मैं एक के गांव देहात में रहकर नौकरी करता हूँ, IAS की तैयारी करने के लिए क्या करना चाहिए?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप गांव में रहकर या देहात में रहकर सरकारी नौकरी कर रहे हैं और आप आईएस की तैयारी करना चाहते हैं तो आप आईएस की तैयारी निश्चित रूप से करें इसके लिए आप किसी अच्छे सिविल सर्विसेज की जो कोचिंग इंस्टीट्यूट है उससे आप जो है वह ऐसे कोर्स को आप ज्वाइन कर सकते हैं जो कि पोस्टल पुरुषों इसके अलावा आप इंटरनेट की सहायता से भी जो है वह जो है वह पढ़ाई कर सकते हैं अब इंटरनेट पर जो अवेलेबल जो मटीरियल है सिविल सर्विसेज के लिए वह बहुत ही आश्चर्य है और स्टूडेंट के लिए बहुत ही जो है वह कारगर है इसके अलावा आप जो है वह पर सामान्य अध्ययन और ऑप्शनल में जो सब्जेक्ट रखेंगे उसके लिए किसी अस्तर इंस्टिट्यूट सेनोक्स ले सकते हैं और अच्छी किताबों को भी आप पर हैं निश्चित तौर से गांव में भी रहकर आप सिविल सर्विसेज की तैयारी कर सकते हैं

aap gaon me rahkar ya dehaant me rahkar sarkari naukri kar rahe hain aur aap ias ki taiyari karna chahte hain toh aap ias ki taiyari nishchit roop se kare iske liye aap kisi acche civil services ki jo coaching institute hai usse aap jo hai vaah aise course ko aap join kar sakte hain jo ki postal purushon iske alava aap internet ki sahayta se bhi jo hai vaah jo hai vaah padhai kar sakte hain ab internet par jo available jo material hai civil services ke liye vaah bahut hi aashcharya hai aur student ke liye bahut hi jo hai vaah kargar hai iske alava aap jo hai vaah par samanya adhyayan aur optional me jo subject rakhenge uske liye kisi aster institute senoks le sakte hain aur achi kitabon ko bhi aap par hain nishchit taur se gaon me bhi rahkar aap civil services ki taiyari kar sakte hain

आप गांव में रहकर या देहात में रहकर सरकारी नौकरी कर रहे हैं और आप आईएस की तैयारी करना चाहते

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:27
Play

Likes  1067  Dislikes    views  7735
WhatsApp_icon
user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker || Career Coach || Business Coach || Marketing & Management Expert's

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स आज हम जिस रोशन के बारे में बात करने वाले हैं वह है कि मैं गांव देहात में रहकर नौकरी करता हूं आईएएस की तैयारी करने के लिए क्या करना चाहिए बनना चाहते हैं और गांव में हाथ में लेकर नौकरी करते हैं तो आप एनसीईआरटी को कंप्लीट कर सकते हैं शुरुआती दौर में और उसके बाद जो है आप जो है नोट फकीरा मंगवाई जा सकते हैं आपके द्वारा और उनको स्थिति किया जा सकता है आप जो है ऑनलाइन एजुकेशन के द्वारा या ऑफलाइन एजुकेशन दोनों के द्वारा जो है बैठकर भी यूपीएससी की तैयारी अच्छे से कर सकते हैं और आईएएस बन सकते हैं

hello friends aaj hum jis roshan ke bare me baat karne waale hain vaah hai ki main gaon dehaant me rahkar naukri karta hoon IAS ki taiyari karne ke liye kya karna chahiye banna chahte hain aur gaon me hath me lekar naukri karte hain toh aap ncert ko complete kar sakte hain shuruati daur me aur uske baad jo hai aap jo hai note fakira mangavai ja sakte hain aapke dwara aur unko sthiti kiya ja sakta hai aap jo hai online education ke dwara ya offline education dono ke dwara jo hai baithkar bhi upsc ki taiyari acche se kar sakte hain aur IAS ban sakte hain

हेलो फ्रेंड्स आज हम जिस रोशन के बारे में बात करने वाले हैं वह है कि मैं गांव देहात में रहक

