क्या बॉलीवुड फिल्में महिलाओं के बारे में गलत छवि दर्शाती हैं?...


user

Ramgopal Mali

Film And Tv Director

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए बॉलीवुड फिल्म के किसी महिला या किसी पुरुष के बारे में कोई गलत छवि नहीं दिखाती है यह सब काल्पनिक घटनाओं पर आधारित होता है फिल्म का मतलब होता है आपका मनोरंजन करना आपका इंटरटेन करने के लिए मूवी बनाई जाती है और किसी का उद्देश्य नहीं होता है कि अब महिलाओं की गलत छवि दिखाएं और अगर रियलिस्टिक देता है तो हम यह जो रियलिस्टिक ना होती है तो उसमें जो कैरेक्टर जिस तरह काउंटर दिए भी रोता है जो सभी उनके उपयोग दिखाई जाती है तो आप किसी तरह की कोई भी कल्पना कर सकते हैं अब चांद पे कल्पना में चांद पर घर बना सकते हैं तो यह पूरी एक कल्पना है और एक ऐसा सपना दिखाया जाता है आपको जो हकीकत लगे फिल्म के माध्यम से हर फिल्म में का यह उद्देश्य होता है कि उसकी टेंशन शाम को कुछ ऐसी है कुछ अच्छा करें निर्देशक

dekhiye bollywood film ke kisi mahila ya kisi purush ke bare me koi galat chhavi nahi dikhati hai yah sab kalpnik ghatnaon par aadharit hota hai film ka matlab hota hai aapka manoranjan karna aapka intaraten karne ke liye movie banai jaati hai aur kisi ka uddeshya nahi hota hai ki ab mahilaon ki galat chhavi dikhaen aur agar realistic deta hai toh hum yah jo realistic na hoti hai toh usme jo character jis tarah counter diye bhi rota hai jo sabhi unke upyog dikhai jaati hai toh aap kisi tarah ki koi bhi kalpana kar sakte hain ab chand pe kalpana me chand par ghar bana sakte hain toh yah puri ek kalpana hai aur ek aisa sapna dikhaya jata hai aapko jo haqiqat lage film ke madhyam se har film me ka yah uddeshya hota hai ki uski tension shaam ko kuch aisi hai kuch accha kare nirdeshak

देखिए बॉलीवुड फिल्म के किसी महिला या किसी पुरुष के बारे में कोई गलत छवि नहीं दिखाती है यह

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1203
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या बॉलीवुड फिल्में महिलाओं के बारे में गलत छवि दर्शाती हैं का को बताएंगे नहीं है कि अगर आप कहे इन टोटलिटी अगर ऐसा हो रहा है तो बिल्कुल गलत है ऐसा नहीं है कि महिलाओं की गलत छवि दिखाई जा रही है लेकिन हां कुछ फिल्में ऐसी रही है कुछ गाने ऐसे होते हैं कुछ एक आइटम नंबर ऐसे होते हैं जहां पर महिलाओं की छवि धूमिल होते हैं उनके जो अगर अस्मिता की बात की जाए तो उस पर सेट आता है तो उस तरह से अगर देखा जाए तो हां कुछ मूवीस में जरूर इस तरह की रही है लेकिन इन टोटलिटी अगर देखा जाए तो ऐसा नहीं है कि बॉलीवुड के अंदर नारी प्रधान फिर मैं भी बनती हैं और पंक्ति आईब्रो सक्सेसफुल भी हुई है तो ऐसा नहीं है कि पुरुष प्रधान जी चलता है जो नारी हैं उनको भी सम्मान दिया जाता है बॉलीवुड के अंदर मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

kya bollywood filme mahilaon ke bare mein galat chhavi darshatee hain ka ko batayenge nahi hai ki agar aap kahe in totliti agar aisa ho raha hai toh bilkul galat hai aisa nahi hai ki mahilaon ki galat chhavi dikhai ja rahi hai lekin haan kuch filme aisi rahi hai kuch gaane aise hote hain kuch ek item number aise hote hain jaha par mahilaon ki chhavi dhumil hote hain unke jo agar asmita ki baat ki jaaye toh us par set aata hai toh us tarah se agar dekha jaaye toh haan kuch Movies mein zaroor is tarah ki rahi hai lekin in totliti agar dekha jaaye toh aisa nahi hai ki bollywood ke andar nari pradhan phir main bhi banti hain aur pankti aibro successful bhi hui hai toh aisa nahi hai ki purush pradhan ji chalta hai jo nari hain unko bhi sammaan diya jata hai bollywood ke andar main subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

क्या बॉलीवुड फिल्में महिलाओं के बारे में गलत छवि दर्शाती हैं का को बताएंगे नहीं है कि अगर

Romanized Version
Likes  444  Dislikes    views  6958
WhatsApp_icon
play
user
1:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें भी कोई शक की कोई गुंजाइश नहीं है क्योंकि उनका कांटेक्ट को देखें हम तो फिर हम लोग अच्छी तरीके से हम बताए चले तो हमें समझ में आने जैसे कि हम किसी भी गाने को देखते हैं लाइफ फॉर फीमेल बॉडी पार्ट्स शॉप कांटेक्ट कल्चर 2954 हॉट इंडस्ट्रियल इंडस्ट्रियल पांचाल के लोग इस बारे में बात करें यह बहुत ही गया है कि लोग अभी अब इस बारे में आवाज उठा रहे हैं पुष्कर आफ इक्वलिटी कि मुझे ऐसा लगता है कि शायद आने वाले 5 साल में कुछ चेंज देखने का

isme bhi koi shak ki koi gunjaiesh nahi hai kyonki unka Contact ko dekhen hum toh phir hum log achi tarike se hum bataye chale toh hamein samajh mein aane jaise ki hum kisi bhi gaane ko dekhte hain life for female body parts shop Contact culture 2954 hot Industrial Industrial paanchaal ke log is bare mein baat kare yah bahut hi gaya hai ki log abhi ab is bare mein awaaz utha rahe hain pushkar of Equality ki mujhe aisa lagta hai ki shayad aane waale 5 saal mein kuch change dekhne ka

इसमें भी कोई शक की कोई गुंजाइश नहीं है क्योंकि उनका कांटेक्ट को देखें हम तो फिर हम लोग अच्

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  746
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!