क्या आप एक चीज़ बता सकते हैं जो लोग केवल भारत में करते हैं?...


user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं समझता हूं कि भारत में हम जो नमस्कार करते हैं या नमस्ते कहते हैं प्रणाम करते हैं यह जो तीन चार शब्द है हमारे यहां पर वह अलग अलग डिग्री की जो रिस्पेक्ट देने के दो तरीके हैं वह मैं समझता हूं कि भारत के अंदर अनोखे हैं जैसे कि मालिया हम किसी अपने बड़े से मिलते हैं तो हम उस को प्रणाम कहते हैं अगर हम किसी अपने से थोड़ा सा सीनियर लोगों से मिलते हैं तुमको हम नमस्कार कहते हैं अपने बराबर या जो हमारे फ्रेंड भी लोग होते हैं उनसे मिलते हैं तुम को नमस्ते करते हैं और हम हाथ जोड़ते हैं अगर हम अपने बराबर के लोग हैं और अगर हमसे बड़े लोग हैं तो हम उनके पैर छूते हैं और टाइप करके प्रणाम करते हैं जो एक रिस्पेक्ट करने का जो हमारा भेजा है और जो हम एक दूसरे से इंटरव्यू करते हैं नमस्ते प्रणाम करके यह मेरे ख्याल से भारत में अनोखा है और मैं नहीं समझता कि और किसी देश में यह पैर छूने की परंपरा यहां जोडने की परंपरा रिस्पेक्ट के हिसाब से वेरी करती हैं

main samajhata hoon ki bharat mein hum jo namaskar karte hain ya namaste kehte hain pranam karte hain yah jo teen char shabd hai hamare yahan par vaah alag alag degree ki jo respect dene ke do tarike hain vaah main samajhata hoon ki bharat ke andar anokhe hain jaise ki maliya hum kisi apne bade se milte hain toh hum us ko pranam kehte hain agar hum kisi apne se thoda sa senior logo se milte hain tumko hum namaskar kehte hain apne barabar ya jo hamare friend bhi log hote hain unse milte hain tum ko namaste karte hain aur hum hath jodte hain agar hum apne barabar ke log hain aur agar humse bade log hain toh hum unke pair chhute hain aur type karke pranam karte hain jo ek respect karne ka jo hamara bheja hai aur jo hum ek dusre se interview karte hain namaste pranam karke yah mere khayal se bharat mein anokha hai aur main nahi samajhata ki aur kisi desh mein yah pair chune ki parampara yahan jodne ki parampara respect ke hisab se very karti hain

मैं समझता हूं कि भारत में हम जो नमस्कार करते हैं या नमस्ते कहते हैं प्रणाम करते हैं यह जो

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  945
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Harish Agarwal

Chartered Accountant

0:05

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

माता पिता के पैर पर सिर्फ भारत में करते हैं

mata pita ke pair par sirf bharat mein karte hain

माता पिता के पैर पर सिर्फ भारत में करते हैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  21
WhatsApp_icon
user

Prakhar Srivastava

IAS Aspirant

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत के अलावा लगभग सभी देशों में यूरोप के खासदार से जितने भी क्रिश्चियन और इस्लामिक कंट्रीज हैं उन सब में जो अभिवादन का तरीका है उनकी संस्कृति है वह बिल्कुल हमारे यहां से अलग है वह हैंडसेट करते हैं एक दूसरे से हाथ मिलाते हैं मिलने पर चाहे वह रोज रोज मिले चाहे वह सालों बाद मिले और ज्यादा ज्यादा वह एक दूसरे को हक कर लेते हैं गले मिल लेते हो लेकिन हमारे यहां आज भी यह संस्कृति बची हुई है कि जो छोटे लोग होते हैं बड़े लोगों के माता पिता की अपने शिक्षकों के टीचर्स के प्रिया साधु संतों से मिलने पर उनके चरण स्पर्श करते हैं पैर छूते हैं तो यह संस्कृति हमारे यहां आज भी बची हुई है और जो कि मैं मानता हूं कि दुनिया में सबसे अलग है दुनिया में आपने और कहीं भी किसी भी देश में लोगों को पैर रुके हुए नहीं देखा होगा तो आइटम की यही है जो सिर्फ भारत में होता है और कहीं नहीं होता उनकी