Romanized Version
Likes  721  Dislikes    views  7209
WhatsApp_icon
user

Vineet Kumar

Guest Lecturer , Govt Polytechnic Orai Jalaun In Civil Engg Department

0:39
Play

Likes  8  Dislikes    views  211
WhatsApp_icon
user

गोपाल पांडेय

Journalist, Counselor, motivational speaker

0:40
Play

Likes  132  Dislikes    views  1174
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  10  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

9:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप बिल्कुल अच्छी तरीके से तैयारी कर सकते हैं और गांव देहात में रहकर आईएस की तैयारी कई लोगों ने किया और कई लोग सफल भी हुए आपको थोड़ी भी चिंता करने की जरूरत नहीं है बस जहां कहते हैं कि जहां अच्छा है वही अकेला है अगर आपने सोचा इस पन्ने का तो आपको शायद कोई नहीं रोक सकता थोड़ी संघर्ष की स्थिति आएगी लेकिन उसके लिए कोई न कोई रास्ता निकल जाएगा यह तो कुछ ऐसी बातें जो जिसमें कि आपको विश्वास करके आपको आगे बढ़ने चाहिए अब आपको सीधा सीधी में वह बात बताता हूं जिससे आपको गांव देहात में रखे क्षमता होगी लेकिन सिविल सर्विस एग्जाम में जो है वह इस तरह के परीक्षा नहीं है मैं आपको दिल्ली कितने लीटर दूध कब हुआ कितना कितना जो है सब डूब जाए गया किस मिनिस्टर ने किसको क्या बोला और किस पार्टी के लोगों ने को छोड़कर दूसरे पार्टी में शामिल हो गए इस नवीनतम घटनाक्रम आसपास के उसे सिविल सर्विस के प्रश्न कोई लेना-देना नहीं है सिविल सेवा के जो प्रश्न आते हैं वह स्कूल लेवल से लेकर ग्रेजुएशन के लेवल तक के जो पाठ्यक्रम है उन समूह का इतनी चोर है वह अपने विद्यार्थियों से अभ्यर्थियों की अपेक्षा रखता है कि उसको विषय का ज्ञान ऐसा होना चाहिए ताकि आवश्यकता पड़ने पर वह बच्चों को या किसी व्यक्ति को विशेष प्रकार से होता है ताकि उसमें कोई गुंजाइश ही ना रहे कि वह समझे ना इसका मतलब है कि उसकी जो रैली है उसकी जो निर्वचन शैली है वह बहुत ही जबरदस्त होनी चाहिए बिना किसी दबाव के होनी चाहिए बिना किसी समस्या के लिए दूसरी बात उनका जो सोचने समझने का दायरा है उसमें सामाजिक आर्थिक राजनीतिक और अन्य घटकों का पूर्ण समावेशी की कोई भी समस्या यूं ही नहीं पनप जाती उसके पीछे कई सारे रीजन सोते हैं उत्तर प्रदेश और बिहार में पॉपुलेशन इसलिए नहीं कराया जाता है कि वह पापुलेशन घटाने के लिए लोग तैयार नहीं है सरकार को विस्तृत में कोई विशेष कार्यक्रम करती दिल्ली की सरकार नहीं करना चाहती लेकिन इस पोलिटिकल मकसद है कि जब तक किन दो राज्यों के बीच में ऑपरेशन होगा उसको रोजगार मिले ना मिले कुछ मतलब नहीं है अगर पापुलेशन अधिक होगा वीरवार दिखाई पड़ेगा नए-नए एमएलए और एमपी के चित्र शामिल किए जाएंगे और दिल्ली में उसके मंत्री बनने की संभावना है उतनी ही अधिक ऐसे चित्र सुनकर वहां के नेता जाएंगे जहां बड़ी संख्या में जनसंख्या रहती है तो जनसंख्या की ओर से चुनाव क्षेत्र का विकास होगा तो इस तरह की राजनीति इसको बोलते गरीबी की राजनीति उसको बोल सकते हैं कि अवसर हीनता की राजनीति ऐसे भी राजनीतिक लोग करते हैं अपने फायदे के लिए दालचीनी के लिए तो काम कर किसी को देखेंगे उसके पीछे सारे घटक होते हैं सिर्फ चले कि वह कमजोर राजी है बीमार राज्य पैसे कम है संसाधन कम नहीं इसके पीछे पॉलीटिकल विल बी है ठीक है एक समय में गुजरात के पास कोई रास्ता नहीं था मोदी जी लगातार गुजरात में रहकर एक विकास पत्र और चीन के माध्यम से चीन के साथ जब आपकी बहुत अच्छी भागीदारी थी तो चीन से पूंजीगत सामान को लाकर गुजरात इंडस्ट्री को फिर से एक बार वापस खड़ा कर दिया और गुजरात का परचम को विकास के रास्ते पर लगा दिया मेरे मुझे पॉलिटिकल बेल कैसे काम होता है इन सब चीजों को समझने का काम आपको करना पड़ेगा जहां तक आप गांव में रहते हैं तो आपको एक अगले आराम से गांव में पढ़ आईएस की तैयारी में आइसोलेशन भी बड़ा मैटर करता है और तब आपको एक अलग थलग रखकर बिल्कुल अपने दिमाग से सबसे दूर में रखा बल्कि अब तो बच्चे चाहते हैं कि बिल्कुल सुनसान में अपनी तैयारी करें आपको जब से मैं अगेंस्ट को लेने दो 3 महीने के अंदर जी उसको ले ले और जाहिर सी बात है जो नहीं होगा कि आप नौकरी के दौरान बिल्कुल 10 महीने के लिए काम जाते हो महीने में इस महीने में एक बार या दो बार तो आप