में अपनी ज़िंदगी से तंग आ गया हूँ क्या करूँ?...


user

Shahin Fidai

Counselor, www.Youtube.com/Shahintalks www.Thevitalitycafe.com/Counseling

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं और यह सवाल जो है बहुत ही इंपॉर्टेंट है क्योंकि यह आपको सोचने पर मजबूर कर रहा है इसका मतलब है कि आपकी जो सोचे वह बहुत ही नकारात्मक है नेगेटिव सोच है और कृपया करके मैं आपसे गुजारिश करती हूं कि प्लीज अपनी सोच को थोड़ी सी पॉजिटिव रखिए अपने आसपास की जो थोड़ा सा बुक करनी चाहिए गार्डन में थोड़ा सा प्राणायाम कीजिए क्योंकि प्राणायाम करने से क्या होता है कि हमारे जो क्लेरिटी आती है हमारे थॉट्स में थोड़ी सी क्लेरिटी आती है हमारी थोड़ी सी थम जाते हैं और हमें इतना एक जगह मिलता है कुछ सोचने का और जीवन की जो प्रॉब्लम है उसको थोड़ा सा हल ढूंढने में हमें थोड़ी सी आसानी हो जाती है तो प्रॉब्लम तो हर एक की जिंदगी में है इंस्पेक्टर बुद्धिज्म में तो यह कहा भी गया है कि सफरिंग इन सफरिंग हर एक के जीवन में है इजाजत आर्यन के हर एक को दुख मिलता है जिसे जो कोई भी एक का हो या कोई भी एक दूसरे को दुख भुगतना है सवाल यह है कि मैं जिंदगी को किस तरह से हैंडल कर रही हूं ऐसा दिख रहा है जैसे आप बहुत ही नेगेटिव सोच रहे हैं प्लीज आपकी सोच को थोड़ी सी पॉजिटिव रखिए जो भी आपके जीवन में प्रॉब्लम है उसके एक अपॉर्चुनिटी के तौर पर लीजिए और उसके ऊपर थोड़ा सा काम कीजिए ताकि आपको सलूशन बने हम दुआ करते हैं कि आपका जीवन

aapka prashna hai main apni zindagi se tang aa gaya hoon kya karu aur yah sawaal jo hai bahut hi important hai kyonki yah aapko sochne par majboor kar raha hai iska matlab hai ki aapki jo soche vaah bahut hi nakaratmak hai Negative soch hai aur kripya karke main aapse gujarish karti hoon ki please apni soch ko thodi si positive rakhiye apne aaspass ki jo thoda sa book karni chahiye garden me thoda sa pranayaam kijiye kyonki pranayaam karne se kya hota hai ki hamare jo kleriti aati hai hamare thoughts me thodi si kleriti aati hai hamari thodi si tham jaate hain aur hamein itna ek jagah milta hai kuch sochne ka aur jeevan ki jo problem hai usko thoda sa hal dhundhne me hamein thodi si aasani ho jaati hai toh problem toh har ek ki zindagi me hai inspector buddhijm me toh yah kaha bhi gaya hai ki suffering in suffering har ek ke jeevan me hai ijajat aryan ke har ek ko dukh milta hai jise jo koi bhi ek ka ho ya koi bhi ek dusre ko dukh bhugatna hai sawaal yah hai ki main zindagi ko kis tarah se handle kar rahi hoon aisa dikh raha hai jaise aap bahut hi Negative soch rahe hain please aapki soch ko thodi si positive rakhiye jo bhi aapke jeevan me problem hai uske ek opportunity ke taur par lijiye aur uske upar thoda sa kaam kijiye taki aapko salution bane hum dua karte hain ki aapka jeevan

आपका प्रश्न है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं और यह सवाल जो है बहुत ही इंपॉर्ट

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1379
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

