क्या वाकई में ई कॉमर्स या ऑनलाइन शॉपिंग ऑफलाइन या पारंपरिक भारतीय व्यापार को बर्बाद कर सकता है?...


user

Achal Kumar

Business & Industry

2:09
Play

Likes  20  Dislikes    views  657
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Saurabh Kumar

Biology student

1:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीके जी बिल्कुल यह बात आपने बिल्कुल सही कही है कि क्या यह भारतीय बाजार को बर्बाद कर सकती है खराब कर सकती है यह बिल्कुल सही बात है ऑनलाइन शॉपिंग है यह हमें कोई ज्यादा सस्ता पड़ता है ऐसी बात तो है नहीं मैं ऐसा मानता हूं कि ऑनलाइन शॉपिंग से सस्ता पड़ता है ऐसा बिल्कुल भी नहीं है अब बात नहीं कि लोग फिर भी जोर-शोर से ऑनलाइन शॉपिंग की ओर बढ़ रहे हैं गांव में भी अब गांवों में भी ऑनलाइन शॉपिंग होने लगी है इसका कारण सिर्फ और सिर्फ लोगों की लोग दिनों दिन का ही ले तो जा रहे काहे लोट जा रहे हैं वहां चलना नहीं चाहते हैं वह सोचते हैं कि मोबाइल पर 24 बटन दबाएं और सामान मेरे घर पर आ जाए तो देखी भाई ऐसा कर आपसे आप पर तो दीजिएगा आपको यह लगता है कि क्या हुआ ₹10 ज्यादा लिया लेकिन ₹10 को ज्यादा लिया लेकिन उसे ₹10 से आप सोचें कितने रुपए बर्बाद हो रहे हैं और वह सारे के सारे ₹10 उतना आदमी का उतना पब्लिक का कहां जा रहा है सारा विदेश में जा रहा है आप अमेजन के ले लीजिए सबसे कंपनी ऑनलाइन शॉपिंग के इंडिया में कहां की है अमेरिका की अमेरिका भेजने उसके बाद आप पूछेगा कि भाई डॉलर इतना महंगा क्यों हो रहा है इसके जिम्मेदार आप ऑनलाइन शॉपिंग करना आपको क्या जो है क्या आपके मार्केट में तारीख सामान्य उपलब्ध नहीं होती है आपकी काबिलियत का फायदा लोग उठा रहे हैं और यह तब तक उठाते रहेंगे जब तक आपका हिल बने हुए रहेंगे और यह बिल्कुल सही बात है कि ऑनलाइन शॉपिंग है वह भारतीय व्यापार को बिल्कुल ही बर्बाद करके छोड़ेगी ठीक है थैंक यू

pk ji bilkul yah baat aapne bilkul sahi kahi hai ki kya yah bharatiya bazaar ko barbad kar sakti hai kharab kar sakti hai yah bilkul sahi baat hai online shopping hai yah hamein koi zyada sasta padta hai aisi baat toh hai nahi main aisa manata hoon ki online shopping se sasta padta hai aisa bilkul bhi nahi hai ab baat nahi ki log phir bhi jor shor se online shopping ki aur badh rahe hain gaon mein bhi ab gaon mein bhi online shopping hone lagi hai iska karan sirf aur sirf logo ki log dino din ka hi le toh ja rahe kaahe lot ja rahe hain wahan chalna nahi chahte hain vaah sochte hain ki mobile par 24 button dabayen aur saamaan mere ghar par aa jaaye toh dekhi bhai aisa kar aapse aap par toh dijiyega aapko yah lagta hai ki kya hua Rs zyada liya lekin Rs ko zyada liya lekin use Rs se aap sochen kitne rupaye barbad ho rahe hain aur vaah saare ke saare Rs utana aadmi ka utana public ka kahaan ja raha hai saara videsh mein ja raha hai aap amazon ke le lijiye sabse company online shopping ke india mein kahaan ki hai america ki america bhejne uske baad aap puchhega ki bhai dollar itna mehnga kyon ho raha hai iske zimmedar aap online shopping karna aapko kya jo hai kya aapke market mein tarikh samanya uplabdh nahi hoti hai aapki kabiliyat ka fayda log utha rahe hain aur yah tab tak uthate rahenge jab tak aapka hil bane hue rahenge aur yah bilkul sahi baat hai ki online shopping hai vaah bharatiya vyapar ko bilkul hi barbad karke chodegi theek hai thank you

पीके जी बिल्कुल यह बात आपने बिल्कुल सही कही है कि क्या यह भारतीय बाजार को बर्बाद कर सकती ह

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  386
WhatsApp_icon
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल आजकल जो इ कॉमर्स या फिर ऑनलाइन शॉपिंग हो गई है वह पुराना जो बिजनेस है उसको जरूर परफेक्ट करे क्योंकि बहुत सारे ऐसे कपड़े आते हैं मार्केट में या फिर ऐसी चीज है आती है जिन पर कि जो है डिस्काउंट होता है तो उस कारण से जो है वह ऑनलाइन शॉपिंग के लोग ज्यादा पेपर करते हैं क्योंकि उसमें आने जाने का झंझट नहीं होता है घर बैठ कर ही आपके पास में पूरा आप जो भी चाहते हैं वह आ जाता है जो ऑनलाइन शॉपिंग ए वह नीचे तौर पर जो लोकल बिजनेस है उसको खा रही है

ji bilkul aajkal jo e commerce ya phir online shopping ho gayi hai vaah purana jo business hai usko zaroor perfect kare kyonki bahut saare aise kapde aate hain market mein ya phir aisi cheez hai aati hai jin par ki jo hai discount hota hai toh us karan se jo hai vaah online shopping ke log zyada paper karte hain kyonki usme aane jaane ka jhanjhat nahi hota hai ghar baith kar hi aapke paas mein pura aap jo bhi chahte hain vaah aa jata hai jo online shopping a vaah niche taur par jo local business hai usko kha rahi hai

जी बिल्कुल आजकल जो इ कॉमर्स या फिर ऑनलाइन शॉपिंग हो गई है वह पुराना जो बिजनेस है उसको जरूर

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  227
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!