क्या स्टार्ट उप का क्रेज डॉट कॉम की तरह ही ख़तम हो जाए गा?...


user

साकेत कुमार

Senior Software Developer

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं चाहूंगा कि आपने मेरा जवाब सोने से पहले चंद्रप्रकाश जोशी जी का जवाब सुने काफी बेहतरीन जवाब दिया है डॉट कॉम के बारे में मैंने काफी अच्छे लोग रेट किया है क्योंकि डॉट कॉम से ज्यादा इन्फ्लेटेड ग्रोथ थी तो वह जमीन पर आनी थी एक दिन आतर कारण यह है कि ज्यादातर जो इन एंजल इन्वेस्टर्स है वह भी उसी चूसते पड़े हुए उन्होंने कार्टून बना लिया कार्टेल आईआईटी और आईआईएम इलीट क्लब है यह कार्ड बना लिया और यह बस अपने ही कॉलेज के अपने ही को सिस्टम के लोगों को फंडिंग दे रहे हैं और यह बहुत ही गलत ट्रेंड बहुत सारे ऐसे मित्र जिनके पास गजब का पोटेंशियल है जिन्होंने डेमो बना कर रखा है ₹1 देने वाला कोई नहीं है आईआईटी का ग्रेजुएट और बता क्या है यह लोग सिर्फ और पैसे कमाने में इंटरेस्टेड क्यों नहीं करते जैसे ही कंपनी में बस ज्यादातर स्टार्टर 1 से 2 साल भी नहीं चल पा रहे हो बस हो जाए क्योंकि उन्होंने मोटी मोटी सभी कमालिया भाड़ में इन्होंने स्टार्ट का मजाक बनाकर रख दिया कितनी गंदगी फैलाई है मैं इंक्रीमेंट उसको बदनाम नहीं करना चाहता क्योंकि इन्होंने देश काफी कुछ दिया है और दे रहे हैं लेकिन यह जो इन्होंने जो कार्टून बना है ना यह बहुत ज्यादा हर्ट कर रहा है प्रतिभाशाली युवक जो है भारत में उनको मैं तो चाहता हूं कि जो फेक ग्रोथ है वह हटे ताकि स्टार्टअप में सिर्फ वही लोग रहे जो सीरियसली भारत को कुछ बनाना चाहते हैं जो सीरियसली भारत में जॉब क्रिएट करना चाहते हैं ना कि खुद का जो भरना चाहते हैं वह तो हर कोई कर सकता है कुत्ता भी अपने पेट का पालन कर लेता है

main chahunga ki aapne mera jawab sone se pehle chandraprakash joshi ji ka jawab sune kaafi behtareen jawab diya hai dot com ke bare mein maine kaafi acche log rate kiya hai kyonki dot com se zyada inflated growth thi toh vaah jameen par aani thi ek din atar karan yah hai ki jyadatar jo in angle investors hai vaah bhi usi chuste pade hue unhone cartoon bana liya cartel IIT aur IIM ilit club hai yah card bana liya aur yah bus apne hi college ke apne hi ko system ke logo ko funding de rahe hain aur yah bahut hi galat trend bahut saare aise mitra jinke paas gajab ka potential hai jinhone demo bana kar rakha hai Rs dene vala koi nahi hai IIT ka graduate aur bata kya hai yah log sirf aur paise kamane mein interested kyon nahi karte jaise hi company mein bus jyadatar starter 1 se 2 saal bhi nahi chal paa rahe ho bus ho jaaye kyonki unhone moti moti sabhi kamaliya bhad mein inhone start ka mazak banakar rakh diya kitni gandagi failai hai increment usko badnaam nahi karna chahta kyonki inhone desh kaafi kuch diya hai aur de rahe hain lekin yah jo inhone jo cartoon bana hai na yah bahut zyada heart kar raha hai pratibhashali yuvak jo hai bharat mein unko main toh chahta hoon ki jo fake growth hai vaah hate taki startup mein sirf wahi log rahe jo seriously bharat ko kuch banana chahte hain jo seriously bharat mein job create karna chahte hain na ki khud ka jo bharna chahte hain vaah toh har koi kar sakta hai kutta bhi apne pet ka palan kar leta hai

मैं चाहूंगा कि आपने मेरा जवाब सोने से पहले चंद्रप्रकाश जोशी जी का जवाब सुने काफी बेहतरीन ज

