ऐसा क्यों पुस्त कौन ज्ञान प्राप्ति व मनोरंजन का सबसे उत्तम साधन है?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यश मेरे मित्र उत्तम पुस्तकें सबसे अच्छा साथी होती है उत्तम पुस्तकों के द्वारा ज्ञान प्राप्त होता है शिक्षा प्राप्त होती है मां मने जन्मदिन होता है तो अब आप भी कहेंगे क्योंकि प्रश्न आपका बड़ा अटपटा है कि वैसे तो कुछ भी नहीं है जहां तक में जो समझ पा रहा हूं वही है आपका भी पुस्तकें ज्ञान प्राप्ति और मनोरंजन का उत्तम साधन है यह पुस्तकें एक मानव के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है उसके जीवन को संवारने में इनका बहुत बड़ा हाथ होता है यह एक उत्तम साथी हैं क्योंकि मानव तो अपने मित्र के साथ में धोखा कर सकता है मानव रिश्तेदार के लिए धोखा कर सकता है तो यह अथवा दिए हुए हैं और सब आदि युग में दान की महत्ता लेख है और सब बातों की फोटोस एकदम कम हो गई है इसलिए कब आपका मित्र आपके साथ गद्दारी कर जाए कब आपका रिश्तेदार आपके साथ गद्दारी कर जाए यह आप नहीं कह सकते धन कमाने के लिए ना कोई किसी का मित्र है ना कोई किसी का रिश्तेदार है रिश्तेदार भी रिश्तेदारों के साथ दगा करते देखे हैं मित्र भी मित्रों के लिए दगा करते देखे हैं धन कमाने के लिए धन प्राप्त करने के लिए ऐसा नहीं होता तो यह मर्डर क्यों होते मित्र मित्र के लिए जहर क्यों दे देता यह रिश्तेदार ऐसी गद्दारी क्यों करते क्योंकि धन कि मेहता देखो गई इसलिए मैं कहता हूं की पुस्तकों से अच्छा विश्वस्त लिए उत्तम भी कोई भी नहीं हो सकता वह आपके जीवन निर्माण में बहुत बड़ा सहयोग देती है जीवन को परिपूर्ण उचित सम्मानीय स्तर तक पहुंचाती है मनोज जल्दी देती है इसलिए पुस्तके मानव के जीवन में बड़ा महत्व रखती है

yash mere mitra uttam pustakein sabse accha sathi hoti hai uttam pustakon ke dwara gyaan prapt hota hai shiksha prapt hoti hai maa mane janamdin hota hai toh ab aap bhi kahenge kyonki prashna aapka bada atpataa hai ki waise toh kuch bhi nahi hai jaha tak mein jo samajh pa raha hoon wahi hai aapka bhi pustakein gyaan prapti aur manoranjan ka uttam sadhan hai yeh pustakein ek manav ke liye bahut mahatvapurna hoti hai uske jeevan ko savarne mein inka bahut bada hath hota hai yeh ek uttam sathi hain kyonki manav toh apne mitra ke saath mein dhokha kar sakta hai manav rishtedar ke liye dhokha kar sakta hai toh yeh athva diye hue hain aur sab aadi yug mein daan ki mahatta lekh hai aur sab baaton ki photoss ekdam kam ho gayi hai isliye kab aapka mitra aapke saath gaddari kar jaye kab aapka rishtedar aapke saath gaddari kar jaye yeh aap nahi keh sakte dhan kamane ke liye na koi kisi ka mitra hai na koi kisi ka rishtedar hai rishtedar bhi rishtedaron ke saath daga karte dekhe hain mitra bhi mitron ke liye daga karte dekhe hain dhan kamane ke liye dhan prapt karne ke liye aisa nahi hota toh yeh murder kyon hote mitra mitra ke liye zehar kyon de deta yeh rishtedar aisi gaddari kyon karte kyonki dhan ki mehta dekho gayi isliye main kahata hoon ki pustakon se accha vishwast liye uttam bhi koi bhi nahi ho sakta wah aapke jeevan nirmaan mein bahut bada sahyog deti hai jeevan ko paripurna uchit sammaniya sthar tak pohchti hai manoj jaldi deti hai isliye pustakein manav ke jeevan mein bada mahatva rakhti hai

यश मेरे मित्र उत्तम पुस्तकें सबसे अच्छा साथी होती है उत्तम पुस्तकों के द्वारा ज्ञान प्राप्

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  487
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे समाज में यह बोला जाता है कि पुस्तकों से जुड़े ज्ञान प्राप्ति होती है बिल्कुल सही बोला जाता है कि क्या करेंगे तो आपको पुरानी ज्ञान प्राप्त होगी आप जंगल बुक जीके का बुक पड़ेगा तो आपको करंट अफेयर जाने को मिलता है आपने सही बोला कि जो पुस्तक होती है ज्ञान शक्ति का केंद्र होता है साथ ही साथ मनोरंजन का भी केंद्र होता क्योंकि पुस्तकों पुस्तक पुस्तक जानता पी के लिए होते कितने मनोरंजन के लिए होते हैं कितने बच्चों के लिए पुस्तक आते हैं

hamare samaj mein yah bola jata hai ki pustakon se jude gyaan prapti hoti hai bilkul sahi bola jata hai ki kya karenge toh aapko purani gyaan prapt hogi aap jungle book gk ka book padega toh aapko current affair jaane ko milta hai aapne sahi bola ki jo pustak hoti hai gyaan shakti ka kendra hota hai saath hi saath manoranjan ka bhi kendra hota kyonki pustakon pustak pustak jaanta p ke liye hote kitne manoranjan ke liye hote hain kitne baccho ke liye pustak aate hain

हमारे समाज में यह बोला जाता है कि पुस्तकों से जुड़े ज्ञान प्राप्ति होती है बिल्कुल सही बोल

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  236
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!