IPC सेक्शन 174 में क्या है?...


user

Gaurav Vyas

Advocate High Court

4:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो एजर्स वोकल में आपका स्वागत है आप ने प्रश्न किया है 174 आईपीसी में क्या है आइए जानते हैं 174 आईपीसी के बारे में 174 आईपीसी इंडियन पेनल कोड धारा 174 लोकसभा का आदेश ना मानकर गैरहाजिर देना है इस बारे में बात करती है जब कोई लोकसेवक कोई आदेश निकालता है कुछ संबंध के रूप में सूचना आदेश या उद्घोषणा के जैसे लोक सेवक के नाते निकालने के लिए अवैध रूप से सक्षम हो हम भी होना चाहिए उसे निकालने के लिए तो उसमें ही बटन होता है कि आप निश्चित समय पर और निश्चित स्थान पर स्वयं उपस्थित हो जाएगी या अपने अभिकर्ता के माध्यम से उपस्थित हो जाइए ठीक है यदि हम उस स्थान और समय पर हाजिर होने में कोई चुप करते हैं गलती करते हैं तभी धारा लागू होती है ठीक धारा 174 लोग स्थान में हाजिर हुए लोकसभा का दान कर देना अगर हमारे नहीं होते हैं उसके आदेश की अवज्ञा करते हैं तो उसने हमारे लिए दंड की व्यवस्था की गई है इसलिए किया गया है माली है सरकारी कर्मचारी वेलफेयर में काम करते हैं और इन पब्लिक इंटरेस्ट में काम करते हैं यदि आप उनका साथ नहीं देंगे आप उनके बुलाने पर नहीं जाएंगे तो फिर सरकारी काम आगे कैसे बढ़ेगा इसलिए लोगों को इस कार्य का पालन करवाने के लिए लोक सेवाओं के आदेश का पालन करवाने के लिए इस प्रकार के उप बंधुओं को आईपीसी में अपराध के तौर पर माना गया है ठीक यदि हम लोग सेवक के आदेश मानकर गैरहाजिर रहते हैं तो उसकी सजा है एक महीना 1 माह से जुर्माना जो ₹500 तक हो सकेगा इसमें एक कंडीशन और है यदि संबंध सूचना या आदेश किसी न्यायालय में न्यायालय के द्वारा निकाला गया है दूसरे व्यक्ति एक तो सरकारी कर्मचारी एग्जीक्यूटिव बॉडी की एक माली जी माली जाए थानेदार ने निकाला कोई आदेश तहसीलदार ने निकाला कोई आदेश एसडीएम महोदय ने कोई आदेश निकाला कलेक्टर ने कोई आदेश निकाला एक्स्ट्रा किस डिपार्टमेंट में किसी ने कोई आदेश निकाला आपके हाजिर होने के लिए क्या आप कुछ समय निकाला और आप ठीक होता है न्यायालय के द्वारा निकालना है अभी शायद उद्घोषणा निकालता है उपस्थित हुए अपने समक्ष उपस्थित होने के लिए हाजिर होने के लिए तो उस दशा में यदि आप उसका पालन नहीं करते हैं तो आप सादा कारवां जिसकी अवधि 6 मार्च तक ही हो सकेगी यह जुर्माने से जो ₹1000 तक का हो सकेगा यह दोनों से दंडित किया जाएगा फ्रेंड मान लिया जाए इसी कार्य के सिलसिले में पुलिस थाने का दरोगा आप को बुलाता है लिखित में आदेश देता है और आपको उस आदेश की प्राप्ति हो जाती है और फिर भी आपको शायद इसकी प्राप्ति के बाद दरोगा को असिस्ट करने के लिए उसके द्वारा पूछे जाने प्रश्न उसके उसके बुलाने पर आगरा थाने नहीं जाते हैं तो यह माना जाएगा कि आप ने धारा 174 के अंतर्गत अपराध कार्य कर दिया है और आपको सदा कारवा जिसकी अवधि 1 महीने क्योंकि दंडित किया जा सकता है तो फ्रेंड इस चैप्टर का नाम ही है इसमें आईपीसी में यह अध्याय 10 के नाम से जोड़ा गया चैप्टर है जोकि लोक सेवकों के विधि पूर्ण प्राधिकार के अपमान के विषय में बात करता है फ्रेंड्स हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट को अपने अभिमान के लिए स्वयं दंड देने की शक्ति है ठीक है लेकिन लोक सेवकों के अपमान के लिए उनको समदड़ी देने की शक्ति प्रदान नहीं की गई है ठीक है अगर लोक सेवकों को के आदेश की अवहेलना होती है तो उस विषय को कवर किया गया धारा 174 में ठीक है फ्रेंड से उम्मीद करता हूं कि आपको आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा अगर आपको यह जवाब पसंद आए तो प्लीज लाइक थैंक यू वेरी मच