शहर की कांटेक्ट में आते हैं नहीं आते तो आजकल गैजेट से हिंदुस्तान में तो शत्रु स्तर आबादी जो है वो कहीं न कहीं इंटरनेट से खबर है तो अपने मोबाइल की गोलियों लैपटॉप के जरिए तमाम प्रकार की चीजों का एडमिशन ले सकते हैं उसको छोड़ कर सकते हैं तो कोई दिक्कत कहीं से भी आपको नहीं होनी है अगर आप चाहेंगे तो सब कुछ है बुलबुल है और सब कुछ है अगर आप वहां जाकर टेस्ट में जो शक्ति आ सकते हैं चित्र की चीज उपलब्ध है आपको बस आंख खोलना है उस रास्ते में चलना है तो मैंने तुम्हें आपको बताया कि गांव रहिए और अब आपको अवसर मिला भी सोचिए और कितने बाकि माने कि आप बिल्कुल अलग-थलग होकर शांति स्तूप किस चीज पर फोकस करके सोचते हैं और फिर को चंचल का प्रेक्टिस करते हैं आपकी बात कही आपने अगर वह कुछ भी नहीं है आप बस में समस्या रब्बा चले गए अब यहां से कैसे कोचिंग करने को मुझे तो कुछ भी पता नहीं है इसके बारे में बहुत कुछ सिखाया बहुत सारे लोग जो है वह इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से जो कुछ समझने लगे करने लगे सेमिनार होने लगा टेलीमेडिसिन स्पीड बहुत पॉपुलर हो गया तो यह सब तमाम तरह की चीजों का जब जैसे हुआ है इन सबके उन दलों से हमें अपने जीवन में प्रेगनेंसी आज बहुत सारे ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध हैं मजेदार बात तो यह हो गया बड़े-बड़े चुनाव में जो कोचिंग सूट ते जहां पर भी लोग पैसे देकर फंस जाते थे बहुत सारे क्योंकि एक गरीब बच्चा पहले तो किसी को दिख भी नहीं करता और जो पास होता है तो 10 कोचिंग से उसके फोटो दिखाया जाए कैसे संभव है 180000 देकर और 10 सीटों पड़ेगा लेकिन इस तरह की फरेब से हमारे जो बच्चे ने बच्चों को प्रभावित होते उनको लगता था क्या रे अगर यह आईएस ओसियां से कर सकता है तो मैं भी एक बार ट्राई करके देखता हूं और अपनी पिता की गाढ़ी कमाई के पैसे बर्बाद करते थे एक बार जब वह जाते थे फिर उनका वहां से निकलना और फिर बाद में ऐसा कुछ अच्छी पिक्चर्स भीतर कुछ करा टीचर्स भी होते थे तो उनको बड़ा मुश्किल होता वहां से निकलना फिर वह दबे कुचले मन से अपने आगे की जो सफर को जारी रखते थे तो यह सब सब समाप्त हो गई क्योंकि यह जब ऑनलाइन का सिलसिला शुरू हो गया है और बड़े-बड़े अच्छे-अच्छे लीड इंग्लैंड से लेकर चोटी चोटी चोर हमारे ऐसे सिकिया के दिन की बहुत ज्यादा माहवारी नहीं है नाम नहीं है पैसे नहीं है लेकिन उनके पड़े हुए बच्चे से हैं इस सब जगह दुस्तान में सिविल सर्वेंट के रूप में देखे जा सकते हैं कि पढ़ाई में गू अंदाज है वह ठोस चीज है जो भूतों के नहीं तो इंसानों का आना है जो देश के सभी आने लगे चले चटक फॉर्म भर तो बड़ा जबरदस्त एक प्रकार की क्रांति आ गई है अच्छे टीचर से आपको देखने को मिलना शुरू हो गया और उससे कि टीचर्स दो बंडल बाज तेजो बड़े बड़े ब्रांड के नाम पर जी रहे थे उस सब को जनता ने उनको विद्यार्थियों ने नकार दिया उनकी हिम्मत नहीं है जो आगे बढ़ा पाए क्योंकि वह बड़े नाम के साथ जब वह छोटे दर्शन देंगे तो जो पूरा का पूरा सिस्टम है उनको बर्दाश्त नहीं करेगा तो यह अब आपके घर तक आप मोबाइल तक आपको टीचिंग पहुंच गई है आपको चेतन सर का जो है वह अब सर आपको प्राप्त होने लगा है इसकी हमेशा ध्यान रखें कि इन सब तरक्की परिवर्तन जो हमारे समाज में हुआ है उसका फायदा उठा कर आप अपनी तैयारी को शुरू करें और गांव में तो बिल्कुल आप पैसे मिलेगा उस आइसोलेशन का लाभ उठा के ले वाली अपना सोचकर सिर्फ सिविल सर्विस के बारे में सोचें कैसे किया जाए नहीं किया जाए प्लानिंग बनाकर खाली करें और अपने हिसाब से अगर इमरजेंसी ना हो तो प्लानिंग हिसाब से अब बाहर गए और कम समय में अधिक से अधिक काम निपटा कर और अपने यूपी से संबंधित चीजों को किताब को भी तमाम सेवर को निपटा कर आप वापस है और इस प्रकार से अपनी भूमिका एक युवक के रूप में भी और अपनी भूमिका एक छात्र के रूप में भी दोनों ही जगह बेहतरीन जिसका पालन करें मेरी तरफ से ढेर सारी शुभकामनाएं अगर आपको कोई संकोच और मुस्लिम में दिक्कत हो तो आप हमारे बनाए हुए वेबसाइट पर भी आकर निशुल्क प्राप्त कर सकते हैं वह उसका नाम है गूगल प्ले स्टोर पर जाकर आप कर सकते हैं इसका नाम है टॉपर सी ओ डबल पी ई आर एस एस आई तो आप उससे एक्सपर्ट कमेंट्री एक्सपर्ट किसी विषय पर इस तरह की तैयारी करें वह आप उसको डाउनलोड करके लाइफ ओके

