भारतीय राजनीति में मुख्या समस्या क्या है?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्रम मेरे हिसाब से पूछो चाहे इंडियन पॉलिटिक्स के बारे में कि भारतीय राजनीति मुख्य समस्या क्या है तू सबसे पहली बात तो मुझे तो लगता है कि आप भारत में कोई भी स्ट्रांग पॉलिटिकल पार्टी नहीं है पूरा डिटेल इन पॉलिटिकल सिस्टम का कोई भी सॉन्ग पोलिटिकल पार्टी ही नहीं है उसके बाद आपका मुझे लगता है कि कॉलेज में कि गांव में बहुत ज्यादा होती है बहुत बड़ा प्रॉब्लम क्रिएट मतलब गठबंधन की पार्टी हो जाती है तो ज्यादा प्रॉब्लम होती है क्या करना है क्या टेंशन है किसी को नहीं पता मेरे फैमिली फोटो को चलती है इन्हें अटेंड पॉलिसी इज नॉट बीन इन पॉलिटिक्स क्या होती है तड़क क्या होती है यह भी बहुत बड़ा इशू इन पॉलिटिकल सिस्टम में आपकी जो का कांटेक्ट

vikram mere hisab se pucho chahen indian politics ke bare mein ki bharatiya raajneeti mukhya samasya kya hai tu sabse pehli baat toh mujhe toh lagta hai ki aap bharat mein koi bhi strong political party nahi hai pura detail in political system ka koi bhi song political party hi nahi hai uske baad aapka mujhe lagta hai ki college mein ki gaon mein bahut zyada hoti hai bahut bada problem create matlab gathbandhan ki party ho jaati hai toh zyada problem hoti hai kya karna hai kya tension hai kisi ko nahi pata mere family photo ko chalti hai inhen attend policy is not bean in politics kya hoti hai tadak kya hoti hai yah bhi bahut bada issue in political system mein aapki jo ka Contact

विक्रम मेरे हिसाब से पूछो चाहे इंडियन पॉलिटिक्स के बारे में कि भारतीय राजनीति मुख्य समस्या

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  18
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Raj Shah

Aspiring engineer

0:22
Play

Likes  2  Dislikes    views  55
WhatsApp_icon
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरी समझ में भारतीय राजनीति की मुख्य समस्या खुद राजनीति ही है पहले कभी राजनीति मिशन हुआ करती थी जैसे यह देश को आजाद कराने का देश सेवा का लेकिन अब मिशन बदल गया है राजनीति व्यवसाय बन चुकी है पैसा कमाने का जरिया बन गया है राजनीतिक पार्टियों के सदस्य अपने निजी स्वार्थ के लिए कभी भी कोई भी पार्टी बदल लेते हैं अपने स्वास्थ्य को ज्यादा ब्याज देते हैं आजकल राजनीति में शिक्षित अशिक्षित लोग पैसों के बल पर आ रहे हैं और अधिक कमाने के मकसद से आ रही हैं वही राजनीतिक पार्टियां चुनावी राजनीति कर रही है जात पात की राजनीति धर्म की राजनीति जात पात पर आधारित पाटिया क्या करती है जाति की वजह अपना ही भला करती है मायावती की पार्टी को ही ले दलित राजनीति के नाम पर क्या किया है मायावती ने मुलायम सिंह समाजवाद के नाम पर यादव आज चला रहे हैं उत्तर प्रदेश में झारखंड मुक्ति मोर्चा को ले आदिवासियों का कहां भला हुआ ऐसे और भी बहुत सारी पार्टियां हैं जरा खोल कर देखेंगे तो बहुत कुछ मजा आएगा इसलिए राजनीति की मुख्य समस्या राजनीति की है

meri samajh mein bharatiya raajneeti ki mukhya samasya khud raajneeti hi hai pehle kabhi raajneeti mission hua karti thi jaise yah desh ko azad karane ka desh seva ka lekin ab mission badal gaya hai raajneeti vyavasaya ban chuki hai paisa kamane ka zariya ban gaya hai raajnitik partiyon ke sadasya apne niji swartha ke liye kabhi bhi koi bhi party badal lete hain apne swasthya ko zyada byaj dete hain aajkal raajneeti mein shikshit ashikshit log paison ke bal par aa rahe hain aur adhik kamane ke maksad se aa rahi hain wahi raajnitik partyian chunavi raajneeti kar rahi hai jaat pat ki raajneeti dharam ki raajneeti jaat pat par aadharit patiya kya karti hai jati ki wajah apna hi bhala karti hai mayawati ki party ko hi le dalit raajneeti ke naam par kya kiya hai mayawati ne mulayam Singh samajavad ke naam par yadav aaj chala rahe hain uttar pradesh mein jharkhand mukti morcha ko le adivasiyon ka kahaan bhala hua aise aur bhi bahut saree partyian hain zara khol kar dekhenge toh bahut kuch maza aayega isliye raajneeti ki mukhya samasya raajneeti ki hai

