क्या दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए? और क्यों?...


user

ayush kamal

Civil services aspirant

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मैं लगता है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा बिल्कुल मिलना चाहिए जैसा कि सर आप सभी लोग जानते हैं कि दिल्ली एक मोस्ट पॉपुलर सीमेंट रेट रही है सभी इंटर में सबसे ज्यादा आबादी वाला अगर कोई राज्य है तो वह दिल्ली और दिल्ली को वर्क सूट आज का दर्जा मिल जाएगा तो वहां के जो CM अरविंद केजरीवाल पूरी तरह खुल कर बात कर सकते हैं अभी उनके वर्क ऑफ़ इंटरफेरेंस होती है lg कि जिससे दिल्ली का डेवलपमेंट और ज्यादा होगा थोड़ा ज्यादा हो गया थोड़ा सही होगा और स्टेट दिल्ली वासियों को भी खाना खाया था काफी फायदा होगा थैंक यू

nahi main lagta hai ki delhi ko purn rajya ka darja bilkul milna chahiye jaisa ki sir aap sabhi log jante hain ki delhi ek most popular cement rate rahi hai sabhi inter mein sabse zyada aabadi vala agar koi rajya hai toh vaah delhi aur delhi ko work suit aaj ka darja mil jaega toh wahan ke jo CM arvind kejriwal puri tarah khul kar baat kar sakte hain abhi unke work of interference hoti hai lg ki jisse delhi ka development aur zyada hoga thoda zyada ho gaya thoda sahi hoga aur state delhi vasiyo ko bhi khana khaya tha kaafi fayda hoga thank you

नहीं मैं लगता है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा बिल्कुल मिलना चाहिए जैसा कि सर आप सभी ल

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मुझे लगता है कि आज दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए क्योंकि अगर हम बात करें पिछले कुछ सालों में हमने देखा है जिस तरह से राज्य सरकार और राज्यपाल के बीच में डबल होता रहता हर बात को लेकर तो वह मुझे नहीं लगता कि हमारे समाज के लिए हमारे देश के लिए और हमारे संविधान के लिए लाभप्रद होगा जिस तरह से 2014 इलेक्शन भारतीय जनता पार्टी ने वादा किया था कि अगर वह उनकी सरकार केंद्र में आती है तो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देंगे उसके बाद दिल्ली में जब इलेक्शन हुआ जब भारतीय जनता पार्टी हार गई तो उन्होंने इस चीज के लिए टोटली ट्राई कर दिया तो मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं भारतीय जनता पार्टी पीस के लिए जिम्मेदार है क्योंकि जिस तरह का कमिटमेंट उन्होंने किया था 2014 के इलेक्शन में उन्होंने पूरा नहीं किया और जिस तरह से राज्यपाल और मुख्यमंत्री के बीच में हर बात को लेकर टेंशन होता रहता है और ज्यादातर अधिकार राज्यपाल के हाथ में रहते हैं और मुख्यमंत्री एक नॉमिनल हो जाता है तो मुझे लगता है कि इस कंडीशन में पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना बहुत जरूरी है ताकि वहां के जो मुख्यमंत्री हैं वह अपने जो भी उनके विकास के प्लान है उसको प्रोफाइल एग्जिट कर सकें

lekin mujhe lagta hai ki aaj delhi ko purn rajya ka darja milna chahiye kyonki agar hum baat kare pichle kuch salon mein humne dekha hai jis tarah se rajya sarkar aur rajyapal ke beech mein double hota rehta har baat ko lekar toh vaah mujhe nahi lagta ki hamare samaj ke liye hamare desh ke liye aur hamare samvidhan ke liye laabhaprad hoga jis tarah se 2014 election bharatiya janta party ne vada kiya tha ki agar vaah unki sarkar kendra mein aati hai toh delhi ko purn rajya ka darja denge uske baad delhi mein jab election hua jab bharatiya janta party haar gayi toh unhone is cheez ke liye totally try kar diya toh mujhe lagta hai ki kahin na kahin bharatiya janta party peace ke liye zimmedar hai kyonki jis tarah ka commitment unhone kiya tha 2014 ke election mein unhone pura nahi kiya aur jis tarah se rajyapal aur mukhyamantri ke beech mein har baat ko lekar tension hota rehta hai aur jyadatar adhikaar rajyapal ke hath mein rehte hain aur mukhyamantri ek nominal ho jata hai toh mujhe lagta hai ki is condition mein purn rajya ka darja milna bahut zaroori hai taki wahan ke jo mukhyamantri hain vaah apne jo bhi unke vikas ke plan hai usko profile exit kar sakein

लेकिन मुझे लगता है कि आज दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए क्योंकि अगर हम बात करे