aap bilkul achi tarike se taiyari kar sakte hain aur gaon dehaant me rahkar ias ki taiyari kai logo ne kiya aur kai log safal bhi hue aapko thodi bhi chinta karne ki zarurat nahi hai bus jaha kehte hain ki jaha accha hai wahi akela hai agar aapne socha is panne ka toh aapko shayad koi nahi rok sakta thodi sangharsh ki sthiti aayegi lekin uske liye koi na koi rasta nikal jaega yah toh kuch aisi batein jo jisme ki aapko vishwas karke aapko aage badhne chahiye ab aapko seedha seedhi me vaah baat batata hoon jisse aapko gaon dehaant me rakhe kshamta hogi lekin civil service exam me jo hai vaah is tarah ke pariksha nahi hai main aapko delhi kitne litre doodh kab hua kitna kitna jo hai sab doob jaaye gaya kis minister ne kisko kya bola aur kis party ke logo ne ko chhodkar dusre party me shaamil ho gaye is navintam ghatanaakram aaspass ke use civil service ke prashna koi lena dena nahi hai civil seva ke jo prashna aate hain vaah school level se lekar graduation ke level tak ke jo pathyakram hai un samuh ka itni chor hai vaah apne vidyarthiyon se abhyarthiyon ki apeksha rakhta hai ki usko vishay ka gyaan aisa hona chahiye taki avashyakta padane par vaah baccho ko ya kisi vyakti ko vishesh prakar se hota hai taki usme koi gunjaiesh hi na rahe ki vaah samjhe na iska matlab hai ki uski jo rally hai uski jo nirvachan shaili hai vaah bahut hi jabardast honi chahiye bina kisi dabaav ke honi chahiye bina kisi samasya ke liye dusri baat unka jo sochne samjhne ka dayara hai usme samajik aarthik raajnitik aur anya ghatakon ka purn samaveshi ki koi bhi samasya yun hi nahi panap jaati uske peeche kai saare reason sote hain uttar pradesh aur bihar me population isliye nahi karaya jata hai ki vaah population ghatane ke liye log taiyar nahi hai sarkar ko vistrit me koi vishesh karyakram karti delhi ki sarkar nahi karna chahti lekin is political maksad hai ki jab tak kin do rajyo ke beech me operation hoga usko rojgar mile na mile kuch matlab nahi hai agar population adhik hoga virvar dikhai padega naye naye mla aur MP ke chitra shaamil kiye jaenge aur delhi me uske mantri banne ki sambhavna hai utani hi adhik aise chitra sunkar wahan ke neta jaenge jaha badi sankhya me jansankhya rehti hai toh jansankhya ki aur se chunav kshetra ka vikas hoga toh is tarah ki raajneeti isko bolte garibi ki raajneeti usko bol sakte hain ki avsar hinata ki raajneeti aise bhi raajnitik log karte hain apne fayde ke liye daalchini ke liye toh kaam kar kisi ko dekhenge uske peeche saare ghatak hote hain sirf chale ki vaah kamjor raji hai bimar rajya paise kam hai sansadhan kam nahi iske peeche political will be hai theek hai ek samay me gujarat ke paas koi rasta nahi tha modi ji lagatar gujarat me rahkar ek vikas patra aur china ke madhyam se china ke saath jab aapki bahut achi bhagidari thi toh china se punjigat saamaan ko lakar gujarat industry ko phir se ek baar wapas khada kar diya aur gujarat ka parcham ko vikas ke raste par laga diya mere mujhe political bell kaise kaam hota hai in sab chijon ko samjhne ka kaam aapko karna padega jaha tak aap gaon me rehte hain toh aapko ek agle aaram se gaon me padh ias ki taiyari me aisoleshan bhi bada matter karta hai aur tab aapko ek alag thalag rakhakar bilkul apne dimag se sabse dur me rakha balki ab toh bacche chahte hain ki bilkul sunsaan me apni taiyari kare aapko jab se main against ko lene do 3 mahine ke andar ji usko le le aur jaahir si baat hai jo nahi hoga ki aap naukri ke dauran bilkul 10 mahine ke liye kaam jaate ho mahine me is mahine me ek baar ya do baar toh aap shehar ki Contact me aate hain nahi aate toh aajkal gadget se Hindustan me toh shatru sthar aabadi jo hai vo kahin na kahin internet se khabar hai toh apne mobile ki goliyon laptop ke jariye tamaam prakar ki chijon ka admission le sakte hain usko chhod kar sakte hain