अनिल शास्त्री

शिक्षक,संपादक, सामाजिक कार्यकर्ता

8:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं यह आपका एक गंभीर प्रश्न है देखिए जीवन बहुत कीमती होता है जीवन को समझने की आवश्यकता है और जीवन में आने वाली समस्याओं से दुखी होने की बजाय उन्हें जीवन की चुनौतियां मारने की आवश्यकता है ऐसा कोई प्राणी नहीं है कोई मनुष्य नहीं है जिसके जीवन में समस्याएं ना आती हो समस्याएं छोटी या बड़ी हो सकती है या समस्याओं को छोटी या बड़ी समझना अलग-अलग व्यक्ति को पर निर्भर करता है बहुत से लोग होते हैं वह बड़ी-बड़ी समस्याओं को भी हंसते हंसते उन्हें भूल जाते हैं और कुछ लोग होते की छोटी-छोटी समस्याओं में ही बहुत अधिक और निराश हो जाते हैं हताश हो जाते हैं मायूस हो जाते हैं छूट छूट तो बहुत बड़ा मान बैठते हैं जिससे निराशा उत्पन्न होती है कुंठा उत्पन्न होती है और मानसिक जो सकारात्मकता है वह बहुत आवश्यक है वह भंग हो जाती है और नकारात्मकता हावी हो जाती है और नेगेटिविटी धीरे-धीरे आदमी को बहुत ही कुंठित बना देती है उससे अवसाद में आदमी चला जाता है फिर उसे चिड़चिड़ापन अपने को कमजोर समझना अपने को दुखी समझना अपने को बहुत ही कमजोर हिंदीन मान लेना ऐसे भाव जो है वह उत्पन्न हो जाते हैं यह सब नकारात्मक विचारों का प्रभाव निश्चित रूप से आप नकारात्मक विचारों के शिकार हो गए हैं इसलिए आप अपने जीवन से अपने को हम परेशान हो कर रहे हैं जबकि आप उन समस्याओं को देखेंगे तो उन समस्याओं से बहुत सारे लोग गिरे हुए हैं आपसे भी कमजोर लोग ऐसे हो सकते हैं आपसे भी समस्याएं अधिक समस्याओं में गिरे हुए लोग हो सकते हैं आप सभी भाई समस्या दूसरे लोग झेल रहे हैं लेकिन वह इतना हताश नहीं होते निराश नहीं होते हैं तो बस यही जीवन का मूल मंत्र है जीवन की जो समस्याएं हैं वह एक अभिन्न अंग है जीवन में समस्या नहीं है उन समस्याओं को टेलर नहीं आता हर आदमी के जीवन में समस्या होती है छोटे काम जो लोग करते हैं उनके जीवन में छोटी समस्याएं आती हैं जो बड़े लोग हैं उद्योगपति हैं बड़े व्यवसाई हैं उनके जीवन में बड़ी-बड़ी समस्याएं आती हैं लेकिन धैर्य पूर्वक को संयम से काम लेने के समझ से भी धीरे-धीरे अपने आप हल होते चले जाते हैं कुछ समस्याएं जीवन में स्वयं ही हल हो जाती हैं कुछ समस्याएं परिश्रम करने से समाधान निकालने से बार-बार कोशिश करने से ऐड हो जाती है और कुछ जीवन की ऐसी समस्याएं भी होती हैं जो कितना ही प्रयास किया ना करें हम वह हल नहीं होती है तो हमें उसे निराश नहीं होना चाहिए उन्हें हमें यह मान लेना चाहिए इनका कोई हल नहीं है और उनको बार-बार ध्यान में नहीं ला कर दुखी होने की वजह हम उनसे किनारा करें उनको इग्नोर करने की कोशिश करें या नेता भी समस्या हमारे मन को कुंठित करती रहेंगे हमारे ऊपर हावी रहेंगे और हमें वह नकारात्मक बनाते रहेंगे इसके लिए बहुत अच्छा ही होगा कि आप अपने जीवन चर्या को व्यवस्थित बनाई है समय पर उठना बैठना जगना का ही करना और समय पर अपने टाइम टेबल से अपने सभी कार्य पूरा करें जिससे आपको कार्यों के प्रति हताशा और ना बड़े दूसरे आपको सुबह उठकर के व्यायाम करिएगा अपने स्वास्थ्य को अच्छा बनाने के लिए एक्सरसाइज प्राणायाम आदि और सबसे महत्वपूर्ण बात है कि आपको मेडिटेशन अवश्य करें प्रतिदिन अपने मन में विचार करें कि मैं आत्मा हूं मैं परमात्मा का अंश अल्लाह गॉड ईश्वर परवरदिगार जो भी है जिसे भी आप मानते हैं मैं उसका अनुष हूं और मैं किसी भी रूप में कम नहीं होंगे शक्तिशाली आत्मा हूं मैं हर बाधा को हर समस्या को हल करने समर्थ कितनी भी समस्याएं मुझे जीवन में प्रभावित नहीं कर सकती हैं कितने ही कष्ट क्यों माय में उन्हें जेल के सामने वाला मेरे जीवन में आने वाली