क्या नेताओं के लिए ऑनलाइन इग्ज़ाम िनेशन का प्रधान नहीं हो सकता है?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यशवंत अकेली होना चाहिए मुझे यह देखकर के बड़ा अफसोस होता है कि जब एक चपरासी के लिए सेकेंडरी पास चाहिए एक एलडीसी के लिए सीनियर होना आवश्यक है जब देश को चलाते हैं उनके लिए उनके लिए एग्जाम होना बहुत आवश्यक एलइडी होना चाहिए क्योंकि और शिक्षित और अशिक्षित जो देता है वही देश की बर्बादी का कारण हो रहे झगड़े का कारण और इसके लिए विशेष तौर से एग्जामिनेशन का भी प्रबंध हमारे देश के विकास को जबरदस्ती चलता काली शायर हूं समझते हो बहुत कई बार तेल कितने हास्यास्पद जाते हैं दिल उस पार करके बड़ी हंसी आती है कि बताओ उनको क्या नॉलेज है देश की संस्कृति की जानकारी जानकारी नहीं है देश की उसके बारे में नहीं जानते यहां के लोगों के बारे में नहीं जानते और वे लोग भी खड़े होकर के देश के बारे में बोलते हैं तो मेरे सिद्धेश की हिस्ट्री के बारे में कल्चर के बारे में देश के लोगों के रहन सहन के बारे में खान पान के बारे में जानकारी नहीं है क्या नहीं नहीं है तो क्या देश को गति दे सकेंगे देश का विकास कर सकेगी देश को कहां किस स्तर पर पहुंचा देगी बल्कि मैं सूत्रों से निर्धारण के बयानों को सुनकर के अन्य लोग हंसते भी होंगे तो मैं इस बात का बहुत पक्षधर हूं कि निश्चित रूप से ही इनके दिया कॉलेज की शनिवार होने चाहिए और उनके लिए भी एबिलिटी का एग्जाम होना बहुत आवश्यक है वही देश को उन्नति के रास्ते पर दिया जा सकता है देश की उन्नति के लिए इनके एग्जाम ऑनलाइन हो या जिस प्रकार से यूनिवर्सिटी कराती है उस तरह से उनके लिए भी आवश्यक हो तो होना चाहिए

yashvant akeli hona chahiye mujhe yah dekhkar ke bada afasos hota hai ki jab ek chaprasi ke liye secondary paas chahiye ek el dee see ke liye senior hona aavashyak hai jab desh ko chalte hain unke liye unke liye exam hona bahut aavashyak LED hona chahiye kyonki aur shikshit aur ashikshit jo deta hai wahi desh ki barbadi ka karan ho rahe jhagde ka karan aur iske liye vishesh taur se examination ka bhi prabandh hamare desh ke vikas ko jabardasti chalta kali shayar hoon samajhte ho bahut kai baar tel kitne hasyaspad jaate hain dil us par karke badi hansi aati hai ki batao unko kya knowledge hai desh ki sanskriti ki jaankari jaankari nahi hai desh ki uske bare mein nahi jante yahan ke logo ke bare mein nahi jante aur ve log bhi khade hokar ke desh ke bare mein bolte hain toh mere siddhesh ki history ke bare mein culture ke bare mein desh ke logo ke rahan sahan ke bare mein khan pan ke bare mein jaankari nahi hai kya nahi nahi hai toh kya desh ko gati de sakenge desh ka vikas kar sakegi desh ko kahaan kis sthar par pohcha degi balki main sootron se nirdharan ke bayanon ko sunkar ke anya log hansate bhi honge toh main is baat ka bahut pakshadhar hoon ki nishchit roop se hi inke diya college ki shaniwaar hone chahiye aur unke liye bhi ability ka exam hona bahut aavashyak hai wahi desh ko unnati ke raste par diya ja sakta hai desh ki unnati ke liye inke exam online ho ya jis prakar se university karati hai us tarah se unke liye bhi aavashyak ho toh hona chahiye

यशवंत अकेली होना चाहिए मुझे यह देखकर के बड़ा अफसोस होता है कि जब एक चपरासी के लिए सेकेंडरी

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  191
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Vikas Singh

Political Analyst

0:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नेताओं के लिए ऑनलाइन एग्जाम का प्रावधान नहीं हो सकता है क्योंकि कोई भी इंसान नेता सिर्फ एग्जाम पास करने से नहीं होता है नेता बनने के लिए बहुत ही एक्सपीरियंस की जरूरत होती है जमीनी स्तर पर मेहनत करना पड़ता है दिन रात एक करना पड़ता है उसके बाद नेता बनते हैं

netaon ke liye online exam ka pravadhan nahi ho sakta hai kyonki koi bhi insaan neta sirf exam paas karne se nahi hota hai neta banne ke liye bahut hi experience ki zarurat hoti hai zameeni sthar par mehnat karna padta hai din raat ek karna padta hai uske baad neta bante hain

नेताओं के लिए ऑनलाइन एग्जाम का प्रावधान नहीं हो सकता है क्योंकि कोई भी इंसान नेता सिर्फ एग

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!