मैं हमेशा नर्वस रहता हूँ, क्या करूँ?...


user

Geeta Antil

Counselling Psychologist

4:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंजू क्या आपने कहा कि आप को मैक्सिमम टाइम ना बस चाहते हैं ठीक है मैं आपको एक चीज यह जरूर कहना चाहूंगी कि आप अभी से सावधान हो जाइए क्योंकि यह जो नवरत्न नर्वसनेस है यह आपकी और आगे ना बढ़ पाए ठीक है जैसे आपने लिखा है तो मैं आशा करती हूं कि यह आप की नज़रों से आपको क्या नाम है डेट उठाइए लाइफ में डिस्टर्ब नहीं करती होगी ठीक है तो एक ऑन शीशा की जननी हम लोग का क्या होता है कि हम लोग जब किसी चीज से डरते हैं नर्वस होते हैं ऐसा कोई भी चीज इंसान परेशान होते तो हम उससे बचने की कोशिश करते हैं तो आप पहले यह देखिए ऐसी कंडीशन का क्या सामना कर पाएंगे बार-बार जैसे ही जाने से आप नर्वस हो तो आप क्या यह टिविटी बार-बार कर सकते हैं कि आप बार-बार भीड़ में जाने की कोशिश करके देखिए अगर आपको बहुत ज्यादा उससे प्रॉब्लम नहीं होती है तो मैं कहूंगी कि आप उन चीजों को बार-बार फेस करने की कोशिश कीजिए मैं भी आपकी नफरत में कम हो जाए उन चीजों को बार-बार फेस करने की बट आप अगर ऐसी कंडीशन से बार-बार जाते हैं ऐसे सरकमस्टेंस कर बार-बार सामना करते हैं ऐसे में आपको बार-बार करने के बाद आपको खाली भी नर्वसनेस के अलावा बेचैनी और झुंझलाहट या इस तरह की कोई और प्रॉब्लम सदर आपको होती हैं तो मत कीजिएगा ठीक है कि हम किस जनरल भी होता है कि आप एक नॉर्मल होता है बट अगर सब कुछ नॉर्मल ही होते हैं अगर हम चीज को बार बार पेश करते हैं तो हम उस सपने नर्वसनेस को उबर कर सकते हैं अगर आप में कुछ और चीज़े भी दिखने में आती है तो थोड़ा सा परेशानी वाली बात है तो आपको क्या है आपको किसी अच्छी जो आपके पास हो कम से कम बिल्ली से बात कर लीजिए तो वह आपको फिर आपको मुझे भी नहीं पता कि आप किस चीज से ज्यादा नर्वसनेस होती है आप उसी सामना करते एग्जैक्ट ली क्या फील करते हैं कि आप उस चीज को बार बार पेश करना चाहेंगे नहीं करना चाहिए कर पाएंगे करना तो चाहते ही नहीं कर पाएंगे या नहीं कोशिश कीजिए जो मैंने कहा है ऐसा कर सकते हैं उसके मन में ना आपके मन में हमेशा खुश रहती होगी अच्छा मैं वहां जाऊंगा तो मैं अंदर हूं सो जाऊंगा इस तरह के थॉट हमारे मन में पहले से ही हो जाते हैं तो वह वह थॉट प्रोसेस के ना हम लोग की तो कंडीशनिंग कर देता है कि हम लोग को एकदम से नहीं होगा धीरे-धीरे होगा बट आपको कभी भी आपको क्या कि हम लोग का महीना हमेशा कुछ न कुछ सोचता रहता है हमेशा तू आप एकदम से कभी भी आप थोड़ा सा अटैंटिव रही है क्या आप क्या सोच रहे हैं कि आप इस तरह की कोई नई व्हाट्सएप मी मी सम टाइम टेबल में लोगों को लगता है कि यार यह क्या चीज पैसा ऐसा करने से कुछ होता नहीं है बट ऐसा करने से बहुत कुछ होता है अब थॉट प्रोसेस को चेंज करने की कोशिश कत्थक पशु चेंज हो जाएगा ऑटोमेटिक आपकी प्रॉब्लम भी बहुत सारी प्रॉब्लम सॉर्ट आउट हो जाएंगे

Anju kya aapne kaha ki aap ko maximum time na bus chahte hain theek hai main aapko ek cheez yah zaroor kehna chahungi ki aap abhi se savdhaan ho jaiye kyonki yah jo navratna nervousness hai yah aapki aur aage na badh paye theek hai jaise aapne likha hai toh main asha karti hoon ki yah aap ki najaron se aapko kya naam hai date uthaiye life me disturb nahi karti hogi theek hai toh ek on shisha ki janani hum log ka kya hota hai ki hum log jab kisi cheez se darte hain nervous hote hain aisa koi bhi cheez insaan pareshan hote toh hum usse bachne ki koshish karte hain toh aap pehle yah dekhiye aisi condition ka kya samana kar payenge baar baar jaise hi jaane se aap nervous ho toh aap kya yah TVT baar baar kar sakte hain ki aap baar baar bheed me jaane ki koshish karke dekhiye agar aapko bahut zyada usse problem nahi hoti hai toh main kahungi ki aap un chijon ko baar baar face karne ki koshish kijiye main bhi aapki nafrat me kam ho jaaye un chijon ko baar baar face karne ki but aap agar aisi condition se baar baar jaate hain aise sarakamastens kar baar baar samana karte hain aise me aapko baar baar karne ke baad aapko khaali bhi nervousness ke alava bechaini aur jhunjhalahat ya is tarah ki koi aur problem sadar aapko hoti hain toh mat kijiega theek hai ki hum kis general bhi hota hai ki aap ek normal hota hai but agar sab kuch normal hi hote hain agar hum cheez ko baar baar pesh karte hain toh hum us sapne nervousness ko ubar kar sakte hain agar aap me kuch aur cheeje bhi dikhne me aati hai toh thoda sa pareshani wali baat hai toh aapko kya hai aapko kisi achi jo aapke paas ho kam se kam billi se baat kar lijiye toh vaah aapko phir aapko mujhe bhi nahi pata ki aap kis cheez se zyada nervousness hoti hai aap usi samana karte exact li kya feel karte hain ki aap us cheez ko baar baar pesh karna chahenge nahi karna chahiye kar payenge karna toh chahte hi nahi kar payenge ya nahi koshish kijiye jo maine kaha hai aisa kar sakte hain uske man me na aapke man me hamesha khush rehti hogi accha main wahan jaunga toh main andar hoon so jaunga is tarah ke thought hamare man me pehle se hi ho jaate hain toh vaah vaah thought process ke na hum log ki toh Conditioning kar deta hai ki hum log ko ekdam se nahi hoga dhire dhire hoga but aapko kabhi bhi aapko kya ki hum log ka mahina hamesha kuch na kuch sochta rehta hai hamesha tu aap ekdam se kabhi bhi aap thoda sa ataintiv rahi hai kya aap kya soch rahe hain ki aap is tarah ki koi nayi whatsapp me me some time table me logo ko lagta hai ki yaar yah kya cheez paisa aisa karne se kuch hota nahi hai but aisa karne se bahut kuch hota hai ab thought process ko change karne ki koshish katthak pashu change ho jaega Automatic aapki problem bhi bahut saari problem sort out ho jaenge

अंजू क्या आपने कहा कि आप को मैक्सिमम टाइम ना बस चाहते हैं ठीक है मैं आपको एक चीज यह जरूर क

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

no name

Businessman

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन है कि आप हमेशा व्यस्त रहते हैं मैं क्या करूं दिल में आपके पापा के साथ भारत में घूमना होता है और वह बच्चा पार्क के बाहर खड़े जो बैलून वाला होता है उसको देखता रहता है कि मैं तो 1 दिन के लिए तो वह बैलून वाला उसको लेकर बैलून वाले के पास लेकर जाते हैं क्या वह भी उड़ सकता है तो जो बैलून वाला होता है वह तो बोलता है कि बैलून अपने कलर करके नहीं उड़ता अपने अंदर भरी आग के कारण होता है अपने अंदर बड़ी गैस के कारण मैं आपको भी कहना चाहूंगा नर्वस बंदा होता है तो कहीं ना कहीं अपने कलर को ऐसी कोई भी जो उसने ऐसा उसको लगता है कि मैं लेकिन आपके अंदर भी वह क्वॉलिटी है जिससे आप ऊपर के भारत क्वालिटी को आप बाहर निकालिए और जिस चीज को लेकर आप नर्वस हो रहे हो उसको क्योंकि डर के आगे जीत है हॉनर 10

question hai ki aap hamesha vyast rehte hain main kya karu dil me aapke papa ke saath bharat me ghumana hota hai aur vaah baccha park ke bahar khade jo balloon vala hota hai usko dekhta rehta hai ki main toh 1 din ke liye toh vaah balloon vala usko lekar balloon waale ke paas lekar jaate hain kya vaah bhi ud sakta hai toh jo balloon vala hota hai vaah toh bolta hai ki balloon apne color karke nahi udta apne andar bhari aag ke karan hota hai apne andar badi gas ke karan main aapko bhi kehna chahunga nervous banda hota hai toh kahin na kahin apne color ko aisi koi bhi jo usne aisa usko lagta hai ki main lekin aapke andar bhi vaah quality hai jisse aap upar ke bharat quality ko aap bahar nikaliye aur jis cheez ko lekar aap nervous ho rahe ho usko kyonki dar ke aage jeet hai honour 10

क्वेश्चन है कि आप हमेशा व्यस्त रहते हैं मैं क्या करूं दिल में आपके पापा के साथ भारत में घू

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप हमेशा नर्वस रहते हैं इसका कारण यह है कि आपको जनरलाइज्ड एंजायटी डिसऑर्डर है और इस समस्या के होने के पीछे का कारण है कि कहीं ना कहीं आप घर है उसे किसी बात को लेकर चिंतित हैं चिंता का कारण कुछ भी हो सकता है आपको देखना होगा कि आपके कैरियर से संबंधित आप किसी बात को लेकर चिंता तो नहीं कर रहे हैं या परिवारिक चिंता हो सकता है या कई बार होता है कि व्यक्तिगत कारणों से भी व्यक्ति चिंतित हो जाता है एक अहम मुद्दा यह भी है कि कुछ लोगों को आदत होता है किसी चीज पर ज्यादा सोचते रहना और उसका कोई मतलब नहीं चलता है और उसको उसको है विजुअल एंजायटी करते मतलब की एक आपको आदत हो गई है किसी चीज के बारे में गलत तरीके से सोच लेना उसके मीनिंग को निकालना और अपने आप से कॉल लेट करना अपने आप से जोड़ने की कोशिश करना तो सुबह से लेकर शाम तक जो भी घटनाएं घट रही हैं उन सब के बारे में सोचना देश में क्या हो रहा है घर में हो रहा है परिवार में क्या हो रहा है ऑफिस में क्या हो रहा है मेरे जीवन में क्या हो रहा है तो इस तरह से क्या होता है कि आप हर वक्त कुछ न कुछ आपके मन में विपरीत चीजें चलती रहती हैं और इसका मुझे रिया बनता है कि आप जब आपसे कोई कुछ बात करता है तो आप एक नर्वस किस्म के इंसान बन जाते हैं और आपका कंसंट्रेशन इसीलिए हो जाता है आप किसी चीज पर फोकस नहीं कर पाते हैं जल्दी आप भूल जाते होंगे और जल्दी आप किसी चीज का जवाब नहीं दे पाते हैं या कई बार आप ज्यादा चिंतित इरिटेट हो जाते हैं गुस्सा आ जाते हैं तो इस तरह से नर्वस रहना सही नहीं है आपको अपनी चिंता का कारण ढूंढना चाहिए और सबसे अच्छा है कि आप अपनी बातों को लिखना शुरु कर दीजिए और जब आपको लगे कि आप बहुत ज्यादा नर्वस हैं तो आपको वह उस चीज को पढ़ना चाहिए तो धीरे-धीरे आपको अपने बारे में चिंता के कारण कारण आपके पता चल जाएंगे और 1 दिन ऐसा मेरा क्या वो खुद पर कॉन्फिडेंस होगा और आप एकदम बिल्कुल अपने आपको तरोताजा महसूस करेंगे और जो अभी आप नरवर से एक समय आएगा कि आप बिल्कुल दम खिले खिले रहिएगा

aap hamesha nervous rehte hain iska karan yah hai ki aapko generalised enjayati disorder hai aur is samasya ke hone ke peeche ka karan hai ki kahin na kahin aap ghar hai use kisi baat ko lekar chintit hain chinta ka karan kuch bhi ho sakta hai aapko dekhna hoga ki aapke carrier se sambandhit aap kisi baat ko lekar chinta toh nahi kar rahe hain ya pariwarik chinta ho sakta hai ya kai baar hota hai ki vyaktigat karanon se bhi vyakti chintit ho jata hai ek aham mudda yah bhi hai ki kuch logo ko aadat hota hai kisi cheez par zyada sochte rehna aur uska koi matlab nahi chalta hai aur usko usko hai visual enjayati karte matlab ki ek aapko aadat ho gayi hai kisi cheez ke bare me galat tarike se soch lena uske meaning ko nikalna aur apne aap se call late karna apne aap se jodne ki koshish karna toh subah se lekar shaam tak jo bhi ghatnaye ghat rahi hain un sab ke bare me sochna desh me kya ho raha hai ghar me ho raha hai parivar me kya ho raha hai office me kya ho raha hai mere jeevan me kya ho raha hai toh is tarah se kya hota hai ki aap har waqt kuch na kuch aapke man me viprit cheezen chalti rehti hain aur iska mujhe riya banta hai ki aap jab aapse koi kuch baat karta hai toh aap ek nervous kism ke insaan ban jaate hain aur aapka kansantreshan isliye ho jata hai aap kisi cheez par focus nahi kar paate hain jaldi aap bhool jaate honge aur jaldi aap kisi cheez ka jawab nahi de paate hain ya kai baar aap zyada chintit irritate ho jaate hain gussa aa jaate hain toh is tarah se nervous rehna sahi nahi hai aapko apni chinta ka karan dhundhana chahiye aur sabse accha hai ki aap apni baaton ko likhna shuru kar dijiye aur jab aapko lage ki aap bahut zyada nervous hain toh aapko vaah us cheez ko padhna chahiye toh dhire dhire aapko apne bare me chinta ke karan karan aapke pata chal jaenge aur 1 din aisa mera kya vo khud par confidence hoga aur aap ekdam bilkul apne aapko tarotaja mehsus karenge aur jo abhi aap narvar se ek samay aayega ki aap bilkul dum khile khile rahiega

