क्या नेहरू और गांधी खा NDA न ने देश के अन्य स्वतंत्रता सेनानी ओर महान सपूतो को वो सम्मान नहीं देने दिया जिस सम्मान के वो योग्य थे?...


play
user

Saurabh Kumar

Biology student

1:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऋषि जलन की जो भावना होती है वह सबके अंदर होती है चाहे वह महापुरुषों या एक साथ आनंद गांव का आदमी हूं तो हो सकता है मैं यह कंफर्म नहीं कर सकता है कि नेहरू जी या गांधी परिवार के बीच में मन में भी यह जलन की भावना हो और वह दूसरे स्वतंत्रता सेनानी को आगे नहीं बढ़ने दिया हो सम्मान वह उपयोगी तमान किए कि नहीं होने दिया हो सकता है लेकिन कंफर्म नहीं कहा है कि उन्होंने ऐसा किया वह सम्मान नहीं देने दिया इसमें कौन सी बड़ी बात है या फिर आप हम क्या कर सकते हो उन्होंने जो किया सो किया देश को आजादी तो दिलाई हमें इस मुकाम पर आज जाकर वह खड़ा तो कर दिए कि हम इस बात पर विचार कर सकते हैं कि उन्हीं की देन है जिसकी वजह से हम आज यहां पर हूं कल पर बैठकर कि यह सारी बातें विमर्श कर रहे हैं तो प्लीज आप रिस्पेक्ट कीजिए उन लोगों की सवालिया प्रेषित विचार अपने मन में ना लाएं तो ज्यादा बेहतर ही होगा क्योंकि वही है जो कि हमें आज यह बोलने की आजादी दी है

rishi jalan ki jo bhavna hoti hai vaah sabke andar hoti hai chahen vaah mahapurushon ya ek saath anand gaon ka aadmi hoon toh ho sakta hai yah confirm nahi kar sakta hai ki nehru ji ya gandhi parivar ke beech mein man mein bhi yah jalan ki bhavna ho aur vaah dusre swatantrata senani ko aage nahi badhne diya ho sammaan vaah upyogi taman kiye ki nahi hone diya ho sakta hai lekin confirm nahi kaha hai ki unhone aisa kiya vaah sammaan nahi dene diya isme kaun si badi baat hai ya phir aap hum kya kar sakte ho unhone jo kiya so kiya desh ko azadi toh dilai hamein is mukam par aaj jaakar vaah khada toh kar diye ki hum is baat par vichar kar sakte hain ki unhi ki then hai jiski wajah se hum aaj yahan par hoon kal par baithkar ki yah saree batein vimarsh kar rahe hain toh please aap respect kijiye un logo ki savaliya preshit vichar apne man mein na laye toh zyada behtar hi hoga kyonki wahi hai jo ki hamein aaj yah bolne ki azadi di hai

ऋषि जलन की जो भावना होती है वह सबके अंदर होती है चाहे वह महापुरुषों या एक साथ आनंद गांव का

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  431
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!