क्या भारत को भारत बनाने में सहयोग देंगी राजनीतिक पार्टियां?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या भारत को भारत बनाने में सहयोग देंगी राजनीतिक पार्टियां तो मेरा तो यह कहना है कि राजनीतिक पार्टियां भारत को भारत बनाने में बिल्कुल भी सहयोग नहीं देंगी क्योंकि इन्हें अपनी राजनीतिक रोटियां सेकना है इन्हें सिर्फ अपनी सुख-सुविधाओं से मतलब है इन्हें सिर्फ अपने अधिकारों से मतलब है इन्हें कर्तव्य से कोई मतलब नहीं है यह देश के लिए यह देश की जनता के लिए राजनीतिक पार्टियां कुछ भी नहीं करना चाहती यह सिर्फ और सिर्फ यह चाहते हैं कि कोई पार्टी ऐसी ना हो तो देश के लिए और देश के हित में काम करें देश के हित में और देश के लिए काम अगर कोई पार्टी करती कोई लोग करते हैं तो उसे बदनाम करने की पूरी कोशिश की जाती है और उसे जब तक पूर्ण थे बदनाम नहीं कर देते पूर्ण थे बर्बाद नहीं करती तब तक यह राजनीतिक पार्टियां चैन से नहीं बैठती हैं और अक्सर ऐसा होता देखा गया और हर व्यक्ति को कुछ न कुछ नेगेटिव पॉइंट होता है उस पॉइंट को लेकर यह विरोधाभास करते हैं उसके साथ में अच्छाइयों को नहीं देखती हैं जिनकी वजह से देश में कुछ प्रोग्रेस हुई है इसी प्रकार की प्रोग्रेस हुई है या कुछ देश में परिवर्तन आ रहे हैं जब हम परिवर्तन करते हैं तो कुछ दिक्कत है कुछ परेशानी है जरूर आती हैं निश्चित ही जरूर आती क्योंकि कारण है कि जब परिवर्तन आप करेंगे तो कुछ सुधार होंगे सुधार होंगे तो बुराइयों का निफ्टी करण होगा जब बुराइयों को नष्ट करण होगा तो जो बुरे लोग कभी नहीं चाहेंगे कि उनका नत्थीकरण हो वही को अच्छाइयों को ऑन अच्छाइयों को मिटाने में पूरी जी जान और पूरी ताकत लगा देगी तो आज जैसे देश में अपने देश में जो सुधार हो रहा जो परिवर्तन हो रहा है उन परिवर्तनों को कई ऐसी राजनीतिक पार्टियां को बिल्कुल स्वीकार नहीं करना चाहते वह चाहती हैं कि देश की जनता गुलाम रहे उनकी गुलामी में जियो जैसा कहें वैसा करें और नौकर बनाकर ही रखना चाहती ही राजनीतिक पार्टियां आम आदमी को और हर व्यक्ति को और हमेशा ही बेवकूफ बनाकर और चिकनी चुपड़ी बातों से लोगों पर राज करना चाहती कभी किसी के लिए कुछ करना नहीं चाहती राष्ट्रहित में इनका कोई सोच नहीं है इनकी कोई भी सोच नहीं है कि देश का भला हो तो मैं ऐसी राजनीतिक पार्टियों का बहिष्कार करता हूं जो भी राजनीतिक पार्टी जो राष्ट्र के हित में सोचती देश के हित में सोचती है लोगों के हित में सोच सोच के गरीब जनता के हित में सोचती मजदूरों के हित में सोचती है और एक आम आदमी के विषय में सोचती है एक मध्यम वर्ग के व्यक्ति के बारे में सोचती है तो वोट राजनीतिक पार्टी हमेशा अच्छी होती है और उसे हमें अपने उसे हमें मजबूत बनाना चाहिए और मजबूत करना चाहिए क्योंकि राजनीतिक पार्टियों की बातों में नहीं आना जिन्होंने कभी देश के लिए कुछ नहीं किया उन पार्टियों के विषय में आपको कुछ भी नहीं सोचना और ना ही उनके उनके बहकावे में आना है तो मेरा यह सोचना है कि जैसे आप का सवाल है क्या भारत को भारत बनाने में सहयोग देंगी राजनीतिक पार्टी है तो बिल्कुल नहीं देंगी यह बिल्कुल भी नहीं देंगे कभी नहीं चाहती कि देश का हेतु क्योंकि देश का हित होगा तो यह अपनी तिजोरी है कैसे भर पाएंगे यह लोगों के साथ शॉट कैसे कर पाएंगे लोगों को बेवकूफ कैसे बनाएं बना पाएंगे अगर सभी लोग सक्षम हो जाएंगे सभी लोग समझदार हो जाएंगे और मजबूत हो जाएंगे तो फ्रेंड का पिच लागू कौन बनेगा तो इनके लिए यह कभी नहीं चाहती कि राष्ट्र का हित हो और मैं तुझे चाहता हूं कि जो जो पार्टी राष्ट्र का हित करती है हिंदू हित में समर्पित रहती है सनातन संस्कृति में समर्पित रहती सनातन धर्म को आगे बढ़ाने की कोशिश करती हमारी परंपराओं को आगे बढ़ाने की कोशिश करती है तो वह पार्टी सदैव ही राष्ट्रहित करेगी लोगों का एक करेगी और उसमें हर जाति धर्म के लोग हैं जिसमें उनका हित समाया हुआ है तो राष्ट्र के हित में सभी का हित समाया हुआ है मैं सभी से एक विनम्र प्रार्थना कर और उनकी ऐसी पार्टियों का सहयोग करें चाहे आप किसी भी जाति और धर्म के हो जिससे आप सुरक्षित रहें किसी भी प्रकार का आतंकवाद किसी भी प्रकार