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  935
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब किसी भी चीज की जरूरत से ज्यादा ग्रोथ हो जाती है तो उसमें कहीं ना कहीं कुछ करेक्शन से आते ही आते हैं तो डॉट कॉम के साथ भी यही हुआ in.com का क्रेज आज भी खत्म नहीं हुआ है अगर आप आज भी देखेंगे तो सबसे ज्यादा ग्रोथ ऑनलाइन कंपनी जाए इंटरनेट कंप्लीट में आज भी हो रही है लेकिन जो एक्सेस इस ग्रोथ हो गई थी जो पिछले दशक के प्र शुरुआत में सन 2000 2003 4:00 के आस-पास जोक्स XX ग्रोथ हो गई थी उससे डॉट कॉम क्राइसिस आ गया था जरूरत से ज्यादा पैसा लोगों ने मार्केट में डाल दिया था लेकिन इस स्टार्टअप में अभी से शायद वह लोगों को समझ में आ रहा है और लोग देख कर मिस कर रहे हैं ऐसा नहीं हो रहा है कि पैसा बिना देखे बिना बिजनेस मॉडल को समझे वह डाला जा रहा है और स्टार्ट अप किसी भी देश के किसी भी एक नामी की Krodh के लिए बहुत जरूरी है तो इसका अर्थ वेद खत्म नहीं होगा लेकिन एक दम बहुत जबरदस्त विरोध की उम्मीद नहीं की जानी चाहिए

jab kisi bhi cheez ki zarurat se zyada growth ho jaati hai toh usme kahin na kahin kuch correction se aate hi aate hain toh dot com ke saath bhi yahi hua in com ka craze aaj bhi khatam nahi hua hai agar aap aaj bhi dekhenge toh sabse zyada growth online company jaaye internet complete mein aaj bhi ho rahi hai lekin jo access is growth ho gayi thi jo pichle dashak ke pra shuruat mein san 2000 2003 4 00 ke aas paas jokes XX growth ho gayi thi usse dot com crisis aa gaya tha zarurat se zyada paisa logo ne market mein daal diya tha lekin is startup mein abhi se shayad vaah logo ko samajh mein aa raha hai aur log dekh kar miss kar rahe hain aisa nahi ho raha hai ki paisa bina dekhe bina business model ko samjhe vaah dala ja raha hai aur start up kisi bhi desh ke kisi bhi ek nami ki Krodh ke liye bahut zaroori hai toh iska arth ved khatam nahi hoga lekin ek dum bahut jabardast virodh ki ummid nahi ki jani chahiye

जब किसी भी चीज की जरूरत से ज्यादा ग्रोथ हो जाती है तो उसमें कहीं ना कहीं कुछ करेक्शन से आत

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  236
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्टार्टअप तकरीर डॉट कॉम की तरक्की खत्म हो जाएगा कि डॉट कॉम अभी तक खत्म तो हुआ नहीं हां वह बहुत ज्यादा और हो गया था इसलिए लोगों को नहीं उसका उपयोग थोड़ा कम जरूर किया लेकिन प्रथम नहीं हुआ और वह बहुत ही महत्वपूर्ण है आगे बढ़ने के लिए मार्केटिंग में भी काम आती उपयोगी चला दो अभी से अगर नेगेटिव सोच समझकर लोग दहशत में इन्वेस्ट करते हैं जिसकी जरूरत हो और जो सर इसकी जरूरत है और वह कौन से शुरुआत में कौन से आगे चलते भिन्न होता है इसलिए सोच समझकर यूनिवर्स करने वाले आगे चलकर सफल भी होते हैं इसलिए यह भी खत्म होने वाला नहीं है यह चलेगा लेकिन समय आने पर इसमें सोच विचार कर आगे बढ़ना जरूरी है और सोनू चीजें 10 पत्ती है धन्यवाद

startup takrir dot com ki tarakki khatam ho jaega ki dot com abhi tak khatam toh hua nahi haan vaah bahut zyada aur ho gaya tha isliye logo ko nahi uska upyog thoda kam zaroor kiya lekin pratham nahi hua aur vaah bahut hi mahatvapurna hai aage badhne ke liye marketing mein bhi kaam aati upyogi chala do abhi se agar Negative soch samajhkar log dahashat mein invest karte hain jiski zarurat ho aur jo sir iski zarurat hai aur vaah kaunsi shuruat mein kaunsi aage chalte bhinn hota hai isliye soch samajhkar Universe karne waale aage chalkar safal bhi hote hain isliye yah bhi khatam hone vala nahi hai yah chalega lekin samay aane par isme soch vichar kar aage badhana zaroori hai aur sonu cheezen 10 patti hai dhanyavad

स्टार्टअप तकरीर डॉट कॉम की तरक्की खत्म हो जाएगा कि डॉट कॉम अभी तक खत्म तो हुआ नहीं हां वह

