BCCI में सरकार का कितना प्रभाव है?...


play
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीसीसीआई बोर्ड फॉर कंट्रोल ऑफ क्रिकेट इंडिया एसोसिएशन है जो बीसीसीआई है एक प्राइवेट बॉडी एक ऑटोनोमस बॉडी यह गवर्नमेंट फंक्शंस में नहीं आती और यह राइट टू इनफार्मेशन एक्ट में भी नहीं आती उसके अंदर भी नहीं काम करती और यह खुद की प्राइवेट बॉडी है उसकी खुद की वर्किंग है इसका काम में ली होता है टीम को सिलेक्ट करना उसकी उसकी उसकी देखरेख करना उसमें वुमन क्रिकेट टीम भी आती है कितनी पंडित होनी चाहिए कहां मैच होना चाहिए ठीक है और उसका मैनेजमेंट जो होता है वह सब ही संभालता है और इसके पीछे कई मुद्दे उठे थे अभी जैसे अभी किसी ने बोला कि एक चूहा था कि जो बीसीसीआई है उस फंडिंग तो गवर्नमेंट की होती है डायरेक्टली और जो बिल्डिंग राजू स्टेडियम बनाए जाते हैं तो उसमें जो अंडा रेट न्यू दिल्ली फंडिंग गवर्नमेंट करती है तो यह पब्लिक फंक्शंस के अंदर आना चाहिए या गवर्नमेंट बॉडी में आना चाहिए तो उसकी इसके पीछे कई मुद्दे उठाए भी है लेकिन अभी तक तो यही है कि इस पर चर्चा चल रही है कि चली जाएं बार-बार लोग के ऊपर अपने ही देते हैं सुप्रीम कोर्ट में अभी तक इस का मुद्दा चल रहा है कुल मिलाकर अभी यह है कि यह का प्राइवेट बॉडी है ऑटोनोमस बॉडी गवर्नमेंट बॉडी में नहीं आती बस

bcci board for control of cricket india association hai jo bcci hai ek private body ek Autonomous body yah government fankshans mein nahi aati aur yah right to information act mein bhi nahi aati uske andar bhi nahi kaam karti aur yah khud ki private body hai uski khud ki working hai iska kaam mein li hota hai team ko select karna uski uski uski dekhrekh karna usme woman cricket team bhi aati hai kitni pandit honi chahiye kahaan match hona chahiye theek hai aur uska management jo hota hai vaah sab hi sambhalata hai aur iske peeche kai mudde uthe the abhi jaise abhi kisi ne bola ki ek chuha tha ki jo bcci hai us funding toh government ki hoti hai directly aur jo building raju stadium banaye jaate hain toh usme jo anda rate new delhi funding government karti hai toh yah public fankshans ke andar aana chahiye ya government body mein aana chahiye toh uski iske peeche kai mudde uthye bhi hai lekin abhi tak toh yahi hai ki is par charcha chal rahi hai ki chali jayen baar baar log ke upar apne hi dete hain supreme court mein abhi tak is ka mudda chal raha hai kul milakar abhi yah hai ki yah ka private body hai Autonomous body government body mein nahi aati bus

बीसीसीआई बोर्ड फॉर कंट्रोल ऑफ क्रिकेट इंडिया एसोसिएशन है जो बीसीसीआई है एक प्राइवेट बॉडी ए

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!