मेरी समझ में भारतीय राजनीति की मुख्य समस्या खुद राजनीति ही है पहले कभी राजनीति मिशन हुआ कर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

akashyadav

IIT Graduate 2014 batch

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन भारतीय राजनीति की मुख्य समस्या मुझे एक तो पारदर्शिता लगती है दूसरा भ्रष्टाचार और तीसरा सामान्य ज्ञान लगता है सामान्य ज्ञान इसलिए कि मुझे लगता नहीं कि हमारे राजनेताओं का सामान्य ज्ञान बचा है कि देश बेसिक मुद्दों के ऊपर कुछ नया बना सकें देखा जाए तो कांग्रेस और bjp दोनों ही इसमें = के भागीदार हैं हिंदू कट्टरवादी तक इधर बीजेपी अब लेकर जा रही है इंडिया को और पता नहीं क्या नाम की पॉलिसी जय गौ रक्षा शिवाजी का स्टैचू बनवाना 500 मिलियन का बुलेट ट्रेन लाना जबकि इंडिया में बेसिक नेशन स्टेट हेल्थ केयर एजुकेशन पोर्टल यह सब चीजें ईसटेड नहीं है तो यह तो यह दूसरा भ्रष्टाचार है भ्रष्टाचार दोनों पार्टियां निगम के कर रही हैं कोई भी किसी का भी कोई किसी से कम नहीं है प्रचार में अतिसार पारदर्शिता आम जनता को पारदर्शी होने के लिए कहते हैं डिमांड अर्जुन के बाद आप 5,000 10,000 से ज्यादा जमा नहीं करा सकते का इश्क में खुद नहीं पता कि कितना पानी कहां से आ रहा है

lekin bharatiya raajneeti ki mukhya samasya mujhe ek toh pardarshita lagti hai doosra bhrashtachar aur teesra samanya gyaan lagta hai samanya gyaan isliye ki mujhe lagta nahi ki hamare rajnetao ka samanya gyaan bacha hai ki desh basic muddon ke upar kuch naya bana sakein dekha jaaye toh congress aur bjp dono hi isme ke bhagidaar hain hindu kattaravadi tak idhar bjp ab lekar ja rahi hai india ko aur pata nahi kya naam ki policy jai gau raksha shivaji ka statue banwana 500 million ka bullet train lana jabki india mein basic nation state health care education portal yah sab cheezen isated nahi hai toh yah toh yah doosra bhrashtachar hai bhrashtachar dono partyian nigam ke kar rahi hain koi bhi kisi ka bhi koi kisi se kam nahi hai prachar mein atisar pardarshita aam janta ko pardarshi hone ke liye kehte hain demand arjun ke baad aap 5 000 10 000 se zyada jama nahi kara sakte ka ishq mein khud nahi pata ki kitna paani kahaan se aa raha hai

लेकिन भारतीय राजनीति की मुख्य समस्या मुझे एक तो पारदर्शिता लगती है दूसरा भ्रष्टाचार और तीस

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  62
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखे भारतीय राजनीति में आज के समय में केवल और केवल समस्या ही समस्या है यह बात मैं इस बात के सपोर्ट में अपना एक आंसर देता हूं आज के टाइम में कोई भी हुआ कोई भी हमेशा इंसान क्या यह सोचता है मैं राजनीति में जाऊंगा नहीं जाऊंगा क्योंकि राजनीति इतनी गंदी हो गई है कि उसमें कोई जाने का सपना भी नहीं देखता है यदि कोई देखता है सोचता है तो केवल और केवल इसलिए कि पैसा कमाने का ज़रिया मिलेगा राजनीति में आकर कोई इस उद्देश्य से नहीं जाता है कि राजनीति में जाने के बाद मैं कोई अपना डिसीजन ले पाऊंगा रूल ले पाऊंगा और कुछ जनता का भला कर पाऊंगा नहीं यही मुख्य समस्या है कि राजनीति का जो मुख्य उद्देश्य था वह गायब हो गया है वह देश का जनता की सेवा करना मदद करना ऐसे रूल्स रेगुलेशन बनाना इससे सबका भला हो लेकिन नहीं अब मुख्य उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ पैसा कमाना रह गया दूसरी चीज भारतीय राजनीति में सबसे मुख्य समस्या यह है हम लोग हम लोग खुद क्योंकि यह सब कुछ जानते बूझते भी एक कौन नेता कैसा है कौन कितना काम कर सकता है इसके बावजूद हम उन्हें गद्दी पर बैठ आते हैं वह कर के बाद में जब काम नहीं करते हैं तो हम पछताते हैं इसलिए 5 साल का समय मिलता है हमें रिलाईस करने के लिए कौन भला कर सकता है कौन बुरा वह सब हम भूख नहीं करते और आखरी के 1 महीने में चुनाव प्रचार में लोगों के वादों में बहकावे में आकर किसी गलत इंसान को वोट दे जाते हैं गद्दी पर बैठा देते हैं तो यही राजनीति की मुख्य समस्या है एक तो राजनीति बड़ी गंदी हो गई है और दूसरे जो जनता है वह बहकावे में आकर समझदारी से काम नहीं लेती हो गलत इंसान को सीट पर बैठा देती है

