क्या भारत में बैलेट पेपर से चुनाव कराना चाहिए?...


play
user

Girish Billore Mukul

Government Officer

1:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बैलट पेपर के जरिए चुनाव कराना बहुत श्रम साध्य काम है आप क्योंकि इस प्रक्रिया का हिस्सा अगर नहीं है तो समझ नहीं पाएंगे बहुत सारी परेशानियां होती हैं सुरक्षित भी नहीं है बुलेट बैलेट पेपर पर हावी हो जाता है 8028 30 साल पहले हुए इलेक्शंस में और जब हमारे मीडिया में एक नया दौर आया था तब मुझे नलिनी सिंह का एक इंटरव्यू प्रोग्राम याद है जिसमें उन्होंने पर के जरिए बिहार में होने वाले चुनाव को उदाहरण बनाकर उस पर एक रिपोर्टिंग की थी वह बिल्कुल सटीक रिपोर्टिंग थी वैसा ही देखा भी जाता था ओ बलपूर्वक बैलट पेपर पर होने वाले मतदान को बाधित किया जाना बूथ कैपचरिंग करना अपने मन चाहा वो डालना यहां प्रजातांत्रिक विशेषता थी अब कम से कम ऐसा नहीं हो पाता मशीन अगर खराब हो गई है तो दूसरी बार इलेक्शन होना संभव है बैलेंस में तो बुलेट भी चलते थे और ब्लड भी करता था

ballot paper ke jariye chunav krana bahut shram saadhy kaam hai aap kyonki is prakriya ka hissa agar nahi hai toh samajh nahi payenge bahut saree pareshaniyan hoti hain surakshit bhi nahi hai bullet ballet paper par haavi ho jata hai 8028 30 saal pehle hue elections mein aur jab hamare media mein ek naya daur aaya tha tab mujhe nalini Singh ka ek interview program yaad hai jisme unhone par ke jariye bihar mein hone waale chunav ko udaharan banakar us par ek reporting ki thi vaah bilkul sateek reporting thi waisa hi dekha bhi jata tha o balapurvak ballot paper par hone waale matdan ko badhit kiya jana booth kaipacharing karna apne man chaha vo daalna yahan prajatantrik visheshata thi ab kam se kam aisa nahi ho pata machine agar kharaab ho gayi hai toh dusri baar election hona sambhav hai balance mein toh bullet bhi chalte the aur blood bhi karta tha

बैलट पेपर के जरिए चुनाव कराना बहुत श्रम साध्य काम है आप क्योंकि इस प्रक्रिया का हिस्सा अगर

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  232
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी बैलेट पेपर से चुनाव करवाना हिंदुस्तान के लिए तो सूटेबल नहीं है उसका रीजन यह की 125 करोड़ से ऊपर हमारी आबादी है और इतनी आबादी अगर बैलेट पेपर से चुनाव करवाएगी तो मैं बहुत सारा पेपर चाहिए होगा और उस पेपर को लाने के लिए हमें काफी एनवायरनमेंट को नुकसान पहुंचाना पड़ेगा और वैसे भी इतनी बड़ी आबादी है तो बैलेट पेपर से चुनाव कराने सूटेबल है ही नहीं है कि टाइम के अंदर से बहुत ज्यादा होगी और इंडिया में ऐसा बिल्कुल नहीं होता

vicky ballet paper se chunav karwana Hindustan ke liye toh suitable nahi hai uska reason yah ki 125 crore se upar hamari aabadi hai aur itni aabadi agar ballet paper se chunav karavaegi toh main bahut saara paper chahiye hoga aur us paper ko lane ke liye hamein kafi environment ko nuksan pahunchana padega aur waise bhi itni badi aabadi hai toh ballet paper se chunav karane suitable hai hi nahi hai ki time ke andar se bahut zyada hogi aur india mein aisa bilkul nahi hota

विकी बैलेट पेपर से चुनाव करवाना हिंदुस्तान के लिए तो सूटेबल नहीं है उसका रीजन यह की 125 कर

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में बैलेट पेपर से चुनाव कराने चाहिए बैलेट पेपर की जगह ईवीएम से करवाना सबसे बेहतर रहेगा इससे ज्यादा खर्च भी नहीं होगा क्योंकि बैलेट पेपर एक बार युद्ध निबंध 12 वर्ड यूज़ नहीं किया जा सकता और बैलेट पेपर पर गलत धब्बे भी लगवाए जा सकते हैं परंतु ईवीएम में नहीं हो सकता ऐसा इसलिए एटीएम का यूज़ करवाना चाहिए

bharat mein ballet paper se chunav karane chahiye ballet paper ki jagah evm se karwana sabse behtar rahega isse zyada kharch bhi nahi hoga kyonki ballet paper ek baar yudh nibandh 12 word use nahi kiya ja sakta aur ballet paper par galat dhabbe bhi lagvaye ja sakte hain parantu evm mein nahi ho sakta aisa isliye atm ka use karwana chahiye

भारत में बैलेट पेपर से चुनाव कराने चाहिए बैलेट पेपर की जगह ईवीएम से करवाना सबसे बेहतर रहेग

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Faiz

Software Tester at Cognizant Technology Solutions.

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दाता का पूछा क्या भारत में बैलेट पेपर की चुनाव करना चाहिए तो लेकिन मेरे हिसाब से इतनी जल्दी तो बैलेट पेपर से चुनाव नहीं होंगे क्योंकि इतनी जल्दी कोई भी आदमी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर भरोसा नहीं कर सकता ना ही इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का जो नतीजा होता है वो इतना प्रॉपर होता है

data ka poocha kya bharat mein ballet paper ki chunav karna chahiye toh lekin mere hisab se itni jaldi toh ballet paper se chunav nahi honge kyonki itni jaldi koi bhi aadmi electronic media par bharosa nahi kar sakta na hi electronic media ka jo natija hota hai vo itna proper hota hai

दाता का पूछा क्या भारत में बैलेट पेपर की चुनाव करना चाहिए तो लेकिन मेरे हिसाब से इतनी जल्द

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!