dekhiye bharat ke alava lagbhag sabhi deshon mein europe ke khasdar se jitne bhi Christian aur islamic countries hain un sab mein jo abhivadan ka tarika hai unki sanskriti hai vaah bilkul hamare yahan se alag hai vaah haindaset karte hain ek dusre se hath milaate hain milne par chahen vaah roj roj mile chahen vaah salon baad mile aur zyada zyada vaah ek dusre ko haq kar lete hain gale mil lete ho lekin hamare yahan aaj bhi yah sanskriti bachi hui hai ki jo chote log hote hain bade logo ke mata pita ki apne shikshakon ke teachers ke priya sadhu santo se milne par unke charan sparsh karte hain pair chhute hain toh yah sanskriti hamare yahan aaj bhi bachi hui hai aur jo ki main manata hoon ki duniya mein sabse alag hai duniya mein aapne aur kahin bhi kisi bhi desh mein logo ko pair ruke hue nahi dekha hoga toh item ki yahi hai jo sirf bharat mein hota hai aur kahin nahi hota unki

देखिए भारत के अलावा लगभग सभी देशों में यूरोप के खासदार से जितने भी क्रिश्चियन और इस्लामिक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  280
WhatsApp_icon
user

Priyank Chauhan

Jack of all trades

0:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जो भारत में ही होती हैं या फिर जहां भारतीय लोग ज्यादा नंबर में रहते हैं वही देखने को मिलती हैं इनमें चीजों में ध्यान में आ रही है वह यह है कि जो भारत में झूठा खाने के जुड़े होने का योग बन सकते हैं वह बहुत सारे यूरोपियन और अमेरिका जैसे देशों में नहीं होता है हम यह मानते हैं कि जैसे खाने में अगर किसी ने पहले चख लिया है तू झूठा हो गया उसका एक दूसरे लोग बहुत सारे मना कर देंगे खाने में ऐसा देश में बहुत जगह नहीं होता है और इससे रिलेटेड एक यह है कि जैसे हम पानी पीते हैं तो हम मुंह लगाने की जगह है वह जो ऊपर से पानी पीते हैं बोतल पकड़ वह भी एकदम भारत देश में एकदम नई चीज है बहुत सारे लोग मतलब अगर 10 लोग हैं एक दूसरे को नहीं जानते हैं फिर भी वह एक दूसरे का मुंह लगा हुआ बहुत दिन पर पानी पी सकते हैं तो यह काफी ज्यादा एक बार देती है

aisi bahut saree cheezen hain jo bharat mein hi hoti hain ya phir jaha bharatiya log zyada number mein rehte hain wahi dekhne ko milti hain inme chijon mein dhyan mein aa rahi hai vaah yah hai ki jo bharat mein jhutha khane ke jude hone ka yog ban sakte hain vaah bahut saare european aur america jaise deshon mein nahi hota hai hum yah maante hain ki jaise khane mein agar kisi ne pehle chakh liya hai tu jhutha ho gaya uska ek dusre log bahut saare mana kar denge khane mein aisa desh mein bahut jagah nahi hota hai aur isse related ek yah hai ki jaise hum paani peete hain toh hum mooh lagane ki jagah hai vaah jo upar se paani peete hain bottle pakad vaah bhi ekdam bharat desh mein ekdam nayi cheez hai bahut saare log matlab agar 10 log hain ek dusre ko nahi jante hain phir bhi vaah ek dusre ka mooh laga hua bahut din par paani p sakte hain toh yah kaafi zyada ek baar deti hai

ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जो भारत में ही होती हैं या फिर जहां भारतीय लोग ज्यादा नंबर में रहत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गांधी जी पर आपका क्वेश्चन मैंने जिस तरह से समझ लिया है तो उस पर कर देना चाहती हूं जो मेरे हिसाब से बहुत सुंदर लगा रहे हो सकती है की बाहरी देशों में ऐसी कोई पता नहीं भेजी थी और जो हम बाकी बाहर देखो मैं टॉयलेट में कमोडिटी फेस के लिए मोस्ट ऑफ द जाता है तुम मिल सकती है

gandhi ji par aapka question maine jis tarah se samajh liya hai toh us par kar dena chahti hoon jo mere hisab se bahut sundar laga rahe ho sakti hai ki bahri deshon mein aisi koi pata nahi bheji thi aur jo hum baki bahar dekho main toilet mein commodity face ke liye most of the jata hai tum mil sakti hai

गांधी जी पर आपका क्वेश्चन मैंने जिस तरह से समझ लिया है तो उस पर कर देना चाहती हूं जो मेरे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  191
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो कई सारे चीज है जो भारतीय लोग ही ज्यादा करते हैं और सारी दुनिया के लोगों से तो फर्स्ट पर मैं तो बोलूंगा बार्गेनिंग मैं तो बोलूंगी बार्गेनिंग क्योंकि जितना बार्बी एन इंडियन कर सकते हैं वह आई डोंट थिंक से कोई और कर सकते है और जितना ज्यादा करते हैं इंडियन क्लॉक वह सब इधर है फिर यह है कि अब हमारा वैरायटी ऑफ फूड भी बहुत ज्यादा है इस कंपनी आउटसाइड इंडिया कब देखो तो इंटरनेशनल से कम पर कर दो उनका अलग अलग कोई रहता है वेस्टर्न कंट्री हमारे इंडियन कुछ दिन में ही स्टेट में अलग-अलग इतने वेराइटी रहते हो जाता है हमारे पास हर जगह का जुगाड़ रहता है अभी कोई प्रॉब्लम है या कुछ भी है तो कुछ ना कुछ जुगाड़ आई जाता है फिर यह भी है कि हमारे तैरता सुपर स्टेशन दादा रहते इंडियन समय और सारे लोगों से कंपेयर करो तो फिर काली बिल्ली का रास्ता काटना तो उसमें एक बुराई रहता है पीछे से कोई टू प्ले तो वैसे भी वह रहता है वह सब हो जाता है फिर है कि स्पाइसी फूड खाना जितना हम लोग पैसे कोर्ट करते हो और कोई नहीं खाता है फिर गली क्रिकेट खेलना

toh kai saare cheez hai jo bharatiya log hi zyada karte hai aur saree duniya ke logo se toh first par main toh boloonga bargaining main toh bolungi bargaining kyonki jitna barbie N indian kar sakte hai vaah I dont think se koi aur kar sakte hai aur jitna zyada karte hai indian clock vaah sab idhar hai phir yah hai ki ab hamara Variety of food bhi bahut zyada hai is company outside india kab dekho toh international se kam par kar do unka alag alag koi rehta hai western country hamare indian kuch din mein hi state mein alag alag itne veraiti rehte ho jata hai hamare paas har jagah ka jugaad rehta hai abhi koi problem hai ya kuch bhi hai toh kuch na kuch jugaad I jata hai phir yah bhi hai ki hamare tairata super station dada rehte indian samay aur saare logo se compare karo toh phir kali billi ka rasta kaatna toh usme ek burayi rehta hai peeche se koi to play toh waise bhi vaah rehta hai vaah sab ho jata hai phir hai ki spicy food khana jitna hum log paise court karte ho aur koi nahi khaata hai phir gali cricket khelna

तो कई सारे चीज है जो भारतीय लोग ही ज्यादा करते हैं और सारी दुनिया के लोगों से तो फर्स्ट पर

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  246
WhatsApp_icon
user

trusha.516

Passionate writer and reader.