toh koi dikkat kahin se bhi aapko nahi honi hai agar aap chahenge toh sab kuch hai bulbul hai aur sab kuch hai agar aap wahan jaakar test me jo shakti aa sakte hain chitra ki cheez uplabdh hai aapko bus aankh kholna hai us raste me chalna hai toh maine tumhe aapko bataya ki gaon rahiye aur ab aapko avsar mila bhi sochiye aur kitne baki maane ki aap bilkul alag thalag hokar shanti stupa kis cheez par focus karke sochte hain aur phir ko chanchal ka practice karte hain aapki baat kahi aapne agar vaah kuch bhi nahi hai aap bus me samasya rabba chale gaye ab yahan se kaise coaching karne ko mujhe toh kuch bhi pata nahi hai iske bare me bahut kuch sikhaya bahut saare log jo hai vaah electronic madhyam se jo kuch samjhne lage karne lage seminar hone laga telemedicine speed bahut popular ho gaya toh yah sab tamaam tarah ki chijon ka jab jaise hua hai in sabke un dalon se hamein apne jeevan me pregnancy aaj bahut saare online course uplabdh hain majedar baat toh yah ho gaya bade bade chunav me jo coaching suit te jaha par bhi log paise dekar fans jaate the bahut saare kyonki ek garib baccha pehle toh kisi ko dikh bhi nahi karta aur jo paas hota hai toh 10 coaching se uske photo dikhaya jaaye kaise sambhav hai 180000 dekar aur 10 seaton padega lekin is tarah ki fareb se hamare jo bacche ne baccho ko prabhavit hote unko lagta tha kya ray agar yah ias osiyan se kar sakta hai toh main bhi ek baar try karke dekhta hoon aur apni pita ki gadhi kamai ke paise barbad karte the ek baar jab vaah jaate the phir unka wahan se nikalna aur phir baad me aisa kuch achi pictures bheetar kuch kara teachers bhi hote the toh unko bada mushkil hota wahan se nikalna phir vaah dabe kuchle man se apne aage ki jo safar ko jaari rakhte the toh yah sab sab samapt ho gayi kyonki yah jab online ka silsila shuru ho gaya hai aur bade bade acche acche lead england se lekar choti choti chor hamare aise sikiya ke din ki bahut zyada mahwari nahi hai naam nahi hai paise nahi hai lekin unke pade hue bacche se hain is sab jagah dustan me civil servant ke roop me dekhe ja sakte hain ki padhai me goo andaaz hai vaah thos cheez hai jo bhooton ke nahi toh insano ka aana hai jo desh ke sabhi aane lage chale chetak form bhar toh bada jabardast ek prakar ki kranti aa gayi hai acche teacher se aapko dekhne ko milna shuru ho gaya aur usse ki teachers do bindlu baaj tejo bade bade brand ke naam par ji rahe the us sab ko janta ne unko vidyarthiyon ne nakar diya unki himmat nahi hai jo aage badha paye kyonki vaah bade naam ke saath jab vaah chote darshan denge toh jo pura ka pura system hai unko bardaasht nahi karega toh yah ab aapke ghar tak aap mobile tak aapko teaching pohch gayi hai aapko chetan sir ka jo hai vaah ab sir aapko prapt hone laga hai iski hamesha dhyan rakhen ki in sab tarakki parivartan jo hamare samaj me hua hai uska fayda utha kar aap apni taiyari ko shuru kare aur gaon me toh bilkul aap paise milega us aisoleshan ka labh utha ke le wali apna sochkar sirf civil service ke bare me sochen kaise kiya jaaye nahi kiya jaaye planning banakar khaali kare aur apne hisab se agar emergency na ho toh planning hisab se ab bahar gaye aur kam samay me adhik se adhik kaam nipta kar aur apne up se sambandhit chijon ko kitab ko bhi tamaam sevar ko nipta kar aap wapas hai aur is prakar se apni bhumika ek yuvak ke roop me bhi aur apni bhumika ek chatra ke roop me bhi dono hi jagah behtareen jiska palan kare meri taraf se dher saari subhkamnaayain agar aapko koi sankoch aur muslim me dikkat ho toh aap hamare banaye hue website par bhi aakar nishulk prapt kar sakte hain vaah uska naam hai google play store par jaakar aap kar sakte hain iska naam hai topper si O double p E R S S I toh aap usse expert commentary expert kisi vishay par is tarah ki taiyari kare vaah aap usko download karke life ok

