भाषा नीति क्या है ?...


user

Prem

Teacher

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाषा नीति यह है कि किसी भी सरकार ने आधिकारिक तौर पर कानून न्यायालय के फैसले या नीति के आधार पर निर्धारित किया है कि भाषा कैसे उपयोग की जाती है राष्ट्रीय प्राथमिकताओं को पूरा करने के लिए भाषा की जरूरत को विकसित करना या भाषाओं का उपयोग बनाए रखने के लिए व्यक्ति और समूह के अधिकारों को स्थापित करना आवश्यक है धन्यवाद

bhasha niti yah hai ki kisi bhi sarkar ne adhikarik taur par kanoon nyayalaya ke faisle ya niti ke aadhar par nirdharit kiya hai ki bhasha kaise upyog ki jaati hai rashtriya prathamiktaon ko pura karne ke liye bhasha ki zarurat ko viksit karna ya bhashaon ka upyog BA naye rakhne ke liye vyakti aur samuh ke adhikaaro ko sthapit karna aavashyak hai dhanyavad

भाषा नीति यह है कि किसी भी सरकार ने आधिकारिक तौर पर कानून न्यायालय के फैसले या नीति के आधा

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  1031
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों आपका प्रश्न है कि भाषा नीति क्या है तो दोस्तों आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि भाषा नीति यह है कि किसी भी सरकार ने अधिकारिक तौर पर कानून न्यायालय के फैसले अनीति के आधार पर निर्धारित किया है कि भाषा कैसे उपयोग की जाती है राष्ट्रीय पंछी नेताओं को पूरा करने के लिए भाषा की जरूरतों को विकसित करना ही भाषाओं का उपयोग और बनाए रखने के लिए व्यक्तियों या समूहों के अधिकारों को स्थापित करना आवश्यक है

doston aapka prashna hai ki bhasha niti kya hai toh doston aapke prashna ka uttar yah hai ki bhasha niti yah hai ki kisi bhi sarkar ne adhikarik taur par kanoon nyayalaya ke faisle aniti ke aadhar par nirdharit kiya hai ki bhasha kaise upyog ki jaati hai rashtriya panchhi netaon ko pura karne ke liye bhasha ki jaruraton ko viksit karna hi bhashaon ka upyog aur BA naye rakhne ke liye vyaktiyon ya samuho ke adhikaaro ko sthapit karna aavashyak hai

दोस्तों आपका प्रश्न है कि भाषा नीति क्या है तो दोस्तों आपके प्रश्न का उत्तर यह है कि भाषा

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  876
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बासनी से चलते देश के किसी प्रकार के आज का नया बदला ना होने के देश भाषा को राजनीति भाषा खाते हैं भारत में 114 भाषाएं बोली जाती है हमारी भाषा हिंदी है संविधान के अनुसार सरकारी कामकाज में की भाषा को अंग्रेजी के प्रयोग के निषेध के बावजूद ग़ैर हिंदी भाषा पाठ की मांग की है मांग के कारण हिंदी का प्रयोग जारी है तमिलनाडु में इसके लिए उग्र आंदोलन हुआ इसके विवाद को सरकार ने हिंदी अंग्रेजी भाषा का प्रयोग को मान्यता देकर सुझाया है

basni se chalte desh ke kisi prakar ke aaj ka naya BA dla na hone ke desh bhasha ko raajneeti bhasha khate hai bharat mein 114 bhashayen boli jaati hai hamari bhasha hindi hai samvidhan ke anusaar sarkari kaamkaaj mein ki bhasha ko angrezi ke prayog ke nishedh ke BA wajud gair hindi bhasha path ki maang ki hai maang ke karan hindi ka prayog jaari hai tamil nadu mein iske liye ugra andolan hua iske vivaad ko sarkar ne hindi angrezi bhasha ka prayog ko manyata dekar sujhaya hai

बासनी से चलते देश के किसी प्रकार के आज का नया बदला ना होने के देश भाषा को राजनीति भाषा खात

