क्यों भगवान विष्णु के पास भगवान शिव और भगवान ब्रह्मा की तुलना में अधिक हथियार है?...


user

BK Vishal

Rajyoga Trainer

2:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात तो आपको यह समझने की आवश्यकता है कि भगवान शिव कौन है और शंकर जी कौन है इनमें अंतर और विष्णु क्या है और ब्रह्मा क्या है असल में यह तीन देव जो है ब्रह्मा विष्णु महेश यह परमात्मा शिव की दिव्य रचना है अलौकिक रचना है जिनसे परमात्मा अपने दिव्य 3 कर्तव्य स्थापना पालने विनाश करवाते हैं बाकी जो अस्त्र-शस्त्र दिखाए हैं वह कोई हिंसात्मक रूप के लिए नहीं है वह सिर्फ प्रतीकात्मक और गुणवत्ता और शक्तियों का प्रतीक है बाकी ऐसा कोई भी देवता नहीं है जो इन अस्त्र शस्त्रों का इस्तेमाल करता होगा जहां तक के विष्णु जी के पास दिखाएगा स्पेशल माता के पति का उस आत्मा की गुणवत्ता के प्रति और परमात्मा करते हैं संकेत संकेत मात्र है जो हमें ज्ञात करें इसलिए यह समझना होगा कोई किसी से कम नहीं है ब्रह्मा जी के पास तो कोई अस्त्र शस्त्र दिखाते नहीं शास्त्र जरूर दिखाते हैं शस्त्र नहीं दिखाता और दिखाते हैं चक्र सुदर्शन चक्र का प्रतीक है आत्मा के अंतिम दर्शन का प्रतीक है और गधा जो ज्ञान का प्रतीक है तो यह सोल्जर जातक शंकर जी का प्रतीक है वह तो विनाशकारी देवता के रूप में जाने जाते हैं इसलिए इनके हाथ में त्रिशूल दिखाएं त्रिशूल के रूप में नहीं है कि वह कथा यह रचना की है परंतु इनका कोई यथार्थ भाव नहीं है जिसका कोई प्रमाण मिलता है

pehli baat toh aapko yah samjhne ki avashyakta hai ki bhagwan shiv kaun hai aur shankar ji kaun hai inmein antar aur vishnu kya hai aur brahma kya hai asal me yah teen dev jo hai brahma vishnu mahesh yah paramatma shiv ki divya rachna hai alaukik rachna hai jinse paramatma apne divya 3 kartavya sthapna palne vinash karwaate hain baki jo astra shastra dekhiye hain vaah koi hinsatmak roop ke liye nahi hai vaah sirf pratikatmak aur gunavatta aur shaktiyon ka prateek hai baki aisa koi bhi devta nahi hai jo in astra shastron ka istemal karta hoga jaha tak ke vishnu ji ke paas dikhaega special mata ke pati ka us aatma ki gunavatta ke prati aur paramatma karte hain sanket sanket matra hai jo hamein gyaat kare isliye yah samajhna hoga koi kisi se kam nahi hai brahma ji ke paas toh koi astra shastra dikhate nahi shastra zaroor dikhate hain shastra nahi dikhaata aur dikhate hain chakra sudarshan chakra ka prateek hai aatma ke antim darshan ka prateek hai aur gadha jo gyaan ka prateek hai toh yah soldier jatak shankar ji ka prateek hai vaah toh vinashkari devta ke roop me jaane jaate hain isliye inke hath me trishool dikhaen trishool ke roop me nahi hai ki vaah katha yah rachna ki hai parantu inka koi yatharth bhav nahi hai jiska koi pramaan milta hai

पहली बात तो आपको यह समझने की आवश्यकता है कि भगवान शिव कौन है और शंकर जी कौन है इनमें अंतर

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1697
KooApp_icon
WhatsApp_icon
11 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!