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  231
WhatsApp_icon
play
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि पूरे राज्य का दर्जा दिल्ली को दिया जाता है तो राज्य सरकार को चीजों पर मुक्त हाथ मिलता है और पुलिस मुख्यमंत्री जैसे राज्य सरकार की आंधी आएगी और दीजिए जो सेकंड हैंड हाउस इन इश्यूज में भी जो है अभी कमांडो दीजिए और एमसीडी और यह भी जो है राज्य के प्रमुख के के तहत काम करेगा इसलिए सुरक्षा अवश्य स्वस्था और अशिक्षा जैसी बुनियादी जरूरतों को राज्य सरकार की प्रत्यक्ष नियंत्रण में रखा जाएगा और दिल्ली के फायदे में आ कोई फैसले जो है लेने के लिए स्वतंत्रता होगा और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यह दोष खेल को रोक देगा जिसे राज्य सरकार कुछ करने के लिए प्रतिभूति एवं केंद्र की स्वीकृति नहीं है

yadi poore rajya ka darja delhi ko diya jata hai toh rajya sarkar ko chijon par mukt hath milta hai aur police mukhyamantri jaise rajya sarkar ki aandhi aayegi aur dijiye jo second hand house in issues mein bhi jo hai abhi commando dijiye aur mcd aur yah bhi jo hai rajya ke pramukh ke ke tahat kaam karega isliye suraksha avashya swastha aur asiksha jaisi buniyadi jaruraton ko rajya sarkar ki pratyaksh niyantran mein rakha jaega aur delhi ke fayde mein aa koi faisle jo hai lene ke liye swatantrata hoga aur sabse mahatvapurna baat yah hai ki yah dosh khel ko rok dega jise rajya sarkar kuch karne ke liye pratibhuti evam kendra ki swikriti nahi hai

यदि पूरे राज्य का दर्जा दिल्ली को दिया जाता है तो राज्य सरकार को चीजों पर मुक्त हाथ मिलता

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज देखें दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए कि नहीं तो मैं सोचा कि नहीं दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा बिल्कुल नहीं मिलना चाहिए क्योंकि अब यह अरविंद केजरीवाल जो है वह उसी का डिमांड कर रहे हैं ताकि जो दिल्ली पुलिस वह होली के अंडर में आ जाए अभी दिल्ली जो है वो यूनियन टेरिटरीज में आती है और जो है वह सेंट्रल गवर्नमेंट के अंडर में आती है और दिल्ली पुलिस चीफ मिनिस्टर के अंडर में नहीं होता स्टेट में होता है दिल्ली पुलिस जो है वह मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स के अंडर में आती है तो इसलिए है कि वहां पर सीएम की जो पावर है वह थोड़ी कम है और गवर्नर के पावर ज्यादा है बाकी चैट में क्या था कि गवर्नर के पावन थोड़ी कम रहती हो और और चीफ मिनिस्टर की पावन थोड़ी ज्यादा रहती है इसलिए अरविंद केजरीवाल को जो है थोड़ी तकलीफ होती है वहां पर और दिल्ली को इसलिए पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं मिले चाहिए कि वहां पर पूरी सेंट्रल सरकारी सेंट्रल सेक्रेटरिएट ऑफिस है और जो जितने भी बड़े-बड़े ऑफिसर्स हैं और सुप्रीम कोर्ट वगैरह है अगर आप पार्लियामेंट है और जितने भी बड़े-बड़े कार्यालय केंद्र सरकार के वह सब जो है वह दिल्ली में स्थित है तो अगर उस को पूर्ण राज्य कर दे कर दिया जाए तो वहां पर सीएम का जो है वह कंट्रोल चलेगा जो cm अगर किसी पॉलिटिशन से पूछता है या वह पोलिटिकल गेम खेलना चाहता है तो वह जो आदमी कंट्री बैंड का पता चलती गाड़ी रोक सकता है पुलिस यूज़ करके अपनी पुलिस को भी उसका याद करता है तो मैं नहीं समझता है वहां पर केंद्र सरकार का ही जो है वह जो राज्य दिल्ली का राजा है उसमें केंद्र सरकार का ही कंट्रोल चलना चाहिए और उसको नहीं करना चाहिए पूर्ण राज्य का दर्जा बिल्कुल नहीं मिलना चाहिए

