शक्ति और सत्ता में अंतर बताइये?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शक्ति और सत्ता में अंतर जानने के लिए आपको जानना होगा कि शक्ति क्या है जैसे पैसा धन दौलत यह एक शक्ति पानी एक शक्ति बिजली एक शक्ति और गैस जो सिलेंडरों में भरी जाती है वह शक्ति है इन सब शक्तिपुंज हूं को हमारे भारतवर्ष में या लोग जनकल्याण के लिए घर-घर पहुंचाने के लिए जो व्यवस्था प्रणाली काम आती है उस पर नानी को बनाने वाले जो लोग हैं जो शक्ति को ग्रहण कर इसे संसार के कल्याण में लगाते हैं वह पता है और सदा अर्थात सत्ता का भाव ऐसे लोगों में क्योंकि यह काम एक आकर का नहीं होता ऐसे लोग बहुत सारे लोग मिलकर इस शक्ति को ग्रहण कर जगत का कल्याण कर सकते हैं जब यह शक्ति उन लोगों के पास नहीं जाते यह लोग उसे शक्ति को ग्रहण करते हैं साधारण से रूप में एक नदी शक्ति यूपी एक नदी बह रही है आसपास के गांवों के खेतों के से खत्म हो रहे हैं लोग प्यार से मर रहे हैं और कुछ लोगों ने अपने कार्य प्रणाली बनाई और उस पानी के भेद को थोड़ा रोका और उस प्रणाली को किसी भी प्रकार हमारे घर घर तक पहुंचाया गया ट्यूबल समर्सिबल किसी भी तरह और यह खेतों की सिंचाई की गई उसे शक्ति को प्रयोग में लाया गया उस शक्ति को प्रयोग में लाने के लिए जो प्रणाली बनाई गई और प्रणाली के अधिक जो लोग हैं जो समूचे रूप से उस प्रणाली में सक्षम है उस कार्य करने के लिए एक सत्ताधारी हैं एक सत्ताधारी हैं

shakti aur satta me antar jaanne ke liye aapko janana hoga ki shakti kya hai jaise paisa dhan daulat yah ek shakti paani ek shakti bijli ek shakti aur gas jo silendaron me bhari jaati hai vaah shakti hai in sab shaktipunj hoon ko hamare bharatvarsh me ya log jankalyan ke liye ghar ghar pahunchane ke liye jo vyavastha pranali kaam aati hai us par naani ko banane waale jo log hain jo shakti ko grahan kar ise sansar ke kalyan me lagate hain vaah pata hai aur sada arthat satta ka bhav aise logo me kyonki yah kaam ek aakar ka nahi hota aise log bahut saare log milkar is shakti ko grahan kar jagat ka kalyan kar sakte hain jab yah shakti un logo ke paas nahi jaate yah log use shakti ko grahan karte hain sadhaaran se roop me ek nadi shakti up ek nadi wah rahi hai aaspass ke gaon ke kheton ke se khatam ho rahe hain log pyar se mar rahe hain aur kuch logo ne apne karya pranali banai aur us paani ke bhed ko thoda roka aur us pranali ko kisi bhi prakar hamare ghar ghar tak pahunchaya gaya tyubal samarsibal kisi bhi tarah aur yah kheton ki sinchai ki gayi use shakti ko prayog me laya gaya us shakti ko prayog me lane ke liye jo pranali banai gayi aur pranali ke adhik jo log hain jo samuche roop se us pranali me saksham hai us karya karne ke liye ek sattadhari hain ek sattadhari hain

शक्ति और सत्ता में अंतर जानने के लिए आपको जानना होगा कि शक्ति क्या है जैसे पैसा धन दौलत यह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  396
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
शक्ति तथा सत्ता में क्या अंतर है ; सत्ता और शक्ति में अंतर ; satta aur shakti mein antar ; shakti or satta me antar ; शक्ति और सत्ता के बीच अंतर ; shakti aur satta me antar ; shakti aur satta mein antar ; शक्ति और सत्ता में अंतर ; shakti aur satta mein antar bataiye ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!