बेंगलुरू की सड़कों पर इतनी ट्रैफिक क्यों होती है?...


play
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले यहां सिटी की प्लानिंग अच्छी नहीं है इस कारण ना तो पर्याप्त सड़के हैं ना ही छोडिए में सड़के तंग है दूसरा जनसंख्या में वृद्धि के साथ दूसरे राज्यों से लोग यहां आकर बसने लगे हैं इसे शहर में भीड़ पड़ी है तीसरा यहां पब्लिक ट्रांसपोर्ट देशभर में सबसे अधिक महंगा है पब्लिक ट्रांसपोर्ट की फ्रीक्वेंसी भी अच्छी नहीं है कई इलाकों के लिए तो पर्याप्त बस ही नहीं है इस कारण लोग ऑटो से चलने के लिए मजबूर है लेकिन यहां ऑटो की अपनी मनमानी है बेंगलुरु का मेट्रो अभी बहुत ही प्राइमरी स्टेज में है इसके नतीजे में लोगों को अधिक सुविधाजनक कैप का विकल्प चुना पड़ता है क्या की भारी मांग के कारण सड़कों पर इनकी संख्या में वृद्धि हुई है उस पर आजकल तमाम बैंक आसान किस्तों पर कार लोन देने हैं ऐसे में जो कार खरीद सकते हैं वह लोन पर कार खरीद रही हैं बाकी बचे लोगों के लिए बाइक है बाइक के लिए बहुत सारे फाइनेंसर कंपनी भी है सही रे पिछले कुछ सालों में सड़कों पर कार और बाइक ओ की संख्या में बहता साबित वृद्धि हुई है उस पर लोग ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करते इन कारणों से सड़कों पर जाम लगना लाजमी है

sabse pehle yahan city ki planning achi nahi hai is karan na toh paryapt sadake hain na hi chodiye mein sadake tang hai doosra jansankhya mein vriddhi ke saath dusre rajyo se log yahan aakar basne lage hain ise shehar mein bheed padi hai teesra yahan public transport deshbhar mein sabse adhik mehnga hai public transport ki frequency bhi achi nahi hai kai ilako ke liye toh paryapt bus hi nahi hai is karan log auto se chalne ke liye majboor hai lekin yahan auto ki apni manmani hai bengaluru ka metro abhi bahut hi primary stage mein hai iske natije mein logo ko adhik suvidhajanak cap ka vikalp chuna padta hai kya ki bhari maang ke karan sadkon par inki sankhya mein vriddhi hui hai us par aajkal tamaam bank aasaan kiston par car loan dene hain aise mein jo car kharid sakte hain vaah loan par car kharid rahi hain baki bache logo ke liye bike hai bike ke liye bahut saare financer company bhi hai sahi ray pichle kuch salon mein sadkon par car aur bike o ki sankhya mein bahta saabit vriddhi hui hai us par log traffic niyamon ka palan nahi karte in karanon se sadkon par jam lagna lajmi hai

सबसे पहले यहां सिटी की प्लानिंग अच्छी नहीं है इस कारण ना तो पर्याप्त सड़के हैं ना ही छोडिए