0:00
Play

"भारत मानव जाति का पालना भी और मानव भाषण का जन्मस्थान है। इतिहास की मां, किंवदंती की दादी और परंपरा की महान दादी है। मनुष्य के इतिहास में हमारी सबसे मूल्यवान और सबसे रचनात्मक सामग्री केवल भारत में ही है। " -यह मार्क ट्वेन द्वारा दी गई खूबसूरत रेखाएं थीं। जब भारतीय संदर्भ में क्रिकेट के खेल की बात आती है, तो हमारे सामने आने वाले कई रोचक या बल्कि पागल तथ्य होते हैं। यह भारत में टेलीविजन पर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला खेल है। लाइव क्रिकेट गेम देखने के लिए स्टेडियम प्रशंसकों के साथ पैक किए जाते हैं। आईपीएल मैचों में क्रिकेट प्रशंसकों पागल हो जाते हैं, जहां न केवल भारतीय खिलाड़ी खेल खेल रहे हैं बल्कि अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को नीलामी में अत्यधिक कीमतों पर खरीदा जाता है। जब भी पाकिस्तान के साथ मैच होता है, यह देश की प्रतिष्ठा का विषय बन जाता है यहां तक ​​कि अजनबी भी दोस्त बन जाते हैं। कई भारतीयों के लिए कुछ क्रिकेटरों भगवान की तरह हैं - जैसे सचिन तेंदुलकर। ऐसा सिर्फ लोग भारत में करते हैं।

bharat manav jati ka paalna bhi aur manav bhashan ka janmsthan hai itihas ki maa kinvadanti ki dadi aur parampara ki mahaan dadi hai manushya ke itihas mein hamari sabse mulyavan aur sabse rachnatmak samagri keval bharat mein hi hai yah mark twain dwara di gayi khoobsurat rekhayen thi jab bharatiya sandarbh mein cricket ke khel ki baat aati hai toh hamare saamne aane waale kai rochak ya balki Pagal tathya hote hain yah bharat mein television par sabse zyada dekha jaane vala khel hai live cricket game dekhne ke liye stadium prashansako ke saath pack kiye jaate hain IPL matchon mein cricket prashansako Pagal ho jaate hain jaha na keval bharatiya khiladi khel khel rahe hain balki antararashtriya khiladiyon ko nilaami mein atyadhik kimton par kharida jata hai jab bhi pakistan ke saath match hota hai yah desh ki prathishtha ka vishay ban jata hai yahan tak ​ki ajnabee bhi dost ban jaate hain kai bharatiyon ke liye kuch cricketero bhagwan ki tarah hain jaise sachin tendulkar aisa sirf log bharat mein karte hain

"भारत मानव जाति का पालना भी और मानव भाषण का जन्मस्थान है। इतिहास की मां, किंवदंती की दादी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गिरधारी जी बहुत सारी चीजें हैं जो सिर्फ भारतीय लोग करते हैं और कुछ तो बहुत इंटरेस्टिंग और पानी भी है जिससे कि देखिए हमारे यहां चौराहे पर से लोग नहीं जाते उससे बचकर निकलते हैं जो कि सिर्फ चार रास्तों का कष्ट होता है बच्चे लोग उससे बचकर निकलते कि कहीं भूत प्रेत नाम घुस जाए दूसरा शाम को कोई भी झाड़ू नहीं लगा था कि लगता है कि लक्ष्मी भाग जाएगी अगर शाम को गंदा हुआ हो तो तो आपको वेट करना पड़ेगा अगले दिन के लिए झाड़ू लगाने के लिए यहां लोग बैठे बैठे पैर नहीं ला सकते क्योंकि उसके घर में झगड़ा हो जाता है कोई भी नई चीज खरीदेंगे हम कोई गाड़ी है कुछ भी तो जब तो उसका प्लास्टिक का कवर खुद ने तो जाएगा कोई भी इंडियन कभी भी नहीं उतारते सब्जी लेने के टाइम पर एक्स्ट्रा मेथी और धनिया लेना तो हमारी ऑफ बर्थ साइट है वह तो हम जरूर करते हैं और नगर तो हमने उसको बहुत जल्दी लगती है तो नजर के लिए हमारी मां को काला काजल जरुर हमारे कान के पीछे लगा देती है ऐसी चीज है जो इंडियन करते हैं और बाहर कहीं नहीं होता हमारी बिल्डिंग को रिलीज हुई शादियां हमारी कंट्री में कितने ग्राउंड लेवल पर होती हैं हजारों फंक्शन सोते चोखी अच्छी बात भी है शादियों में सेलिब्रेशंस तो होना ही चाहिए तो ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जो सिर्फ इंडिया में हो सकती है और कहीं पर भी नहीं हो सकती