hello azores vocal me aapka swaagat hai aap ne prashna kiya hai 174 ipc me kya hai aaiye jante hain 174 ipc ke bare me 174 ipc indian panel code dhara 174 lok sabha ka aadesh na maankar gairhajir dena hai is bare me baat karti hai jab koi loksevak koi aadesh nikalata hai kuch sambandh ke roop me soochna aadesh ya udghoshna ke jaise lok sevak ke naate nikalne ke liye awaidh roop se saksham ho hum bhi hona chahiye use nikalne ke liye toh usme hi button hota hai ki aap nishchit samay par aur nishchit sthan par swayam upasthit ho jayegi ya apne abhikarta ke madhyam se upasthit ho jaiye theek hai yadi hum us sthan aur samay par haazir hone me koi chup karte hain galti karte hain tabhi dhara laagu hoti hai theek dhara 174 log sthan me haazir hue lok sabha ka daan kar dena agar hamare nahi hote hain uske aadesh ki awagya karte hain toh usne hamare liye dand ki vyavastha ki gayi hai isliye kiya gaya hai maali hai sarkari karmchari welfare me kaam karte hain aur in public interest me kaam karte hain yadi aap unka saath nahi denge aap unke bulane par nahi jaenge toh phir sarkari kaam aage kaise badhega isliye logo ko is karya ka palan karwane ke liye lok sewaon ke aadesh ka palan karwane ke liye is prakar ke up bandhuon ko ipc me apradh ke taur par mana gaya hai theek yadi hum log sevak ke aadesh maankar gairhajir rehte hain toh uski saza hai ek mahina 1 mah se jurmana jo Rs tak ho sakega isme ek condition aur hai yadi sambandh soochna ya aadesh kisi nyayalaya me nyayalaya ke dwara nikaala gaya hai dusre vyakti ek toh sarkari karmchari executive body ki ek maali ji maali jaaye thanedaar ne nikaala koi aadesh tahseeldar ne nikaala koi aadesh sdm mahoday ne koi aadesh nikaala collector ne koi aadesh nikaala extra kis department me kisi ne koi aadesh nikaala aapke haazir hone ke liye kya aap kuch samay nikaala aur aap theek hota hai nyayalaya ke dwara nikalna hai abhi shayad udghoshna nikalata hai upasthit hue apne samaksh upasthit hone ke liye haazir hone ke liye toh us dasha me yadi aap uska palan nahi karte hain toh aap saada caravan jiski awadhi 6 march tak hi ho sakegi yah jurmane se jo Rs tak ka ho sakega yah dono se dandit kiya jaega friend maan liya jaaye isi karya ke silsile me police thane ka daroga aap ko bulata hai likhit me aadesh deta hai aur aapko us aadesh ki prapti ho jaati hai aur phir bhi aapko shayad iski prapti ke baad daroga ko assist karne ke liye uske dwara pooche jaane prashna uske uske bulane par agra thane nahi jaate hain toh yah mana jaega ki aap ne dhara 174 ke antargat apradh karya kar diya hai aur aapko sada karva jiski awadhi 1 mahine kyonki dandit kiya ja sakta hai toh friend is chapter ka naam hi hai isme ipc me yah adhyay 10 ke naam se joda gaya chapter hai joki lok sevakon ke vidhi purn pradhikaar ke apman ke vishay me baat karta hai friends high court aur supreme court ko apne abhimaan ke liye swayam dand dene ki shakti hai theek hai lekin lok sevakon ke apman ke liye unko samdari dene ki shakti pradan nahi ki gayi hai theek hai agar lok sevakon ko ke aadesh ki avhelna hoti hai toh us vishay ko cover kiya gaya dhara 174 me theek hai friend se ummid karta hoon ki aapko aapke sawaal ka jawab mil gaya hoga agar aapko yah jawab pasand aaye toh please like thank you very match

हेलो एजर्स वोकल में आपका स्वागत है आप ने प्रश्न किया है 174 आईपीसी में क्या है आइए जानते ह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  191
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!