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

akashyadav

IIT Graduate 2014 batch

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देसी देख किसी भी मेट्रोपॉलिटन के जैसे ही बेंगलुरु में भी मेन ट्राफिक का रीजन है पॉपुलेशन एक्सप्रेशन पिछले 10 साल में बेंगलुरु की पॉपुलेशन बहुत ज्यादा बड़ी है 2016 करो ताकि किसी भी और मेट्रोपॉलिटन कंपैरिजन मैं और वो सफाई 216 चाहता है जब इतना तेज पॉपुलेशन हुआ है तो गवर्नमेंट के पास भी ना तो टाइम था ना तो ढंग से मैसेज किया और प्रशिक्षण प्रशिक्षण प्लानिंग की गई अच्छे से नहीं किया गया पूरी सिटी में जिसके अभी भी तंग गलियां छोटे छोटे रास्ते हैं प्यार के पास अभी भी घर है दुकाने हैं और एक्सटेंड करने की जगह नहीं बची और बढ़ता जाता है तो एक निशानी दूसरी बात यह है कि गवर्मेंट का ढीलापन है कि मैं मेट्रो पूरी तरह से कनेक्ट नहीं हो पाई है दिल्ली जैसा कनेक्टिविटी नहीं आ पाए मेट्रो उसकी वजह से और मेट्रो का काम अभी चल रहा है उसमें और काफी साल लग जाएंगे तो किस मेट्रो आने के बाद थोड़ा कम हो जाएगा मुझे अब तक नहीं मेट्रो आती है तब तक बहुत ही ज्यादा ट्रैफिक एजूकेशन बनने वाली है चौथा में लोगों को भी इसके लिए जिम्मेदार मानूंगा कि लोगों को टिकट नहीं है स्पेशली बेंगलुरु में कंगन देखा है की ब्लू को ड्राइविंग टिकट नहीं है गाड़ी कैसे चलानी है कहीं पर भी ट्रैफिक जाम हो जाता है लोग कहीं से भी घुसने की कोशिश कर रहे हैं तो इशारे ओरल रीजन से बॉडी स्ट्रक्चर हो गया पॉपुलेशन एक्सप्रेशन हो गया इंटरनेशनल मैनेजमेंट एंड पूर कनेक्टिविटी और इन सब रिजल्ट की वजह से लोग जागरूकता विनायक फूल वगैरह कर सके तो इन सब चीजों की वजह से बेंगलुरु ट्रैफिक बहुत ज्यादा बढ़ चुका है

desi dekh kisi bhi metropolitan ke jaise hi bengaluru mein bhi main traffic ka reason hai population expression pichle 10 saal mein bengaluru ki population bahut zyada baadi hai 2016 karo taki kisi bhi aur metropolitan kampairijan main aur vo safaai 216 chahta hai jab itna tez population hua hai toh government ke paas bhi na toh time tha na toh dhang se massage kiya aur prashikshan prashikshan planning ki gayi acche se nahi kiya gaya puri city mein jiske abhi bhi tang galiya chote chhote raste hai pyar ke paas abhi bhi ghar hai dukaaney hai aur eksatend karne ki jagah nahi bachi aur badhta jata hai toh ek nishani dusri baat yah hai ki government ka dhilapan hai ki main metro puri tarah se connect nahi ho payi hai delhi jaisa connectivity nahi aa paye metro uski wajah se aur metro ka kaam abhi chal raha hai usme aur kaafi saal lag jaenge toh kis metro aane ke baad thoda kam ho jaega mujhe ab tak nahi metro aati hai tab tak bahut hi zyada traffic ejukeshan banne wali hai chautha mein logo ko bhi iske liye zimmedar manunga ki logo ko ticket nahi hai speshli bengaluru mein kangan dekha hai ki blue ko driving ticket nahi hai gaadi kaise chalani hai kahin par bhi traffic jam ho jata hai log kahin se bhi ghusne ki koshish kar rahe hai toh ishare oral reason se body structure ho gaya population expression ho gaya international management and pur connectivity aur in sab result ki wajah se log jagrukta vinayak fool vagera kar sake toh in sab chijon ki wajah se bengaluru traffic bahut zyada badh chuka hai

देसी देख किसी भी मेट्रोपॉलिटन के जैसे ही बेंगलुरु में भी मेन ट्राफिक का रीजन है पॉपुलेशन ए

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेंगलुरू की सड़कों पर इतनी ट्राफिक इसलिए है| फिलहाल तो मेट्रो का कंस्ट्रक्शन चल रहा है |आप अगर पूरे रोड को देखे आधी रोड, मेट्रो कंस्ट्रक्शन के लिए रखी गई है| आधी रोड आम जनता के लिए खुली छोड़ी गई| ताकि वो इस्तेमाल कर सके| बेंगलोर के रोड तो वैसे ही बहुत नेरो होते हैं| और इसके कारण और छोटे हो गए हैं| दूसरा कारण यह भी है| कि बेंगलुरु की आबादी जिस तरह से बढ़ रही है| उसकी वजह से कहीं ना कहीं ट्राफिक पर इफ़ेक्ट हो रहा है| किसी ने मेट्रो के कंपैरिजन में बेंगलुरु की जो पॉपुलेशन है बहुत तेजी से बढ़ रही है| एंड तीसरा होगा कि लोग आजकल अपने ही वेहिकल्स यूज़ करते है| टू व्हीलर्स भी नहीं फोर व्हीलर| पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन के यूजर्स बहुत ही कम है| तो यह भी एक कारण है बेंगलुरु के ट्रेफिक का|