aapka sawaal hai kya bharat ko bharat banane me sahyog dengi raajnitik partyian toh mera toh yah kehna hai ki raajnitik partyian bharat ko bharat banane me bilkul bhi sahyog nahi dengi kyonki inhen apni raajnitik rotiyan sekna hai inhen sirf apni sukh suvidhaon se matlab hai inhen sirf apne adhikaaro se matlab hai inhen kartavya se koi matlab nahi hai yah desh ke liye yah desh ki janta ke liye raajnitik partyian kuch bhi nahi karna chahti yah sirf aur sirf yah chahte hain ki koi party aisi na ho toh desh ke liye aur desh ke hit me kaam kare desh ke hit me aur desh ke liye kaam agar koi party karti koi log karte hain toh use badnaam karne ki puri koshish ki jaati hai aur use jab tak purn the badnaam nahi kar dete purn the barbad nahi karti tab tak yah raajnitik partyian chain se nahi baithati hain aur aksar aisa hota dekha gaya aur har vyakti ko kuch na kuch Negative point hota hai us point ko lekar yah virodhabhas karte hain uske saath me acchhaiyon ko nahi dekhti hain jinki wajah se desh me kuch progress hui hai isi prakar ki progress hui hai ya kuch desh me parivartan aa rahe hain jab hum parivartan karte hain toh kuch dikkat hai kuch pareshani hai zaroor aati hain nishchit hi zaroor aati kyonki karan hai ki jab parivartan aap karenge toh kuch sudhaar honge sudhaar honge toh buraiyon ka nifti karan hoga jab buraiyon ko nasht karan hoga toh jo bure log kabhi nahi chahenge ki unka natthikaran ho wahi ko acchhaiyon ko on acchhaiyon ko mitane me puri ji jaan aur puri takat laga degi toh aaj jaise desh me apne desh me jo sudhaar ho raha jo parivartan ho raha hai un parivartanon ko kai aisi raajnitik partyian ko bilkul sweekar nahi karna chahte vaah chahti hain ki desh ki janta gulam rahe unki gulaami me jio jaisa kahein waisa kare aur naukar banakar hi rakhna chahti hi raajnitik partyian aam aadmi ko aur har vyakti ko aur hamesha hi bewakoof banakar aur chikani chupadi baaton se logo par raj karna chahti kabhi kisi ke liye kuch karna nahi chahti Rastrahit me inka koi soch nahi hai inki koi bhi soch nahi hai ki desh ka bhala ho toh main aisi raajnitik partiyon ka bahishkar karta hoon jo bhi raajnitik party jo rashtra ke hit me sochti desh ke hit me sochti hai logo ke hit me soch soch ke garib janta ke hit me sochti majduro ke hit me sochti hai aur ek aam aadmi ke vishay me sochti hai ek madhyam varg ke vyakti ke bare me sochti hai toh vote raajnitik party hamesha achi hoti hai aur use hamein apne use hamein majboot banana chahiye aur majboot karna chahiye kyonki raajnitik partiyon ki baaton me nahi aana jinhone kabhi desh ke liye kuch nahi kiya un partiyon ke vishay me aapko kuch bhi nahi sochna aur na hi unke unke bahakaave me aana hai toh mera yah sochna hai ki jaise aap ka sawaal hai kya bharat ko bharat banane me sahyog dengi raajnitik party hai toh bilkul nahi dengi yah bilkul bhi nahi denge kabhi nahi chahti ki desh ka hetu kyonki desh ka hit hoga toh yah apni tijori hai kaise bhar payenge yah logo ke saath shot kaise kar payenge logo ko bewakoof kaise banaye bana payenge agar sabhi log saksham ho jaenge sabhi log samajhdar ho jaenge aur majboot ho jaenge toh friend ka pitch laagu kaun banega toh inke liye yah kabhi nahi chahti ki rashtra ka hit ho aur main tujhe chahta hoon ki jo jo party rashtra ka hit karti hai hindu hit me samarpit rehti hai sanatan sanskriti me samarpit rehti sanatan dharm ko aage badhane ki koshish karti hamari paramparaon ko aage badhane ki koshish karti hai toh vaah party sadaiv hi Rastrahit karegi logo ka ek karegi aur usme har jati dharm ke log hain jisme unka hit samaya hua hai toh rashtra ke hit me sabhi ka hit samaya hua hai main sabhi se ek vinamra prarthna kar aur unki aisi partiyon ka sahyog kare chahen aap kisi bhi jati aur dharm ke ho jisse aap surakshit rahein kisi bhi prakar ka aatankwad kisi bhi prakar

आपका सवाल है क्या भारत को भारत बनाने में सहयोग देंगी राजनीतिक पार्टियां तो मेरा तो यह कहना

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  261
KooApp_icon
WhatsApp_icon
25 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!