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  974
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभिजीत जो आपने एक प्रश्न डाला है कि क्या स्टार्ट अप तक news.com की तरह खत्म हो जाएगा मैं आपको बता दूं की जो डॉट कॉम का क्रेज है वह अभी तक खत्म नहीं हुआ है वह स्टिल अभी भी चल रहा है कम हो गया है एक्चुअली पहले क्या था जब इसकी शुरुआत हुई थी तो यह इतना यूज होने लगा मतलब इतना मार्केट में छा गया था तो अब उसकी जो प्रोग्रेस है वह थोड़ी-थोड़ी धीरे धीमे हो गई है खत्म नहीं हुई है तो हम लोगों को ऐसा लगता है कि आप डॉट कॉम खत्म हो गया ऐसा कुछ भी नहीं है तू रही और ही स्टार्ट की बात स्टार्ट अप बहुत जरूरी है सारे देशों के लिए डेवलप करने की और डेवलपिंग ऑफ डेवलप्ड कंट्री इसके लिए स्टार्ट जरूरी है होली कभी खत्म नहीं होने वाला गीत सुगौली सुगौली होगा और जैसे-जैसे हो गए प्रोग्रेस हो गया की ओर जिस कंट्री में स्टार्ट होगा तुझे स्टार्टअप होने से कंट्री से उपलब्ध होती है क्योंकि स्टार्टअप होता है तो लोग खुद एंप्लॉयड होते हैं वह बहुत सारे लोगों को अपलोड करते हैं नई Vacancy नई जॉब्स नहीं अपॉर्चुनिटी नई टेक्नोलॉजी बहुत सारी चीजें होती है तू स्टार्टअप अपने साथ लेकर आती है तो जैसे जैसे टाइम बीतेगा स्टार्टअप की जरूरत होगी और लो लो लो स्टार्ट होंगे मतलब ही रुकेगा नहीं धीरे-धीरे होगा लेकिन होगा जरुर प्रोग्रेस भी करेगा

abhijeet jo aapne ek prashna dala hai ki kya start up tak news com ki tarah khatam ho jaega main aapko bata doon ki jo dot com ka craze hai vaah abhi tak khatam nahi hua hai vaah steel abhi bhi chal raha hai kam ho gaya hai actually pehle kya tha jab iski shuruat hui thi toh yah itna use hone laga matlab itna market mein cha gaya tha toh ab uski jo progress hai vaah thodi thodi dhire dhime ho gayi hai khatam nahi hui hai toh hum logo ko aisa lagta hai ki aap dot com khatam ho gaya aisa kuch bhi nahi hai tu rahi aur hi start ki baat start up bahut zaroori hai saare deshon ke liye develop karne ki aur developing of developed country iske liye start zaroori hai holi kabhi khatam nahi hone vala geet sugauli sugauli hoga aur jaise jaise ho gaye progress ho gaya ki aur jis country mein start hoga tujhe startup hone se country se uplabdh hoti hai kyonki startup hota hai toh log khud employed hote hain vaah bahut saare logo ko upload karte hain nayi Vacancy nayi jobs nahi opportunity nayi technology bahut saree cheezen hoti hai tu startup apne saath lekar aati hai toh jaise jaise time bitegaa startup ki zarurat hogi aur lo lo lo start honge matlab hi rukega nahi dhire dhire hoga lekin hoga zaroor progress bhi karega

अभिजीत जो आपने एक प्रश्न डाला है कि क्या स्टार्ट अप तक news.com की तरह खत्म हो जाएगा मैं आ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  28
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर किसी चीज का टाइम होता है जब वह ट्रेन में प्रॉब्लम होता है हालांकि डॉट कॉम अभी ट्रेन में नहीं है यह इसलिए लगता है क्योंकि उसकी फ़ास्ट ग्रोथ रेट जब मैं पहली दिखती थी वह कैसी चल रही है क्यों बंद हुआ है अभी उसका यूज़ करते हैं स्टार्टअप का विकेट जरूर है और मुझे ऐसा नहीं लगता कि वह खत्म हो जाएगा क्योंकि वह बेसिकली याद करता है अभी-अभी स्टार्टअप को समझ रहे हैं बहुत ज्यादा यूपी स्टार्टअप को अपना के उसके प्रति लगाव से मेहनत कर रहे हैं तो आपने देखा जाए तो स्टार्ट अप इंडिया प्रोडक्ट्स नियर एबल टू डू समथिंग न्यू व्हिच इज यूज्ड फॉर क्रिएटिव और डेवलपिंग Idea ऑफिस आएंगे वैसे भी तू स्टार्टअप्स क्रिएट हो जाएंगे

har kisi cheez ka time hota hai jab vaah train mein problem hota hai halaki dot com abhi train mein nahi hai yah isliye lagta hai kyonki uski fast growth rate jab main pehli dikhti thi vaah kaisi chal rahi hai kyon band hua hai abhi uska use karte hain startup ka wicket zaroor hai aur mujhe aisa nahi lagta ki vaah khatam ho jaega kyonki vaah basically yaad karta hai abhi abhi startup ko samajh rahe hain bahut zyada up startup ko apna ke uske prati lagav se mehnat kar rahe hain toh aapne dekha jaaye toh start up india products near able to do something new which is used for creative aur developing Idea office aayenge waise bhi tu startups create ho jaenge