bengaluru ki sadkon par itni traffic isliye hai filhal toh metro ka construction chal raha hai aap agar poore road ko dekhe aadhi road metro construction ke liye rakhi gayi hai aadhi road aam janta ke liye khuli chodi gayi taki vo istemal kar sake bengalore ke road toh waise hi bahut nero hote hain aur iske karan aur chote ho gaye hain doosra karan yah bhi hai ki bengaluru ki aabadi jis tarah se badh rahi hai uski wajah se kahin na kahin traffic par effect ho raha hai kisi ne metro ke kampairijan mein bengaluru ki jo population hai bahut teji se badh rahi hai and teesra hoga ki log aajkal apne hi vehikals use karte hai to vilars bhi nahi four wheeler public transportation ke users bahut hi kam hai toh yah bhi ek karan hai bengaluru ke traffic ka

बेंगलुरू की सड़कों पर इतनी ट्राफिक इसलिए है| फिलहाल तो मेट्रो का कंस्ट्रक्शन चल रहा है |आप

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेंगलुरु में आज कल Tracker कुछ ज्यादा ही रहने लगा है कि कई सारे रीजन है जैसे बेंगलुरु मेट्रोपोलिटन सिटी है बेंगलुरु की जो आबादी है वह दिन पर दिन बढ़ती जा रही है तो अब ऐसी बातें बेंगलुरु में ट्रैफिक ज्यादा होगा और आपको तो पता ही है कि जो बेंगलुरु की सड़क है वह ज्यादा चौड़ी नहीं है इससे भी ट्रैफिक ज्यादा हो जाता है मैं आप को बता देना चाहता हूं जो बेंगलुरु का ड्रेनेज सिस्टम है जिसे जिसे नगर बेंगलुरु में थोड़ी सी भी बारिश होती है तू बेंगलुरू की सड़कों पर थोड़ी ही देर में और प्लाईवुड पर पानी भर जाता है तो इसमें कहीं ना कहीं गवर्नमेंट की की गलती दिखती है उनका लक ओपन इंफ्रास्ट्रक्चर दिखता है तो गवर्नमेंट को अपने काम को सुधारना चाहिए और 1000 और यह भी है जिससे आपको तो पता है जिसे जो गवर्नमेंट की बसें चलती है जैसे नॉन ac और dc तो इसमें 20 उधार लेकर आना चाहिए जैसे लोग आजकल 98925 में जाना पसंद नहीं करते क्योंकि उसमें इतनी भीड़ हो ठीक है लोग परेशान हो जाते हो इरिटेट हो जाते हैं तो वह सोचते हैं कि अपने खुद के वही ज़िद वही कल से से जाएं और ताकी हमारा आंदोलन को अच्छे से हो तो अगर आप सोचें अगर हर कोई अपने खुद के ट्रांसपोर्टेशन से जाएगा तो ऑफिस से बातें की रोड पर वही कल ज्यादा हो गया भाई कल ज्यादा होने से ट्रैफिक तो ज्यादा हो गई तो गवर्नमेंट को इस पर सुधार लाना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा बजट अवेलेबल करनी चाहिए और इसी वजह से रोड पर अवेलेबल कहानी चाहिए ताकि लोग अच्छे से ट्रेवल करें और भीड़ और ट्रैफिक कम हो ऐसे नहीं सारे रिजल्ट है और जैसे-जैसे आपको पता ही है बेंगलुरु मेट्रो आने वाली है जैसे ही मेट्रो चालू हो जाएगी तो ट्रैफिक कम तो होगा ही तो गर्लफ्रेंड को मेट्रो का काम जल्दी से जल्दी कराना चाहिए ताकि बेंगलुरु में ट्रैफिक कम हो