आप हमेशा नर्वस रहते हैं इसका कारण यह है कि आपको जनरलाइज्ड एंजायटी डिसऑर्डर है और इस समस्या

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  228
WhatsApp_icon
play
user

Alok Vishwakarma

Accountant/Meditation Instructor

2:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते आपका प्रश्न है कि मैं हमेशा नर्वस रहता हूं क्या करूं तो देखिए और नर्वसनेस होता क्यों है अंदर में आप कोई प्रॉब्लम ना कुछ तकलीफ है ना और आप मानने को तैयार नहीं है कि मुझ में वह प्रॉब्लम है पर एग्जांपल आपको कुछ बोलना है आपको पता है आप गलत बोलेंगे लेकिन आप यह मानने को तैयार नहीं कि अपना तोड़ेंगे अरे मैं गलत कैसे बोल सकता हूं लेकिन स्नेक स्नेक स्नेक ऑन द प्रॉब्लम है ना तो करने का ऐसा है आप पहले आप मानिए या कोई काम तो मैं करने जा रहा हूं ना चाहे किसी के रूम में जा रहा हूं न प्रिंसिपल के ऑफिस में जा रहा हूं या फिर ज्यादा बोलते हैं आपने बहुत से मिलने जा रहा हूं या फिर मुझे स्टेज में जाकर कुछ बोलना किसी भी काम करने से पहले जो भी आपका नर्वसनेस है ठीक है जिस चीज को लेकर उस चीज को मान लीजिए कि हां मैं वैसा हूं अब बताओ क्या जब उस भाग को स्थित कर लेंगे कि हां मुझे बोलना नहीं आता है लेकिन मुझे फिर भी बोलना तो पड़ेगा ही तब क्या है जो आपका मन है वह आप अरे तुमको तो बोलना नहीं आता है ना तुम तो नहीं बोल पाओगे यह गलती हो जाएगी तो लोग ऐसा बोलेंगे गलती होती तो वैसा बोले जवाब एक्सेप्ट कर लेंगे मान ले कि हां मुझ में प्रॉब्लम है ना तो मनुष्य वहां जाएगा अरे हां तो बताओ ना यार कैसे ठीक किया जाए तो आपका माइंड ऑटोमेटिकली प्रॉब्लम से हटकर सलूशन में जाने लगेगा ठीक है और यही मूल मंत्र आप कह दीजिए से किधर बस्ती से हटने का कि आप वरना नहीं चाहते हैं कि आप नववर्ष है इसलिए आपकी नववर्ष और बढ़ती जाती बस बोल दीजिए देखेंगे धीरे-धीरे करके आपकी जो मनोदशा है वह शांत भी होने लगेगी और समाधान की तरफ वृद्धि होने लगेगी ठीक है आशा करता हूं आपको अपना उत्तर व समाधान अवश्य मिला होगा थैंक यू सो मच

namaste aapka prashna hai ki main hamesha nervous rehta hoon kya karu toh dekhiye aur nervousness hota kyon hai andar me aap koi problem na kuch takleef hai na aur aap manne ko taiyar nahi hai ki mujhse me vaah problem hai par example aapko kuch bolna hai aapko pata hai aap galat bolenge lekin aap yah manne ko taiyar nahi ki apna todenge are main galat kaise bol sakta hoon lekin snake snake snake on the problem hai na toh karne ka aisa hai aap pehle aap maniye ya koi kaam toh main karne ja raha hoon na chahen kisi ke room me ja raha hoon na principal ke office me ja raha hoon ya phir zyada bolte hain aapne bahut se milne ja raha hoon ya phir mujhe stage me jaakar kuch bolna kisi bhi kaam karne se pehle jo bhi aapka nervousness hai theek hai jis cheez ko lekar us cheez ko maan lijiye ki haan main waisa hoon ab batao kya jab us bhag ko sthit kar lenge ki haan mujhe bolna nahi aata hai lekin mujhe phir bhi bolna toh padega hi tab kya hai jo aapka man hai vaah aap are tumko toh bolna nahi aata hai na tum toh nahi bol paoge yah galti ho jayegi toh log aisa bolenge galti hoti toh waisa bole jawab except kar lenge maan le ki haan mujhse me problem hai na toh manushya wahan jaega are haan toh batao na yaar kaise theek kiya jaaye toh aapka mind atometikli problem se hatakar salution me jaane lagega theek hai aur yahi mul mantra aap keh dijiye se kidhar basti se hatane ka ki aap varna nahi chahte hain ki aap navavarsh hai isliye aapki navavarsh aur badhti jaati bus bol dijiye dekhenge dhire dhire karke aapki jo manodasha hai vaah shaant bhi hone lagegi aur samadhan ki taraf vriddhi hone lagegi theek hai asha karta hoon aapko apna uttar va samadhan avashya mila hoga thank you so match

नमस्ते आपका प्रश्न है कि मैं हमेशा नर्वस रहता हूं क्या करूं तो देखिए और नर्वसनेस होता क्यो

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user

डॉ अजय आर्य

Author| Social worker

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमेशा नर्वस रहना नर्वस रहना व्यक्ति के आत्मविश्वास की कमी के कारण होता है इसका एक मनोवैज्ञानिक पक्ष है कई बार आत्मविश्वास इतनी हमारे परिवेश के कारण ही होती है जब हमें कोई बार बार टूटता है या हम ऐसे लोगों के बीच में रहते हैं जो आत्मविश्वास में हमसे ज्यादा है या हमसे कुछ अच्छा कर रहे हैं तब भी हमारे भीतर आत्मविश्वास की कमी हो जाती है और हम मुझे सोने का नर्वसनेस को खत्म करने के लिए मनोवैज्ञानिक देखें इसके उपचार की पर मुझे तो लगता है अगर आप बच्चों के साथ रहने लगे छोटे बच्चों के साथ खेलने लगे तो बच्चों की खुशी है बच्चों का जो बताओ पंडित प्रसन्नता है वह हमारे नर्वसनेस को कम करती है इसलिए बहुत छोटे छोटे से उपाय कीजिए प्रकृति को देखिए रोज सूरज को देखिए नदिया चरणों की आवाज सुनी छोटे बच्चों की मुस्कुराहट को देखी उनको देखिए और उनके साथ वक्त बिताने की कोशिश कीजिए तो यह नर्वसनेस धीरे-धीरे कम होने लगेगी

hamesha nervous rehna nervous rehna vyakti ke aatmvishvaas ki kami ke karan hota hai iska ek manovaigyanik paksh hai kai baar aatmvishvaas itni hamare parivesh ke karan hi hoti hai jab hamein koi baar baar tootata hai ya hum aise logo ke beech me rehte hain jo aatmvishvaas me humse zyada hai ya humse kuch accha kar rahe hain tab bhi hamare bheetar aatmvishvaas ki kami ho jaati hai aur hum mujhe sone ka nervousness ko khatam karne ke liye manovaigyanik dekhen iske upchaar ki par mujhe toh lagta hai agar aap baccho ke saath rehne lage chote baccho ke saath khelne lage toh baccho ki khushi hai baccho ka jo batao pandit prasannata hai vaah hamare nervousness ko kam karti hai isliye bahut chote chote se upay kijiye prakriti ko dekhiye roj suraj ko dekhiye nadiya charno ki awaaz suni chote baccho ki muskurahat ko dekhi unko dekhiye aur unke saath waqt bitane ki koshish kijiye toh yah nervousness dhire dhire kam hone lagegi

हमेशा नर्वस रहना नर्वस रहना व्यक्ति के आत्मविश्वास की कमी के कारण होता है इसका एक मनोवैज्ञ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user

Adv Aakash verma

Teaching and UPSC student

4:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दिस इज में आकाश आज का क्वेश्चन है हमेशा में नर्वस रहता हूं क्यों एक ही नर्वसनेस को 1 दिन में नहीं आया है इसके पीछे एक लंबा रीज़न होगा कहीं ना कहीं आपका फास्ट जो है से कनेक्टेड है फास्ट में क्या होता है हम जब किसी काम को करने बैठते हैं और वह काम हमारा असफल हो जाता है तो वहीं से यह धीरे-धीरे आ सकते हैं कि इसकी जड़ की शुरुआत हो जाती है जिन कामों को हम करने बैठते हैं वह सब काम हमारा बिगड़ जाता है वहां से हमारा माइंड स्ट्रेस लेना शुरू कर देता है वह तनाव धीरे-धीरे कई रूपों में चेंज जाता है जैसे जैसे हमारा एक काम बिगड़ता है हम उसको सोच सोच कर अपनी बाकी की चीजों को भी निकालना शुरू कर देते हैं जैसे मेरा कोई एक काम बिगड़ा अब मैं पूरे दिन उसको सोचता रहा इस वजह से मैंने अपना खाना टाइम पर नहीं लिया मैं सोया टाइम पर नहीं या मैंने जो वर्कआउट करता था वह भी नहीं किया या मेरे बाकी काम दूर करने की वह भी नहीं हो पाए इन सब को लेकर क्या हुआ कि मेरे एक काम की वजह से मैंने 10 आम और बिगड़े बिगड़े तो आपका 10 काम यह एक कांबोज बिगड़ा था 11 का माप क्या कल फिर उस तरीके से होगा 3 दिन पर दिन क्या होता है एक हमारी बॉडी में इन पर एक प्रॉब्लम से टूट जाती है और हम इसको लेकर एक नई समस्या से जूझते रहते हैं जब यह बढ़ता जाता है आपके काम लगातार बिगड़ते जाते हैं तो आपका माइंड बहुत ज्यादा तनाव घटने लगता है कई तरीके से आपको स्वास्थ्य समस्याएं भी होती हैं प्लस साथ ही साथ आपको हर वह काम जो कि नॉर्मल होता है वह भी आपको बहुत कठिन महसूस होने लगता है हर काम में आपको असफलता दिखने लगती है इन सब से अगर आपको पीछा छुड़ाना है तो सबसे आसान तरीका यह है कि एक केक प्रॉब्लम को उसी ढंग से मैनेज किया जाए जैसे किसी का स्टेटमेंट जाता है आप मुझे को फेस करना सीखे क्योंकि आपको यह सीखना होगा कि इस मानव जीवन में असंभव कुछ भी नहीं है हर वो चीज जो आपकी बिगड़ रही है वह सफल हो सकती है बस प्रयास करना होगा जब कांटीने प्रयास करेंगे तो आपके 11 के 11 काम तो नहीं बनेंगे लेकिन यह शौर्य के आपके 526 काम तो बनेंगे इसके जवाब में काम बनेंगे तो आपके माइंड थोड़ा सा प्रेशर कम अर्थात कह सकते हैं जो आपका माइंड जल्दी-जल्दी चेंज हो रहा है इसको मूड स्विंग करना बोलते हैं कि आप कह सकते हैं कि जो आपका अवसाद टाइप का जो आपके माइंड पर प्रेशर बनाया धीरे धीरे कर सकते हैं कि आपको लोगों से डर लग रहा है कि यह काम मुझसे नहीं होगा उनसे धीरे धीरे से प्रश्न आएगा यह काम एकदम से नहीं हो सकता है क्योंकि इस नर्वस होना है यह कोई छोटी समस्या नहीं है कि इसमें क्या होता है कि यह इतनी जल्दी कोई ऐसा ही डालता है लेकिन इसमें क्या होता है कि आप हर एक चीज को बहुत असहज तरीके से पेश करते हो तो आपको इसमें यह इंपॉर्टेंट रोल निभाना है कि आपको हर चीज को थोड़ा सा क्वालिटी में लेना और अपने जीवन के रहस्य को जानना है कि आपको जीवन क्यों मिला है उसमें आपको क्या क्या काम करना चाहिए जवाब नहीं चीजों को समझेंगे आप इन चीजों को आप सामने लाएंगे तो आपको खुद ही समझ में आएगा कि यह काम मुझसे हो सकता है मैं अपने इस काम की वजह से अपने बाकी काम क्यों बिगाड़ा जैसे-जैसे आप सीढ़ियां चढ़ना शुरू करोगे पहले कदम के बाद दूसरे कर्म तीसरे का नाम ऐसे आपकी लाइट चाहिए स्त्री कम होगा और साथ ही साथ नर्वसनेस भी कम हो जाएगी बस फिजिकल एक्टिविटी जरूर करिए थोड़ा बहुत दबाब मॉर्निंग वाक वगैरह करेंगे तो इसका भी आपके दोस्त लोग तो हैं आपके आसपास का जो सर्कल यूनिट से भरा हो तो आप को मोटिवेट कर सके ऐसे दोस्तों से दूर रहिए आपको हमेशा ऐसा बताते हैं जो आपको और नर्वसनेस करता है आपको जब सरकाल अच्छा होगा तो आपको अच्छे थॉट्स के आएंगे लेकिन करता है कि आप किस तरीके से थॉट्स आपके माइंड में लाने लगातार कोशिश करते रहिए कि आप हमेशा अपनी उन चीजों के ऊपर काम करें जिसकी वजह से आपको प्रॉब्लम हो रही है अगर इसमें कोई भी दिक्कत इस तरीके से आती तो यह शौर्य की जैसे माली आपका एक काम बिगड़ रहा है तो आप बाकी के चार काम ना बिगड़ी है जब आप बाकी के चार काम कर लेंगे तो आपका प्लेसमेंट आपका प्रेशर हाई नहीं होगा वैसे क्या होता है हम लगातार उसको हाई करें तो आपका राशन धीरे-धीरे करके कम हो जाएगा ओके थैंक यू

