अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय के महत्व क्या है?...


user

JagratiJain

Motivational Speaker , Experience Of 20 Years as a Teacher

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है अंतरराष्ट्रीय व्यापार के महत्व क्या है अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय जो है वह अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के बाहर पूंजी से वाया माल का लेन देन जो होता है उसे अंतरराष्ट्रीय व्यवसाय कहते हैं और अंतरराष्ट्रीय व्यवसाय के कई फायदे होते हैं इससे राजस्व में वृद्धि होती है इससे हमारे पास जो है विदेशी मुद्रा का आगमन होता है हमारा व्यापार जो है वह लंबे समय तक इससे रहते हैं हमारे व्यापार में वृद्धि होती है और हमारी जो माल्या सेवाएं हैं उसका उम्र भर जाती है उसकी जो है हमें सही कीमत मिल जाती है अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय से हमें नई तकनीकों का ज्ञान प्राप्त होता है अंतरराष्ट्रीय व्यापार करने से हम दूसरे देशों की नई तकनीकों को खरीद कर अपने देश का विकास कर सकते हैं इससे हमारी अर्थव्यवस्था में सुधार होता है और अर्थव्यवस्था में जब सुधार होता है तो उससे जो है व्यवसाय के और मौके और आपका जो अंतरराष्ट्रीय व्यवसाय करने के कारण जो घरेलू उत्पादों से या घरेलू कंपनियों के साथ जो कंपटीशन या जो प्रतियोगिता होती है वह कम हो जाती है तंत्र श्री व्यवसाई से हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए अंतर्राष्ट्रीय व्यापार का कंटिन्यू करना या लगातार चलते रहना बहुत जरूरी है

aapka sawaal hai antararashtriya vyapar ke mahatva kya hai antarrashtriya vyavasaya jo hai vaah antararashtriya seemaon ke bahar punji se vaya maal ka len then jo hota hai use antararashtriya vyavasaya kehte hain aur antararashtriya vyavasaya ke kai fayde hote hain isse rajaswa me vriddhi hoti hai isse hamare paas jo hai videshi mudra ka aagaman hota hai hamara vyapar jo hai vaah lambe samay tak isse rehte hain hamare vyapar me vriddhi hoti hai aur hamari jo malya sevayen hain uska umar bhar jaati hai uski jo hai hamein sahi kimat mil jaati hai antarrashtriya vyavasaya se hamein nayi taknikon ka gyaan prapt hota hai antararashtriya vyapar karne se hum dusre deshon ki nayi taknikon ko kharid kar apne desh ka vikas kar sakte hain isse hamari arthavyavastha me sudhaar hota hai aur arthavyavastha me jab sudhaar hota hai toh usse jo hai vyavasaya ke aur mauke aur aapka jo antararashtriya vyavasaya karne ke karan jo gharelu utpado se ya gharelu companion ke saath jo competition ya jo pratiyogita hoti hai vaah kam ho jaati hai tantra shri vyavasai se hamare liye bahut mahatvapurna hai desh ki arthavyavastha ko sudhaarne ke liye antarrashtriya vyapar ka continue karna ya lagatar chalte rehna bahut zaroori hai

आपका सवाल है अंतरराष्ट्रीय व्यापार के महत्व क्या है अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय जो है वह अंतररा

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  566
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!