bengaluru mein aaj kal Tracker kuch zyada hi rehne laga hai ki kai saare reason hai jaise bengaluru metropolitan city hai bengaluru ki jo aabadi hai vaah din par din badhti ja rahi hai toh ab aisi batein bengaluru mein traffic zyada hoga aur aapko toh pata hi hai ki jo bengaluru ki sadak hai vaah zyada chaudi nahi hai isse bhi traffic zyada ho jata hai aap ko bata dena chahta hoon jo bengaluru ka drainage system hai jise jise nagar bengaluru mein thodi si bhi barish hoti hai tu bengaluru ki sadkon par thodi hi der mein aur plywood par paani bhar jata hai toh isme kahin na kahin government ki ki galti dikhti hai unka luck open infrastructure dikhta hai toh government ko apne kaam ko sudharna chahiye aur 1000 aur yah bhi hai jisse aapko toh pata hai jise jo government ki busen chalti hai jaise non ac aur dc toh isme 20 udhaar lekar aana chahiye jaise log aajkal 98925 mein jana pasand nahi karte kyonki usme itni bheed ho theek hai log pareshan ho jaate ho irritate ho jaate hain toh vaah sochte hain ki apne khud ke wahi zid wahi kal se se jaye aur taaki hamara andolan ko acche se ho toh agar aap sochen agar har koi apne khud ke transportation se jaega toh office se batein ki road par wahi kal zyada ho gaya bhai kal zyada hone se traffic toh zyada ho gayi toh government ko is par sudhaar lana chahiye aur zyada se zyada budget available karni chahiye aur isi wajah se road par available kahani chahiye taki log acche se travel kare aur bheed aur traffic kam ho aise nahi saare result hai aur jaise jaise aapko pata hi hai bengaluru metro aane wali hai jaise hi metro chaalu ho jayegi toh traffic kam toh hoga hi toh girlfriend ko metro ka kaam jaldi se jaldi krana chahiye taki bengaluru mein traffic kam ho

बेंगलुरु में आज कल Tracker कुछ ज्यादा ही रहने लगा है कि कई सारे रीजन है जैसे बेंगलुरु मेट्

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो दे मुझे लगता है कि बेंगलुरु की सड़कों पर ट्रैफिक गया दिल्ली की सड़कों में तो दिल्ली में रहता हूं दिल्ली में इतना ज्यादा टाइम है क्या मेरी लाइफ की बर्थडे के 4 घंटे का ट्रैफिक में चले जाते हो ऑफिस से आने जाने में ठीक है मुंबई में भी बहुत बुरा हाल है ट्रैफिक का उर्दू कमेंट ऐसा नहीं है घमंड बहुत कम करती टाइप को कंट्रोल करने में आपको सब भेज बनाती है ठीक है बाय पास बनाती है पहले रोड से बनाती है सिक्स लेन को लेने अगले 16 दिन तक बनाती है उसके बाद भी ट्रैफिक कंट्रोल नहीं होता ठीक है अगर मैं बेंगलुरु के लिए दिल्ली की बात खत्म कॉमेडी भनोट भी चलाते फिर भी कंट्रोल नहीं होता तो उसके पीछे सीजन 2 3 है तो क्या है कि जो नंबर भी कल से रोड पर आ गए हैं बहुत ही ज्यादा है ठीक है अगर थोड़ा भी काम हो तो लोग भी कर लेकर निकलते गाड़ी की रिक्वायरमेंट नहीं होगी जहां काम बाइक से हो सकता है माफी को लेकर निकलेंगे ठीक है एक फैमिली में चलोगे 34239 साथ-साथ निकलते हैं तो यह भी एक समस्या दूसरी समस्या है जो मुझे लगता है सबसे ज्यादा है वह सो ट्रैफिक रूल्स को फॉलो नहीं करते अगर रेड लाइट हो रही है कुछ आगे भागने कुछ पीछे भाग रहे हैं देखते हैं कि पुलिस वाला नहीं है ठीक है तो निकल गए तो स्पेशल इन बाइक सरकार की मैं बात करूं तो निकल जाते तो यह भी एक बहुत बड़ी समस्या है ट्रैफिक रूल्स को न फॉलो करोगे तो ट्रैफिक जाम तो लगना ही है ठीक है तो कहीं ना कहीं मुझे लगता यही सारी समस्याएं जिसकी वजह से बेंगलुरु क्या दिल्ली के अंदर मुंबई के अंदर जितने भी बड़े-बड़े मेट्रोपोलिटन सिटीज है हर जगह समस्या आ रही है आने वाले टाइम पर और भी स्थिति जो भी होगी बहुत भाई बहुत हाल खराब कर देने वाली स्थिति होगी तो मुझे तो यह लगता है कि सबसे पहला व्यक्ति और काम करना है कुछ जो काम आप का कहां से हो सकता है बिल्कुल खाली यूज कीजिए जो कम आपका बाइक से हो सकता है तो उसके लिए कार यूज मत कीजिए दूसरा क्या-क्या ट्रैफिक की जो भी नहीं है मन को जरूर फॉलो कीजिए नहीं करोगे तो ट्रैफिक जाम जरूर होगा

