फूल से हमें क्या शिक्षा मिलती है?...


play
user

vashishth ji mahraj guruji

Astrologer,life Coch.Dharmguru,Kathavachak,आध्यात्मिक चिंतक,ज्योतिष महर्षि,सम्पूर्ण समस्या समाधान विशेषज्ञ।

1:03

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है फूल से हमें क्या शिक्षा मिलती है लेकिन फूल से हमें निस्वार्थ सेवा और समर्पण की प्रमुख शिक्षामित्र फूल जो होता है वह कहीं पर भी किसी के द्वारा भी थोड़ा जाता है और कहीं भी चढ़ाया जा सकता है वह कहीं भी अर्पित हो जाता है तो इससे पता चलता है कि हमको भी कहीं भी अर्पित होने में फुल से शिक्षा लेनी चाहिए और दूसरा कि वह निस्वार्थ रूप से सेवा में अर्पित होता है उसको कोई स्वयं का कोई स्वार्थ नहीं होता उसको आप कहीं भी चला दो उतर जाता है और किसी चीज की पुल जो है वह हवाओं के माध्यम से वह अपना सुगंध भी खेलता रहता है लोगों को तो उसी तरह से हमको जिस तरह जिस तरह पर बोलता हूं उस तरफ अपने सेवा और परोपकार की भावना को बिखेरना चाहिए यह हमको फूल से शिक्षा मिलती है बाकी तो बहुत हजारों शिक्षा पुल से लिख सकती उसको देखने की बात है नजरिए की बात है दृष्टि की बात है धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

aapka prashna hai fool se hamein kya shiksha milti hai lekin fool se hamein niswarth seva aur samarpan ki pramukh shikshamitra fool jo hota hai vaah kahin par bhi kisi ke dwara bhi thoda jata hai aur kahin bhi chadaya ja sakta hai vaah kahin bhi arpit ho jata hai toh isse pata chalta hai ki hamko bhi kahin bhi arpit hone me full se shiksha leni chahiye aur doosra ki vaah niswarth roop se seva me arpit hota hai usko koi swayam ka koi swarth nahi hota usko aap kahin bhi chala do utar jata hai aur kisi cheez ki pool jo hai vaah hawaon ke madhyam se vaah apna sugandh bhi khelta rehta hai logo ko toh usi tarah se hamko jis tarah jis tarah par bolta hoon us taraf apne seva aur paropkaar ki bhavna ko bikherana chahiye yah hamko fool se shiksha milti hai baki toh bahut hazaro shiksha pool se likh sakti usko dekhne ki baat hai nazariye ki baat hai drishti ki baat hai dhanyavad aapka din shubha ho

आपका प्रश्न है फूल से हमें क्या शिक्षा मिलती है लेकिन फूल से हमें निस्वार्थ सेवा और समर्पण

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  314
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!