आप बिल्कुल अच्छी तरीके से तैयारी कर सकते हैं और गांव देहात में रहकर आईएस की तैयारी कई लोगो

Romanized Version
Likes  246  Dislikes    views  3452
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा मैं एक गांव के देहात में रहकर नौकरी करता हूं आई एस की तैयारी करने के लिए क्या करना चाहिए आपसे हाथ में रहकर तैयारी करें या गांव में रहकर तैयारी करें जारी करने के बाद आप आईएस में खिचड़ी करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको सबसे पहले आईएस का सिविल सर्विस का सिलेबस डाउनलोड करना है उसके पश्चात स्टडी में चयन लेना है आपको स्टडी मैटर की प्रॉपर टाइम मैनेजमेंट बनाते हुए तैयारी करना है पहले चरण में सिविल सर्विस का एग्जाम होता है टीवी चैनल का 1 जून का पेपर होता है जिसमें जीएस फर्स्ट b.a. सेकंड का एग्जाम होता है और दूसरे चरण में मेंस एग्जाम होता है जिसमें आपका देखने लैंग्वेज कंपलसरी पेपर इंग्लिश जनरल स्टडी के चार्ट पेपर फर्स्ट सेकंड थर्ड फोर्थ और ऑप्शन पेपर जो आपने ग्रीन चंद्र कोई लिया हुआ है उसके पश्चात आपको डिस्क्रिप्टिव पेपर जो इंग्लिश जैसे का होता है ढाई सौ अंकों का उसकी तैयारी करनी है उसके पश्चात आपको इंटरव्यू के बीच का पर्चा ही करनी है इन सबके चारी करने के लिए कम से कम 2 साल का समय मान कर चलिए आप चल फिर तैयारी कर सकते हैं अब गांव में नौकरी करते हुए तैयारी कर सकते हैं