dekho de mujhe lagta hai ki bengaluru ki sadkon par traffic gaya delhi ki sadkon mein toh delhi mein rehta hoon delhi mein itna zyada time hai kya meri life ki birthday ke 4 ghante ka traffic mein chale jaate ho office se aane jaane mein theek hai mumbai mein bhi bahut bura haal hai traffic ka urdu comment aisa nahi hai ghamand bahut kam karti type ko control karne mein aapko sab bhej banati hai theek hai bye paas banati hai pehle road se banati hai six len ko lene agle 16 din tak banati hai uske baad bhi traffic control nahi hota theek hai agar main bengaluru ke liye delhi ki baat khatam comedy bhanot bhi chalte phir bhi control nahi hota toh uske peeche season 2 3 hai toh kya hai ki jo number bhi kal se road par aa gaye hain bahut hi zyada hai theek hai agar thoda bhi kaam ho toh log bhi kar lekar nikalte gaadi ki requirement nahi hogi jaha kaam bike se ho sakta hai maafi ko lekar nikalenge theek hai ek family mein chaloge 34239 saath saath nikalte hain toh yah bhi ek samasya dusri samasya hai jo mujhe lagta hai sabse zyada hai vaah so traffic rules ko follow nahi karte agar red light ho rahi hai kuch aage bhagne kuch peeche bhag rahe hain dekhte hain ki police vala nahi hai theek hai toh nikal gaye toh special in bike sarkar ki main baat karu toh nikal jaate toh yah bhi ek bahut badi samasya hai traffic rules ko na follow karoge toh traffic jam toh lagna hi hai theek hai toh kahin na kahin mujhe lagta yahi saree samasyaen jiski wajah se bengaluru kya delhi ke andar mumbai ke andar jitne bhi bade bade metropolitan cities hai har jagah samasya aa rahi hai aane waale time par aur bhi sthiti jo bhi hogi bahut bhai bahut haal kharab kar dene wali sthiti hogi toh mujhe toh yah lagta hai ki sabse pehla vyakti aur kaam karna hai kuch jo kaam aap ka kahaan se ho sakta hai bilkul khaali use kijiye jo kam aapka bike se ho sakta hai toh uske liye car use mat kijiye doosra kya kya traffic ki jo bhi nahi hai man ko zaroor follow kijiye nahi karoge toh traffic jam zaroor hoga

देखो दे मुझे लगता है कि बेंगलुरु की सड़कों पर ट्रैफिक गया दिल्ली की सड़कों में तो दिल्ली म

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  17
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए बेंगलुरु जैसी जगह मेट्रोपॉलिटन जगह है पूरे आईटी हब है तो वहां पर सारी आईटी कंपनीज हैं और मतलब काफी ज्यादा तादाद में एक्टिव पॉपुलेशन वर्क इन पॉपुलेशन है जिसके कारण ट्रैफिक ज्यादा होता है बाकी है समस्या केवल बेंगलुरु की नहीं है हर जगह की समस्या है बाकी क्योंकि अब बेंगलुरु में रहते होंगे इसलिए आपको महसूस हुई होगी बाकी बेंगलुरु का कारण यही है कि आईटी हब है वर्किंग प्लेस है ऑफिस वाले लोगों का आना जाना मतलब कुल मिलाकर उसी कारण से ट्रैफिक ज्यादा रहता

dekhiye bengaluru jaisi jagah metropolitan jagah hai poore it hub hai toh wahan par saree it companies hain aur matlab kaafi zyada tadad mein active population work in population hai jiske karan traffic zyada hota hai baki hai samasya keval bengaluru ki nahi hai har jagah ki samasya hai baki kyonki ab bengaluru mein rehte honge isliye aapko mehsus hui hogi baki bengaluru ka karan yahi hai ki it hub hai working place hai office waale logo ka aana jana matlab kul milakar usi karan se traffic zyada rehta