समस्याएं मुझे विचलित नहीं कर सकती है मेरी काडे काडे डॉलर आत्माओं में हर समस्या का निवारण करने वाली आत्मा और जितनी भी समस्याएं मुझे परेशान कर रही है उनका हल निश्चित रूप से निकलेगा और मैं उन सब समस्याओं से मुकाबला करने में समर्थ हो तो इस प्रकार के भाव अपने मन में लाकर के अपने चिंतन को शुद्ध बनाएगा सुबह शाम जब भी समय मिले या बीच में भी जवाब को अवकाश मिलता है इसके लिए हर समय की कोई बाध्यता नहीं है जब भी आप फ्री हो तभी आप ही चिंतन कर सकते हैं जब या पर नकारात्मक विचार हावी हो जब भी आप को कम था ऐसी लगी कि मेरा जीवन बहुत दुखी है मैं जीवन में से तंग आ रहा हूं तभी आप इस टाइम इस प्रकार के विचार अपने मन में लाएं थोड़ी देर के लिए 2 मिनट 3:00 बजे थे फिर मेडिटेशन कर सकते हैं करें अपनी आत्मा को पुष्ट बनाएं अपने को शक्ति ही ना समझे विचारों में अपने को पावरफुल क्या बनी है आपकी यादों में बड़ी शक्तिशाली है जो आपके अंदर वास करती है हर मनुष्य में आत्मा का वास है और आत्मा बहुत ही शक्तिशाली होती है इन भावों के साथ अपने को कभी भी कमजोर ना समझे तो धीरे-धीरे आपकी जो नकारात्मकता है वह दूर होती चली जाएगी अपनी रुचि के काम करें गाना बजाना गीत संगीत कहानी कविता साहित्य लेखन कला चित्रकला मूर्तिकला नृत्य कला गायन वादन जिस किसी भी हॉबी में आपकी रुचि है वह सब बापू जी के काम करें बड़ों के साथ बातचीत करें अपनी समस्याओं को उनके सामने व्यक्त करें अपनी समस्याओं को बाहर निकाल देने से भी नकारात्मकता बाहर चली जाती है और उसे सकारात्मकता पड़ती है बच्चों के बीच आखिरी के लिए बच्चों को भी है आनंद आएगा रात को भी बच्चों से बहुत एनर्जी मिलेगी छोटे बच्चे जो है वह शिकार ऊर्जा का केंद्र होते हैं तो उनसे आप बात करें उनसे बातचीत करें उनके बीच खेल खेलने उनको खिलाए व्यस्त रहें ज्यादा से ज्यादा मनोरंजन की ओर ध्यान दें खुश रहें अपना काम करें और काम से जब भी फ्री हो तभी आप अपने को हम मनोरंजन में लगाएं अच्छे गीत अच्छे कोई कहानी कविता पढ़ सकते हैं लिख सकते हैं लिखते हैं तो बहुत अच्छा है और नहीं तो अपने बड़ों के बीच बैठकर के विचार मिस करें खाली समय में यदि आप बैठेंगे तो आप पर नकारात्मक ज्यादा हावी हो गीत इसलिए अपने को हमेशा व्यस्त रखें दिनचर्या आपके स्वस्थ बनाए समय पर खाना खाए पोस्टिक भोजन ले और स्वास्थ्य का ध्यान रखें शारीर के समस्त अच्छा होगा तो मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा होगा और यह मानसिक स्वास्थ अच्छा होगा तो आपका मन आपके विचार भी अच्छे बनते चले जाएंगे हम के द्वारा और मित्र अभ्यास के द्वारा और मेडिटेशन के द्वारा अपने आप को आप सकारात्मक बनाए निश्चित रूप की समस्याएं हल होंगी या नहीं होंगी लेकिन आप का हल निकालेंगे कहने का मतलब है समस्याओं को सर पर रखना कोई जरूरी नहीं है समस्या है तो वह कहीं पड़ी रहे समस्या है वह एक कोने में रहे समस्या कई हैं वह आपसे दूर रहे जितनी जितनी हल कर सकते हैं उनको हल करें जिनका मुकाबला कर सकते हैं उनका मुकाबला करें इनका निवारण कर सकते हैं निवारण करें और जिनका हल नहीं निकल रहा है तो उनको आप छोड़ दें उनको मन पर बोझ ना बनाएं उनको कुंठा में ना लाएं उससे ही नेगेटिव की आ रही है इस तरह से सकारात्मकता अपने जीवन में अपनाएं योगा के द्वारा प्रणब के द्वारा एक्सरसाइज के द्वारा और बड़ों के बीच सामंजस्य बिठाते हुए उनकी बातों उनके सुझावों को ध्यान देते हुए बच्चों के बीच आराम से अपना जीवन व्यतीत करें अपनी हॉबीज को भाइयों को भरे अच्छा सोचें और अच्छे विचार बनेंगे शकर तो विचार बनेंगे तो आप कुंठा निश्चित रूप से दूर हो जाएगी इस तरह से आपका जीवन सुखमय हो सकारात्मक जीवन जी हैं इन्हीं शब्दों के साथ नमस्ते