aapne kaha main ek gaon ke dehaant me rahkar naukri karta hoon I S ki taiyari karne ke liye kya karna chahiye aapse hath me rahkar taiyari kare ya gaon me rahkar taiyari kare jaari karne ke baad aap ias me khichdi karna chahte hain toh uske liye aapko sabse pehle ias ka civil service ka syllabus download karna hai uske pashchat study me chayan lena hai aapko study matter ki proper time management banate hue taiyari karna hai pehle charan me civil service ka exam hota hai TV channel ka 1 june ka paper hota hai jisme GS first b a second ka exam hota hai aur dusre charan me mains exam hota hai jisme aapka dekhne language compulsory paper english general study ke chart paper first second third fourth aur option paper jo aapne green chandra koi liya hua hai uske pashchat aapko Descriptive paper jo english jaise ka hota hai dhai sau ankon ka uski taiyari karni hai uske pashchat aapko interview ke beech ka parcha hi karni hai in sabke chari karne ke liye kam se kam 2 saal ka samay maan kar chaliye aap chal phir taiyari kar sakte hain ab gaon me naukri karte hue taiyari kar sakte hain

आपने कहा मैं एक गांव के देहात में रहकर नौकरी करता हूं आई एस की तैयारी करने के लिए क्या करन

Romanized Version
Likes  442  Dislikes    views  8665
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गांव देहात में रहकर गांव में रहते कि आप मुझसे परेशान हो सकता है स्वामी एनसीईआरटी की किताबें है उसको ऑनलाइन आप डाउनलोड करके अपने कंप्यूटर हो या ना मिले सकते हैं कंप्यूटर नोट्स लिया और इस तरह से आप रुक कर क्यों वहां पर तैयारी कर सकते हैं और बेहतर होगा कि आप के हर जो भी लोग नहीं परोस कर रहे हो नोट बुक के लेखक

gaon dehaant me rahkar gaon me rehte ki aap mujhse pareshan ho sakta hai swami ncert ki kitaben hai usko online aap download karke apne computer ho ya na mile sakte hain computer notes liya aur is tarah se aap ruk kar kyon wahan par taiyari kar sakte hain aur behtar hoga ki aap ke har jo bhi log nahi paros kar rahe ho note book ke lekhak

गांव देहात में रहकर गांव में रहते कि आप मुझसे परेशान हो सकता है स्वामी एनसीईआरटी की किताबे

Romanized Version
Likes  488  Dislikes    views  5437
WhatsApp_icon
user

Samir Choudhary

Engineer by profession, IAS Aspirant by passion.

1:53
Play

Likes  38  Dislikes    views  1155
WhatsApp_icon
user
1:48
Play

Likes  8  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  7  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!