देखिए बेंगलुरु जैसी जगह मेट्रोपॉलिटन जगह है पूरे आईटी हब है तो वहां पर सारी आईटी कंपनीज है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेंगलुरू की सड़कों पर इतना ट्रैफिक है इसलिए रहता है कि जैसे सब कुछ जानकारी कि बेंगलुरु जो है वह इंडिया का सबसे बड़ा ID हमें उसमें आईटीआई इंडस्ट्रीज बहुत ज्यादा है तो जिसकी वजह से वहां पर काम करने वाले लोग बहुत ज्यादा है तो कई बार बंगाल को जो है वह सिलिकॉन वैली बोला जाता है इंडिया का जो कि आईटी इंडस्ट्री का घर है तो वही एक रिजल्ट जो है बहुत ज्यादा हो गई है बेंगलुरु में और लड़के जो है उसका एक्सीडेंट करने के बाद जगह नहीं है और जो गाड़ियां बाइक से जो है वह और ज्यादा तेज आ रही है और जो मेट्रो का काम चल रहा बेंगलुरु में वह बहुत धीरे चल रहा है तो यह सब रीजन जो है मिला जुला के जो है वह ट्रैफिक का रुप ले लेती है लास्ट में जिसकी वजह से सड़कों पर इतना ट्रैफिक होता है तो यह लोगों को विनती है कि वह पब्लिक का ट्रांसफर ज्यादा यूज करें ताकि सड़कों पर जाम कम लगे पोलूशन कम हो नहीं तो फिर अपने दोस्तों के साथ मिलकर जो कार को जो है वह लोग पूरी कर सकते हैं तो यह सब छोटी छोटी बातें ट्रैफिक को कंट्रोल किया जा सकता है

bengaluru ki sadkon par itna traffic hai isliye rehta hai ki jaise sab kuch jaankari ki bengaluru jo hai vaah india ka sabse bada ID hamein usme iti industries bahut zyada hai toh jiski wajah se wahan par kaam karne waale log bahut zyada hai toh kai baar bengal ko jo hai vaah silicon valley bola jata hai india ka jo ki it industry ka ghar hai toh wahi ek result jo hai bahut zyada ho gayi hai bengaluru mein aur ladke jo hai uska accident karne ke baad jagah nahi hai aur jo gadiyan bike se jo hai vaah aur zyada tez aa rahi hai aur jo metro ka kaam chal raha bengaluru mein vaah bahut dhire chal raha hai toh yah sab reason jo hai mila jula ke jo hai vaah traffic ka roop le leti hai last mein jiski wajah se sadkon par itna traffic hota hai toh yah logo ko vinati hai ki vaah public ka transfer zyada use kare taki sadkon par jam kam lage pollution kam ho nahi toh phir apne doston ke saath milkar jo car ko jo hai vaah log puri kar sakte hain toh yah sab choti choti batein traffic ko control kiya ja sakta hai

बेंगलुरू की सड़कों पर इतना ट्रैफिक है इसलिए रहता है कि जैसे सब कुछ जानकारी कि बेंगलुरु जो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी शहर का पौधा पॉपुलेशन नगर जाए जनसंख्या अगर अधिक बहुत अधिक हो जाए और जिसके कारण बहुत घर बनाने के लिए लोगों के लिए जगह नहीं होगी बारिश बहुत तेजी से बढ़ जाए तो फिर जाए रे कि वहां पर ट्रैफिक होना स्वाभाविक है इसी तरह बेंगलुरु में भी पिछले 500 साल में बहुत ज्यादा जो है पॉपुलेशन ग्रोथ हुई है जिसके वजह से सरकार के पास इतना टाइम नहीं है इतना क्या सोच भी नहीं है कि वह कुछ ढंग से मैनेज कर पाइपलाइन कर पाए और 12 बस इस पॉपुलेशन को मैसेज करता है दूसरा कारण मैं यह कहना चाहूंगा कि इंसान स्ट्रक्चरल डेवलपमेंट जो है बेंगलुरु में इस समय बहुत धीमी गति से चल रहा है इसके कारण शोएस सड़कों पर भी जो बहुत सारी जो दुकानें हैं और जब रोड एक्सिडेंट नहीं हो पा रहे हैं इसके लिए ट्रैफिक जाम बहुत ज्यादा है और और एक कारण यह भी होगा कि जब मैं दूसरा जो पब्लिक ट्रांसपोर्ट कनेक्टिविटी है आधार दंड रोडवेज वह बिल्कुल बहुत कम है वह बेंगलुरु में बेंगलुरु में जो है मेट्रो है मेट्रो पूरी तरह करेक्ट नहीं है पूरे शहर से तो सब लोग अगर कहीं निकल रहा हो तो मेट्रो पूरी जहां जा सकते हैं वहां तो मेट्रो से जाएंगे लेकिन हमें तो पूरी तरह कनेक्ट नहीं है तो साइड से बातें उन्हें रोडवेज देना ही पड़ेगा इसलिए रोडवेज बस ने बेंगलुरु की सड़कों पर कितना ट्रैफिक है