main apni zindagi se tang aa gaya hoon kya karu yah aapka ek gambhir prashna hai dekhiye jeevan bahut kimti hota hai jeevan ko samjhne ki avashyakta hai aur jeevan me aane wali samasyaon se dukhi hone ki bajay unhe jeevan ki chunautiyaan maarne ki avashyakta hai aisa koi prani nahi hai koi manushya nahi hai jiske jeevan me samasyaen na aati ho samasyaen choti ya badi ho sakti hai ya samasyaon ko choti ya badi samajhna alag alag vyakti ko par nirbhar karta hai bahut se log hote hain vaah badi badi samasyaon ko bhi hansate hansate unhe bhool jaate hain aur kuch log hote ki choti choti samasyaon me hi bahut adhik aur nirash ho jaate hain hathaash ho jaate hain maayus ho jaate hain chhut chhut toh bahut bada maan baithate hain jisse nirasha utpann hoti hai kuntha utpann hoti hai aur mansik jo sakaraatmakata hai vaah bahut aavashyak hai vaah bhang ho jaati hai aur nakaratmakta haavi ho jaati hai aur negativity dhire dhire aadmi ko bahut hi kunthit bana deti hai usse avsad me aadmi chala jata hai phir use chidchidapan apne ko kamjor samajhna apne ko dukhi samajhna apne ko bahut hi kamjor hindin maan lena aise bhav jo hai vaah utpann ho jaate hain yah sab nakaratmak vicharon ka prabhav nishchit roop se aap nakaratmak vicharon ke shikaar ho gaye hain isliye aap apne jeevan se apne ko hum pareshan ho kar rahe hain jabki aap un samasyaon ko dekhenge toh un samasyaon se bahut saare log gire hue hain aapse bhi kamjor log aise ho sakte hain aapse bhi samasyaen adhik samasyaon me gire hue log ho sakte hain aap sabhi bhai samasya dusre log jhel rahe hain lekin vaah itna hathaash nahi hote nirash nahi hote hain toh bus yahi jeevan ka mul mantra hai jeevan ki jo samasyaen hain vaah ek abhinn ang hai jeevan me samasya nahi hai un samasyaon ko Tailor nahi aata har aadmi ke jeevan me samasya hoti hai chote kaam jo log karte hain unke jeevan me choti samasyaen aati hain jo bade log hain udyogpati hain bade vyavasai hain unke jeevan me badi badi samasyaen aati hain lekin dhairya purvak ko sanyam se kaam lene ke samajh se bhi dhire dhire apne aap hal hote chale jaate hain kuch samasyaen jeevan me swayam hi hal ho jaati hain kuch samasyaen parishram karne se samadhan nikalne se baar baar koshish karne se aid ho jaati hai aur kuch jeevan ki aisi samasyaen bhi hoti hain jo kitna hi prayas kiya na kare hum vaah hal nahi hoti hai toh hamein use nirash nahi hona chahiye unhe hamein yah maan lena chahiye inka koi hal nahi hai aur unko baar baar dhyan me nahi la kar dukhi hone ki wajah hum unse kinara kare unko ignore karne ki koshish kare ya neta bhi samasya hamare man ko kunthit karti rahenge hamare upar haavi rahenge aur hamein vaah nakaratmak banate rahenge iske liye bahut accha hi hoga ki aap apne jeevan charya ko vyavasthit banai hai samay par uthna baithana jagna ka hi karna aur samay par apne time table se apne sabhi karya pura kare jisse aapko karyo ke prati hatasha aur na bade dusre aapko subah uthakar ke vyayam kariega apne swasthya ko accha banane ke liye exercise pranayaam aadi aur sabse mahatvapurna baat hai ki aapko meditation avashya kare pratidin apne man me vichar kare ki main aatma hoon main paramatma ka ansh allah god ishwar paravaradigar jo bhi hai jise bhi aap maante hain main uska anush hoon aur main kisi bhi roop me kam nahi honge shaktishali aatma hoon main har badha ko har samasya ko hal karne samarth kitni bhi samasyaen mujhe jeevan me prabhavit nahi kar sakti hain kitne hi kasht kyon my me unhe jail ke saamne vala mere jeevan me aane wali samasyaen mujhe