girdhari ji bahut saree cheezen hain jo sirf bharatiya log karte hain aur kuch toh bahut interesting aur paani bhi hai jisse ki dekhiye hamare yahan chauraahe par se log nahi jaate usse bachakar nikalte hain jo ki sirf char raston ka kasht hota hai bacche log usse bachakar nikalte ki kahin bhoot pret naam ghus jaaye doosra shaam ko koi bhi jhadu nahi laga tha ki lagta hai ki laxmi bhag jayegi agar shaam ko ganda hua ho toh toh aapko wait karna padega agle din ke liye jhadu lagane ke liye yahan log baithe baithe pair nahi la sakte kyonki uske ghar mein jhadna ho jata hai koi bhi nayi cheez khareedenge hum koi gaadi hai kuch bhi toh jab toh uska plastic ka cover khud ne toh jaega koi bhi indian kabhi bhi nahi utarate sabzi lene ke time par extra methi aur dhania lena toh hamari of birth site hai vaah toh hum zaroor karte hain aur nagar toh humne usko bahut jaldi lagti hai toh nazar ke liye hamari maa ko kaala kajal zaroor hamare kaan ke peeche laga deti hai aisi cheez hai jo indian karte hain aur bahar kahin nahi hota hamari building ko release hui shadiyan hamari country mein kitne ground level par hoti hain hazaro function sote chokhi achi baat bhi hai shadiyo mein selibreshans toh hona hi chahiye toh aisi bahut saree cheezen hain jo sirf india mein ho sakti hai aur kahin par bhi nahi ho sakti

गिरधारी जी बहुत सारी चीजें हैं जो सिर्फ भारतीय लोग करते हैं और कुछ तो बहुत इंटरेस्टिंग और

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  227
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने सवाल किया है कि भारत में केवल लोग करते हैं और देशों में नहीं करते इसका सीधा सीधा जवाब मैं दे सकता हूं देखिए भारत एक ऐसा देश है जहां तमाम धर्मों के लोग तमाम जातियों के लोग रहते हैं यदि आप और देशों से इसकी तुलना करें इस पॉइंट की तो आपकी समझ पाएंगे चाहे कोई भी देश हो चाहे अमरीका हो चाय पीने स्विजरलैंड हो इंडोनेशिया में पाकिस्तान और एक दे वहां मैक्सिमम मेजोरिटी जो होती है वह किसी एक धर्म एक समुदाय की होती है यहां पर 50 सिख धर्म के 50 में जातियों के लोग रहते हैं मिल बांट के रहते हैं एक साथ रहते हैं आस पड़ोस में रहते हैं वहां पर जो कपड़ो का चलन है वह एक ही प्रकार का गाना रहता है यहां पर आप हर राज्य में चले जाइए आपको अलग तरीके के वस्त्र रहेंगे कुल मिलाकर कहने का मतलब है इंडिया में जो कल्चर है वह बहुत ही अच्छा है बहुत ही यूनिक है हर प्रकार के लोग रहते हैं हर प्रकार के सोच के लोग रहते हैं इसके अलावा यदि आप रिलेशनशिप की बात करें विदेशों में आमतौर पर क्या होता है मुख्य तौर पर लोग लिव इन रिलेशनशिप समय रहते हैं तलाक डाइवोर्स बहुत ही अहम बातें यह दिया वहां की ग्राउंड पोजीशन समझें और भारत में जो है सालों साल का रिश्ता निभाते हैं साथ में रहकर और जो एक डिवोशन होता है जो अपने बच्चों के प्रति प्यार होता है वह बहुत होता है दूसरी तरफ और देशों में बच्चों के प्रति उन्हें जिम्मेदारी अपने आप छोड़ दिया जाता है कि खुद करो तो कुल मिलाकर यह सब चीजें हैं लव एंड अफेक्शन यह काफी बहुत अच्छा है भारत देश के अंदर