hello this is me akash aaj ka question hai hamesha me nervous rehta hoon kyon ek hi nervousness ko 1 din me nahi aaya hai iske peeche ek lamba region hoga kahin na kahin aapka fast jo hai se connected hai fast me kya hota hai hum jab kisi kaam ko karne baithate hain aur vaah kaam hamara asafal ho jata hai toh wahi se yah dhire dhire aa sakte hain ki iski jad ki shuruat ho jaati hai jin kaamo ko hum karne baithate hain vaah sab kaam hamara bigad jata hai wahan se hamara mind stress lena shuru kar deta hai vaah tanaav dhire dhire kai roopon me change jata hai jaise jaise hamara ek kaam bigadta hai hum usko soch soch kar apni baki ki chijon ko bhi nikalna shuru kar dete hain jaise mera koi ek kaam bigda ab main poore din usko sochta raha is wajah se maine apna khana time par nahi liya main soya time par nahi ya maine jo workout karta tha vaah bhi nahi kiya ya mere baki kaam dur karne ki vaah bhi nahi ho paye in sab ko lekar kya hua ki mere ek kaam ki wajah se maine 10 aam aur bigade bigade toh aapka 10 kaam yah ek kamboj bigda tha 11 ka map kya kal phir us tarike se hoga 3 din par din kya hota hai ek hamari body me in par ek problem se toot jaati hai aur hum isko lekar ek nayi samasya se jujhte rehte hain jab yah badhta jata hai aapke kaam lagatar bigadte jaate hain toh aapka mind bahut zyada tanaav ghatane lagta hai kai tarike se aapko swasthya samasyaen bhi hoti hain plus saath hi saath aapko har vaah kaam jo ki normal hota hai vaah bhi aapko bahut kathin mehsus hone lagta hai har kaam me aapko asafaltaa dikhne lagti hai in sab se agar aapko picha chhudana hai toh sabse aasaan tarika yah hai ki ek cake problem ko usi dhang se manage kiya jaaye jaise kisi ka statement jata hai aap mujhe ko face karna sikhe kyonki aapko yah sikhna hoga ki is manav jeevan me asambhav kuch bhi nahi hai har vo cheez jo aapki bigad rahi hai vaah safal ho sakti hai bus prayas karna hoga jab kantine prayas karenge toh aapke 11 ke 11 kaam toh nahi banenge lekin yah shorya ke aapke 526 kaam toh banenge iske jawab me kaam banenge toh aapke mind thoda sa pressure kam arthat keh sakte hain jo aapka mind jaldi jaldi change ho raha hai isko mood swing karna bolte hain ki aap keh sakte hain ki jo aapka avsad type ka jo aapke mind par pressure banaya dhire dhire kar sakte hain ki aapko logo se dar lag raha hai ki yah kaam mujhse nahi hoga unse dhire dhire se prashna aayega yah kaam ekdam se nahi ho sakta hai kyonki is nervous hona hai yah koi choti samasya nahi hai ki isme kya hota hai ki yah itni jaldi koi aisa hi dalta hai lekin isme kya hota hai ki aap har ek cheez ko bahut asahaj tarike se pesh karte ho toh aapko isme yah important roll nibhana hai ki aapko har cheez ko thoda sa quality me lena aur apne jeevan ke rahasya ko janana hai ki aapko jeevan kyon mila hai usme aapko kya kya kaam karna chahiye jawab nahi chijon ko samjhenge aap in chijon ko aap saamne layenge toh aapko khud hi samajh me aayega ki yah kaam mujhse ho sakta hai main apne is kaam ki wajah se apne baki kaam kyon bigada jaise jaise aap sidhiyan chadhna shuru karoge pehle kadam ke baad dusre karm teesre ka naam aise aapki light chahiye stree kam hoga aur saath hi saath nervousness bhi kam ho jayegi bus physical activity zaroor kariye thoda bahut dabab morning walk vagera karenge toh iska bhi aapke dost log toh hain aapke aaspass ka jo circle unit se bhara ho toh aap ko motivate kar sake aise doston se dur rahiye aapko hamesha aisa batatey hain jo aapko aur nervousness karta hai aapko jab sarkal accha hoga toh aapko acche thoughts ke aayenge lekin karta hai ki aap kis tarike se thoughts aapke mind me lane lagatar koshish karte rahiye ki aap hamesha apni un chijon ke upar kaam kare jiski wajah se aapko problem ho rahi hai agar isme koi bhi dikkat is tarike se aati toh yah shorya ki jaise maali aapka ek kaam bigad raha hai toh aap baki ke char kaam na bigadi hai jab aap baki ke char kaam kar lenge toh aapka placement aapka pressure high nahi hoga waise kya hota hai hum lagatar usko high kare toh aapka raashan dhire dhire karke kam ho jaega ok thank you

हेलो दिस इज में आकाश आज का क्वेश्चन है हमेशा में नर्वस रहता हूं क्यों एक ही नर्वसनेस को 1

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं हमेशा नाराज रहता हूं क्या करूं आपको मेडिटेशन प्राणायाम विपस्सना ट्रांसफर इनटू मेडिटेशन मॉर्निंग वॉक सोशल गैदरिंग मिलाके बातें करना चाहिए

main hamesha naaraj rehta hoon kya karu aapko meditation pranayaam vipassana transfer into meditation morning walk social gathering milake batein karna chahiye

मैं हमेशा नाराज रहता हूं क्या करूं आपको मेडिटेशन प्राणायाम विपस्सना ट्रांसफर इनटू मेडिटेशन

Romanized Version
Likes  956  Dislikes    views  15105
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने फेसबुक का सबसे छोटा हर समय काम को दावत दिमाग चलाओ काम करना है मुझे यह काम करना है मुझे वो काम में बिजी रहोगे गर्भवती क्षमता के बाद भी कामचोर बन जाता है उसका मन नहीं करता अभी सब करने के बाद

apne facebook ka sabse chota har samay kaam ko daawat dimag chalao kaam karna hai mujhe yah kaam karna hai mujhe vo kaam me busy rahoge garbhwati kshamta ke baad bhi kaamchor ban jata hai uska man nahi karta abhi sab karne ke baad

अपने फेसबुक का सबसे छोटा हर समय काम को दावत दिमाग चलाओ काम करना है मुझे यह काम करना है मु

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  4031
WhatsApp_icon
user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमेशा नर्वस लेने की वजह क्या है यह जो आप की आदत में शुमार हो गया नर्वस रहना तू कहीं ऐसा तो नहीं है कि कभी आपने बहुत बड़ा सेट बैक कोई बहुत बड़ी निराशा या कोई बहुत बड़ा अपने प्रिय जिला है जिस वजह से आपके अंदर डर बैठ गया है तुझे कुछ कभी-कभी ऐसी नेगेटिव घटनाएं हमारे जीवन में हो जाती हैं कि जो हमारे मन में बैठ जाती हैं और बार-बार हमें वही याद आती है तो जब भी प्रकार होगा इमोशन वैसा वाला किसी भी घटना सोच सकता है किसी भी व्यक्ति से हो सकता है तो वह ट्रिगर होने पर वापस हमें वही चीजें याद आती हैं उन्हीं चीजों से हम दोबारा गुजरते हैं और हमें ऐसा लगता है कि अब हम वापस उसी सिचुएशन में कैद हो गए हैं फंस गए हैं तो यह भी नर्वसनेस का कारण हो सकता है कि आपको कभी कभी ऐसा महसूस होता है जिस वजह से आप हर नहीं सिचुएशन में या हर एक न इंटरेक्शन में वह नर्वसनेस फील करते हो तो आप जो है इसके लिए अथॉरिटी लीजिए अपने साइकोलॉजिस्ट से उनसे दिया जो है खुल कर बात कीजिए कि किस प्रकार की नर्वस सोती है शारीरिक रूप से मानसिक रूप से क्या लक्षण आते हैं और कब कब होता है तो फिर हम पता लगाएंगे कि इसकी मूल कारण क्या है और इसकी फ्रीक्वेंसी क्या है और उसका निवारण किस प्रकार किया जाए धन्यवाद

hamesha nervous lene ki wajah kya hai yah jo aap ki aadat me shumaar ho gaya nervous rehna tu kahin aisa toh nahi hai ki kabhi aapne bahut bada set back koi bahut badi nirasha ya koi bahut bada apne priya jila hai jis wajah se aapke andar dar baith gaya hai tujhe kuch kabhi kabhi aisi Negative ghatnaye hamare jeevan me ho jaati hain ki jo hamare man me baith jaati hain aur baar baar hamein wahi yaad aati hai toh jab bhi prakar hoga emotion waisa vala kisi bhi ghatna soch sakta hai kisi bhi vyakti se ho sakta hai toh vaah trigger hone par wapas hamein wahi cheezen yaad aati hain unhi chijon se hum dobara gujarate hain aur hamein aisa lagta hai ki ab hum wapas usi situation me kaid ho gaye hain fans gaye hain toh yah bhi nervousness ka karan ho sakta hai ki aapko kabhi kabhi aisa mehsus hota hai jis wajah se aap har nahi situation me ya har ek na interaction me vaah nervousness feel karte ho toh aap jo hai iske liye authority lijiye apne psychologist se unse diya jo hai khul kar baat kijiye ki kis prakar ki nervous soti hai sharirik roop se mansik roop se kya lakshan aate hain aur kab kab hota hai toh phir hum pata lagayenge ki iski mul karan kya hai aur iski frequency kya hai aur uska nivaran kis prakar kiya jaaye dhanyavad

हमेशा नर्वस लेने की वजह क्या है यह जो आप की आदत में शुमार हो गया नर्वस रहना तू कहीं ऐसा तो

Romanized Version
Likes  446  Dislikes    views  10429
WhatsApp_icon
user

डॉ.संजीव कुमार

Psychologist (follow On Yohtube @Sanjeev K Pandya)

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं हमेशा नर्वस रहता हूं मैं क्या करूं आपने नहीं बताया कि आपका नाम और उसका कारण क्या है लिखिए भैया कई सारे कारणों से नर्वस के उपकरण बताएंगे तो और बैटर में में जवाब में दूसरी बार दे पाऊंगा मगर कॉन्फिडेंस दिखाइए अपना आत्मविश्वास जगाए मुझे लग रहा है आपका और आप पले बढ़े हुए कुछ ऐसे बात और उन्हें जिसकी वजह से आपको प्रॉब्लम है बट क्या हो गया बहुत सारे लोग बहुत तकलीफ होने और बहुत गरीबी होंगे बहुत समस्याओं के साथ आगे बढ़ते हैं नर्वसनेस उसमें रहती है मगर वह नवरत्न इसको आरा के आगे बढ़ता है कोई बड़ी समस्या नहीं है छोटी सी समस्या है अपने आत्मविश्वास को चाहिए आत्मविश्वास जगाने के लिए यूट्यूब के ऊपर कई सारे वीडियो है सेल्फ कॉन्फिडेंस बूस्टर वीडियोस यूट्यूब के ऊपर अवेलेबल है आत्मविश्वास एक बार धीरे-धीरे जगह का वह भी कोई चमत्कार नहीं होगा धीरे-धीरे लगेगा और आप कल रोशनी उसका प्रॉब्लम चला जाएगा बस मन में हिम्मत रखिए अब जिस भगवान को मानते हैं उस भगवान का स्मरण कीजिए और काम कीजिए धीरे-धीरे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा जिस भी काम आप करते हैं उस काम में धीरे-धीरे और बैटर बनी आपका आत्मविश्वास पड़ेगा ऑल द बेस्ट

main hamesha nervous rehta hoon main kya karu aapne nahi bataya ki aapka naam aur uska karan kya hai likhiye bhaiya kai saare karanon se nervous ke upkaran batayenge toh aur better me me jawab me dusri baar de paunga magar confidence dikhaiye apna aatmvishvaas jagae mujhe lag raha hai aapka aur aap PALAY badhe hue kuch aise baat aur unhe jiski wajah se aapko problem hai but kya ho gaya bahut saare log bahut takleef hone aur bahut garibi honge bahut samasyaon ke saath aage badhte hain nervousness usme rehti hai magar vaah navratna isko aara ke aage badhta hai koi badi samasya nahi hai choti si samasya hai apne aatmvishvaas ko chahiye aatmvishvaas jagaane ke liye youtube ke upar kai saare video hai self confidence booster videos youtube ke upar available hai aatmvishvaas ek baar dhire dhire jagah ka vaah bhi koi chamatkar nahi hoga dhire dhire lagega aur aap kal roshni uska problem chala jaega bus man me himmat rakhiye ab jis bhagwan ko maante hain us bhagwan ka smaran kijiye aur kaam kijiye dhire dhire aapka aatmvishvaas badhega jis bhi kaam aap karte hain us kaam me dhire dhire aur better bani aapka aatmvishvaas padega all the best

मैं हमेशा नर्वस रहता हूं मैं क्या करूं आपने नहीं बताया कि आपका नाम और उसका कारण क्या है लि

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  442
WhatsApp_icon
user

Suresh Kumar

Motivational Speaker, Trainer, Counsellor, Handwriting Analyst

2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्नों में हमेशा नर्वस रहता हूं क्या करूं लेकिन दोस्त पहली बात तो मैं आपसे यह पूछा कि आप नर्वस रहते हैं तो क्यों रहती है क्या कारण है जो आपको नर्वस करता है तो जातक मेरा मानना है लोग नर्वस सब होते हैं जब वह किसी चीज को नेगेटिव चीज को का स्तर बहुत पढ़ा चढ़ा कर देख लेते हैं वह हमेशा अपने दिलो दिमाग में यह देखते हैं कि किसी भी सिचुएशन में कोई भी चीज इतनी नेगेटिव हो सकती है उदाहरण के लिए कि मैं आपको बताऊं कि आप कहते हैं कि आप को स्टेज पर बोलने से डर लगता है तो स्टेज पर जाने से आपके मन में क्या विचार उठते हैं तेज पर जाना आपके लिए क्या मायने रखता है कहीं यहां पर स्टेज पर जाने को ऐसे तो नहीं देख रहे कि आप चेक पर जाएंगे भूल नहीं पाएंगे आप घबरा जाएंगे पसीने पसीने हो जाएंगे और लोग आपका मजाक उड़ाएंगे कमेंट मारेंगे अगर आप ऐसे ना ऐसे नेगेटिव चीज अपने दिलो-दिमाग पर देख रहे हैं जो चाहे आप स्टेज पर जाने पर बस ही तू हम किसी भी इवेंट को बहुत नेगेटिव लिबरलाइज करते अपने दिलो-दिमाग में और इतना ज्यादा विजुलाइज कर लेते हैं कि हमें लगता है कि हम बोलेंगे तो वैसे ही होगा आप हमारा अवचेतन मन है जिसे सबकॉन्शियस माइंड कहते हैं वह रियालिटी में और इमैजिनेशन में फर्क नहीं कर पाता तो जब भी कोशिश ना की आप नर्वस हो जाएंगे तो आपको क्या करना चाहिए सबसे पहले तो माइंड में अपने कॉल देते मेंटल इमेज क्रिएट कीजिए और उसको बार-बार देखिए जैसे हम स्टेज पर बोलने के उदाहरण की बात कर रहे थे कि अगर आपको उससे डर लगता है तो माइंड में आप अपने को पिक्चर बनाएंगे क्या आपको स्टेज पर बुलाया जाएगा अब बड़े कॉन्फ्रेंस देखो जाएंगे बहुत अच्छे से बोलेंगे शब्द बिल्कुल आराम से आपके मुंह से निकलेंगे आप क्या बॉडी पोस्टर देखी कैसा होगा आपके हाथ का मोमेंट कैसा होगा आप किस तरह लोगों की आंखों में आंखें देखकर बोलेंगे सब लोग कैसे ताली बजा सारे होंगे सब आपको किस तरह टी-शर्ट करेंगे तो अगर आप किसी भी चीज को जो आपको नर्वस बनाती है उसका नेगेटिव इमैजिनेशन को कैंसिल करके एक पॉजिटिव इमैजिनेशन बनाई है उसको बार-बार देखिए तो वंश और आपकी नर्वसनेस बहुत हद तक कम हो जाएगी थैंक यू