aaj dekhen delhi ko purn rajya ka darja milna chahiye ki nahi toh main socha ki nahi delhi ko purn rajya ka darja bilkul nahi milna chahiye kyonki ab yah arvind kejriwal jo hai vaah usi ka demand kar rahe hai taki jo delhi police vaah holi ke under mein aa jaaye abhi delhi jo hai vo union teritrij mein aati hai aur jo hai vaah central government ke under mein aati hai aur delhi police chief minister ke under mein nahi hota state mein hota hai delhi police jo hai vaah ministry of home affairs ke under mein aati hai toh isliye hai ki wahan par cm ki jo power hai vaah thodi kam hai aur governor ke power zyada hai baki chat mein kya tha ki governor ke paavan thodi kam rehti ho aur aur chief minister ki paavan thodi zyada rehti hai isliye arvind kejriwal ko jo hai thodi takleef hoti hai wahan par aur delhi ko isliye purn rajya ka darja nahi mile chahiye ki wahan par puri central sarkari central sekretariet office hai aur jo jitne bhi bade bade officers hai aur supreme court vagera hai agar aap parliament hai aur jitne bhi bade bade karyalay kendra sarkar ke vaah sab jo hai vaah delhi mein sthit hai toh agar us ko purn rajya kar de kar diya jaaye toh wahan par cm ka jo hai vaah control chalega jo cm agar kisi politician se poochta hai ya vaah political game khelna chahta hai toh vaah jo aadmi country band ka pata chalti gaadi rok sakta hai police use karke apni police ko bhi uska yaad karta hai toh main nahi samajhata hai wahan par kendra sarkar ka hi jo hai vaah jo rajya delhi ka raja hai usme kendra sarkar ka hi control chalna chahiye aur usko nahi karna chahiye purn rajya ka darja bilkul nahi milna chahiye

आज देखें दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए कि नहीं तो मैं सोचा कि नहीं दिल्ली को

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना मेरे हिसाब से सही नहीं है क्योंकि अगर हम देखें तो पूरे दिल्ली का शरीर इतना बड़ा नहीं है कि वह खुद को राज्य कह सके और दिल्ली में ऐसे कई सारे एरिया लेकिन कई सारे सेटिंग्स नहीं है जिसे एक रोज मैं दिल्ली की खुद की सरकार है दिल्ली यूनियन टेरिटरी है दिल्ली को देखा जा सकता है दिल्ली सरकार दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए कि अगर दिल्ली पूर्ण राज्य का दर्जा मांगती है तो उन्हें उनकी खुद की क्रमिक सकते हैं उन्हें खुद के पूरे समसेर टूरिज्म सेक्टर और खुद का टोल नाका जो होगा यह सब उनको चीज बनानी पड़ेगी मेरे सबसे जिनमें बहुत सारे नुकसान होगा तो मेरी तरफ से दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं मिलना चाहिए

delhi ko purn rajya ka darja milna mere hisab se sahi nahi hai kyonki agar hum dekhen toh poore delhi ka sharir itna bada nahi hai ki vaah khud ko rajya keh sake aur delhi mein aise kai saare area lekin kai saare settings nahi hai jise ek roj main delhi ki khud ki sarkar hai delhi union Territory hai delhi ko dekha ja sakta hai delhi sarkar delhi ko purn rajya ka darja milna chahiye ki agar delhi purn rajya ka darja mangati hai toh unhe unki khud ki kramik sakte hain unhe khud ke poore samser tourism sector aur khud ka toll naka jo hoga yah sab unko cheez banani padegi mere sabse jinmein bahut saare nuksan hoga toh meri taraf se delhi ko purn rajya ka darja nahi milna chahiye

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना मेरे हिसाब से सही नहीं है क्योंकि अगर हम देखें तो पूर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं मुझे नहीं लगता कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए जैसे कि दिल्ली दिल्ली और न्यू दिल्ली दसवीं डिवाइडेड है जो कि कल कंसीडर किया जाता है दिल्ली वह कैपिटल है हमारे देश का एक बड़ा सेंटर है न्यू दिल्ली हमारा कैपिटल है वह मैं देश का सेंटर है और उन्हें यूनियन टेरिटरी ही रहना चाहिए क्योंकि अगर राज्य बना दिया हो तो उसके लिए नए सेट ऑफ़ रूल्स क्रिएट हो गए जो कि अलग होते हैं और और इसके वजह से शायद लोगों को भी तकलीफ हो सकती है और इसी वजह से दिल्ली को राज्य का दर्जा नहीं मिलना चाहिए

nahi mujhe nahi lagta ki delhi ko purn rajya ka darja milna chahiye jaise ki delhi delhi aur new delhi dasavi divided hai jo ki kal Consider kiya jata hai delhi vaah capital hai hamare desh ka ek bada center hai new delhi hamara capital hai vaah main desh ka center hai aur unhe union Territory hi rehna chahiye kyonki agar rajya bana diya ho toh uske liye naye set of rules create ho gaye jo ki alag hote hain aur aur iske wajah se shayad logo ko bhi takleef ho sakti hai aur isi wajah se delhi ko rajya ka darja nahi milna chahiye

नहीं मुझे नहीं लगता कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए जैसे कि दिल्ली दिल्ली और

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  194
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
पूर्ण राज्य का दर्जा क्या है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!