हर किसी चीज का टाइम होता है जब वह ट्रेन में प्रॉब्लम होता है हालांकि डॉट कॉम अभी ट्रेन में

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
user

wahidali

I'm Muslim I'm not terrorist

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का सवाल है क्या स्टार्टअप का crash.com की तरह खत्म हो जाएगा जी देखिए मैं आपको एक बात बताना चाहता हूं इस दुनिया में हर चीज का एक बदलाव आता है हर चीज का समय रहता है आप देख सकते हैं इतिहास उठाकर कई चीजें जो आज मिट्टी के मोल है कल परसों या फ्यूचर में वह सोने चांदी के बराबर हो जाती है उसके पास और नीचे गिर जाती हैं आप मैं आपको उदाहरण देता हूं तो आप समझ पाएंगे मान के चलिए कि अगर 1947 में जब भारत देश के दो टुकड़े हुए पाकिस्तान बना और हिंदुस्तान बनाते समय हमारा रुपया $1 रुपए एक रुपए $1 के बराबर था रूपया 18 आती आती तो हमारा रुपया $1 लाइव स्तर पर ले जाइए इतना सस्ता हो गया है स्पष्ट हो गया हमारा तो आप हमें यह बताइए अपने का स्टार्टअप का क्रेज खत्म हो गया ना क्रेज खत्म नहीं हुआ है आज का युवा पीढ़ी के पास आइडिया वतन के पास पलक गत नहीं है जिसको हम इंग्लिश में इकॉनमी में ऐसा कहते हैं मार्जिन मनी क्योंकि वह सरकार ने कहा कि सरकार के ढीले काम है आप भी जानते हैं अपने देश की सरकार की बॉडी लेकर आता है सबसे पहले तो बैंक मैनेजर को सेट करो उसको कमीशन देना पड़ता है हर दलाल को सेट करो उसको कमीशन देना पड़ता है अधिकारी को सेट करो उसको कमीशन देना पड़ता है मान के चलिए अगर वह बंदे ने डेढ़ लाख रुपए निकलवाया है तो 50010 का बढ़ जाता है और ₹100000 उसको मिल सका ना उसको पढ़ना डेढ़ लाख रूपय बिजनेस करने से उसको क्या फायदा होगा इसलिए बिचौलिए जो बंद हो जाए आज मैंने जो पैसे खाना बंद कर दे तो स्टार्टअप बहुत है हमारे जैसे बहुत आगे जाएगा खत्म नहीं हो सकता आज को बिटकॉइन देख लीजिए आप बहुत आगे गया इसलिए से स्टार्ट बहुत आगे जाएगा जय हिंद जय भारत

aap ka sawaal hai kya startup ka crash com ki tarah khatam ho jaega ji dekhiye main aapko ek baat bataana chahta hoon is duniya mein har cheez ka ek badlav aata hai har cheez ka samay rehta hai aap dekh sakte hai itihas uthaakar kai cheezen jo aaj mitti ke mole hai kal parso ya future mein vaah sone chaandi ke barabar ho jaati hai uske paas aur niche gir jaati hai aap main aapko udaharan deta hoon toh aap samajh payenge maan ke chaliye ki agar 1947 mein jab bharat desh ke do tukde hue pakistan bana aur Hindustan banate samay hamara rupya 1 rupaye ek rupaye 1 ke barabar tha rupya 18 aati aati toh hamara rupya 1 live sthar par le jaiye itna sasta ho gaya hai spasht ho gaya hamara toh aap hamein yah bataiye apne ka startup ka craze khatam ho gaya na craze khatam nahi hua hai aaj ka yuva peedhi ke paas idea vatan ke paas palak gat nahi hai jisko hum english mein economy mein aisa kehte hai margin money kyonki vaah sarkar ne kaha ki sarkar ke dheele kaam hai aap bhi jante hai apne desh ki sarkar ki body lekar aata hai sabse pehle toh bank manager ko set karo usko commision dena padta hai har dalaal ko set karo usko commision dena padta hai adhikari ko set karo usko commision dena padta hai maan ke chaliye agar vaah bande ne dedh lakh rupaye nikalavaya hai toh 50010 ka badh jata hai aur Rs usko mil saka na usko padhna dedh lakh rupay business karne se usko kya fayda hoga isliye bichauliye jo band ho jaaye aaj maine jo paise khana band kar de toh startup bahut hai hamare jaise bahut aage jaega khatam nahi ho sakta aaj ko bitcoin dekh lijiye aap bahut aage gaya isliye se start bahut aage jaega jai hind jai bharat

आप का सवाल है क्या स्टार्टअप का crash.com की तरह खत्म हो जाएगा जी देखिए मैं आपको एक बात बत

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  302
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
dotcomabhi ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!