aapke prashnon me hamesha nervous rehta hoon kya karu lekin dost pehli baat toh main aapse yah poocha ki aap nervous rehte hain toh kyon rehti hai kya karan hai jo aapko nervous karta hai toh jatak mera manana hai log nervous sab hote hain jab vaah kisi cheez ko Negative cheez ko ka sthar bahut padha chadha kar dekh lete hain vaah hamesha apne dilo dimag me yah dekhte hain ki kisi bhi situation me koi bhi cheez itni Negative ho sakti hai udaharan ke liye ki main aapko bataun ki aap kehte hain ki aap ko stage par bolne se dar lagta hai toh stage par jaane se aapke man me kya vichar uthte hain tez par jana aapke liye kya maayne rakhta hai kahin yahan par stage par jaane ko aise toh nahi dekh rahe ki aap check par jaenge bhool nahi payenge aap ghabara jaenge pasine pasine ho jaenge aur log aapka mazak udaenge comment marenge agar aap aise na aise Negative cheez apne dilo dimag par dekh rahe hain jo chahen aap stage par jaane par bus hi tu hum kisi bhi event ko bahut Negative liberalize karte apne dilo dimag me aur itna zyada vijulaij kar lete hain ki hamein lagta hai ki hum bolenge toh waise hi hoga aap hamara avachetan man hai jise subconscious mind kehte hain vaah reality me aur imaijineshan me fark nahi kar pata toh jab bhi koshish na ki aap nervous ho jaenge toh aapko kya karna chahiye sabse pehle toh mind me apne call dete mental image create kijiye aur usko baar baar dekhiye jaise hum stage par bolne ke udaharan ki baat kar rahe the ki agar aapko usse dar lagta hai toh mind me aap apne ko picture banayenge kya aapko stage par bulaya jaega ab bade conference dekho jaenge bahut acche se bolenge shabd bilkul aaram se aapke mooh se nikalenge aap kya body poster dekhi kaisa hoga aapke hath ka moment kaisa hoga aap kis tarah logo ki aakhon me aankhen dekhkar bolenge sab log kaise tali baja saare honge sab aapko kis tarah T shirt karenge toh agar aap kisi bhi cheez ko jo aapko nervous banati hai uska Negative imaijineshan ko cancel karke ek positive imaijineshan banai hai usko baar baar dekhiye toh vansh aur aapki nervousness bahut had tak kam ho jayegi thank you

आपके प्रश्नों में हमेशा नर्वस रहता हूं क्या करूं लेकिन दोस्त पहली बात तो मैं आपसे यह पूछा

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  753
WhatsApp_icon
user

Dr Avtar Singh Ph.D.

Retired Scientist and Spiritual Counselor

5:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि मैं हमेशा नर्वस रहता हूं मैं क्या करूं जो पुनर्वसु लोग रहते हैं जिनमें हीन भावना होती इंफिनिटी कंपलेक्स होता है लैक आफ सेल्फ कॉन्फिडेंस आत्मविश्वास की कमी होती उसको खुद पर विश्वास नहीं होता कि मैं यह कर सकता हूं जब खुद पर विश्वास नहीं होगा तो आप पर और कौन विश्वास करेगा जब आप अपना विश्वास खुद पर ही नहीं रखते खुद का खुद पर विश्वास नहीं है तो दूसरा आप पर विश्वास क्यों रखेगा यह सोचो तो पहले तो ट्रस्टी ओर एबिलिटी अपनी एबिलिटी पर आपको कॉन्फिडेंस और अपनी योग्यता पर कांफिडेंस हो तो सेल्फ कॉन्फिडेंस डायल करो इंफिनिटी कंपलेक्स सफर ना करो यह न सोचो दुनिया में हो तो लोग जुड़े बहुत सुविरे मैं ही घटिया हूं तो आप घटिया नहीं है आप भी यूनिकबीस एनकॉर्ड के गार्ड ने आप जैसा दुनिया में किसी को नहीं बनाया आईडेंटिफाई योर टैलेंट्स अपनी आईडेंटिफाई करो टैलेंट्स को देखो अपने गुणों को देखो काफी फैल लेकर बैठो देखो कि मेरी स्टंट्स कौन सी है मेरी वीकनेसेस कौन सी है मेरे लिए अपॉर्चुनिटी क्या है मेरे लिए रेट क्या है अपना विश्लेषण करो सेल पैनल सेट करो मेरे अच्छे गुण कौन से हैं मेरे में कमियां कौन सी है मेरे जीवन में कौन से अवसर होंगे मेरे जीवन में चुनौतियां कौन सी हैं तो अगर आप इस तरह से अपना विश्लेषण करोगे और जो आपके अच्छे प्वाइंटर दन दन युवर ट्रेन जो आपके अच्छे प्वाइंट एंड गुड प्वाइंट अंकुश चंदन करो एंडवेकन योर वीकनेसेस और अपनी कमजोरियों को कम करो कमजोर हों कमजोरियों को कम करना है टेंस को बढ़ाना है यह काम अगर आप करोगे तो आपको सफलता मिलेगी कांफिडेंस आएगा आपको बंधु अपने ऊपर काम करने की जरूरत है दूसरा self-esteem आपके अंदर जो है आत्मसम्मान भी होना चाहिए कहते हैं ना हमको मन की शक्ति देना मन विजय करें दूसरों की जय से पहले खुद को जय करें तो हमें खुद को जय करना है अभी तक हम दूसरों की जय करते आए मन की शक्ति होनी चाहिए हमको मन की शक्ति देना मन विजय करें हम विजय करें अपनी जीत करें दूसरों की जय से पहले खुद को जय करें और दूसरों के जॉब करने के लिए खुद को विजय करें सेल्फ एंपावरमेंट अपने आप का सशक्तिकरण करें जब आप अपना सेल्फ एंपावरमेंट करेंगे सेल्फ रिलाइज करेंगे सेल्फ एक्चुलाइज अपनी योग्यता को अपने जीवन में निकालेंगे तो आपको सफलता मिलेगी कोई दुनिया की ताकत आप को रोक नहीं सकती है और आपके अंदर जो दुनिया की प्रॉब्लम है जो अब तक संजय हाइडल है उनको फेस करने की भी हिम्मत होनी चाहिए कर्ज होना चाहिए जिंदगी को जीना है तो कर्ज़ चाहिए मुर्दे क्या खाक जिया करते हैं जिंदगी में जीने के लिए साहस चाहिए हिम्मत चाहिए मुर्दों की तरह नहीं जीना है अरे अपना सिर खड़ा करो लोगों से आंख से आंख मिलाकर देखो घबराहट किस बात की है क्यों घबराए रहते हो तुम घबराने के लिए थोड़ा बने हो तो बारे में कुछ ऐसी खूबी है जो किसी में भी नहीं है आपका फिंगरप्रिंट अलग है आपका डीएनए फिंगरप्रिंट अलग है आपका डीएनए यूनिक है सारे दुनिया में ऐसा डीएनए किसी का आप क्यों सोचते हैं आप परमात्मा के अंश 29 यूनिक्वशॉप कार्ड का पैनल से स्कूल करो जहां जहां आपको वर्क करने की जरूरत है वह कराकर वर्क करो नहीं कर सकते तो किसी काउंसलर के चला ले लो जैसे मैं भी काउंसलर हूं मैं साइंटिस्ट हूं तो मैं जो है लोगों को सुला देता हूं और मेरे पास जो आते हैं आप जैसे के दिन में सेल्फ कॉन्फिडेंस की कमी है निर्वस्त्र रहते हैं इस ड्रेस में है तनाव में एंजाइटी में फीयर में है वरी वरी समय उनको वह धीरे-धीरे ठीक हो जाते गंदी सी ड्यूटी और नेगेटिव फ्रेम आफ माइंड नर्वस क्यों रहते हो मेरे से तो कुछ होता नहीं मैं तो कुछ कर नहीं सकता अपने आपको आपने खुद ही फेल कर रखा है दूसरा कैसे पास करेगा उसको तो खड़े हो उत्तिष्ठ जागृत सिर्फ जनाब इस तरह से उठो नहीं जागोगे तो अपना जागो होश में आओ अपनी शक्तियों को पहचानो हनुमान जी भी अपनी शक्तियां भूल जाते थे तो फिर जो है लोगों को उस उनको उनके गुण सुनाने पड़ते थे जय हनुमान ज्ञान गुण सागर हनुमान जी में ताकत आ जाती थी याद दिलाते थे तो समुद्र भी पार कर जाते थे ऐसे तुम भी समुद्र पार कर सकते हो तुम भी हनुमान की तरह हो तुम्हारे अंदर भी शक्तियां सोई हुई है उनको जगाना है जब तुम शक्तियां जगह लोगे तो नर्वस वन टेंशन स्ट्रेस सब खत्म हो जाए ओके बंधु थैंक यू वेरी मच गॉड ब्लेस यू खुश रहो

aapka prashna hai ki main hamesha nervous rehta hoon main kya karu jo punarvasu log rehte hain jinmein heen bhavna hoti infinity complex hota hai lac of self confidence aatmvishvaas ki kami hoti usko khud par vishwas nahi hota ki main yah kar sakta hoon jab khud par vishwas nahi hoga toh aap par aur kaun vishwas karega jab aap apna vishwas khud par hi nahi rakhte khud ka khud par vishwas nahi hai toh doosra aap par vishwas kyon rakhega yah socho toh pehle toh trustee aur ability apni ability par aapko confidence aur apni yogyata par confidence ho toh self confidence dial karo infinity complex safar na karo yah na socho duniya me ho toh log jude bahut suvire main hi ghatiya hoon toh aap ghatiya nahi hai aap bhi yunikbis enakard ke guard ne aap jaisa duniya me kisi ko nahi banaya aidentifai your talents apni aidentifai karo talents ko dekho apne gunon ko dekho kaafi fail lekar baitho dekho ki meri stunts kaun si hai meri vikneses kaun si hai mere liye opportunity kya hai mere liye rate kya hai apna vishleshan karo cell panel set karo mere acche gun kaun se hain mere me kamiyan kaun si hai mere jeevan me kaun se avsar honge mere jeevan me chunautiyaan kaun si hain toh agar aap is tarah se apna vishleshan karoge aur jo aapke acche pwaintar dan dan yuvar train jo aapke acche point and good point ankush chandan karo endavekan your vikneses aur apni kamzoriyo ko kam karo kamjor ho kamzoriyo ko kam karna hai tense ko badhana hai yah kaam agar aap karoge toh aapko safalta milegi confidence aayega aapko bandhu apne upar kaam karne ki zarurat hai doosra self esteem aapke andar jo hai atmasamman bhi hona chahiye kehte hain na hamko man ki shakti dena man vijay kare dusro ki jai se pehle khud ko jai kare toh hamein khud ko jai karna hai abhi tak hum dusro ki jai karte aaye man ki shakti honi chahiye hamko man ki shakti dena man vijay kare hum vijay kare apni jeet kare dusro ki jai se pehle khud ko jai kare aur dusro ke job karne ke liye khud ko vijay kare self empowerment apne aap ka shshaktikaran kare jab aap apna self empowerment karenge self rilaij karenge self ekchulaij apni yogyata ko apne jeevan me nikalenge toh aapko safalta milegi koi duniya ki takat aap ko rok nahi sakti hai aur aapke andar jo duniya ki problem hai jo ab tak sanjay hydal hai unko face karne ki bhi himmat honi chahiye karj hona chahiye zindagi ko jeena hai toh karz chahiye murde kya khak jiya karte hain zindagi me jeene ke liye saahas chahiye himmat chahiye murdon ki tarah nahi jeena hai are apna sir khada karo logo se aankh se aankh milakar dekho ghabarahat kis baat ki hai kyon ghabraye rehte ho tum ghabrane ke liye thoda bane ho toh bare me kuch aisi khoobi hai jo kisi me bhi nahi hai aapka fingerprint alag hai aapka DNA fingerprint alag hai aapka DNA Unique hai saare duniya me aisa DNA kisi ka aap kyon sochte hain aap paramatma ke ansh 29 yunikwashap card ka panel se school karo jaha jaha aapko work karne ki zarurat hai vaah karakar work karo nahi kar sakte toh kisi counselor ke chala le lo jaise main bhi counselor hoon main scientist hoon toh main jo hai logo ko sula deta hoon aur mere paas jo aate hain aap jaise ke din me self confidence ki kami hai nirvastra rehte hain is dress me hai tanaav me anxiety me fear me hai worry worry samay unko vaah dhire dhire theek ho jaate gandi si duty aur Negative frame of mind nervous kyon rehte ho mere se toh kuch hota nahi main toh kuch kar nahi sakta apne aapko aapne khud hi fail kar rakha hai doosra kaise paas karega usko toh khade ho uttishth jagrit sirf janab is tarah se utho nahi jagoge toh apna jaago hosh me aao apni shaktiyon ko pehchano hanuman ji bhi apni shaktiyan bhool jaate the toh phir jo hai logo ko us unko unke gun sunaane padate the jai hanuman gyaan gun sagar hanuman ji me takat aa jaati thi yaad dilate the toh samudra bhi par kar jaate the aise tum bhi samudra par kar sakte ho tum bhi hanuman ki tarah ho tumhare andar bhi shaktiyan soi hui hai unko jagaana hai jab tum shaktiyan jagah loge toh nervous van tension stress sab khatam ho jaaye ok bandhu thank you very match god bless you khush raho

आपका प्रश्न है कि मैं हमेशा नर्वस रहता हूं मैं क्या करूं जो पुनर्वसु लोग रहते हैं जिनमें ह

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  382
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  176  Dislikes    views  5997
WhatsApp_icon
user

Prof (Dr) S. S. Prasad.

Psychiatrist ,Medical Practice & Teaching Faculty.

8:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों नमस्कार गुड इवनिंग मैं डॉ एसएस प्रसाद मनोरोग विशेषज्ञ आपने प्रश्न किया है मैं हमेशा नर्वस रहता हूं क्या करूं आपको लगता है कि मैं नर्वस रहता हूं और इस उठी करना चाहते हैं तो निश्चित और सब ठीक होंगे इसलिए ठीक होंगे कि आपको और यह महसूस होता कि मन नर्वस नर्वस इंसान वही होता है जिसके अंदर में लेकिन ए सब नालेज होता है ज्ञान की कमी होती है अनुभव की कमी होती है जानकारी की कमी होती है इस चीज की कमी होती है ऐसे लोग नर्वस हो जाते हैं क्या करूं कैसे करूं कब करूं और करते-करते वह बुला जाता है और ऐसा लगता है कि कभी-कभी नर्वस की स्थिति में आदमी बेहोश भी हो जाता है आपने देखा होगा कि आपको एग्जाम देना है पेपर देने जाना है और आप को बुखार लग गया पल्पिटेशन भर गया और आप भी उसी हो गए और 2 दिन पहले से 2 दिन बाद आपको कहीं टूट में जाना है और आपको फोर व्हीलर बढ़ने से आपको मिली होती है वो मीटिंग होती है और इस डर से आपको सिमर का टाइप हो गया एग्जाम है छोटा बच्चा है स्कूल जाने के लिए आप बोलेंगे उसको सुबह से जजिया शुरू हो जाएगा डीसीएसआई नादान नर्वसनेस ऐसा इसलिए होता है कि वह बच्चों में एक जान की कमी है उसको यह नहीं बताया गया कि वरना तुम्हारे जीवन का एक हिस्सा है पढ़ोगे लिखोगे बनोगे महान खेलोगे कूदोगे होगे खराब तो पढ़ाई लिखाई हमारे जीवन के रिश्ता है इसे इंसान आगे बढ़ेगा आगे विकास होगा और ऊंचे मुकाम पर पहुंचेगा और से दिमाग में यह बता दिया जाए वरना हमारे जीवन का एक हिस्सा है और यह कहा एक काम करना हमारे जीवन का एक प्रधान कार्य है मुख्य बिंदु है इसको करना ही करना है और हमारा जीवन जीविका इसी पढ़ाई से शुरू होगा और यह हमें समझ में आ जाए कि हमें इस कार्य करने से हमें बेनिफिट होगा तो उसके बारे में हम सही तरीके से कर पाएंगे और इसके बारे में समझेंगे ज्ञान हासिल करेगी और अपने गुरुओं से मिलेंगे जो इस पीरियंस होल्डर है उससे ज्ञानपुर शेयर करेंगे तो क्या होगा आपके अंदर में एक जानकारी बढ़ेगी ज्ञान बढ़ेगा विज्ञान आप उसे विज्ञान विज्ञान वैज्ञानिक तथ्य पैदा करेंगे जब पैदा होगा तो आपको उसके बारे में सही जानकारी होगी और जिज्ञासा भी जिज्ञासा भी होना जरूरी है और इसके लिए जिज्ञासा होना जरूरी है जबकि जिज्ञासा बनेगी या नहीं बनेगा ज्ञान बढ़ेगा तनत बच्चे सब ठीक हो जाएगा नर्वस होने का मुख्य कारण आज तो आपने पसंद नहीं क्या कि क्या करूं चिंपू सी बात मैंने बता दिया डॉक्टर और इलाज और ट्रीटमेंट का सबसे पहला कंसेप्ट रिमूव ऑल द कॉल मिस रिमोल्डेड दीजिए हम बीमारी के कारणों को दूर कर दे कारण को दूर कर दे कारण को हटा दें तो बीमारी स्वता दूर हो जाएगी हम बीमारी को नहीं हटाते हैं हम पागल को दूर करते हैं जैसे एक बच्चा है उसके शरीर में तीन चुभ गया है बहुत रो रहा है बहुत रो रहा है कितने डॉक्टर बदल दिए गए किसी डॉक्टर ने उसको नींद की दवा दिया किसी ने दर्द की दवा दिया किसी ने उसको मुंह को ढक दिया किसी को मुंह में बंद किया लेकिन उसको ही नहीं मालूम है कि पिंटू बा हुआ जिसे कान से बच्चा रो रहा है जो छुपा हुआ है धरती से पॉजिटिव फैक्टर वही कान्हा ने बच्चे को धोने का और जो विद्वान डॉक्टर होते हैं उस बच्चे को पूरी तरह से लेकर कर करके शरीर को शरीर के सारे शरीर को है वह मोबाइल ना करते हैं चेकअप करते हैं और देखा जाता है कि शरीर में किस से लेकिन छुपा हुआ है और वह डॉक्टर से करता है जो चुनाव हुआ उसको निकाल देता है बच्चा रोना बंद कर देता है बाद में कुछ फीलिंग दवाइयां देते हैं वहां पर जख्म हो गया और ठीक हो जाता है ना उसको नींद की दवाई की जरूरत है ना दर्द की दवाई की जरूरत है बाकी उसको मुंह बंद करने की जरूरत है बच्चा क्यों रोता क्यों है आप जब स्कूल समझेंगे कि होने के कारण नर्वस होने के कारण को तो उसका निदान आप करेंगे और यह नर्वसनेस सोचा दूर हो जाएगा तो कोई शारीरिक रोक नहीं है एक मानसिक समस्या है और यह समस्या आपका self-help समस्या है इसी तरीके से नर्वसनेस भी हड़प डॉक्टर से मिलते हैं मनोरोग विशेषज्ञ मिलती है तो आपको कुछ नहीं करेंगे आपको यही बताएंगे कुछ डॉक्टर साहब को अच्छी सलाह देंगे देंगे जो विद्वान डॉक्टर होंगे अच्छे डॉक्टर होंगे आप बहुत निदान हो गए कुछ दवाई नहीं देंगे पूछ सकते हैं कि मिट्टी की तरह आप उसे व्यवहार करें बहुत प्यार से समझा देंगे और कहेंगे यार अब कोई दवा की जरूरत नहीं है आप पूरी तरह से स्वस्थ हो मैं क्या जवाब दूं आपको नहीं तो कुछ डॉक्टर आपको क्या करेंगे कुछ रिलेटिव दे देंगे उसे अनिल की दवाई दे देंगे कुछ कुछ गोलियां दे देंगे आप सोते रहो तो ऐसे करने से बीमारी आपको और बढ़ जाएगी इसलिए आप अच्छे डॉक्टर से मिलेंगे तो अच्छी तरीके से कौन सी करेंगे और मित्र व तरीके से आपको समझा आएंगे कि नर्वस कोई बीमारी नहीं है कोई रोग नहीं है यह आपका ज्ञान का कमी है सोचने का कमी है पिया सोने की कमी में एक शारीरिक समस्या भी आती है मित्रों आप ऐसा समझते कि आप यह यह युवा है तो आपकी कोई शारीरिक समस्या भी हो सकती है तो फीस इन आपके पूरे चेकअप करने के बाद आपका जो शारीरिक जो समस्या है हो सकता है माल लेते चलो आप प्रॉपर डाइट नहीं लेते हो कुपोषण की शिकायत हो कुपोषण में सांप बैलेंस डाइट नहीं लेते हैं वक्त पर खाना नहीं खाते हैं वक्त तो सोते नहीं है जितना खाना 5 वर्षीय खाना मिलना चाहिए लेते नहीं हो बैलेंस डाइट नहीं लेते हो तो आपको कुछ टॉनिक भी दे सकते हैं आप युवा है तो आपको हो सकता है कुछ धात की शिकायत भी हो सकती है जिसको एसिड मटोरिया स्वपनदोष की शिकायत बोलते हैं और भी बैड हैबिट होते हैं मास्टरबेशन ऐसी हो सकती है तो यह सारी समस्याओं को पिकअप करने के बाद हमारे शरीर में ही समस्या है या कोई पुराना रोग हो सकता है कोई इंफेक्शन हो सकता है यह सारे चीजों को देखने के बाद उसकी सही प्रॉपर तरीके से अगर दवाइयां दिया जाए तुझे शरीर स्वस्थ रहेगा तो दिमाग सड़ जाएगा स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग होता है तो दिमाग में से आपका जो ब्रेन है जो माइंड है वह स्वस्थ शरीर की पहचान है तो शरीर को स्वस्थ रखें सोच अच्छा देखेंगे संकल्प आप बनाइए इन पावर सिस्टम करिए और अध्यात्म से ज्यादा मतलब होता है स्थिति के प्रति प्रेम अपनों के प्रति लगाव और छोटे पर प्रदीप यार अपनी थी काम रखिए और आपके अंदर में कोई कमी है कोई समस्या है तो प्रॉपर तरीके से उसको शेयर करिए अच्छे फेशियल नदी की फीस इन से मिलिए और मिलकर करके अपनी समस्या को शेयर करिए अच्छा साइकोथेरेपी अच्छी दवा देंगे ठीक हो जाएंगे मिर्ची धन्यवाद दिन आपका शुभ हो

doston namaskar good evening main Dr. SS prasad manorog visheshagya aapne prashna kiya hai main hamesha nervous rehta hoon kya karu aapko lagta hai ki main nervous rehta hoon aur is uthi karna chahte hain toh nishchit aur sab theek honge isliye theek honge ki aapko aur yah mehsus hota ki man nervous nervous insaan wahi hota hai jiske andar me lekin a sab knowledge hota hai gyaan ki kami hoti hai anubhav ki kami hoti hai jaankari ki kami hoti hai is cheez ki kami hoti hai aise log nervous ho jaate hain kya karu kaise karu kab karu aur karte karte vaah bula jata hai aur aisa lagta hai ki kabhi kabhi nervous ki sthiti me aadmi behosh bhi ho jata hai aapne dekha hoga ki aapko exam dena hai paper dene jana hai aur aap ko bukhar lag gaya palpiteshan bhar gaya aur aap bhi usi ho gaye aur 2 din pehle se 2 din baad aapko kahin toot me jana hai aur aapko four wheeler badhne se aapko mili hoti hai vo meeting hoti hai aur is dar se aapko simar ka type ho gaya exam hai chota baccha hai school jaane ke liye aap bolenge usko subah se jajeeya shuru ho jaega DCSI nadan nervousness aisa isliye hota hai ki vaah baccho me ek jaan ki kami hai usko yah nahi bataya gaya ki varna tumhare jeevan ka ek hissa hai padhoge likhoge banogey mahaan kheloge kudoge hoge kharab toh padhai likhai hamare jeevan ke rishta hai ise insaan aage badhega aage vikas hoga aur unche mukam par pahunchaega aur se dimag me yah bata diya jaaye varna hamare jeevan ka ek hissa hai aur yah kaha ek kaam karna hamare jeevan ka ek pradhan karya hai mukhya bindu hai isko karna hi karna hai aur hamara jeevan jeevika isi padhai se shuru hoga aur yah hamein samajh me aa jaaye ki hamein is karya karne se hamein benefit hoga toh uske bare me hum sahi tarike se kar payenge aur iske bare me samjhenge gyaan hasil karegi aur apne guruon se milenge jo is piriyans holder hai usse gyanpur share karenge toh kya hoga aapke andar me ek jaankari badhegi gyaan badhega vigyan aap use vigyan vigyan vaigyanik tathya paida karenge jab paida hoga toh aapko uske bare me sahi jaankari hogi aur jigyasa bhi jigyasa bhi hona zaroori hai aur iske liye jigyasa hona zaroori hai jabki jigyasa banegi ya nahi banega gyaan badhega tanat bacche sab theek ho jaega nervous hone ka mukhya karan aaj toh aapne pasand nahi kya ki kya karu chimpu si baat maine bata diya doctor aur ilaj aur treatment ka sabse pehla concept remove all the call miss remodeled dijiye hum bimari ke karanon ko dur kar de karan ko dur kar de karan ko hata de toh bimari swata dur ho jayegi hum bimari ko nahi hatate hain hum Pagal ko dur karte hain jaise ek baccha hai uske sharir me teen chubh gaya hai bahut ro raha hai bahut ro raha hai kitne doctor badal diye gaye kisi doctor ne usko neend ki dawa diya kisi ne dard ki dawa diya kisi ne usko mooh ko dhak diya kisi ko mooh me band kiya lekin usko hi nahi maloom hai ki pintu ba hua jise kaan se baccha ro raha hai jo chupa hua hai dharti se positive factor wahi kanha ne bacche ko dhone ka aur jo vidhwaan doctor hote hain us bacche ko puri tarah se lekar kar karke sharir ko sharir ke saare sharir ko hai vaah mobile na karte hain checkup karte hain aur dekha jata hai ki sharir me kis se lekin chupa hua hai aur vaah doctor se karta hai jo chunav hua usko nikaal deta hai baccha rona band kar deta hai baad me kuch feeling davaiyan dete hain wahan par jakhm ho gaya aur theek ho jata hai na usko neend ki dawai ki zarurat hai na dard ki dawai ki zarurat hai baki usko mooh band karne ki zarurat hai baccha kyon rota kyon hai aap jab school samjhenge ki hone ke karan nervous hone ke karan ko toh uska nidan aap karenge aur yah nervousness socha dur ho jaega toh koi sharirik rok nahi hai ek mansik samasya hai aur yah samasya aapka self help samasya hai isi tarike se nervousness bhi hadap doctor se milte hain manorog visheshagya milti hai toh aapko kuch nahi karenge aapko yahi batayenge kuch doctor saheb ko achi salah denge denge jo vidhwaan doctor honge acche doctor honge aap bahut nidan ho gaye kuch dawai nahi denge puch sakte hain ki mitti ki tarah aap use vyavhar kare bahut pyar se samjha denge aur kahenge yaar ab koi dawa ki zarurat nahi hai aap puri tarah se swasth ho main kya jawab doon aapko nahi toh kuch doctor aapko kya karenge kuch relative de denge use anil ki dawai de denge kuch kuch goliya de denge aap sote raho toh aise karne se bimari aapko aur badh jayegi isliye aap acche doctor se milenge toh achi tarike se kaun si karenge aur mitra va tarike se aapko samjha aayenge ki nervous koi bimari nahi hai koi rog nahi hai yah aapka gyaan ka kami hai sochne ka kami hai piya sone ki kami me ek sharirik samasya bhi aati hai mitron aap aisa samajhte ki aap yah yah yuva hai toh aapki koi sharirik samasya bhi ho sakti hai toh fees in aapke poore checkup karne ke baad aapka jo sharirik jo samasya hai ho sakta hai maal lete chalo aap proper diet nahi lete ho kuposhan ki shikayat ho kuposhan me saap balance diet nahi lete hain waqt par khana nahi khate hain waqt toh sote nahi hai jitna khana 5 varshiye khana milna chahiye lete nahi ho balance diet nahi lete ho toh aapko kuch tonic bhi de sakte hain aap yuva hai toh aapko ho sakta hai kuch dhat ki shikayat bhi ho sakti hai jisko acid matoriya swapnadosh ki shikayat bolte hain aur bhi bad habit hote hain masturbation aisi ho sakti hai toh yah saari samasyaon ko pickup karne ke baad hamare sharir me hi samasya hai ya koi purana rog ho sakta hai koi infection ho sakta hai yah saare chijon ko dekhne ke baad uski sahi proper tarike se agar davaiyan diya jaaye tujhe sharir swasth rahega toh dimag sad jaega swasth sharir me hi swasth dimag hota hai toh dimag me se aapka jo brain hai jo mind hai vaah swasth sharir ki pehchaan hai toh sharir ko swasth rakhen soch accha dekhenge sankalp aap banaiye in power system kariye aur adhyaatm se zyada matlab hota hai sthiti ke prati prem apnon ke prati lagav aur chote par pradeep yaar apni thi kaam rakhiye aur aapke andar me koi kami hai koi samasya hai toh proper tarike se usko share kariye acche facial nadi ki fees in se miliye aur milkar karke apni samasya ko share kariye accha psychotherapy achi dawa denge theek ho jaenge mirchi dhanyavad din aapka shubha ho