vichalit nahi kar sakti hai meri kade kade dollar atmaon me har samasya ka nivaran karne wali aatma aur jitni bhi samasyaen mujhe pareshan kar rahi hai unka hal nishchit roop se niklega aur main un sab samasyaon se muqabla karne me samarth ho toh is prakar ke bhav apne man me lakar ke apne chintan ko shudh banayega subah shaam jab bhi samay mile ya beech me bhi jawab ko avkash milta hai iske liye har samay ki koi baadhyata nahi hai jab bhi aap free ho tabhi aap hi chintan kar sakte hain jab ya par nakaratmak vichar haavi ho jab bhi aap ko kam tha aisi lagi ki mera jeevan bahut dukhi hai main jeevan me se tang aa raha hoon tabhi aap is time is prakar ke vichar apne man me laye thodi der ke liye 2 minute 3 00 baje the phir meditation kar sakte hain kare apni aatma ko pusht banaye apne ko shakti hi na samjhe vicharon me apne ko powerful kya bani hai aapki yaadon me badi shaktishali hai jo aapke andar was karti hai har manushya me aatma ka was hai aur aatma bahut hi shaktishali hoti hai in bhavon ke saath apne ko kabhi bhi kamjor na samjhe toh dhire dhire aapki jo nakaratmakta hai vaah dur hoti chali jayegi apni ruchi ke kaam kare gaana bajana geet sangeet kahani kavita sahitya lekhan kala chitrakala murtikala nritya kala gaayan vaadan jis kisi bhi hobby me aapki ruchi hai vaah sab bapu ji ke kaam kare badon ke saath batchit kare apni samasyaon ko unke saamne vyakt kare apni samasyaon ko bahar nikaal dene se bhi nakaratmakta bahar chali jaati hai aur use sakaraatmakata padti hai baccho ke beech aakhiri ke liye baccho ko bhi hai anand aayega raat ko bhi baccho se bahut energy milegi chote bacche jo hai vaah shikaar urja ka kendra hote hain toh unse aap baat kare unse batchit kare unke beech khel khelne unko khilaye vyast rahein zyada se zyada manoranjan ki aur dhyan de khush rahein apna kaam kare aur kaam se jab bhi free ho tabhi aap apne ko hum manoranjan me lagaye acche geet acche koi kahani kavita padh sakte hain likh sakte hain likhte hain toh bahut accha hai aur nahi toh apne badon ke beech baithkar ke vichar miss kare khaali samay me yadi aap baitheange toh aap par nakaratmak zyada haavi ho geet isliye apne ko hamesha vyast rakhen dincharya aapke swasth banaye samay par khana khaye paustik bhojan le aur swasthya ka dhyan rakhen sharir ke samast accha hoga toh mansik swasthya bhi accha hoga aur yah mansik swaasth accha hoga toh aapka man aapke vichar bhi acche bante chale jaenge hum ke dwara aur mitra abhyas ke dwara aur meditation ke dwara apne aap ko aap sakaratmak banaye nishchit roop ki samasyaen hal hongi ya nahi hongi lekin aap ka hal nikalenge kehne ka matlab hai samasyaon ko sir par rakhna koi zaroori nahi hai samasya hai toh vaah kahin padi rahe samasya hai vaah ek kone me rahe samasya kai hain vaah aapse dur rahe jitni jitni hal kar sakte hain unko hal kare jinka muqabla kar sakte hain unka muqabla kare inka nivaran kar sakte hain nivaran kare aur jinka hal nahi nikal raha hai toh unko aap chhod de unko man par bojh na banaye unko kuntha me na laye usse hi Negative ki aa rahi hai is tarah se sakaraatmakata apne jeevan me apanaen yoga ke dwara pranab ke dwara exercise ke dwara aur badon ke beech samanjasya bithate hue unki baaton unke sujhavon ko dhyan dete hue baccho ke beech aaram se apna jeevan vyatit kare apni Hobbies ko bhaiyo ko bhare accha sochen aur acche vichar banenge shaker toh vichar banenge toh aap kuntha nishchit roop se dur ho jayegi is tarah se aapka jeevan sukhmay ho sakaratmak jeevan ji hain inhin shabdon ke saath namaste

मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं यह आपका एक गंभीर प्रश्न है देखिए जीवन बहुत कीमत

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  223
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:03
Play

Likes  687  Dislikes    views  5175
WhatsApp_icon
user

Ritika

Teacher,life Coach,motivational Speaker

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पास में है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं तो आप अपनी परेशानी को स्पष्ट कीजिए कि आप किस बात की दिक्कत है आपको या कौनसी परेशानी है क्योंकि जब तक आप को अपनी परेशानी नहीं आप स्पष्ट करेंगे तब तक उसका हम समाधान नहीं बता पाएंगे तो जो भी परेशानी है उसको स्पष्ट करिए उसी के साथ साथ अगर कोई भी दिक्कत है तो उसका सलूशन ऐसा नहीं होता कि ना मिले गहरी सांस लीजिए और अपने दिमाग पर ज्यादा प्रेशर मत लीजिए और कूल डाउन होकर उस जो भी दिक्कत है उसका समाधान निकालने की कोशिश करें धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

namaskar aapka paas me hai main apni zindagi se tang aa gaya hoon kya karu toh aap apni pareshani ko spasht kijiye ki aap kis baat ki dikkat hai aapko ya kaunsi pareshani hai kyonki jab tak aap ko apni pareshani nahi aap spasht karenge tab tak uska hum samadhan nahi bata payenge toh jo bhi pareshani hai usko spasht kariye usi ke saath saath agar koi bhi dikkat hai toh uska salution aisa nahi hota ki na mile gehri saans lijiye aur apne dimag par zyada pressure mat lijiye aur cool down hokar us jo bhi dikkat hai uska samadhan nikalne ki koshish kare dhanyavad aapka din shubha ho

नमस्कार आपका पास में है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं तो आप अपनी परेशानी को स

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  345
WhatsApp_icon
user

sumit agarwal

business man

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं अपनी लाइफ अपनी जिंदगी से कभी भी परेशान ना हो जो भी परेशानी है वह आती जाती रहती है कुछ दिक्कत परेशानी जो भी है उसको अपने बुद्धि विवेक से कम करें या खत्म करें अगर आपके जो परिवार के लोग हैं बड़े हैं उनके साथ बैठे विचार विमर्श करें उस परेशानी को दूर करें तनाव को बिल्कुल ना आने दे अपने पास तनाव बिल्कुल ना करें अपने दिमाग में किसी प्रकार का भी आप कोई टेंशन ना ले तनाव को बिल्कुल ना आने दें और तो परेशानी है उसको दूर करने का हल निकाले अपने आप से और अपने साथ में अपने परिवार से बैठकर विचार विमर्श करके अपने बड़े बुजुर्गों तक बैठकर विचार आपका दिन शुभ हो

namaskar aapka prashna hai main apni zindagi se tang aa gaya hoon kya karu apni life apni zindagi se kabhi bhi pareshan na ho jo bhi pareshani hai vaah aati jaati rehti hai kuch dikkat pareshani jo bhi hai usko apne buddhi vivek se kam kare ya khatam kare agar aapke jo parivar ke log hain bade hain unke saath baithe vichar vimarsh kare us pareshani ko dur kare tanaav ko bilkul na aane de apne paas tanaav bilkul na kare apne dimag me kisi prakar ka bhi aap koi tension na le tanaav ko bilkul na aane de aur toh pareshani hai usko dur karne ka hal nikale apne aap se aur apne saath me apne parivar se baithkar vichar vimarsh karke apne bade bujurgon tak baithkar vichar aapka din shubha ho

नमस्कार आपका प्रश्न है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं अपनी लाइफ अपनी जिंदगी से