dikhen bharatiya raajneeti mein aaj ke samay mein keval aur keval samasya hi samasya hai yah baat main is baat ke support mein apna ek answer deta hoon aaj ke time mein koi bhi hua koi bhi hamesha insaan kya yah sochta hai main raajneeti mein jaunga nahi jaunga kyonki raajneeti itni gandi ho gayi hai ki usmein koi jaane ka sapna bhi nahi dekhta hai yadi koi dekhta hai sochta hai toh keval aur keval isliye ki paisa kamane ka zariya milega raajneeti mein aakar koi is uddeshya se nahi jata hai ki raajneeti mein jaane ke baad main koi apna decision le paunga rule le paunga aur kuch janta ka bhala kar paunga nahi yahi mukhya samasya hai ki raajneeti ka jo mukhya uddeshya tha vaah gayab ho gaya hai vaah desh ka janta ki seva karna madad karna aise rules regulation banana isse sabka bhala ho lekin nahi ab mukhya uddeshya sirf aur sirf paisa kamana reh gaya dusri cheez bharatiya raajneeti mein sabse mukhya samasya yah hai hum log hum log khud kyonki yah sab kuch jante bujhte bhi ek kaun neta kaisa hai kaun kitna kaam kar sakta hai iske bawajud hum unhe gaddi par baith aate hain vaah kar ke baad mein jab kaam nahi karte hain toh hum pachtate hain isliye 5 saal ka samay milta hai hamein rilais karne ke liye kaun bhala kar sakta hai kaun bura vaah sab hum bhukh nahi karte aur aakhri ke 1 mahine mein chunav prachar mein logon ke vaado mein bahakaave mein aakar kisi galat insaan ko vote de jaate hain gaddi par baitha dete hain toh yahi raajneeti ki mukhya samasya hai ek toh raajneeti badi gandi ho gayi hai aur dusre jo janta hai vaah bahakaave mein aakar samajhdari se kaam nahi leti ho galat insaan ko seat par baitha deti hai

दिखे भारतीय राजनीति में आज के समय में केवल और केवल समस्या ही समस्या है यह बात मैं इस बात क

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  17
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे हिसाब से भारतीय राजनीति की मुख्य समस्या यह है कि यहां पर लोग अच्छे से जागरुक नहीं है लोगों केंद्र जागरूकता नहीं है कि कौन सी पॉलिटिकल पार्टी कौन है चूस करना चाहिए कुछ तो कॉमेडी को देखकर वह कर देते हैं कुछ लोग भेड़चाल में वोट कर देते हैं वही पर कुछ लोग अपने रिश्तेदारों को वोट करते हैं हमें ना केवल ही देखा था कि कॉमेडी पार्टी में क्या प्रॉमिस कर रही है बल्कि हमें यह भी मद्देनजर रखने चाहिए कि कॉमेडी पार्टी जो है हमारी बुरे टाइम में क्या काम कर रही थी जब वह भूल नहीं कर रही थी भ्रष्टाचार यह दूसरा मुख्य री सखी हमारी भारतीय राजनीति आज इतने अच्छे से Star Plus नहीं हो पा रही है इतना ज्यादा भ्रष्टाचार बढ़ गया कि जो लोग मारे गए थे कि भ्रष्टाचार नहीं लगाने की विधि आते ही ना कहीं भ्रष्टाचार कर ही रहे हैं अगर हम भ्रष्टाचार की जड़ से खत्म कर देंगे तो यह बहुत बड़ा योगदान दे भारतीय राजनीति को ऊपर का स्तर ऊपर करने के अंदर

mere hisab se bharatiya raajneeti ki mukhya samasya yah hai ki yahan par log acche se jagruk nahi hai logon kendra jagrukta nahi hai ki kaun si political party kaun hai chus karna chahiye kuch toh comedy ko dekhkar vaah kar dete hain kuch log bhedchal mein vote kar dete hain wahi par kuch log apne rishtedaron ko vote karte hain hamein na keval hi dekha tha ki comedy party mein kya promise kar rahi hai balki hamein yah bhi maddenajar rakhne chahiye ki comedy party jo hai hamari bure time mein kya kaam kar rahi thi jab vaah bhool nahi kar rahi thi bhrashtachar yah doosra mukhya ri sakhi hamari bharatiya raajneeti aaj itne acche se Star Plus nahi ho paa rahi hai itna zyada bhrashtachar badh gaya ki jo log maare gaye the ki bhrashtachar nahi lagane ki vidhi aate hi na kahin bhrashtachar kar hi rahe hain agar hum bhrashtachar ki jad se khatam kar denge toh yah bahut bada yogdan de bharatiya raajneeti ko upar ka sthar upar karne ke andar

मेरे हिसाब से भारतीय राजनीति की मुख्य समस्या यह है कि यहां पर लोग अच्छे से जागरुक नहीं है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!