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाषाओं का प्रशासन शिक्षा न्यायालय विधान पालिका आदि के प्रयोग संबंधी भारत की भाषा नीति का विस्तार बहुल आती है नीति का आश्य नागरिकों को एक नियमित प्रक्रिया के माध्यम से कतिपय निरुक्त स्तरों और क्षेत्रों में अपनी मातृभाषा को प्रयोग करने के लिए उत्साहित करना

bhashaon ka prashasan shiksha nyayalaya vidhan palika aadi ke prayog sambandhi bharat ki bhasha niti ka vistaar BA hul aati hai niti ka aashy nagriko ko ek niyamit prakriya ke madhyam se katipay nirukt staron aur kshetro mein apni matrubhasha ko prayog karne ke liye utsaahit karna

भाषाओं का प्रशासन शिक्षा न्यायालय विधान पालिका आदि के प्रयोग संबंधी भारत की भाषा नीति का व

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
play
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाषा नीति होती है जिससे एक राज्य या कोई एक राष्ट्र एक पॉलिसी बनाता है रोज बनाता है जिसके थ्रू जो राशि के लोग होते हैं वह उससे भाषा को जानते हैं उस भाषा को पर पड़ते हैं और उस भाषा में अपनी कला क्षेत्र को दिखाते हैं तथा उस भाषा में बहुत अच्छे हो जाते हैं अलग-अलग तरह के जो पोएट्स होते हैं या फिर जो कभी होते हैं जैसे हमारे हिंदी भाषा की जो कभी है वह एक भाषा नीति के तहत ही रचनाएं करते हैं और अपनी रचनाओं के बलबूते पर प्रसिद्ध होते हैं हमने भी जो हमारी भाषा है जैसे हिंदी भाषा उसे एक जो भारत सरकार द्वारा गई बनाई गई भाषा नीति है उसके तहत ही पड़ा है उसे लैंग्वेज पॉलिसी भी कहते हैं

bhasha niti hoti hai jisse ek rajya ya koi ek rashtra ek policy BA nata hai roj BA nata hai jiske through jo rashi ke log hote hai vaah usse bhasha ko jante hai us bhasha ko par chahiye padte hai aur us bhasha mein apni kala kshetra ko dikhate hai tatha us bhasha mein BA hut acche ho jaate hai alag alag tarah ke jo poets hote hai ya phir jo kabhi hote hai jaise hamare hindi bhasha ki jo kabhi hai vaah ek bhasha niti ke tahat hi rachnaye karte hai aur apni rachnaon ke BA lbute par prasiddh hote hai humne bhi jo hamari bhasha hai jaise hindi bhasha use ek jo bharat sarkar dwara gayi BA nai gayi bhasha niti hai uske tahat hi pada hai use language policy bhi kehte hain

भाषा नीति होती है जिससे एक राज्य या कोई एक राष्ट्र एक पॉलिसी बनाता है रोज बनाता है जिसके थ

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  313
WhatsApp_icon
user

Tabassum

Teacher

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाषा नीति क्या है तो भारत वास्तव में विविधता पूर्ण देश है जहां 114 से अधिक प्रमुख भाषाओं का प्रयोग होता है इसमें इन सभी भाषाओं के प्रति आदर होना चाहिए प्रमुख भाषाओं को समाहित करने की नीति ने राष्ट्रीय एकता को मजबूत किया है भारतीय संविधान में प्रमुख भाषाओं को समाहित किया गया है जैसे कि हिंदी अंग्रेजी बांग्ला तेलुगु कन्नड़ इत्यादि यही भाषा नीति है इसे अपनाकर राष्ट्रीय एकता को सफल बनाया गया है

bhasha niti kya hai toh bharat vaastav mein vividhata purn desh hai jaha 114 se adhik pramukh bhashaon ka prayog hota hai isme in sabhi bhashaon ke prati aadar hona chahiye pramukh bhashaon ko samahit karne ki niti ne rashtriya ekta ko majboot kiya hai bharatiya samvidhan mein pramukh bhashaon ko samahit kiya gaya hai jaise ki hindi angrezi BA ngla telugu kannada ityadi yahi bhasha niti hai ise apnakar rashtriya ekta ko safal BA naya gaya hai

भाषा नीति क्या है तो भारत वास्तव में विविधता पूर्ण देश है जहां 114 से अधिक प्रमुख भाषाओं क

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
bhasha niti kya hai ; भाषा नीति क्या है ; bharat ki bhasha niti kya hai ; भाषा नीति क्या है बताएं ; भारत की भाषा नीति क्या है ; bhasha niti ; भाषा नीति की परिभाषा ; भाषा नीति ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!