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  208
WhatsApp_icon
user

BOB

Teacher

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके पास है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं तो सबसे पहले बात की आप अपनी जिंदगी से तंग आ गए हैं जिंदगी जो आपको इतनी खूबसूरत थी अपने आप को मिली है उससे आप क्यों तंग आ गए तो जिंदगी से कभी तंग नहीं आना चाहिए हां कुछ प्रॉब्लम आ सकती है कुछ चीज़ें हो सकते हैं लाइफ में हंसी जोक इंसान को जा डिस्टर्ब करती है और परेशान करती है वह उस वक्त उसे इतना उलझ जाता है कि वह समझ में नहीं आ पाता किस से कैसे निकले हैं और क्या करूं तो हर चीज का रास्ता है कोई ऐसी चीज नहीं जिसका की रास्ता नहीं है और निकलने का जाने का रास्ता हर चीज का रास्ता है तो बिल्कुल आप देखिए कि आप किस वजह से परेशान हैं आपको जिंदगी क्यों इतनी बोसर परेशानी पर लग रही है तो वह चीज अगर आपको वो रास्ता होता वह चीज अगर आपको समझ में आ जाती है कि यह चीज है इसके विषय में परेशान हो फिर आप उसे उठाने की कोशिश करी निकलने की कोशिश करिए और अगर हो सके अपने दोस्तों का सहारा लीजिए अपने बड़ों का सहारा लीजिए और दी कि जो है वह खुशगवार हो जाएगी फिर से क्योंकि अगर आप उसी से निकल जाते हैं वह दिखा था आपको आपसे दूर हो जाती है तो फिर जिंदगी अच्छे लगने लग जाएगी तो मैं तो यही कहूंगा जिंदगी जीने के लिए और जल्दी खोजिए उसे निराश नहीं हुई है कोई प्रॉब्लम जिंदगी हमेशा आती हो जाती है यह दुनिया का उसूल है कि आपको कुशल मिलेंगे हम भी मिलेगा तो हम भी नहीं या परेशानी है तो उस मुझे अपनी जिंदगी जीना छोड़ दी जाए उसका रास्ता ढूंढ

aapke paas hai main apni zindagi se tang aa gaya hoon kya karu toh sabse pehle baat ki aap apni zindagi se tang aa gaye hain zindagi jo aapko itni khoobsurat thi apne aap ko mili hai usse aap kyon tang aa gaye toh zindagi se kabhi tang nahi aana chahiye haan kuch problem aa sakti hai kuch chize ho sakte hain life me hansi joke insaan ko ja disturb karti hai aur pareshan karti hai vaah us waqt use itna ulajh jata hai ki vaah samajh me nahi aa pata kis se kaise nikle hain aur kya karu toh har cheez ka rasta hai koi aisi cheez nahi jiska ki rasta nahi hai aur nikalne ka jaane ka rasta har cheez ka rasta hai toh bilkul aap dekhiye ki aap kis wajah se pareshan hain aapko zindagi kyon itni bosar pareshani par lag rahi hai toh vaah cheez agar aapko vo rasta hota vaah cheez agar aapko samajh me aa jaati hai ki yah cheez hai iske vishay me pareshan ho phir aap use uthane ki koshish kari nikalne ki koshish kariye aur agar ho sake apne doston ka sahara lijiye apne badon ka sahara lijiye aur di ki jo hai vaah khushagavar ho jayegi phir se kyonki agar aap usi se nikal jaate hain vaah dikha tha aapko aapse dur ho jaati hai toh phir zindagi acche lagne lag jayegi toh main toh yahi kahunga zindagi jeene ke liye aur jaldi khojiye use nirash nahi hui hai koi problem zindagi hamesha aati ho jaati hai yah duniya ka usul hai ki aapko kushal milenge hum bhi milega toh hum bhi nahi ya pareshani hai toh us mujhe apni zindagi jeena chhod di jaaye uska rasta dhundh

आपके पास है मैं अपनी जिंदगी से तंग आ गया हूं क्या करूं तो सबसे पहले बात की आप अपनी जिंदगी

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  395
WhatsApp_icon
play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी हमारा जीवन जीवनी हमें बहुत कुछ सिखाता है या हमें बहुत कुछ देखने को मिलता है आप अपने जीवन में आगे कैसे बढ़ पाएंगे जीवन में हमेशा अपने जीवन को

vicky hamara jeevan jeevni hamein bahut kuch sikhata hai ya hamein bahut kuch dekhne ko milta hai aap apne jeevan mein aage kaise badh payenge jeevan mein hamesha apne jeevan ko

विकी हमारा जीवन जीवनी हमें बहुत कुछ सिखाता है या हमें बहुत कुछ देखने को मिलता है आप अपने ज

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  295
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
tang aa gaya hu ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!