संविधान की धारा अनुच्छेद 17 में क्या है?...


user

jagdeep

academy teacher

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संविधान की धारा या अनुच्छेद 17 अगर हम बात करेंगे भारतीय संविधान अनुच्छेद भाग नंबर 3 में मौलिक अधिकारों का वर्णन मिलता है अनुच्छेद अगर हम बात करेंगे 12373 मौलिक अधिकारों में सबसे पहला अधिकार है समानता का अधिकार तो समानता के अधिकार में अनुच्छेद 17 है यह सफलता का अंतर करते छुआछूत की समाप्ति अगर आप किसी को भी यह नहीं कह सकते भाई यह तो अछूत है तो यह है तू वह साथ आप किसी व्यक्ति को घृणा की दृष्टि से यह छूट नहीं कह सकते हो कानून के समक्ष सभी सम्मानित कोई छूत अछूत नहीं होता है यही है अनुच्छेद 17 अनुच्छेद 18 में है कि सभी व्यक्तियों को उसको किसी भी जाति से क्यों ना हो उसे काम के लिए उपाधि दी जाएंगी अनुच्छेद 16 में है कि भारत के प्रत्येक व्यक्ति को रोजगार के समान अवसर दिए जाएंगे वहीं अनुच्छेद 15 में है कि किसी भी व्यक्ति के साथ धर्म के आधार पर आधार पर जाति के आधार पर भेदभाव नहीं किया जाएगा धार्मिक भेदभाव का अंत अनुच्छेद 15 और अनुच्छेद 14 हैं कि वह सभी व्यक्तियों के लिए इस कानून सम्मान होगा ऐसा ने कभी गरीब के लिए अलग कानून आमिर के लिए अलग कानून सबके लिए एक अनुच्छेद 14 से 18 है समानता का कानून इसी में है अनुच्छेद 17 जो बताता है ऐसा प्रशासन किसी व्यक्ति को अछूत नहीं कहा जा सकता

samvidhan ki dhara ya anuched 17 agar hum baat karenge bharatiya samvidhan anuched bhag number 3 me maulik adhikaaro ka varnan milta hai anuched agar hum baat karenge 12373 maulik adhikaaro me sabse pehla adhikaar hai samanata ka adhikaar toh samanata ke adhikaar me anuched 17 hai yah safalta ka antar karte chuachut ki samapti agar aap kisi ko bhi yah nahi keh sakte bhai yah toh achut hai toh yah hai tu vaah saath aap kisi vyakti ko ghrina ki drishti se yah chhut nahi keh sakte ho kanoon ke samaksh sabhi sammanit koi chut achut nahi hota hai yahi hai anuched 17 anuched 18 me hai ki sabhi vyaktiyon ko usko kisi bhi jati se kyon na ho use kaam ke liye upadhi di jayegi anuched 16 me hai ki bharat ke pratyek vyakti ko rojgar ke saman avsar diye jaenge wahi anuched 15 me hai ki kisi bhi vyakti ke saath dharm ke aadhar par aadhar par jati ke aadhar par bhedbhav nahi kiya jaega dharmik bhedbhav ka ant anuched 15 aur anuched 14 hain ki vaah sabhi vyaktiyon ke liye is kanoon sammaan hoga aisa ne kabhi garib ke liye alag kanoon aamir ke liye alag kanoon sabke liye ek anuched 14 se 18 hai samanata ka kanoon isi me hai anuched 17 jo batata hai aisa prashasan kisi vyakti ko achut nahi kaha ja sakta

संविधान की धारा या अनुच्छेद 17 अगर हम बात करेंगे भारतीय संविधान अनुच्छेद भाग नंबर 3 में मौ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमेरिका संविधान की धारा अनुच्छेद 17 में क्या है तो अनुच्छेद 17 में अस्पृश्यता का अंत एनी की छुआछूत का अंत हमारे भारत में कोई भी व्यक्ति जात-पात नाम से छुआ छुआ छुआ चौथ का चौथ का भेद नहीं करेगा कि यह बात है यह भोजाजी भेजा सभी वर्ग के समान लोग हैं सभी लोग समान ने छुआछूत का अंत किया गया है

america samvidhan ki dhara anuched 17 me kya hai toh anuched 17 me asprishyata ka ant any ki chuachut ka ant hamare bharat me koi bhi vyakti jaat pat naam se chhua chhua chhua chauth ka chauth ka bhed nahi karega ki yah baat hai yah bhojaji bheja sabhi varg ke saman log hain sabhi log saman ne chuachut ka ant kiya gaya hai

अमेरिका संविधान की धारा अनुच्छेद 17 में क्या है तो अनुच्छेद 17 में अस्पृश्यता का अंत एनी क

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  524
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार ऑपरेशन है संविधान की धारा अनुच्छेद 17 में क्या देखे अनुच्छेद 17 यह कहता है कि कोई भी किसी व्यक्ति को छुआछूत के आधार पर भेदभाव नहीं कर सकता यानी अस्पष्टता का अंत किया जाता है नहीं जाता था उसका बंद किया जाता है दिखाइए कहता है कि इसे हैं तो यह गलत माना जाएगा

namaskar operation hai samvidhan ki dhara anuched 17 me kya dekhe anuched 17 yah kahata hai ki koi bhi kisi vyakti ko chuachut ke aadhar par bhedbhav nahi kar sakta yani aspashtata ka ant kiya jata hai nahi jata tha uska band kiya jata hai dikhaiye kahata hai ki ise hain toh yah galat mana jaega

नमस्कार ऑपरेशन है संविधान की धारा अनुच्छेद 17 में क्या देखे अनुच्छेद 17 यह कहता है कि कोई

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1079
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!