kisi bhi shehar ka paudha population nagar jaaye jansankhya agar adhik bahut adhik ho jaaye aur jiske karan bahut ghar banane ke liye logo ke liye jagah nahi hogi barish bahut teji se badh jaaye toh phir jaaye ray ki wahan par traffic hona swabhavik hai isi tarah bengaluru mein bhi pichle 500 saal mein bahut zyada jo hai population growth hui hai jiske wajah se sarkar ke paas itna time nahi hai itna kya soch bhi nahi hai ki vaah kuch dhang se manage kar pipeline kar paye aur 12 bus is population ko massage karta hai doosra karan main yah kehna chahunga ki insaan structural development jo hai bengaluru mein is samay bahut dheemi gati se chal raha hai iske karan shoes sadkon par bhi jo bahut saree jo dukanein hain aur jab road eksident nahi ho paa rahe hain iske liye traffic jam bahut zyada hai aur aur ek karan yah bhi hoga ki jab main doosra jo public transport connectivity hai aadhaar dand roadways vaah bilkul bahut kam hai vaah bengaluru mein bengaluru mein jo hai metro hai metro puri tarah correct nahi hai poore shehar se toh sab log agar kahin nikal raha ho toh metro puri jaha ja sakte hain wahan toh metro se jaenge lekin hamein toh puri tarah connect nahi hai toh side se batein unhe roadways dena hi padega isliye roadways bus ne bengaluru ki sadkon par kitna traffic hai

किसी भी शहर का पौधा पॉपुलेशन नगर जाए जनसंख्या अगर अधिक बहुत अधिक हो जाए और जिसके कारण बहुत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेंगलुरु एक मेट्रोपोलिटन शहर है और माना जाता है कि यह दुनिया में छठे नंबर पर आती है ट्रैफिक की समस्या को लेकर इस शासक का मुख्य कारण तो इस शहर की तीव्र और अनियोजित विकास है यह भी है कि बेंगलुरु का रोड इंफ्रास्ट्रक्चर बहुत ही खराब है बेंगलुरु बेंगलुरु में ट्राफिक का यह भी कारण हो सकता है है कि वहां की सड़कें बारिश की वजह से बहुत ही भर जाती है जिसके कारण से रोड का हाल हाल और बुरा हो जाता है वहां की सरकार भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट रोज को इतना महत्व नहीं देती है और रोज कई महीनों सालों तक बिगड़ा हुआ यह असमर्थ असमर्थ रहता है

bengaluru ek metropolitan shehar hai aur mana jata hai ki yah duniya mein chhathe number par aati hai traffic ki samasya ko lekar is shasak ka mukhya karan toh is shehar ki tivra aur aniyojit vikas hai yah bhi hai ki bengaluru ka road infrastructure bahut hi kharab hai bengaluru bengaluru mein traffic ka yah bhi karan ho sakta hai hai ki wahan ki sadaken barish ki wajah se bahut hi bhar jaati hai jiske karan se road ka haal haal aur bura ho jata hai wahan ki sarkar bhi public transport roj ko itna mahatva nahi deti hai aur roj kai mahinon salon tak bigda hua yah asamarth asamarth rehta hai

बेंगलुरु एक मेट्रोपोलिटन शहर है और माना जाता है कि यह दुनिया में छठे नंबर पर आती है ट्रैफि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