दोस्तों नमस्कार गुड इवनिंग मैं डॉ एसएस प्रसाद मनोरोग विशेषज्ञ आपने प्रश्न किया है मैं हम

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  2047
WhatsApp_icon
user

Dr. Archana Jain

RCI Registered Rehb Psychologist, Counselor, NLP Practitioner, Reiki Master

3:58
Play

Likes  19  Dislikes    views  352
WhatsApp_icon
user

Purba

Ex Army officer Psychological Counsellor

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप नर्वस रहते हैं शायद इसलिए कि आप शायद फुली प्रिपेयर्ड नहीं है आप जिस मुद्दे को लेकर परेशान होते हो आप उसको पहले कुछ डिटेल भी उसको अपनी बातें करके आप अच्छे स्कूल जाओगे तो डांट पड़ेगी आपको डर नहीं होता हो सकता है आप मेरे को चाहते हो कि आप चाहते हो कोई आपको जज करेगा कोई आप से पूछेगा कोई आपको देख रहे हैं कोई आपको नोटिस कर आई हो अंडर ऑब्जर्वेशन यह में तब ज्यादा काटने को दौड़ता है जब हम अंदर से होते हुए होते हैं अंदर से हम सॉलिड बॉक्स ऑडिट नहीं है अगर आप अंदर से ठोस हो तो आप अंदर से ही लोगे नहीं लोगे नहीं तो आप नर्वस नहीं होंगे यानी कि अंदर से कोई ऐसी चीज है जिसके बारे में आप कंपलीट नॉलेज नहीं रखते हैं और थोड़ा सा डर से जाते हैं चाहे थे नर्वस हो जाते हैं कि कोई आपको कब किस हिसाब से आपको पकड़ ले

aap nervous rehte hain shayad isliye ki aap shayad fully pripeyard nahi hai aap jis mudde ko lekar pareshan hote ho aap usko pehle kuch detail bhi usko apni batein karke aap acche school jaoge toh dant padegi aapko dar nahi hota ho sakta hai aap mere ko chahte ho ki aap chahte ho koi aapko judge karega koi aap se puchhega koi aapko dekh rahe hain koi aapko notice kar I ho under observation yah me tab zyada katne ko daudata hai jab hum andar se hote hue hote hain andar se hum solid box audit nahi hai agar aap andar se thos ho toh aap andar se hi loge nahi loge nahi toh aap nervous nahi honge yani ki andar se koi aisi cheez hai jiske bare me aap complete knowledge nahi rakhte hain aur thoda sa dar se jaate hain chahen the nervous ho jaate hain ki koi aapko kab kis hisab se aapko pakad le

आप नर्वस रहते हैं शायद इसलिए कि आप शायद फुली प्रिपेयर्ड नहीं है आप जिस मुद्दे को लेकर परेश

Romanized Version
Likes  345  Dislikes    views  3348
WhatsApp_icon
user

Rony

Psychologist

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो नर्वस होना कोई बड़ी बात नहीं है छोटी सी बात है नर्वस एक ऐसी चीज है जो पल पल हमारा पीछा नहीं छोड़ती है हमेशा हमारे आगे मिलती है वह तब भी हम कोई भी कुछ काम करते हैं कोई वर्क करते हैं हमें हमेशा हमारे आगे मिलती है अब बात ही है कि हमेशा हां यह हमेशा ही रहेगी इसे डरना नहीं है और ना ही से परेशान होना ना ही कुछ करने की करने का डर है बस इसे देखना है समझना है क्या यह और इसे समझ के देख कर इसका आनंद ले कर इसे बाहर निकलना है इसका एक्सपीरियंस लेकर इससे पूरी तरह से बाहर निकलना है

dekho nervous hona koi badi baat nahi hai choti si baat hai nervous ek aisi cheez hai jo pal pal hamara picha nahi chhodatee hai hamesha hamare aage milti hai vaah tab bhi hum koi bhi kuch kaam karte hain koi work karte hain hamein hamesha hamare aage milti hai ab baat hi hai ki hamesha haan yah hamesha hi rahegi ise darna nahi hai aur na hi se pareshan hona na hi kuch karne ki karne ka dar hai bus ise dekhna hai samajhna hai kya yah aur ise samajh ke dekh kar iska anand le kar ise bahar nikalna hai iska experience lekar isse puri tarah se bahar nikalna hai

देखो नर्वस होना कोई बड़ी बात नहीं है छोटी सी बात है नर्वस एक ऐसी चीज है जो पल पल हमारा

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  743
WhatsApp_icon
user

Dr. Vikas Bhatheja

Psychologist

0:44
Play

Likes  21  Dislikes    views  382
WhatsApp_icon
user
3:51
Play

Likes  116  Dislikes    views  1159
WhatsApp_icon
user

Anjana Baliga

Counselor

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए नर्वस डिसऑर्डर सब दिमाग की परेशानियों की वजह से होता है और आपको दिमाग को दुरुस्त करना पड़ेगा इसलिए आप एक योग आश्रम में जाकर योगा सीखिए और किसी भी तरह का योगा हो आप जैसे जैसे योगा करेंगे आप नर्वस डिसऑर्डर ठीक होगा नर्वस डिसऑर्डर के लिए मेन योग और प्राणायाम की बहुत जरूरत है जैसे जैसे दिमाग में अधिक ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ेगी आप योगा करना सीखेंगे प्रणाम करना सीखिए आपकी सांसों की गति जो है वह धीमी होती जाएगी आपका यह नर्वस डिसऑर्डर बिल्कुल ठीक हो जाएगा तो आपको किसी भी योग आश्रम में जाकर 21 दिन का योगा या 10 दिन का योगा कोई भी योगा सीखिए और को नियंत्रण करते रहिए सीखना इंपॉर्टेंट नहीं है आगे लाइफ में रोज उसको अपनाना बहुत इंपॉर्टेंट है जब आप ही होगा रोज करेंगे तो आप के जीवन से हमें बहुत फर्क पड़ेगा थैंक यू गॉड ब्लेस यू

dekhiye nervous disorder sab dimag ki pareshaniyo ki wajah se hota hai aur aapko dimag ko durast karna padega isliye aap ek yog ashram me jaakar yoga sikhiye aur kisi bhi tarah ka yoga ho aap jaise jaise yoga karenge aap nervous disorder theek hoga nervous disorder ke liye main yog aur pranayaam ki bahut zarurat hai jaise jaise dimag me adhik oxygen ki matra badhegi aap yoga karna sikhenge pranam karna sikhiye aapki shanson ki gati jo hai vaah dheemi hoti jayegi aapka yah nervous disorder bilkul theek ho jaega toh aapko kisi bhi yog ashram me jaakar 21 din ka yoga ya 10 din ka yoga koi bhi yoga sikhiye aur ko niyantran karte rahiye sikhna important nahi hai aage life me roj usko apnana bahut important hai jab aap hi hoga roj karenge toh aap ke jeevan se hamein bahut fark padega thank you god bless you

देखिए नर्वस डिसऑर्डर सब दिमाग की परेशानियों की वजह से होता है और आपको दिमाग को दुरुस्त करन

Romanized Version
Likes  551  Dislikes    views  5404
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पसंद है आप हमेशा घर पर रहते हैं क्या करें देखी आत्मविश्वास की कमी होने के कारण इस तरह की प्रिपरेशन पैदा होती है जितना हो सके धीरे-धीरे अपने अंदर आत्मविश्वास अपने आपको मैंने लेने के लिए प्रेरित करें छोटे-छोटे देर में आप स्वयं ले और धीरे-धीरे बड़े निर्णय को भी ले उससे कहीं ना कहीं कुछ लेने अगर गलत भी हो जाएंगे तब भी आप अपने जीवन में जो छोटी-छोटी चीजों से नर्वस हो जाते हैं वह आपकी कमी आएगी दूसरा ध्यान और योग से भी आपका इससे निजात

namaskar aapka pasand hai aap hamesha ghar par rehte hain kya kare dekhi aatmvishvaas ki kami hone ke karan is tarah ki preparation paida hoti hai jitna ho sake dhire dhire apne andar aatmvishvaas apne aapko maine lene ke liye prerit kare chote chote der me aap swayam le aur dhire dhire bade nirnay ko bhi le usse kahin na kahin kuch lene agar galat bhi ho jaenge tab bhi aap apne jeevan me jo choti choti chijon se nervous ho jaate hain vaah aapki kami aayegi doosra dhyan aur yog se bhi aapka isse nijat

नमस्कार आपका पसंद है आप हमेशा घर पर रहते हैं क्या करें देखी आत्मविश्वास की कमी होने के कार

Romanized Version
Likes  109  Dislikes    views  2871
WhatsApp_icon
user

Indu Nara

Psychologist and Research scholar

1:16
Play

Likes  612  Dislikes    views  5981
WhatsApp_icon
user
5:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है आप हमेशा नर्वस रहते हैं क्या करें अभी किए नर्वसनेस जो होती है अर्थात जो घबराहट होती है वह किसी ने किसी उलझन की वजह से होती है दुविधा की वजह से होती है अब आप ऐसे दोराहे बोल दीजिए चौराहा बोल दीजिए वहां पर खड़े होते हैं जहां से आपको समझ नहीं आता अब आप को आप की आगे की यात्रा किस दिशा में करनी है क्योंकि रास्ता आप को चुनना है तो आप उसका विश्लेषण कीजिए उन परिस्थितियों का शो मूल्यांकन कीजिए चिंतन कीजिए आप मनाने कीजिए कि जिन जिन परिस्थितियों की वजह से वह पैसे भी उत्पन्न हुई है जिसके कान आपका मन जो है उलझन में है दुविधा में है जिससे आप में नर्वसनेस बढ़ रही है इसे नर्वसनेस बनने की भी वैसे बहुत सा कारण है अलग-अलग चीजों के ऐसे भी नहीं बढ़ती जैसे कि आप के परिणाम अपेक्षित नहीं आया किसी कार्य को आप करना चाह रहे थे और वह अपेक्षित तरीके से नहीं हो पाया आप किसी वस्तु को खरीदना चाहते थे वह वस्तु आपके अपेक्षा पर खरी नहीं उतरी तो यह सब चीजें जो है आपके जो पारिवारिक वातावरण है सामाजिक वातावरण है सामाजिक समरसता का सौहार्द का वातावरण है उसका जो प्रभाव पड़ता आप पर उसकी वजह से दिक्कतें आती आपको तो इनसे बचने के लिए जो हैं आप योगाभ्यास करें प्राणायाम करें अनुलोम-विलोम करें जिससे जो है आपकी इच्छा शक्ति है मजबूत होगी एक-दो है आप थोड़ा संयम का परिचय दें में अर्थात अपने आप को संयमित करें जब आवश्यकता हो तो बोले अन्यथा नहीं बोले जब आवश्यकता हुई तभी आप प्रतिक्रिया देना नेता नहीं देवे अपने मन पर जो है थोड़ा काबू पाए मन को एकाग्र चित्त करने की कोशिश कोशिश करें जिससे कि आपका ध्यान जो इधर-उधर नहीं भटके गा और जब अपना ध्यान इधर-उधर की बातों में नहीं जाएगा तो नर्वसनेस जो कि वह स्वत ही समाप्त हो जाएगी जो उलझन की स्थिति आएगी वह नहीं है नहीं आएगी थोड़ा आप सेल्फ डिपेंडेंट अपने आप पर आश्रित होने का प्रयास करें कुछ निर्णय लेवे जबकि मनुष्य का जो काम होता होता कर्म करना फल उसके अनुरूप आएगा कि नहीं आएगा वह बाद की बात है पर उससे पहले अपने को उसके लिए कर्म करना पड़ेगा वैसे ही आपको जो है कुछ ऐसे कर्म करने जिसकी वजह से आपकी इच्छा शक्ति मजबूत हो तो वह आपको स्वयं को कम करने होते हैं किसी पर आश्रित रहकर आप जो हैं आगे नहीं बढ़ सकते अपनी सहायता अपने को खुद को करने पड़ते हैं भगवान भी उसी की सहायता करता है जो अपनी खुद की स्वयं की सहायता करता है श्याम की सहायता करने से तात्पर्य है यह है क्या आप किस क्षेत्र में कमजोर हैं जिससे किसी क्षेत्र में आप कमजोर हैं उस क्षेत्र में ऊपर उठने के जो है प्रयास आपको शाम को ढूंढ हां यह जरूर है अगर आपको कोई रास्ता नहीं समझ में आता है नहीं सूझ रहा है तो जो है आप अपने बड़ों की मदद ले सकते हैं परिवार की सदस्य की मदद ले सकते हैं अपने गुरुजनों की मदद ले सकते हैं या जिन पर आपको पूर्ण भरोसा है कि उनसे मुझे मदद मिल जाएगी तो उनसे आप मदद लेने जिससे आपका जो समस्या होगी वहां इससे आपको समाधान प्राप्त होगा और उस संविधान के फल चोरों की आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं सबसे बड़ा योगदान इसमें यह रहेगा आप अपने शोषण के लिए को बढ़ाएं अपने समाज पर नियंत्रण करने कोशिश करें उसके लिए जो है अनुलोम-विलोम करें प्राणायाम करें और सबसे ज्यादा फायदा में दाग के लिए होगा आप ध्यान लगाने की कोशिश करें जितना ज्यादा ध्यान लगाओगे उतना ही आपका अपने मन पर नियंत्रण रहेगा जिससे आप किसी दुविधा की स्थिति में फंसे कि नहीं और जब किसी दुविधा की स्थिति में फंस गया नहीं तो आपको किसी भी प्रकार की नर्वसनेस नहीं होगी अर्थात आप चिंता मुक्त रहकर कार्य कर सकते हैं और इसके लिए जो है आपको सुबह जल्दी उठकर एकांत में ध्यान का अभ्यास ध्यान लगाने का अभ्यास करना चाहिए धन्यवाद जय हिंद जय भारत

