हमारे ग्रह खराब चल र है हैं उसका क्या उपाय है?...


play
user

Manish Sharma

Hypnotherapist and Founder, SecondSightIndia

0:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं एक और तू नजर भी हूं लेकिन आपको सीधी से एक सलाह दूंगा क्योंकि यहां पर सीधी सलाह दी जाती है वह करते थे इसलिए मैं आपको सीधी से सलाह दूंगा कि आप सिर्फ और सिर्फ अपनी कुंडली दिखाना बंद कर दीजिए लोगों को आपके सारे ग्रह ठीक हो जाएंगे जितनी नजरें कुंडली पर पड़ेगी वह कुंडली आपकी खराब होती चली जाएगी कुंडली दिखाना बंद कर दीजिए और मन में पॉजिटिव थॉट हर बार सोते जाती है बोलिए कि मेरे सारे ग्रह ठीक चल रहे हैं फिलहाल के लिए और देखिए आपको 3 मंथ के अंदर अंदर आपको रिजल्ट साले स्टार्ट हो जाएंगे थैंक यू

main ek aur tu nazar bhi hoon lekin aapko seedhi se ek salah dunga kyonki yahan par seedhi salah di jaati hai vaah karte the isliye main aapko seedhi se salah dunga ki aap sirf aur sirf apni kundali dikhana band kar dijiye logo ko aapke saare grah theek ho jaenge jitni najarein kundali par padegi vaah kundali aapki kharab hoti chali jayegi kundali dikhana band kar dijiye aur man mein positive thought har baar sote jaati hai bolie ki mere saare grah theek chal rahe hain filhal ke liye aur dekhiye aapko 3 month ke andar andar aapko result saale start ho jaenge thank you

मैं एक और तू नजर भी हूं लेकिन आपको सीधी से एक सलाह दूंगा क्योंकि यहां पर सीधी सलाह दी जाती

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  1508
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने लिखा है हमारे ग्रह खराब चल रहे हैं इसका उपाय क्या है प्रियम है संसार में किसी का कोई ग्रह खराब नहीं होता है हमारे विचार हमारे प्रयास हमारे दिशाएं गलत होती है आप यकीन रखिए आपका कोई ग्रह खराब नहीं चल रहा है और उसका उपाय यही है कि आप अपने मन में ठान कर अच्छे कर्म करें गीता का ध्यान करें जिसमें श्री कृष्ण ने कहा है कि आपको कर्म कर्म का फल मिलता है उसकी चिंता ना करें कि उनके सर मिल रहा है कई बार हम अपनी गलतियों को मानसिक रूप से परिवर्तित करने के लिए नकारात्मक विचार रखते हैं और उसमें ग्रह खराब है हमारा भाग्य खराब है इस तरह की बात करके परेशान होते हैं अपने परिवार वालों को और अपने रिश्तेदारों को और सब लोगों को परेशान करते हैं मेरा मानना है कि ईश्वर से बढ़कर कोई शक्ति दुनिया में नहीं है ईश्वर की बनाई हुई हर चीज खराब नहीं हो सकती इतने जो ग्रह वगैरह बनाए हैं वह सब अच्छे के लिए ही बना है तो वह खराब कैसे हो सकते हैं उनकी चाल हमारे किसी एक व्यक्ति के लिए कैसे खराब हो सकती है आप कुछ सोचिए कि पूरे संसार में अगर आप अपने आकार की तुलना करेंगे तो लाखों लाखों समुद्र के जो मुंह धोते हैं कौन से लाखों समुद्र की एक बूंद के बराबर अखबार आगरा से क्या होगा परंतु हम जानते हैं कि ईश्वर सबकी मदद करता है और अगर आप ईश्वर को नहीं मानते तो प्रकृति सबकी मदद करती है और वह भी नहीं मानते हैं तो आपके कर्म आपको मदद करते हैं आप अच्छे कर्म कीजिए अगर आपके पास कोई गलत सोचते हो जिसको बोलते वह है तो उसको छोड़ दीजिए और अब तो ईश्वर को और ग्राहक को मानते हैं तो मेरा मानना है कि हमको 1 दिन भी एक सीमा तक मारने में इतनी बुराई नहीं रुकता उससे का नकारात्मक रूप से आपको परेशानी हो रही है बहुत ज्यादा नुकसान दे आदमी बुरे से ज्यादा बुरा सोचने से परेशान होता है इसलिए कृपया ध्यान दे गृहस्ती चल रहा है आपके इसलिए आप अच्छे बस काम करें अच्छे साहित्यकार को लाभ होगा

