक्ष भारत में जाति और धर्म का प्रमाण ज्यादा था और उधर के लोगों के धर्म के प्रति जो भावना थी वह अन्य देशों के मुकाबले कुछ ज्यादा ही थी इस हिसाब से भारत में कुछ नियम और कानून बनाने थे और भारत में आजा सारी शासन खत्म हो चुका है इस बात को फैलाने में भारत में कम से कम इसे 35 साल लग गए आज उस वक्त में भारत की निरक्षरता का प्रमाण भी ज्यादा ही था इसलिए और भारत में साक्षरता दर बढ़ाना देश के लोगों को अच्छा खाना मिले इस बार इसकी सुविधा बढ़ाना सब कुल मिलाकर बिखरे पड़े मकान को फिर से नया बना था धूल मिट्टी सीमेंट सब मिलाकर एक बड़ा महल बनाने जैसे काम था हालांकि अभी भी पूरा महल नहीं बना है लेकिन अब यह कह सकते हैं कि अब सिर्फ फर्नीचर काम बाकी रह गया है

swatantrata ke baad bharat ke samaksh sabse badi chunauti thi ki bharatiya logo me shreshthata ki kami thi isliye subhash chandra bose ne pehle 20 saal bharat ke upar rashtrapati shasan ki himayat ki thi taki bharat ke log 87k aur desh ke prati apna kartavya nibhane me saksham banen lekin aisa nahi hua halaki iske bawajud bhi bahut saare prashna the bharat ratna dharan karna dusre deshon ke samkaksh bharat me jati aur dharm ka pramaan zyada tha aur udhar ke logo ke dharm ke prati jo bhavna thi vaah anya deshon ke muqable kuch zyada hi thi is hisab se bharat me kuch niyam aur kanoon banane the aur bharat me aajad saari shasan khatam ho chuka hai is baat ko felane me bharat me kam se kam ise 35 saal lag gaye aaj us waqt me bharat ki niraksharata ka pramaan bhi zyada hi tha isliye aur bharat me saksharta dar badhana desh ke logo ko accha khana mile is baar iski suvidha badhana sab kul milakar bikhare pade makan ko phir se naya bana tha dhul mitti cement sab milakar ek bada mahal banane jaise kaam tha halaki abhi bhi pura mahal nahi bana hai lekin ab yah keh sakte hain ki ab sirf furniture kaam baki reh gaya hai

स्वतंत्रता के बाद भारत के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती थी कि भारतीय लोगों में श्रेष्ठता की कमी थ

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  279
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!