Farha Hussain

Community Developer at Vokal

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेंगलुरु के रोज पर इतनी ट्रैफिक इसलिए है क्योंकि वह सफल बेंगलुरु के रोज Viber नहीं है और दूसरी बात यह है कि आजकल लोग ज्यादातर अपने ऑन ट्रांसपोर्ट यूज़ करते हैं पब्लिक ट्रांसपोर्ट बिल्कुल यूज नहीं करते मैक्सिमम लोग यूज़ नहीं करते हैं और रहा आजकल हर जगह पर मेट्रो कंस्ट्रक्शन चल रहा है जिसके कारण ट्राफिक और भी बढ़ गया है

bengaluru ke roj par itni traffic isliye hai kyonki vaah safal bengaluru ke roj Viber nahi hai aur dusri baat yah hai ki aajkal log jyadatar apne on transport use karte hain public transport bilkul use nahi karte maximum log use nahi karte hain aur raha aajkal har jagah par metro construction chal raha hai jiske karan traffic aur bhi badh gaya hai

बेंगलुरु के रोज पर इतनी ट्रैफिक इसलिए है क्योंकि वह सफल बेंगलुरु के रोज Viber नहीं है और द

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  40
WhatsApp_icon
user

Bari khan

Practicing journalist

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भीगी भीगी सी वजह है दरअसल लव ब्रेकअप पहली बात तो यह कि जो बैंगलोर के सारे रोड में बहुत ज्यादा नहर में बहुत ज्यादा सक्रिय और दूसरी वजह यह है कि जैसा कि बाकी मेट्रोपोलिटन सिटीज होते हैं जो मेट्रो सिटीज है तो हकीकत बात है कि आप का ट्राफिक ज्यादा हो नहीं है क्योंकि सब्सिडी नहीं बाहर जाकर रहने वाले लोग जो की वर्क इन का फाइनल रहता है ऑफिस बगैरा जाने वाले लोग सारे लोग नहीं रहते हैं और उसके बाद एक गलत बात यह है कि लोगों का थोड़ा सा सोच भी इसमें पर कर जाती है लोग आज कल इतने ज्यादा जागरुक नहीं है बेंगलुरु के अंदर कि वह अलग कुलिंग करता है देश को स्वच्छ भारत में सीमेंट 2012 में ज्यादा कोई है एडवर्टाइजमेंट जयपुर वेडिंग किसी तरह का कोई चैंपियन नहीं चला रही है कि लोगों को जागरुक किया जाए कि कार्स फुल कर सकते हैं बाइक स्कूल्स कर सकते हैं तो यह सारी चीजें थोड़ा सा और बंद में जो प्लानिंग की गई है इस तरह से अभी मेट्रो सिटी उसके लिए जो भी रोड से वह अंडर कंस्ट्रक्शन है और उसकी वजह से भी अंडर कंस्ट्रक्शन की वजह से पीछे ट्रैफिक है कहां पर है उस प्रेम पर कविता

bheegi bheegi si wajah hai darasal love breakup pehli baat toh yah ki jo bangalore ke saare road mein bahut zyada nehar mein bahut zyada sakriy aur dusri wajah yah hai ki jaisa ki baki metropolitan cities hote hain jo metro cities hai toh haqiqat baat hai ki aap ka traffic zyada ho nahi hai kyonki subsidy nahi bahar jaakar rehne waale log jo ki work in ka final rehta hai office bagaira jaane waale log saare log nahi rehte hain aur uske baad ek galat baat yah hai ki logo ka thoda sa soch bhi isme par kar jaati hai log aaj kal itne zyada jagruk nahi hai bengaluru ke andar ki vaah alag kuling karta hai desh ko swachh bharat mein cement 2012 mein zyada koi hai advertisement jaipur wedding kisi tarah ka koi champion nahi chala rahi hai ki logo ko jagruk kiya jaaye ki cars full kar sakte hain bike schools kar sakte hain toh yah saree cheezen thoda sa aur band mein jo planning ki gayi hai is tarah se abhi metro city uske liye jo bhi road se vaah under construction hai aur uski wajah se bhi under construction ki wajah se peeche traffic hai kahaan par hai us prem par kavita

भीगी भीगी सी वजह है दरअसल लव ब्रेकअप पहली बात तो यह कि जो बैंगलोर के सारे रोड में बहुत ज्य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
bangal wali chhori kusumalu ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!