क्या भगवान को गुरु मान सकते हैं?...


user

Mukesh Dandriyal

Manufacturer & Trader

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या आप भगवान को बुरा मान सकते हैं बहुत ही अच्छा पोस्ट में आपका कि आपको जो है यह प्रश्न आपके दिमाग में आया यह प्रश्न तो प्रश्न कि जब उत्पत्ति होती है किसी के दिमाग से उसके पीछे बहुत बड़ा संदेश छुपा होता है तो प्रश्न की उत्पत्ति आपके दिमाग में हुई तो संदेश समझ लीजिए बाहर आना चाहता है या आपको मिलना मिलने वाला है तो इसका मतलब यह है कि जब आप भगवान को आप अपना ग्रुप बनाते हैं तो भगवान को गुरु आप सिर्फ मूर्ति से ना बनाएं उनको ग्रुआप मूर्ति से न बनाएं कि भगवान जी की मूर्ति और यह मेरे गुरु हो गए भगवान जी ने बहुत सारे रूप लिए हैं उन रूपों में उन्होंने बहुत अच्छे अच्छे कार्य की बहुत अच्छे अच्छे कार्य तो आपको यह देखना है वह कार्य क्या क्या किया है भगवान अच्छे अच्छे अच्छे मानव हित के लिए किए हैं तू कौन सा अच्छा कार्य केयर कैसे की है यदि आपके समझ में ही आने लग गया रापेमन करने लग गए तो भगवान स्वयं ही आपके ग्रुप बन जाएंगे जान भी आपका प्रॉब्लम होगी और आपका क्वेश्चन होगा वहां आपको भगवान जो है रास्ता दिखा देंगे यानी कि आप फॉलो करना शुरू कर देंगे तो आपके समझ में यह भी आ जाएगा कि कहां-कहां कैसे-कैसे क्या-क्या करना है विकट परिस्थितियों में कैसे रखना कुछ काम को कैसे करना है क्या आपके जो है जो आप मानव धर्म में आप ने जन्म लिया है उसका मूल सिद्धांत क्या है तो यह सारी चीजें आपको मिलेंगी और ऑटोमेटेकली गॉड जो है आपके गुरु बन जाएंगे आप उनको समझने लग जाएंगे और जब शिष्य गुरु को समझना शुरू कर देता है तो उससे ज्यादा सीखता है थैंक यू

aapka prashna hai kya aap bhagwan ko bura maan sakte hain bahut hi accha post me aapka ki aapko jo hai yah prashna aapke dimag me aaya yah prashna toh prashna ki jab utpatti hoti hai kisi ke dimag se uske peeche bahut bada sandesh chupa hota hai toh prashna ki utpatti aapke dimag me hui toh sandesh samajh lijiye bahar aana chahta hai ya aapko milna milne vala hai toh iska matlab yah hai ki jab aap bhagwan ko aap apna group banate hain toh bhagwan ko guru aap sirf murti se na banaye unko gruaap murti se na banaye ki bhagwan ji ki murti aur yah mere guru ho gaye bhagwan ji ne bahut saare roop liye hain un roopon me unhone bahut acche acche karya ki bahut acche acche karya toh aapko yah dekhna hai vaah karya kya kya kiya hai bhagwan acche acche acche manav hit ke liye kiye hain tu kaun sa accha karya care kaise ki hai yadi aapke samajh me hi aane lag gaya rapeman karne lag gaye toh bhagwan swayam hi aapke group ban jaenge jaan bhi aapka problem hogi aur aapka question hoga wahan aapko bhagwan jo hai rasta dikha denge yani ki aap follow karna shuru kar denge toh aapke samajh me yah bhi aa jaega ki kaha kaha kaise kaise kya kya karna hai vikat paristhitiyon me kaise rakhna kuch kaam ko kaise karna hai kya aapke jo hai jo aap manav dharm me aap ne janam liya hai uska mul siddhant kya hai toh yah saari cheezen aapko milegi aur atometekli god jo hai aapke guru ban jaenge aap unko samjhne lag jaenge aur jab shishya guru ko samajhna shuru kar deta hai toh usse zyada sikhata hai thank you

आपका प्रश्न है क्या आप भगवान को बुरा मान सकते हैं बहुत ही अच्छा पोस्ट में आपका कि आपको जो

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  1378
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!