aap ne sawaal kiya hai ki bharat mein keval log karte hain aur deshon mein nahi karte iska seedha seedha jawab main de sakta hoon dekhiye bharat ek aisa desh hai jaha tamaam dharmon ke log tamaam jaatiyo ke log rehte hain yadi aap aur deshon se iski tulna kare is point ki toh aapki samajh payenge chahen koi bhi desh ho chahen america ho chai peene Switzerland ho indonesia mein pakistan aur ek de wahan maximum majority jo hoti hai vaah kisi ek dharm ek samuday ki hoti hai yahan par 50 sikh dharm ke 50 mein jaatiyo ke log rehte hain mil baant ke rehte hain ek saath rehte hain aas pados mein rehte hain wahan par jo kapado ka chalan hai vaah ek hi prakar ka gaana rehta hai yahan par aap har rajya mein chale jaiye aapko alag tarike ke vastra rahenge kul milakar kehne ka matlab hai india mein jo culture hai vaah bahut hi accha hai bahut hi Unique hai har prakar ke log rehte hain har prakar ke soch ke log rehte hain iske alava yadi aap Relationship ki baat kare videshon mein aamtaur par kya hota hai mukhya taur par log live in Relationship samay rehte hain talak divorce bahut hi aham batein yah diya wahan ki ground position samajhe aur bharat mein jo hai salon saal ka rishta nibhate hain saath mein rahkar aur jo ek devotion hota hai jo apne baccho ke prati pyar hota hai vaah bahut hota hai dusri taraf aur deshon mein baccho ke prati unhe jimmedari apne aap chod diya jata hai ki khud karo toh kul milakar yah sab cheezen hain love and affection yah kaafi bahut accha hai bharat desh ke andar

आप ने सवाल किया है कि भारत में केवल लोग करते हैं और देशों में नहीं करते इसका सीधा सीधा जव

