स्पोर्ट्स में हम कैसे एक्स्पर्ट बने?...


play
user

Norang sharma

Social Worker

1:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों मैं नौरंग शर्मा आज के इस ऑडियो सेक्शन में बात करूंगा कि हम स्पोर्ट्स में कैसे एक्सपर्ट बन सकते हैं दोस्तों स्पोर्ट्स ना सिर्फ हमें फिजिकली फिट रखता है बल्कि मेंटली भी हमें तरोताजा रखता और फिट रखता है तो पोर्ट हमारी जिंदगी की बहुत बड़ी जरूरत है तो दो स्पोर्ट्स अलग अलग तरीके के होते हैं कई इंडोर गेम्स होते हैं कई आउटडोर गेम्स होते हैं अलग-अलग गेम्स के अपनी-अपनी कुछ रिक्वायरमेंट्स होती है अलग-अलग स्पोर्ट्स का अपना-अपना एक दायरा होता है तो हम ओवरऑल सभी गेम को केंद्र में रखकर इसके इसके बारे में डिस्कस करेंगे तो स्पोर्ट्स में क्या जरूरी होता है स्पोर्ट्स में जरूरी होता है हमारी मेंटल अलर्टनेस कि हम किसी भी पार्टिकुलर गेम के अंदर अपनी अपना जो शौकत है वह लूज ना होने दें क्योंकि दोस्तों आपको सब अगर हम लोग फोकस भी नहीं होंगे तो हम किसी पोस्ट में कैसे इनरोल होंगे तो हमारी पेमेंट अलर्टनेस है कि उस पर काफी ध्यान देना होगा उसके अलावा हमें थोड़ी बहुत एक्सरसाइज भी करनी होगी ताकि हमारे शरीर में गुल्लक भी हो जो एक गेम खेलने के लिए जरूरी होती है तो अभी किसी को उसकी सहायता भी लेनी चाहिए ट्रेनर की सहायता में लेनी चाहिए जो हमें इस में निपुण बना दें और उसकी प्रेक्टिस खुद भी अपनी लेवल पर जितनी हो सके हमें करनी चाहिए क्योंकि आप मरे बिना स्वर्ग नहीं होता इसलिए यह कहावत है तो इसका यही मतलब है कि हम जब तक खुद अपनी तरफ से एफर्ट्स नहीं लगाएंगे कोई भी ट्रेन नया कोच हमें उस काम के लिए ट्रेन नहीं कर पाएगा फिलहाल तो सपोर्ट चाहे जो भी चुनिया सोच समझ कर अपने शरीर की प्रकृति के अनुसार अप बोर्ड का चुनाव करें और फिर उस डायरेक्शन में जितना आप कर सकते हैं उतना करें और आगे बढ़ें तो उम्मीद करता हूं आप को मेरा जवाब अच्छा लगा होगा थैंक यू थैंक यू वेरी मच

hello doston main naurang sharma aaj ke is audio section mein baat karunga ki hum sports mein kaise expert ban sakte hain doston sports na sirf hamein physically fit rakhta hai balki mentally bhi hamein tarotaja rakhta aur fit rakhta hai toh port hamari zindagi ki bahut badi zarurat hai toh do sports alag alag tarike ke hote hain kai indoor games hote hain kai outdoor games hote hain alag alag games ke apni apni kuch requirements hoti hai alag alag sports ka apna apna ek dayara hota hai toh hum overall sabhi game ko kendra mein rakhakar iske iske bare mein discs karenge toh sports mein kya zaroori hota hai sports mein zaroori hota hai hamari mental alartanes ki hum kisi bhi particular game ke andar apni apna jo shoukat hai vaah loose na hone de kyonki doston aapko sab agar hum log focus bhi nahi honge toh hum kisi post mein kaise inarol honge toh hamari payment alartanes hai ki us par kaafi dhyan dena hoga uske alava hamein thodi bahut exercise bhi karni hogi taki hamare sharir mein gullak bhi ho jo ek game khelne ke liye zaroori hoti hai toh abhi kisi ko uski sahayta bhi leni chahiye trainer ki sahayta mein leni chahiye jo hamein is mein nipun bana de aur uski practice khud bhi apni level par jitni ho sake hamein karni chahiye kyonki aap mare bina swarg nahi hota isliye yah kahaavat hai toh iska yahi matlab hai ki hum jab tak khud apni taraf se efforts nahi lagayenge koi bhi train naya coach hamein us kaam ke liye train nahi kar payega filhal toh support chahen jo bhi chuniya soch samajh kar apne sharir ki prakriti ke anusaar up board ka chunav kare aur phir us direction mein jitna aap kar sakte hain utana kare aur aage badhe toh ummid karta hoon aap ko mera jawab accha laga hoga thank you thank you very match

हेलो दोस्तों मैं नौरंग शर्मा आज के इस ऑडियो सेक्शन में बात करूंगा कि हम स्पोर्ट्स में कैसे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  12
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप किसी भी फील्ड में कोई भी एक्सपोर्ट बनना चाहते हैं तो पहले तो आपको फील्ड के बारे में जो है सारे के सारे नॉलेज प्राप्त करना होगा जैसे कि आप सपोर्ट में बनना चाहते तो उस पर बहुत सारे फील्ड होते जैसे क्रिकेट फुटबॉल हॉकी कप किस गेम में जो फौजी बनना चाहते हैं तो कुछ गेम के बारे में पहले तो पूरी इंफॉर्मेशन तड़प कीजिए इनफॉरमेशन बेहतर होगा क्या उनको जितना खेलेंगे आप उतना ही नॉलेज जान पाएंगे स्पॉट बन सकते हैं या तो आपस में जुड़े एक्सपोर्ट बनने के लिए जा सकते हैं

agar aap kisi bhi field mein koi bhi export bana chahte hain toh pehle toh aapko field ke bare mein jo hai saare ke saare knowledge prapt karna hoga jaise ki aap support mein bana chahte toh us par bahut saare field hote jaise cricket football hockey cup kis game mein jo fauji bana chahte hain toh kuch game ke bare mein pehle toh puri information tadap kijiye information behtar hoga kya unko jitna khelenge aap utana hi knowledge jaan payenge spot ban sakte hain ya toh aapas mein jude export banne ke liye ja sakte hain

अगर आप किसी भी फील्ड में कोई भी एक्सपोर्ट बनना चाहते हैं तो पहले तो आपको फील्ड के बारे में

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  247
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!