aapne likha hai hamare grah kharab chal rahe hain iska upay kya hai priyam hai sansar me kisi ka koi grah kharab nahi hota hai hamare vichar hamare prayas hamare dishaen galat hoti hai aap yakin rakhiye aapka koi grah kharab nahi chal raha hai aur uska upay yahi hai ki aap apne man me than kar acche karm kare geeta ka dhyan kare jisme shri krishna ne kaha hai ki aapko karm karm ka fal milta hai uski chinta na kare ki unke sir mil raha hai kai baar hum apni galatiyon ko mansik roop se parivartit karne ke liye nakaratmak vichar rakhte hain aur usme grah kharab hai hamara bhagya kharab hai is tarah ki baat karke pareshan hote hain apne parivar walon ko aur apne rishtedaron ko aur sab logo ko pareshan karte hain mera manana hai ki ishwar se badhkar koi shakti duniya me nahi hai ishwar ki banai hui har cheez kharab nahi ho sakti itne jo grah vagera banaye hain vaah sab acche ke liye hi bana hai toh vaah kharab kaise ho sakte hain unki chaal hamare kisi ek vyakti ke liye kaise kharab ho sakti hai aap kuch sochiye ki poore sansar me agar aap apne aakaar ki tulna karenge toh laakhon laakhon samudra ke jo mooh dhote hain kaun se laakhon samudra ki ek boond ke barabar akhbaar agra se kya hoga parantu hum jante hain ki ishwar sabki madad karta hai aur agar aap ishwar ko nahi maante toh prakriti sabki madad karti hai aur vaah bhi nahi maante hain toh aapke karm aapko madad karte hain aap acche karm kijiye agar aapke paas koi galat sochte ho jisko bolte vaah hai toh usko chhod dijiye aur ab toh ishwar ko aur grahak ko maante hain toh mera manana hai ki hamko 1 din bhi ek seema tak maarne me itni burayi nahi rukata usse ka nakaratmak roop se aapko pareshani ho rahi hai bahut zyada nuksan de aadmi bure se zyada bura sochne se pareshan hota hai isliye kripya dhyan de grihasti chal raha hai aapke isliye aap acche bus kaam kare acche sahityakaar ko labh hoga

आपने लिखा है हमारे ग्रह खराब चल रहे हैं इसका उपाय क्या है प्रियम है संसार में किसी का कोई

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  195
WhatsApp_icon
user

Rajeshwar

Ayurvedic Doctor

0:20
Play

Likes  10  Dislikes    views  267
WhatsApp_icon
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे जो ग्रह खराब चल ना होता है तो दरअसल यह तब होता है जब आप जो है वह नेगेटिविटी से गिर जाते हैं और कोई भी काम करने में आपका जो है वह मन नहीं लगता है आप मेहनत लगन से काम नहीं करते हैं तो यह सब चीज है जो है वह आप की आती है तो इसलिए जो है लोग बोलते हैं की पूजा करो यहां बंद करो तो ऐसा करने से जो है वह आपके मन को थोड़ी शांति प्रदान होती है तो अगर आपको ऐसा लगता है तो आप जो है वह जाकर थोड़ा पाठ पूजा करवा सकते हैं या फिर अपने घर में कोई हवन भी रखवा सकते हैं जिससे कि आपका लोगों से मिलना भी हो जाएगा आपका माइंड फ्रेश भी हो जाएगा और नए सिरे से नहीं ताकि से जो है वह फिर से आप जोश में आकर अपने काम को पुनः स्टार्ट कर सकते हैं

likhe jo grah kharab chal na hota hai toh darasal yah tab hota hai jab aap jo hai vaah negativity se gir jaate hain aur koi bhi kaam karne mein aapka jo hai vaah man nahi lagta hai aap mehnat lagan se kaam nahi karte hain toh yah sab cheez hai jo hai vaah aap ki aati hai toh isliye jo hai log bolte hain ki puja karo yahan band karo toh aisa karne se jo hai vaah aapke man ko thodi shanti pradan hoti hai toh agar aapko aisa lagta hai toh aap jo hai vaah jaakar thoda path puja karva sakte hain ya phir apne ghar mein koi hawan bhi rakhava sakte hain jisse ki aapka logo se milna bhi ho jaega aapka mind fresh bhi ho jaega aur naye sire se nahi taki se jo hai vaah phir se aap josh mein aakar apne kaam ko punh start kar sakte hain

लिखे जो ग्रह खराब चल ना होता है तो दरअसल यह तब होता है जब आप जो है वह नेगेटिविटी से गिर जा

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  303
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
prithvi se chandrama ki doori ; चल ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!