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी से कई सारी चीज है जो किसी का पक्ष में ही है या फिर उनके सकते हैं जो कि कि लोग केवल भारत में ही करते हैं अगर हम देखें तो किस प्रकार से हम लोग के छुपे फेस वॉश का इस्तेमाल करते हो तो कृपा कर खत्म नहीं होता तब तक हम उसका इस्तेमाल करते हैं अगर हम देखें तो किस प्रकार से हम लोग टू व्हीलर से हम बैठते हैं दिल की हम दो विलोम दो पहिए वाली गाड़ी पर भरोसा करते हैं लगभग चार या पांच लोग बैठते हैं शिव ही नहीं जिस प्रकार से हमारे में जो संस्कार की जो चीज है जो की बहुत ही है उसे कोई नहीं भ्रम बात करें तो कैसे भारत में जो है याद आ क्योंकि आ सकते हैं हिंदू रिलिजन में जो है हमारे पास करोड़ों में अरबों में जो है भगवान है अगर हम और एक चीज देखी तो किस प्रकार से ट्रेन जो है जो की ट्रेनें जो है ट्रेन में कितनी सारी जनता जो एक घूमती रहती है और फिर वही नहीं अगर हम देखें तो वॉलपेपर जो भारत की कोई भी टॉयलेट में नहीं देखे जाते आप इतने नहीं दे सत्या फिल्म के सभी जिस प्रकार से हमारा काम होता है जो कि नहीं निकाल की सीटों पर होते हैं जो कि हम कभी नहीं निकालते या फिर कोई भी नई चीज होती है वह सोफा इलेक्ट्रॉनिक हो हम उसको जो प्लास्टिक जो रहता हूं जहां मुझे हमेशा उस को बनाए रखते हैं फिर खा लो तब उसको वैसे ही रखते हैं या फिर देखा जाए तो किस प्रकार जानू हमेशा धनिया या फिर हम तीन असली मांगते हैं हमेशा फ्री में की भैया थोड़ा धनिया दे दो और एक चीज जो है अगर देखी जाए तो वह ठीक मारना होगा कि हम कैसे नॉर्थ पार्ट में जलन और दद पार्ट जय भारत का ऑफर कैसे लोग ठीक मारते हैं या फिर किस प्रकार का कोई भी बच्चा अच्छा दिख रहा होगा तो हम वह बच्चे के फूल हद गया माथे पर जो है हम काजल लगा देते हैं तो यह सब ऐसी चीज है जो कि केवल भारत के लोग ही करते केवल भारत में ही देखी जाती

vicky se kai saree cheez hai jo kisi ka paksh mein hi hai ya phir unke sakte hain jo ki ki log keval bharat mein hi karte hain agar hum dekhen toh kis prakar se hum log ke chhupe face wash ka istemal karte ho toh kripa kar khatam nahi hota tab tak hum uska istemal karte hain agar hum dekhen toh kis prakar se hum log to wheeler se hum baithate hain dil ki hum do vilom do pahiye wali gaadi par bharosa karte hain lagbhag char ya paanch log baithate hain shiv hi nahi jis prakar se hamare mein jo sanskar ki jo cheez hai jo ki bahut hi hai use koi nahi bharam baat kare toh kaise bharat mein jo hai yaad aa kyonki aa sakte hain hindu religion mein jo hai hamare paas karodo mein araboon mein jo hai bhagwan hai agar hum aur ek cheez dekhi toh kis prakar se train jo hai jo ki trainen jo hai train mein kitni saree janta jo ek ghoomti rehti hai aur phir wahi nahi agar hum dekhen toh wallpaper jo bharat ki koi bhi toilet mein nahi dekhe jaate aap itne nahi de satya film ke sabhi jis prakar se hamara kaam hota hai jo ki nahi nikaal ki seaton par hote hain jo ki hum kabhi nahi nikalate ya phir koi bhi nayi cheez hoti hai vaah Sofa electronic ho hum usko jo plastic jo rehta hoon jaha mujhe hamesha us ko banaye rakhte hain phir kha lo tab usko waise hi rakhte hain ya phir dekha jaaye toh kis prakar janu hamesha dhania ya phir hum teen asli mangate hain hamesha free mein ki bhaiya thoda dhania de do aur ek cheez jo hai agar dekhi jaaye toh vaah theek marna hoga ki hum kaise north part mein jalan aur dad part jai bharat ka offer kaise log theek marte hain ya phir kis prakar ka koi bhi baccha accha dikh raha hoga toh hum vaah bacche ke fool had gaya mathe par jo hai hum kajal laga dete hain toh yah sab aisi cheez hai jo ki keval bharat ke log hi karte keval bharat mein hi dekhi jaati

विकी से कई सारी चीज है जो किसी का पक्ष में ही है या फिर उनके सकते हैं जो कि कि लोग केवल भा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  205
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!