namaskar jaisa ki aapka prashna hai aap hamesha nervous rehte hain kya kare abhi kiye nervousness jo hoti hai arthat jo ghabarahat hoti hai vaah kisi ne kisi uljhan ki wajah se hoti hai duvidha ki wajah se hoti hai ab aap aise dorahe bol dijiye chauraha bol dijiye wahan par khade hote hain jaha se aapko samajh nahi aata ab aap ko aap ki aage ki yatra kis disha me karni hai kyonki rasta aap ko chunana hai toh aap uska vishleshan kijiye un paristhitiyon ka show mulyankan kijiye chintan kijiye aap manane kijiye ki jin jin paristhitiyon ki wajah se vaah paise bhi utpann hui hai jiske kaan aapka man jo hai uljhan me hai duvidha me hai jisse aap me nervousness badh rahi hai ise nervousness banne ki bhi waise bahut sa karan hai alag alag chijon ke aise bhi nahi badhti jaise ki aap ke parinam apekshit nahi aaya kisi karya ko aap karna chah rahe the aur vaah apekshit tarike se nahi ho paya aap kisi vastu ko kharidna chahte the vaah vastu aapke apeksha par khadi nahi utari toh yah sab cheezen jo hai aapke jo parivarik vatavaran hai samajik vatavaran hai samajik samarsata ka sauhaard ka vatavaran hai uska jo prabhav padta aap par uski wajah se dikkaten aati aapko toh inse bachne ke liye jo hain aap yogabhayas kare pranayaam kare anulom vilom kare jisse jo hai aapki iccha shakti hai majboot hogi ek do hai aap thoda sanyam ka parichay de me arthat apne aap ko sanyamit kare jab avashyakta ho toh bole anyatha nahi bole jab avashyakta hui tabhi aap pratikriya dena neta nahi deve apne man par jo hai thoda kabu paye man ko ekagra chitt karne ki koshish koshish kare jisse ki aapka dhyan jo idhar udhar nahi bhatke jaayega aur jab apna dhyan idhar udhar ki baaton me nahi jaega toh nervousness jo ki vaah swat hi samapt ho jayegi jo uljhan ki sthiti aayegi vaah nahi hai nahi aayegi thoda aap self dependent apne aap par aashrit hone ka prayas kare kuch nirnay leve jabki manushya ka jo kaam hota hota karm karna fal uske anurup aayega ki nahi aayega vaah baad ki baat hai par usse pehle apne ko uske liye karm karna padega waise hi aapko jo hai kuch aise karm karne jiski wajah se aapki iccha shakti majboot ho toh vaah aapko swayam ko kam karne hote hain kisi par aashrit rahkar aap jo hain aage nahi badh sakte apni sahayta apne ko khud ko karne padate hain bhagwan bhi usi ki sahayta karta hai jo apni khud ki swayam ki sahayta karta hai shyam ki sahayta karne se tatparya hai yah hai kya aap kis kshetra me kamjor hain jisse kisi kshetra me aap kamjor hain us kshetra me upar uthane ke jo hai prayas aapko shaam ko dhundh haan yah zaroor hai agar aapko koi rasta nahi samajh me aata hai nahi sujh raha hai toh jo hai aap apne badon ki madad le sakte hain parivar ki sadasya ki madad le sakte hain apne gurujanon ki madad le sakte hain ya jin par aapko purn bharosa hai ki unse mujhe madad mil jayegi toh unse aap madad lene jisse aapka jo samasya hogi wahan isse aapko samadhan prapt hoga aur us samvidhan ke fal choron ki aap is samasya se nijat paa sakte hain sabse bada yogdan isme yah rahega aap apne shoshan ke liye ko badhaye apne samaj par niyantran karne koshish kare uske liye jo hai anulom vilom kare pranayaam kare aur sabse zyada fayda me daag ke liye hoga aap dhyan lagane ki koshish kare jitna zyada dhyan lagaoge utana hi aapka apne man par niyantran rahega jisse aap kisi duvidha ki sthiti me fanse ki nahi aur jab kisi duvidha ki sthiti me fans gaya nahi toh aapko kisi bhi prakar ki nervousness nahi hogi arthat aap chinta mukt rahkar karya kar sakte hain aur iske liye jo hai aapko subah jaldi uthakar ekant me dhyan ka abhyas dhyan lagane ka abhyas karna chahiye dhanyavad jai hind jai bharat

नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है आप हमेशा नर्वस रहते हैं क्या करें अभी किए नर्वसनेस जो होती

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  311
WhatsApp_icon
user

Karishma

Psychologist

1:23
Play

Likes  984  Dislikes    views  9985
WhatsApp_icon
user

डॉ दीपेंद्र शर्मा

निदेशक भोज शोध संस्थान

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रिय पुस्तक करता शांति सुप्रभात आप हमेशा नर्वस रहते हैं आप उस व्यवस्था से निकलना चाहते हैं इसलिए आपका प्रश्न है कि मैं क्या करूं व्यवस्था कई बार हमारे जीवन में अवसर आते हैं जब यह सहज उत्पन्न हो जाती है मैं उसका निराशा को बढ़ाती है नकल सकता को बढ़ा सकती है जितनी जल्दी आप दासता से मुक्त होंगे आपको जिम में सरकार आएगी और आगे की तरह जीवन में देख पाएंगे सबसे पहले आपको नर्मदा के जो कारण है उनको दूर करने की कोशिश करनी चाहिए जीवन में मनपसंद काम कीजिए अच्छा पढ़िए अच्छे दोस्तों के साथ समय बताइए आपकी घूमने जा सकते हैं या नर्वस होने के कारणों को अधिक बिजली समाधान निकालेंगे उत्तेजित अवस्था से मुक्त हो सकते हैं आपके शुभकामनाएं धन्यवाद

priya pustak karta shanti suprabhat aap hamesha nervous rehte hain aap us vyavastha se nikalna chahte hain isliye aapka prashna hai ki main kya karu vyavastha kai baar hamare jeevan me avsar aate hain jab yah sehaz utpann ho jaati hai main uska nirasha ko badhati hai nakal sakta ko badha sakti hai jitni jaldi aap dasta se mukt honge aapko gym me sarkar aayegi aur aage ki tarah jeevan me dekh payenge sabse pehle aapko narmada ke jo karan hai unko dur karne ki koshish karni chahiye jeevan me manpasand kaam kijiye accha padhiye acche doston ke saath samay bataiye aapki ghoomne ja sakte hain ya nervous hone ke karanon ko adhik bijli samadhan nikalenge uttejit avastha se mukt ho sakte hain aapke subhkamnaayain dhanyavad

प्रिय पुस्तक करता शांति सुप्रभात आप हमेशा नर्वस रहते हैं आप उस व्यवस्था से निकलना चाहते है

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  1254
WhatsApp_icon
play
user

Deepak Sharma

Psychology Counsellor

2:50

Likes  19  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
user

जसवन्त कटारिया

वकील, कानूनी सलाहकार

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अमित आना चाहते हैं तो आपको मेरे हिसाब से योगा पर ध्यान देना चाहिए और करना चाहिए और किसी एक को आपस में लगाए रखें या ना रहे

amit aana chahte hain toh aapko mere hisab se yoga par dhyan dena chahiye aur karna chahiye aur kisi ek ko aapas me lagaye rakhen ya na rahe

अमित आना चाहते हैं तो आपको मेरे हिसाब से योगा पर ध्यान देना चाहिए और करना चाहिए और किसी एक

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1227
WhatsApp_icon
user

Dr.Sonia Kapur Psychologist

Clinical Psychologist

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप सबसे पहले खुद को फेस करना बंद करिए आप जितना ज्यादा खुद के बारे में नेगेटिव सोचेंगे और जितना ज्यादा अपने आपको अब सेव करके उसमें ने की थी उसने ज्यादा अपना वही तो फोन करते हैं जब आप कोई ऑप्शन करते हैं कोई बिहेवियर देते हैं उस टाइम आप अपने को कॉन्फिडेंट रखा करिए और खुद की असेसमेंट मत किया करिए यह मत सोचा करिए कि मैं ठीक कर रहा हूं कि नहीं कर रहा हूं सामने वाला मेरे बारे में क्या सोच रहा है इस तरह के विचार जब मन में आते हैं तभी इंसान होता है अगर आपके पास अपनी सब्जेक्ट को अपने टॉपिक को लेकर अच्छी नॉलेज है आप हर चीज के लिए अपने आप को गाना डीजे पर समझते हैं नर्वस होने का कोई बचा नहीं

aap sabse pehle khud ko face karna band kariye aap jitna zyada khud ke bare me Negative sochenge aur jitna zyada apne aapko ab save karke usme ne ki thi usne zyada apna wahi toh phone karte hain jab aap koi option karte hain koi behaviour dete hain us time aap apne ko confident rakha kariye aur khud ki assessment mat kiya kariye yah mat socha kariye ki main theek kar raha hoon ki nahi kar raha hoon saamne vala mere bare me kya soch raha hai is tarah ke vichar jab man me aate hain tabhi insaan hota hai agar aapke paas apni subject ko apne topic ko lekar achi knowledge hai aap har cheez ke liye apne aap ko gaana DJ par samajhte hain nervous hone ka koi bacha nahi

आप सबसे पहले खुद को फेस करना बंद करिए आप जितना ज्यादा खुद के बारे में नेगेटिव सोचेंगे और ज

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user
4:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है कि मैं हमेशा नहा कर आता हूं क्या करूं देखिए सबसे पहले नर्वस होने का कारण है कि आप ज्यादा अपने ब्रेन पर प्रेशर प्रेशर डालने से होता क्या है कि जिस तरह से मोबाइल ऐप यूज करते हैं उसमें मेमोरी लगाते हैं 32GB का 64GB कार्ड कितने जीबी टाइप गिरी और जो भी जो भी तो ज्यादा स्टोर करने से क्या होता है वो हैंग करने लगता है मोबाइल के मेमोरी कम होता है तो स्टोरेज क्षमता जमीर जरूरत से ज्यादा होगा तो हमारा ब्रेन काम करना बंद कर देता है निश्चित रूप से आत्मनिर्भर होना शुरू हो जाएंगे तब रेल ठीक हो जाएगा गर्म हो जाएगा स्टोर करेंगे जब याद करेंगे याद नहीं होगा भी जाएंगे तो इस कारण तो है अपना मस्त होते हैं आपका सूट आप किसी चीज को कोई बहन है कोई डर है जो आप निश्चित रूप से आपके माइंड में शोर हो चुका है तो आप उस चीज को रिकॉल करता है बार बार सोचते हैं बार-बार सुनते हैं कि हैं जिसके कारण क्या होता है आप नर्वस होते चले जाते हैं आप और चेतन में चले जाते हैं तो इसलिए आप अपने यदि आप सोचते हैं तो उसको बोलना शुरू कर मैंने सोचा नहीं आपने नेगेटिविटी को निकाल कर के एक्टिव रहें सकारात्मक रहें पॉजिटिव सोच हमेशा पॉजिटिव सोचेंगे अपनी सोच को अच्छे लोगों से संपर्क करेंगे अपने माता-पिता के साथ मैंने अपने भाई बहन के साथ रखेंगे अपने धार्मिक धर्म को मानते हैं धार्मिक वीडियो देखेंगे फिल्म देखेंगे कोई भी धर्म से रिलेटेड जो आपको अच्छा लगे इंटरटेनमेंट सेट ए लेटर टू योर आप मोबाइल में अभी तो डिजिटल इंडिया है आप निश्चित रूप से इंडिया मेन मोदी जी ने कर दिया अपने शत्रु देश का लुफ्त उठा सकते हैं उसका लाभ ले सकते हैं गूगल पर प्ले स्टोर पर आप सोशल मीडिया पर आपको 4 दिन से उस पर आप अपने इंटरटेनमेंट को बढ़ा सकते हैं या कोई आप बुक पर हैं आप पढ़ते स्टूडेंट होता है या ज्यादा लोड होता है तो आप क्या करें फ्री माइंड आफ थे घूमे घूमे शांत मुद्रा में बैठ जाएं कुछ नहीं सोचेगा ना सुने जो भी गाना सॉन्ग आपको अच्छा लगता है चाहे भक्ति हो चाहे जो भी हो फिल्मी हो जो भी हो आप सुने गलत नहीं सुने अच्छा सुनो और आप मॉर्निंग सवेरे उठ जाओ 4:30 बजे तक 4:00 बजे तक उठ जाएं अरविंद का समय है मॉर्निंग हो जाता है सवेरे 4:00 बजे उठना है जो का अभ्यास करें अलोम विलोम कपालभाति करें आपको जानकारी नहीं है इसका स्टोर प्ले स्टोर पर याद पर डाउनलोड कर ले या बुक के माध्यम से आप उसका सही राय लेकर के किसी योग स्पेशलिस्ट से पहले करके आप योगाभ्यास करें किस तरह से शंकर भगवान बैठकर के योग मुद्रा में रहते हैं ध्यान मुद्रा में उसी तरह से बात करके उसकी स्टेट में बैठ कर के आप ओम का जाप करें आपका ध्यान कम सेट होगा फ्री माइंड होगा स्वास्थ्य के प्रति एक्टिव रहे खान-पान उत्साही रखें दुरुस्त रखें बाकी कोटा में करें तो इसे कहावत है कि जैसा होगा जैसे खाएंगे अब ऐसा होगा मेरा मन बार-बार करता हूं आप जिस तरह से बनेगा रखेंगे आपका मन आपका शहीद ऐसे ही बनेगा एक कहावत है कि बच्चे जब जन्म लेता है तो आप उसका लालन-पालन पैसे देंगे बच्चे का माइंड बच्चे का शरीर बच्चे का वातावरण उसी तरह तो आप अपने आप से एक्टिव रखो या बिजनेस करते हैं स्टूडेंट हैं पढ़ाई करते हैं कोई जॉब करते हैं उसके प्रति समर्पण में समर्पित रहे वही आपका उद्देश्य है वही आपका जीवन है इसके अलावा आप अपने परिवार में अपने माता पिता के प्रति उनका ध्यान कर के माता-पिता के लिए आप बिजी हैं अपने आप शादीशुदा है अल्लाह नाराज हैं शादी हो गया है तो आप बच्चों के लिए जी ने पत्नी के लिए जिए उस दिमाग को जो उल्टी पुल्टी दिन बातें चलती आपके दिमाग से जिसके कारण अपने पास होते हैं वह निकालो शुरू कर दो कोई बहन है कोई डर है जिसके कारण आपको ऐसा होता है तो उसको निकालेंगे निश्चित रूप से आप रिलैक्स हो जाए उसको निकाल दो इस तरह से आप अपने आपको एक्टिवा सकते हैं धन्यवाद

aapka question hai ki main hamesha naha kar aata hoon kya karu dekhiye sabse pehle nervous hone ka karan hai ki aap zyada apne brain par pressure pressure dalne se hota kya hai ki jis tarah se mobile app use karte hain usme memory lagate hain 32GB ka 64GB card kitne gb type giri aur jo bhi jo bhi toh zyada store karne se kya hota hai vo hang karne lagta hai mobile ke memory kam hota hai toh storage kshamta jamir zarurat se zyada hoga toh hamara brain kaam karna band kar deta hai nishchit roop se aatmanirbhar hona shuru ho jaenge tab rail theek ho jaega garam ho jaega store karenge jab yaad karenge yaad nahi hoga bhi jaenge toh is karan toh hai apna mast hote hain aapka suit aap kisi cheez ko koi behen hai koi dar hai jo aap nishchit roop se aapke mind me shor ho chuka hai toh aap us cheez ko recall karta hai baar baar sochte hain baar baar sunte hain ki hain jiske karan kya hota hai aap nervous hote chale jaate hain aap aur chetan me chale jaate hain toh isliye aap apne yadi aap sochte hain toh usko bolna shuru kar maine socha nahi aapne negativity ko nikaal kar ke active rahein sakaratmak rahein positive soch hamesha positive sochenge apni soch ko acche logo se sampark karenge apne mata pita ke saath maine apne bhai behen ke saath rakhenge apne dharmik dharm ko maante hain dharmik video dekhenge film dekhenge koi bhi dharm se related jo aapko accha lage entertainment set a letter to your aap mobile me abhi toh digital india hai aap nishchit roop se india main modi ji ne kar diya apne shatru desh ka luft utha sakte hain uska labh le sakte hain google par play store par aap social media par aapko 4 din se us par aap apne entertainment ko badha sakte hain ya koi aap book par hain aap padhte student hota hai ya zyada load hota hai toh aap kya kare free mind of the ghume ghume shaant mudra me baith jayen kuch nahi sochega na sune jo bhi gaana song aapko accha lagta hai chahen bhakti ho chahen jo bhi ho filmy ho jo bhi ho aap sune galat nahi sune accha suno aur aap morning savere uth jao 4 30 baje tak 4 00 baje tak uth jayen arvind ka samay hai morning ho jata hai savere 4 00 baje uthna hai jo ka abhyas kare alom vilom kapalbhati kare aapko jaankari nahi hai iska store play store par yaad par download kar le ya book ke madhyam se aap uska sahi rai lekar ke kisi yog specialist se pehle karke aap yogabhayas kare kis tarah se shankar bhagwan baithkar ke yog mudra me rehte hain dhyan mudra me usi tarah se baat karke uski state me baith kar ke aap om ka jaap kare aapka dhyan kam set hoga free mind hoga swasthya ke prati active rahe khan pan utsaahi rakhen durast rakhen baki quota me kare toh ise kahaavat hai ki jaisa hoga jaise khayenge ab aisa hoga mera man baar baar karta hoon aap jis tarah se banega rakhenge aapka man aapka shaheed aise hi banega ek kahaavat hai ki bacche jab janam leta hai toh aap uska lalan palan paise denge bacche ka mind bacche ka sharir bacche ka vatavaran usi tarah toh aap apne aap se active rakho ya business karte hain student hain padhai karte hain koi job karte hain uske prati samarpan me samarpit rahe wahi aapka uddeshya hai wahi aapka jeevan hai iske alava aap apne parivar me apne mata pita ke prati unka dhyan kar ke mata pita ke liye aap busy hain apne aap shaadishuda hai allah naaraj hain shaadi ho gaya hai toh aap baccho ke liye ji ne patni ke liye jiye us dimag ko jo ulti pulti din batein chalti aapke dimag se jiske karan apne paas hote hain vaah nikalo shuru kar do koi behen hai koi dar hai jiske karan aapko aisa hota hai toh usko nikalenge nishchit roop se aap relax ho jaaye usko nikaal do is tarah se aap apne aapko activa sakte hain dhanyavad

आपका क्वेश्चन है कि मैं हमेशा नहा कर आता हूं क्या करूं देखिए सबसे पहले नर्वस होने का कारण

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  957
WhatsApp_icon
user

Anand Kumar

EVANGELIST

4:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीके अगर आप हमेशा नर्वस रहते हैं तो इसके पीछे जो मेन कारण है कि आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी है self-confidence आपका भी है पर इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं है आप इस कमजोरी पर नियंत्रण पा सकते हैं इस कमजोरी पर विजय प्राप्त कर सकते हैं अगर कोई व्यक्ति नर्वस रहता है तो उसका इतिहास जानना बहुत जरूरी है जैसे अगर मैं आपकी क्लास में जाना चाहूं तो जहां तक मुझे लगता है कि परिवार में आप की तुलना दूसरे बच्चों से ज्यादा की जाती होगी आपको कभी-कभी आपके परिवार के मेंबर ही आपको नीचा दिखाते होंगे आपके संगी साथी आपके दोस्त ऐसे होंगे जो आप का मजाक उड़ाते होंगे उसका सीन पति आता है कि जब इतनी सारी चीजें हमारे ऊपर आती है तो हम अपना आत्मविश्वास होने लगते हैं लेकिन आप विश्वास की सबसे बड़ी खूबी यह भी है कि आप इसे किसी भी हंसता प्राप्ति कर सकते हैं अपना कंपनी सेवक बहाली सकते हैं इसके लिए आपको दो काम करने पड़ेंगे सबसे पहला काम तो मैं आपको एक मशवरा दूंगा की किताब खरीदने बड़ी सोच का बड़ा जादू इस किताब को खैरी यह किन जजमेंट है आपके लिए और अगर आपने इस किताब को खरीदा और इस किताब को पढ़ा और उसके दाम में जो बातें लिखी हैं उसको आपने अमल में लाना शुरू कर दिया तो मैं आपको दावे के साथ कहता हूं आपसे वादा करता हूं आप हीरो बन जाएंगे आप अपनी जिंदगी के सुपरमैन होंगे दूसरी किताब है हाउ टू विन फ्रेंड्स एंड इनफ्लुएंस पीपल हिंदी में भी उपलब्ध है डेल कार्नेगी ने लिखी है यह दो किताबें किताबें ना इसको यह आपके लिए अमूल्य धरोहर होगी पूरी जिंदगी काम आएगी आपको जिंदगी में जब भी आप कभी अपने आप को आप विश्वास से रहित पाए तो आप जिंदगी में किसी दूसरे मुकाम पर हो तो दोनों किताब को एक बार बीच में कभी कभी पढ़ लीजिएगा दूसरा लोगों को नजरअंदाज करना शुरू कर दीजिए अगर कोई आपके बारे में टीका टिप्पणी भी करता है तो कोई जवाब मत दीजिए इस काम से सुनिए और उसका से निकाल दीजिए अगर आपके माता-पिता आपके रिश्तेदार आपके बारे में कुछ टीका टिप्पणी करते हैं ध्यान रखें आपके दोस्त आप का मजाक उड़ाते हैं आपके बारे में टीका टिप्पणी करते हैं ध्यान में एक ऐसे व्यक्ति को दोस्त बनाइए जो आपकी उम्र में अनुभव में बहुत कुछ हो अनुभवी हो बढ़ा बुजुर्गों उनको अपना मेंटर बनाइए उनको अपना मार्गदर्शक बनाइए और आप पर बहुत अच्छी बात बताता हूं जब भी आप किसी को रिक्वेस्ट करते हैं कि आप मेरे मेंटर बने मेरे मार्गदर्शक बने तो उसे बड़ी खुशी होती है अड़ोस पड़ोस में ही कोई अध्यापक को कोई टीचर हो कोई भी हो सकता है और उनसे कहिए कि वह आपका मार्गदर्शन करें अपनी मन की बातें उनके साथ शेयर कीजिए रोज सुबह जल्दी उठने की कोशिश कीजिए सुबह उठ और उठने के बाद कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज कीजिए जी हां 30 मिनट एक्सरसाइज कीजिए अपना रूटीन बना लीजिए आप फिजिकली फिट रहेंगे आपका कंपनी लेवल बढ़ेगा आप बहुत अच्छा महसूस करेंगे आपके चेहरे पर रौनक आएगी अपने आप एक आत्मविश्वास को बढ़ा देगा और सबसे आखिर में अपने खोलिए पे ध्यान दीजिए अपने ड्रेसअप पर ध्यान दीजिए इसके लिए आपको बहुत महंगे कपड़े पहनने की जरूरत नहीं है हमेशा इस बात का ध्यान रखिए चाहे घर में रहे चाहे घर से बाहर अपने खोलिए को बिल्कुल प्रश्न शेविंग बना के रखिए अगर मुझे रखते हैं तो टीम करके रखिए क्लीन शिवरात्रि करते हैं तो बढ़िया तरीके से चेहरे को बना कर रखी है महीने में दो बार हेयर कट कर आइए आपका बिल्कुल मैं अपनी लाइफ में फिर अपनी लाइफ में आपने इंप्लीमेंट करना शुरू कर दिया तो आपके आत्मविश्वास को चार चांद लग जाएंगे आपके आसपास के सारे लोग आश्चर्यचकित हो जाएंगे यह इसमें क्या जबरदस्त परिवर्तन हो गया ऐसा इसमें क्या किया बल्कि वह आपसे भी टिप्स लेना शुरू कर देंगे

pk agar aap hamesha nervous rehte hain toh iske peeche jo main karan hai ki aapke andar aatmvishvaas ki kami hai self confidence aapka bhi hai par isme ghabrane wali koi baat nahi hai aap is kamzori par niyantran paa sakte hain is kamzori par vijay prapt kar sakte hain agar koi vyakti nervous rehta hai toh uska itihas janana bahut zaroori hai jaise agar main aapki class me jana chahu toh jaha tak mujhe lagta hai ki parivar me aap ki tulna dusre baccho se zyada ki jaati hogi aapko kabhi kabhi aapke parivar ke member hi aapko nicha dikhate honge aapke sangi sathi aapke dost aise honge jo aap ka mazak udate honge uska seen pati aata hai ki jab itni saari cheezen hamare upar aati hai toh hum apna aatmvishvaas hone lagte hain lekin aap vishwas ki sabse badi khoobi yah bhi hai ki aap ise kisi bhi hansata prapti kar sakte hain apna company sevak bahali sakte hain iske liye aapko do kaam karne padenge sabse pehla kaam toh main aapko ek mashwara dunga ki kitab kharidne badi soch ka bada jadu is kitab ko khairi yah kin judgement hai aapke liye aur agar aapne is kitab ko kharida aur is kitab ko padha aur uske daam me jo batein likhi hain usko aapne amal me lana shuru kar diya toh main aapko daave ke saath kahata hoon aapse vada karta hoon aap hero ban jaenge aap apni zindagi ke superman honge dusri kitab hai how to win friends and inafluens pipal hindi me bhi uplabdh hai dell carnegie ne likhi hai yah do kitaben kitaben na isko yah aapke liye amuly dharohar hogi puri zindagi kaam aayegi aapko zindagi me jab bhi aap kabhi apne aap ko aap vishwas se rahit paye toh aap zindagi me kisi dusre mukam par ho toh dono kitab ko ek baar beech me kabhi kabhi padh lijiega doosra logo ko najarandaj karna shuru kar dijiye agar koi aapke bare me tika tippani bhi karta hai toh koi jawab mat dijiye is kaam se suniye aur uska se nikaal dijiye agar aapke mata pita aapke rishtedar aapke bare me kuch tika tippani karte hain dhyan rakhen aapke dost aap ka mazak udate hain aapke bare me tika tippani karte hain dhyan me ek aise vyakti ko dost banaiye jo aapki umar me anubhav me bahut kuch ho anubhavi ho badha bujurgon unko apna mentor banaiye unko apna margadarshak banaiye aur aap par bahut achi baat batata hoon jab bhi aap kisi ko request karte hain ki aap mere mentor bane mere margadarshak bane toh use badi khushi hoti hai ados pados me hi koi adhyapak ko koi teacher ho koi bhi ho sakta hai aur unse kahiye ki vaah aapka margdarshan kare apni man ki batein unke saath share kijiye roj subah jaldi uthane ki koshish kijiye subah uth aur uthane ke baad kam se kam 30 minute exercise kijiye ji haan 30 minute exercise kijiye apna routine bana lijiye aap physically fit rahenge aapka company level badhega aap bahut accha mehsus karenge aapke chehre par raunak aayegi apne aap ek aatmvishvaas ko badha dega aur sabse aakhir me apne kholiye pe dhyan dijiye apne dresap par dhyan dijiye iske liye aapko bahut mehnge kapde pahanne ki zarurat nahi hai hamesha is baat ka dhyan rakhiye chahen ghar me rahe chahen ghar se bahar apne kholiye ko bilkul prashna shaving bana ke rakhiye agar mujhe rakhte hain toh team karke rakhiye clean shivratri karte hain toh badhiya tarike se chehre ko bana kar rakhi hai mahine me do baar hair cut kar aaiye aapka bilkul main apni life me phir apni life me aapne implement karna shuru kar diya toh aapke aatmvishvaas ko char chand lag jaenge aapke aaspass ke saare log ashcharyachakit ho jaenge yah isme kya jabardast parivartan ho gaya aisa isme kya kiya balki vaah aapse bhi tips lena shuru kar denge

पीके अगर आप हमेशा नर्वस रहते हैं तो इसके पीछे जो मेन कारण है कि आपके अंदर आत्मविश्वास की क

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  254
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!